Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

तीन घंटे में दो चेन लूट

 देहरादून: बेखौफ चेन स्नेचर दून में शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण इलाकों में भी वारदातों को अंजाम देने लगे हैं। रविवार को जिले में तीन घंटे के भीतर दो महिलाओं की चेन लूट ली गई। पहली घटना शहर के वसंत विहार में हुई तो दूसरी घटना विकासनगर में। वारदातों के बाद पुलिस ने संबंधित इलाकों में घंटों चेकिंग की, मगर लुटेरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी।

पहली वारदात वसंत विहार थाना क्षेत्र में जीएमएस रोड पर अनुपम विहार में हुई। यहां पंजाब से अपने दामाद मंजीत सिंह घर आई सरोज मल्होत्रा (62) दोपहर करीब डेढ़ बजे नाती को घर के बाहर टहला रही थीं। तभी पीछे से आए एक युवक ने झपट्टा मार कर उनके गले से सोने की चेन लूट ली और पीछे से आई एक बाइक पर बैठकर फरार हो गया। वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस ने जीएमएस रोड, चकराता रोड समेत शहर के तमाम हिस्सों में चेकिंग शुरू कर दी, मगर लुटेरों का कुछ पता नहीं चला।

दूसरी वारदात विकासनगर के एनफील्ड ग्राम में हुई। जानकारी के अनुसार लक्ष्मणपुर निवासी रमेश चंद भाटिया पत्नी निशा के साथ किसी रिश्तेदार के यहां भोजावाला गए थे। निशा और रमेश शाम को वहां से पैदल ही घर आ रहे थे। करीब साढ़े चार बजे वह एनफील्ड स्कूल के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से आए एक बाइक सवार ने निशा के गले से सोने की चेन झपट ली और फरार हो गया। वारदात के बाद विकासनगर, हरबर्टपुर, डाकपत्थर क्षेत्र में घंटों चेकिंग की गई, मगर लुटेरे पुलिस के हाथ नहीं लगे।

करनपुर सीवरेज योजना का शिलान्यास

देहरादून: अमृत योजना के तहत करनपुर सीवरेज योजना का पेयजल मंत्री प्रकाश पंत ने रविवार को शिलान्यास किया। इस कार्य पर 5.28 करोड़ रुपये खर्च होंगे। करनपुर स्थित एक वैडिंग प्वाइंट में आयोजित कार्यक्रम में काबीना मंत्री ने कहा कि जल संरक्षण के प्रति हमें गंभीर होना पड़ेगा, वरना भविष्य में आने वाली पीढि़यों को भारी जल संकट से जूझना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि जल संरक्षण और वाटर रिचार्ज के लिए हमें ऐसा ही अभियान चलाने की जरूरत है, जैसे स्वच्छता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चलाया। सरकार जल संरक्षण को लेकर प्रभावी कार्ययोजना बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पानी को लेकर जहां भी समस्या है, उसका समाधान शीघ्र किया जाएगा।

राजपुर रोड विधायक खजान दास ने कहा कि करनपुर में सीवरेज योजना बनने के बाद बड़ी आबादी को सीवर की समस्या से निजात मिलेगी। रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने भी अपने विचार रखे। इस मौके पर भाजपा के प्रदेश मंत्री सुनील उनियाल गामा, पूर्व दर्जाधारी विवेकानंद खंडूड़ी, पार्षद विनय कोहली, अजय सिंघल, पूर्व पार्षद सचिन गुप्ता, पुनीत मित्तल, महेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

फरीदाबाद का इंजीनियर गंगा में डूबा,मौत

ऋषिकेश: वीकेंड पर घूमने आए गुड़गांव की एक कंपनी में इंजीनियर की शिवपुरी गंगा तट पर नहाते वक्त डूबने से मौत हो गई। छह दोस्तों के साथ वह यहां घूमने आया था। पुलिस और एसडीएआरएफ की टीम ने काफी मशक्कत के बाद इंजीनियर का शव बरामद किया।

मुनिकीरेती कौड़ियाला इको टूरिज्म जोन में वीकेंड पर अन्य प्रांतों से आए पर्यटकों की काफी भीड़ थी। गुड़गांव की एक कंपनी में इंजीनियर के पद पर तैनात 26 वर्षीय नीरज कुमार पुत्र रतीराम निवासी भगत ¨सह कॉलोनी वल्लभगढ़ जिला फरीदाबाद हरियाणा दोस्तों के साथ यहां घूमने आया था। रविवार की सायं करीब चार बजे सभी दोस्त शिवपुरी गंगा तट पर नहा रहे थे। इस बीच नीरज नहाते हुए नदी की धारा में थोड़ा आगे बढ़ गया। तभी वह संतुलन खो बैठा और तेज लहरों के साथ बहने लगा। देखते ही देखते वह आंखों से ओझल हो गया। साथी युवकों ने पुलिस को घटना की सूचना दी।

मुनिकीरेती थाने के प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार ने जल पुलिस और एसडीआरएफ बुलाकर युवक की तलाश शुरू की। करीब दो नीरज का शव बरामद किया गया। पुलिस ने बताया कि नीरज डेंटल हाइड्रोलिक कंपनी मानेश्वर गुड़गांव कंपनी में इंजीनियर है। बाकी साथी भी वहीं काम करते हैं। मृतक के परिजनों को सूचित कर दिया गया है। शव राजकीय चिकित्सालय नरेंद्रनगर भिजवाया गया है।

60 फीसद ने छोड़ी एसएससी परीक्षा

देहरादून: कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की गैर तकनीकी पदों के लिए रविवार को दो पालियों में परीक्षा आयोजित की गई। दून में परीक्षा के लिए कुल 22 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। जिसमें तकरीबन 60 फीसद परीक्षार्थी गैरहाजिर रहे।प्रथम पाली में महज 3785 परीक्षार्थियों ने ही परीक्षा दी। जबकि 6227 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

द्वितीय पाली में अनुपस्थित परीक्षार्थियों की संख्या और भी अधिक बढ़ गई। द्वितीय पाली में 3932 परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंचे। जबकि 6580 ने परीक्षा छोड़ी। अपर जिलाधिकारी वित्त वीर सिंह बुदियाल ने बताया कि परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न हुई। दून में किसी भी तरह की गड़बड़ी की सूचना नहीं आई। परीक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

बंद कमरे में सेंध लगा लाखों उड़ाए

ऋषिकेश: चारधाम यात्रा बस टर्मिनल के समीप आदर्श ग्राम में ऊर्जा निगम के रिटायर्ड इंजीनियर के घर पर किराये पर रहने वाली महिला के कमरे में चोरों ने सेंध लगाकर लाखों की नकदी व जेवरात पर हाथ साफ कर दिया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक ग्राम स्यूंठा, पौड़ीखाल टिहरी गढ़वाल निवासी जशोदा देवी अपनी बहू के साथ आदर्श ग्राम में रिटायर्ड इंजीनियर सुंदर लाल नौटियाल के मकान पर तीसरी मंजिल में किराये पर रहती हैं। तीन दिन पूर्व वह विवाह समारोह में शामिल होने अपने गांव स्यूंठा गई थीं।

रविवार सुबह रिटायर्ड इंजीनिर सुंदर लाल नौटियाल के पुत्र प्रदीप नौटियाल जब छत पर गए तो तीसरी मंजिल में किरायेदार के कमरे का ताला खुला हुआ पाया। कमरे में झांक कर देखा तो चोरों ने कमरे को पूरी तरह से खंगाला हुआ था और सभी सामान इधर-उधर बिखरा हुआ था। प्रदीप नौटियाल ने किरायेदार जशोदा देवी व कोतवाली पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच के साथ कमरे में बिखरे सामान से ¨फगर ¨प्रट एकत्र किए।

सूचना पाकर दोपहर में यहां पहुंची जशोदा देवी ने बताया कि वह करीब चार लाख रुपये की नकदी व कुछ जेवरात यहां आलमारी में बंद कर गांव गई थीं। चोरों ने लोहे की आलमारी को भी जमीन में लिटा कर उसे तोड़ डाला और आलमारी के लॉकर से नकदी व जेवरात उड़ा लिए। इस संबंध में भवन स्वामी के पुत्र प्रदीप नौटियाल ने कोतवाली पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

आज और कल रूट प्लान देखकर निकलें

देहरादून: आज से विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र शुरू हो रहा है। जिसके चलते सोमवार और मंगलवार को विधानसभा क्षेत्र से विभिन्न रूट डायवर्ट रहेंगे। जौलीग्रांट से शहर की ओर आने वाली सिटी बसें कैलाश अस्पताल से यू टर्न ले लेंगी तो अन्य भारी वाहन दूधली मार्ग से होकर जाएंगे। हालांकि, स्थानीय निवासियों के वाहनों को विशेष परिस्थितियों में ही डायवर्ट किया जाएगा। एसपी ट्रैफिक धीरेंद्र गुंज्याल ने बताया कि अनुमति प्राप्त जुलूस केवल बन्नू स्कूल से चलेंगे और उनके वाहन भी बन्नू स्कूल में ही पार्क होंगे। रूट डायवर्जन सुबह आठ बजे से विधानसभा सत्र खत्म होने तक जारी रहेगा।

यह होगा रूट प्लान

-देहरादून से हरिद्वार जाने वाले वाहन नेहरू कॉलोनी फव्वारा चौक से किद्दूवाला, रायपुर रोड, स्पो‌र्ट्स कॉलेज, बालावाला, मियावाला होते हुए जाएंगे।

-मसूरी से हरिद्वार, ऋषिकेश, टिहरी, चमोली जाने वाले वाहन ईसी रोड, फव्वारा चौक, नेहरू ग्राम, बालावाला और हर्रावाला होते हुए गंतव्य को जाएंगे।

-राजपुर से आइएसबीटी की ओर जाने वाले वाहन घटाघर, सहारनपुर चौक होते हुए चलेंगे।

-धर्मपुर चौक से आइएसबीटी को जाने वाले वाहन माता मंदिर रोड होकर जाएंगे।

-मोहकमपुर से मसूरी जाने वाले वाहन जोगीवाला, ¨रग रोड, लाडपुर, सहस्त्रधारा क्रॉसिंग, आइटी पार्क होते हुए जाएंगे।

-मोहकमपुर से दून आने वाले वाहन जोगीवाला, छह नंबर पुलिया, आराघर, ईसी रोड होते हुए चलेंगे।

-डायवर्जन के समय रिस्पना पुल से शहर की ओर आने वाले वाहन वाया कारगी चौक होकर जाएंगे।

-मोथरोवाला तिराहा से बाईपास रोड पर केवल दुपहिया वाहनों को ही चलने की अनुमति होगी।

-सत्र के दौरान आइएसबीटी से डोईवाला जाने वाले भारी वाहन कारगी चौक से और डोईवाला से देहरादून की ओर आने वाले वाहन डोईवाला से दूधली की ओर डायवर्ट किए जाएंगे।

-डिफेंस कॉलोनी जाने वाले व्यावसायिक वाहन नेहरू कॉलोनी थाना कट से पुरानी चौकी बाईपास की ओर डायवर्ट होंगे।

यहां लगेंगे बैरियर

प्रगति विहार, शास्त्री नगर, हरिद्वार बाईपास, डिफेंस कॉलोनी

व्यापारी के घर लूट में तीन शातिर गिरफ्तार

विकासनगर: कोतवाली पुलिस ने 24 मार्च को हरबर्टपुर में व्यापारी के घर लूट मामले में तीन शातिर बदमाशों को दबोचा है। उनके पास से लूटे गए कुंडल समेत चाकू भी बरामद हुआ है। आरोपियों में दो हिमाचल व एक सहारनपुर निवासी है। सहारनपुर निवासी आरोपी के खिलाफ थाना सरसावा क्षेत्र में बैंक लूट के दो मामले दर्ज हैं, जबकि हिमाचल के आरोपी के खिलाफ चोरी व नकबजनी के आठ अभियोग दर्ज हैं। पुलिस ने रविवार को तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया।

बता दें कि 24 मार्च को तीन-चार बदमाशों ने हरबर्टपुर में व्यापारी रोशनलाल महावर पुत्र देवी सहाय के घर में घुसकर उनकी मां के कान के कुंडल लूट लिए थे और व्यापारी पुत्रों से मारपीट की थी। एसपी देहात श्वेता चौबे व सीओ पंकज गैरोला द्वारा गठित पुलिस टीम ने उत्तर प्रदेश, हिमाचल व जिले के संभावित ठिकानों पर दबिश दी। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकालने के साथ ही पुलिस ने सर्विलांस के जरिये मौके का डाटा उठाने पर कुछ सुराग उनके हाथ लगे।

