Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

महिला किक्रेट खिलाड़ी मानसी जोशी ने किया वृक्षारोपण

देहरादून। दून पुलिस लाइन में भारतीय महिला किक्रेट टीम की खिलाडी मानसी जोशी के सम्मान में एक समारोह आयोजन किया गया। जिसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती द्वारा मानसी जोशी व उनके कोच विरेन्द्र सिंह रौतेला को पुष्प गुच्छ प्रदान कर उनका स्वागत किया गया। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न स्कूलों से आये बच्चों द्वारा मानसी जोशी जी का अभिवादन कर उनकी सफलता के संबंध में विभिन्न प्रश्न पूछे गए।
 
 
कार्यक्रम में भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी मानसी जोशी ने बताया कि कठिन मेहनत और लगन से यह मुकाम हासिल किया। भारतीय महिला किक्रेट टीम की खिलाडी मानसी जोशी  द्वारा सभी दून वासियों से अपील की गयी कि सडक को सुरक्षित बनाने में जनपद पुलिस का सहयोग करें और यातायात नियमों का पालन करें। मानसी जोशी ने कहा कि जीवन अनमोल है सडक पर सावधानी पूर्वक वाहन चलाए, नशे से दूर रहे , राष्ट्र निर्माण में सहयोग करें व दून पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नशा विरोधी अभियान से जुडे।
 
उक्त कार्यक्रम के अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मानसी जोशी की सराहना करते हुए अपेक्षा की कि वह भविष्य में भी देश व जनपद का नाम इसी तरह रोशन करेंगी। उक्त कार्यक्रम के पश्चात पुलिस लाइन देहरादून के प्रांगण में मानसी जोशी जी द्वारा वृक्षारोपण किया गया। सम्मान समारोह में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून, पुलिस अधीक्षक यातायात, एएसपी, क्षेत्राधिकारी सदरध्नगर व विभिन्न स्कूलों से आये छात्र-छात्रा व रिकू्ट महिला आरक्षी मौजूद रहे।

कार खाई में गिरने से शिक्षक की मौत

विकासनगर। साहिया के समाल्टा मक्टी मार्ग पर एक कार से खाई में गिरने से आश्रम पद्यति के विद्यालय के शिक्षक की मौत हो गई, जबकि एक अन्य व्यक्त घायल हो गया। सूचना पर भी राजस्व पुलिस समय से मौके पर नहीं पहुंच सकी। इस पर ग्रामीणों ने खाई से शव के साथ ही घायल को बाहर निकाला। मूल रूप से कोटद्वार निवासी प्रकाश चंद कोटनाला लागा पोखरी चकराता के आश्रम पद्यति के विद्यालय में शिक्षक थे।
 
 
  वह विकासनगर से स्विफ्ट कार से कालसी-नागथात रोड से विद्यालय जा रहे थे। उनके साथ एक अन्य व्यक्ति आलम सिंह नेगी भी सवार थे। माक्टी के पास कार अनियंत्रित होकर खाई में लुढक़ते हुए नीचे दूसरी सडक़  पर जा गिरी। शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और घायल को अस्पताल भिजवाया। घटनास्थल पर राजस्व पुलिस के नहीं पहुंचने से ग्रामीणों में आक्रोश भी देखा गया।

डीएवी के पूर्व प्राचार्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज

देहरादून। डीएवी पीजी कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डा दिनेश कुमार एंव तीन अन्य के खिलाफ डालनवाला में समाज कल्याण विभाग द्वारा छात्रवृत्ति की राशि में 2  करोड़ 36 लाख रूपए की धनराशि के गबन का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार समाज कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति के छात्रो को छात्रवृत्ति दी जाती है इस मामले में कई शिकायत के बाद भी छात्रवृत्ति लाभार्थियों तक नहीं पहुंच पा रही थी।

 इसके चलते छात्रवृत्ति में गबन का आरोप लगाते हुए डीएवी पीजी कॉलेज के प्राचार्य डा देवेन्द्र भसीन ने तत्कालीन प्राचार्य डाक्टर दिनेश कुमार , डाक्टर रंजना रावत एंव छात्रवृत्ति प्रभारी पीयूष भटनागर , आर के सिंह समेत अन्य के विरूद्घ अनुसूचित जाति के छात्रों के छात्रवृत्ति की धनराशि जो कि समाज कल्याण विभाग द्वारा प्रदत कर दी गई थी, उसे धोखाधड़ी व कूटनीति के तहत हड़पने के विरूद्घ मुकदमा दर्ज किया गया है। इस विषय में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए कार्यवाही शुरू कर दी है। 

स्मैक के साथ दो गिरफ्तार

देहरादून। नशे के विरुद्घ चलाए जा रहे अभियान के तहत  पुलिस अधीक्षक ग्रामीण व सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश  के नेतृत्व में चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत  बीती देर शाम सीमा डेंटल कलेज वीरभद्र गेट के पास से अभियुक्त(1) मुकेश पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी सुनार गांव अठुरवाला भानियावाला देहरादून व(2) वीरेंद्र सिंह बिष्ट पुत्र वीर सिंह निवासी नवाब वाला छिद्दरवाला रायवाला देहरादून को मोटरसाइकिल बिना नंबर में स्मैक की तस्करी करते हुए गिरफ्तार किया गया इनके कब्जे से 5-5 ग्राम स्मैक बरामद की गई अभियुक्तगण के विरुद्घ एनडीपीएस एक्ट के अंतर्गत अभियोग पंजीत किया गया है।
 इस दौरान हेमंत खंडूरी, दीपक तिवारी, कांस्टेबल सुनील सैनी, कांस्टेबल प्रदीप सिंह  मौजूद रहे। 

शराब माफिया को संरक्षण देती प्रदेश सरकार: प्रीतम

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम ंिसह ने हरिद्वार जनपद के जगजीत पुर में गुलशन सैनी नामक व्यक्ति द्वारा बस्ती के मध्य संचालित शराब ठेके के विरोध में आत्महत्या के प्रयास को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि राज्य सरकार की आबकारी नीति पूर्ण रूप से शराब माफिया को संरक्षण देने, शराब की तस्करी को बढ़ावा देने तथा उत्तराखण्ड के गांवों में हर घर तक शराब पहुंचाने वाली है।   
 
 
यहां जारी बयान में प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष प्रीतम ंिसह ने कहा कि राज्य सरकार की जन विरोधी नीतियों के कारण जहां एक ओर राज्य का किसान बैंकों द्वारा कर्ज वसूली का दबाव बनाये जाने के कारण आत्महत्या कर रहे हैं वहीं अब राज्य सरकार की शराब नीति के कारण जनता को आत्महत्या जैसे कदम उठाने पड़ रहे हैं। उन्हेांने कहा कि स्थानीय विधायक की उपस्थिति में हुए समझौते के बावजूद बस्ती के मध्य में शराब की दुकानों को अनुमति दी जा रही है तथा स्थानीय निवासियों को हो रही परेशानियों को भी नजर अंदाज किया जा रहा है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि राज्य सरकार द्वारा अपने राजस्व बढ़ाने के उद्देश्यों को
प्राथमिकता दी जा रही है उसे जनता के स्वास्थ्य तथा जनता को हो रही परेशानियों से कोई सरोकार नहीं है।  
 
सिंह ने कहा कि राज्यभर में आम जनता विषेशकर महिला संगठनों द्वारा शराब के खिलाफ चलाये जा रहे आन्दोलनों के उपरान्त मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा शराब के कारोबार को कम करने का आश्वासन देने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा शराब से मिलने वाले राजस्व का लक्ष्य 1800 करोड़ से बढ़ाकर 2300 करोड़ कर शराब माफिया के आगे घुटने टेकने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पर्वतीय जिलों में देशी शराब की बिक्री शुरू कर पर्वतीय क्षेत्र में देशी शराब को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर की ग्रामीण जनता द्वारा शराब नीति के खिलाफ चलाये जा रहे आन्दोलन को बल पूर्वक कुचलने के साथ ही आन्दोलन में सम्मिलित महिलाओं के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर मातृ शक्ति को अपमानित किया जा रहा है तथा पुलिस के संरक्षण में शराब कारोबार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

 

सीएम ने पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं से भेंट की

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बलबीर रोड स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं से भेंट की। मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं की समस्याओं और सुझावों को सुना। लगभग 250 कार्यकर्ताओं ने लिखित शिकायतें, प्रार्थना पत्र तथा सुझाव दिए। बहुत से लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए दूरभाष पर अधिकारियों को निर्देश दिए गए। अधिकांश प्रार्थना पत्र आर्थिक सहायता, विकास कार्यों, गंभीर बीमारी के उपचार से संबंधित थे। 
 
 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री रावत ने उपस्थित जन को आश्वस्त किया कि सरकार जनता की समस्याओं के प्रति संवेदनशील है। सरकारी कार्यालयों में ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि लोगों के काम समय पर हो। जनपद स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि निर्धारित समय पर लोगों की समस्याओं का समाधान हो। ऑफिस में बायोमैट्रिक हाजिरी, तहसील दिवस का आयोजन, जनता मिलन कार्यक्रम इस दिशा में बढ़ते कदम है।
सोमवार को मुख्यमंत्री रावत के बलबीर रोड स्थित पार्टी कार्यालय में आयोजित जनता दरबार में एक प्रकरण कोषागार पौड़ी के एक लेखाकार को देहरादून स्थानांतरण के संबंध में प्राप्त हुआ। 
 
इस संबंध में निदेशक कोषागार, पेंशन हकदारी उत्तराखण्ड द्वारा अवगत कराया गया है कि समय-समय पर प्रदेश के दूरस्थ जनपदों के कोषागारों में नियुक्तध्कार्यरत सहायक लेखाकारो, लेखाकारों द्वारा देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंह नगर व नैनीताल आदि जनपदों हेतु स्थानांतरण कराने के लिए जनप्रतिनिधियों के माध्यम से प्रस्ताव प्रेषित किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड कोषागार अधीनस्थ संवर्ग सेवा नियमावली, 2003 में किए गए प्रावधानों के अनुसार श्रेणी ’घ’ व ’ग’ तक के पदधारकों की नियुक्ति प्राधिकारी संबंधित जनपदों के जिलाधिकारी होते हैं। इसलिए जनपदों के कोषागारों में कार्यरत सहायक लेखाकारों व लेखाकारों का स्थानांतरण संबंधित जिले के अंतर्गत ही कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि स्थानान्तरण के संबंध में प्राप्त प्रस्तावों को उचित निर्देश हेतु शासन को प्रेषित कर दिया जाता है, क्योंकि निदेशालय स्तर से इस संबंध में कार्रवाई किया जाना संभव नहीं है।

परीक्षा परिणाम न आने पर छात्रों ने किया प्रदर्शन

देहरादून। डीबीएस कालेज में बीएससी प्रथम सेमेस्टर एवं तृतीय सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित न किये जाने से आक्रोशित छात्रों ने सोमवार को कालेज में प्रदर्शन करते हुए प्राचार्य का घेराव किया और कहा कि शीघ्र ही हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय ने परीक्षा परिणाम घोषित नहीं किये तो आंदोलन को तेज किया जायेगा। प्राचार्य को ज्ञापन भी सौंपा गया।
 
 
  अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुडे हुए छात्र कालेज इकाई अध्यक्ष हर्षित ढौंढियाल के नेतृत्व में कालेज परिसर में इकटठा हुए और वहां पर उन्होंने बीएससी प्रथम सेमेस्टर एवं तृतीय सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित न किये जाने पर आक्रोशित छात्रों ने कालेज में प्रदर्शन करते हुए प्राचार्य का घेराव किया।
आक्रोशित छात्रों ने कहा कि शीइा्र ही हेमवती नंदन बहुगुणा गढवाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय ने परीक्षा परिणाम घोषित नहीं किये तो आंदोलन तेज किया जायेगा। इस अवसर पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि एक और शैक्षिक सत्र आरंभ हो चुका है और दूसरी ओर परीक्षा के परिणाम अभी तक घोषित नहीं हुए हैं जिस कारण छात्र छात्राओं को अनेक प्रकार की कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।
 
उनका कहना है कि न तो प्रवेश हो पाये हैं और न ही कक्षायें आरंभ हो पाई हैं जो चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि इस समस्या का तत्काल प्रभाव से समाधान किया जाये अन्यथा छात्रों को इसके लिए जनांदोलन करना पडेगा। इस अवसर पर प्राचार्य ने इस समस्याओं को गंभीर मानते हुए शीइा्र ही कार्यवाही करने का भरोसा दिया और कहा कि इसके लिए गढ़वाल विश्वविद्यालय से भी बातचीत की जायेगी। शीइा्र ही परीक्षा के परिणाम घोषित करने का प्रयास किया जायेगा। 
 

पासपोर्ट अधिकारियों व कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

 देहरादून। लंबित समस्याओं के समााान के लिए ऑल इंडिया पासपोर्ट स्टाफ एसोसिएशन ने प्रदर्शन करते हुए धरना दिया और कार्य बहिष्कार किया, जिससे पासपोर्ट कार्यालय में आने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। एसोसिएशन से जुड़े हुए अधिकारी एवं कर्मचारी पासपोर्ट कार्यालय में इकटठा हुए और अपनी मांगों के समाधान के लिए प्रदर्शन कर धरने पर रहे और कार्य बहिष्कार किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि पिछले लंबे समय से उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है और केन्द्र सरकार इस ओर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं कर पा रही है जो चिंता का विषय है। उनका कहना है कि पूर्व में भी विदेश मंत्रालय के समक्ष मांगों को प्रस्तुत किया गया लेकिन वहां से भी कोरे ही आश्वासन मिले हैं।
 
 
 पासपोर्ट कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों व कर्मचारियों का कैडर रिव्यू किये जाने, राजभाषा के लिए कार्यरत कर्मचारियों को 15 वर्ष से अधिक की सेवा देने के पश्चात भी पदोन्नाति नहीं की जा रही है और विदेश मंत्रालय द्वारा इस ओर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। वक्ताओं ने कहा कि पासपोर्ट कार्यालयों में प्रति नियुक्ति पर दूसरे विभागों से नियुक्ति पर रोक लगाने तथा इसके स्थान पर पासपोर्ट कार्यालय में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारियों को पदोन्नति के अवसर उपलब्ध करवाने तथा शैक्षिक सत्र के मध्यम में विदेश मंत्रालय द्वारा जो स्थानांतरण किये गये हैं उन्हें तुरन्त प्रभाव से रोका जाना चाहिए। उनका कहना है कि लगातार उनकी मांगों की अनदेखी की जा रही है जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पूर्व मे भी काला फीता बांधकर विरोध प्रदर्शन किया गया लेकिन आज तक पूर्व में दिये गये ज्ञापन पर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। वक्ताओं ने कहा कि यह कार्य बहिष्कार पूरे भारत में किया गया है।  इसके बाद भी समस्याओं पर कार्यवाही नहीं की गई तो आंदोलन को तेज किया जायेगा। इस अवसर पर एसोसिएशन के अध्यक्ष महेन्द्र प्रकाश सिंह, सचिव आनंद सिंह रावत सहित अनेक अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।
 

मांगें नहीं मानी तो 15 अगस्त से करेंगे बेमियादी हड़ताल: कोठियाल

देहरादून। उत्तराखण्ड पावर जूनियर इंजीनियर्स एसोसिएशन के केन्द्रीय अध्यक्ष जीएन कोठियाल ने कहा कि लंबे समय से उनकी चार सूत्रीय मांगों का समाधान सरकार व प्रबंध तंत्र द्वारा नहीं किया जा रहा है जिसके लिए अब आंदोलन करने का मन बना लिया गया है और 14 अगस्त तक उनकी मांगों का समाधान नहीं किया जाता है तो 15 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल आरंभ कर दी जायेगी और कोई भी इंजीनियर किसी भी प्रकार का कोई कार्य नहीं करेगा।
   
उत्तरांचल प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कोठियाल ने कहा है कि अवर अभियंताओं को एक जनवरी 2006 से पुनरीक्षित वेतनमान में ग्रेड वेतन 4800 दिया जाना चाहिए, लेकिन अभी तक इस ओर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है जो चिंता का विषय है। उनका कहना है कि विद्युत निगम आपातकालीन एवं जोखिम वाली सेवा में आते है और उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, चंडीगढ, बिहार, झारखंड में विद्युत निगमों के अवर अभियंताओं को शासकीय विभागों के अवर अभियंताओं से अधिक वेतनमान मिल रहा है। उन्होंने कहा कि 30 सितम्बर 2012 तक उत्तराखंड ऊ र्जा निगम, यूजेवीएन लिमिटेड एवं पिटकुल में भी शासकीय विभागों के अवर अभियंताओं से अधिक वेतनमान मिल रहा था और एक अक्टूबर 2012 से अवर अभियंताओं का ग्रेड वेतन 4600 रूपये किया गया तथा तीन वर्ष बाद एक वेतनवृद्घि के साथ रूपये 4800 रूपये कर दिया गया, जबकि विद्युत निगमों में 23 नवम्बर 2015 से ग्रेड वेतन 4600 रूपये किया गया। यह विसंगति तभी दूर हो सकती है जब विद्युत निगमों में अवर अभियंताओं को एक जनवरी 2006 से पुनरीक्षित वेतनमान में ग्रेड वेतन 4800 दिया जायगा।
   
 
 उन्होंने यह भी कहा कि उत्तराखंड शासन के शासकीय विभागों की अनुरूपता में अवर अभियंता से सहायक अभियंता के पद पर प्रोन्नति कोटा 58$33 प्रतिशत किया जाये। उनका कहना है कि उनकी मांगों को लगातार दरकिनार किया जा रहा है जिसके लिए अब आंदोलन के अलावा कोई रास्ता शेष नहीं रह गया है। 2005 तक सेवा में आये कार्मिकों को जीपीएफ, पेंशन  सुविधा प्रदान किये जाने की आवश्यकता है इस पर भी किसी भी प्रकार का कोई काम आज तक सरकार व प्रबंध तंत्र की ओर से नहीं किया गया है। उनका कहना है कि 14 अगस्त तक चार सूत्रीय मांगों का समाधान नहीं किया गया तो 15 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल आरंभ कर दी जायेगी। आंदोलन का नोटिस सरकार को भेज दिया गया है।

आज बंद रहेंगे जिले के बारहवीं के तक विद्यालय

देहरादून। मौसम विभाग द्वारा उत्तराखण्ड राज्य में भारी वर्षा  की चेतावनी के पूर्वानुमान के अनुसार 1 अगस्त को भारी वर्षा की सम्भावना व्यक्त की गयी है। जनपद में भारी वर्षा की सम्भावना को देखते हुए जिलाधिकारी देहरादून के निर्देशों के क्रम में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व वीर सिंह बुदियाल ने  जनपद में कक्षा 1 से कक्षा 12 तक के समस्त शासकीय/गैर शासकीय एवं निजी स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों मेें 1 अगस्त को एक दिन का अवकाश घोषित किया गया है।

 उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को जनपद में उक्त आदेशों का अनुपालन कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होने समस्त उप जिलाधिकारियों एवं समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को जनपद में आदेशों का अनुपालन कराने के आदेश दिये हैं।

जेलों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर एडीजी ने ली जेलरों की बैठक

देहरादून। पुलिस मुख्यालय सभागार में अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यव्यस्था राम सिंह मीणा द्वारा राज्य में जेलों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर राज्य के समस्त जेल अधीक्षक एवं डिप्टी जेलरो के साथ बैठक ली गयी।
 
 
बैठक में उन्होंने कहा कि राज्य के सभी कारागारों की आन्तरिक एवं बाह्य सुरक्षा व्यवस्था को और स²ढ किया जाये। कारागारों से किसी भी प्रकार की कोई आपराधिक गतिविधियाँ के संचालन पर रोकथाम लगाई जाए। कारागार में निरुद्घ बंदियों की गतिविधियों की निगरानी की जाए। 
 
जेलों की सिक्योरिटी को बढ़ाया जाए। कारागार में निरुद्घ बंदियों से मुलाकात करने की एक समान व्यवस्था र्निाारित करने तथा मुलाकात के दौरान किसी प्रकार की संदिग वस्तुओं का अदान-प्रदान रोका जाए। बैठक में पीवीके प्रसाद, पुलिस महानिरीक्षक, जेल, एपीअंशुमन पुलिस महानिरीक्षक, अभिसूचना/सुरक्षा, पुष्पक ज्योति, पुलिस उप-महानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र प्रदीप राय, पुलिस अधीक्षक, नगर देहरादून, अजय सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ, मणिकान्त मिश्र,पुलिस अधीक्षक, ग्रामीण हरिद्वारसहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

सेवानिवृत्ति पर गृह सचिव विनोद शर्मा को दी विदाई

देहरादून। गृह सचिव उत्तराखण्ड शासन विनोद शर्मा के सेवानिवृत्त होने पर कारागार विभाग की ओर से विदाई समारोह का आयोजन किया गया। विदाई समारोह में महानिरीक्षक कारागार डा0 पी0वी0के0 प्रसाद द्वारा विनोद शर्मा के पूर्व महानिरीक्षक कारागार एवं वर्तमान गृह सचिव के रूप में कारागार विभाग को दिये गये योगदान एवं सहयोग के प्रति उनका आभार व्यक्त किया गया।
 
 
 पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी द्वारा  शर्मा की सेवा के प्रारम्भिक वर्षों के संस्मरण बताते हुए उन्हें एक सकारात्मक दृष्टिकोण वाला प्रशासनिक अधिकारी बताया। प्रमुख सचिव गृह डा0 उमाकान्त पंवार द्वारा गृह विभाग में एक सहयोगी अधिकारी के रूप में उनके कार्यों की सराहना की। विदाई सम्बोधन में विनोद शर्मा द्वारा महानिरीक्षक कारागार के रूप में बिताये गये अपने वर्षों एवं कार्यों के सम्बन्ध में बताया एवं जेल अधिकारियों द्वारा अपने कार्यकाल में दिये गये सहयोग हेतु उनका धन्यवाद किया।
 
विदाई समारोह में प्रमुख सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव डा0 उमाकान्त पंवार, पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी, अपर पुलिस महानिदेशक राम सिंह मीणा, अशोक कुमार, पुलिस महानिरीक्षक डा0 पी0वी0के0 प्रसाद, दीपम सेठ, ए0 अंशुमान, संजय गुंजयाल, उपमहानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र पुष्पक ज्योति, अपर सचिव गृह भूपाल सिंह मनराल एवं जेल विभाग के समस्त कारागारों के अधीक्षक, वरिष्ठ वित्त अधिकारी वीरेन्द्र रावत, प्रशासनिक अधिकारी मनोज खोलिया उपस्थित रहे।
 

गढ़वाल विवि के कैम्प कार्यालय पर छात्रों ने किया प्रदर्शन

 देहरादून। गढ़वाल विश्वविद्यालय से संबंाित डिग्री, मार्कशीट एवं अन्य समस्याओं के लिए कोई भी अधिकारी उप कार्यालय में तैनात न होने के विरोध में विकास ग्रुप के छात्रों ने सोमवार को प्रदर्शन करते हुए चेतावनी दी है कि यदि शीघ्र की इस मामले पर ठोस कदम नहीं उठाये गये तो जनांदोलन किया जायेगा।

    विकास ग्रुप छात्र संगठन से जुडे हुए छात्र छात्रायें बिन्दाल पुल के पास हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के कैम्प कार्यालय में इकटठा हुए और वहां पर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि गढ़वाल विश्वविद्यालय से संबंधित डिग्री, मार्कशीट एवं अन्य समस्याओं के लिए कोई भी अधिकारी कैम्प कार्यालय में उपस्थित नहीं होता है, जिस कारण छात्र छात्राओं का समय नष्ट होता है।
 
 
 उनका कहना है कि विगत कुछ सालों से डीएवी कालेज मेंं छात्रों की संख्या इस वजह से कम हो गई है क्योंकि कक्षाओं की कमी थी, परन्तु पिछले वर्ष से 18 कमरे और बने हैं जिससे कालेज में अन्य सीटे भी बढ़ाई जायें। कैम्प कार्यालय को बेहतर बनाये जाने के साथ ही यहां पर पूरा स्टाफ तैनात किये जाने की आवश्यकता है। इस अवसर पर प्रदर्शन करने वालोंं में आकाश राठौर, सचिन, गणेश, ज्योति पंवार, प्रिया, राजेश भटट, संध्या, जयदीप सिंह, अमन, मनमोहन, जितेन्द्र आदि मौजूद रहे।

प्रेस क्लब की सदस्यता के लिए 2 अगस्त से करें आवेदन

देहरादून। उत्तरांचल पे्रस क्लब कार्यकारिणी की पूर्व में आयोजित बैठक में नई सदस्यता शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इसी क्रम में 02 अगस्त से नई सदस्यता के लिए आवेदन शुरू किये जा रहे हंै। इच्छुक पत्रकार, छायाकार व इलेक्ट्रानिक चैनल के कैमरामेन क्लब कार्यालय से आवेदन पत्र ले सकते हैं। 
 
 
उत्तरांचल पे्रस क्लब के संयुक्त मंत्री प्रवीन बहुगुणा ने बताया कि आवेदन की अंतिम तिथि 21 अगस्त नियत की गयी है। उन्होंने बताया कि जिन पत्रकारों ने वर्ष-2017 से पूर्व सदस्यता के लिए आवेदन किया था, उनसे आवेदन शुल्क नहीं लिया जायेगा। आवेदन शुल्क सिर्फ पहली बार आवेदन करने वालों से ही लिया जायेगा। श्री बहुगुणा ने बताया कि वर्ष-2004 के बाद अपंजीकृत उत्तरांचल पे्रस क्लब के दौरान जो सदस्य थे, उन्हें भी नये सिरे से आवेदन जमा करना होगा। उनसे भी कोई आवेदन शुल्क नहीं लिया जायेगा। 

जीपीएस सिस्टम से होगी स्वच्छता अभियान की मानीटरिंग

देहरादून। प्रदेश के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने विधानसभा सभागार में प्रदेश के स्वच्छता अभियान को धरातल पर लाने के लिए जीपीएस सिस्टम से मॉनिटरिंग करने सम्बन्धित बैठक ली। उत्तराखण्ड राज्य में मोबाइल एप कम्प्यूटर और जीपीएस के माध्यम से स्वच्छता अभियान को जाँचा-पराखा जायेगा। इसके लिए बीएसएनएल और नगर विकास निदेशालय अनुबन्ध करेगा। इसके प्रथम चरण में 6 नगर निगम हरिद्वार, रूडक़ी, देहरादून, काशीपुर, रूद्रपुर और हल्द्वानी तथा 7 प्रथम श्रेणी के नगर नैनीताल, मसूरी, ऋषिकेश, रामनगर, पिथौरागढ़, अल्मोड़ा एवं पौड़ी सहित कुल 12 नगर निकाय में प्रयोग के तौर पर रखा जायेगा। 
 
 
इस व्यवस्थ के अन्तर्गत नगर की सफाई व्यवस्था को कम्प्यूटर डैस बोर्ड एवं जीपीएस के माध्यम से मॉनिटरिंग की जायेगी। इसके तहत कूड़ा उठान एवं डम्प की प्रक्रिया को ऑनलाइन ट्रैक कर सफाई की स्थिति जानी जा सकती है। इस व्यवस्था में सफाई कर्मी मोबाइल एप से फोटो खिंच कर सफाई की स्थिति को अपलोड करेगा। यह सुविधा नागरिकों को भी दी जायेगी। इसके तहत सफाई वाहन किस स्पिीड से कहाँ-कहाँ गया की स्थिति की जानकारी मिलेगी तथा सफाई वाहन के लॉक बुक को क्रॉस मैच किया जा सकता है। इस योजन सम्बन्धी जानकारी विधान सभा में पावर प्वाइंट प्रस्तुतिकरण के माध्यम से दी गई। बैठक में अपर सचिव विनोद सुमन, निदेशक शहरी विकास नवनीत पाण्डेय, नगर आयुक्त रवनीत चीमा एवं बीएसएनएल की टीम उपस्थित थी। 

जन स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक मजबूत बनाने पर जोर दिया

