Uttarakhand News Portal

Uttar Pradesh

National

ग्रामीणों ने उग्र आंदोलन की धमकी दी

पिथौरागढ़। बुंगाछीना के अंबेडकर गांव गोथना खतेड़ा के दाडि़मबाटा स्थित बकरी बाड़े में शराब की दुकान खोले जाने से लोग भडक़ गए।
गुस्साए ग्रामीणों ने 26 किमी दूर जिला मुख्यालय पहुंचकर कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। शराब की दुकान बंद नहीं किए जाने पर उग्र आंदोलन की धमकी दी है। प्रशासन और आबकारी विभाग द्वारा बुंगाछीना के गौथना खतेड़ा अंबेडकर गांव के दाडि़मबाटा में शराब की दुकान खोल दी गई है। दुकान खुलने के बाद ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

ग्रामीणों के विरोध के बाद भी दुकान नहीं हटाए जाने से खफा ग्रामीण शनिवार को जिला मुख्यालय आ धमके। जिलाधिकारी कार्यालय के सम्मुख प्रदर्शन करते हुए तत्काल शराब की दुकान बंद करने की मांग की गई। ग्रामीणों का कहना था कि दुकान बुंगाछीना के नाम से है परंतु दूसरे ग्राम पंचायत की भूमि पर दुकान खोली गई है। जिस स्थान पर शराब की दुकान खोली गई है वह कृषि भूमि है। जहां पर महिलाएं दिनभर कृषि कार्य में जुटी रहती हैं।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि शराब की दुकान जिला परिषद रोड से मात्र 300 मीटर की दूरी पर खोली गई है। दुकान से ठीक 300 मीटर की दूरी पर प्राथमिक विद्यालय है। इसी स्थान से अन्य विद्यालयों में पढऩे वाले छात्र-छात्राएं आते जाते हैं। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि जिस गांव में शराब की दुकान खोली गई है वह गांव अनुसूचित जाति बाहुल्य गांव है। ग्रामीणों ने शराब की दुकान गांव में खोलने को साजिश बताया है। बिना ग्रामीणों की सहमति से खोली गई शराब की दुकान से गांव की शांति भंग होने की आशंका जताई गई है। शराब की दुकान से कभी भी अप्रिय घटना की आशंका जताते हुए अविलंब शराब की दुकान हटाने की मांग की गई।

प्रदर्शन करने वालों में आनंद प्रकाश, संजय कुमार, संतोष कुमार, जगदीश प्रसाद, चंद्र प्रकाश, नीरज, सुरेंद्र, तुलसी देवी, रोशनी, कमला, मुन्नी देवी, विमला देवी, सावित्री देवी, मीना, गीता, सुनीता, मोहनी देवी , रामा देवी, ललिता देवी, अंकित कुमार, चंदर, हिमांशु प्रताप, त्रिलोक, दीपक , सूरज, विशाल आदि शामिल थे।

Update on: 17-06-2017

Himachal Pradesh

Current Articles