शनिवार की रात पुलिस को पांवटा रोड हरबर्टपुर में एक बाग में संदिग्ध व्यक्ति के मौजूद होने की सूचना मिली। पुलिस टीम ने पांवटा रोड शक्तिनहर पुल के पास एक होटल के पीछे बाग में किसी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे तीन युवकों को दबोच लिया। पूछताछ में आरोपियों ने अपनी पहचान अमर कुमार पुत्र धर्मनाथ, रोहित कुमार उर्फ डिब्बा पुत्र नर्गनाथ निवासीगण त्रिशला गुरुद्वारा थाना पांवटा हिमाचल व इसराइल पुत्र वहीद अली निवासी बडोली थाना नागल जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश के रूप में बताई। सख्ती से पूछताछ में आरोपियों ने हरबर्टपुर में व्यापारी रोशन के यहां लूट की बात स्वीकारी। बदमाशों ने कहा कि वे लूटी गई चेन व कुंडल बेचने की फिराक में थे। तलाशी में व्यापारी के यहां से लूटे गए जेवर व एक चाकू बरामद किया गया। पुलिस ने रविवार को तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है।

आरोपियों का आपराधिक इतिहास

आरोपी रोहित उर्फ डिब्बा पर देहरादून जिले के राजपुर, क्लेमेनटाउन, वसंत विहार, पटेल नगर व कैंट क्षेत्रों में अलग- अलग चोरी व नकबजनी के आठ मुकदमे पंजीकृत हैं। दूसरे आरोपी इसराइल ने वर्ष 2013 में थाना झबरेड़ा क्षेत्र में सीनियर सिटीजन से 50 हजार रुपये की लूट की थी। आरोपी इसराइल पर थाना सरसावा सहारनपुर में बैंक लूट के वर्ष 2014 में दो अभियोग दर्ज हैं। आरोपी इसराइल को सहारनपुर के बिहारीगढ़ थाना पुलिस ने लूट व चोरी मामलों में जेल भी भेजा था।

19 लोगों को मिला उत्तराखंड रत्न

देहरादून: ऑल इंडिया कांफ्रेंस ऑफ इंटलेक्च्युअल की ओर से 36वां उत्तराखंड रत्न सम्मान समारोह आयोजित किया गया। समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले 19 लोगों को उत्तराखंड रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। इस मौके पर रोल ऑफ इंटलेक्च्युअल इन ह्यूमन राइट पर गोष्ठी का आयोजन भी किया गया। जिसमें जस्टिस राजेश टंडन सहित अन्य बुद्धिजीवियों ने अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम में सोनिया आनंद, डॉ. ज्योति, मोहम्मद उमर, प्रो. शशि प्रभा, सतीश अग्रवाल, प्रो. राकेश चंद्र अग्रवाल, अंजलि नौरियाल, राजेंद्र कुमार अग्रवाल, अंजलि वर्मा, राजपाल सिंह तोमर, डॉ. आइपी पांडे, डॉ. अरविंद, डॉ. जेपी शर्मा, अवनीश चंद्र, किशोर अरोड़ा, आचार्य सुमन, सिद्धार्थ अग्रवाल, केसी श्रीवास्तव, डॉ.मुक्ति नईम को अपने-अपने क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए उत्तराखंड रत्न से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि सम्मानित होने वाले विभिन्न क्षेत्रों में अपना अहम योगदान दे रहे हैं। ऐसे ही बुद्धिजीवियों के प्रयासों से समाज सशक्त होता है।

इससे पूर्व ह्यूमन राइट में इंटलेक्च्युअल का रोल विषय पर आयोजित गोष्ठी में उत्तराखंड लॉ कमीशन के चेयरमैन जस्टिस राजेश टंडन ने वर्तमान समय में ह्यूमन राइट की भूमिका और महत्व पर अपने विचार व्यक्त किए। छत्तीसगढ़ के पूर्व गवर्नर ले. केएम सेठ ने ह्यून राइट के सिमटते दायरे पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसका दायरा बढ़ाने की आवश्यकता है। इस मौके पर डॉ. एस फारुख, प्रो.पीके गर्ग, पीएन शर्मा, अशोक कुमार शर्मा, प्रदीप जैन, एचएस शर्मा, एसके शर्मा आदि मौजूद रहे।

चारधाम यात्रा को चार दिन में 13 हजार श्रद्धालु पहुंचे

ऋषिकेश: चारधाम यात्रा के लिए विभिन्न प्रांतों से अब तक करीब 13 हजार श्रद्धालु उत्तराखंड पहुंच चुके हैं। परिवहन विभाग की ओर से कुल 1153 वाहनों को ग्रीन कार्ड जारी किए गए हैं। रविवार को रोटेशन यात्रा समिति ने 30 बसों में 950 यात्री रवाना किए। जबकि 2861 श्रद्धालुओं का फोटोमैट्रिक पंजीकरण किया गया।दो धाम के कपाट खुलने के बाद महज चार दिन में ऋषिकेश से यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या राहत देने वाली है। यात्रा से जुड़े तमाम विभाग अपने-अपने स्तर पर सक्रिय हैं। इनके द्वारा जो प्रतिदिन आंकड़े जारी किए जा रहे हैं वह संतोषजनक हैं।

चारधाम यात्रा के लिए नौ परिवहन कंपनियों की संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति की ओर से रविवार को 30 बसों में 950 श्रद्धालु रवाना किए गए हैं। सोमवार की सुबह के लिए 29 बसों में नौ सौ यात्री बुक किए जा चुके हैं। सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय द्वारा अब तक 1153 वाहनों को ग्रीन कार्ड जारी किए जा चुके हैं। जिनमें 496 बसें, 34 मिनी बसें, 252 मैक्सीकैब और 371 टैक्सी शामिल हैं। एआरटीओ कार्यालय के मुताबिक रविवार को 167 वाहनों को ग्रीन कार्ड जारी किए गए। जिनमें 69 बस, पांच मिनी बस, 47 मैक्सीकैब, 46 टैक्सी शामिल हैं।

शासन द्वारा किसी भी माध्यम से यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं का फोटोमैट्रिक पंजीकरण अनिवार्य घोषित किया गया है। त्रिलोक सिक्योरिटी सिस्टम के द्वारा यह कार्य किया जा रहा है। रविवार को ऋषिकेश सेंटर में 1480 यात्रियों का पंजीकरण किया गया। ऋषिकेश और हरिद्वार सहित दोबाटा, जानकी चट्टी, हीना में शनिवार तक सेंटर काम कर रहे थे। रविवार से अगस्त्यमुनि, गुप्तकाशी व सोनप्रयाग में भी सेंटर खुल गए हैं। सिक्योरिटी सिस्टम द्वारा रविवार को 2861 श्रद्धालुओं का पंजीकरण किया गया। अब तक सभी केंद्रों में 12987 यात्री पंजीकृत किए जा चुके हैं।

पत्नी से मारपीट के बाद गला घोंटकर हत्या

विकासनगर। सनकी पति ने शक के चलते अपनी पत्नी से मारपीट के बाद चुन्नी से गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपी खुद ही रिश्तेदार के घर पहुंचा और पत्नी की हत्या की जानकारी दी। इसके बाद रिश्तेदार की सूचना पर पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मुफ्तीवाड़ा में मोहम्मद खान अपनी पत्नी सितारा (32वर्ष) एवं छह बच्चों के साथ रहता था। कोतवाली पुलिस के अनुसार शनिवार रात को मोहम्मद खान ने अपने रिश्तेदार के घर पहुंचकर सूचना दी कि उसने अपनी पत्नी सितारा की हत्या कर दी है। इस सूचना पर रिश्तेदारों में हड़कंप मच गया। रिश्तेदार की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

घटनास्थल पर महिला का शव पड़ा हुआ था तथा शव के समीप ही बच्चे रो-बिलख रहे थे। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि आरोपी मोहम्मद खान को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था। इसी कारण आए दिन पत्नी से मारपीट भी करता रहता था। घटना वाली रात भी उसने पत्नी को बुरी तरह पीटा और उसकी चुन्नी से गला घोंटकर हत्या कर दी। कोतवाली प्रभारी ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिश्तेदार की सूचना पर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। हत्यारोपी पति का पूछताछ के बाद चालान किया जा रहा है।

मोहम्मद खान ने दो शादियां की थीं। पहली पत्नी से उसे एक पुत्र था, जबकि दूसरी पत्नी सितारा से पांच पुत्र-पुत्रियों का जन्म हुआ। मां सितारा की हत्या और पिता मोहम्मद खान के जेल जाने से सभी बच्चों के समक्ष रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।मोहल्लेवासियों की मानें तो हत्यारोपी मोहम्मद खान अपना कारोबार भी न चलने से परेशान था। इसी कारण पत्नी एवं बच्चों पर जुल्म करता था। मोहल्लेवासियों ने उसकी पत्नी को साफ चरित्र की महिला बताते हुए दावा किया कि वह घर से बाहर निकलना भी पसंद नहीं करती थी।

नाटक के माध्यम दी पर्यावरण संरक्षण का संदेश

उत्तरकाशी। नमामि गंगे परियोजना के तहत कलाकारों ने नाटक प्रस्तुत कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। नाटक के माध्यम से बताया गया कि मानव जानबूझ कर प्रकृति का अत्यधिक दोहन कर रहा है। लेकिन जब वह आपदा में सबकुछ खो देता है। तब वह प्रकृति के संरक्षण के लिए कदम उठाता है। नमामि गंगे परियोजना के तहत उत्तरकाशी सहित गंगोत्री धाम में पर्यावरण संरक्षण के लिए नाटक का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार यह कार्यक्रम गंगोत्री से गंगा सागर तक चलेगा।

विभिन्न स्थानों पर इस नाटक का आयोजन किया जाएगा। शनिवार देर शाम नाटक का मंचन उत्तरकाशी रामलीला मैदान में किया गया। नाटक के माध्यम से दिखाया गया कि मानव लगातार प्रकृति का दोहन कर रहा है। इससे पशु पक्षी उससे नाराज हैं। जिस कारण पशु पक्षी मानव को मारने दौड़ते हैं। जिसमें पशुओं का नेतृत्व कुत्ता, पक्षियों का नेतृत्व कौआ करता है। अंत में लड़ाई इन्द्र के दरबार तक पहुंचती है।

जहां सबके बीच समझौता होता है। इसके कुछ दिन बाद पृथ्वी पर आपदा आती है। इसमें मानव अपने पत्नी और बच्चे सहित सबकुछ खो देता है। उसके बाद मानव का हृदय परिवर्तन होता है और वह प्रकृति के संरक्षण का संकल्प लेता है। इस मौके पर लेखक, निर्देशक अनुराग वर्मा, देव तिवारी, नितीश कुलेठा, आशीष वर्मा, अभिषेक डोभाल भारती,गीत, अंशिका, शिल्पा,यात्रा के संयोजक हरीश सेमवाल, जयवीर चौहान, जय प्रकाश राणा, बालशेखर नौटियाल, नागेन्द्र चौहान, अरविंद बिष्ट आदि मौजूद रहे। फोटो कैप्शन- 30 यूकेआई 01 उत्तरकाशी रामलीला मैदान में नाटक के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया।

उपला टकनौर में ओलावृष्टि से सेब को नुकसान

उत्तरकाशी।उपला टकनौर में बागवानों को एक बार फिर ओलावृष्टि की मार झेलनी पड़ी है। रविवार को दोपहर से शाम तक क्षेत्र में जमकर ओलावृष्टि हुई। इससे सेब के पेड़ों पर लगे फूल झड़ गए हैं और एक बार फिर सेब बागवानों को नुकसान होने का डर है। उपला टकनौर के हर्षिल, धराली, मुखबा, झाला, सुक्की गांव के बागवानों को एक बार फिर सेब उत्पादन का नुकसान झेलना पड़ सकता है।

एक माह पूर्व हुई ओलावृष्टि के कारण वहां पर सेब के पेड़ों पर लगे फूल झड़ गए थे। वहीं रविवार को बागवानों को दोहरी मार झेलनी पड़ी। क्योंकि रविवार को दोपहर से लेकर शाम तक क्षेत्र में जमकर ओलावृष्टि हुई। बागवान संजय पंवार, कुशाल सिंह नेगी, सुधांशु सेमवाल, महेश पंवार का कहना है कि लगातार हो रही ओलावृष्टि से सेब के उत्पादन को बहुत नुकसान पहुंचा है।

पहले ही एक बार हो चुकी ओलावृष्टि से नुकसान हो चुका है। अब सेब के पेड़ों पर फ्लाउरिंग और कटिंग का समय है। लेकिन फूल झड़ने के कारण अब उत्पादन पर खतरा मंडराने लगा है। उन्होंने शासन-प्रशासन से मांग की है कि बागवानों के इस नुकसान की भरपाई की जाए।

