Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

गोरखपुर मेडिकल कालेज मामले में एक और आरोपी ने किया आत्मसमर्पण

 गोरखपुर। गोरखपुर मेडिकल कालेज में पिछले महीने मरीज बच्चों की मौत के मामले के एक और आरोपी ने आज स्थानीय अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। गोरखपुर छावनी के पुलिस क्षेत्राधिकारी अभिषेक सिंह ने यहां बताया कि बाबा राघवदास मेडिकल कालेज के पूर्व मुख्य फार्मासिस्ट गजानन जायसवाल ने आज भ्रष्टाचार निवारण अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। इसके साथ ही, अब तक इस मामले के नौ में से सात आरोपी गिरफ्त में आ चुके हैं।

 
अब मेडिकल कालेज में आक्सीजन की आपूर्ति करने वाली कम्पनी से जुड़े उदय प्रताप सिंह तथा मनीष भण्डारी की गिरफ्तारी बाकी है। इन दोनों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हो चुका है। गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में पिछली 10-11 अगस्त को 30 बच्चों की मौत के मामले में पुलिस ने कल एक और आरोपी लिपिक संजय त्रिपाठी को छावनी थाना क्षेत्र में गिरफ्तार कर लिया था। उसे भ्रष्टाचार निवारण अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था।
 
सोमवार को इसी मामले में मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग में एनेस्थीसिया शाखा के पूर्व प्रमुख डाक्टर सतीश ने यहां भ्रष्टाचार निवारण अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया था। मालूम हो कि गोरखपुर मेडिकल कालेज में गत 10-11 अगस्त को 30 मरीज बच्चों की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी थी। आरोप लगाया गया था कि बच्चों की मौत आक्सीजन आपूर्ति में बाधा के कारण हुई क्योंकि आपूर्तिकर्ता को कई महीने से भुगतान नहीं किया गया था। हालांकि प्रदेश सरकार ने आक्सीजन की कमी से मौत होने से इनकार किया था।
 
 
मुख्य सचिव राजीव कुमार की अध्यक्षता में गठित समिति की जांच में दोषी पाये जाने पर मेडिकल कालेज के पूर्व प्राचार्य डाक्टर राजीव मिश्र और एनेस्थीसिया विभाग के प्रमुख डाक्टर सतीश समेत नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस ने पिछले सप्ताह मामले के आरोपी लिपिक सुधीर पाण्डेय को शाहपुर क्षेत्र के खजांची चौक के पास से गिरफ्तार था। इससे पहले दो सितंबर को डाक्टर कफील खान को तथा प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने 29 अगस्त को मेडिकल कालेज के पूर्व प्राचार्य राजीव मिश्र और उनकी डाक्टर पत्नी पूर्णिमा शुक्ला को गिरफ्तार किया था।

Update on: 13-09-2017

Himachal Pradesh

Current Articles