देहरादून। मुख्य सचिव एस$ रामास्वामी ने सोमवार को सचिवालय में 108 आपातकालीन सेवा के एडवाइजरी काउंसिल के बैठक की अध्यक्षता करते हुए जन स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक मजबूत बनाने पर जोर दिया। कहा कि पुरानी हो चुकी 33 एंबुलेंस को तत्काल बदलकर नई गाडि़यां खरीदी जाए। इस साल 61 नई एंबुलेंस का इंतजाम कर जरूरत वाली जगहों पर तैनात किया जाए। इसके साथ ही पशुओं को उपचार की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सचल पशु चिकित्सकों और पैरा चिकित्सकों की भी व्यवस्था की जाए। बैठक में बताया गया कि पुलिस की मदद से महिला हेल्पलाइन 181 शुरू किया गया है। इससे महिला उत्पीडऩ की किसी भी घटना पर तुरंत सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।
 
 
 अभी तक लगभग 12 लाख आपात मामलों में कार्यवाही की गई है। इनमें पुलिस, आग और मरीज के मामले शामिल है। 96 प्रतिशत लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शहरी क्षेत्रों में 28 मिनट और ग्रामीण क्षेत्रों में 40 मिनट पर एंबुलेंस पहुंच रही है। 263 सरकारी और 144 निजी अस्पतालों से इलाज के लिए करार किया गया है। बैठक में अपर सचिव स्वास्थ्य ड$पंकज कुमार पाण्डेय, मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन आईएमआरआई के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सुबोध सत्यवादी, महानिदेशक स्वास्थ्य ड$डी$एस$रावत, राज्य प्रभारी ईएमआरई मनीष टिंकू सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए: सीएम

देहरादून। निर्माण कार्यों में आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाए। जिससे प्राप्त बजट के सापेक्ष 15 से 20 प्रतिशत अधिक निर्माण कार्य हो सकें। यह निर्देश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को सचिवालय में आयोजित लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान दिए। उन्होंने कहा कि नई तकनीक का प्रयोग पहले कम क्षेत्र में ट्रायल बेस पर किया जाए। आधुनिक तकनीक के प्रयोग के साथ पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का भी विशेष ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि वर्षाकाल के ²ष्टिगत यह सुनिश्चित किया जाए की मुख्य मार्ग खुले रहे। यदि बारिश के कारण सडक़ बाधित हो तो समय पर खुल जाए। निर्माण कार्यों में तेजी लाने के लिए अपर मुख्य सचिव को अंतर्विभागीय निष्पादन हेतु मामलों को अनलाइन करने के लिए जल संस्थान, विद्युत, वन विभाग, राजस्व विभाग एवं लोक निर्माण विभाग की अन्तर्समन्वय बैठक करने के निर्देश दिए।
 
 
मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग को 149$95 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले 440 मीटर डोबरा-चांठी भारी वाहन झूला पुल को निर्धारित समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। मुनि की रेती में कैलाश गेट के समीप गंगा नदी पर 35$46 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले 310 मीटर पुल एवं श्रीनगर में विश्वविद्यालय परिसर चौरास को जोडऩे हेतु अलकनंदा नदी पर 36$37 करोड़ रूपये की लागत के 190 मीटर डबल लेन सेतु का निर्माण शीइा्र पूर्ण करने के निर्देश दिए है। टनकपुर-जौलजीबी मोटर मार्ग के निर्माण कार्य, अल्मोड़ा में भतरोजखान-भिकियासैंण-चौखुटिया मार्ग के सुधारीकरण के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।
 
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने उत्तराखण्ड में चारधाम प्रोजेक्ट की समीक्षा करते हुए कहा कि इस प्र्रोजक्ट के लिए जल्द से जल्द फॉरेस्ट क्लीयरेंस एवं भू-अधिग्रहण कर लिया जाए। कार्यदायी संस्थाओं लोक निर्माण विभाग, बी$आर$ओ$ एवं पी$आई$यू द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग पर 889 कि$मी$ पर विभिन्न निर्माण का कार्य किये जाने हैं। जिसमें 02 सुरंग चम्बा एवं राड़ी टॉप में प्रस्तावित हैं। इसके अलावा 132 पुल, 13 बाईपास बनने हैं। लोक निर्माण विभाग द्वारा ऋषिकेश से रूद्रप्रयाग तक 140 किमी, धरासू से यमुनोत्री 95 किमी,  रूद्रप्रयाग से गौरीकुण्ड तक 76 किमी एवं टनकपुर से पिथोरागढ़ 150 किमी पर ऑल वेदर रोड के तहत कार्य किया जाना है। बी$आर$ओ$ द्वारा रूद्रप्रयाग से माणा तक 160 किमी पर कार्य किया जाना है। जबकि पी$आई$यू द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग 94 पर धरासू से गंगोत्री तक 124 किमी की दूरी पर ऑल वेदर रोड के तहत कार्य किया जाना है। बैठक में अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश, प्रमुख अभियन्ता लोक निर्माण विभाग एच$के$ उप्रेती, अपर सचिव मेहरबान सिंह बिष्ट, लोकनिर्माण विभाग एवं एन$एच$ के अधिकारी उपस्थित रहे। 

बारिश से क्षतिग्रस्त हुए निर्माण कार्य शीघ्र शुरु करने को कहा

देहरादून। मसूरी विधायक गणेश जोशी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों संग सिल्ला, कार्द, सहस्त्रधारा, घन्तु का सेरा, फूलैत एवं मझाड़ा में बारिश के कारण नुकसान के कार्यो को तत्काल प्रारम्भ कराये जाने हेतु निर्देशित किया। 
 
 
उन्होंने बताया कि भारी बरसात के कारण बांदल घाटी क्षेत्र में अत्यधिक नुकसान हुआ, इसके कारण से ग्रामिणों को भी अत्यधिक समस्या का सामना करना पडा था। कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रशासनिक एवं विभागीय अधिकारियों संग सिल्ला, सरखेत एवं बांदल घाटी का दौरा किया था।
 
विधायक जोशी ने बताया कि सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि पुर्ननिर्माण के कार्यो को प्राथमिकता के आधार पर निष्पादित कराया जाए। बैठक में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता डीके सिंह, सहायक अभियंता नरेन्द्र सिंह, अनुज रोहिला, अनुज कौशल, मंजीत रावज, जयपाल भण्डारी, घनश्याम नेगी उपस्थित रहे।

भण्डार कर्मचारी संघ का द्विवार्षिक अधिवेशन सम्पन्न

देहरादून। भण्डार कर्मचारी संघ सिंचाई विभाग उत्तराखण्ड का द्विवार्षिक अधिवेशन हुआ सम्पन्न हो गया है। अधिवेशन में जहां अनेक बिंदुओं पर खुला विचार करते हुए वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये, तो वहीं अगले दो वर्ष के लिए भी नई कार्यकारिणी का सर्वसम्मति से चयन भी किया गया है। 
    विभाग का यह अधिवेशन पशुलोक गैस्ट हाउस ऋषिकेश में आयोजित किया गया। जिसमें भण्डार कर्मचारी संघ सिंचाई विभाग उत्तराखण्ड के प्रान्तीय अध्यक्ष रमेश रमोला मुख्य अतिथि व विशिष्ठ अतिथि पूर्णानंद नौटियाल थे।
 
 
  संगठन के प्रांतीय महामंत्री महेश प्रसाद उनियाल ने जानकारी देते हुए कहा कि अधिवेशन के अंतिम सत्र में अगले दो वर्षों वर्ष 2017-18 व 2018-19 के लिए पदाधिकारी भी चुने गये। जिसमें क्रमश: बीडी गंगवार, इन्द्रमणी रतूड़ी व देशराज सिंह को संरक्षक, सत्यनारायण शर्मा को प्रांतीय अध्यक्ष, विशाल सिंह को वरिष्ठ उपाध्यक्ष, महेश प्रसाद उनियाल को महामंत्री, सर्वेन्द्र कुमार यादव को सहायक महामंत्री कुमाउं, शैलेन्द्र सिंह को सहायक महामंत्री गढ़वाल के पद पर चुना गया। इसके अलावा हरिओम सुकलाईवाल को कोषाध्यक्ष, विपिन कुमार को प्रचार सचिव बनाया गया है। जबकि ईश्वर प्रसाद शर्मा को क्लेम सचिव व लव कुमार शर्मा को सम्प्रेक्षक की कुर्सी सौंपी गयी है। 
 

रसोई गैस का संकट गहराने लगा

 

  उत्तरकाशी। रसोई गैस सिलेंडरों की सप्लाई न होने के कारण सीमांत जनपद उत्तरकाशी में भी रसोई गैस का संकट गहराने लगा है। उत्तरकाशी की इंडियन गैस एजेंसियों को पिछले चार दिनों गैस की सप्लाई नहीं मिली है। एजेंसियों के गोदाम भी खाली हो गए हैं। गंगा घाटी में इंडियन गैस सर्विस के करीब 40 हजार उपभोक्ता हैं।उत्तरकाशी में इंडियन गैस सर्विस की तीन एजेंसियां हैं। इनमें एक उत्तरकाशी, दूसरी चिन्यालीसौड़ तथा तीसरी एजेंसी नौगांव में है। सबसे अधिक उपभोक्ता उत्तरकाशी गैस एजेंसी के हैं।

 पिछले चार दिनों से गैस के ट्रक न आने के कारण उत्तरकाशी शहर में भी उपभोक्ता गैस सिलेंडरों के लिए परेशान होने लगे हैं। उत्तरकाशी के मानपुर, बौन पंजियाला, बोगा भैलूड़ा, धौंतरी क्षेत्र में भी उपभोक्ताओं के सिलेंडर खाली हो गए हैं। इन क्षेत्रों में जुलाई के अंतिम सप्ताह गैस की आपूर्ति होती थी, लेकिन गैस प्लांट से गैस सिलेंडर न मिलने के कारण यह परेशानी सामने आए हैं। इंडियन गैस सर्विस उत्तरकाशी के प्रबंधन एनएस राणा ने बताया कि उत्तरकाशी में एक माह में 40 ट्रक गैस की खपत है। इसमें केवल 31 ट्रक ही मिले हैं। बीच में कांवड़ के कारण भी गैस की सप्लाई प्रभावित रही और अब पिछले चार दिनों से प्लांट से ही गैस की आपूर्ति नहीं हो रही है। वहीं यमुना घाटी में भी करीब 9 हजार उपभोक्ता हैं। 28 जुलाई से यहां भी गैस नहीं बंटी हैं।

जिले के अंतिम गांव गौंडार पहुंचे जिलाधिकारी

रुद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने मद्महेश्वर घाटी के रांसी गांव से मद्महेश्वर धाम तक 16 किमी पैदल यात्रा तय कर मद्महेश्वर धाम का जायजा लिया और विकासखण्ड ऊखीमठ के सीमान्त गांव गौण्डार व रांसी में जनता दरबार लगाकर जनसमस्याएं सुनी। जनता दरबार को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि जनपद के सीमान्त गांवों में आज भी समस्याओं का अंबार लगा हुआ है, इसलिए हर अधिकारी सीमान्त गांवों के समस्याओंं को गम्भीरता से लेकर उनके निराकरण के प्रयास करें। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि सीमान्त गांव गौंडार में केदारनाथ वन्य जीव प्रभाव के सैंचुरी वन अधिनियम के कारण मूलभूत सुविधाओं का अभाव बना हुआ है। गांव में फैली हर समस्या के निराकरण के लिये प्रयास किये जायेंगे।
 
 जनता दरबार में गौण्डार निवासी बलवीर सिंह पंवार ने शिकायत करते हुए कहा कि उरेड़ा द्वारा गौंडार गांव में लघु जल विद्युत परियोजना के समय ग्रामीणों से कार्य करवाया गया था, मगर उरेडा़ विभाग व कार्यदाही संस्था द्वारा आज तक मजदूरों का भुगतान नहीं किया गया है। जिस पर जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने उप जिलाधिकारी ऊखीमठ गोपाल सिंह चौहान को शीइा्र जांच के आदेश दिये। जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि आपदा के बाद जो भी कार्य बिना निविदाताओं के कराये गये है, वहां कार्य वैध नहीं हैै। उन्होंने एसडीएम ऊखीमठ को आपदाओं के बाद बिना निकदाताओं के कराये गये विकास कार्यो की जांच के आदेश दिये। जनता दरबार के गौंडार निवासी कार्तिक सिंह ने शिकायत करते हुए कहा कि दो करोड़ दस लाख रुपये की लागत के निर्मित लघु जल विद्युत परियोजना के निर्माण कार्य मेंं घोर अनियमिताएं बरती गई हं,ै जिस पर जिलाधिकारी ने उरेड़ा विभाग के अधिकारियों को शीइा्र रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिये।
 
जिलाधिकारी ने कहा कि मद्महेश्वर धाम को विद्युत व्यवस्था से जोडऩे के प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने वन विभाग को मद्महेश्वर धाम में जल मोड़ नाली के निर्माण करने के आदेश दिये। गौण्डार गांव के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को दस सूत्रीय मांग पत्र सौंपा, जिस पर जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए कहा कि मद्महेश्वर व गौंडार गांव सहित यात्रा पडा़वों पर फैली हर समस्या के निराकरण के लिये प्रयास किये जायेंगे। रांसी गांव में आयोजित जनता दरबार में भी ग्रामीणों ने कई समस्यायें रखी। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल द्वारा गौंडार गांव में प्यारे फाउडेशन के लघु दवाखाना का निरीक्षण करते हुए कहा कि फाउडेशन द्वारा गौंडार गांव में पुनीतकार्य किया है। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा, सीओ अभय सिंह, रेंज अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद डिमरी, पीएसजीएसवाई के अधिशासी अभियन्ता आरसी उनियाल, खण्ड विकास अधिकारी बीसी शुक्ला, बीरेन्द्र पंवार, आमल सिंह पंवार, जातबर सिंह पंवार, नरोत्तम सिंह राणा सहित जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

जनता दरबार में 75 शिकायतें दर्ज, 24 का निस्तारण

रुद्रप्रयाग। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में पुराने विकास भवन में जनता दरबार का आयोजन किया गया। इस मौके पर 75 शिकायतें दर्ज हुई, जिसके सापेक्ष24 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। जिलाधिकारी ने उपस्थित सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि शेष सभी शिकायतों का एक सन्ताह के भीतर निस्तारण करें। कहा कि जनता दरबार में फरियादियों द्वारा जो भी शिकायतें दर्ज की जाती हैं, उनका निस्तारण अधिकारी पूरी गंभीरता से करें।
 
 
जनता दरबार में विकासखण्ड जखोली की विभिन्न समस्याओं को लेकर उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संगठन सचिव रघुवीर सिंह राणा ने जिलाधिकारी का ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने कहा कि जखोली-पालाकुराली मोटरमार्ग को वर्ष 2005 में स्वीकृति मिली, जिससे जखोली, बजीरा, धनकुराली, उरोली, इजरा, उछना और पालाकुराली सहित छ: ग्राम सभाओं को जुडऩा है। मगर लोनिवि रुद्रप्रयाग की लापरवाही के कारण निर्माण कार्य आज तक शुरू नहीं हो पाया है। कहा कि ऐसे ही ममनी-जखोली-धनकुराली मोटरमार्ग को वर्ष 2015 में स्वीकृति मिली, लेकिन अभी तक निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि धान्यों-कोटी-घरड़ा मोटरमार्ग बनकर तैयार हो चुका है, लेकिन काश्तकारों के मुआवजे का भुगतान नहीं हो पाया है। जिला पंचायत सदस्य श्रीमती आशा डिमरी ने डुगंरा से सौंराखाल पैदल मार्ग बनाने की मांग की और कहा कि सांैराखाल से मठियाणा-सिलगांव एवं तिलवाडा से सौंराखाल मोटर मार्ग पर पुश्ता क्षतिग्रस्त होने से रसोई गैस नहीं पहुंच पा रही है। इस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभाग को निर्देश दिये कि शीइा्र कार्यवाही की जाय।
 
ग्रामतिलणीनिवासी कुशाल सिंह नेगी ने बताया कि घर के आंगन में विद्युत पोल पर करंट आने की शिकायत दर्ज की, जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग को तत्काल मामले की जांच के निर्देश दिए। ग्राम फेगू निवासी कमला ने भारी बारीश के कारण मकान का पुस्ता ढहने से मकान को खतरा होने की शिकायत की। समस्त उपनल कर्मचारी द्वारा बताया गया कि जिला चिकित्सालय में कार्यरत उपनल कर्मियों को नौ माह से वेतन भुगतान नहीं हो पाया। ग्राम प्रधान एवं समस्त ग्रामवासी सुमेरपुर ने बताया कि एनएच 58 के चौडीकरण के लिए चयनित भूमि से गांव में 52 परिवारों को खतरा बना है। जिस पर जिलाधिकारी ने एनएच को निरीक्षण कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही तल्लानागपुर विकास सघंर्ष समिति चोपता के अध्यक्ष पूर्ण सिंह नेगी ने बताया कि शिक्षा, पेयजल पम्पिंग योजना, मोटर मार्ग, स्कूल में भवन की कमी, पॉलीटैक््िरक भवन दो वर्षाे के बाद भी अधूरा, उद्यान विभाग को लगभग साठ नाली जमीन आज भी बंजर, दो एलोपैथिक चिकित्सालय है जोकि डाक्टर विहीन है,
 
स्थान चोपता में गैस गोदाम खोलने की मांग, चोपता में स्टेट बैंक के कर्मचारियों की कमी के कारण लोगों का परेशानी, स्वांरी-ग्वांस मोटरमार्ग को मणिगुह से मिलान के सम्बन्ध में जिलाधिकारी के समक्ष अपनी मांग रखी। जिस पर जिलाधिकारी ने शिकायतों से सम्बन्धित विभागों को जांच निर्देश दिये। जिला पंचायत सदस्य श्रीमती अन्जू जगवाण, तिलवाडा पेयजल समिति के अध्यक्ष बीरपाल सिंह रावत और पूर्व व्यापार संध अध्यक्ष मान सिंह जगवाण ने तिलवाड़ा-पांजणा पेयजल योजना में विभाग द्वारा भारी अनयमितता बरती जाने के कारण अपूर्ण योजना की तत्काल जांच के संबंध में शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने जल निगम एवंं जल संस्थान को जांच के निर्देश दिये।इस मौके पर डीएफओ राजीव धीमान, मुख्य विकास अधिकारी डीआर जोशी, एसडीएम सदर मुक्ता मिश्रा सहित सभी विभागीय अधिकारी और जनता मौजूद थी।

गदेरे की तेज धारा में बहा बच्चा

 

 रुद्रप्रयाग। अगस्त्यमुनि क्षेत्र के अंतर्गत प्रसिद्घ रामेश्वर मंदिर के पास तिमली गदेरे में एक छह साल का बालक पानी की तेज धारा में बह गया। सूचना मिलते ही पुलिस एवं एसडीआरएफ की टीम घटनास्थल पहुंची और गदेरे में सर्च अभियान चलाया। सांय लगभग पांच बजे के करीब बच्चे का शव घटना स्थल से पांच किमी दूर प्रान्त किया गया। 

 जानकारी के अनुसार सोमवार लगभग दो बजे कोटी-बडमा निवासी जगमोहन का बेटा अजय अपनी मां के साथ स्कूल से घर आ रहा था। अजय तिमली स्थित शिशु मंदिर में पहली कक्षा में पढ़ता था। स्कूल से छुटटी होने पर अजय अपनी मां के साथ घर आ रहा था, इस दौरान तिमली गदेरे को पार करते समय अचानक अजय का पैर फिसल गया और वह गदेरे की तेज धारा में बह गया, जिसे देखकर अजय की मां जोर-जोर से चीखने चिल्लाने लगी। स्कूल के पास ही तिमली क्षेत्र का प्रसिद्घ रामेश्वर मंदिर स्थित है, जहां भक्तों की भारी भीड़ थी। चीखने की आवाज सुनते ही अन्य लोग भी घटनास्थल पर पहुंचे। जब तक लोग कुछ समझ पाते, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अजय तेज बहाव में दूर बह चुका था।

घटना की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी। सूचना मिलने पर एसआई भूषण काला मयफोर्स घटना स्थल पर पहुंचे। बाद में पुलिस उपाधीक्षक श्रीधर प्रसाद बडोला भी मयफोर्स घटना स्थल पर पहुंचे। गदेरे में सर्च अभियान चलाया गया। सांय लगभग पांच बजे के करीब घटना स्थल से दो किमी दूर अजय का शव बरामद हुआ। इस दुखद घटना से क्षेत्र में गम का माहौल बना हुआ है। सीओ श्रीधर प्रसाद बडोला ने कहा कि पैर फिसलने के कारण अजय गदेरे में बहा। गदेरे में सर्च अभियान चलाने के बाद शव बरामद किया गया है। शव का पंचनामा कर पीएम को भेज दिया है।

ट्राली से गिरकर मंदाकिनी नदी में समाई युवती

रुद्रप्रयाग। फाटा के निकट रैल गांव में मंदाकिनी नदी पर लगी ट्राली एक युवती के लिये काल बन गई। अपनी सहेलियों के साथ मंदाकिनी नदी को पार कर रही युवती अचानक चक्कर आने पर ट्राली से गिरकर मंदाकिनी नदी की तेज धारा में बह गई। युवती का नदी की तेज धारा में कहीं कुछ पता नहीं चल पा रहा है। पुलिस एवं आपदा प्रबंधन की टीम नदी में सर्च अभियान चला रही है। वहीं आपदा के चार साल बाद भी ट्रालियों में लगातार हो रही घटनाओं और झूलापुल न बनने से आपदा पीडि़त जनता में आक्रोश बना हुआ है।

 
प्रान्त जानकारी के अनुसार फाटा क्षेत्र के रैल गांव निवासी रेशमा (21) पुत्री वृजमोहन सिंह चौहान अपनी दो अन्य सहेलियों के साथ सुबह के समय सिलाई बुनाई का कार्य सीखने के लिये मंदाकिनी नदी पर लगाई गई ट्राली से फाटा गई थी। तीनों युवतियां फाटा में सिलाई-बुनाई का कार्य सीख रही थी। कार्य सीखने के बाद तीनों युवतिया ट्राली से घर के लिये जा रही थी। जैसे ही ट्राली नदी के बीच पहुंची तो अचानक रेशमा ट्राली से नीचे गिर गई। इस दौरान साथ बैठी अन्य लड़कियां भी कुछ समझ नहीं पाई। देखते ही देखते रेशमा नदी की तेज धारा में बह गई। नदी किनारे खड़े ट्राली संचालक भी कुछ नहीं कर पाये। यह भी बताया जा रहा है कि रेशमा को चक्कर आने के कारण वह नदी में गिरी।
 
 
घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस उपाधीक्षक केदारनाथ अभय सिंह और उप जिलाधिकारी गौपाल सिंह चौहान मयफोर्स घटना स्थल पर पहुंचे और नदी में सर्च अभियान चलाया, लेकिन युवती का कहीं कुछ पता नहीं चला। मंदाकिनी नदी का बहाव तेज होने के कारण सर्च अभियान चलाने में काफी दिक्कतें आ रही हैं। पुलिस उपाधीक्षक अभय सिंह ने बताया कि युवती नदी के बीच पहुंचते ही ट्राली से गिर गई। युवती ट्राली से नदी में कैसे गिरी, इस बारे में कुछ पता नहीं चल पा रहा है। साथ में बैठी अन्य युवतियों से भी पूछताछ की जा रही है। नदी में खोजबीन की जा रही है। नदी का तेज बहाव होने के कारण काफी दिक्कतें आ रही हैं। इसके बावजूद भी पुलिस और एसडीआरएफ के जवान खोजबीन में जुटे हुए हैं।

भूस्खलन की चपेट में आने से 2 बाइक सवार की मौत

नैनीताल। नैनीताल में हल्द्वानी-अलमोड़ा सड़कमार्ग पर खैरना के पास भूस्खलन की चपेट में आने से दो बाइक सवार की मौत हो गई। जिनमें से एक युवक की शरीर को मलबे से निकाल लिया गया है और दूसरे युवक के शव को निकालने का प्रयास किया जा रहा है।

 
 
प्रदेश में भारी बारिश कहर बनकर बरस रही है, ऐसे में नैनीताल में भूस्खलन की चपेट में आने से दो युवकों की मौत हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार नैनीताल के एनएच-9 पर हल्द्वानी-अलमोड़ा सड़कमार्ग में खैरना के पास भूस्खलन की चपेट में आने के कारण दो बाइक सवार युवक मलबे में दब गए। बताया जा रहा है कि मलबे में दबने के कारण एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि दूसरा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था।
 
जिसे मलबे से निकालने का प्रयास किया जा रहा था, लेकिन हादसे कुछ समय बाद दुसरे युवक ने भी दम तोड़ दिया। फिलहाल एक युवक के शव को मलबे से निकाल लिया गया है।

परिवर्तित करने वाला समाज आज पतन की ओर: कौशिक

रुडक़ी। रायबरेली में ब्राहमण समाज के पांच सदस्यों की निर्मम हत्या के बाद रविवार को युवा ब्राहमण जागृति मंच के तत्वाव्धान में उनका श्रद्धांजलि समारोह आयोजित किया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि देश की दशा और दशा को परिवर्तित करने वाले ब्राहमण समाज की दयनीय स्थिति हो रही है। उन्होंने समाज की एकता पर भी बल दिया। युवा ब्राहमण जागृति मंच के तत्वाव्धान में मालवीय चौक पर रायबरेली में पांच ब्राहमणों की हत्या को लेकर उनका श्रद्धांजलि समारोह आयोजित किया गया। समारोह का शुभारम्भ दिवंगत पांच ब्राहमणों को श्रद्धासुमन अर्पित करके किया गया। साथ दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण किया गया।
 
 कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए शहरी विंास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि आज सभी ब्राहमण समाज के लोगों में अहंकार की भावना जागृत हो गई है। इतिहास और शास्त्र साक्षी हैं कि जब भी किसी समाज में अहंकार की भावना का समावेश हो जाता है। वही अहंकार उस समाज के पतन का कारण बन जाता है। आज हमारे समाज का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि देश की दशा और दिशा को परिवर्तित करने की क्षमता रखने वाला ब्राहमण समाज पतन की ओर जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज हमें एकजुट होकर चलने की आवश्यकता है क्योंकि एकता में ही बल होता है। विशिष्ट अतिथि कांग्रेस प्रवक्ता श्रीगोपाल नारसन ने दिवंगत ब्राहमणों की हत्या की निंदा करते हुए कहा कि ब्राहमण समाज एकमात्र ऐसा समाज है जिसमें विद्वता का समावेश होता है। लेकिन आज उसकी विद्वता ही उसके अहंकार को जन्म दे रही है।
 
उन्होंने कहाप कि यदि समय रहते दिवंगतों के हत्यारों को सजा देने की मांग की जाती तो शायद आज हत्यारे जेल में होते। लेकिन कोई भी इस समाज के साथ जोडऩे की बात नहीं करता, केवल अपने बारे में ही चिंतन करता है। परन्तु हमें सर्वप्रथम उस समाज के उत्थान के बारे में सोचना होगा, जिस समाज ने हमें पहचान दी है। संचालन कर रहे पंडित रजनीश शास्त्री ने वैदिक मंत्रोच्चारण कर दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि दिलाते हुए कहा कि आज सभी राजनीतिक पार्टियां और अन्य समाज ब्राहमण समाज को नीचा मानकर चलते हैं। जिसका मुख्य कारण समाज का बिखरापन जोकि हम स्वयं प्रदर्शित कर देते हैं। इसलिए समाज को संगठित होकर चला होगा। इस अवसर पर पंडित सत्यप्रकाश ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। श्रद्धांजलि देने वालों में संगठन के अध्यक्ष अमित वत्स, संयोजक गौरव वत्स, आशीष पंडित, मंगलौर कृषि मंडी के पूर्व चेयरमैन पंडित हितेश शर्मा, डा. नवनीत शर्मा, भाजपा नेता नवीन तैन एडवोकेट, विपिन शर्मा, अरविन्द शर्मा, सुबोध शर्मा, संजय शर्मा, पवन शर्मा, आनन्द पराशर, अभिषेक शर्मा, विशाल शर्मा, तरूण वत्स, तनुज राठी आदि उपस्थित रहे।