घटिया काम करने वाली संस्था को करें ब्लैक लिस्ट: नेगी

नई टिहरी। टिहरी जिले की विभिन्न सड़कों का निर्माण कार्य करवा रहे एशियन डेवलपमेंट बैक (एडीबी) के घटिया निर्माण पर विधायक धन सिंह नेगी ने नाराजगी जताई है। उन्होंने एडीबी अधिकारियों को घटिया निर्माण करने वाली संस्था को ब्लैक लिस्ट में डालने को कहा है। रविवार को पत्रकारों से बातचीत में टिहरी विधायक धन सिंह नेगी ने कहा कि सरकार ने एडीबी को जिले में कई मोटर मार्गों का निर्माण कार्य दिया है, लेकिन विभाग द्वारा जिन संस्थाओं को मोटरमार्गों का कार्य सौंपा गया है, वह गुणवत्ता परक कार्य नहीं करते है।

क्षेत्रीय लोग अक्सर सड़कों के घटिया निर्माण कार्य की शिकायत करते हैं। उन्होंने इस संबंध में एडीबी अधिकारियों को मानकों के अनुरूप सड़क निर्माण कार्य कराने को कहा। कहा कि जो संस्था मोटरमार्गों का मानकों के अनुरूप कार्य नहीं करती है उसे तत्काल ब्लैक लिस्टेड किया जाए।विधायक ने ग्रामीणों की आजीविका कृषि एवं उद्यान से जोड़ने के लिए कृषि उद्यान अधिकारियों को निर्देश दिए।

कहा कि चंबा-मसूरी फल पट्टी के करीब 470 किसानों को भूमिधरी अधिकार देने के लिए वह डीएम से वार्ता करेंगे। उन्होंने भागीरथीपुरम, कोटी कॉलोनी व नई टिहरी शहर में बिजली बचत के लिए नई एलईडी लाईट लगाने को कहा।इस मौके पर दिनेश डोभाल, रामलाल नौटियाल, गोपीराम चमोली, विक्रम कठैत, शीशराम थपलियाल, गोपीराम चमोली, विजय कठैत, उदय रावत, हरि पुंडीर, संतोष नेगी, आशाराम बेलवाल थे।

 

पवित्र भागीरथी अभियान के नौंवे चरण में उमड़े लोग

बागेश्वर। पवित्र भागीरथी अभियान के नौंवे चरण में भी लोगों ने बढ़चढ़ कर भागीदारी की। महिलाओं और बच्चों के साथ स्थानीय लोगों ने भी नदी की सफाई की। व्यस्त कार्यक्रम के चलते डीएम अभियान में भाग नहीं ले सके। नगरपालिका के कर्मचारी सफाई में पहुंचे, मगर वह सड़क पर गाड़ी के पास ही खड़े रहे। उन्होंने नदी में उतरने की जहमत नहीं उठाई। नौ चरणों के बाद भागीरथी नदी के बड़े हिस्से को साफ कर लिया गया है। बाकी बचे पचास मीटर की सफाई के लिए कोर टीम ने पालिका से गुहार लगाई है।

टीम के सदस्य आलोेक पांडे ने बताया कि आने वाले रविवार को भागीरथी को पूरा साफ करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि पालिका का सहयोग मिला तो मीट मार्केट से सरयू नदी तक के हिस्से को भी अगले चरण में साफ कर लिया जाएगा। भागीरथी को स्वच्छ बनाने में पतंजलि परिवार के सदस्यों का अहम रोल रहा है। उन्होंने स्थानीय लोगों को भी अभियान से जोड़ने का भरसक प्रयास किया है। रविवार को पचास मीटर से अधिक नदी की सफाई की। वहां से एकत्र कूड़े को पालिका के वाहन से निस्तारित किया गया।

अभियान में भीम सिंह कोरंगा, भैरव पांडे, मोहन धामी, भूपेश कनवाल, तानू जोशी, हरीश दफौटी, भुवन चौबे, जीसी पांडे, लक्ष्मण कोरंगा आदि मौजूद रहे। पतंजलि परिवार ने भी दिया योगदान: भागीरथी की सफाई में पतंजलि परिवार ने भी अहम योगदान दिया। पहले चरण से लेकर योग साधक नियमित सफाई में जुटे हैं। परिवार से जुटी महिलाएं भी पूरे उत्साह से भाग ले रही हैं।

इस सप्ताह कमलेश मेहता, महिपाल भरड़ा, केवलानंद जोशी, नीमा पांडे, चंचला पाठक सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने भागीदारी की। नदी में स्नान करने लगे लोग: सफाई से पूर्व भागीरथी नदी में लोग उतरने का साहस भी नहीं कर सकते थे। अब पानी साफ होने पर स्थानीय लोग नदी में नहाने लगे हैं। हालांकि कुछ लोग कपड़े धोकर नदी को दूषित करने का काम भी कर रहे हैं। कोर टीम ने स्थानीय लोगों से नदी की स्वच्छता बनाए रखने की अपील की है।

बागेश्वर में युवाओं के सिविल सेवा के सपने को साकार करेंगे डीएम

बागेश्वर। पीजी कालेज बागेश्वर के छात्रों के लिए खुशखबरी है। सिविल सेवा का सपना मन में पाले छात्र-छात्राओं के लिए अच्छी पहल होने जा रही है। डीएम मंगेश घिल्डियाल छात्र-छात्राओं को सिविल सेवा की तैयारी कराएंगे। वे अपने व्यस्त समय से दो घंटे छात्र-छात्राओं के लिए निकालेंगे। डीएम घिल्डियाल जब से बागेश्वर आए हैं, वे छात्र-छात्राओं के भविष्य को संवारने की बात कर रहे हैं। उन्होंने जहां प्राथमिक शिक्षा को सुधारने की पहल की, वहीं वे अब पीजी कालेज के छात्र-छात्राओं के बीच जाकर उन्हें सिविल सेवा की तैयार कराएंगे। उन्होंने इसके लिए समय भी तय कर लिया है। कालेज ने दस मई तक इच्छुक छात्र-छात्राओं से सादे पेज पर आवेदन भी आमंत्रित कर दिए हैं।

डीएम अपने व्यस्त समय में करीब दो घंटो छात्रों के लिए निकालने का मन बना लिए हैं। वे कालेज के छात्र-छात्राओं के सपनों को साकार करने के लिए यह कदम उठाने जा रहे हैं। अलबत्ता छात्र-छात्राएं भी डीएम की इस पहल से खासे रोमांचित हैं। बागेश्वर के जिलाधिकारी मंगेश कुमार ने कहा कि बेहतर शिक्षा उनका फोकस है। पीजी कालेज के वार्षिक उत्सव में जाने का मौका मिला। वहां कई होनहार नजर आए। यदि उन्हें ज्ञान बांटा जाए तो यह मेरा सौभाग्य होगा। जिले में अभी तक करीब 18 डीएम आ गए हैं। लेकिन इस तरह सोचने वाला डीएम पहली बार यहां पहुंचा है।

जिसका लाभ प्रत्येक छात्र उठाने को तैयार है। छात्रसंघ अध्यक्ष दीपक गस्याल ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है। वे डीएम के इस निर्णय का स्वागत करते हैं। उन्होंने अधिकाधिक छात्र-छात्राओं से आवेदन करने को कहा है।कालेज के प्रचार्य डा. एससी पंत ने बताया कि डीएम छात्र-छात्राओं को सिविल सेवा की तैयारी करना चाहते हैं। इच्छुक छात्रों से सादे पेज में आवेदन मांगे गए हैं। दस मई आवेदन करने की अंतिम तिथि होगी।
 

हल्द्वानी में दिव्यांगों ने खेलों में दिखाया दम

हल्द्वानी। जिला पैरालंपिक एसोसिएशन की ओर से रविवार को स्पोर्ट्स स्टेडियम में आयोजित प्रतियोगिता में महिला वर्ग गोला क्षेपण स्पर्द्धा में रेखा मेहता पहले, ममता रानी दूसरे, सुनीता तीसरे स्थान पर रही। पुरुष वर्ग गोला फेंक में प्रदीप सिंह ने पहला, दीपेंद्र कुमार ने दूसरा, नरेंद्र कुमार ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। 200 मीटर दौड़ में दुर्गा दत्त, कमल जोशी, रितेश द्विवेदी पहले स्थानों पर रहे। पुरुष वर्ग की सीटिंग वॉलीबॉल प्रतियोगिता में नैनीताल ‘बी की टीम ने नैनीताल ‘ए टीम को 15-8 से पराजित किया। विजेता टीम में सुंदर प्रसाद, नरेश कुमार, मंजीत सिंह, दीप जोशी, विजय रवाली और विपक्षी टीम में दिलीप कुमार, बृजमोहन, जीवन जोशी, अशोक, राजेश सिंह, नारायण सिंह शामिल रहे।

विभिन्न स्पर्द्धाओं में 120 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने प्रतियोगिताओं के समापन पर खिलाड़ियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इससे पहले जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नेगी, बिजली विभाग के मुख्य अभियंता एचके गुरुरानी, शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे बेटे अतुल पांडे, व्यापार मंडल उपाध्यक्ष रक्षित वर्मा ने प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। एसोसिएशन के सचिव भरत कुमार ने बताया कि सफल खिलाड़ी प्रदेश स्तरीय ट्रायल में हिस्सा लेंगे। जहां से उन्हें अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक में भाग लेने का मौका मिलेगा। निर्णायक प्रेम कुमार, महेश कुमार, निर्मला रहे। यहां एसोसिएशन अध्यक्ष डॉ. अरविंद जोशी, उपाध्यक्ष कविता बिष्ट, सुधीर कुमार, अनुज गुप्ता, प्रेम कुमार, परमजीत राजपूत, वीरेंद्र मनराल, खीम सिंह दानू, कुलदीप रावत आदि मौजूद रहे।

सड़क हादसे में शोरूम कर्मी की मौत, एक गंभीर

हल्द्वानी। पुलिस के अनुसार मूल रूप से मुक्तेश्वर निवासी और वर्तमान में आवास विकास में रह रहे राजेन्द्र कुमार (24) पुत्र देवीदत्त नैनीताल रोड स्थित एक रेडीमेड गारमेंट्स के शोरूम में काम करता था। शनिवार रात वह अल्मोड़ा निवासी दोस्त पंकज सनवाल संग लालकुआं में एक शादी में शामिल होने गया था। देर रात दोनों मोटरसाइकिल से हल्द्वानी लौट रहे थे।

बरेली रोड पर मोतीनगर के पास बाइक रपट गई। गंभीर हालत में दोनों को एसटीएच लाया गया, जहां डाक्टरों ने राजेन्द्र को मृत घोषित कर दिया। पंकज की हालत गंभीर देखते हुए उसे भर्ती कर लिया गया है। उसका उपचार चल रहा है। कोतवाल आरएस मेहता ने बताया कि राजेन्द्र के शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया है।
 

भगवान केदारनाथ की डोली मंदिर के लिए रवाना

रुद्रप्रयाग । भगवान केदारनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली बम भोले के जयकारों के साथ केदारनाथ धाम के लिए रवाना हो गयी है। परंपरानुसार ऊखीमठ स्थित ओंकारेश्वर मंदिर के गर्भगृह से चल विग्रह मूर्ति को बाहर लाया गया। यहां डोली को फूल मालाओं से सजाया गया।केदारनाथ रावल श्री भीमाशंकर लिंग ने मुख्य पुजारी वागेश लिंग को केदारनाथ गद्दी स्थल में पूजा को निर्विघ्नता पूर्वक करने का संकल्प करवाया।

बाद मन्दिर की एक परिक्रमा के पश्चात डोली ने सुबह 9:15 अपने पहले पड़ाव के लिए प्रस्थान किया। वहीं सुबह छह बजे से ही ओंकारेश्वर मन्दिर में भक्तों की भीड़ लगनी शुरू हो गयी थी। डोली प्रस्थान के समय तेज बारिश होने के बावजूद भी भोले के भक्त जयकारों के कुमाऊं रेजिमेंट के बैंड और पहाड़ के परंपरिक वाद्ययंत्र ढोल की थाप पर नाचते रहे।

डोली के दर्शनों के लिए देश विदेश से सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। बता दें कि तीन मई को धाम के कपाट खुलेंगे। केदारनाथ धाम अगले छह माह तक भगवान केदारनाथ की पूजा-अर्चना होगी। शीतकाल में भगवान केदारनाथ की उत्सव मूर्ति ऊखीमठ में रहती है।

चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले बदरी-केदार में जमकर बर्फबारी

रुद्रप्रयाग। चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में जमकर बर्फबारी हुई है। केदारनाथ धाम में शनिवार देर रात से रविवार दोपहर तक बर्फबारी जारी रही।केदारनाथ धाम में करीब एक फीट नई बर्फ जमा हो गई है। वहीं बदरीनाथ और हेमकुंड में भी बर्फबारी हुई। बर्फबारी और खराब मौसम के कारण केदारनाथ में यात्रा व्यवस्थाओं में जुटे अफसर और कर्मचारियों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ रही हैं।रविवार को भी केदारनाथ धाम में सुबह से लेकर दोपहर तक बर्फ गिरती रही।

