Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

पुलिस ने बेकाबू समर्थकों पर चलाई लाठियां

 हरिद्वार। धर्मनगरी के हर इलाके में पानी ही पानी दिखाई देने से आवाम जब नाराज दिखा तो मेयर ने समर्थकों के साथ प्रेमनगर आश्रम के बाहर की दीवार का जायजा लेने के लिए अपने कदम आगे बढाये तो आरोप है कि सतपाल महाराज के समर्थकों ने मेयर पर हमला बोल दिया और उससे उनके सिर में चोट आ गई जिस पर मेयर समर्थकों ने भी आश्रम के लोगों पर पथराव किया। पुलिस शुरूआती दौर पर तमासबीन बनी रही लेकिन जब सिटी मजिस्ट्रेट के साथ भी अभद्रता हुई तो पुलिस अफसरों ने मौके पर पहुंचकर लाठीचार्ज कर बवाल करने वालों को वहां से खदेडा इसी बीच मदन कौशिक और सतपाल महाराज के समर्थक मौके पर पहुंचना शुरू हो गये जिससे वहां तनाव पैदा हो गया। मेयर मंत्री मदन कौशिक के करीबी बताये जाते हैं।

मिली जानकारी के अनुसार जलभराव का जायजा लेने के लिए मेयर मनोज गर्ग निकले तो उन्होंने अपने समर्थकों के साथ प्रेमनगर आश्रम की दीवार का जब निरीक्षण किया और उस दीवार को तुडवाने के लिए उन्होंने रणनीति बनाई तो आरोप है कि आश्रम के कुछ लोगों ने मेयर पर हमला कर दिया और इस हमले में मेयर मनोज गर्ग के सिर में चोटें आ गई जिसके बाद मेयर के समर्थकों ने भी आश्रम के कथित लोगों पर पथराव कर दिया जिससे वहां अफरा-तफरी मच गई। आरोप है कि सतपाल समर्थकों ने मेयर के साथ सिटी मजिस्ट्रेट के साथ भी अभद्रता की लेकिन एसपी सिटी बवाल कर रहे लोगों को काबू में नहीं कर पाई जिसके बाद एसएसपी भी मौके पर पहुंचे और उनसे भी कुछ समर्थक भीड गये जिस पर पुलिस ने बवाल कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर उन्हें वहां से खदेड दिया।

 

 

 पुलिस कप्तान ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए भारी संख्या में पीएससी को भी मौके पर बुला लिया। हालांकि लाठीचार्ज के बाद मदन कौशिक व सतपाल महाराज के समर्थक भी मौके पर डट गये और आरोप लग रहा था कि सतपाल महाराज ने एक जगह कब्जा किया हुआ है जिसको लेकर मेयर अपने समर्थकों के साथ उस दीवार को तुडवाने के लिए आये थे। कुल मिलाकर सडक़ पर आज जिस तरह से सतपाल महाराज व मेयर के समर्थकों के बीच खुली जंग देखने को मिली वह यह साबित कर रही है कि आने वाले दिनों में वर्चस्व की लडाई को लेकर भाजपा के चंद दिग्गज नेताओं में महासंग्राम छिड सकता है।

Update on: 10-08-2017

Himachal Pradesh

Current Articles