बलात्कार का आरोपी गिरफ्तार

देहरादून। रायपुर थाना क्षेत्र में निवासी ने अपनी 13 वर्षीय नाबालिग बेटी को बहला फुसलाकर भगा लेने व उसके साथ दुष्कर्म करने की शिकायत दर्ज कराई है। पीडि़ता के पिता ने तहरीर देकर कहा कि उसके पड़ोसी जालीनाथ का बेटा कुनाल उसकी बेटी को काफी समय परेशान कर रहा था। शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।
 
 
पुलिस सूत्रों के अनुसार संपेरा बस्ती रायपुर के रहने वाले पीडि़ता के पिता ने पुलिस को बतया कि कुनाल पुत्र जालीनाथ उसकी 13 वर्षीय बेटी को कई दिनों से परेशान कर रहा था। एक उसने उसे बहला फुसलाकर अपने साथ भगाकर ले गया। इस दौरान उसके साथ दुष्कर्म भी किया। पुलिस ने भादवि की धाराओं में मुकदर्मा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच कर रहे सतीश चंद्र घिल्डिय़ाल ने बताया कि पुलिस ने रिपोर्ट कर मुकदमा कायम कर लिया है। आरोपी की जांच की जा रही है। शीघ्र गिरफ्तार कर उचित कार्रवाई की जायेगी।

200 लोगो को ठगने वाला गिरफ्तार

देहरादून। शास्त्रीनगर निवासी राखी वर्मा एक्टिवा में विज्ञापन के नाम पर किस्त जमा करने को लेकर ठगी करने वाले पंजाब के राजवीर को पुलिस ने पकड़ लिया है। राखी वर्मा निवासी शास्त्रीनगर, इन्दिरानगर देहरादून ने 23 अगस्त 2016 को थाना बसंत विहार पर लिखित तहरीर दी कि उसे 31 जुलाई 2016 को मद्रासी कालोनी, नियर रेलवे स्टेशन में स्थित संतोष नामक व्यक्ति द्वारा बताया गया कि 12-13, 3तक फ्लोर जनरल मार्केट इन्दिरानगर, नियर मलिक चौक स्टैण्डर्ड बैकर्स के ऊपर स्थित ड्रीम ऑन वे कम्पनी वाहन खरीदने पर रुपए 2500 प्रतिमाह देती है। वादिनी द्वारा कम्पनी में जाकर कम्पनी के कर्मचारी राजवीर सिंह (एसएम) से बात की गयी।
 
 राजवीर सिंह द्वारा बताया गया कि ड्रीम वे ड्रीम ऑन वे एडवरटाइजिंग कम्पनी है, जो कि दो पहिया व चार पहिया वाहन पर स्टीकर के माध्यम से प्रचार करने लिये रुपए 2500 प्रतिमाह देती है तथा रुपए 8000 रूपये वाहन में व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम लगाने के लिये वादिनी को देने होंगे। वादिनी द्वारा उपरोक्त कम्पनी से बात कर 2 अगस्त 16 को एक्टिवा खरीदने के लिये एसएल होंडा शोरूम, बल्लीवाला चौक से डाउन पेमेन्ट रुपए 17,700 जमा कर तथा रुपए 8000 ड्रीम ऑन वे कम्पनी के कर्मचारी राजवीर को देकर अपने नाम पर नई एक्टिवा खरीद ली गयी। 4 अगस्त 2016 को कम्पनी द्वारा वादिनी को कान्ट्रेक्ट दिया गया तथा कम्पनी द्वारा वादिनी की एक्टिवा पर आईडिया 4जी के दो स्टीकर लगाये गये तथा वादिनी को बताया गया कि एक्टिवा की किस्त रुपए 2500 वादिनी के खाते में कम्पनी द्वारा हर महीने की 3 तारीख को जमा कर दिये जायेगें। वादिनी एक्टिवा में वीटीएस सिस्टम लगाने हेतु ड्रीम ऑन वे कम्पनी के कार्यालय गयी तो उसे कार्यालय बन्द मिला तथा कम्पनी के फोन नम्बर्स भी बन्द मिले।
 
वादिनी द्वारा आस पास कम्पनी के बारे में जानकारी की गई तो लोगो द्वारा बताया गया कि उक्त कम्पनी 3-4 दिन पहले भाग गयी है। वादिनी के साथ हुई धोखाधड़ी के सम्बन्ध में दी गयी लिखित तहरीर के आधार पर थाना बसंत विहार पर ड्रीम ऑन वे कम्पनी व उसके कर्मचारी राजवीर उपरोक्त के विरद्ध मुअसं 91,16 धारा 420 भादवि पंजीकृत किया गया था। विवेचना को दौरान उक्त फर्जी कम्पनी के वांछित अभियुक्त राजवीर उर्फ मनप्रीत सिंह पुत्र लछमन सिंह निवासी मकान नंबर 10 तह बुढ़लाडा, संदली बोहा मानसा, पंजाब का नाम प्रकाश में आया, जो अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर उक्त कम्पनी के फर्जी दस्तावेज लोगो को दिखाकर उनसे रुपयों की ठगी करता था। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर लोगो से की गई ठगी पर विवेचना में धारा 467, 468, 471 आईपीसी की बढ़ोत्तरी की गयी। अभियुक्त राजवीर उर्फ मनप्रीत उपरोक्त की गिरफ्तारी हेतु काफी प्रयास किये गये किन्तु अभियुक्त लगातार गिरफ्तारी में बच कर फरार चल रहा था।
 
शनिवार को मुखबिर तन्त्र से पुलिस को सूचना मिली की राजवीर उर्फ मनप्रीत उपरोक्त किसी कार्य से देहरादून आया हुआ है। पुलिस टीम द्वारा तत्परता से सुरागरसी व पतारसी करते हुये राजवीर उर्फ मनप्रीत उपरोक्त को आईएसबीटी बस अड्डे के पास देहरादून से गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में इसके द्वारा बताया कि उसके द्वारा अपने अन्य साथियों के साथ कम समय में अधिक पैसे कमाने के लालच में इस प्रकार की कम्पनी तैयार कर लोगो से धोखाधडी शुरू की गई, इनके कारनामो के बारे में पुलिस को भनक न लग सके इसलिये ये करीब 200 लोगो से लाखो रूपये की ठगी कर फरार हो गये। धोखाधडी करने में शामिल अन्य लोगो में कुलदीप उर्फ राजदीप तथा प्रिया निवासीगण संगरूर, पंजाब तथा रजत निवासी देहरादून के नाम की भी जानकारी हुई है। जिनकी गिरफ्तारी हेतु प्रयास जारी है। अभियुक्त को आज न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम मे उप निरीक्षक हरीश सिंह, कांस्टेबल डबल सिंह व नरेन्द्र कुमार शामिल थे। 

मेडिकल फीस को लेकर अभी भी छात्र असमंजस की स्थिति में

देहरादून। मेडिकल कॉलेजों में दाखिले को लेकर देशभर से उत्तराखंड आए छात्रों को फिलहाल कोई राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। सरकार और कॉलेजों के बीच एडमिशन फीस को लेकर आपसी सहमति न बन पाने से एमबीबीएस में दाखिले की राह देख रहे छात्रों का भविष्य अंधकार में नजर आने लगा है। अभी तक प्राईवेट कॉलेजों में फीस स्टक्चर की स्थिति साफ न होने से कई दिनों से देहरादून में अभिभावक अपने बच्चों के एडमिशन की मांग को लेकर दर-दर भटक रहे हैं। आज देहरादून स्थित चिकित्सा शिक्षा निदेशालय में अभिभावक बडी संख्या में अधिकारियों से मिलने पहुंचे। संतोषजनक जवाब न मिलने पर अभिभावकों ने प्रदर्शन की चेतावनी दी।
 
 
चिकित्सा शिक्षा निदेशालय में एडमिशन की मांग को लेकर अधिकारियों से मिलने पहुंचे अभिभावकों ने एडमिशन फीस को लेकर सरकार व कॉलेजों के बीच मिलीभगत का आरोप लगाया। अभिभावकों का कहना था कि उत्तराखंड में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश को लेकर छात्रों से एक्ट के विपरीत मनमाना फीस वसूलने की साजिश चल रही है। यही वजह है कि कॉलेजों की ऑनलाइन एक्ट के अनुसार फीस जमा करने के बावजूद बच्चों को एडमिशन नहीं दिया जा रहा है।
 
ऐसी स्थिति में मेरिट सूची में नाम पाने वाले छात्रों का मनोबल गिरने के साथ ही नीट की अगली कॉमन काउंसिलिंग में शामिल होने की फिक्र सता रही है। इनमें से अधिकांश बच्चे हिमालयन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल कॉलेज वाले हैं जिनकी फीस जमा होने के बाद भी उन्हें एडमिशन नहीं दिया गया है। इस तरह उत्तराखं डमें मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के नाम पर किस तरह देशभर के बच्चों को गुमराह किया जा रहा है यह सरकार की मंशा ही नहीं बल्कि भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर भी प्रश्नचिह्न खड़े कर रहा है। यद्यपि छात्रों को एक्ट के अनुसार अभी तक एडमिशन न मिलना कहीं न कहीं मेडिकल कॉलेजों में दाखिले को लेकर बडे भ्रष्टाचार की सुगबुगाहट है। इतना ही नहीं प्राईवेट कॉलेज एक्ट के विपरीत बच्चों से फीस को शपथ पत्र भरवा रहे हैं जिसमें कभी भी फीस बढ़ाने का जिक्र किया गया है।
 
एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज के नोडल अधिकारी डा. एसके गुप्ता ने स्वीकार किया कि बच्चों से फीस को लेकर शपथ पत्र भरवाया जा रहा है। उनका कहना है कि सबकुछ सरकार कर रही है। यहां तक कि कॉलेज का मैनेजमेंट कोटा भी सरकार ही देख रही है। साफ है कि दाल में कुछ काला है जिसका संतुष्टजनक जवाब सरकार व कॉलेजों के पास है ही नहीं। यह तमाम प्रक्रिया मानकों व कोर्ट के दिशा निर्देशों के विपरीत साफ तौर पर दिखाई दे रहा है।

कार्य प्रारंभ होने पर आभार जताया

 देहरादून। भाजपा नेता देवेन्द्र पाल सिंह एवं विष्णु प्रसाद ने छावनी परिषद् के मुख्य अधिशासी अधिकारी जाकिर हुसैन का शिकायत केंद्र का कार्य प्रारंभ करने के लिए आभार प्रकट किया। देवेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि उनकी ऊर्जा विभाग के उच्चाधिकारियो से वार्ता हुई है इस कार्यालय के निर्माण होने के बाद वहाँ पर क्षेत्र की जनता के बिजली के बिल जमा करवाने के लिए एक काउंटर खोला जायेगा। इससे गढ़ी डाकरा सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रो को भी लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा यह कार्य के लिये उनके द्वारा बहुत ही संघर्ष किया है।

 
 
उल्लेखनीय है कि गढ़ी कैन्ट में ऊर्जा विभाग द्वारा अपने शिकायत केंद्र पर ताला लगा दिया गया था तथा कार्यालय को अनारवाला शिफ्ट करने का नोटिस लगा दिया था। तब ऊर्जा विभाग ने कहा था कि छावनी परिषद् देहरादून द्वारा उन्हें कार्यालय खाली करने का नोटिस दिया है तथा उनका कहना था कि कार्यालय का भवन जर्जर हो चुका है और प्रयोग करने की स्थिति में नहीं है। कार्यालय बंद होने की सूचना जब भाजपा के मंडल उपाध्यक्ष देवेन्द्र पाल सिंह और छावनी परिषद् के पूर्व उपाध्यक्ष विष्णु प्रसाद को मिली तो उनके द्वारा कार्यालय बंद करने पर ऊर्जा विभाग में कड़ी आपत्ति दर्ज कराई।
 
इसके बाद दोनों नेताओं द्वारा 2 जनवरी 2017 को ही छावनी परिषद् के मुख्य अधिशासी अधिकारी जाकिर हुसैन से मुलाकात कर ऊर्जा विभाग से जनहित में कार्यालय खाली न कराने के लिए ज्ञापन दिया  और जर्जर भवन जे पुन: निर्माण की मांग की गई थी। जिसके बाद 6 जनवरी 2017 को देवेन्द्र पाल सिंह एवं विष्णु प्रसाद की पहल पर छावनी परिषद् कार्यालय में ऊर्जा विभाग के अधिशासी अभियंता, उपखंड अधिकारी एवं छावनी परिषद् के अधिकारियो के बीच एक बैठक हुई। जिनमे तय किया गया था जी छावनी परिषद् शिकायत केंद्र के  भवन को खली नहीं करवायेगे और परन्तु ऊर्जा विभाग को उसका किराया देना पड़ेगा। जिसके लिए ऊर्जा विभाग ने सहमति देते हुए कहा कि विभाग किराया देने को तैयार है। ये भी तय हुआ था कि छावनी परिषद् द्वारा भवन का पुन: निर्माण करवाया जायेगा।
 
देवेन्द्र पाल सिंह एवं विष्णु प्रसाद के दबाव में ऊर्जा विभाग ने कार्यालय को दोबारा खोल दिया गया। जनवरी 2017 से लेकर लगातार देवेन्द्र पाल सिंह एवं विष्णु प्रसाद छावनी परिषद् के मुख्य अधिशासी अधिकारी से मांग कर रहे थे की कार्यालय का पुन: निर्माण जल्द से जल्द कराया जाये। पुन: निर्माण के लिए दोनों ने कई बार छावनी परिषद के मुख्य अधिशासी अधिकारी से मुलाकात भी की थी। ऊर्जा विभाग के अधिकारियो ने भी कई बार अनुरोध किया। आखिरकार छावनी परिषद् ने उक्त भवन के पुन: निर्माण का कार्य प्रारंभ कर दिया गया।

दोपहर बाद बारिश ने कर डाली संडे मार्केट ठंडी

देहरादून। राजधानी में रविवार को जहां सुबह से ही गर्मी की तपिश व उमस लोगों को परेशान कर रही थी, तो वहीं दोपहर बाद बारिश होने पर खासी राहत भी मिली। कहीं पर हल्की बारिश हुई तो कहीं पर मूसलाधार बारिश हुए हैं। शहर का संडे बाजार दोपहर तक तो गुलजार रहा, परन्तु इसके पश्चात हुई बारिश ने संडे मार्केट ठंडी कर डाली। जिससे खरीदारी काफी कम हुई और फड़ एवं दुकान लगाने वालों कि चेहरे लटके रहे। 

 
 
   मौसम सवेरे से खुला होने के कारण रविवार को बाजारों में खासी रौनक परवान चढ़ी रही और लोगों ने अपने-अपने घरों से निकल कर बाजारों में कदम रखा तथा जमकर कपड़ों इत्यादि की खरीदारी की। बाजार भी लोगों से गुलजार रहे व दुकानदारों के भी चेहरे जमकर खरीदारी होने के कारण खिले रहे। लेकिन दोपहर का वक्त व्यतीत हुआ तो बादल उमडऩे शुरू हो गये थे। देखते ही देखते सांय करीब तीन बजे से बारिश होने लगी और उसकी रफतार तीळ्र हो गयी। बारिश के कारण न सिर्फ मुख्य बाजार बल्कि अन्य बाजार ठंडे पड़ गये।
 
बारिश के कारण खरीदारी पर प्रभाव भी पड़ा। बारिश होने की वजह से सडक़ों पर एक बार फिर से गंद्गी भी दिखाई दी। जिसने नगर निगम व जिला प्रशासन के कार्य कलापों की पोल खोलकर रख दी। 

दुर्घटनाओं को न्यौता दे रही हैं राजधानी की क्षतिग्रस्त सडक़ें

देहरादून। राजधानी में जगह-जगह क्षतिग्रस्त पड़ी हुई सडक़ें दुर्घटनाओं को आमंत्रण दे रही हैं। मुख्य मार्गों, चौराहों एवं शहरी क्षेत्र से हटकर भी सडक़ों की हालत ऐसी है कि वहां से गुजरने वाले कई राहगीर तथा वाहन चालक घायल हो चुके हैं। क्षेत्रों के पार्षद भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिससे क्षेत्रवासियों में रोष भी उत्पन्न हुआ चला आ रहा है। बरसात होने के कारण दून की हालत भी बदतर नजर आ रही है। मुख्य बात यह है कि इस बदतर हालत के लिए बरसात दोषी नहीं है बल्कि राजधानी की सडक़ों के निर्माण कार्य करने वाले अथवा कराने वाले इसके दोषी है। क्योंकि निर्माण कार्य करते समय न तो मानकों का ध्यान रखा जाता है और न ही निर्माण की गुणवत्ता को ही सही ढंग से अपनाया जाता है।

 यही नही, सडक़ों के निर्माण में उनका ढाल कितना दिया जाता है तथा मैटेरियल की गुणवत्ता कैसी व कितनी हो, इन सबका ध्यान पूरी तरह से नहीं रखा जाता है। इसीलिए घटिया निर्माण की पोल खुलती रहती है। मुख्य बाजारों में भी सडक़ों की हालत काफी खराब पड़ी हुई है। दुकानों के आगे ही सडक़ों का सीना छलनी पड़ा हुआ है, लेकिन सरकार और संबंधित विभाग दोनों ही तमाशबीन मुद्रा में नजर आ रहे हैं। विभागों में आपसी तालमेल अथवा सामंजस्य के अभाव में राजधानी की सडक़ों की दुर्दशा होना कोई नई बात नहीं है, बल्कि अक्सर ऐसा ही ये विभाग करते आ रहे हैं और जनता के लिए परेशानियां उत्पन्न करने में कोई कमी नही छोड़ रहे हैं।

हैरानी की बात यह है कि राज्य सरकार भी संबंधित विभागों विद्युत विभाग, दूरसंचार विभाग, लोनिवि, जल संस्थान के खिलाफ कोई कार्यवाही नही करती है और इन सभी का खामियाजा आम जनता को ही समय-समय पर भुगतना पड़ता है। हालांकि अब तक की राज्य का राजकाज संभालने वाली कुछ सरकारों द्वारा इस समस्या का समाधान कराने के लिए विभागों में आपसी तालमेल बनाने की दिशा में प्रयास किये गये, लेकिन वे प्रयास इन विभागों के सिर से होकर गुजर गये तथा आज भी इन संबंधित महकमों की मनमानी परवान चढ़ती हुई नजर आ रही है। 

भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे सीएम

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत सोमवार को सुबह 10 बजे से 11 बजे तक बलबीर रोड स्थित पार्टी कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे।
 
 
 यह जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी जे$सी$ खुल्बे ने बताया है कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्याओं को सुनेंगे और उनका मौके पर ही यथोचित समाधान करने के निर्देश अधिकारियों को देंगे।

नशे से संबंधित शिकायत पुलिस या सीधे सीएम से करें: त्रिवेंद

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि यदि किसी भी व्यक्ति को कहीं पर नशे से संबंधित कोई सूचना मिलती है तो तुरंत इसकी शिकायत पुलिस को करें तथा नशे से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत सीधे मुख्यमंत्री से भी की जा सकती है। रविवार को विंटर लाइन प्रोडक्शन निर्मित उत्तराखंड पुलिस की युवाओं में नशे की समस्या पर आधारित डक्यूमेंट्री  फिल्म ‘‘डेथ विश‘‘ में युवाओं के नाम अपने संदेश में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि नशा एक सामाजिक बुराई है।
 
नशे के कारण समाज में अन्य प्रकार की बुराइयां उत्पन्न होती है। आजकल युवाओं में ड्राई नशा अत्यंत चिंता का विषय है। माता पिता व शिक्षकों को मिलकर प्रयास करने होंगे ताकि युवाओं में नशे की तकलीफ को दूर किया जा सके। अभिभावकों को अच्छी शिक्षा व संस्कारों द्वारा बच्चों को स्वस्थ आदतों हेतु प्रेरित करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस प्रशासन द्वारा नशे के खिलाफ अभियान हेतु बहुत अच्छा काम किया जा रहा है। पुलिस विभाग द्वारा नशे के व्यापारियों के विरुद्घ सख्ती से निपटा जा रहा है। नशे के खिलाफ जन जागरूकता अभियान में सरकार के प्रयासों के साथ सक्रिय जन सहभागिता भी आवश्यक है।
 
 
गौरतलब है कि विंटर लाइन प्रोडक्शन द्वारा निर्मित उत्तराखंड पुलिस की इस डक्यूमेंट्री फिल्म ‘‘डेथ विश‘‘ का निर्माण-निर्देशन श्री देवेंद्र रावत ने किया है। 12 मिनट की इस डक्यूमेंट्री फिल्म में मात्र एक गीत के माध्यम से युवाओं पर नशे के दुष्प्रभाव तथा इसके सामाजिक दुष्परिणाम को दर्शाया गया है। एस0एस0पी0 उधमसिंहनगर ड सदानंद दाते तथा एसपी चमोली सुश्री तृन्ति भट्ट ने फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उत्तराखंड पुलिस के अन्य अधिकारियों ने भी फिल्म में अभिनय किया है।

किरायेदारों के सत्यापन में 151 लोगों के काटे चालान

देहरादून। पुलिस ने नेहरू कालोनी और सहसपुर थाना क्षेत्रों में किरायेदारों के सत्यापन जांचने के लिए अभियान चलाया। अभियान के दौरान जिन मकान मालिकों द्वारा अपने यहां रह रहे किराये का सत्यापन नहीं कराया गया था उन 10 दस हजार रुपये जुर्माना लगाया गया। नेहरू कालोनी क्षेत्र में 11 लाख 60 हजार रुपये के वसूल किये और सहसपुर में 3 लाख 50 रुपये जुर्माना वसूला गया। तथा 200 व्यक्तियों के सत्यापन मौके पर जाकर किया गया।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती के आदेश पर पुलिस अधीक्षक नगर एवं क्षेत्राधिकारी नेहरू कॉलोनी के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक थाना नेहरू कॉलोनी के नेतृत्व में शांति व्यवस्था एवं अपराध पर रोकथाम लगाने के लिए रिस्पना नदी के किनारे रहने वाले लोगों का गहन सत्यापन अभियान चलाया गया। अभियान के तहत पांच अलग-अलग टीमों का गठन किया गया जिसमें थाना नेहरू कॉलोनी पुलिस बल के साथ-साथ थाना क्लेमनटाउन का पुलिस बल, पीएसी दल एवं महिला पीएसी दल 1 कंपनी 1 प्लाटून कुल पुलिस बल 100 से भी अधिक संख्या में मौजूद था।
 
 
 सत्यापन अभियान के तहत चकशानगर दीपनगर में रह रहे लोगों का सत्यापन किया गया और बाहर से आकर रहने वाले लोगों की आईडी चेक कर बिना सत्यापन के रह रहे लोगों के मकान मालिकों का सत्यापन अभियान के तहत पुलिस एक्ट धारा 83 के तहत चालान किये गए। चालान में अलग-अलग टीमों ने कुल मिलाकर 414 घरों को चेक किया गया और 116 मकान मालिकों के चालान काटे। 10 हजार रुपये प्रत्येक मकान मालिक के हिसाब से 11 लाख 60 हजार रुपये के किये गए। लोगों को सतर्क रहने एवं किरायेदारों का सत्यापन कराने की हिदायत दी गई। किसी संदिग्ध व्यक्ति की सूचना मिलने या दिखाई देने पर पुलिस को तुरंत सूचना देने के लिए बताया गया। लोगों को ऑनलाइन सत्यापन कराने के लिए जानकारी दी गई। सत्यापन के तहत पाया कि इस क्षेत्र में अधिकतर लोग बिहार, उत्तर प्रदेश एवं अन्य राज्यों के रहने वाले हैं। अभियान के तहत एक वाहन स्कार्पियो को संदिग्ध मिलने पर सीज किया गया।
 
 
वहीं थानाध्यक्ष विकासनगर, थानाध्यक्ष सहसपुर, थानाध्यक्ष कालसी के नेतृत्व में शांति व्यवस्था एवं अपराध पर रोकथाम लगाने के लिए थाना सहसपुर के औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई में जमनपुर, चोई बस्ती, रामपुर पर गहन सत्यापन अभियान के तहत दो अलग टीमों का गठन किया गया। जिसमें थाना सहसपुर के साथ-साथ थाना विकासनगर व 01 कंपनी पीएसी दल मौजूद था, सत्यापन अभियान के तहत सेलाकुई क्षेत्र के जमनपुर व चोई बस्ती रामपुर में निवास कर रहे लोगों का सत्यापन किया गया। टीमों द्वारा 380 किरायेदारों को चेक किया गया और 35 घरों के चालान 10000 प्रत्येक मकान मालिक केे हिसाब से कुल 3 लाख 50 हजार रुपए वसूल किए गए। 200 व्यक्तियों के सत्यापन मौके पर जाकर किया गया आम जनता को सतर्क रहने एवं किरायेदारों का सत्यापन करने की हिदायत दी गई किसी संदिग्ध व्यक्ति की सूचना मिलने या दिखाई देने पर पुलिस को सूचना तुरंत देने के लिए तुरंत बताया गया लोगों को ऑनलाइन सत्यापन कराने के लिए जानकारी दी गई सत्यापन के तहत पाया कि इस क्षेत्र में अधिकतर लोग बिहार उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश राज्य के पीलीभीत, बिजनौर आदि के रहने वाले हैं व यह लोग औद्योगिक क्षेत्र में लेबर क्लास कार्यरत हैं।

भविष्य की सुरक्षा के लिए पेड़ लगाना अति आवश्यक: शर्मा

देहरादून। टिहरी की भाजपा सांसद माला राज लक्ष्मी शाह ने कहा कि पृथ्वी का संतुलन बनाए रखने के लिए वृक्षों को लगाना जरुरी है। उन्होंने कहा कि बिगड़ते पर्यावण से चिंतित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वृक्षारोपण कार्यक्रम पूरे देश में चलाया है। रविवार को माजरी माफी ग्राम सभा के कालिंगा विहार में भाजपा रायपुर मंडल के तत्वावधान में आयोजित वृक्षारोपण हरेला कार्यक्रम के तहत मंडल के पदाधिकारियो ने डेढ़ सौ वृक्षों का रोपण किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि भाजपा सांसद माला राज लक्ष्मी शाह ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम से लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता आती है। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार लगातार प्रदेश का विकास कर रही है।
 
 
 रायपुर के विधायक उमेश शर्मा काउ ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे हरेला कार्यक्रम में सभी को दलगत राजनीति से ऊ पर उठकर वृक्ष लगाने चाहिए। उन्होंने कहा कि चार माह में भाजपा के प्रदेश सरकार ने लोगों का विश्वास जीता है,जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश की जनता विश्वास करती है,उसी प्रकार से त्रिवंद्र रावत के नेतृत्व में सरकार पर लोगों को विश्वास बढ़ा है। राज्य सरकार लगातार प्रदेश का विकास कर रही है,और नई-नई विकास की नीति को लागू कर प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाना का काम कर रही है।  कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भाजपा रायपुर मंडल के अध्यक्ष राजेश शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे हरेला पूरे प्रदेश में वृक्षारोपण किए जा रहे है। हमारी आने वाली पीढ़ी इसका लाभ उठाएगी। उन्होंने कहा कि सडक़ों को चौड़ीकरण,भवनों के निर्माण इत्यादी में लकड़ी की आवश्कयता पड़ती है।
 
जब पेड़ नहीं होंगे तो आने वाले समय में पर्यावरण को खतरा पैदा हो सकता है। उन्होंने भाजपा सांसद और क्षेत्र के विधायक का क्षेत्र की समस्याओं की ओर आकर्षित करते हुए कहा कि उनके गांव में एक खेल का मैदान नहीं है, जो मैदान है वह यहां के दस्तावेजों में तालाब दिखाया गया है। ऐसे में यदि सांसद और विधायक इस तालाब का सौन्दर्यीकरण कर वहां नालियों और चार दीवारी का निमार्ण कराते है तो इस यहां के बच्चे खेल के मैदान के रुप में प्रयोग कर सकते है।  भाजपा रायपुर मंडल के अध्यक्ष राजेश शर्मा ने देश के लिए शहीद हुए अजय र्वान की बेटी के बारे में भाजपा सांसद माला राज लक्ष्मी शाह और विधायक उमेश शर्मा का यान आकर्षित करते हुए कहा कि शहीद की बेटी को कैंसर रोग पीडि़त है और वह अपने पैसे से उपचार करा रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष से दो लाख रुपए की मदद कराई थी लेकिन यह पैसा बीमारी के उपचार के लिए पर्याप्त नहीं है। इस लिए भाजपा सांसद और विधायक को शहीद की बेटी की मदद करने के लिए आगे आना चाहिए।
 