इसके बाद तेज हवा और बारिश भी हुई। मौसम के कारण यात्रा व्यवस्थाओं में जुटे अधिकारी कर्मचारी काफी परेशान रहे। हालांकि उनके द्वारा लगातार तैयारियां की जा रही है। केदारनाथ मंदिर और आसपास करीब एक फीट बर्फ जमा हो गई।वहीं यात्रा मार्ग पर भी कई स्थानों पर बारिश से आवाजाही में परेशानियां हुई। निम के कैप्टन सोबन सिंह बिष्ट ने बताया कि बीते छह दिनों से केदारनाथ में बारिश और बर्फबारी हो रही है जिससे मौसम ठिठुरनभरा हो गया है। कुछ दिनों से केदारनाथ में फिर बर्फ देखने को मिल रही है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला फूंका

हल्द्वानी,कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रविवार को एपीएल राशन कार्ड धारकों को मिलने वाले राशन के दामों में बढ़ोत्तरी किए जाने के विरोध में एसडीएम दफ्तर के बाहर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका।कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि सरकार प्रदेश में लाखों एपीएल कार्ड धारकों की अनदेखी कर रही है।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में सभी एपीएल कार्ड धारकों को सस्ता अनाज और चावल उपलब्ध कराया जा रहा था। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि एपीएल कार्ड धारकों को मिलने वाले अनाज के दामों में कमी नहीं की गई तो वह उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे। इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ता हेमंत साहू, मनोज जायसवाल, सिद्धार्थ चौहान,रवि जोशी, तौफीक अहमद,अलका आर्य आदि मौजूद रहे।

पत्नी की हत्या के आरोपी MLA ने मंच पर योगी आदित्यनाथ के छुए पांव

लखनऊ: अपनी पत्नी की हत्या के आरोपी विधायक अमनमणि त्रिपाठी का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ शनिवार को गोरखपुर में एक कार्यक्रम का मंच साझा किए जाने की घटना से सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है.

अपनी पत्नी सारा की हत्या के आरोपी नौतनवा सीट से निर्दलीय विधायक अमनमणि ने शनिवार को गोरखपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ मंच साझा किया और यहां तक कि उनके पैर छूकर उनसे आशीर्वाद भी लिया. साथ ही योगी को कुछ कागजात भी दिए. अमनमणि पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे हैं. अमरमणि कवयित्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड मामले में इस वक्त उम्रकैद की सजा काट रहा है.

पैर छूने वाली तस्वीर सोशल मीडिया और टीवी चैनलों पर प्रसारित होने के बाद अमनमणि ने गोरखनाथ मंदिर के बाहर संवाददाताओं से कहा, 'महाराज जी (योगी आदित्यनाथ) हमारे अभिभावक हैं. वह जो भी आदेश देंगे, मैं करूंगा. जो उनका आदेश होगा, वही अंतिम होगा.' इस सवाल पर कि क्या वह भाजपा से नजदीकी दिखा रहे हैं और इस पार्टी में शामिल होना चाहते हैं, इस निर्दलीय विधायक ने कहा कि क्यों नहीं, जो महाराज जी का आदेश होगा, वही अंतिम होगा.

सपा के प्रांतीय प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने इस घटनाक्रम पर कहा कि यह योगी की कथनी और करनी में स्पष्ट अंतर को दिखाता है. प्रदेश की कानून-व्यवस्था खराब है. दुर्भाग्य की बात यह है कि खुद भाजपा के सांसद, विधायक और नेता ही कानून तोड़ रहे हैं. प्रदेश में कानून नाम की कोई चीज नहीं रह गई है. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने इस बारे में कहा, 'दोहरा चरित्र तो भाजपा की पहचान है. अपनी पत्नी की हत्या के आरोपी का मुख्यमंत्री के साथ मंच साझा करना, वाकई बेहद शर्मनाक है.'

इस बीच, वरिष्ठ भाजपा विधायक तथा गोरखपुर में हुए मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियां करवाने वाले फतेह बहादुर सिंह ने कहा कि उन्हें बाद में पता लगा कि अमनमणि ने मुख्यमंत्री के पैर छुए हैं. हालांकि भाजपा की गोरखपुर इकाई के प्रवक्ता सत्येन्द्र सिन्हा ने कहा कि कोई भी जनप्रतिनिधि मुख्यमंत्री का अभिवादन कर सकता है या उनके पैर छूकर आशीर्वाद ले सकता है. इसमें कुछ भी गलत नहीं है.

श्रीनगर में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड हमले में 4 पुलिसवाले घायल, एक सिविलियन की मौत

श्रीनगर। यहां के खानयार पुलिस स्टेशन पर कुछ हमलावरों ने ग्रेनेड से हमला किया है। हमले में 4 पुलिसवाले जख्मी हुए हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ग्रेनेड हमले की चपेट में 2 आम नागरिक भी आए जिनमें से एक की मौत हो गई। पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड फेंकने के बाद हमलावर फरार हो गए। पुलिस और सुरक्षा बलों की टीम इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही है। इससे पहले 2 अप्रैल को पुराने शहर के नौहट्टा इलाके में आतंकवादियों के ग्रेनेड हमले में एक पुलिस वाले की मौत हो गई थी जबकि 14 अन्य घायल हो गए थे।गौरतलब है कि एक दिन पहले ही शनिवार को दो हफ्ते बाद घाटी में मोबाइल इंटरनेट सर्विस बहाल की गई थी।

हालांकि फेसबुक, ट्विटर, वॉट्सऐप, वीचैट, गूगल प्लस, यू-ट्यूब, स्नैपचैट, फ्लिकर जैसी साइटों पर घाटी में प्रतिबंध जारी है। दरअसल आतंकियों के साथ मुठभेड़ के वक्त पत्थरबाजों को इकट्ठा करने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइटों का इस्तेमाल हो रहा था।खुफिया एजेंसियों ने हाल ही में घाटी के करीब 300 वॉट्सऐप ग्रुप को बंद किया था जिनके जरिए पत्थरबाजों को मुठभेड़ की जगह समेत और विवरण पहुंचाए जाते थे ताकि वे मुठभेड़ स्थल पर पहुंचकर सेना के ऑपरेशन में बाधा डाल सकें।

बारात की जीप गिरी, पांच की मौत, 15 घायल

चकराता ।  कालसी-मसूरी मोटर मार्ग पर नागथात से दो सौ मीटर दूर ड्यूडीलानी के पास बारातियों से जीप अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गयी। दुर्घटना में पांच बारातियों की घटना स्थल पर ही मौत हो गयी। जबकि 16 लोग घायल हो गये। घायलों को लेहमन अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
शुक्रवार को लोहारी गांव से बारात नागथात क्षेत्र के रामपुर गयी थी।

शनिवार सांय करीब साढ़े पांच बजे  जीप बारात को लेकर वापस लौट रही थी। तभी नागथात से दो सौ मीटर दूर ड्यूडीलानी के पास मैक्स कैब अनियंत्रित हो कर डेढ़ सौ मीटर नीचे खाई में जा गिरी। इससे सवार पांच लोगों नितेश 20 पुत्र दीवानू निवासी खुन्ना नागथात, सिमरन 12 पुत्री डोडू दास निवासी शिला नागथात, कामादास 50 पुत्र झीमादास निवासी बाडो, खिमादास 52 पुत्र भाडू निवासी उभऊ, राजेश 52 पुत्र तुलसी निवासी चामड़ी पानवा शामिल हैं। 

स्थानीय लोगों ने जब गाड़ी के गिरने की आवाज सुनी तो मौके पर पहुंचकर कालसी और चकराता पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही कालसी और चकराता थाना पुलिस तथा  राजस्व पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल भिजवाया। घटनास्थल पर कानूनगो पंचम सिंह नेगी, पटवारी वीडी जोशी, कालसी के एसआई ललित मोहन भट्ट व चकराता के एसओ अरविंद चौधरी मय फोर्स पहुंचे।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा को एसपीजी की टीम पहुंची

हरिद्वार। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हरिद्वार कार्यक्रम को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। विशेष सुरक्षा दल (एसपीजी) के आईजी के नेतृत्व में प्रधानमंत्री का सुरक्षा दस्ता हरिद्वार पहुंच गया है। रविवार को पुलिस प्रशासन के साथ एसपीजी प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर तैयारियों का जायजा लेगी।
हरिद्वार के पतंजलि में तीन मई को प्रधानमंत्री का कार्यक्रम प्रस्तावित है। शनिवार को एसपीजी की टीम जौलीग्रांट स्थित हेलीपैड पहुंची।  टीम के हरिद्वार पहुंचने के बाद उन्होंने पीएम के कार्यक्रम के बारे में सारी जानकारी ली।

शनिवार को एसपीजी के आईजी ने जिला पुलिस के अधिकारियों के साथ सिविल पुलिस के जवानों की तैनाती के लिए स्थल चिह्नित किए।हेलीपैड से लेकर मंच, स्विस काटेज और  पीएम की सुरक्षा एसपीजी के जवान करेंगे। एसपीजी आईजी ने वीवीआईपी जोन में लगाए जाने वाले सिविल पुलिस के अधिकारियों, प्रशासनिक अधिकारियों व अन्य विभागों के अधिकारियों की सूची भी मांगी। एसएसपी कृष्णकुमार वीके ने बताया कि एसपीजी की टीम हरिद्वार पहुंच चुकी है। रविवार को टीम के साथ निरीक्षण किया जाएगा।

आज होगा निरीक्षण हरिद्वार में प्रधानमंत्री के हेलीपेड को लेकर रविवार को निरीक्षण किया जाएगा। इसमें सभी तैयारियों को लेकर चर्चा की जाएगी। प्रधानमंत्री के वाहन काफिला के रुकने तथा उसके लिए आवश्यक सुरक्षा इंतजामों के बारे में जानकारी ली जाएगी। रविवार को पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के साथ एसपीजी निरीक्षण करेगी। 

चेक बाउंस पर एक साल की सजा, 29 लाख जुर्माना

देहरादून। अपर सिविल जज की कोर्ट ने चेक बाउंस के मामले में आरोपी को एक साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है। आरोपी को 19 लाख 20 हजार रुपये जुर्माना जमा करने के आदेश दिए हैं। जुर्माना न देने पर आरोपी को अतिरिक्त सजा भुगतनी पड़ेगी। बहादराबाद हरिद्वार निवासी शशी कुमार ने मई 2012 में निरंजपुर पटेलनगर में जमीन का सौदा किया था। इसका अनुबंध आरोपी अवनीश बसंल निवासी मोहितनगर जीएमएस रोड के साथ हुआ था। अनुबंध के अनुरूप रकम भी दे दी गई। मगर जमीन पर अधिकार नहीं दिए गए।

पैसे वापस मांगे तो आरोपी ने चेक दिए। चेक बैंक में बाउंस हो गए। इस मामले में वादी ने कोर्ट में चेक बाउंस का मुकदमा दर्ज कराया। शनिवार को अपर सिविल जज जूनियर डिविजन नीरज कुमार की कोर्ट में मामले में सुनवाई हुई। एडवोकेट एसपी जुयाल ने बताया कि कोर्ट ने आरोपी अवनीश बसंल को चेक बाउंस मामले में एक साल की कठोर कारावास की सजा और 19 लाख 20 हजार रुपये जुर्माने के आदेश दिए हैं। 19 लाख रुपये वादी को दिए जाने तथा 20 हजार रुपये राज्य सरकार के खाते में जमा करने के आदेश दिए हैं।

टंडन परिवार के यहां डकैती में खुलासे को पुलिस ने लगाया पूरा जोर

देहरादून। कपड़ा कारोबारी सुमित टंडन के यहां गुरूवार अलसुबह हुई डकैती प्रकरण में पुलिस की दबिशें जारी हैं। पुलिस सूत्रों की माने तो इस किस्म से घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह के बारे में अहम सुराग हाथ लगे हैं। जिसके आधार पर गिरोह तक पहुंचने की कोशिशें की जा रही हैं। वहीं एसओजी की चार टीमों ने पश्चिमी यूपी के साथ-साथ दून व आसपास के इलाकों में भी बदमाशों की धरपकड़ के लिए कोशिशें जारी रखी हुई हैं। उल्लेखनीय रहे कि डालनवाला क्षेत्र के साकेत कालोनी निवासी सुमित टंडन इंदिरा बाजार में कपड़े का कारोबार चलाते हैं। गुरूवार सुबह करीब सवा तीन बजे खिडक़ी की ग्रिल काटकर भीतर प्रवेश करने के बाद बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाकर लाखों के जेवर व नगदी लूट कर ली थी।

