Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

चेक बाउंस होने पर तीन माह की साधारण कारावास

श्रीनगर गढ़वाल: न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम श्रेणी) सचिन कुमार ने चेक बाउंस के आरोप में गढ़वाल विश्वविद्यालय के एक कर्मचारी को तीन महीने का साधारण कारावास के साथ ही 80 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई। उन्होंने जुर्माने की राशि में से 70 हजार रुपये पीडि़त को देने के आदेश भी दिए। 

गढ़वाल विश्वविद्यालय के कर्मचारी प्रमेंद्र सिंह रावत ने वर्ष 2012 में बांसवाड़ा निवासी सुरेंद्र कुमार अग्रवाल से 60 हजार रुपये उधार लेकर एक महीने में लौटाने का वादा किया था। इसके ऐवज में रावत ने 60 हजार रुपये का चेक दिया था। लेकिन यह चेक बाउंस हो गया। इस पर सुरेंद्र कुमार ने 12 दिसंबर 2012 को रावत को अपने वकील अर्जुन सिंह भंडारी के माध्यम से नोटिस दिया था। कोई जवाब न आने पर 29 जनवरी 2013 को इस मामले में वाद दायर किया गया। मुकदमे पर सुनवाई करते हुए न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सचिन कुमार ने मंगलवार को सजा सुना दी। सजा सुनाए जाने के बाद अभियुक्त रावत ने जमानत की अर्जी दी, जो मंजूर कर ली गई। सजा पर अपील के लिए अभियुक्त को तीस दिन का समय दिया गया है।

 

कोटद्वार में बबाल के बाद तनाव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

कोटद्वार: देर रात गाडीघाट में रास्ते पर पडे पत्थर में टैक्टर के टायर  चढने से लेकर हुये विवाद इतना बढा की मामले ने साम्प्रदायिक विवाद को जन्म  दे दिया। मामला में एक पक्ष द्वारा दूसरे पक्ष के टैक्टर चालक से ज्यादा विवाद होने पर दूसरे पक्ष के ड्राइवर के साथ कुछ लोगो के साथ मिलकर जबरदस्त मारकाट कर दी।  मामला इतना बढा की महौल्ले के कुछ लोगो ने ड्राइवर को घेर कर मीट काटने वाले गडासे से उसके दोनो हाथ बुरी तरह से काट डाले साथ ही सीने में भी गडासे से कई वार कर डाले।

ड्राइवर की चीक पुकार से महौल्ले के लोग इक्ठटे हो गये। लोगो की बढती भीड को  देख आरोपी हथियार लहराते हुये भाग निकलें। लोगो द्वारा घायलो को तुरन्त राजकीय सयुक्त चिकित्साय में भर्ती कराया गया।  जहां पर डाक्टरो ने उपराचार के दौरान एक घायल को हायर सेन्टर रैफर कर दिया। उसके बाद घायलो के  परिजनो ने मामला पुलिस में दर्ज कराने कोतवाली पहुचे तो पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया। इस बात से बौखलाये परिजनो ने इसकी सूचना अपने सम्प्रदाय के लोगो को दी तो घायल के समर्थन में एक सम्प्रदाय के लोग महिलाओं सहित थाने में जा पहुचे। जहां पर उन्होने आरोपीयो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने को लेकर खूब बबाला काटा। मामला बढता देख इसकी सूचना कोटद्वार पुलिस ने एसपी पौडी को दी। मामले की गम्भीरता देख पुलिस मुख्यालय देहरादून ने एसपी सीटी हरिद्वार नवनीत सिंह भुल्लर को कोटद्वार कमान सम्भालने के लिये रवाना कर दिया। इस बीच सता पक्ष से किसी प्रभाव शाली नेता ने मामले को लटकाने का दबाबा बनाना शुरू कर दिया। जिससे लोगो का गुस्सा और बढ गया। उसके बाद सुबह तीन बजे पुलिस को मजबुरन कुछ नामजद लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना पडा। दिन निकलते हादसे की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैली गयी। मामला बहु संख्यक साम्प्रदाय के साथ होने के कारण आसपास के लोग थाने में जुटने लगे। वही कुछ लोगो द्वारा स्थानीय मंत्री के खिलाफ भी जमकर नारे बाजी की। थाने में आरोपीयो के गिरफ्तारी न होने पर भीड लकडी पडाव आरोपीयो के घराको घेरने के लिये पहुच गयी। जहा पर पुलिस का भीड के साथ झडब हो गयी। जिसके कारण पुलिस को लाठी चार्ज करना पडा। लाठी चार्ज की घटना से भीड का गुस्सा और बढ गया। भीड ने अल्प संख्यक समुदाय की दुकानो में तोड फोड शुरू कर दी। मामला बिगडता देख उपजिलाधिकारी ने लाठी चार्ज के आदेष जारी कर दिये। 

