Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

शीशमबाड़ा की सैयद बस्ती के लोगों ने प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

विकासनगर। शीशमबाड़ा में सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण को हटाये जाने का विरोध शुरू हो गया है। शीशमबाड़ा की सैयद बस्ती के लोगों ने प्रधानमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया है। ज्ञापन में बस्ती के निवासियों ने कहा है कि छह सौ परिवार पिछले 18 वर्षों से बस्ती में रह रहे हैं। लेकिन उत्तराखंड सरकार के निर्देश पर दबाव में आकर जिला और तहसील प्रशासन उनके बसे बसाये घरों को उजाडऩे के लिए तैयारी में जुटे हैं। बस्ती के लोगों ने प्रधानमंत्री से उत्तराखंड सरकार को बस्ती न उजाडऩे के आदेश देने की मांग की।
 
सैयद बस्ती के लोगों ने कहा कि वे बस्ती में अपने परिवारों के साथ शांति पूर्वक रह रहे हैं। कहा कि पिछले 18 वर्षों से रह रहे लोगों के अपने अपने धार्मिक स्थल मंदिर मस्जिद आदि बने हैं। जिनमें लोग अपने धार्मिक क्रियाकलाप करते आ रहे हैं। लेकिन असामाजिक तत्वों को लाभ पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार ने जिला और तहसील प्रशासन को बस्ती को उजाडऩे के निर्देश जारी किये हैं। जिसके तहत अधिकारियों ने सरकार के दबाव में आकर बस्ती को उजाडऩे के लिए बस्ती के निवासियों को नोटिस जारी कर बुधवार को दो दिन के भीतर बस्ती को खाली करने के निर्देश दिए हैं। कहा कि तहसील प्रशासन यदि उनके घरों को उजाड़ता है तो करीब पांच छह सौ परिवार खुले आसमान के नीचे आकर बेघरबार हो जायेंगे। बस्ती निवासी विजेंद्र, सुनील, जियालाल, सरदार लाल, पवन, लक्ष्मण, मधु, विहारी लाल, यशपाल, लौकेश, अवधेश, शिवम वर्मा, प्रेमपाल, गीतादेवी, जगरूप आदि ने प्रधानमंत्री से उत्तराखंड सरकार को बस्ती को न उजाडऩे के निर्देश दिए है।
 

Update on: 07-12-2017

Himachal Pradesh

Current Articles