इधर गर्मी चरम पर पहुंचने को आतूर दिख रही, दून में होने वाले आपराधिक घटनाएं भी उफान पर दिख रही हैं। ऐसा नहीं कि पुलिस बदमाशों तक नहीं पहुंच पा रही हो। मगर खुलासे की तुलना में आपराधिक घटनाओं का ग्राफ कहीं ऊ ंचा दिखाई दे रहा है। एडीजी लॉ एंड आर्डर रामसिंह मीणा द्वारा दून में बढ़ रहे आपराधिक घटनाओं को लेकर कल ही अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए थानेदारों को अपने-अपने क्षेत्र में मुस्तैदी बरतने के सख्त निर्देश दिए जाना इस बात की तस्दीक करता है कि आला अधिकारी मौजूदा समय अपराधों का ग्राफ बढऩे से खासे चिंतित हैं।

जिस तरह साकेत कालोनी निवासी सुमित टंडन के मकान की खिडक़ी की ग्रिल उखाडक़र बदमाशों ने घर में प्रवेश कर डकैती की घटना अंजाम दी। कुछ इसी अंदाज में बालावाला निवासी कृषि अधिकारी के घर पर डकैती हुई थी। जिसमें विरोध करने पर बदमाशों ने कृषि अधिकारी के बेटे अंकित थपलियाल की हत्या कर दी थी। बहरहाल उक्त घटना में मुख्य आरोपी अकरम समेत सभी को समय-समय पर पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। टंडन के घर पर हुई डकैती के बाद पुलिस का पहला संदेह इसी गिरोह पर जा रहा है। बहरहाल अधिकारीगण फिलहाल इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। सभी रटारटाया जवाब दे रहे कि छानबीन चल रही है, जल्द खुलासा कर दिया जाएगा।

उधर दून में घटित होने वाली आपराधिक घटनाओं की अगर बात करें तो पिछले कुछ समय में लूट, डकैती, टप्पेबाजी, हत्या समेत अन्य में बढ़ोत्तरी हुई है। पुलिस एक मामले का खुलासा करती है तो एकाएक कहीं ओर और एक आपराधिक घटना घटित होने का पता चलता है। यह सब तब भी घटित हो रहा, जबकि दून को अस्थाई राजधानी का तमगा मिला हुआ है। मुख्यमंत्री, मंत्रिगणों, प्रशासनिक-पुलिस अधिकारियों के कार्यालय और रिहायशी कालोनियां, विश्व प्रसिद्घ संस्थान आदि होने के चलते पुलिस हमेशा ही दून की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद होने का दावा करती आ रही है। मगर लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं ने पुलिस की सुरक्षा को उठाए जा रहे कदम की पोल खोलकर रख दी है।

चौबीसों घंटे गश्त का दावा करने के बाद भी पॉश कालोनी में डकैत सरेआम लाखों का माल लूटकर फरार हो जाते हैं, और पुलिस फिल्मी अंदाज में पूछताछ, संदिग्धों की धरपकड़ आदि का ढोल पीटना शुरू कर देती है। हैरानी की बात कि एक ओर पुलिस ने सडक़ यातायात सुरक्षा के मद्देनजर सीपीयू, यातायात व थाना-चौकी पुलिस की फौज वाहनों, संदिग्धों की चेकिंग में उतारी हुई है। लाखों रूपए जुर्माना के रूप में वसूला जा रहा। मगर कौन बदमाश किस रास्ते से दून में आ रहा, और अपराध अंजाम देकर भाग रहा, पुलिस को भनक भी नहीं लग रहा।
 

पुलिस ने महानुभवों की सुरक्षा को लेकर बुना तानाबाना

देहरादून। एक ओर दून में बदमाशों ने रह रहकर वारदात अंजाम देकर पुलिस की नींद उड़ाकर रख दी है। वहीं दूसरी ओर तीन मई को प्रधानमंत्री व पांच मई को राष्ट्रपति के दो दिवसीय दून दौरे की सुरक्षा को लेकर पुलिस में मंथन गहराया हुआ है।  उल्लेखनीय रहे कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तराखंड के दौरे पर आ रहे हैं। उत्तराखंड में दोनों खास मेहमानों का कार्यक्रम फाइनल हो चुका है। सुरक्षा और व्यवस्थाओं को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 5 मई को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी देहरादून के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेंगे। वे सुबह 10:50 बजे जौलीग्रांट एअर पोर्ट पहुंचेंगे।

वहां राज्यपाल, मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव और डीजीपी उनकी आगवानी करेंगे। वे राजभवन में रात्रि विश्राम करेंगे। छह मई को सुबह 7:25 बजे सुबह बदरीनाथ धाम के दर्शन के लिए रवाना होंगे और दर्शन के बाद वापस दिल्ली लौटेंगे। इधर, प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी तीन मई को सुबह 7:25 बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे। प्रातरू 8:50 बजे वे केदारनाथ धाम में दर्शन व पूजन करेंगे। अपरान्ह लगभग 11:35 बजे हरिद्वार स्थित पतंजलि योगपीठ पहुंचेंगे और वहां शोध संस्थान का उद्घाटन करेंगे। दोपहर 12:50 बजे पीएम दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

इस दौरान सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था रहेगी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी छह मई को बदरीनाथ मंदिर में करीब एक घंटे तक दर्शन और पूजा-अर्चना करेंगे। जहां पुलिस और प्रशासन स्तर से राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के प्रदेश दौरे को लेकर सुरक्षा व व्यवस्थाओंं संबंधी कार्यों को प्राथमिकता के साथ पूरा किया जा रहा। वहीं शासन स्तर से भी इस ओर नजर रखी जा रही है।
 

मकान हड़पने के लिए बन गए हत्यारे

देहरादून। 65 वर्षीय बुजुर्ग के लापता होने की सूचना पर पुलिस ने छानबीन शुरू की तो जो हकीकत सामने आई, वह पैरों तले जमीन खिसकाने वाली रही। पुलिस के अनुसार बुजुर्ग का मकान हड़पने के लिए उसकी दो युवकों ने हत्या कर दी थी और शव को चिडि़यापुर में नहर में फेंक दिया। पुलिस ने बुजुर्ग की हत्या के आरोप में दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने बुजुर्ग का फोटो पहचान पत्र बरामद किया है।

राजीव नगर निवासी युवक ने नेहरू कालोनी पुलिस को सूचना दी कि मेरा भाई गंगा राम उम्र 65 वर्ष जो मंगल बस्ती में अपने मकान पर अकेला रहता था  21 दिसंबर से लापता है। गुमशुदा की तलाश हेतु जनपद एवं सरहदीय जनपदों की पुलिस को गुमशुदा उपरोक्त के फोटो, पम्पलेट प्रेषित किये गये किन्तु गुमशुदा के बारे में कोई जानकारी नही मिली। इस बाबत पुलिस ने छानबीन शुरू की तो लापता बुजुर्ग के पड़ोसियों पर संदेह हुआ। पुलिस ने दोनों युवकों से इस बाबत बयान लिए तो दोनों बार बार अपने बयान बदलने लगते थे। पुलिस ने सघनता से पूछताछ की तो दोनों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने गंगा राम का अपहरण कर शराब के नशे में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और शव को हरिद्वार से लौटते समय चिडि़यापुर में नहर में फेंक दिया। शव किसी का न मिल सके इसके लिए शव को बोरी में बांधकर नहर में फेंका गया।

पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हरिद्वार के चिडि़यापुर से घटनास्थल के नजदीक पत्थरों से दबाकर रखा गया गंगाराम का फोटो पहचान पत्र बरामद कर लिया है। जबकि शव की तलाश के लिए पुलिस टीम ने कोशिश शुरू कर दी है।  पुलिस का कहना कि आरोपी युवकों ने बुजुर्ग का मकान हड़पने के लिए हत्या की है। दोनों ने बुजुर्ग पर मकान बेचने का दबाव बनाया, मगर वह नहीं माना तो दोनों ने फर्जी विक्रय पत्र तैयार कराकर गंगाराम का अंगुठा उसमें लगा लिया। बाद में उसकी हत्या कर दी गई। इस दौरान दोनों गंगाराम के मकान पर कब्जा करने का प्रयास कर रहे थे कि पुलिस की गिरफ्त में आ गए। आरोपियों की पहचान पुलिस ने सावान पुत्र सगीर अहमद निवासी बिजनौर और मेहताब पुत्र अब्दुल शकूर निवासी नगीना के रूप में की है।

बंद मकान में चोरी

देहरादून। नेहरू कालोनी निवासी युवक के बंद मकान में चोरों ने हाथ साफ कर दिया। इस बाबत पुलिस को शिकायत दी गई है। नेहरू कालोनी पुलिस के अनुसार मनीष बोहरा पुत्र डीएस बोहरा निवासी द्वारिकपुराम, मोथरवाला अपने मकान में जेवर नगदी आदि चोरी होने की सूचना दी है। इस बाबत पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है।

शिकायत में उसने कहा है कि दोपहर ग्यारह बजे वह अपनी मां को इलाज के लिए चिकित्सक के पास लेकर गया था, चार बजे घर लौटा तो मकान का ताला टूटा मिला। वहीं जोगीवाला मोहकमपुर निवासी राजेंद्र सिंह के मकान में भी चोरों ने धावा बोला। पुलिस के अनुसार राजेंद्र का कहना कि वह अपने कार्य से रूडक़ी गया था। वापस लौटा तो मकान का ताला टूटा मिला। पांच हजार नगदी व सोने के जेवर आदि चोरी कर लिए गए। पुलिस के अनुसार पीडि़त मोहकमपुर में कपड़े की दुकान चलाता है।
 

नशा तस्कर चढ़ा पुलिस के हत्थे

देहरादून। सहसपुर पुलिस ने नशा तस्करी करते शातिर युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा कि आरोपी पहले भी कई बार नशा तस्करी करते पकड़ा जा चुका है। आरोपी के पास से पुलिस को एक किलो दस ग्राम चरस की खेप आज बरामद हुई है।

मुखबिर की सूचना के आधार पर सहसपुर पुलिस ने आज सभावाला रोड पर परवेज पुत्र लियाकत निवासी चोरखाला सहसपुर को हिरासत में लिया। पुलिस का दावा कि आरोपी के पास से एक केजी और दस ग्राम चरस बरामद हुई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह सहसपुर, रामपुर, सेलाकुई क्षेत्र के शिक्षण संस्थानों के छात्रों को नशा बेचा करता था।

क्लेमेंटटाउन पुलिस ने पर्स लुटेरा दबोचा

देहरादून। क्लेमेंटटाउन पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए महिला का पर्स लूटकर भाग रहे शातिर युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा कि पीडि़ता ने पकड़े गए आरोपी की शिनाख्त की है।  टर्नर रोड पर एक महिला से पर्स लूट की सूचना के बाद पुलिस ने चेकिंग शुरू की। पुलिस के अनुसार पर्स में मोबाइल, रूपए, पहचान पत्र व कुछ अन्य जरूरी सामान रखे थे।

महिला द्वारा बताए लुटेरे के हुलिए के आधार पर पुलिस ने झील तिराहे पर एक संदिग्ध युवक को रूकने का इशारा किया तो वह पुलिस से बचने का प्रयास करते हुए भागने लगा। इस पर पीछा कर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। तलाशी में उससे एक पर्स बरामद हुआ, जिसकी तलाशी में मोबाइल, रूपए, पहचान पत्र व अन्य कुछ सामान बरामद हुआ। पुलिस के अनुसार पीडि़ता महिला निवासी टर्नर रोड ने आरोपी युवक की पहचान की है। पुलिस ने आरोपी की पहचान सौरभ कुमार पुत्र ललित कुमार निवासी मोरोवाला क्लेमेंटटाउन के रूप में की है।

मां वैष्णो देवी मेला का शुभारंभ

देहरादून। शुक्रवार को मसूरी विधायक गणेश जोशी ने बुरासखण्डा में मॉ वैष्णों देवी के 29वें स्थापना दिवस के सुअवसर पर बतौर मुख्य अतिथि रजत मेले का उद्घाटन किया। रजत मेले के उद्घाटन समारोह में मॉ वैष्णों देवी से प्रदेश की उन्नति, सुख-शांति एवं सौहार्द की प्रार्थना की।  रजत मेले का उदघाटन एवं मंदिर में दर्शन के बाद जनता को सम्बोधित करते हुए मसूरी विधायक गणेश जोशी ने कहा कि मॉ वैष्णो देवी की असीम पा से ही आज वह जनता की सेवा करने में सक्षम हैं। उन्होनें कहा कि मैं आज कोई घोषणा नहीं करुंगा, किन्तु इतना कहना चाहॅूगा कि अगली बार इस स्थान में इतना विकास होगा कि आप पहचान नहीं पाऐगें। उन्होनें कहा कि उत्तराखण्ड में भारतीय जनता पार्टी की भारी बहुमत वाली सरकार सीधे जनता से सरोकार रखती है और जनता के हितों के लिए कार्य कर रही है।