दोबारा लाठी चार्ज के बाद जिलाधिकारी पौडी और एसपी पौडी भी कोटद्वार पहुच गये। एसपी पौडी अजय जोषी और जिलाधिकारी पौडी चन्द्रेष भटट ने कोटद्वार के बुद्घिजीवीयो पूर्व विधायक शैलेन्द्र रावत से वार्ता कर मामला शान्त करने का प्रयास किया। साथ ही जिलाधिकारी ने बताया अब तक पांच  आरोपीयो की गिरफ्तारी की जा चुकी है। मामाले पर बोलते हुये पूर्व विधायक शैलेन्द्र रावत ने कहा की कोटद्वार में इस घटना के लिये स्थानीय विधायक और मंत्री पूरी तरह से जिम्मेदार है। जिनके नेतृत्व मे कोटद्वार प्रषासन और पुलिस नपुन्सक बन गयी है। 

देर शाम कोटद्वार पहुचे गढवाल आईजी संजय गुज्याल ने भी माामले की गम्भीरता को देखते हुये शहर की हालात का जायजा लिया और बताया कि मामला नियन्त्रण में है। फिर भी मामले की गम्भीरता को देखते हुये अतिरिक्त पुलिस और पीएसी की व्यवस्था कर ली गयी है।

मंत्री नेगी की चुपी कोटद्वार में चर्चा का विषय 

 कोटद्वार में इतना बडा हादसा होने के बाद भी स्थानीय विधायक और सुबे के स्वास्थय मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी की चुपी कोटद्वार में चर्चा का विषय बनी रही। जहां पूरा कोटद्वार साम्प्रदायिक की आग में जल रहा था तो वही सूबे के स्वास्थय मंत्री को अपने राजनैतिक कार्यक्रमो की चिन्ता सता रही थी। सायद ऐसे ही लोगो के लिये ये कहावत चरितार्थ हुयी होगी ''रोम जल रहा था, नीरो वांसुराी बजा रहा था''। 

सभी स्कूल कालेल्ज रहेगे बन्द 

कोटद्वार में तनाव पूर्ण माहौल को देखते हुये जिलाधिकारी पौडी चन्द्रषेखर भट्ट कोटद्वार के सभी स्कूल कालेज में बुद्घबार को आवकाश की घोषणा की।

 

 

Governor to Innaugrate Kisan Mela at Pantnagar

Pantnagar: Kisan Mela which is being organized by Govind Ballabh Pant University and will be innaugrated by Dr. Krishna Kant Paul on October 01, 2015 at 12:00 noon at Gandhi Maidaan. Governor Uttarakhand Dr. Paul has already accepted the invitation as informed by University Vice-Chancellor, Dr. Mangala Rai.

 
After the innaugration the Governor will visit all the stalls in the promices and review them. He will also address the ceremony as the chief Guest. 
 
Director Dr. YPS Dabas informed that an open jeep has also been arranged for the Governor for his visible and a comfortable movement in the university campus. He also informed that during the fair there will be a great emphasis on hygeine and the food stall area will be properly eqipeed with dust bins. 
 

Himachal for all seasons and for all reasons: CM

Shimla: Himachal Pradesh is a State for ‘all Seasons and for all Reasons’ said Chief Minister Virbhadra Singh here today after inaugurating the ‘Apple Festival’ organised at Ridge together by Department of Tourism and State Horticulture department.

 
He said that the State had vast tourism potential and Himachal had everything for everyone to offer with. Right from its delicacies to open green meadows and high hills, the State is endowed with salubrious climate and offers number of adventure sports activities besides religious tourism to the visitors.
 
He said that it was a matter of great pride that the apple fest gives a glimpse of different varieties of apples and other fruits grown in the State. The economy of the State mostly depends upon the horticulture sector and Himachal was also known as ‘Apple State’ he said.
 
There were as many as 282 entries of the progressive farmers and had 30 different varieties of apple and other fruits.
 
The Chief Minister also took keen interest in the ‘Food Festival’ staged atop Padam Dev Complex on the Ridge which showcased variety of Himachali Cuisine. He appreciated the efforts of the Tourism Department and the Hotel Association of Shimla to organize the food festival and hoped that it could be a regular feature as the tourist can enjoy the food of various districts under a single canopy.
 
Horticulture and Irrigation and Public Health Minister, Vidya Stokes, Social Justice and Empowerment Minister, Col. Dr. Dhani Ram Shandil, Ayurveda Minister, Karan Singh, Chief Parliamentary Secretaries, Jagjeevan Pal and Nand Lal, Advisor to the Chief Minister, Rangila Ram Rao, Vice-Chairman Himachal Pradesh Tourism Development Board, Maj. Vijay Singh Mankotia, Vice- Chairman, HIMUDA, Yashwant Chajata, Vice- Chairman, HPTDC, Harish Janartha, Mayor, Sanjay Chauhan, Deputy Mayor, Tikendar Panwar, Member BoD, HPTDC, Rupesh Kanwal, Director, Tourism, Mohan Chauhan, Director, Information and Public Relations, M. P. Sood, President Shimla Hotel Association, Deputy Commissioner, Dinesh Malhotra were also present on the occasion amongst others.

.