माजरी माफी की प्रधान पिंकी शर्मा ने कहा कि वृक्ष लगाकार आने वाले समय में हम अपने और अपने परिवार को कई बिमारियों से बचा सकते है। प्रत्येक व्यक्ति को वृक्ष लगाकर उसकी देखरेख करनी चाहिए। कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश महामंत्री सुनील उनियाल गामा, जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर, राजकुमार पुरोहित, आनंद सिंह खडक़ा,जिला पंचायत सदस्य पुष्पा बड़थ्वाल, दीपक फरासी, राजेंद्र सिंह चौहान, सतीश कुमार, मोहनलाल खंडूड़ी, मनीष बिष्ट, मोहित शर्मा,ग्राम प्रधान सरला थापा, संतोष नेगी,सीता राम भट्ट,चंदन सिंह बिष्ट आदि ने विचार रखे।   

विस स्पीकर ने किया जू जिट्सू प्रतियोगिता का शुभारम्भ

ऋषिकेश। प्रथम जिला जू जिट्सू प्रतियोगिता का शुभारम्भ उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर अग्रवाल ने खिलाडियों के मैट खरीदने के लिए अपनी विधायक निधि से एक लाख रूपये देने की घोषणा की।  व्यापार सभा भवन ऋषिकेश में आयोजित जिला स्तरीय जू जिट्सू प्रतियोगिता के शुभारम्भ के अवसर पर अग्रवाल ने कहा है कि खिलाड़ी खेल से जहॉ शारीरिक रूप से स्वस्थ रहता है वहीं खेल से वे मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहते हैं। उन्होंने कहा है कि जू जिट्सू खेल खिलाडि़यों के आत्मरक्षा के लिए भी अत्यन्त आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि विशेषकर बालिकाओं को इस खेल में अत्म निर्भर होना ही चाहिए। 
 
 
अग्रवाल ने कहा है कि सरकार के माध्यम से भी प्रयास करेंगे कि जू जिट्सू खेल उत्तराखण्ड खेल नियमावली में भी शामिल हो सके। उन्होंने अपनी विाायक निधि से खिलाडि़यों को मैट खरीदने हेतु एक लाख रूपये की घोषणा करते हुए कहा है कि यदि इस खेल में उत्तराखण्ड के खिलाड़ी आगे बढ़ते हैं तो वे विधायक निधि से भविष्य में खिलाडि़यों के प्रोत्साहन के लिए और भी धनराशि खर्च करेंगे।  इस अवसर पर इन्द्र कुमार गोदवानी, सभासद शिव कुमार गौतम, राजेन्द्र गुप्ता, देवेन्द्र नेगी, व्यापार सभा ऋषिकेश के अध्यक्ष नवल कपूर, चिराग तनेजा, दक्षिण अफ्रिका के कोच मिस्टर पैरी, विनय कुमार जोशी, ललित मोहन मिश्रा आदि लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन उत्तम असवाल ने किया। 

सीएम ने अपना घर आश्रम के बच्चों के साथ सुनी पीएम के मन की बात

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को बद्रीपुर स्थित अपना घर आश्रम में रहने वाली महिलाओं तथा बच्चों के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकप्रिय कार्यक्रम मन की बात को सुना। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पिछले कई वर्षों से ही उक्त संस्था से जुड़े हुए है। वर्तमान में अपना घर संस्था द्वारा 42 बच्चों एवं महिलाओं को आश्रय दिया गया है तथा  इनके भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा एवं पुर्नवास के लिए संस्था कार्य कर रही है। 
आश्रम में रहने वाले बच्चो तथा महिलाओं के साथ ‘‘मन की बात’’ कार्यक्रम सुनने के पश्चात मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उपस्थित महिलाओं तथा बच्चों के साथ बातचीत भी की और उन्हें अल्पाहार के पैकेट भी वितरित किए। विशेष रूप से आज जिस प्रकार प्रधानमंत्री ने मन की बात में गरीबी हटाने और गरीबों के बारे में सोचने की अपील की , ऐसे में मुख्यमंत्री को अपने बीच जमीन पर बैठ कर उनके साथ रेडियो सुनते देख आश्रम के बच्चों को बहुत हर्ष हुआ।
 
 मुख्यमंत्री ने आश्रम की बालिकाओं का मनोबल बढ़ाया और बाद में सबके साथ तस्वीर भी खिंचवाई। कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि मै कोशिश करता हूं कि मन की बात कार्यक्रम हर बार सुनू। प्रधानमंत्री जब भी बोलते है तो लगता है कि आवाज हृदय से निकल रही है। मन की बात कार्यक्रम की हर बार की विषयवस्तु बिलकुल अलग होती है। इस समय देश बाढ़ से प्रभावित है, प्रधानमंत्री ने इस पर चिन्ता व्यक्त की है। उन्होंने इस बार अगस्त क्रान्ति के नाम से प्रसिद्घ भारत छोड़ो आन्दोलन पर बात की जिसके 75 वर्ष इस वर्ष 9 अगस्त को पूरे हो रहे है । प्रधानमंत्री ने कहा है कि 15 अगस्त 2022 को जब आजादी के 75 वर्ष पूरे होंगे क्रान्ति को स्मरण रखने के लिए हमको गरीबी, बेरोजगारी, छूआछूत, जातिवाद, आतंकवाद के खिलाफ हमें खड़ा होना है। इन सभी से राष्ट्र को मुक्त करना है। प्रधानमंत्री ने युवाओं का आह्वान किया हैं आज प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम सुनकर लोगो तथा विशेषकर युवाओं ने अपने जीवन की दिशा बदली है। उनके जीवन में ध्येय आया है। अपने लिए नही बल्कि सबके लिए उन्होंने सोचना प्रारम्भ किया है। आज मन की बात एक जनक्रान्ति का रूप ले चुकी है। शुरू में ऐसा लगता था कि अब रेडियो को कितने लोग सुनना पसन्द करेंगे। रेडियो सुनने का प्रचलन समान्त सा हो गया था।
 
परन्तु आज लाखो लोगों ने मन की बात कार्यक्रम सुनने के लिए रेडियो का पुन: उपयोग आरम्भ कर दिया है। 
रविवार को मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को अपने सम्बोधन में कहा कि मनुष्य का मन ही ऐसा है कि वर्षाकाल मन के लिये बड़ा लुभावना काल होता है। लेकिन कभी-कभी वर्षा विकराल रूप लेती है। कुछ दिनों से भारत के कुछ हिस्सों  में विशेषकर असम, नार्थ-ईस्ट, गुजरात, राजस्थान, बंगाल, अतिवर्षा के कारण प्रातिक आपदा झेलनी पड़ी है। जहां कहीं भी संभव होता है हमारे मंत्री व्यक्तिगत रूप से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जाते है। भारत सरकार, सेना, वायु सेना, एनडीआरएफ, पेरामिलटरी फोर्सस बाढ़ प्रभावित लोगों को हर प्रकार की सहायता पहुंचाने के प्रयास करते है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए हेल्प लाइन नम्बर 1078 के साथ चौबीस घण्टे चलने वाला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। फसल बीमा कम्पनियो के लिए हमने योजना बनाई है ताकि किसानों के बीमा सम्बन्धित मुवावजों को तत्काल निपटाया जा सके।
 
उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू हुए करीब एक महीना हुआ है और उसके फायदे दिखने लगे है। जीएसटी एप पर आप भलीभांति जान सकते है कि जीएसटी के पहले जिस चीज का जितना दाम था, तो नई परिस्थिति में कितना होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगस्त महीना क्रान्ति का महीना होता है। हमारी नयी पीढ़ी को जानना चाहिए कि 9 अगस्त 1942 को क्या हुआ था। मैं युवा साथियों को, युवा मित्रों को, आमंत्रित करता हूॅं कि नए भारत के निर्माण में वे इनोवेटिव तरीके से योगदान के लिए आगे आएॅ। प्रधानमंत्री ने युवा पीढ़ी विशेषकर के हमारी बेटियों को बधाई तथा शुभकामनायें दी है।  

सीएम ने जनता से सीधे संपर्क को वेबसाइट लांच

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड की जनता से सीधे सम्पर्क बनाने के लिए टीईएएमटीआरआईवीईएनडीआरए डॉट इन वेबसाइट का विमोचन किया। देहरादून के एक स्थानीय होटल में वेबसाईट को लॉंच करते हुए उन्होंने कहा कि इस वेबसाईट के माध्यम से जनता से सीधे सम्पर्क बनाया जा सकेगा।
 
  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि इस वेबसाईट के माध्यम से उत्तराखण्ड निवासी, प्रवासी एवं सभी पार्टी कार्यकर्ता अपने सुझाव दे सकेंगे। इसका रिकोर्ड भी रखा जायेगा साथ ही नियमित रूप से इसका अवलोकन किया जायेगा। 
 

हरेला पर्व पखवाड़े के तहत विधायक ने किया पौधारोपण

देहरादून। भारतीय जनता युवा मोर्चा श्रीदेव सुमन नगर मंडल ने हरियाली का प्रतीक हरेला पर्व पखवाड़े के अवसर पर चिड़ोवाली मैदान में पौधारोपण किया। भाजयुमो मंडल अध्यक्ष समीर डोभाल ने बताया कि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा अपेक्षित ‘‘एक व्यक्ति-एक पेड़‘‘ का अनुसरण करते हुए यह वृक्षोरोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। 
 
 
रविवार को चिड़ोवाली मैदान में आयोजित भाजयुमो के इस वृक्षारोपण कार्यक्रम में मसूरी विधायक गणेश जोशी मुख्य अतिथि के रुप में सम्मिलित हुए। विधायक जोशी ने अपने सम्बोधन में कहा कि वृक्ष इस धरा में प्राण वायु देकर जीवन का संचार करते हैं। आज बढ़ते शहरीकरण की सबसे बड़ी मार शहरों के पर्यावरण संतुलन पर पड़ी है। बढ़ती शहरी आबादी के लिए शहरों का नियोजन भी जरुरी है, आधुनिक विकास तथा पर्यावरणीय शुद्वता के बीच तारतम्य बिठाने के लिए जरुरी है कि हर व्यक्ति एक पौधा लगाये, जैसा ही सुबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भी कह चुके हैं। इसलिए मैं विशेष तौर पर युवाओं से आवहान करना चाहता हॅ कि वह स्वयं भी पेड़ लगाये एवं इस तरह के कार्यक्रमों के माध्यम से अन्य लोगों को भी हरित क्षेत्र विकसित करने के लिए भी प्रेरित करें।
 
 
इस दौरान विधायक जोशी ने कहा कि पेड़ लगाना और फोटो खिचाना एक अनुष्ठान बनकर रह जाता है, इसलिए उनके द्वारा उपस्थित जनसभा को पेड़ों की रक्षा करने के लिए शपथ भी दिलाई और कहा कि अपने लगाये हुए पेड़ को जीवित रखना तथा उसकी देखभाल करना भी हमारी जिम्मेदारी होनी चाहिए ताकि हम दस वर्ष के बाद अपने लगाये हुऐ पेड़ के साथ एक सेल्फी ले सकें। इस दौरान उन्होनें युवा मोर्चा के मंडल अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय पर्यावरणीय सम्मान से सम्मानित जगदीश वाबला सहित को सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कुन्दन लटवाल, मंडल अध्यक्ष पूनम नौटियाल, महामंत्री सुरेन्द्र राणा, युवा मोर्चा अध्यक्ष समीर डोभाल, महामंत्री अनिल डबराल, महिला मोर्चा अध्यक्ष निशा शर्मा, पार्षद भूपेन्द्र कठैत, पार्षद नीतू बाल्मिीकि, अनुज कौशल, आशीष थापा, महामंत्री राजेश रावत, अंकित जोशी, संजय थपलियाल, कांत प्रसाद बर्थवाल, भूपेन्द्र सौलंकी आदि उपस्थित रहे।

नहीं रहे उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल

देहरादून। उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल अब हमारे बीच नहीं रहे हैं, उनका निधन हो गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विभिन्न राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों, राज्य आंदोलनकारी संगठनों ने वेद उनियाल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने राज्य आंदोलनकारी वेद उनियाल के निधन पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति एवं दु:ख की इस घड़ी में उनके परिजनो को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिह ने उत्तराखण्ड क्रान्ति दल के संस्थापक सदस्य एवं राज्य निर्माण के अग्रणी आन्दोलनकारी वेद उनियाल के आकस्मिक निधन पर गहरा शेाक प्रकट किया है।

 अपने शोक संदेश में प्रीतम सिंह ने कहा कि स्व उनियाल ने उत्तराखण्ड राज्य निर्माण आन्दोलन में अग्रणी भूमिका का निर्वहन करते हुए राज्य निर्माण में अपना अविस्मरणीय योगदान दिया जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उनका आकस्मिक निान उनके परिवार ही नहीं पूरे उत्तराखण्ड की अपूर्णीय क्षति है। स्व उनियाल ने राज्य आन्दोलन को एक नई गति प्रदान करने में अपनी अलग पहचान बनाई थी जिसके लिए वे सदैव याद किये जाते रहेंगे। प्रीतम सिंह ने शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि उनके इस असहनीय दुु:ख की घडी में हम सब बराबर के सहभागी हैं। ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करें तथा शोक संतप्त परिजनों को इस असहनीय दु:ख को सहन करने की शक्ति देवें।

 उत्तराखण्ड प्रदेश कंाग्रेस उपायक्ष जोत सिंह बिष्ट, महामंत्री विजय सारस्वत, प्रदेश कांग्रेस के मुख्य समन्वयक राजेन्द्र शाह, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, डॉ संजय पालीवाल, नवीन जोशी,  प्रमोद कुमार सिंह, भरत शर्मा, गिरीश पुनेड़ा, महन्त विनय सारस्वत, प्रवक्ता गरिमा दसौनी, दीप बोहरा, राजेश पाण्डे, अनूप पासी आदि कांग्रेसजनों ने भी वेद उनियाल के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित शोकसभा में कांग्रेसजनों ने स्व उनियाल को श्रद्घांजलि अर्पित की। 

मुझे उम्मीद है परिसंपत्तियों का सही बंटवारा होगा: बिष्ट

देहरादून। योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद ङ्क्षसह बिष्ट ने कहा कि योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनेगा। कहा कि योगी बचपन से ही प्रतिभाशाली थे और कहते थे कि लोगों की सेवा करनी है। इसलिए वह योगी बन गए। मुझे जब पता चला कि वह सीएम बनेंगे तो मुझे बहुत प्रसन्नता हुई।

वह अपने पथ पर सही चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश मे दोनों ही सुलझे हुए मुख्यमंत्री हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश का अनुसरण कर राज्य के विकास का काम करें और दोनों राज्यों के बीच जो परिसंपत्तियों का मामला भी जल्द सुलटा दें। उन्होंने कहा कि दोनों राज्यों के बीच परिसंपत्तियों का सही बंटवारा होगा। 

दिव्यांगों को पेंशन व उपकरण दिये

देहरादून। भोले  महाराज एंव माता मंगला जी ने कार्यक्रम के दौरान राज्य के विभिन्न जिलों के रहने वाले दिव्यांग राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली निर्मला मेहता को स्पोर्टस व्हील चियर, नेत्रहीन निर्मल को ढोलक, नेत्रहीन मुकेश को सिंथसाईजर (कीबोर्ड), विकलांग सत्यप्रकाश को जम्पींग गद्दा, दिव्यांग विजय बिष्ट को ओक्टोपैड, विकलांग सुशील बगोली को हारमोनियम, कंमाडर सुरेंद्र लाल विकलांग के परिवार के लिए कपड़े, प्रवीन नेगी, सुधीर ग्वाडी, अंजिता नेगी विकलांग, कुमारी अंजलि नेत्रहीन सभी को मासिक पेंशन व कपड़े दिए।

 

पत्रकारों के कल्याण के लिए हंस फाउंडेशन ने की 50 लाख की घोषणा

देहरादून। समाजिक संस्था हंस कल्चरल सेंटर एवं द हंस फाउंडेशन के प्रेरणाश्रोत भोले जी महाराज एवं माता मंगला ने पत्रकारों के कल्याण के लिए 50 लाख रूपये के कल्याण कोष व महिला पत्रकारों के लिए क्लब में महिला कक्ष निर्माण के लिए पांच लाख की घोषणा की। उन्होंने कक्ष निर्माण की शुरूआत के लिए ढाई लाख रूपये का चेक भी प्रेस क्लब अध्यक्ष नवीन थलेडी को भेंट किया।
 
रविवार को उत्तरांचल प्रेस क्लब सभागार में आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में पधारे हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले जी महाराज एंव माता मंगला ने पत्रकारों व उनके परिजनों के गंभीर बीमारी में मदद करने की बात कही। हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोला महाराज एवं मंगला माता ने कहा कि संस्था का एकमात्र उद्देश्य मानव सेवा करना है इसके लिए वह प्रयासरत है। इस अवसर पर माता मंगला जी ने कहा कि पत्रकारिता राष्ट्रीयता व मूल्यों के आधार पर होनी चाहिए। पत्रकारों की भूमिका सार्थक दिशा में हो। चुनौतियां बहुत हैं, पर उन्ह चुनौतियों में से रास्ते भी निकलते हैं। माता मंगला जी ने कहा कि पत्रकारिता सनसनी पैदा करने वाला उपकरण नही बनना चाहिए।  पत्रकारों को विचार कर अयात्म, संस्कृति व मिट्टी का स्थान कैसे बढ़े, इस पर सोचकर लिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता एक प्रकार का  धर्म है। सकारात्मक पत्रकारिता वही होती है जो मूल्यों के आधार पर चलती है। 
इससे पूर्व उत्तरांचल प्रेस क्लब के अध्यक्ष नवीन थलेड़ी ने भोले जी महाराज का पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह भेंट किया।
 
माता  मंगला जी को प्रेस क्लब महामंत्री भूपेंद्र कंडारी व वरिष्ठ उपाध्यक्ष एलएम जखवाल ने पुष्प गुच्छ स्मृति चिन्हें भेंट किया। कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित उत्तर प्रदेश के मुख्यमं़त्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट को वरिष्ठ पत्रकार डीएस कुंवर ने पुष्पगुच्छ व स्मृति चिन्ह भेंट किया तथा पे्रस क्लब कार्यकारिणी ने शाल उढाकर उनका सम्मान किया। कार्यक्रम का संचालन प्रेस क्लब कार्यकारिणी सदस्य व पूर्व अध्यक्ष अनूप गैरोला ने किया। 
कार्यक्रम में प्रेस क्लब महामंत्री भूपेंद्र कंडारी ने संस्था के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हंस फाउंडेशन का कार्य उत्तराखण्ड में चहुओर सराहा जा रहा है, फाउंडेशन का लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों को सचल चिकित्सा सेवाओं से जोडऩा है। पेंशन के चैक वितरित करना, ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा मुहैया कराना आदि सेवाओं की ओर हंस फाउंडशेन तेजी से कार्य कर रहा है, इसी सेवा भाव के तहत उत्तराखंड में हंस फाउंडेशन के तत्वावधान जगह-जगह  आयोजित कार्यक्रम में जरूरतमंद लोगों आॢथक सहायता वितरित की जा रही है।
 
 
फाउंडेशन कुष्ठ रोगी, विधवा, विकलांग व निराश्रित पेंशन वितरित कर रहा है सतपुली में मेडिकल कलेज एंड हास्पिटल का कार्य कर रहा है। हरिद्वार में नेत्र चिकित्सालय व मेडिकल कलेज के लिए एक हजार करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। उत्तराखंड के दूरस्थ गांवों को स्वास्थ्य सेवाओं से जोडऩे के लिए फाउंडेशन ने सचल स्वास्थ्य सेवाएं शुरू की हैं। निराश्रित एक कन्या की विवाह के लिए हंस फाउंडेशन ने सहयोग राशि प्रदान कर रहा है। साथ ही संस्था के सात सचल चिकित्सा वाहन गांव-गांव जाकर मरीजों को चिकित्सा सेवा मुहैया करा रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी संस्था उत्तराखंड में काम कर रही है। कई विद्यालयों को संस्था ने गोद लिया है। इसके अलावा मेधावी छात्रों को ट्यूशन, कंप्यूटर, लैपटप आदि भी संस्था द्वारा उपलब कराया जाता है। कार्यक्रम में प्रेस क्लब के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एलएम जखवाल, कनिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश बत्र्वाल, संयुक्त मंत्री प्रवीन बहुगुणा, कोषाध्यक्ष प्रदीप गुलेरिया, संप्रेक्षक रश्मि खत्री, कार्यकारिणी अनूप गैरोला, मंगेश कुमार, गीता मिश्रा, वीरेंद्र दत्त गैरोला, देवेन्द्र नेगी, हरीश जोशी ने हंस फाउंडेशन के पदाधिकारियों चंदन सिंह भंडारी, सत्य पाल नेगी,  पंडित मुन्ना लाल नौटियाल, प्रदीप राणा, दिनेश कंडारी, लक्ष्मण भाई पटेल आदि को पुष्प गुच्छ व स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम में काफी संख्या में प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया से पत्रकार, छायाकार और कैमरामेन उपस्थित रहे।

नकली नोटों की खेप के साथ 2 गिरफ्तार

 टिहरी। जिले की चंबा पुलिस को ने बीती शनिवार की शाम नकली नोटों की खेप के साथ दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से 24 हजार 900 रूपए की जाली नोट, प्रिंटर और लैपटॉप भी बरामद किया है।

 
पुलिस की जानकारी के मुताबिक शनिवार को चंबा-धरासू रोड पर हडम गांव के पास चेकिंग अभियान के दौरान उत्तरकाशी से मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को रोका तो वे भागने की कोशिश करने लगे। जिसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर दोनों की तलाशी ली तो उनसे नकली नोट बरामद हुए। पुलिस ने बताया कि दोनों बदमाशों से पूछताछ करने पर पता चला है कि दोनों घर पर ही असली नोट को प्रिंट कर नकली नोट तैयार करते थे।
 
आरोपी युवक नकली नोटों की खेप को चंबा बाजार में चलाने की फिराक में थे। पकड़े गए आरोपियों में से एक मुंबई में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था और मुंबई से ही नकली नोट बनाने का सामान लाया था। वहीं दूसरा आरोपी गांव में ही अवैध शराब का धंधा चलाता है।

अमित शाह से योगी सरकार की हुई शिकायत

 लखनऊ। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने तीन दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंच चुके हैं। जिसमें वो कार्यकर्ताओं से ताबड़तोड़ मीटिंग कर रहे हैं। सूत्रों की माने तो कार्यकर्ताओं ने योगी की मौजूदगी में अध्यक्ष से सरकार और प्रशासन की कई शिकायतें की है।

अमित शाह की कार्यकर्ताओं से मीटिंग के बाद यूपी भाजपा संगठन ने कई अहम फैसले लिए, जिसमें योगी सरकार के भी कार्यशैली में बदलाव की बात कही जा रही है। सूत्रों की माने तो कार्यकर्ताओं की सरकार के मंत्रियों की शिकायत के बाद अमित शाह ने सरकार को भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ लचीला रुख अपनाने की बात कही है। 
 
मंत्री मिलते नहीं, अफसर सुनते नहीं
15 साल के बाद भारी जीत के साथ यूपी सरकार में वापस आई भाजपा अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल किसी भी तरह के कम नहीं करना चाहती है। लिहाजा अमित शाह ने इनकी पूरी बात सुनी। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार कार्यकर्ताओं ने शिकायती लहजे में अमित शाह से किहा कि सरकार के मंत्री किसी भी कार्यकर्ता से नहीं मिलते, जिससे अफसर भी इनकी नहीं सुनते'।
 
खनन और सुस्त पुलिसिंग की शिकायत हुई
राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने उनके कार्यकर्ताओं ने कहा कि राज्य में अवैध खनन बंद है इसके बाद भी माफिय़ाओं पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है। राज्य की पुलिस सुस्त है जिसकी बजह से न अवैध खनन रुक रहा है और ना ही अपराध। जिससे सरकार की छवि खराब हो रही है।कार्यकर्ताओं की बात सुनने के बाद अमित शाह ने बड़ा फैसला लिया है। जिसमें कहा जा रहा है कि अब सीएम योगी आदित्यनाथ हफ्ते में दो दिन कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। साथ ही कार्यकर्ताओं को सरकार के मंत्रियों से मिलने के लिए किसी भी प्रकार की अप्वाइंटमेंट लेने कि जरूरत नहीं होगी। सोमवार और मंगलवार को योगी राज्य के बीजेपी कार्यकर्ताओं की बात सुनेंगे।

कश्मीर में तिरंगा ऐसे ही लहराता रहेगा जैसे देश के अन्य हिस्सों में'

 जम्मू। तिरंगा के संबंध में जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की टिप्पणी को ‘‘चौंकाने वाला और हास्यास्पद’’ करार देते हुए केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि तिरंगा हमारे लिए ‘‘पवित्र’’ है।

 
महबूबा ने शुक्रवार को दिल्ली में एक समारोह में कहा था कि अगर राज्य के विशेषाधिकारों में किसी तरह का बदलाव किया गया तो वहां तिरंगे को थामने वाला कोई नहीं रहेगा। सिंह ने कहा कि तिरंगा जम्मू कश्मीर में भी वैसे ही ऊंचा लहराएगा जैसे देश के अन्य हिस्सों में लहराता है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने, ‘जहां तक हमारा सवाल है, तिरंगा हमारे लिए पवित्र है।’
 
महबूबा के बयान को चौंकाने वाला और हास्यास्पद बताते हुए सिंह ने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर देश के किसी अन्य प्रांत की तरह भारत का हिस्सा है। यह आधिकारिक रूख भी है।’’ उन्होंने कहा कि अगर जम्मू कश्मीर से जुड़ा कोई मुद्दा है तो वह यह है कि पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले राज्य के हिस्से को किस प्रकार वापस हासिल करना है।

'हिम्मत और जज्बे से PM नरेंद्र मोदी हैं असली टाइगर'

 नई दिल्ली। केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी में टाइगर जैसी हिम्मत और जज्बा है।केन्द्रीय पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शनिवार को विज्ञान भवन में वैश्विक बाघ दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में कहा कि 'प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी में टाइगर जैसी हिम्मत और जज्बा है, इसलिए सारी दुनिया मे प्रधानमंत्री मोदी छा गए हैं।'

केन्द्रीय मंत्री ने कहा उन्होंने पीएम मोदी जैसा असाधारण ईमानदार, असाधारण मेहनती और असाधारण कर्मठ व्यक्ति आज तक नहीं देखा बताया है।केन्द्रीय पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री ने इस बात पर बल दिया कि बाघ स्वस्थ पर्यावरण का प्रतीक है। ऐसे में हम सारे देश मे टाइगर संरक्षण का काम शुरू करेंगे। पर्यावरण मंत्रालय ने 500 से ज्यादा कार्यों की सूची तैयार की है, जिसे हम संसद में जारी करेंगे। 

 
उन्होंने कहा कि 'बाघों के जीवन पर गंभीर खतरे मंडरा रहें हैं और उन्हें ऐसे खतरों से बचाना जरूरी है। देश में बाघ संरक्षण के प्रयासो में कोई कसर बाकी नहीं रखी जाएगी।' डॉ. हर्षवर्धन ने स्पष्ट किया कि वर्ष 2022 तक बाघों की संख्या को दुगुना करने का सेन्ट पीटर्सबर्ग घोषणा का लक्ष्य सीमित है। लेकिन इस सामान्य लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए राष्ट्रों को निरन्तर ध्यान देना होगा। इस अवसर पर मंत्री  ने (टाईगर रिजर्व) बाघ रक्षित क्षेत्रों की सुरक्षा और लेखा परीक्षण के संचालन के लिए प्रोटोकॉल भी जारी किया।