उन्होनें मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की सराहना करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में सीएम द्वारा तत्काल कार्यवाही की जा रही है। सरकार ने सत्ता में आने के बाद से ही अपनी नीतियों एवं घोषणा पत्र के अनुसार कार्य करना प्रारम्भ कर दिया है। उन्होनें कहा कि हमारी यह जनकल्याणकारी सरकार सभी के लिए खास है। विधायक जोशी ने जनता को गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने की शुभकामनाऐं भी  दी।  समिति के अध्यक्ष कमल सिंह ने विधायक जोशी का मेले के उद्घाटन समारोह में आने के लिए आभार व्यक्त किया और कहा कि विधायक जोशी ने हमारे क्षेत्र के लिए जो कार्य किये उनकी जितनी सराहना की जाऐ वह कम है। इस अवसर पर समिति अध्यक्ष कमल सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, जयपाल भण्डारी, ब्रहम्दत्त जोशी, राजेन्द्र भट्ट, देवेन्द्र जोशी, ग्राम प्रधान सुन्दर सिंह पयाल, जगदीश पयाल, दयाल जवाड़ी, प्रेम सिंह, ग्राम प्रधान समीर पुण्डीर, घनश्याम नेगी, मोहन सिंह नेगी, रामसिंह एवं मन्दिर समिति के समस्त पदाधिकारी, कार्यकर्तागण एवं हजारों की संख्या में क्षेत्रीय जनता उपस्थित रही।  

जरूरतमंद विद्यार्थियों को बांटी लेखन सामाग्री

देहरादून। मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के अंतर्गत कार्यक्रम का आयोजन श्रीराम मंदिर दीपलोक कालोनी में किया गया जिसमें पचास जरूरतमंद छात्र छात्राओं को लेखन सामाग्री का वितरण किया गया। इस अवसर पर सभा की अयक्षता करते हुए संगठन के अयक्ष सचिन जैन ने कहा कि समाज में विशेष तौर पर गरीब बच्चों में बालिकाओं का शिक्षा, स्वास्थ्य एवं वस्त्र के लिए पूर्ण रूप से हर समय मदद के लिए संग्इन अग्रसर है। आज हर परिवार अपने बेटियों को उच्च शिक्षा दिलवा रहे है जिसके कारण आज समाज में अनपढता कम हो रही है। उनका कहना है कि एक लडकी के शिक्षित होने से दो परिवारों को शिक्षा मिलती है, आज लड़कियां शिक्षा प्राप्त करके हर फील्ड में देश और समाज का नाम रोशन कर रही है।

मुख्य अतिथि समाजसेवी दिनेश रावत ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना पर अपने विचार व्यक्त करते हुए इस कार्यक्रम की प्रशंसा की और कहा कि समाज में विशेष तौर पर गरीब बच्चों में बालिकाओं का शिक्षा, स्वस्थ और वस्त्र के लिए पूर्ण रूप से हर समय मदद के लिए संगठन अग्रसर है। उनका कहना है कि अन्य संस्थाओं को भी इस ओर एकजुटता का परिचय देते आगे आने की आवश्यकता है। इस अवसर पर रीता गोयल ने कहा कि संगठन आज समाज में बेटी बचाओ बेटी पढाओ पर समाज को एक नई दिशा की ओर से जा रहा है। इस अवसर पर भाजयुमो के प्रदेश उपायक्ष व पूर्व पार्षद सचिन गुप्ता ने संगठन के इस नेक कार्य के लिए बधाई दी।

ट्रैफिक कांस्टेबल पर कार्यवाही को लेकर प्रदर्शन

देहरादून। सर्वे चौक पर ट्रैफिक कांस्टेबल द्वारा अधिवक्ता के साथ हमलाकर अभद्रता व धक्का मुक्की किये जाने के विरोध में अधिवक्ताओं ने एसएसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया और कांस्टेबल के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग को लेकर एसएसपी को ज्ञापन सौंपा। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव शर्मा के नेतृत्व में अधिवक्ता एसएसपी कार्यालय में इकटठा हुए और वहां पर उन्होंने कांस्टेबल के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान शिकायती पत्र में कहा गया है कि अधिवक्ता सुयश कुकरेती दून कोर्ट में प्रैक्टिस करता है और 27 अप्रैल को वह अपने घर नेहरू कालोनी से लगभग साढे ग्यारह बजे कोर्ट परिसर के लिए अपने वाहन बुलैट यूए07 टी 3451 से निकला।

धर्मपुर के समीप  उनका वाहन खराब होने से वह उसे दिखाने बुलेट शोरूम डीएवी पीजी कालेज रोड वाया आराघर चौक ईसी रोड होते हुए सर्वे चौक पहुंचा और उस समय वह यूनीफार्म में था। उनका कहना है दोपहर बारह बजे सर्वे चौक से पहले जेब्रा क्रासिंग पर ट्रैफिक रूका देखकर अपना वाहन पुलिस पिकेट वाली साईड पर बांयी तरफ निर्धारित स्थान पर रोक दिया, वाहन न तो रोड या ट्रैफिक के मय खडा था और न ही आडा तिरछा खडा था जिससे ट्रैफिक यातायात बाधित होता। इस दौरान आरोप है कि यातायात सिपाही ने अधिवक्ता कुकरेती को थप्पड़ जड़ दिया और साथ ही हेलमेट भी सिर पर मारा।

वार्डों में पेयजल समस्या के समाधान को लेकर प्रदर्शन

देहरादून। महानगर के वार्डों में पेयजल की समस्याओं के समाधान के लिए  पार्षदों ने जल संस्थान के मुख्य महाप्रबंधक के कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए मुख्य महाप्रबंधक से भेंट करते हुए समस्याओं के समाधान की मांग की और कहा कि शीइा्र ही कार्यवाही न होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी।
नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष नीनू सहगल के नेतृत्व में कांग्रेेसी पार्षद नेहरू कालोनी स्थित जल भवन में इकटठा हुए और वहां पर अपनी मांगों के समाधान को लेकर प्रदर्शन कर मुख्य महाप्रबंधक को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान उनका कहना है कि वार्ड 26 में नेमी रोड लास्ट पूरण बस्ती भाग ए भाग दो में पानी की बहुत बडी समस्या है उनका समाधान किये जाने की आवश्यकता है।

इसी प्रकार वार्ड 12 बकराल वाला में पानी बहुत कम है, इसका समाधान किया जाना चाहिए। वार्ड 13 गुरूनानक इंटर कालेज में ग्राउंड में टयूबवैल की आवश्यकता है तथा नेशविला रोड स्थित काम्बोज स्वीट शॉप के सामने गली में सीवर नाली में बह रहा है और पीएनटी कालोनी व कुमार चौक सहित अन्य क्षेत्रों में पानी नहीं आ रहा है, यहां पर समस्याओं का समाधान किये जाने की जरूरत है। गांधी ग्राम वार्ड 55 के अंतर्गत अनेक हिस्सों में पीने के पानी का प्रेशर अत्यंत लो है जिससे लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है। वार्ड 54 संजय कालोनी, वाल्मीकि बस्ती, शिव कालोनी में पीने के पानी की समस्या बनी हुई है।

वार्ड 27 में शिवालिक क्लब के बराबर वाली गली में सीवर की समस्या है जो चोक है उसका समाधान करने की जरूरत हैं वार्ड 29 अधोईवाला दक्षिण के दिव्य विहार, रायपुर रोड, चूना भटटा व रक्षा विकास में पेयजल समस्या बनी हुई है। डोभालवाला में न्यू कैंट रोड से कालीदास रोड में नई पाईप लाईन की व्यवस्था किया जाये। नेशविला रोड, पथरियापीर बस्ती में नई पाईप लाईन की व्यवस्था की जाये। इसके साथ ही लगभग 15 सूत्राीय मांगों के समाधन की मांग की गई। इस अवसर पर कांग्रेस के अनेक पार्षद मौजूद थे।
 

गंगा में बहे बिजनौर के युवक का शव मिला

हरिद्वार। नगर कोतवाली क्षेत्र स्थित सीसीआर टावर के पीछे गंगा स्नान के दौरान बहे युवक का शव पथरी पावर हाउस के पास मिला है। पुलिस ने शव को जिला अस्पताल भेज दिया है। युवक अपने बेटे का मुंडन कराने बीती 24 अप्रैल को हरिद्वार आया था।  पुलिस के अनुसार बीती 24 अप्रैल को जितेंद्र पुत्र हरिया निवासी हलदौर बिजनौर पत्नी समेत पांच लोगों के साथ हरिद्वार हरकी पैड़ी पर अपने बेटे का मुंडन कराने के लिए पहुंचा था। हरकी पैड़ी पर मुंडन संस्कार के बाद परिवार सीसीआर टावर के पीछे स्थित घाट पर गंगा स्नान कर रहा था।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार युवक ने गंगा स्नान के लिए डुबकी लगाई और बाहर नहीं आया। सिविल पुलिस और जल पुलिस की मदद से युवक की तलाश की गई। लेकिन कोई पता नहीं चला। शुक्रवार की सुबह रानीपुर पुलिस को सूचना मिली की एक शव पथरी पावर हाउस के पास अटका हुआ है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जल पुलिस की मदद से शव को गंगनहर से बाहर निकलवाया। इसके बाद परिजनों ने उसकी पहचान की। रानीपुर कोतवाली निरीक्षक प्रदीप बिष्ट ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है।

विधायक ने रवासन नदी पुल निर्माण स्थल का दौरा किया

हरिद्वार। हरिद्वार ग्रामीण विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने रवासन नदी पर पुल का काम शुरू न किये जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने विभागीय अधिकारियों के साथ मौके का मुआयना कर पुल के निर्माण कार्य में तेजी लाने को कहा।  उल्लेखनीय है कि लालढांग क्षेत्र में रवासन नदी पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीती 14 अक्तूबर को पुल निर्माण की आधारशिला रखी थी। छह माह के अंदर केवल गड्ढे ही खोदे जा सके हैं। शुक्रवार को विधायक ग्रामीणों के साथ रवासन नदी पुल निर्माण स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे।

पुल का काम बंद होने पर विधायक ने विभागीय अधिकारियों से सवाल जवाब कर उन्हें तुरंत काम शुरू करने को कहा। विधायक ने कहा कि लालढांग क्षेत्र की सबसे पुरानी मांग पुल निर्माण की रही है। इसे लेकर ग्रामीणों ने अनशन भी किया था। पुल न होने के कारण नदी का पानी कई लोगों की जान ले चुका है। पुल निर्माण के मामले में गांव में ही एक बैठक की गई। बैठक में ग्राम प्रधान मीठीबेरी जगपाल सिंह, आलोक दिवेदी, मुकेश उडबराल, सुरेंद्र रावत, विनोद जोशी, संतराम, ब्रज मोहन पोखरियाल, विनोद सैनी आदि ने आर्यनगर से लालढांग के बीच झुला पुल बनाने और कंडी मार्ग का निर्माण कराने की मांग भी रखी।

साथ ही रसूलपुर में पिछले 3 साल से लम्बित सडक़ निर्माण को पूरा कराने की भी मांग रखी। विधायक यतीश्वरानंद ने लोक निर्माण विभाग के एई यूएस रावत और जेई पीएस बुटोला को पुल के निर्माण कार्य में तेजी लाने को कहा। साथ ही आर्यनगर से लालढांग के बीच रवासन नदी पर झूला पुल बनाने को ड्राफ्टिंग तैयार करने के निर्देश दिए। एई यूएस रावत ने बताया कि रवासन नदी पर पुल का निर्माण शुरू कर दिया गया है। ठेकेदार को 18 माह का समय दिया गया है।
 

हरिद्वार से चारधाम यात्रियों का पहला जत्था हुआ रवाना

हरिद्वार। मायादेवी मंदिर में पूजा अर्चना के बाद शुक्रवार को हरिद्वार से चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला दल रवाना किया गया। श्रद्धालुओं को माला पहनाकर मेयर मनोज गर्ग ने रवाना किया। शुक्रवार से उत्तराखंड में चारधाम यात्रा की शुरुआत हो गई है। देश के कोने-कोने से चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालु धर्मनगरी पहुंचने लगे हैं।  शुक्रवार को श्रद्धालुओं के पहले दल को रवाना करने के लिए ट्रेवल्स से जुड़े कारोबारी सिद्धपीठ मायादेवी मंदिर प्रांगण में इक_ा हुए। इस दौरान कारोबारियों और श्रद्धालुओं ने मायादेवी मंदिर में पूजा अर्चना की। इसके बाद मेयर मनोज गर्ग ने नारियल फोडक़र श्रद्धालुओं के पहले दल को रवाना किया। चारधाम यात्रा की शुरुआत में करीब तीन सौ छोटे-बड़े वाहन धर्मनगरी से रवाना हुए हैं।

