Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

बच्चों को दी गई पेट में कीड़े मारने की दवा एल्बेन्डाजोल

देहरादून। कृमि से छूटकारा, सेहतमन्द भविष्य हमारा’’ राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अवसर पर विधायक राजपुर खजानदास द्वारा डिस्पेंसरी रोड स्थित राजकीय गांधी इन्टर कालेज में कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर विधायक खजानदास ने कहा कि बच्चे के पेट में कीड़े होने से जो पोषक तत्व उसको मिलने चाहिए, वे नही मिल पाते जिसके फलस्वरूप बच्चा शारीेरिक व मानसिक रूप से कमजोर हो जाता है। उन्होंने कहा कि बच्चों को स्वच्छता बरतने, खान-पान में पर्यान्त पोषक तत्व लेने तथा स्वस्थ दिनचर्या द्वारा एक स्वस्थ समृद्घ नागरिक बनाया जा सकता है। उन्होने स्वास्थ्य कार्यकर्ता को जनजागरूकता के माध्यम से इस बात का प्रचार -प्रसार करने के निर्देश दिये कि बच्चें के नाखून तथा बाल कटे हो, समय-2 पर स्नान होता रहे तथा छ माह में एक बार कीड़े मारने की दवा एल्बेन्डाजोल बच्चों को मिल जाय।
 
 
इस अवसर पर निदेशक स्वास्थ्य एम$एल उप्रेती ने कहा कि देश के भविष्य को बीमारियों से बचाना है तथा उचित पालन-पोषण करके स्वस्थ बनाना है। उन्होने कहा कि आज राष्ट्रीय कृमि दिवस के दिन 19 वर्ष तक के बच्चों को कीड़ा मारने की दवा एल्बेन्डाजोल दी जायेगी तथा किसी कारण आज दवा पीने से वंचित होने रहने वाले बच्चों को 17 अगस्त की मॉप-अप दिवस के दिन भी दवा दी जायेगी । उन्होने कहा कि 1 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को आधी गोली दी जाय तथा दवा खाली पेट ना दी जाय। इस मौके पर सम्भव मंच परिवार द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति से बच्चों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने तथा कीड़े मारने की दवा का उपयोग करने को प्रेरित किया। इस अवसर पर महानिदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ डी$एल रावत, निदेशक एच$एम डॉ आर$एस असवाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी टी$सी पंत, प्रधानाचार्य अवधेश कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी-कार्मिक उपस्थित थे। 

Update on: 10-08-2017

Himachal Pradesh

Current Articles