सचिवालय कूच करेगा रोडवेज परिषद

देहरादून। रोडवेज परिषद हिल डिपो मे गेट मिटिंग में निर्णय लिया गया है कि परिषद से संबंधित कर्मचारियों की समस्याओं का शीघ्र समाधान न होने पर आगामी तीन अगस्त को कार्यशाला से रैली निकालकर सचिवालय कूच किया जायेगा। परिषद के उप महामंत्री दिनेश गुसांई ने कहा कि गेट मीटिंग में छह सूत्रीय समस्याओं पर व्यापक स्तर पर चर्चा की गई और सभी ने एकजुटता का परिचय देते हुए तीन अगस्त की रैली को सफल बनाने का आहवान किया।
 
उनका यह भी कहना है कि इस गेट मीटिंग में 7 वें पे कमीशन के साथ 6 सूत्रीय मांगे शामिल है का समाधान करने की आवश्यकता है लेकिन कई बार आंदोलन करने के बाद भी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है, केवल मात्र कोरे आश्वासन ही दिये जा रहे हैं। उनका कहना है कि शीइा्र ही मांगे पूरी न होने पर चक्का जाम भी किया जायेगा। उनका कहना है कि सरकार व रोडवेज के उच्च अधिकारी उनकी समस्याओं पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं कर पा रहे है जो चिंता का विषय है। इस अवसर पर अनेक कर्मचारी मौजूद थे।  

अवैध खनन पर उचित कार्यवाही किये जाने की मांग

देहरादून। डोईवाला विधानसभा में अवैध खनन एवं जन समस्याओं के समाधान को लेकर नरेन्द्र मोदी विचार मंच के कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के जरिये मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को ज्ञापन प्रेषित करते हुए इस ओर उचित कार्यवाही किये जाने की मांग की है।

    मंच के कार्यकर्ता प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद कपरूवाण शास्त्री के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय में इकटठा हुए। वहां पर डोईवाला विधानसभा क्षेत्र में अवैध खनन व जन समस्याओं के समाधान को लेकर प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि डोईवाला विधानसभा में समस्याओं के अंबार लगे हुए हैं और उनका समाधान तत्काल प्रभाव से किये जाने की आवश्यकता है।
 
उनका कहना है कि डोईवाला विधानसभा के धन्याडी, सौडा, गुलरघाटी, कालू सिद्घ, दूधली, माजरी, रायपुर डोईवाला, सौंग, जाखन एवं सुसवा नदी, रेडा काला आदि नदियों में अवैध खान जारी है और डोईवाला विधानसभा में अनियमित विद्युत कटौती एवं आंख मिचौली से जनता परेशान है। सैनिक कॉलोनी में लो-वोल्टेज की भारी समस्या है, इसका समााान तत्काल किये जाने की आवश्यकता है। वक्ताओं ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर बने बड़े बड़े तालाब से दुर्घटनायें बदस्तूर जारी है, कई बार जान माल की हानि तथा रूके हुए पानी से कई प्रकार की बीमारियों के प्रकोप की आशंका है और सडक़ किनारे के दुकानदारों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि उनके समक्ष रोजी रोटी का भी संकट पैदा हो रहा है। उनका कहना है कि शीइा्र ही इस क्षेत्र की समस्याओं का समाधान किये जाने की आवश्यकता है और यदि इन समस्याओं पर कार्यवाही नहीं की गई तो चरणबद्घ तरीके से आंदोलन की शुरूआत की जायेगी। इस अवसर पर ज्ञापन प्रेषित करने वालों में प्रमोद कपरूवाण शास्त्री, राजेश डबराल, गिरिजेश बहुगुणा, सुनील थपलियाल, नीलम सेमवाल सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।
 

देहरादून का नाम बदलने की अफवाहों पर सीएम ने लगाया ब्रेक

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून का नाम अब जल्द ही बदलने वाला है। सरकार ने इसकी तैयारी भी कर ली है। अब जल्द ही इसका ऐलान होने जा रहा है। सुनकर हैरानगी हो रही है, हां होगी भी क्यो नहीं, बात ही इतनी बड़ी है। लेक‌िन यह सच नहीं है। दरअसल, गुरुवार को सोशल मी‌डीया पर इन अफवाहों का बाजार गर्म रहा कि राज्य सरकार राजधानी के नए नामकरण को लेकर नया फैसला लेने वाली है।
 
सोशल मीडिया की खबरों के मुताबिक सरकार चार या सात अगस्त को देहरादून का नाम बदलकर कोई नया नाम रखना चाहते हैं। हालांकि सरकार ने सोशल मीडिया में छायी इस अजीबो गरीब खबर की हवा निकाल दी है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ किया है कि सरकार का ऐसा कोई इरादा है। उन्होंने इस खबर को कोरी अफवाह करार दिया है। सोशल मीडिया में यह खबर तैर गई कि सरकार चार या फिर सात अगस्त को प्रस्तावित कैबिनेट बैठक में राजधानी देहरादून का नया नामकरण कर सकती है। हालांकि सोशल मीडिया में यह जानकारी नही दी कि आखिरकार देहरादून का नया नाम क्या होगा? दूसरी ओर इस संबंध में जब सरकार के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत से सीधे जानकारी ली गई तो उन्होंने इसे कोरी अफवाह करार दिया। मुख्यमंत्री ने साफ किया कि राजधानी देहरादून की बात तो छोड़े किसी जिले का भी नाम बदलने की कोई योजना नहीं है।
 
उल्लेखनीय है कि देहरादून का नाम पहले भी बदला जा चुका है। पौराणिक कथाओं के मुताबिक देहरादून का नाम द्रोणनगर था। पांडवों के गुरु द्रोणाचार्य ने इस स्थान पर तपस्या की थी। गुरु द्रोणाचार्य के नाम पर इस नगर का नामकरण हुआ था। एक अन्य पौराणिक कथा के मुताबिक जिस द्रोण पर्वत की औषधियां हनुमान लक्ष्मण के शक्ति लगने पर लंका ले गए थे, वह देहरादून में स्थित था। ​देहरादून का इतिहास कई सौ साल पुराना है। देहरादून से 56 किलोमीटर दूर कालसी के पास स्थित शिलालेख के मुताबिक तीसरी सदी ईसा पूर्व में सम्राट अशोक का शासन देहरादून इलाके पर था।

मोदी करेंगे आईएएस ट्रेनिंग फाउंडेशन कोर्स का शुभारंभ

मसूरी। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 अगस्त को पहाड़ों की रानी मसूरी में आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार, पीएम यहां 92वें आईएएस ट्रेनिंग फाउंडेशन कोर्स का उद्घाटन करने के लिए लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी पहुंचेंगे। वहीं 9-10 सितंबर को देवभूमि में आयोजित होने वाले हिमालयन मीट-2017 में भी पीएम शिरकत करने पहुंच सकते हैं।
 
सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री जॉलीग्रांट एयरपोर्ट से मसूरी के पोलो ग्राउंड में पहुंचेंगे। वहीं अकादमी पहुंचने पर प्रधानमंत्री आईएएस ट्रेनी ऑफिसर्स के साथ कालिंदी लॉन में ग्रुप फोटोग्राफी में शामिल होंगे और अकादमी का भ्रमण करेंगे। इसके बाद मुख्य कार्यक्रम का आयोजन होगा। वहीं प्रधानमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव एस रामास्वामी ने अकादमी में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें मसूरी पहुंचने पर हेलीपैड, सेफ हाउस, रूट प्लान, शहर की सफाई आदि व्यवस्थाओं पर चर्चा की गई।

आपातकालीन साइबर संकट पर सेमिनार में विशेषज्ञों ने बताये टिप्स

देहरादून। साइबर क्राइम और आपातकालीन साइबर संकट के मद्देनजर प्रदेश की सूचना प्रौद्योगिक सूचना एजेंसी (आईटीडीए) एवं स्टेट ई मिशन टीम (एसईएमटी) उत्तराखंड के संयुक्त तत्वावधान में एक सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में साइबर सिक्योरिटी से सम्बंधित विभिन्न पहलुओं और उनके निदान को लेकर विशेषज्ञों ने प्रस्तुतिकरण दिए। शुक्रवार को सहस्त्रधारा रोड स्थित आईटी पार्क कैंपस के आईटीडीए सभागार में प्रदेश में साइबर क्राइम और आपातकालीन साइबर संकट विषय पर सेमिनार आयोजित की गई। कार्यक्रम के दौरान कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पोंस टीम (सर्टइन) की प्रतिनिधि सविता उतरेजा ने प्रतिभागियों को केंद्र सरकार की योजनाओं और उनकी पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी दी। विषय विशेषज्ञ आशुतोष बहुगुणा ने साइबर सिक्योरिटी से जुड़ी सावधानियों और समस्याओं के समाधान पर विस्तृत प्रकाश डाला।
 
प्रमुख सचिव सूचना प्रौद्योगिकी उत्तराखंड शासन उमाकांत पंवार ने प्रदेश में साइबर क्राइम रोकने सम्बंधी विषयों पर अमल करने की बात कही गई। आईटीडीए निदेशक अमित सिन्हा आईपीएस ने सेमिनार के समापन पर सभी प्रतिभागियों का आभार जताया। सेमिनार में प्रमुख सचिव सूचना प्रौद्योगिकी उमाकांत पंवार, मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार डॉ$ नरेन्द्र सिंह, अपर सचिव सूचना प्रौद्योगिकी अरुणेन्द्र सिंह चौहान, केंद्र सरकार से सर्टइन प्रतिनिधि, एसएसपी निवेदिता कुकरेती सहित एसटीएफ, सूचना प्रौद्योगिकी, यूपीसीएल, पीडब्ल्यू, एसबीआई, डीएमएमसी, यूटीयू, यूपीईएस, यूएसईआरसी, एसटीपीआई, यूपीसीएल व अन्य विभागों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

हिमालय में हीरो की खोज शुरू

देहरादून। उत्तराखंड राज्य में मध्य और लंबी दूरी की दौड़ के आयोजनों में युवा प्रतिभा की पहचान करने के लिए, ओएनजीसी लिमिटेड और नर्चरिंग एक्सेलेंस इन स्पोर्ट्स ट्रस्ट ने उत्तराखंड राज्य के सभी 13 जिलों में 800 मीटर और 1500 मीटर में टैलेंट स्काउटिंग पहल, हिमालय में हीरो की खोज’’ शुरू की। 
पहाड़ी क्षेत्रों का इलाका और यहां के निवासियों की सामान्य जीवन शैली के कारण लाल रक्त कोशिकाएं स्वत: ही अधिक होती है, जिसके कारण उनमें धैर्य और सहनशक्ति का स्तर अधिक होता है। इन कारकों को ध्यान में रखते हुए, उत्तराखंड राज्य मध्य और लंबी दूरी की एथलेटिक स्पर्धाओं की प्रतिभाओं का खजाना है जिसका अभी तक सही तरीके से उपयोग नहीं हुआ।
.
यह पहल 8 जुलाई 2017 को पिथौरागढ़, उधम सिंह नगर के जिलों में षुरू की गई और 25 जुलाई 2017 तक सभी जिलों में परीक्षणों को पूरा कर लिया गया। सभी जिला में परीक्षणों को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद, 15-17 वर्श उम्र के कुल 77 एथलीटों को एक राज्य शिविर के लिए चुना गया जो 25 से 27 जुलाई 2017 तक संचालित होगा। उसके बाद अंतिम परीक्षण हुआ जो महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कलेज ग्राउंड, देहरादून मेंं 28 जुलाई को आयोजित किया गया।  
 
परीक्षणों के अंत में, निम्न एथलीटों को आगे का प्रशिक्षण देने और संवारने के लिए इस पहल के तहत चुना गया जिसमें राधा (मसूरी), हर्षदीप (उधमसिंह नगर), संध्या (देहरादून), भारत वर्मा (हरिद्वार), भावना (पिथारौगढ़) है। नेस्ट (एनईएसटी) के मैनेजिंग ट्रस्टी मनीश बहुगुणा ने कहा, ‘‘विश्व और ओलंपिक चैंपियंस में से 95 प्रतिषत कुछ हद तक अधिक ऊं चाई पर रहते हंै या उंचे स्थानों पर प्रशिक्षित होते हंै। इसे ध्यान में रखते हुए, हमने अनुभवहीन एथलेटिक प्रतिभा की पहचान करने के लिए उत्तराखंड राज्य के दूर के इलाकों तक पहुंचने के लिए इस पहल की शुरुआत की। हमें उम्मीद है कि इस पहल के तहत चुने गये एथलीट देश का प्रतिनिधित्व करेंगे और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति अर्जित करेंगे।
 

केदारनाथ में नरकंकाल मिलने का सिलिसला जारी

 रुद्रप्रयाग। केदारनाथ त्रासदी को भले ही चार साल बीत गए हो, लेकिन आज भी नरकंकाल मिलने का सिलसिला जारी है। इतने साल बीत जाने के बाद भी अभीतक लापता हुए लोगों को आजतक खोजा नहीं जा सका है। वहीं, केदारनाथ में हुई भीषण त्रासदी को चार साल बीत चुके हैं, लेकिन आज भी यहां नरकंकाल मिलने का सिलसिला जारी है। बता दें एक बार फिर से केदारनाथ में एक घर से मलबा साफ करते वक्त तीन नरकंकाल बरामद हुए हैं। जिससे लोंगों के अंदर फिर से आपदा का भय उत्पन्न हो गया। इसी के साथ ही राज्य में बारिश का कहर भी जारी है जिससे वहां के लोग दहशत में हैं।
 
गौरतलब है कि साल 2013 के जून माह में केदारनाथ आपदा के दौरान हजारों की संख्या में लोगों की मौत हो गई थी। तब मृतकों की तलाश में अभियान भी चलाया गया था और शवों का अंतिम संस्कार किया गया था। अभी भी वहां शवों के दबे होने की संभावनाएं जताई जा रही हैं। साथ ही आसपास के इलाकों व ट्रैक रूट पर भी ऐसे कंकाल समय-समय पर मिल रहे हैं।

भूस्खलन से 12 दुकानें मलबे में दबी

नई टिहरी। राज्य में बारिश एक बार फिर से कहर बरसा रही है। लगातार हो रही बारिश के कारण जिले की भिलंगना विकास खंड के सेमलथ गांव में एक भवन गिर गया।वहीं, राज्य में बारिश के साथ-साथ लोगों की आफतें भी बढ़तीं जा रही हैं। यहां लोगों की मुशिबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। इसी के साथ ही जनपद के चमियाला बाजार में भूस्खलन से 12 दुकानें मलबे में दबकर ध्वस्त हो गईं। इतना ही नहीं चारधाम यात्रा मार्ग खुलने व बंद होने का सिलसिला भी जारी है। 
 
बता दें दून सहित उत्तराखंड के अधिकांश हिस्सों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। जिसके कारण सडक़ें भी बंद हो रही हैं। वहीं 12 दुकानें पूरी तरह से मलबे में दब गईं लेकिन गनीमत रही कि जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त दुकानों में कोई नहीं था।

शराब तस्करों की धरपकड़

हरिद्वार। धर्मनगरी में शराब के अवैध कारोबार के दो वीडियो सोशल मीडिया पर छाये हुए हैं। सोशल मीडिया पर आए वीडियो के बाद आबकारी विभाग हरकत में आया। विभाग ने छापेमारी में एक स्थान से महिला के पास से शराब भी बरामद की है। धर्मनगरी में शराब का अवैध कारोबार पूरी तरह पैर पसार चुका है। सिटी मजिस्ट्रेट जय भारत सिंह ने कार्रवाई कर गंगा घाट के निकट से भी शराब और बीयर बरामद की थी।
 
पिछले कुछ दिनों से धर्मनगरी के ज्वालापुर और कनखल क्षेत्र में अवैध शराब के बिकने के दो वीडियो वायरल हो चुके हैं। इसमें कनखल वाला वीडियो का रात का है, जिसमें बीयर और शराब के खरीदने और बेचने के विषय पर बात चल रही है। जबकि दूसरे वीडियो में ज्वालापुर के इलाके में एक परचून विक्रेता शराब के दाम बताता नजर आ रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के बाद आबकारी विभाग की टीम ने कनखल के उस क्षेत्र में छापेमारी कर अवैध शराब के साथ एक महिला को पकड़ा है। लेकिन उस क्षेत्र के बड़े शराब माफिया तक आबकारी विभाग के हाथ नहीं पहुंच पाए हैं। सोशल मीडिया में वायरल हुए वीडियो के बाद कनखल क्षेत्र में छापेमारी की गई। इस दौरान अवैध शराब के साथ एक महिला को गिरफ्तार भी किया गया। ज्वालापुर क्षेत्र में भी जल्द कार्रवाई की जाएगी।

दून अस्पताल के हालात बद से बदतर

 देहरादून। एक ओर राज्य सरकार अपनी 100 दिन की उपलब्धियां गिनाने में व्यस्त हैं। तमाम विभागों के मंत्री इस बात से फूले नहीं समा रहे हैं कि जो काम कांग्रेस ने नहीं किया उनके कार्यकाल में ना केवल हो रहे हैं बल्कि विकास को पंख भी लग रहे हैं। लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है। मुख्यमंत्री आवास से एक किलोमीटर दूरी पर और सचिवालय से चंद कदमों की दूरी पर बने जिला सरकारी अस्पताल में हालात ऐसे हैं कि मरीजों के लेटने तक की व्यवस्था नहीं है। दरअसल देहरादून का सरकारी अस्पताल एक साल पहले मेडिकल कॉलेज में तब्दील हुआ था।
 
इस बात को लेकर तमाम अधिकारी गर्व कर रहे थे लेकिन आज जब इस अस्पताल का निरीक्षण किया गया तो हकीकत कुछ और ही निकली। अस्पताल में एक मरीज के बेड पर दो लोग सो रहे थे। यह किसी एक बेड के हालात नहीं थे बल्कि दून अस्पताल में लगे तमाम बेडों पर दो-दो मरीज सो रहे थे।ऐसा नहीं है कि इस बात की जानकारी संबंधित अधिकारियों को नहीं है। वे भी अपने मुंह से कह रहे हैं कि उनके पास जितनी व्यवस्था और संसाधन है उसमें ऐसे ही काम चलाया जा रहा है। इतना ही नहीं सीएमओ तो यह कह रहे हैं कि बेड पर अगर जगह पूरी हो जाती है तो मरीजों को जमीन पर भी लेटाना पड़ता है। यह वही सरकारी अस्पताल है जहां पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शपथ लेने के बाद हफ्ते भर के अंदर दो बार विजिट किया था।

सडक़ हादसे में सेब कारोबारी की मौत

ऋषिकेश। हरिद्वार देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीन पानी के समीप बस और सूमो की भिड़ंत में एक मौत हो गई, जबकि एक घायल हो गया।  पुलिस के अनुसार, उत्तराखण्ड परिवहन निगम की बस (यूके08सी ए0310) हरिद्वार से देहरादून आ रही थी, जबकि हिमाचल नंबर की सूमो (एचपी 01ए 4581) देहरादून से हरिद्वार की तरफ जा रही थी। हरिद्वार देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीन पानी के समीप दोनों में भिड़ंत हो गई।
 
इसमें सूमो चालक की मौत हो गई, जबकि सूमो में बैठा एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया। हादसे में कुछ बस यात्रियों को भी मामूली चोटें आई हैं। मृत चालक की शिनाख्त रनदीप (40 वर्ष) निवासी देवरी घाट चीमा, जिला शिमला हिमाचल प्रदेश के रूप में हुई है, जबकि चमनलाल (32 वर्ष) पुत्र रोशन निवासी ग्राम कोटा तहसील जुब्बल हिमाचल प्रदेश गंभीर रूप से घायल है। उसे राजकीय चिकित्सालय ऋ षिकेश में भर्ती कराया गया है। मैक्स कार में यह दो ही लोग सवार थे। घायल चमनलाल ने बताया कि उनके हिमाचल में सेब के बगीचे हैं और वह लेबर लेने हरिद्वार जा रहे थे।
 

डीजीपी से मिला कांग्रेस आईटी विभाग का प्रतिनिधिमंडल

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस आईटी विभाग के प्रतिनिधिमण्डल ने आईटी विभाग के प्रभारी जोत ंिसह बिश्ट के नेतृत्व में उत्तराखण्ड प्रदेश के नवनियुक्त पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी से शिष्टाचार भेंट कर उन्हें पुलिस महानिदेशक बनाये जाने पर गुलदस्ता भेंट कर बधाई दी। 
कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने आशा व्यक्त की कि उनके कुशल प्रशासन में उत्तराखण्ड पुलिस राज्य की कानून व्यवस्था में सुधार होगा। साथ ही उन्होंने देहरादून की ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रूप से व्यवस्थित करने पर भी विचार विमर्श किया।
 
आईटी अध्यक्ष अमरजीत सिंह ने कांग्रेस सोशल मीडिया की ओर से पुलिस को सहयोग का आष्वासन दिया। इस अवसर पर एडवोकेट पुनीत चौारी ने देहरादून षहर में युवाओं में बढ़ती नशाखोरी पर चिन्ता व्यक्त करते हुए आषा व्यक्त करते हुए नशाखोरी के खिलाफ अभियान चलाये जाने हेतु पुलिस सूचना तंत्र की मजबूती की बात कही। शिष्टाचार भेंट करने वालों में जोत ंिसह बिष्ट, अमरजीत सिंह, विशाल मौर्य, पुनीत चौारी, सबी थापा, नासिर हुसैन, अनुराग मिततल, साहिल पठान, विनीत सोनकर आदि प्रमुख रहे।
 

पटेलनगर पुलिस ने किया चोरियों का खुलासा

 देहरादून। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक नगर व सपुअ क्षेत्राधिकारी सदर के दिशा निर्देश में जनपद में बढ़ती नकबजनी चोरीयों वाहन चोरी की रोकथाम हेतु संबंधित थाना प्रभारियों के नेतृत्व में अलग अलग टीमें सादे वस्त्र में गठित की गई, जिस क्रम में थाना पटेलनगर में पूर्व में पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 277/17 धारा 380 भादवि, मुकदमा अपराध संख्या 354/17 धारा 457/380 भादवि, मुकदमा अपराध संख्या 283/17 धारा 380 भादवि, मुकदमा अपराध संख्या 284/70 धारा 379 भादवि, मुकदमा संख्या 137/17 धारा 379 भादवि, मुकदमा अपराध संख्या 284/17 धारा 379 भादवि के अनावरण हेतु प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर के निर्देशन में वरिष्ठ उपनिरीक्षक पटेलनगर के नेतृत्व में चौकी प्रभारी बाजार की अलग-अलग 3 टीमें गठित की गई। पुलिस टीम द्वारा दौराने चेकिंग पथरीबाग चौक पर संदिग्ध वाहनों की चेकिंग करते हुए मुखबिर द्वारा दी गई सूचना के आधार 2 मोटरसाइकिल पर बैठे 4 लडक़ों को रोककर गाड़ी के कागजात मांगे गए तो उक्त व्यक्ति अपनी गाडिय़ों के कागजात नहीं दिखा पाए।  पूछताछ करते हुए तलाशी के दौरान हाथ में पकड़े बैग में से 2 लैपटॉप, एक एलएडी रखा था, जिसके बारे में पूछा गया तो कोई भी जवाब नहीं दे पाया। शक होने पर सख्ती से पूछताछ की गई तो बताया कि हमने यह सामान व गाडिय़ां पूर्व में पटेल नगर क्षेत्र से चोरी की है।

 

जिसे आज हम बेचने के लिए जा रहे थे तथा उक्त व्यक्तियों द्वारा बताया गया कि यह चोरी गई मोटरसाइकिल को अपने साथी (मैकेनिक) एहसान, भगत सिंह कॉलोनी रायपुर को बेचते हैं तथा वह गाडिय़ों को कटवाता हैं तथा कुछ मोटरसाइकिल के चेचिस नंबर व इंजन नंबरों को हम एहशान से डाई मशीन से बदलवा देते हैं। बरामदा सामान गाडिय़ों के संबंध में थाना पटेलनगर पर पूर्व अभियोग पंजीकृत हैं। अभियुक्तों को गिरफ्तार कर थाना लाया गया था तथा पुन: गहनता से पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि हम चारों दोस्त हैं तथा हम लोग मूल रूप से बिजनौर के रहने वाले हैं तथा यहां ब्राह्मणवाला झुग्गी-झोपडिय़ों में किराए पर रहते हैं।

हम लोग फेरी का काम, पुताई का काम, कबाड़ी का काम करते हैं, साथ ही दिन में घूमकर बंद घरों व अकेले सुनसान जगह में बने घरों को चिन्हित करते हैं और पुताई व कबाढ़ के बहाने हम लोग घरों में रहने वाले सदस्यों के बारे में भी जानकारी कर लेते हैं तथा रात्रि के समय मौका देखकर हम आपस में मिलकर इन घरों से सामान चोरी कर लेते हैं। आरोपी सहजाद द्वारा बताया गया कि मैं दिन भर च्ीमतप करके घरों के बाहर सडक़ के किनारे नो पार्किंग की जगह पर खड़े मोटरसाइकिल को मौका देखकर डुप्लीकेट चाबी से खोल कर चोरी कर लेता हूं तथा उन्हें कम दामों में बेच देता हूं। आरोपी सहजाद द्वारा थाना नेहरू कॉलोनी के दीप नगर क्षेत्र से भी करीब 2 माह पूर्व एक मोटरसाइकिल व थाना डालनवाला क्षेत्र से भी मोटरसाइकिल चोरी की गई जो अभियुक्तगण की निशानदेही पर बरामद की गई है। अभियुक्तगणों द्वारा पूर्व में करीब 11 मोटरसाइकिल, 3 लैपटॉप, 2 टीवी, एक मोबाइ, 5 गैस सिलेंडर चोरी किए गए हैं, जो अभियुक्तों की निशान देहि पर बरामद किये गए है। अभियुक्त शातिर किस्म के चोर है तथा पूर्व में भी जेल जा चुके हैं। अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास के संबंध में संबंधित जनपदों से जानकारी की जा रही है। अभियुक्त फेरी पुताई का काम कबाड़ी का कार्य करते हुए दिन के समय अकेले सुनसान जगह पर बने घरों कि रेकी कर रात्रि के समय चोरी  करना व घरों के बाहर सडक़ के किनारे नो पार्किंग आदि जगह पर खड़े मोटरसाइकिल, स्कूटी को मौका देखकर डुप्लीकेट चाबी से खोलकर चोरी करना व डाई मशीन से वाहनों की इंजन नंबर व चेन बदलना घिसना ।

कांग्रेस के विकल्प के लिए बनाया गठबंधन: शिवप्रकाश

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी का दो दिवसीय जन प्रतिनिधि प्रशिक्षण वर्ग आज यहाँ स्वामी रामतीर्थ आश्रम में प्रारम्भ हुआ। वर्ग का उद्घाटन भाजपा राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिव प्रकाश ने किया। उदघाटन अवसर पर भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट्, राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत व प्रशिक्षण संयोजक ज्योति गैरोला भी मंच पर उपस्थित थे।
   
अपने उद्घाटन संबोधन में शिव प्रकाश ने कहा कि भाजपा देश को विश्व में सर्वोच्च लक्ष्य तक ले जाने के लिये समर्पित व मर्यादित तरीके से कार्य कर रही है और इसमें सभी कार्यकर्ताओं का योगदान महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि एक समय जब देश में कांग्रेस बहुत शक्तिशाली थी भाजपा व उससे पहले जनसंघ के रूप में हमने कांग्रेस के विकल्प के लिए गठबंधन बनाये। आज हम कांग्रेस मुक्त भारत की बात कर रहे हैं। स्तिथि यह है कि आज कांग्रेस व कुछ दल भाजपा के खिलाफ महा गठबंधन बनाने की जोड़तोड़ कर रहे हैं। पर ये गठबंधन ठग गठबंधन हैं और अपनी अंदरूनी समस्याओं के कारण टूट भी रहे हैं।
   शिव प्रकाश ने भाजपा के इतिहास व विकास विषय पर बोलते हुए कहा कि 1951 में स्थापना के समय से ही जनसंघ ने राष्ट्रीय मुद्दों पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यदि जनसंघ  स्थापना से आज तक के इतिहास और उसमें जनसंघ व भाजपा की भूमिका पर चिंतन किया जाए तो प्रश्न उठता है कि अगर हम न होते तो देश में क्या होता?
 
