Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

पुलिस का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही है योगी सरकार: अखिलेश

 लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर पुलिस के राजनीतिक इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए आज कहा कि भाजपा के लोग पुलिस की मदद से सपा कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न कर रहे हैं। अखिलेश ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर भाजपा के अनेक नेता सपा पर प्रदेश के थाने चलाने का आरोप लगाते थे लेकिन प्रदेश की मौजूदा भाजपा सरकार खुद पुलिस का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही है।उन्होंने औरैया जिले का एक मामला उठाते हुए कहा कि भाजपा वहां अपना जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने के लिये सपा के जिला पंचायत सदस्य कल्लू यादव और उसके परिवार का उत्पीड़न कर रही है। यादव को हत्या और बलात्कार के मुकदमे में फंसा दिया गया है।

 कई अन्य सदस्यों के साथ भी ऐसी ही उत्पीड़नात्मक कार्रवाई की जा रही है। वह इसकी शिकायत राज्यपाल और चुनाव आयोग से करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम जानना चाहते हैं कि अब थाने कौन चला रहा है। पुलिस के माध्यम से इतनी अवैध वसूली पहले कभी नहीं हुई।अखिलेश ने हाल के दिनों में सपा के चार विधान परिषद सदस्यों के इस्तीफे का जिक्र करते हुए कहा कि इससे एक बात साफ हो गयी है कि भाजपा के लोग उपचुनाव का सामना करने से डर रहे हैं, इसीलिये उन्होंने सपा के विधान परिषद सदस्यों को तोड़ लिया। सपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए विधान परिषद सदस्यों बुक्कल नवाब और यशवंत सिंह की तरफ इशारा करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा में जाकर वे दोनों पाक साफ हो गये हैं। नवाब को आवास विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया जा रहा है, जबकि दूसरे को राजस्व एवं परिवहन मंत्री बनाने की तैयारी है।

 

हाल में विधानसभा में संदिग्ध पाउडर मिलने के बारे में अखिलेश ने आरोप लगाया कि पूर्व विधायकों को विधानभवन में आने से रोकने के लिये उस पाउडर को खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन बता दिया गया, जबकि वह केवल फर्नीचर की पॉलिश चमकाने में इस्तेमाल होने वाला पाउडर था। समाजवादी लोहिया ट्रस्ट से अपने चार करीबी सदस्यों को हटाये जाने के सवाल पर अखिलेश ने कहा, ‘‘इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। हम पर औरंगजेब होने का आरोप भी लगाता रहा है। सावधान रहें मुझसे।’’

Update on: 10-08-2017

Himachal Pradesh

Current Articles