चारधाम के यात्रियों को फूलमाला पहनाकर विदा करने वालों में संजय चोपड़ा, उमेश पालीवाल, गोपाल छिब्बर, मुन्ना भागवत, उज्जवल पंडित, विजय शुक्ला, संदीप शर्मा आदि शामिल रहे।मेयर ने छुए वाहन चालकों के पैरश्रद्धालुओं का स्वागत करने के साथ ही मेयर मनोज गर्ग ने वाहन चालकों का भी स्वागत किया। साथ ही मेयर ने चालकों के पैर भी छुए। मेयर ने कहा चारधाम यात्रा में जाने वाले सभी श्रद्धालुओं की रक्षा की जिम्मेदारी वाहन चालक पर ही होती है। इसलिए चालकों के पैर छूने भी अनिवार्य है।क्या कहते हैं श्रद्धालुहम दो लोग कोलकाता से चारधाम यात्रा के लिए आए हैं। पहली बार उत्तराखण्ड की वादियों में जा रहे हैं।

इसको लेकर अलग सा उत्साह मन में बना हुआ है। झारखण्ड से ग्यारह लोगों का ग्रुप चारधाम यात्रा करने आया है। आज यात्रा में जाने से पूर्व भगवान की पूजा अर्चना कर भगवान से सकुशल यात्रा सफल बनाने की कामना की। विमला देवी, श्रद्धालु, झारखंड मध्य प्रदेश से आया हूं। देश में 12 ज्योतिर्लिंगों में से ग्यारह के दर्शन में कर चुका हैं। मात्र केदारनाथ ही रह गया है। केदारनाथ के दर्शन करने अपने साथियों के साथ उत्तराखंड राज्य में आया हूं। प्रेमदास, श्रद्धालु, मध्यप्रदेशचारधाम यात्रा पर जा रहे हैं। हमारी ईश्वर से यह प्रार्थना है कि देश में सुख शान्ति बनी रहे। इसके लिए चारधाम पहुंचकर प्रार्थना भी करेंगे।

गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुले

उत्तरकाशी। विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट शुक्रवार को वैदिक मंत्रोच्चार और पूजा-अर्चना के बाद श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। गंगोत्री धाम के कपाट 12 बजकर 15 मिनट और यमुनोत्री धाम के कपाट 12 बजकर 45 मिनट पर खोले गए। दोनों धामों के कपाट खुलने के बाद चारधाम यात्रा का विधिवत शुभारंभ हो गया है। शुक्रवार को सुबह 8 बजे गंगा की डोली भैरव घाटी स्थित भैरव मंदिर से गंगोत्री के लिए रवाना हुई। ठीक 9:15 पर डोली यात्रा गंगोत्री धाम पहुंची। जहां तीर्थ पुरोहितों ने परंपरानुसार धार्मिक रीति-रिवाज और वैदिक मंत्रोच्चार के साथ दोपहर 12.15 बजे गंगोत्री मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए।
 

गंगोत्री धाम के कपाट उद्घाटन अवसर पर हरिद्वार के सांसद एवं पूर्व सीएम डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक और गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत भी मौजूद रहे। उधर, शुक्रवार को ही मां यमुना की डोली उनके शीतकालीन प्रवास खरसाली से शनिदेव महाराज की अगुआई में सुबह 9.30 बजे यमुनोत्री के लिए रवाना हुई, जो 12.30 बजे यमुनोत्री धाम पहुंची। विधि-विधान और वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ 12.45 पर यमुनोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। इस अवसर पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और यमुनोत्री के विधायक केदार सिंह रावत मौजूद रहे।

श्री पांच गंगोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश सेमवाल ने कहा कि अक्षय तृतीय के शुभ पर्व पर गंगा धाम गंगोत्री के कपाट खोल दिए गए हैं। यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर ने कहा कि सूर्य पुत्री मां यमुना के दर्शन के लिए यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए हैं। अब श्रद्धालु गंगोत्री और यमुनोत्री में मां गंगा और यमुना के दर्शन कर सकेंगे।

मुफ्त शिक्षा में फंसा बजट का पेंच

अल्मोड़ा। सरकारी स्कूलों में निर्धन छात्रों को मिलने वाली मुफ्त शिक्षा में बजट खलल डाल रहा है। जिले में दो साल से इस मद में बजट नहीं मिला है। इससे अभिभावक बेहद परेशान हैं। प्राइवेट स्कूल संचालक भी उनको तंग कर रहे हैं। इस मामले में अभिभावकों ने शिक्षा विभाग के अफसरों ने शिकायत की है।
आरटीई (शिक्षा का अधिकार अधिनियम) के तहत शिक्षा विभाग प्राइवेट स्कूलों में हर साल 1 से 8 वीं कक्षा तक निर्धन बच्चों को प्रवेश दिलाते हैं। सभी स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें निर्धन बच्चों के लिए आरक्षित रहती हैं।

इन बच्चों की फीस का भुगतान सरकार करती है। सरकार हर शैक्षिक सत्र में शिक्षा विभाग के माध्यम से प्राइवेट स्कूलों को उनकी फीस के अनुसार बजट मुहैया कराती है, लेकिन पिछले एक साल यानि शिक्षा सत्र 2016-17 से प्राइवेट स्कूलों को आरटीई के तहत कोई बजट नहीं मिला है। इससे निर्धन बच्चों के एडमिशन को लेकर प्राइवेट स्कूलों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इतना ही नहीं इसके अलावा शिक्षा सत्र 2015-16 में भी इन स्कूलों को केवल 80 प्रतिशत बजट दिया गया था। बाकी बचे 20 प्रतिशत का अभी तक कोई अता-पता नहीं। ऐसी स्थिति में स्कूल संचालक भी अब निर्धन बच्चों को अपने स्कूलों में एडमिशन देने से कतरा रहे हैं। शिक्षा सत्र 2016-17 में प्राइवेट स्कूलों में एडमिशन लेने वाले निर्धन बच्चों की संख्या 942 थी। इस मामले में शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आरटीई का बजट मिलते ही सभी स्कूलों को एडमिशन की धनराशि भेज दी जाएगी।

क्या है शिक्षा का अधिकार अधिनियम
शिक्षा का अधिकार (आरटीई) अधिनियम 2009 दरअसल 86वें संवैधानिक संशोधन के तहत मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा के सार्वभौमिक अधिकार को सुनिश्चित करने की ही एक वैधानिक कोशिश है। इसके तहत 6 से 14 वर्ष तक की आयु के हर बच्चे को प्राथमिक शिक्षा पूरी होने तक अपने घर के पास स्थित स्कूल में मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार है।

निजी स्कूलों को कमजोर वर्गों और पिछड़े तबके के 25 फीसदी बच्चों को प्रवेश देना होता है, जिसके लिए सरकार उन्हें धनराशि मुहैया कराती है। अल्मोड़ा के  मुख्य  शिक्षाअधिकारी एके सिंह ने कहा कि सरकार से आरटीई का बजट जल्द मिलने की उम्मीद है, जिसके बाद सभी स्कूलों को निर्धन छात्रों के एडमिशन के लिए धनराशि दे दी जाएगी।
 

हादसों को दावत दे रहा है जालली मोटर मार्ग

 अल्मोड़ा। विभाग लोगों की सुविधाओं की अनदेखी कर रहा है। पर्वतीय क्षेत्र में सडक़ मार्ग निर्माण तो कर दिया जाता है। लेकिन, ठोस उपाय न करके सुरक्षित सफर की अनदेखी की जाती है।  विभागीय लापरवाही का आलम यह है कि मोटर मार्ग में बगैर अनुमति के ओएफसी लाइन बिछाई जा रही है। विभाग सडक़ पर सुरक्षा के कार्य तो दूर ओएफसी के लिए खोदे गए गड्ढ़ों को भरवाने तक की जहमत नहीं उठा रहा है।

रानीखेत तिपोला, जालली मोटर मार्ग में सफर करना आसान नहीं है। सिलोर क्षेत्र को जोडऩे वाला एक मात्र मोटर मार्ग में कई स्थानों पर सुरक्षा दीवार ध्वस्त है, तो कही पैराफिट गायब। सडक़ पर उखड़ा डामर विभागीय लापरवाही की हकीकत बयां कर रहा है। ऐसे में मोटर मार्ग में सफर करना आसान नहीं है।
 

सामान ठिकाने लगाने वाला दबोचा

रुद्रपुर। भारत हेवी इलेक्ट्रिकल लिमिटेड (बीएचईएल) कंपनी का सामान ठिकाने लगाने वाले को पुलिस ने डेढ़ वर्ष बाद पुलिस ने दबोच लिया। वह लालपुर सामान लेकर आया था। सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई कर कैंटर सीज कर दिया। बीएचईएल, रुद्रपुर ने ईटीओ ट्रांसपोर्ट के माध्यम से तमिलनाडु के लिए 11 सितंबर 2015 को माल बुक कराया था, जिसे ट्रांसपोर्ट प्रबंधक ने ट्रक (उप्र 77 टी 1836) के माध्यम से भेजा था लेकिन रास्ते में ही चालक दीपक कुमार कुशवाहा निवासी ङ्क्षसहपुर कछार बिठुर, कानपुर ने लगभग दो लाख की कीमत का सामान गायब कर दिया।

गंतव्य स्थान पर माल पूरा न पहुंचने पर बीएचईएल के अधिकारियों ने ट्रांसपोर्ट पर क्लेम कर दिया। उसके बाद ट्रांसपोर्ट प्रबंधक सुशील कुमार ने पुलिस में शिकायत की। इस पर 12 दिसंबर को अमानत में खयानत का मुकदमा दर्ज किया। उसके बाद से ही चालक फरार चल रहा था। गुरुवार सायं एसआइ मदन बिष्ट ने दीपक कुशवाहा के लालपुर में माल लेकर आने की सूचना पर दबिश देकर उसे दबोच लिया।
 

रेलवे लाइन से वृद्ध का शव बरामद

रुद्रपुर। रेलवे लाइन के पास एक वृद्ध का शव मिला। उसकी शिनाख्त नहीं हो पाई। पुलिस का मानना है कि वृद्ध भीग मांगकर गुजर-बसर करता था। उसकी शिनाख्त कराने का प्रयास किया जा रहा है। शुक्रवार सुबह आदर्श कॉलोनी पुलिस को रेलवे लाइन के पास शव पड़े होने की सूचना मिली, जिस पर पुलिस ने मौके पर पहुंच शव कब्जे में ले लिया।

मृतक की उम्र लगभग साठ वर्ष के करीब है। तलाशी में उसके पास से कोई ऐसा कागज नहीं मिला जिससे उसकी शिनाख्त हो पाए। बताया जाता है कि वृद्ध अल्मोड़ा का रहने वाला है। वहां भी वह भीख मांगकर ही गुजर करता था।

हादसे में कार सवार चार लोग घायल

रुद्रपुर। गड्ढे से बचने के प्रयास में एक कार अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में कार सवार चार लोग घायल हो गए। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। कार सवार मुरादाबाद से रुद्रपुर सगाई समारोह में शिरकत करने आ रहे थे।

डबल फाटक संभल रोड मुरादाबाद निवासी राजेश रस्तोगी पुत्र सुरेश, किरन रस्तोगी पत्नी राजेश रस्तोगी, कपिल पुत्र राजेश रस्तोगी, पुष्पा रस्तोगी पत्नी छेदालाल रस्तोगी शुक्रवार को रुद्रपुर इंदिरा बंगाली कालोनी में पारिवारिक सगाई समारोह में भाग लेने आ रहे थे। महतोश मोड़ के पास सडक़ पर गड्ढे से बचने के प्रयास में कार अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में चारों घायल हो गए। राहगीरों ने कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला और जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

टे्रन से कटा बारहवीं का छात्र

देहरादून। नेहरू कॉलोनी थाना क्षेत्र में देर रात एक छात्र टे्रन की चपेट में आकर मारा गया। बताया जा रहा है कि कल शाम से यह छात्र अपने घर से निकला था और रात तक घर नहीं पहुंचा था। परिजन लगातार उसे तलाश कर रहे थे। शुक्रवार सुबह इस दुर्घटना के बाद परिजनों को भी सूचित किया गया जिस पर मौके पर पहुंचे परिजनेंा ने युवक की शिनाख्त की।  नेहरू कॉलोनी पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कल रात लगभग साढे दस बजे यह घटना हुई। स्थानीय लोगों से सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और और आसपास के लोगों से पूछ कर युवक के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास किया गया।

पूछताछ के दौरान ही पता लगा कि युवक का नाम त्रिलोक सिंह है जा कि नवादा का रहने वाला है। सूचना मिलने पर परिजन भी पहुंचे जिन्हेांने बताया कि हाल ही में त्रिलोक ने बारहवी की परीक्षा दी थी और उसका परीक्षा परिणाम आने वाला था। बताया जा रहा है कि कल शाम को त्रिलोक घर में बिना किसी को बताए घर से गया था और तभी से घर के लोग उसकी तलाश कर रहे थे। परिजनों की मौजूदगी में शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