उन्होंने कहा कि देश के आजाद होने के बाद विदेशी प्रभुत्व में रह गए गोआ, पॉन्डिचेरी, दमन दिव को स्वतंत्र कराने के लिये जनसंघ ने आंदोलन किये । इसके परिणाम स्वरूप सरकार को मजबूरन कार्यवाही करनी पड़ी और ये स्थान आजाद हुए। जम्मू कश्मीर में दो विधान, दो प्रधान व दो निशान के खिलाफ जनसंघ ने आंदोलन किया। इसमें डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की शहादत हुई और अंतत: दो विधान दो निशान व दो प्रधान की व्यवस्था बदली। शिव प्रकाश ने कहा कि जनसंघ ने  देश की अखंडता के मामले पर कभी समझौता नहीं किया । 
   उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद जब विश्व  पूंजीवाद व सामाजवाद की विचारधाराओं के बीच फंसा था, दीन दयाल उपाध्याय ने एकात्मवाद व राष्ट्रवाद का दर्शन दिया। उन्होंने विदेश नीति से लेकर परमाणु बम तक के विषयों के उदाहरण देते हुए कहा कि जनसंघ व भाजपा ने हर समय राष्ट्रीय हित में निर्णय लिए व कार्य किया। 
 
 उन्होंने कहा कि आज यदि देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ यदि कोई सही रूप में आवाज उठा रहा है तो वह भाजपा है। क्योकि हमारा नेतृत्व पवित्र है। जबकि बाकी दलों में उनके शीर्ष नेता ही भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। आज देश में लोकतंत्र की बात यदि कोई दल ईमानदारी से कह सकता है तो वह भाजपा है। जहां भाजपा में आंतरिक लोकतंत्र है वहीं बाकी दलों में परिवारतंत्र है। इसी क्रम में भाजपा ने आंतरिक सुरक्षा हो या तुष्टीकरण के विरोध् के विषय हों पार्टी ने बिना संकोच के उन विषयों को मुखरता से उठाया। शिव प्रकाश ने कहा कि  भाजपा ही ऐसा दल है जिसमे राजनीतिक कार्यों के अलावा रचनात्मक कार्य भी किये जाते हैं। वर्तमान में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता व नमामी गंगा जैसे कार्य इसी श्रेणी के हैं जिनका वोट से संबद्ध नहीं है। उन्होंने आह्वान किया कि  अपने  श्रेष्ठ नेतृत्व मार्गदर्शन में हम मर्यादा को अपनाते हुए देश को सर्वोच्च लक्ष्य पर ले जाने के लिए पार्टी की अनंत यात्रा में  अपना योगदान दें।
 
 इससे पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट् ने अपने स्वागत संबोधन में प्रशिक्षण के महत्व पर प्रकाश डाला और कहा कि इससे कार्यकर्ता की वैचारिक दृढ़ता व मुखरता और बढ़ती है। भाजपा संगठन आधारित दल है और प्रशिक्षण की भूमिका वैसी ही है जैसी शांतिकाल में सेना की गतिविधियां रहती हैं।
    इस अवसर पर प्रदेश् महामंत्री संगठन संजय कुमार ने वर्ग से जुड़े विषयों पर जानकारी दी। वर्ग संयोजक ज्योति गैरोला ने वर्ग के महत्व पर प्रकाश डाला।   संबोधन क्रम प्रारम्भ होने से पहले भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का संदेश पर्दे पर प्रदर्शित किया गया । संदेश में शाह ने कहा कि भाजपा में यह प्रशिक्षण अभियान के रूप में लिया गया है और यह देश में अपने प्रकार का सबसे बड़ा अभियान है । संदेश में शाह ने कहा कि प्रशिक्षण कर्मकांड नही है अपितु यह आत्मा का दीपक प्रज्वलित करने वाला है।

रतूड़ी ने पुलिस महानिदेशक से की शिष्टाचार भेंट

देहरादून । अनिल के. रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड से आज प्रान्तीय पुलिस एसोसियेशन, उत्तराखण्ड द्वारा से शिष्टाचार भेंट कर राज्य के प्रति समर्पण की भावना रखते हुए विभागीय उच्चधिकारियों, शासन में निष्ठा रखते हुए अपने कर्तव्य पालन व सेवा प्रदान करने हेतु पुलिस महानिदेशक से मार्गदर्शन करने की अपेक्षा की।
 
उक्त शिष्टाचार भेंट में एसोसियेशन की अध्यक्षा श्रीमती श्वेता चौबे, खण्डाधिकारी, अपराध अनुसंधान देहरादून, श्रीमती शाहजहाँ जावेद खान, अपर पुलिस अधीक्षक, पुलिस मुख्यालय उत्तराखण्ड, प्रदीप राय, पुलिस अधीक्षक, नगर, देहरादून, नवनीत सिंह भुल्लर,उपसेनानायक,एस0डी0आर0एफ, सुरजीत सिंह पंवार, उप सेनानायक, आई0आर0बी0 द्वितीय, पंकज भटृ, खण्डाधिकारी, अपराध अनुसंधान हल्द्वानी, अजय सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ  एवं प्रान्तीय पुलिस एसोसियेशन के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

पुलिस ने दबोचे दो ठग

देहरादून। शिकायतकर्ता शाह आलम निवासी रक्षा विहार थाना रायपुर देहरादून में चौकी लक्खीबाग आकर तहरीर दी कि 02 व्यक्ति जीशान तथा शाहिद ने उसके साथ एक लाख रुपए की धोखा धड़ी की है। पीडि़त ने बताया कि यह लोग भोले भाले लोगों को खुदा की रहमत बरसाने के नाम पर लाखो रुपए ठग लेते हैं। कल दोनों व्यक्तियों को रेलवे स्टेशन पर रंगे हाथों पकड़ा गया, जब वह पीडि़त से बाकी के 400000 रुपए लेने आए थे।
 
दबोचे गए आरोपियो ने पूछताछ में बताया कि हम लोग भोले भाले लोगों को पैसों का लालच देकर उन्हें बताते हैं कि हम खुदा के बंदे हैं तथा जादू करके तुम्हारे ऊपर करोड़ों रुपए की बारिश खुदा से करवाएंगे। इस तरह लोगों से ठगी करके फरार हो जाते हैं। पकड़े गए आरोपियों में निशान पुत्र मोहम्मद इलियास निवासी सलेमपुर थाना कोतवाली देहात जिला सहारनपुर और शाहिद पुत्र मोहम्मद अमीर निवासी टपरी थाना कोतवाली देहात जिला सहारनपुर बताया। आरोपियों के पास से ठगी के 12000 रुपए बरामद हुए। 

सीएम ने दी कलाम को श्रद्धांजलि

देहरादून। उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र रावत ने मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाने जाने वाले दिवंगत एपीजे अब्दुल कलाम की दूसरी पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। ट्वीटर पर ट्वीट कर सीएम ने अपनी भावनायें व्यक्त कीं। सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि दिवंगत राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के त्याग और बलिदान पर देश सदैव उनका ऋृ णी रहेगा।
 
इतना ही नहीं सीएम त्रिवेंद्र रावत ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके 6वीं बार सीएम बनने पर भी बधाई दी। साथ ही सुशील मोदी को उनके उपमुख्यमंत्री बनने पर बधाई दी। सीएम त्रिवेंद्र ने ट्वीट कर इन नेताओं को शुभकामना संदेश दिया। बता दें 15 अक्टूबर 1931 को इनका जन्म तमिलनाडु के गांव में हुआ था। 25 जुलाई 2002 से  25 जुलाई 2007 तक इन्होंने देश के 11वें राष्ट्रपति के रूप में देश की सेवा की और 27 जुलाई 2015 को इन्होंने अंतिम सांसें ली। इस मिसाइल मैन की मृत्यु के बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई। उन्हें ता उम्र कोई भुला नहीं पायेगा।

बीएसएनएल अधिकारी व कर्मचारी रहे हड़ताल पर

देहरादून। फोरम ऑफ यूनियन एवं एसोसिएशनों की केन्द्रीय कार्यकारिणी के आहवान पर उत्तराखण्ड सर्किल के तत्वावाधन में चार सूत्रीय मांगों के समाधान के लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने गुरूवार को केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए एक दिवसीय हड़ताल रखी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन को तेज किया जायेगा और इसके लिए रणनीति तैयार की जायेगी। फोरम ऑफ यूनियन एवं एसोसिएशनों की केन्द्रीय कार्यकारिणी के आव्हान पर उत्तराखण्ड सर्किल के बैनर तले अधिकारी एवं कर्मचारी राजपुर रोड स्थित बीएसएनएल के मुख्य महाप्रबंधक के कार्यालय में इकटठा हुए और वहां पर अपनी चार सूत्रीय मांगों के समाधान के लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए हड़ताल पर रहे।
 
इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि बीएसएनएल में तीसरा वेतन पुनर्रीक्षण को लागू किया जाये और सीधी भर्ती कर्मचारियों को सेवानिवृत्त लाभ प्रदान किया जाये और एक जनवरी 17 से पेंशन में संशोधन किया जाये और बीएसएनएल में ट्रेड यूनियन गतिविधियों से बैन को तत्काल प्रभाव से हटाया जाना चाहिए। वक्ताओं का कहना है कि अभी तक इस ओर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई है जो चिंता का विषय है। उनका कहना है कि लगातार केन्द्र सरकार पर दवाब बनाये जाने के बाद भी किसी भी प्रकार की कोई नीति तैयार नहीं की गई है और केन्द्र सरकार व बीएसएनएल प्रबंध तंत्र का रवैया पूरी तरह से अडियल दिखाई दे रहा है
 
उनका कहना है कि शीघ्र ही मांगों का समाधान नहीं किया गया तो आंदोलन को और उग्र किया जायेगा। इस अवसर पर अनेक वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर एसएस रौथान, जय विक्रम सिंह, केएस सौन, किशोरी लाल चमोली, पीएस बिष्ट, बीएस बिष्ट, रूप सिंह नेगी, हुकुम सिंह, कुन्दन सिंह राना, जेपी कोठारी, जीएस रावत, राजपाल, केएन सोनकर, अरविन्द धीमान, जेएस रावत, राजेश भटट, रूप सिंह, हुकुम सिंह, नरेन्द्र कुमार, नंद किशोर,  प्रकाश डबराल, बृजनाथ, जगदम्बा, सुरेश, मोहन लाल, प्रेम लखेडा, प्रताप सिंह, प्रीतम चन्द्र आदि मौजूद थे।

मृतक किसान के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान की

नई टिहरी। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के साथ जनपद टिहरी गढ़वाल के विकासखण्ड चम्बा के ग्राम स्वाडी पहुंचकर मृतक किसान स्व राजू कुमार के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी तथा प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से 50 हजार रूपये की तात्कालिक आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए कांग्रेस पार्टी की ओर से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।  
 
  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम ंिसह ने कहा कि बैंकों द्वारा किसानों पर कर्ज वसूली का दबाव बनाया जा रहा है जिससे किसान अपने को असहाय महसूस कर रहे हैं तथा आत्महत्या को मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने विधानसभा चुनाव में झूठा वादा कर जनता को भ्रमित करने का काम किया तथा आज प्रदेष के किसान अपने को ठगा महसूस कर रहे हैं। राज्य सरकार की नाकामी के कारण बैंकों द्वारा बार-बार कर्ज वसूली का बनाया जा रहा दबाव किसानों को आत्महत्या के लिए प्रेरित कर रहा है। बैंकों द्वारा जिस प्रकार किसानों पर कर्ज लौटाने के लिए विभिन्न मायमों से दबाव बनाया जा रहा है उससे राजू कुमार जैसे गरीब असहाय किसानों को आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ रहा है यह निन्दनीय है। 
 
प्रीतम सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के कई स्थानों में अपनी चुनावी सभाओं में तथा भाजपा ने अपने ²श्टि पत्र में राज्य के किसानों से वायदा किया था कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने पर किसानों के कर्ज मॉफ कर दिये जायेंगे। राज्य की जनता ने भारतीय जनता पार्टी के जुमलों में फंसकर उसे प्रचण्ड बहुमत दिया आज उसी का परिणाम है कि केन्द्र तथा राज्य की भाजपा सरकारें निरंकुश हो चुकी हैं। प्रीतम सिंह ने कहा कि एक ओर देश और प्रदेश के गरीब किसान आत्म हत्या कर रहे हैं और दूसरी ओर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सहित अन्य नेता अनर्गल बयानबाजी कर गरीब किसानों का उपहास उड़ा रहे हैं जो देश वासियों के लिए गम्भीर चिन्ता का विशय है।
 
प्रदेश अध्यक्ष के साथ स्वाडी गांव पहुंचने वाले कांग्रेसजनों में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सूरज राणा, जिलाध्यक्ष देवप्रयाग हिमांशु बिजलवाण, प्रदेष कांग्रेस के मुख्य कार्यक्रम समन्वयक राजेन्द्र शाह, प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी, प्रदेश सचिव संजय किशोर, गिरीश पुनेड़ा, प्रदेश प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट, नगर अध्यक्ष चम्बा राजेश्वर प्रसाद बडोनी, नगर अध्यक्ष टिहरी मोनू नौडियाल आदि शामिल रहे। 

श्रीदेव सुमन शैक्षणिक परिसर के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण किया

ऋशिकेश। यदि सब कुछ ठीक ठाक रहा तो ऋषिकेश विधान सभा को एक बडी सौगात मिलने वाली है। इस विषय को लेकर उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष एवं ऋषिकेश विधान सभा के विधायक प्रेम चन्द अग्रवाल व श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के कुलपति डा0 यू0एस0रावत ने ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत छिद्दरवाला में श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के शैक्षणिक परिसर की स्थापना हेतु प्रस्तावित स्थल छिद्दरवाला का स्थानीय निरीक्षण किया गया।
विधान सभा अध्यक्ष एवं ऋषिकेश विधानसभा के विधायक प्रेम चन्द अग्रवाल ने कहा है कि श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के शैक्षणिक परिसर स्थापित करने हेतु भूमि के चयन प्रक्रिया के लिए विश्व विद्यालय के कुलपति यू0एस0रावत एवं डा0 एच0 सी0 पुण्डीर व वन विभाग के अधिकारियों के साथ छिदद्रवाला में प्रस्तावित शैक्षणिक परिसर हेतु भूमि का निरीक्षण किया गया।
 
अग्रवाल ने कहा कि छिद्दरवाला में लगभग 25 एकड भू-भाग उपलब्ध है। जिस स्थान पर शैक्षणिक परिसर स्थापित होना है। जिसके लिए छिद्दरवाला उपयुक्त स्थान है। अग्रवाल ने कहा है कि यदि शासन से श्रीदेव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय के शैक्षणिक परिसर को स्थापित करने की अनुमति प्रदान होती है, तो यह $ऋषिकेश विधान सभा के लिए वरदान साबित होगा। अग्रवाल ने कहा कि छिद्दरवाला क्षेत्र रेल मार्ग, हवाई मार्ग एवं विभिन्न प्रकार के आवगमन के दृष्टि से उपयुक्त स्थान है। उन्होने कहा कि स्थलीय निरीक्षण के पश्चात्  देव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति डा0यू0एस0 रावत, प्रदेश के मा0 उच्च शिक्षा मंत्री एवं मुख्यमंत्री को अवगत करायेगें। उसके पश्चात् ही शैक्षणिक परिसर की स्थापना हेतु आगे की कार्यवाही होगी। स्थलीय भूमि निरक्षण के दौरान जिला पंचायत सदस्य  देवेन्द्र नेगी, डा0एच0सी0 पुण्डीर, एवं वन विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

ट्रेन की चपेट में आने से युवती की मौत

रुडक़ी। बिनारसी गांव के समीप रेलवे ट्रैक पार करते हुए ट्रेन की चपेट में आने से युवती की मौत हो गई। हादसे के बाद करीब दो घंटे तक ट्रेनों का आवागमन भी प्रभावित रहा। गवानपुर थाना क्षेत्र के बनारसी गांव के समीप एक महिला की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई हादसा उस वक्त हुआ जब वह महिला सहारनपुर जिले के माल्ली गांव निवासी सीमा (18) वर्ष पुत्री मेघराज भगवानपुर स्थित एक कंपनी में काम करती थी। वह दोपहर के समय फैक्ट्री से छुट्टी करके एक सहकर्मी के साथ चुडिय़ाला रेलवे स्टेशन जाने के लिए निकली थी।
 
सहकर्मी ने उसे बिनारसी रेलवे फाटक के पास छोड़ दिया था। जिससे वह महिला पैदल ही रेलवे स्टेशन की और चल पड़ी। जैसे ही वह महिला बिनारसी रेलवे फाटक पार करने लगी तो तेजी से आ रही लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस ट्रेन ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में युवती की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना मिलते ही ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे। ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना जीआरपी रुडक़ी को दी। जीआरपी चौकी प्रभारी अमित कुमार मौके पर पहुंचे और शव की शिनाख्त कराई। जीआरपी की कार्रवाई के दौरान लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस, डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस, ऋषिकेश-दिल्ली पैसेंजर,करीब दो घंटे तक आसपास के स्टेशनों पर रुकी रही। युवती के शव की कार्रवाई पूरी होने के बाद ट्रेनों को यहां से रवाना किया गया है।

युवती ने लगाया यौन शोषण का आरोप

देहरादून। अठूरवाला विस्थापित कालोनी की रहने युवती ने थाना डोईवाला में तहरीर दी है कि उसके साथ शाहिल खान लम्बे समय से यौन शोषण कर रहा है। युवती का कहना है कि शाहिल ने धोखे उसका अश्लील वीडियो बना दिया है। जिसके चलते वह लगातार ब्लैकमेल कर रहा है।
 
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अठूरवाला निवासी एक युवती की जान पहचान शाहिल खान नाम के व्यक्ति से थी। उसने धोखे से युवती का अश्लील वीडियो बना दिया और ब्लैकमेल कर उसका अलग-अलग स्थानों पर बुलाकर यौन शोषण करता रहा है। युवती ने इस बावत थाना डोईवाला में आरोपी के खिलाफ यौन शोषण और जान से मारने की धमकी देने की शिकायत दर्ज कराई है। ​पुलिस ने भादवि की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी को दबिश दे रही है।

राजनेताओं का नहीं है अधिकारियों पर नियंत्रण

देहरादून । राजतंत्र में राजनेता से अधिक अफसर की विश्वसनीयता और निष्ठा के मायने हैं। यदि अफसर की ही विश्वसनीयता संदिग्ध हो तो फिर सुशासन और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की बात भी बेमानी है। उत्तराखंड का तो दुर्भाग्य ही यह है कि बड़े अफसरों की निष्ठा शुरू से ही संदिग्ध रही है। 
शीर्ष स्तर पर प्रशासनिक अराजकता चरम पर है। नीतिगत फैसलों में राज्य व जनहित नहीं बल्कि निजी हित हावी हैं। निजी हित साधने को अफसर किसी भी सीमा तक जाने को तैयार हैं, राजनेताओं का उन पर कोई नियंत्रण नहीं है।  वैसे तो ऐसे नौकरशाहों की यहा एक लंबी फेहरिस्त है जो अपने हित के लिए राज्य तक को दाव में लगा सकते हैै। बात करें ऐसे चंद नौकरशाहों की तो उनमें उदाहरण के तौर पर पूर्व डीजीपी बीएस सिद्धु का नाम भी शामिल है। बीएस सिद्धु पर डीजीपी रहते एक महिला कर्मी का यौन शौषण सहित आरक्षित वन क्षेत्र में जमीन कब्जाने तक के गंभीर आरोप लग चुके है।
 
उन पर आरोप है कि वर्ष 2012 मेें डीजीपी रहते उन्होंने ओल्ड मसूरी रोड राजपुर में लगभग नौ बीघा जमीन खरीदी। साल के पेड़ों से घिरी इस जमीन से जब मार्च 2013 में 25 पेड़ काटे जाने का मामला प्रकाश में आया तो वन विभाग महकमे की नींद टूटी और वह हरकत में आया। उसने सिद्धू के खिलाफ  रिजर्व फारेस्ट की जमीन कब्जाने का मामला दर्ज किया। लेकिन तब यह मामला कुछ दिन सर्खियों में रहने के बाद ठंडा पड़ गया। डीजीपी सिद्धू का इस जमीन को लेकर कहना था कि उन्होंने मेरठ के नथूराम से यह जमीन खरीदी थी। बाद में जब पूरे मामले की जांच हुई तो मामला पूरी तरह फर्जी निकला। जांच में पता चला कि नथूराम नामक व्यक्ति तो 30 साल पहले ही मर चुका है। मामला ग्रीन ट्रिब्यूनल में पहुंचा और तत्कालीन मुख्य सचिव सुभाष कुमार ने शपथ पत्र दाखिल कर बताया कि उक्तजमीन रिर्जव फॉरेस्ट की है। 
 
हालांकि डीजीपी ने आखिर तक जमीन को कब्जाने के लिए अपने रसूख का भरपूर इस्तेमाल किया पर साक्ष्य उनके विपरित होने के चलते वे इसमें कामयाब नहीं हो पाये और आखिर अप्रैल 2016 में सिद्धू के रिटायर होने के दिन ही राज्य सरकार ने उन्हें चार्जशीट भी थमा दी। इस पूरे मामले में देखे तो शासन को सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई करने में पूरे छह साल का समय लग गया। राज्य में ऐसे ही भ्रष्ट नौकरशाहों से जुड़े तमाम मामले है जो समय समय पर विजिंलेंस द्वारा खोले जाते रहे है। इसके अलावा केंद्र में भी सिद्धू जैसे तमाम अफसर हैं, जो अपने लाभ के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते है। ऐसे ही 381 अधिकारियों के खिलाफ  केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने भी कार्रवाई की हैं, जिनमें 24 अधिकारी भारतीय प्रशासनिक सेवा के है। 
मंत्रालय ने इन अधिकारियों के खिलाफ  समय से पहले सेवानिवृत या वेतन सुविधाओं में कटौती की नीति अपनाई है। बताया गया है कि इन कर्मचारियों का प्रदर्शन सही नहीं पाये जाने और कथित रूप से गैर कानूनी गतिविधियों में संलिप्त रहने के कारण उन्हें दंड का भागी बनना पड़ा। कहने का तात्पर्य यह है कि जब तक अहम पदों पर बैठे अफसरों की निष्ठा राज्य व देश के प्रति समर्पित नहीं होगी, जब तक जिम्मेदार पदों पर बैठे अफसर उत्तराखंड को चारागाह समझना बंद नहीं करेंगे तब तक सुशासन की बात करना सरासर बेमानी ही होगी।

गढ़वाली व कुमांऊनी को संविधान में शामिल करने का प्रयास : सीएम

देहरादून। गढ़वाली व कुमाऊनीं बोली के प्रचार-प्रसार हेतु एक अनूठी पहल की गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गढ़वाली व कुमांऊ नी बोली को संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल किये जाने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गढ़वाली व कुमाऊनीं बोली को दर्जा दिलाने की मांग पहले भी संसद में भी उठाई जा चुकी है और यह प्रयास जारी है।  उत्तराखण्ड वासियों की इस इच्छा को सार्थक करने हेतु मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र द्वारा एक नई शुरूआत की गई है। उत्तराखण्ड की लोक भाषा के प्रचार-प्रसार हेतु अब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र द्वारा सोशल मीडिया में भी गढ़वाली, कुमाऊनीं व उत्तराखण्ड की अन्य बोली भाषा में आम-जन से संवाद स्थापित किया जा रहा है।
 
जिसकी शुरूआत गुरूवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र द्वारा अपने ट्वीटर अकाउंट में गढ़वाली व कुमाऊनीं बोली में ट्वीट कर की गयी है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि हमें सदैव अपनी संस्कृति, बोली/भाषा से जुड़ाव रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज का युवा सोशल मीडिया में अधिक सक्रिय है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया में अपनी लोक भाषा गढवाली, कुमाऊनीं व उत्तराखण्ड की अन्य बोली भाषा में संवाद करने से युवा पीढ़ी के साथ-साथ भावी पीढ़ी को भी अपनी बोली व संस्कृति से जुडऩे का मौका मिलेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपेक्षा की है कि वे समय-समय पर सोशल मीडिया पर गढ़वाली, कुमाऊ नीं व उत्तराखण्ड की अन्य बोली भाषा में भी उनसे संवाद स्थापित करेंगे।  

स्वाइन फ्लू से छह मरीजों की हो चुकी मौत

देहरादून। स्वाइन फ्लू का खतरा लगातार बरकरार है। दून में चार और मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। अब तक 26 लोग इसकी गिरफ्त में आ चुके हैं। छह मरीजों की स्वाइन फ्लू से मौत भी हो चुकी है। स्वाइन फ्लू के वायरस और मौसम में गहरा संबंा है। कम तापमान और ज्यादा नमी के कारण हवा घनी होती है। जो वायरस के एक्टिव होने में मदद्गार बन रही है। यही कारण है कि स्वाइन फ्लू दून में लगातार असर दिखा रहा है। क्या बच्चे और क्या बड़े, यह हर किसी को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। अब चार और मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। इनमें रेशम माजरी डोईवाला निवासी 25 वषीज़्य युवती का हिमालयन हस्पिटल में उपचार चल रहा है।
 
जबकि दून निवासी 35 वषीज़्य एक अन्य महिला को हिमालयन हस्पिटल से इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके अलावा श्यामपुर प्रेमनगर से एक साल की बच्ची में भी स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। बच्ची दून अस्पताल में भतीज़् थी, जिसे अब डिस्चार्ज कर दिया गया है। मैक्स अस्पताल में भर्ती  ऋषिकेश निवासी 52 वषीज़्य एक मरीज को परिजन स्वयं डिस्चार्ज करा ले गए हैं। मुख्य चिकित्साािकारी ड$ तारा चंद पंत ने बताया कि फरवरी से अब तक जनपद में कुल 26 मरीजों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। इसके अलावा पांच अन्य मरीजों के सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि स्वाइन फ्लू को लेकर लगातार एहतियात बरती जा रही है। निजी व सरकारी अस्पतालों को मरीज में स्वाइन फ्लू के लक्षण मिलने पर तुरंत सूचना देने को कहा गया है। स्वाइन फ्लू का सबसे खतरा उन लोगों को है जिनकी प्रतिरोाक क्षमता कम है। इनमें मुख्य रूप से डायबिटीज, कैंसर और हृदय रोग के मरीज शामिल हैं। इसके अलावा बच्चों और बुजुर्गों को भी खास एहतियात बरतने की जरूरत है।

मंत्रियों को नहीं विदेश दौरे से फुरसत : बिष्ट

 देहरादून। राज्य में किसान आत्महत्या कर रहे हैं और राज्य सरकारें कर्जे पर पैसे लेकर विभागों के कामों को आगे बढ़ा रही हैं। लेकिन राज्य के मंत्री हैं की उन्हें विदेश दौरों से फुरसत ही नहीं है। बीजेपी पर ये गहन आरोप कांग्रेस के प्रवक्ता और उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट ने लगाया है । दरअसल प्रकाश पन्त के बाद अब राज्य के पर्यटन मंत्री सरपल महाराज विदेश दौरे पर चले गए हैं। ये आलम तब है जब राज्य के उपर 47 हजार करोड़ रुपये का कर्जा है। प्रदेश की खराब माली हालत के बावजूद प्रदेश के मंत्री इन दिनों विदेशी दौरे कर रहे हैं। कांग्रेस ने कहा कि प्रदेश सरकार शाही खर्च के जरिए आम जनता की गाढ़ी कमाई को खर्च कर रही है। 
 
