Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

नहीं माने ग्रामीण तो निराश लौटे अधिकारी

विकासनगर। साहिया- बडनू-जोशीगांव मोटर मार्ग पर बुधवार को भी काम शुरू नहीं हो सका। ग्रामीणों की शिकायत पर पहुंचे एसडीओ और जेई के लाख समझाने पर भी ग्रामीण नहीं माने। उन्होंने दबान का मुआवजा न मिलने तक काम बंद रखने की चेतावनी दी है। बडनू-जोशीगांव मोटर मार्ग पर पिछले कुछ दिनों से निर्माण कार्य चल रहा है। करीब 60 लाख की लागत से चल रहे निर्माण कार्य में कटिंग का कार्य लगभग पूरा भी हो गया है। लेकिन, मार्ग की कटिंग के दौरान ग्रामीणों की कृषि भूमि और संपर्क मार्ग दबान के कारण ग्रामीणों ने विवाद खड़ा कर दिया है। ग्रामीण मार्ग का निर्माण रुकवाकर मुआवजा देने की मांग पर अड़े हुए हैं। इसके चलते बुधवार सुबह लोनिवि के एसडीओ और जेई मौके पर पहुंचे

 

। उन्होंने ग्रामीणों को बार-बार समझाने का प्रयास भी किया। लेकिन, ग्रामीणों ने उनकी एक नहीं सुनी। ग्रामीण दबान का मुआवजा पहले देने की मांग करते रहे। इतना ही नहीं, उन्होंने दबान का मुआवजा न मिलने तक कार्य बंद ही रखने की चेतावनी भी दी। जिसके चलते विभागीय अधिकारियों को बैरंग लौटना पड़ा। इस मौके पर अजब सिंह, पूरन सिंह, जवाहर सिंह, नरेंद्र चौहान, सीताराम चौहान, अर्जुन सिंह, स्वरूप सिंह, भजनदास आदि मौजूद रहे। जेई प्रशांत कुमार ने बताया कि कटिंग का मुआवजा पहले ही बना दिया गया था। दबान का मुआवजा कटिंग पूरा होने के बाद बनाया जाएगा। लेकिन, ग्रामीण मानने को तैयार नहीं हैं। बताया कि इस सम्बंध में उच्चाधिकारियों से वार्ता की जाएगी।

Update on: 07-12-2017

Himachal Pradesh

Current Articles