इसके साथ ही कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रदेश सरकार जनता से अपने किए वायदों को पूरा नहीं कर पा रही है और जवाबदेही से बचने के लिए विदेशी दौरों पर मंत्री जा रहे हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस ने सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की फ्लीट को लेकर भी सवाल किया है। उनका कहना है कि सीएम की लम्बी-चौड़ी फ्लीट भी शाही खर्च से कम नहीं है। सरकार पर वजीफ हमला कांग्रेस ने बोला तो भला बीजेपी चुप कैसे बैठती। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कांग्रेस पर ही सवाल खड़े कर दिए। भट्ट की मानें तो कांग्रेस ने प्रदेश की आर्थिकी कमजोर की है और अब बीजेपी सरकार में हो रहे विकास कार्यों को देखकर कांग्रेस को इर्ष्या हो रही है।  आपको बता दें कि आज से 17 साल पहले जब उत्तराखंड बना था, तब राज्य पर 3377.75 करोड़ रुपये का कर्ज था। अब ये कर्ज बढक़र लगभग 47 हजार करोड़ रुपये हो चुका है। दरअसल मौजूदा सरकारों का यही काम हो गया है की कर्ज लेकर ही काम राज्य में किया जाये। आलम ये है की राज्य में जब कोई बच्चा भी पैदा होता है तो उसके उपर करीब 32 हजार 33 रुपये का कर्ज होता है। लगातार कर्ज लेने और उसे चुकाने की धीमी रफ्तार के कारण ही कर्ज का बोझ साल दर साल बढ़ता ही जा रहा है।

लोकतंत्र की हत्या करने पर तूली भाजपा: हरजिंदर

देहरादून। जनता दल एस के प्रदेश अध्यक्ष हरजिन्दर सिंह ने अभी बिहार में हुए राजनीतिक घटनाक्रम पर कहा कि भाजपा देश में लोकतंत्र की हत्या करने पर तूली हुई है।  भाजपा ने कुछ समय पहले अरूणाचल व उत्तराखण्ड प्रदेश की सरकारो को दल बदल आदि हतकण्डों को अपना कर गिराने का काम किया था, जो न्यायलय के हस्तक्षेप से नाकाम हुआ जिससे देश मे भाजपा की बहुत किरकिरी हुई थी, लेकिन भाजपा पर इस किरकिरी से कौई फर्क नहीं पडा और इसके बाद गौआ व मणिपुर मे लोकतांत्रिक मूल्यो को ताक पर रख कर भाजपा सरकार बनाने मे सफल हो गयी, इसी रणनीति को आगे बढाते हुए भाजपा ने अब बिहार मे लोकतांत्रिक मूल्यों को ताक पर रख कर कुछ ही घन्टो मे जिस तरह आर0 जे0 डी0 को सबसेे बडे दल होने के बावजूद बिना कौई सरकार बनाने का अवसर दिये।
 
घिनौनी राजनीति के तहत सरकार गिराकर एन0डी0ए की सरकार बनाने का काम किया है, इसकी हम कडे शब्दों में निन्दा करते है, और भाजपा जिस प्रकार देश के प्रदेशो मे विप दलो की सरकारो को  लोकतांत्रिक मूल्यो को ताक पर रख कर चुन चुन कर जो गिराने की घिनौनी राजनीति कर रही है, यह सीधे सीधे देश के लोकतंत्र की हत्या करना है, जिससे देश के राजनीतिक मूल्यों का ह्रास होना तय है, ऐसा करने से भाजपा का घिनौना चेहरा जनता के सामने उजागर हो रहा है, जिसका खमियाजा भाजपा को आने वाले चुनावो मे भुगतना पडेगा।
 

ठाकरे के जन्मदिवस पर शिवसैनिकों ने बांटी खाद्य सामग्री

देहरादून। शिवसेना के राष्ट्रीय कार्यकारिणी प्रमुख उद्घव ठाकरे का 57वां जन्म दिवस प्रदेशभर के शिवसैनिकों ने पूरे उल्लास के साथ मनाया। शिवसैनिकों ने उद्घव ठाकरे को शुभकामनाएं देने के साथ उनके अच्छे स्वास्थ्य और दीर्घायु की कामना की। इस अवसर पर प्रदेश के विभिन्न स्थानों कई कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। देहरादून के गोविन्द्गढ़ स्थित शिव सेना मुख्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष उद्घव ठाकरे के जन्मदिवस के मौके पर शिवसैनिकों ने पौधरोपण किया और 150 स्कूली बच्चों को खाद्य सामग्री वितरित की। गुरूवार को दून स्थित शिवसेना मुख्यालय में राष्ट्रीय अध्यक्ष उद्घव ठाकरे के जन्मदिवस के मौके पर शिवसैनिकों ने पार्टी अध्यक्ष को बधाई प्रेषित की।
 
इस मौके पर शिव सेना प्रदेश प्रमुख गौरव कुमार ने कहा कि उद्घव जी के नेतृत्व में शिव सेना की सोच प्रखर राष्ट्रवादी बनने के साथ ही शिवसेना के लक्ष्य और सामाजिक सरोकारों से जुड़े कार्यों के चलते महाराष्ट्र ही नहीं अपितु पूरे देश में पार्टी की छवि में निखार आया है। उन्होंने कहा कि उद्घव ठाकरे जी की अटल कर्मठता और प्रयासों के चलते ही मराठी राजनीति से उभर कर राष्ट्रीय राजनीति के पटल पर भी एक अलग पहचान बनाने में कायम हुई है। गौरव कुमार ने कहा कि भारत को विश्व में सर्वोच्च विकसित देश की पहचान दिलवाने में शिव सेना की ओर से हर संभव प्रयास जारी हैं।
 
कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या में मौजूद शिव सैनिकों ने देश और पार्टी की अखंडता और और एकता को कायम रखने का संकल्प भी लिया। इस मौके पर पार्टी की ओर से करीब 150 स्कूली बच्चों को खाद्य सामग्री वितरित की गई। कार्यक्रम के अंत में शिव सैनिकों ने मुख्यालय प्रांगण में पौधे भी रोपे और पर्यावरण संरक्षण के लिए जागरूकता का संदेश दिया। इस अवसर पर जिला प्रमुख अमित कर्णवाल, महानगर प्रमुख आशीष सिंघल, वरिष्ठ नेता पंकज तायल, शिवम गोयल, मनोज बोहरा, विकास मलहोत्रा, सुमित गंभीर, रोहित बेदी, अभिषेक साहनी, संजीव मैथानी, सागर रघुवंशी, शिवम, अमन आहूजा, मनोज सरीन, अजय साहनी, रवि गैरोला, मनमोहन साहनी, शिव नारायण, विशाल बेदी आदि मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में जुटा कांग्रेस का कुनबा

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विधानसभा क्षेत्र में गुरूवार को  तमाम कांग्रेस के बड़े नेताओं ने धावा बोल दिया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के साथ-साथ तमाम राजधानी के नेता मौजूद रहे। जिन्होंने भाजपा की सरकार पर जमकर हमला बोला।बता दें, डोईवाला में सरकारी अस्पताल को निजी संस्थान के हाथों में सौंपने को लेकर कांग्रेस इस सरकार की कोशिशों के विरोध में जन आक्रोश रैली का आयोजन किया। जिसमें मंच पर मौजूद तमाम नेता बारी-बारी से त्रिवेंद्र सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। इसके साथ ही भाजपा जागो का नारा लगा रहे हैं। कांग्रेस ने प्रदेश की सरकार कोजनता की विरोधी सरकार बताया है।
 
इस दौरान अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि राज्य की सरकार आमजन मानस की विरोधी है और सरकारी अस्पताल को निजी हाथों में देना इसका एक उदहारण है। वहीं हरीश रावत ने कहा कि अगर सीएम अपने क्षेत्र में ये काम करते हैं तो हम जनता के साथ खड़े होकर इस अन्याय को रोकने का काम करेंगे । वहीं, कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार शराब के आंदोलन को भी कुचलने का काम कर रही है और इस काम के लिए सरकार पुलिस को पूरी तरह से इस्तेमाल कर रही है। यह सरकार सिर्फ जनता को उल्लू बनाने का काम कर रही है।

शिक्षा अधिकारी ने छूये यशपाल आर्य के पैर

 देहरादून। शिष्टाचार भेंट अगर हो तो अलग बात है, मगर ड्यूटी पर तैनात अधिकारी जब मंत्री के पैर छुए तो इसे आप क्या कहेंगे। जी हां अधिकारियों की मंत्री परिक्रमा कोई नई बात भले ही ना हो मगर अक्सर देखा जाता है कि अधिकारी मंत्रियों के सार्वजनिक स्थानों पर पैर छूकर उनसे आशीर्वाद लेते हैं जो अपने आप में हैरान कर देनी वाली बात होती है। वहीं अधिकारी मंत्री के आते ही अपने पद और गरिमा को ही भूल जाते हैं। वह अपने पद की लाज तक नहीं रख पाते हैं वो भी तब जब आप शिक्षा विभाग जैसे महत्वपूर्ण पद पर एक शिक्षक अधिकारी की भूमिका में हों और मंत्री जी की आवभगत में ये भी भूल जाएं कि आपके पद की गरीमा क्या है और सभी के सामने ही मंत्री जी के आगे नतमस्तक हो जाएं।
 
कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला हमें बाजपुर में जहां क्षेत्रीय विधायक और कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य बालिका छात्रावास में वृक्षारोपण के कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे। वहीं खंड शिक्षा अधिकारी और कई शिक्षक भी मौजूद थे। इस समारोह के बीच ही खंड शिक्षा अधिकारी सभी के सामने मंत्री जी के पैर छूने लगे। इस दौरान वह अपने पद की गरीमा तक को भूल गए लेकिन यह शायद तब काबिले तारीफ होता कि अगर मंत्री जी किसी शिक्षक के पैर छूते मगर शिक्षा विभाग के अधिकारियों की पैर छूने वाली चापलूसी देखकर तो आप समझ ही गये होंगे कि ये वो अधिकारी हैं जो नेताओं और मंत्रियों की परिक्रमा कर अपने ट्रांसफर पोस्टिंग कराने में विश्वास रखते हैं। बताया जाता है कि खंड शिक्षा अधिकारी हवलदार प्रसाद 2010 से 2012 तक पहले यहां तैनात थे। उसके बाद फिर मई 2017 में खंड शिक्षा अधिकारी अपनी मानचाही जगह बाजपुर में फिर से तैनात हो गये। जिसका कारण राजनैतिक ताल्लुकाल बताया जा रहा है कि खंड शिक्षा अधिकारी अपनी मनचाही जगह पर पोस्टिंग करा लेते हैं।
 

कांग्रेसियों ने फूंका प्रदेश सरकार का पुतला

देहरादून। प्रदेश कंाग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष एवं डोईवाला गन्ना विकास परिषद के चेयरमैन ताहिर अली के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ ऐस्ले चैक पर प्रदेश सरकार का पुतला दहन किया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्रदेश कंाग्रेस के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में ताहिर अली के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में एकत्र हुए तथा भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए एस्ले हॉल पहुंचकर प्रदेश सरकार का पुतला दहन किया। कांग्रेसजनों ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश की सत्ता में आते ही कहा था कि 15 दिन के भीतर गन्ना किसानों के अवशेष भुगतान चाहे वह सहकारी अथवा निजी क्षेत्र की मिलों पर होगा, कर दिया जायेगा। तीन महीने व्यतीत होने के उपरान्त भी अभी तक गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हो पाया है। सरकार यदि अपने बचनों को पूरा नहीं करती है तो उसे जनता से ऐसे वादे नहीं करने चाहिए थे। 
   
गन्ना चेयरमैन ताहिर अली ने कहा कि पिछले सत्र में कुल 350 लाख कुन्तल गन्ने की पेराई हुई थी जिसका मूल्य 1079 करोड़ था जिसमें से अब तक केवल 736 करोड़ रूपये का भुगतान किया गया है तथा शेष 343.90 करोड़ का भुगतान बाकी है। उन्होंने यह भी कि राज्य सरकार ने जो 10 करोड़ रूपेय चवीनीमिल के माध्यम से डोईवाला गन्ना समिति को जारी किये गये हैं जबकि डोईवाला चीनीमिल को देहरादून गन्ना समिति, रूडक़ी एवं पॉवटा साहिब से भी गन्ना सप्लाई किया गया जहां के किसानों को एक भी रूपये नहीं दिये गये। उत्तराखण्ड राज्य में जनपद हरिद्वार एवं जनपद उधमसिंहनगर प्रमुख रूप से गन्ने की खेती वाले क्षेत्र हैं। गन्ने की नई फसल की कटाई का सीजन शुरू होने जा रहा है तथा प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा पिछली फसलों का अभी तक भुगतान नहीं किया गया है जिससे गन्ना किसान असमंजस की स्थिति में हैं।
 
अत: गन्ना किसानों को शीघ्र उनके बकाये भुगतान की व्यवस्था की जाय तथा राज्य के गन्ना किसानों को समय पर उन्नत किस्म के बीज उपलब्ध कराने के साथ ही गन्ने की फसलों का समय पर क्रय करवाने, निर्धारित समय के अन्तर्गत लेवी व गन्ने का भुगतान करवाने के साथ ही उस पर ब्याज दिलवाया जाय। गन्ना किसानों के बिजली के ट्यूबवैलों पर अतिरिक्त सरचार्ज समाप्त किये जाने, जंगली जानवरों से फसलों के नुकसान का मुआबजा तथा फसलों के बीमे की सुविधा उपलब्ध करवाये जाने का निर्णय लिया जाय। पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों साथ वादा खिलाफी की है। उत्तराखण्ड के किसान चाहे वे पर्वतीय क्षेत्र के हों या तराई क्षेत्र के किसान हों विगत कई वर्षों से प्राकृतिक आपदा की मार झेलते आ रहे हैं जिससे किसानों की अर्थिक स्थिति दयनीय हो चुकी है अत: उत्तराखण्ड सरकार भी किसानों की कर्ज मॉफी करे। 
 
इस अवसर पर पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, वरि. उपाध्यक्ष किसान कांग्रेस के राजेश शर्मा, प्रदेश सचिव भरत शर्मा, दीप बोहरा,प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी, हिम्मत बिष्ट, नेमीचन्द, एनएसयूआई के श्यामसिंह चैहान, गुल मोहम्मद, मोहन काला, मनोज कुमार, गन्ना निदेशक सचिन चैधरी, आईटी के अमरजीत सिंह, जिला पंचायत सदस्य राशिद, सावित्री थापा, करीम अहमद, अब्दुल रशीद, सम्माद अली, कै0 बलवीर ंिसह रावत, अनुराधा, अकबर सिद्धिकी आदि अनेक कंाग्रेसजन उपस्थित थे। 

दिल्ली मशीन टूल एक्सपो 2017 में नई तकनीकों का होगा प्रदर्शन

देहरादून। इंडियन मशाीन टूल मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशान (आइएमटीएमए) अपने नॉदर्न रीजनल शो- दिल्ली मशीन टूल एक्सपो के दूसरे संस्करण का आयोजन कर रहा है। यह एक्सपो दिल्ली के प्रगति मैदान में 10 से 13 अगस्त के बीच आयोजित किया जायेगा। इस एक्सपो में इस बार मेट्रोलॉजी और वेल्डिंग पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा। मेट्रोलॉजी एक्सपो, साधनों, मेट्रोलॉजी  और उपकरणों को परखने की एक प्रदर्शानी है। वहीं, वेल्डएक्सपो, वेल्डिंग, कटिंग और जॉइनिंग करने की एक प्रदर्शानी है, जोकि साथ-साथ आयोजित की जायेगी।
 
प्रदर्शनी स्थल 12,000 वर्गफीट क्षेत्र में फैला हुआ है, जहां पर 3 हॉल (हॉल 11, 12 और 12ए) में 200 से भी अधिक प्रदर्शक अपनी उपस्थिति दर्ज करायेंगे। यह एक्सपो उत्तर भारत में स्थित मेटल कटिंग और मेटल फॉर्मिंग उद्योगों के लिये उत्पादन समाधान देने की अत्याधुनिक तकनीकों पर केंद्रित होगा। इसका फोकस दिल्ली, राजस्थान, उत्तरप्रदेशा, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेशा, हरियाणा, आदि क्षेत्रों में फैले कुछ छोटे और मंझोले उद्यमों पर होगा। इस एक्सपो में कैपिटल गुड्स, रक्षा, एयरोस्पेस, रेलवे, ऑटोमोबाइल और कई अन्य क्षेत्र के प्रतिनिधियों के आने की उम्मीद है। भारत के अलावा चेक गणराज्य, जर्मनी, इटली, यूएसए, चीन, ताईवान और ऑस्ट्रेलिया, जैसे सात बाहरी देशों के इसमें शामिल होने की उम्मीद है। इनमें से चीन, ताईवान और यूएसए ये तीनों सामूहिक रूप से शामिल होंगे। 
 
एक्सपो के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए आइएमटीएमए के प्रेसिडेंट पी$ जी$ जडेजा ने कहा, ‘‘इस एक्सपो का पहला संस्करण 2015 में आयोजित किया गया था। इसमें कई क्षेत्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय कंपनियों की उपस्थिति के साथ शानदार प्रतिक्रियाएं प्राप्त हुई थीं। इसके माध्यम से मैन्यूफैक्चरर्स अपना दायरा बढ़ाने में सक्षम हुए थे। इसका दूसरा संस्करण उन्हें समय पूर्व सफलता पाने में सक्षम बनायेगा और उनकी पहुंच क्षेत्रीय उद्योगों तक हो पायेगी। इस शो से जुड़ी अपनी अपेक्षाओं के बारे में बताते हुए, आइएमटीएमए के महाप्रबंधक वी$ अन्बू ने कहा, ‘‘इस संस्करण में आइएमटीएमए की नजर बड़ी सफलता पर है। विभिन्न औाद्योगिक क्षेत्रों में हमें बड़े पैमाने पर भागीदारी की उम्मीद है और हमें पूरा विशवास है कि आने वाले समय में इस एक्सपो में बदलाव का यह क्रम जारी रहेगा।

राजू श्रीवास्तव शाइन केमफ्लो के ब्रांड अम्बेस्डर बनें

देहरादून। अल्कलाइन वाटर सिस्टम निर्माता कम्पनी शाइन केमफ्लो ने भारत सरकार के स्वच्छ भारत अभियान  के नवरत्नों में से एक व चर्चित हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव को अल्कलाइन वाटर सिस्टम का ब्रांड अम्बेस्डर बनाया। शाइन केमफ्लो के निदेशक राशिद नसीम ने कहा कि राजू श्रीवास्तव को आज अपने उत्पाद से जोडक़र हमें बेहद प्रसन्नता हो रही है। जिस प्रकार राजू श्रीवास्तव लोगों को हंसाकर सबका स्वास्थ्य अच्छा रखते हैं, उनका मानसिक तनाव कम करते हैं। उसी प्रकार अल्कलाइन वाटर भी हम सबकी सेहत का ख्याल रखता है।
 
हमें उम्मीद है कि राजू श्रीवास्तव का इस उत्पाद से जुडऩा हमारे उत्पाद को और आगे बढ़ाने में मदद करेगा। उन्होंने आगे कहा कि आज देश में  पानी के चलते बहुत सारी बीमारियां हो रही है जैसे  संक्रमण, पेट की कई बीमारियां, टाइफाइड, त्वचा संबंधी बीमारियां$ यहां तक कि कैंसर भी प्रदूषित पानी पीने से हो सकता है$ इन सब से बचने के लिए आवश्यक है कि हम अल्कलाइन वाटर का प्रयोग करें क्योंकि  मात्र  आरओ व यूवी तकनीक से ही काम नहीं चलने वाला$ हमें उच्च पीएच लेवल के पानी की आवश्यकता है जोकि  अल्कलाइन  वटर से ही संभव है$ साथ ही आज के बदलते दौर और हमारे खान पान की आदतों में हुये बदलाव के चलते खास तौर पर डिब्बा बंदखाने ने हमारे पाचन प्रक्रिया पर प्रभाव डाला है। जिससे हमारी पाचन प्रक्रिया धीमी हो गई। इस समस्या का समाधान है अल्कलाइन वटर। शाइन केमफ्लो ने अल्कलाइन वाटर को आम आदमी तक पहुंचाने के लिए 1000 रुपए से 15000 तक की विभिन्न रेंज में इस तकनीक को उपलब्ध कराया है।

ग्रामीणों को घर बैठे मिल रही दवाईयां, टिहरी के जिलाधिकारी की नई पहल

 टिहरी। जिले के ग्रामीणों को अब दवाईयों के लिए मेडीकल स्टोर्स के चक्कर नहीं काटने पड़ते। टिहरी जिलाधिकारी सोनिका की पहल से अब जिले के ग्रामीणों को घर बैठे ही दवाईयां मिल रही हैं। बता दें कि एक माह पहले टिहरी की डीएम सोनिका ने ग्रामीणों को घर बैठे स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए एक टोल फ्री नंबर 555 जारी किया था, जिसका असर एक महीने के भीतर ही दिखने लगा है।

 

अब तक इस सुविधा से 332 मरीजों को घर बैठे दवाईयां मिल चुकी हैं और साथ ही 441 लोग स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हासिल कर चुके हैं। डीएम सोनिका ने बताया कि निशुल्क 555 स्वास्थ्य सलाह सेवा लाभदायक सिद्ध हो रही है, अभी इसे पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर सिर्फ चंबा ब्लॉक में चलाया जा रहा है, सब ठीक रहने पर सेवा को जल्द अन्य ब्लॉकों में भी शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि चंबा ब्लॉक में स्वास्थ्य सेवा के अंतर्गत 29 डीपो खोले गए हैं, जहां मरीज के जरूरत के अनुरूप दवाएं रखी गई हैं। टोल फ्री नंबर की जानकारी देते हुए डीएम ने बताया कि बीएसएनएल के उपभोक्ता 555 और अन्य नेटवर्क के उपभोक्ता 18001804112 पर कॉल कर के चिकित्सकों से निशुल्क परामर्श ले सकते हैं। जिसके बाद एएनएम, आशा और आंगनबाड़ी वर्करों के माध्यम से संबंधित मरीज को दवाईयां उपलब्ध कराई जाएंगी।

युवक के खाते से 10 हजार की रकम साफ

रुडक़ी। एक युवक के खाते से अनलाइन 10 हजार की रकम साफ कर लिए जाने का एक और मामला सामने आया है। हैरानी की बात यह है कि आरोपी ने बिना एटीएम कार्ड की जानकारी लिए खाते से यह रकम साफ की है। पीडि़त ने पुलिस को तहरीर दी है।  गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के पनियाला रोड निवासी प्रवीण का शहर के एक बैंक में खाता है। पुलिस के अनुसार, प्रवीण ने बैंक का एटीएम कार्ड भी ले रखा है। बुधवार की सुबह उसके मोबाइल पर मैसेज आया कि खाते से 10 हजार की रकम निकाली गई है, जबकि प्रवीण ने किसी को अपने एटीएम कार्ड की कोई जानकारी भी नहीं दी थी।
 
मैसेज के जरिये जब उसे खाते से यह रकम निकलने की जानकारी हुई तो उसके होश उड़ गए। बैंक में जाकर पता किया तो जानकारी हुई कि उसके खाते से अनलाइन शपिंग की गई, जबकि उसका एटीएम कार्ड उसके ही पास था। यह जानकारी मिलने के बाद युवक गंगनहर कोतवाली पहुंचा और पुलिस से मामले की शिकायत की। पीडि़त ने इस मामले में मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। पुलिस का कहना है कि इस मामले को साइबर सैल भेजा जाएगा।

जोशी ने शहीद स्मारक के निर्माण को 50 लाख देने की घोषणा की

देहरादून। कारगिल विजय दिवस पर मसूरी विधायक गणेश जोशी ने चांदमारी में कारगिल शहीद राईफलमैन राजेश गुरुंग को श्रद्घासुमन अर्पित किये। उन्होनें शहीद गुरुंग की माता बसंती देवी एवं पिता श्याम सिंह गुरुंग को एक महान मॉ-बाप का दर्जा देते हुए कहा कि अपने बेटे को एकमात्र उन्होनें ही नहीं बल्कि पूरे देश ने खोया है क्योंकि वह सम्पूर्ण देश के लिए शहीद हुआ था।
 
इससे पहले देहरादून के गांधी पार्क में आयोजित कारगिल विजय दिवस ‘शौर्य दिवस‘‘ के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, मसूरी विधायक गणेश जोशी, मेयर विनोद चमोली एवं राजपुर विधायक खजान दास ने शहीदों को श्रद्घासुमन अर्पित किये। शहीदों को नमन करने के बाद अपने सम्बोधन में मसूरी विधायक गणेश जोशी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के सम्मुख पूर्व सैनिकों एवं शहीदों की वीर नारियों के लिए मांग उठाई। उन्होनें कहा कि द्वितीय विश्व युद्व के शहीदों की वीर नारियों को मिलने वाली अनुदान राशि को 4 हजार से बढाकर 8 हजार तथा आवासीय सहायता को 2 लाख से बढ़ाकर 5 लाख किया जाए।
 
उन्होनें भारत-चीन युद्व के नायक बाबा जसवंत सिंह की प्रतिमा को बाबा जसवंत सिंह ग्राउंड (महेन्द्रा ग्राउंड) में लगाये जाने की बात भी कही। कहा कि सम्पूर्ण प्रदेश में शहीदों के नाम पर उनके निवास के समीप शहीद द्वार निर्माण एवं मार्गो का नामकरण किया जाए और मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जी की राज्य सरकार के 100 दिन पूर्ण होने पर की गई घोषणा जिसमें प्रदेश में राज्य स्तरीय शहीद स्थल बनाये जाने की घोषणा की गई थी। विधायक गणेश जोशी ने राज्य स्तरीय शहीद स्थल के निर्माण के लिए विधायक निधि से 50 लाख दिये जाने की घोषणा की और कहा राज्य के प्रत्येक विधायक से राज्य स्तरीय शहीद स्थल के निर्माण में निधि से सहयोग की अपेक्षा की। 
 
विधायक गणेश जोशी ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री एक सैनिक के पुत्र हैं और एक सैनिक या सैनिक का पुत्र ही सैनिक का दर्द समझ सकता है। कहा कि पूर्व सैनिकों की वर्षो पुरानी मांग ओआरओपी को केन्द्र सरकार ने मानते हुए सैनिकों के दर्द को अपना दर्द समझा, उन्होनें प्रधानमंत्री मोदी सहित भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को बधाई दी।
 

गवर्नर केके पॉल ने की राष्ट्रपति कोविंद से मुलाकात

देहरादून। बुधवार को उत्तराखण्ड के राज्यपाल डॉ. कृष्णकांत पाल दिल्ली पहुंचे। यहां उन्होंने नवनिर्वाचित 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर कृष्णकांत पॉल ने उन्हें उनके राष्ट्रपति के नये पदभार के लिये शुभकामनायें दीं। इस शिष्टाचार भेंट के दौरान कृष्णकांत पाल ने कोविंद से कई सारी बातें की। बता दें कि 17 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति पद का चुनाव हुआ।
 
जिसमें पदों के उम्मीदवार थे बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार। चुनाव का रिजल्ट 20 जुलाई को घोषित किया गया, जिसमें कोविंद ने मीरा कुमार को मात देकर पद पर काबिज हुये। उनके जीतने की खबर सुनते ही हर जगह के नेताओं ने उनके लिये बधाई संदेश भेजा।रामनाथ कोविंद के 25 जुलाई को शपथ ग्रहण करने के बाद 26 जुलाई को उत्तराखंड राज्यपाल कृष्णकांत पॉल ने उनसे मुलाकात कर बधाई दी। दोनों खुशी-खुशी एक दूसरे का सम्मान करते नजर आये। 

भाजपा पार्टी संगठन को मजबूत करने में जुटी

देहरादून। भाजपा प्रदेश में अपने संगठन को मजबूत करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। पार्टी की नजरें अब आगामी निकाय चुनाव के साथ ही वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव और वर्ष 2022 के विधानसभा चुनावों पर भी टिकी हैं। इसके लिए संगठन अधिक से अािक लोगों को पार्टी के साथ जोडऩे की तैयारी में है। मंत्रियों और विधायकों को इसकी विशेष जिम्मेदारी सौंपने की तैयारी है। 
 
इसके लिए बाकायदा संगठन की ओर से कार्यक्रमों की एक वृहद रूपरेखा तैयार की गई है। इसी कड़ी में 27 जुलाई से देहरादून में विधायकों के लिए विशेष प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। भाजपा को जिस तरह विधानसभा चुनाव में जनता का साथ मिला, इतनी ज्यादा उम्मीद खुद संगठन को नहीं थी। यही वजह है कि अब भाजपा जनता के इस विश्वास को कायम रखने के साथ ही अािक से अािक लोगों को पार्टी की रीति नीति से जोडऩा चाह रही है। इसके लिए मंत्रियों और विधायकों को अहम जिम्मेदारी देने की तैयारी है। इसके तहत भाजपा प्रशिक्षण महा अभियान के अंतर्गत प्रदेश भाजपा के विधायकों का दो दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग 27 व 28 जुलाई को आयोजित हो रहा है। वर्ग का उद्घाटन भाजपा राष्ट्रीय सह महामंत्री शिवप्रकाश करेंगे।
 
वर्ग में भाजपा विधायक व अन्य वरिष्ठ भाजपा नेता शामिल होंगे। कुछ सांसद भी वर्ग में भागीदारी करेंगे। भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने प्रशिक्षण वर्ग के संबंध में समीक्षा बैठक की। इस वर्ग में प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट्, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मंत्री और विधायक पूरे समय उपस्थित रहेंगे। वर्ग में विभिन्न सत्रों में भाजपा के राष्ट्रीय नेता प्रतिभागियों का मार्गदर्शन करेंगे। संसद का सत्र होने के बावजूद कुछ सांसद भी वर्ग में उपस्थिति दर्ज कराएंगे। देहरादून में स्वामी राम तीर्थ आश्रम में होने वाले शिविर के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। शिविर स्थल को स्वामी राम तीर्थ नगर का नाम दिया गया है, जबकि आश्रम के अंदर प्रशिक्षण स्थान को पं$ दीन दयाल उपाध्याय परिसर व बौद्घिक सभागार को स्वामी विवेकानंद सभागार कहा गया है। सभी प्रतिभागियों को 27 जुलाई की रात्रि प्रशिक्षण स्थल पर रहना होगा।
 

पूर्व सैनिको ने शहीदों को दी श्रद्वांजलि

देहरादून। कांग्रेस पार्टी से जुड़े पूर्व सैनिक विभाग ने कारगिल जंग की अभूतपूर्व जीत शौर्य दिवस के अवसर पर गांधी पार्क स्थित युद्व स्मारक पर जाकर जावांज शहीदों की सहादतों को नमन करते हुए पुष्प अर्पित किये हैं।  इस महान दिवस के असवर पर प्रदेश अध्यक्ष कै बलवीर सिंह रावत ने कहा कि भारतीय सेना के द्वारा कारगिल की जंग विकट व कठिन भोगौलिक परिस्थितियों में लड़ी गई। विश्व की सबसे महत्वपूर्ण व कठिन जंग थी जिसमें बहादुर भारतीय सेना ने देश की आन बान और शान के लिए बड़ी सिद्वत से सीमाओं की रक्षा करके देश धर्म को निभाया है।
 
देश की रक्षा के लिए दुश्मनों के साथ बहाुदरी से लड़ते हुए करगिल में सहादत देने वाले जावांज सैनिक हमेशा के लिए अमर हो गए है। आज समस्त देशवासी उनकी सहादतों की याद में नतमस्तक होकर श्रद्वांजलि अर्पित करते है। इस मौके पर पूर्व सैनिकों ने 2 मिनट मौन रखकर करगिल के शहिदों को याद करते हुए नमन किया है। करगिल की जंग पर कै बलवीर सिंह रावत ने कहा कि करगिल जंग की जीत की देश की भावी सैनिक पीड़ी के लिए अनुकरणीय प्रेरणा है, अगर चीन भारत पर आक्रमण करता है तो हमारे भारतीय सेना के बहादुर जवान उसका डटकर मुकाबला करेंगे। देश की जनता सेना से यही अपेक्षा रखती है। इस अवसर पर कर्नल एस$पी$ शर्मा, कर्नल राजेन्द्र सिंह नेगी, कर्नल मोहन सिंह रावत, मेजर हरि सिंह चौारी, कै शर्मा, कै सुखदेव प्रसाद, सु. मेजर नारायण सिंह , सु. मेजर सुदर्शन ंिसह नेगी, सु$ मेजर चन्द्रमोहन भट्ट, सु$मे$ मोहन सिंह रावत, सु$ लक्ष्मण सिंह, हवदार बलवीर सिंह पंवार, हवलदार प्रीतम सिंह सजवाण, सु$ मे$ योगम्बर सिंह नेगी, हवलदार बलवन्त सिंह एवं सु$ शम्भू सिंह आदि उपस्थित रहे। 

पंजाब के सीएम की माता के निधन पर शोक प्रकट किया

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिह ने पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री कै अमरिन्दर सिंह की माता एवं पूर्व राजमाता पटियाला मोहिन्दर कौर के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिह ने अपने शोक संदेश में कहा कि स्व मोहिन्दर कौर कांग्रेस पार्टी की एक वरिष्ठ नेता थी जिनका निधन उनके परिवार की ही नहीं अपितु कंाग्रेस परिवार की भी अपूर्णीय क्षति है तथा इनकी रिक्ति सदैव कांग्रेस परिवार को महसूस होती रहेगी।
 
प्रीतम सिंह ने शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि पूरा कांग्रेस परिवार इस दु:ख की घडी में उनके साथ है, हम सभी कांग्रेसजनों की प्रार्थना है कि ईश्वर उनकी आत्मा को शांन्ति प्रदान करें तथा शोक संतन्त परिजनों को इस असहनीय दु:ख को सहन करने की शक्ति देवें। पूर्व राजमाता पटियाला मोहिन्दर कौरके निान पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिह की अध्यक्षता में कांग्रेसजनों ने एक शोक सभा का भी आयोजन किया। शोकसभा में कांग्रेसजनों ने स्व मोहिन्दर कौर को श्रद्घांजलि अर्पित करते हुए उनके निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए शोक संतन्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। 
 
शोक प्रकट करने वालों में प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, डॉ संजय पालीवाल, राजेन्द्रसिंह भण्डारी, डॉ केएस राणा, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, प्रमोद कुमार सिंह, राजेश शर्मा, सुरेन्द्र रांगड़, महन्त विनय सारस्वत, गिरीश पुनेड़ा, भरत शर्मा, गरिमा दसौनी, अमरजीत सिंह, सुनित सिह राठौर, टीका राम पाण्डे, हिमांशु रमोला, शोभा राम, पुप्पा पंवार, कमलेश रमन, कुंवर सिंह यादव, नेमचन्द, अनुराधा, मोहन काला, आदि प्रमुख रहे। 

नहीं करेंगे चीनी सामानों का इस्तेमाल: रामदेव

 देहरादून। योग गुरू बाबा रामदेव ने चीन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में चीनी इलेक्ट्रॉनिक सामानों का कारोबार तेजी पकड़ रहा है। उनके बुरे व्यवहार के बाद भी हम उनके प्रोडक्ट्स इस्तेमाल कर रहे हैं। अगर हमें चीन को सबक सिखाना है तो उसके सारे सामान का बहिष्कार करना होगा।योग गुरू स्वामी रामदेव ने कहा कि विजय दिवस पर सभी भारतवासियों को संकल्पित होना चाहिये कि वे चीनी वस्तुओं का इस्तेमाल नहीं करेंगे। उन्होंने कहा भारत में 25 लाख करोड़ रुपये के सामान बेच रही है चीन।
 
अगर बहिष्कार किया गया तो इस बार चीन को मुंह की खानी पड़ेगी।बाबा ने कहा, 26 जनवरी और 15 अगस्त को देशभक्ति दिखाने से कुछ नहीं होगा। चीनी शत्रुओं को उनके सामान का बहिष्कार कर हम सबक भी सिखा सकते हैं और देशभक्ति भी साबित कर सकते हैं। शौर्य दिवस पर उन्होंने अडानी पर भी वार किया और कहा कि ऐसी नौबत आ गई है कि उन्हें चीनी कंपनी के साथ 50 प्रतिशत का हिस्सेदार बनना पड़ रहा है।
 

सीएम ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

 देहरादून। करगिल विजय दिवस के मौके पर राजधानी के गांधी पार्क में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शिरकत कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी और कारगिल शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया। पूरे देश में मनाए जा रहे करगिल शोर्य दिवस के अवसर पर राजधानी में भी विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
 
जिस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विशेष रूप से शिरकत की। सीएम रावत ने राजधानी के गांधी पार्क में बने शौर्य स्थल पर दी शहीदों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही सीएम रावत ने शहीदों की वीरगाथा को दोहराते हुए शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया। इस अवसर पर सीएम रावत के समेत मसूरी विधायक गणेश जोशी, राजपुर रोड के विधायक खजान दास भी और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष अजय भट्ट विशेष तौर पर मौजूद रहे और शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

वंदे मातरम को न गाना देश के शहीदों का अपमान : मुख्यमंत्री

देहरादून। देशभर में बुधवार को करगिल विजय दिवस मनाया गया। स्वतंत्र भारत के लिए यह दिवस बहुत ही महत्वपूर्ण है। जिसके चलते प्रदेश में हर जगह कार्यक्रमों को आयोजित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इसी सिलसिले में सीएम रावत ने भी उत्तराखंड के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। शौर्य दिवस के मौके पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि जिस तरह से वंदे मातरम को लेकर देश मे कई जगहों पर दो मत हैं ये सही नहीं है। हालात ऐसे है कि कोर्ट तक ये बात चली गई कि वंदे मातरम गाएं कि ना गाएं।
 
साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ये उन शहीदों का अपमान है जो देश की आजादी के लिए हंसते-हंसते वंदे मातरम गाते-गाते सूली पर चढ़ गए। ये अपने आप में बहुत ही शर्मनाक बात है। इसी दौरान उन्होंने यह भी कहा कि, शहीद अपनी जान हमारी रक्षा के लिए दे रहे हैं और हम वंदेमातरम को लेकर लड़ाई लड़ रहे हैं यह अपने आप में बेहद शर्मनाक बात है। ये सब होना देश के लिए सही नहीं है। साथ ही त्रिवेंद्र ने कहा कि आज शहीद हुए जवानों की आत्मा बड़ी दुखी होगी क्योंकि वंदे मातरम को लेकर देश दो हिस्सों में बंटा हुआ है। इस मौके पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि वंदे मातरम न गाना शहीदों का अपमान है।

रामदेव अब थामेंगे त्रिवेंद्र सरकार का हाथ

देहरादून। कांग्रेस की केंद्र सरकार हो या राज्य की बहुगुणा सरकार या फिर हरीश रावत सरकार इन सभी सरकारों के समय में बाबा रामदेव पर 100 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए। लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि देश के अच्छे दिन आने के साथ-साथ स्वामी रामदेव के भी अच्छे दिन आ गए हैं।वहीं, अब प्रदेश में बीजेपी सरकार आने के बाद बाबा रामदेव के भी अच्छे दिन आ गए हैं और शायद यही कारण है कि अब रामदेव त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे। इसी दौरान राजधानी में एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमें स्वामी रामदेव के साथ उनके सहयोगी आचार्य आचार्य बालकिशन और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के साथ मंत्री हरक सिंह रावत भी मौजूद रहे।
 
बैठक का मुख्य एजेंडा राज्य में जड़ी-बूटी के काम को बढ़ावा देना, रोजगार देना और पलायन को रोकना था। इस दौरान बैठक में मुख्य रूप से जड़ी-बूटी, औद्यानिकी, योग और आयुर्वेद के क्षेत्र में राज्य के लोगों की आय कैसे बढ़ाई जाए इस विषय पर चर्चा की गई। इसके साथ ही पर्वतीय क्षेत्रों में पलायन रोकने, आमदनी के साधन बढ़ाने जैसे विषयों पर चर्चा की गई। वहीं बैठक में मुख्यमंत्री के साथ बाबा रामदेव उनके सहयोगी आचार्य बालकिशन, डॉ हरक सिंह रावत सहित अन्य विभागों के बड़े अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में बाबा जड़ी-बूटी के व्यापार को किस तरह से बढ़ावा दिया जाए साथ ही अन्य मुख्य विषयों पर चर्चा की गई।

प्रशासन ने शराब के ठेकों पर जड़ा ताला

 मसूरी। शहर में शराब की दुकानों को लेकर चल रहे विवाद में अब कुछ कमी नजर आ रही है। बता दें भाजयुमो ने धार्मिक स्थलों और स्कूल के आसपास शराब के ठेकों को बंद करवाने के लिए प्रशासन को चेतावनी दी थी। जिसके बाद पुलिस ने बुधवार को शराब की दुकानों के बाहर भारी पुलिस बल को तैनात कर उन्हें कुछ समय के लिए बंद कर दिया है। भारतीय जनता युवा मोर्चा ने मसूरी में धार्मिक स्थलों और स्कूलों के आसपास शराब के ठेकों को बंद करने की मांग को लेकर प्रशासन को एक माह का समय देते हुए, 26 जुलाई से धरना प्रदर्शन कर चक्का जाम करने की चेतावनी दी थी।
 
जिसके बाद प्रशासन और पुलिस ने शहर में शराब की दुकानों पर कुछ समय के लिए ताला जड़ दिया है। वहीं दूसरी ओर भाजयुमो कार्यकर्ता और स्थानीय लोग शराब की दुकानों के बाहर एकत्रित हैं। इस दौरान आबकारी विभाग के समझाने पर और शराब की दुकानों को जल्द हटाने के आश्वासन पर सभी प्रदर्शनकारियों ने धरना-प्रदर्शन स्थगित करने का निर्णय लिया है। बता दें मसूरी भाजपा मंडल के अध्यक्ष मोहन पेटवाल ने कहा है कि अगर शराब की दुकानों को जल्द स्थानांतरित नहीं किया गया तो हम उग्र आंदोलन का रास्ता अपनाएंगे।

करगिल दिवस पर देरादून पहुंची स्वाति सेमवाल

 ऋषिकेश। शहीद करगिल दिवस के मौके पर छोटे पर्दे की एक मशहूर अदाकारा स्वाति सेमवाल ऋषिकेश पहुंची। ऋषिकेश स्थित निशुल्क उड़ान स्कूल में गढ़वाल सभा मंच द्वारा उनका स्वागत किया गया। बता दें स्वाति सीरियल प्यार तूने क्या किया, ये है आशिकी और आहट में मुख्य किरदार निभा चुकी हैं। जल्द ही वे बॉलीवुड में भी अपनी किस्मत आजमाने जा रही हैं। इस मौके पर उन्होंने अपने कई अनुभव मीडिया से साझा किये।
 
टीवी से करियर शुरू करने वाली देहरादून की स्वाति सेमवाल बॉलीवुड में लीड रोल में अगले महीने बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना के साथ बरेली की बर्फी में नजर आने वाली हैं। मीडिया से बात करते हुए स्वाति सेमवाल ने बताया कि उत्तराखंड जैसे छोटे राज्य से निकलकर बड़े शहरों में नाम कमाने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। उत्तराखंड में लोगों के अंदर वो काबिलियत है, जिसके दम पर वह बड़े शहरों में जाकर उत्तराखंड का नाम रोशन कर रहे हैं।

अंतरराज्जीय ठग गिरोह का पर्दाफास

देहरादून। 17 जुलाई को थाना प्रेमनगर पर वादी आदित्य नाथ कुकरेती ने शिकायत दर्ज कराई। उनहोंने कहा कि मैं एक जूते के होल सेल का काम करता हूं, जिसके लिए मुझे इधर-उधर जाना पड़ता है। अपने इसी व्यवसाय के लिए मैं लगभग 1 माह पूर्व हरिद्वार गया था। वहां मेरी मुलाकात एक नदीम नाम के व्यक्ति से हुई, जिसने बताया कि वह रुडक़ी का रहने वाला है। उसने बातों-बातों में मुझसे नजदीकियां बढ़ाई और उसके पास एक दोमुंहा सांप होने की बात कही। उसने बताया कि इसकी कीमत 4 से 5 करोड़ रुपये है और इसका इस्तेमाल एक कंपनी द्वारा कैंसर के इलाज के लिए किया जाता है। शिकायतकर्ता ने  कहा कि उसने यह सांप मुझे 20 लाख रुपये में देने को कहा और मुझसे मेरा मोबाइल नंबर ले लिया। फिर 2 दिन बाद मेरे मोबाइल नंबर पर कॉल आया, उसने बताया कि मै एंटीक वर्ल्ड कंपनी दिल्ली से कंपनी का मैनेजर जितेंद्र गुप्ता बोल रहा हूं।
 
हमारी कंपनी एंटीक सामान जैसे कि हाइब्रीड बिच्छू और दोमुंहा सांप की डील करती है। पूछने पर उसने बताया कि मेरा नंबर उन्हें नेट से मिला। उन्होंने कहा कि वे ऐसे ही डील करते हैं। उसकी बातों में आकर कारोबारी ने पहले उस सांप को देखा फिर अलग-अलग तारीख पर लगभग 10 लाख रुपये ठगों को दे दिए। उसके बाद उस कंपनी के मैनेजर जितेंद्र गुप्ता और शकील फोरचनेर कार से आये। जिसने कारोबारी से उस सांप की 4 करोड़ रुपये में डील की। उन्होंने कहा कि शकील टेस्टर है, और हमारी कंपनी इसका टेस्ट करेगी, जिसकी फीस 8 लाख रुपये है। टेस्ट में पास हो जाने पर सांप की कीमत 4 करोड़ रुपये मिलेगी। इनकी बातों और लालच में आकर कारोबारी ने उन्हें 8 लाख रुपये और सांप दे दिया। जिस पर इन लोगों ने कारोबारी को पैसों की रसीद और एक मूवमेंट ऑर्डर दिया जो फर्जी था, फिर एक सप्ताह बाद इन्होंने कहा कि सांप टेस्टिंग के दौरान मर गया है और अब ये डील नहीं हो सकती। यह बात सुनकर कारोबारी परेशान हो गया जब उसने इस बारे में पता किया तो पता चला कि ये लोग फर्जी हैं, सारे के सारे आपस में मिले हुए हैं।
 
जब कारोबारी ने अपने पैसे वापस मांगे तो इन्होंने कहा कि तुम हमें नहीं जानते हो हम पूरे भारत में ऐसे ही लोगों को ठगते हैं। आज तक कोई हमारा कुछ नहीं कर पाया, अगर तूने भी ज्यादा पैसा-पैसा किया तो तुझे जान से मार देंगे। इस सूचना पर थाना प्रेमनगर पर मु.अ.सं. 164/17 धारा 420/467/468/471/506/120 बी भादवी बनाम नदीम, शकील, जितेंद्र गुप्ता एवम वीरेंद्र बरार के विरुद्ध दर्ज किया गया। इस ठगी की घटना पर एसएसपी  ने संज्ञान लेते हुए अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिये निर्देश दिए। जिस पर एसपी सिटी के निर्देशन में सीओ सिटी के निकट पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष प्रेमनगर के नेतृत्व में निम्न टीम का गठन किया गया। निम्न पुलिस टीम ने अपना मुखबिर तंत्र सक्रिय कर दिल्ली के संभावित स्थानों पर छापेमारी की। उस दौरान पुलिस को इन लोगों की नई साजिश का पता चला। उन्हें पता चला कि चारों अभियुक्त फोरचनेर कार में ठगी करने के लिए रुडक़ी-देहरादून की और गए हुए हैं। इसके बाद 25 जुलाई की रात को पुलिस ने शिमला बाईपास रोड से उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 
पूछताछ में आरोपियों ने कबूली सच्चाई
 
अभियुक्तों से गहनता से पूछताछ करने पर अपने अपराध को स्वीकारा। उन्होंने बताया कि उन लोगों ने एंटीक वर्ल्ड के नाम से लगभग 2 साल पहले एक कंपनी दिल्ली में खोली थी, पर यह नहीं चल पाई, जिसको बंद कर दिया गया। फिर पैसों के लालच में वीरेंद्र बरार ने उस कंपनी को लगभग 6 माह पूर्व फिर से फर्जी तरीके से खोला और अपने साथ सभी लोगों को पार्टनरशिप में लगाया और इसी तरह से लोगों को पैसो का लालच देकर ठगी का काम करते हैं। इसी तरह उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, हिमाचल, हरियाणा दिल्ली आदि विभिन्न राज्यों में लगभग 50 से 60 लोगों से ठगी करने के बात स्वीकार की है। जिनके संबंध में अभियुक्तों की कॉल डिटेल्स और बरामदा दस्तावेजों से ठगी के शिकार हुए अन्य व्यक्तियों के संबंध में जानकारी निकाली जा रही है। दोमुंहे सांप के बारे में पूछने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि सांप को इंजेक्शन देकर मार देते हैं ताकि पार्टी को दिखाना पड़े तो उनको दिखा सके। इसलिए उस सांप को भी मार दिया था और बाद में नदी में फेंक दिया था। आरोपियों के पास से नकदी ग्यारह लाख रुपये, फर्जी कंपनी की रसीद, मोहर, इलेक्ट्रॉनिक वैट मशीन, घटना में प्रयुक्त फोरचनेर कार बरामद हुई। इन लोगों के खिलाफ आगरा, मुम्बई, दिल्ली आदि में भी अभियोग दर्ज होने की जानकारी प्राप्त हुई है। अभियुक्तों को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

आरोपी को पांच वर्ष की कैद

  हरिद्वार। चतुर्थ एडीजे वरुण कुमार ने फर्जी संस्था बनाकर धोखाधड़ी से सरकारी धन हड़पने के मामले में आरोपी को दोषी करार दिया है। कोर्ट ने दाखिल फौजदारी अपील में आरोपी बुजुर्ग को पांच वर्ष की सश्रम कैद और सात हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।शासकीय अधिवक्ता नीरज कुमार गुप्ता और राजकुमार सिंह ने बताया कि 1998 में बहादराबाद क्षेत्र के गांव रोहालकी निवासी आरोपी कैलाश चन्द्र पर कई ग्रामीणों ने फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाया था। आरोप लगाया कि आरोपी कैलाश चन्द्र ने उनके फर्जी कागजात तैयार और हस्ताक्षर कर एक फर्जी संस्था बनाई। उक्त फर्जी संस्था बनाकर एक सरकारी संस्था से लोन लेता चला आ रहा है।

 

यहीं नही, ग्रामीणों ने आरोपी कैलाश चन्द्र पर गांव के पूर्व प्रधान और यूपी खादी ग्राम उद्योग बोर्ड हरिद्वार के अधिकारियों से सांठगांठ कर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाया था। जबकि उक्त संस्था के नाम से गांव में कोर्ठ संस्था कभी नहीं रही है। निचली कोर्ट ने शिकायतकर्ता खजान सिंह की लिखित शिकायत पर सुनवाई के बाद आरोपी कैलाश चन्द्र पुत्र हेम सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस को जांच के आदेश दिए थे।विवेचना अधिकारी ने लगाई थी एफआरमामले में निचली कोर्ट के आदेश पर हुई जांच के बाद पुलिस जांच अधिकारी ने आरोपी को क्लीन चिट दे दी थी। तत्कालीन सीओ सदर ने क्लीनचिट को रद्द कर दोबारा विवेचना के आदेश दिए थे।000निचली कोर्ट ने दिया था दोषमुक्त करारवर्ष 1998 की घटना के विचाराधीन मामले में सुनवाई के बाद निचली कोर्ट ने तीन वर्ष पूर्व आरोपी कैलाश चन्द्र को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया था। सरकारी पक्ष ने दोषमुक्त के निर्णय के खिलाफ सेशन कोर्ट में अपील दायर की थी।

शराब की दुकान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन

हरिद्वार। गैंडीखाता में देशी शराब की दुकान के खिलाफ बुधवार को महिलाओं ने प्रदर्शन किया। महिलाओं का दुकान बंद करने की मांग की। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने महिलाओं से वार्ताकर किसी तरह शांत कराया। शराब की दुकानों के खुलने का विरोध जिले के हर क्षेत्र में जारी है। जनता के विरोध के चलते कुछ दुकानें आज तक भी नहीं खुल पाई हैं।
 
बुधवार को गैंडीखाता क्षेत्र में खुली देशी शराब की दुकान के खिलाफ महिलाओं ने मोर्चा खोल दिया। महिलाओं का आरोप है कि क्षेत्र में शराब के दुकान के खुलने से युवक पथ भ्रष्ट हो रहे हैं। महिलाओं के विरोध की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस अधिकारियों ने मामले को जिलाधिकारी के सम्मुख रखने की बात कही। इसके बाद महिलाओं का गुस्सा शांत हुआ। र्प्रदर्शन करने वालों में उर्मिला पोखरियाल, कौशल्या देवी, लक्ष्मी देवी, शशि, रोशनी देवी, विमला देवी, सुमित्रा देवी, कविता रावत, कोरा देवी, जमुनी देवी आदि मौजूद थी।

गौरक्षा वाहिनी ने लिया गौरक्षा करने का संकल्प

देहरादून। गौरक्षा वाहिनी की एक बैठक में गौरक्षा करने के लिए सभी से मिलकर कार्य करने का आहवान किया गया। इस अवसर पर बैठक की अध्यक्ष राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण कुमार ने की। बैठक में गौरक्षा से संबंधित विभिन्न मुददों पर चर्चा की गई और दून में गौ हेतु गौशाला की स्थापना करने पर सहमति व्यक्त की गई। इस अवसर पर बैठक में गौरक्षा के लिए आजन्म प्रण लिया गया और अगर गौरक्षा के नाम पर कोई उपद्रव करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
 
इस अवसर पर सभी पदाािकािरयों एवं सदस्यों ने भाग लिया। इस अवसर पर कहा गया कि यदि कोई गौरक्षा के नाम पर परेशान करता है तो वह संगठन से संपर्क कर सकते है। इस अवसर पर बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष अब्दुल वहाब, संगठन मंत्री अनुराधा, प्रदेश मंत्री बबीता पयाल, मीडिया प्रभारी नवीन बाानी, सह मंत्री पूर्णिमा वर्मा आदि मौजूद थे।

कारगिल शौर्य दिवस पर किया पौधारोपण

देहरादून। राजकीय बालिका इंटर कालेज कारगी में ऐ मेरे वतन के लोगों जरा आंख में भर लो पानी, जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी, की पंक्तियों के साथ कारगिल दिवस पर उन भारतीय वीर जांबाज जवानों की शहादत और विजय गाथा याद करते हुए वृक्ष मित्र अभियान के संयोजक वृक्ष मित्र डा$ त्रिलोकचन्द सोनी के नेतृत्व में प्रधानाचार्य हेमवती नौटियाल की अध्यक्षता में कारगित दिवस मनाया। 
   
कारगिल शहीद जवानों की स्मृति में विद्यालय परिसर में विभिन्न प्रजाति के पौधों का रोपण किया। इस अवसर पर  बोगनबाल्यो, मोरपंखी, आंवला, कपूर के पौधों का रोपण छात्राओं एंव शिक्षिकाओं व प्रधानाचार्य द्वारा किया गया और विद्यालय में एक गोष्ठी भी की गई जिसमें छात्राओं को कारगिल शहीद जांबाज जवानों की वीरगाथा से प्रेरित किया गया तथा देश के प्रहरी तुम हमें स्वतंत्र जीना सिखाया है।
 
बर्फीले पहाड़ों में रहते हो, हमारे हिफाजत करते तुम नारे लगाकर जन जन को जागरूक व प्रेरित किया गया और रैली भी निकाली गई। इस अवसर पर सुलोचना रावत, विद्या शर्मा, रजनी घिल्डियाल, सीमा रावत, रंजना फर्सवाण, फौजिया, शालू मेहरा, पूनम भटट, केसिला आदि शामिल थे।

सरकार के ओडीएफ पर हो रहा झूठा प्रचार

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने खुले में शौच करने पर राज्य को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) का खूब प्रचार किया जा रहा है, लेकिन सरकार का यह प्रचार एकदम झूठा साबित हो रहा है।
 
उनका कहना है कि स्वाडी गांव में जिस दलित किसान ने आत्महत्या की है, उसके घर पर शौचालय भी नहीं है, और सरकार खुले में शौच मुक्ति का व्यापक स्तर पर प्रचार कर रही है। आज भी कई ऐसे गांव है जहां पर शौचालय नहीं है। प्रदेश सरकार के मुखिया को भी इस बात पर सोचना होगा।
 

.