आर्डनेंस फैक्ट्री अधिकारी के घर बंधक मिली दो नाबलिग

देहरादून। रायपुर थाना क्षेत्र में देर रात पुलिस ने आर्डनेंस फैक्ट्री के एक संयुक्त महाप्रबंधक के घर पर छापा मारा। पुलिस ने यहां से दो सगी बहनों केा बरामद किया जो कि इस घर मेंं बंधक बना कर रखी गयीं थ्ीा। पुलिस के अनुसार दोनों ही लड़कियां नाबालिग हैं और इन लोगों को यहां पढाई के बहाने से लाया गया था लेकिन इनसे जबरन घर का काम कराया जा रहा था। कल रात किसी तरह से यह दोनेां लड़कियां घर से निकलने में कामयाब रहीं थी जिसके बाद इन्होंने आसपास के लोगों को इस बारे में बताया एवं तब बात पुलिस तक जा पहुंची। पुलिस अब अधिकारी से भी पूछताछ कर रही है। वहीं देर रात प्रकाश में आए इस मामले को अधिकारी द्वारा लगातार दबाए जाने का प्रयास किया जाता रहा लेकिन स्थानीय लोगों के विरोध के कारण पुलिस को कार्रवाई करनी ही पड़ी।

मिली जानकारी के अनुसार रायपुर थाना क्षेत्र में ह्यूमन ट्रैफिकिंग से संबंधित एक और मामला प्रकाश में आया है। आर्डनेंस फैक्ट्री इस्टेट से दो लड़कियों को बरामद किया गया है जा कि धारचूला में रहने वाली एव ंनेपाली मूल की बताई जा रही हैं। आर्डनेंस फैक्ट्री में संयुक्त महाप्रबंधक के पद पर तैनात कुमांउ मूल के अधिकारी के घर से इन लड़कियों को आजाद कराया गया है। असल में यह प्रकरण तब प्रकाश में आया जब कल रात इस अधिकारी के घर पर काम कर रही यह दोनेां सगी बहनें किसी तरह घर से भाग निकली।

इस दौरान इन लड़कियों ने स्थानीय लेागों से मदद मांगी और सारी बात लोगों को बताई। इसी दौरान अधिकारी एवं उसके घर के लोग दोनों को धमका कर वापस ले गए। स्थानीय लोगों ने इस बात की सूचना रायपुर पुलिस को दी जिस पर देर रात ही रायपुर पुलिस ने संयुक्त महा प्रबंधक के घर पर छापा मारा और इन दोनों  लड़कियों को बरामद किया। बताया जा रहा है कि इन बहनेां में से एक कई सालों से अधिकारी के घर पर नौकरों की तरह काम कर रही है जबकि उसकी दूसरी बहन को हाल ही में यहां लाया गया। धारचूला में रहने वाली नेपाली मूल की यह दोनों बहनें अधिकारी के घर पर यह कह कर लाई गयीं कि इन्हें पढ़ाया जाएगा लेकिन देहरादून आने के बाद इन नाबालिग बहनों को घर में बंधक बना कर रखा गया एवं काम कराया जाता रहा। लडकियों को एनजीओ के हवाले किए जाने की तैयारी की जा रही है। पुलिस के अनुसार लड़कियों से पूछताछ के बाद आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि इसी वर्ष 29 मार्च को भी डील के एक वैज्ञानिक के घर से एक लडक़ी को बरामद किया गया था। लडक़ी ने खुद पुलिस को फोन कर खुद को बंधक बनाए जाने की सूचना दी थी। रायपुर पुलिस ने जब इस सूचना पर डील रक्षा संस्थान के वैज्ञानिक अजय मलिक के घर पर छापा मारा तो यहां से एक लडक़ी को बरामद किया गया। लडक़ी ने अपना नाम अंजू निवासी छत्तीसगढ बताया, जिसे कि दिल्ली के शंभू नाम के एक व्यक्ति ने डील वैज्ञानिक के घर काम करने के लिए भेजा था। छत्तीसगढ के सुभाष एवं मोहर सिंह इस मामले में अब तक फरार हैं, जिनके तार अभी भी ह्यूमन टै्रफिकिंग से जुडे हुए हो सकते हैं।

पुलिस के अनुसार लड़कियों केा घरों में काम कराने का अवैध कारोबार करने वाला यह पूरा गिरोह बंगाल, झारखंड, बिहार एवं उड़ीस की लड़कियों को काम पर लगवाने के लिए लाते रहते हैंं। पूर्व मेंं बरामद अंजू भी इसी कड़ी का एक हिस्सा थी जिसके साथ कई बार शंभु सिंह ने शारीरिक संबंध भी बनाए। ह्यूमन टै्रफिंकिंग के लिए लाए जाने वाली लड़कियों को कभी उनके काम का पैसा नहीं मिलता और न ही इनके परिजनों को ही यह कभी पता चल पाता है कि उनकी बेटियां आखिर देश के किस हिस्से में हैं।

रायपुर पुलिस के अनुसार यह मामला ह्यूमन टै्रफिकिंग से जुड़ा हुआ होना नहीं बताया जा रहा है। दोनों बहनों से अभी पूछताछ की जा रही है और इन्हीं बयानों के आधार पर पुलिस अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई करेगी। बताया जा रहा है कि उक्त अघिकारी के प्रदेश शासन में अच्छी पैठ है और कल रात इस घटना के प्रकाश में आने के बाद घटना को दबाने का भी काफी प्रयास किया गया था।
 

शादीशुदा प्रेमी युगल ने लगाया मौत को गले

देहरादून। थाना कैंट क्षेत्र में शुक्रवार को प्रेमी युगलों के शव मिलने से सनसनी फैल गयी। दोनों के शव एक पेड़ से लटके हुए पाए गए, जिन्हें सबसे पहले क्षेत्र के लेागों ने देखा। पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मिली जानकारी के अनुसार संतला देवी मंदिर के निकट शुक्रवार सवेरे कुछ लोगों ने एक महिला व पुरूष के शव पेड़ से लटके हुए देखे। स्थानीय लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी जिस पर कैंट पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कबजे में लिया।

पुलिस के अनुसार मरने वाले पुरूष का नाम 24 वर्षीय त्रिलोक निवासी बगोटी चकराता एवं महिला का नाम 21 वर्षीय पिंकी था। पिंकी पहले से ही शादीशुदा थी और उसके दो बच्चे भी हैं। बताया जा रहा है कि दोनों के बीच लंबे समय से प्रेम प्रसंग चला आ रहा था जिसकी भनक इनके परिजनों को भी लग गयी थी। घर में लगातार हो रहे हंगामे के बाद प्रियंका तीन दिन पहले घर से गायब हो गयी थी। तभी से परिजन उसे तलाश कर रहे थे लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल  पा रहा था। आज दोनों के शव मिलने के बाद पुलिस ने उनके परिजनों के भी सूचित किया। शवों का पंचनामा करने के बाद उन्हेें पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
 

सुरक्षा समीक्षा के दौरान गैर जरूरी व्यक्ति को नहीं दिया जाएगा गनर

देहरादून। सरकारी गनर से रौब मारने वाले रईसों,नेताओं,बिल्डरों और छुटभैयों के शायद बुरे दिन आ गए है क्योकि राज्य स्तर की सुरक्षा समीक्षा के दौरान किसी भी गैर जरूरी व्यक्ति को सरकारी गनर सशुल्क या नि:शुल्क नही दिए जाने का निर्णय लिया गया है।
प्रदेश के राज्यपाल डॉ. के. के.पाल और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह को जेड प्लस सुरक्षा प्रदान की गई है तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट व माता सावित्री देवी को वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है जबकि छ: महानुभवों से वाई श्रेणी की सुरक्षा वापसी का निर्णय लिया गया है।

उत्तराखंड में सभी विधायकों के अलावा कुल 56 लोगो को ही विभिन्न प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था के तहत जिन महानुभावो को सरकारी वर्दी वाले गनर मुहैय्या कराए गए है उनमें मुख्य न्यायधीश उत्तराखंड, स्वामी रामदेव और रिटायर न्यायधीश धर्मवीर शर्मा के लिए जेड श्रेणी की सुरक्षा महत्वपूर्ण है जबकि समस्त पूर्व मुख्यमंत्रियों के अलावा चमोली में शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती,शंकराचार्य स्वामी माधवाश्रम सरस्वती,शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती, जगतगुरु रामानंदाचार्य हंसदेवाचार्य महाराज, जगतगुरु पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वरानंद महाराज भोले जी महाराज एवं उच्च न्यायालय के सभी न्यायाधीशों सहित 20 अतिविशिष्ठ व्यक्तियों को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गयी है।

दा संडे पोस्ट के संपादक अपूर्व जोशी व पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ की वाई सुरक्षा और उद्योगपति अनिल गुप्ता की जेड सुरक्षा समाप्त कर दी गई, पूर्व मंत्री तिलक राज बेहड़ को सिर्फ एक सरकारी गनर दिया गया है, कुल छ महानुभावो की वाई श्रेणी और पूर्व विधायक किरण मंडल की एक्स श्रेणी सुरक्षा समाप्त कर दी गयी है।
जिन महानुभावो की वाई सुरक्षा हटाई गई है उनमें फ्लक्स इंडस्ट्री के चेयरमैन अशोक चतुर्वेदी, महंत रविन्द्रपुरी, उद्योगपति अजय गुप्ता और अतुल गुप्ता महत्वपूर्ण है।
नौ जनवरी 2017 को जिन 17 लोगो को सरकारी गनर देने की संतुति की गई थी उनमे से एक मुख्यमंत्री और एक वित्त मंत्री का पद संभाल चुके है जबकि पूर्व नौकरशाह सुभाष कुमार, एस एस रावत और हरिद्वार के शेर सिंह राणा के अलावा सभी के गनर समाप्त कर दिए गए है, सुश्री रीता सूरी और श्रीमती सुमन देवी को एक एक गनर उच्च न्यायालय की निर्देश पर दिए गए है, जिन व्यक्तियों को एक एक सरकारी गनर दिया गया है उनकी संख्या अब उत्तराखंड में 23 तक ही सीमित रखी गई है,किसी को सशुल्क गनर देने का फिलहाल कोई आदेश राज्य सरकार ने नही दिया है जबकि जिन लोगो ने अग्रिम भुगतान सरकारी कोष में जमा करा रखा है,उसको वापस किये जाने की पत्रावली शुरू कर दी गयी है।

सरकारी गनर और लाल बत्ती की चमक धमक को खत्म करने पर गंभीर राज्य सरकार
सरकारी गनर से रौब गालिब करने की परंपरा हो या लाल बत्ती की चमक धमक सभी को समाप्त करने को लेकर राज्य सरकार काफी गंभीर है,मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार चलाने में ऐसा कोई भी जोखिम उठाने को तैयार नही है जो प्रधानमंत्री मोदी की कसौटी पर खरा न उतरे।लेकिन इतना जरूर है कि कुछ शेखीखोर अब भी सरकारी चमक और खाकी वर्दी की धमक की खातिर नेताओ की परिक्रमा में लगे है।

पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर धरने पर अडिग

नई टिहरी। जिला सहकारी बैंक (डीसीबी) से हटाए गए कर्मचारियों ने पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर अपना धरना तीसरे दिन भी जारी रखा। उन्होंने बैंक प्रबंधक से शीघ्र नियुक्ति की मांग की है। डीसीबी की विभिन्न शाखाओं से हटाए गए कर्मचारियों ने पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर शुक्रवार को भी बैंक की मुख्य शाखा में अपना धरना जारी रखा।  संगठन अध्यक्ष कलम सिहं नेगी ने कहा कि अगर हटाए गए कर्मचारियों की शीघ्र पुनर्नियुक्ति नहीं कि जाती है तो आंदोलन को उग्र किया जाएगा। आनंद सिहं नेगी ने चतुर्थ श्रेणी पदों पर हुई नई नियुक्तियों की जांच के साथ ही उनको निरस्त करने की मांग की।

कहा कि इस संबंध में उन्होंने ने शासन-प्रशासन को पत्र भेजा है। उन्होंने शासन-प्रशासन से इस मांमले में शीघ्र उचित कार्रवाही करने के साथ ही हटाए गए कर्मचारियों की पुनर्नियुक्ति की मांग की है। घनसाली के जनप्रतिनिधि डॉ. नरेन्द्र डंगवाल, दिनेश लाल, विक्रम असवाल ने धरने पर बैठे लोगों को अपना समर्थन दिया। उन्होंने सरकार से हटाए गए कर्मचारियों को नियुक्ति देने की मांग की। धरना देने वालों में सुनील पैन्यूली, दिनेश राणा, सुकेश ममगाई, राजेन्द्र रावत, नरेन्द्र तडियाल, रणवीर सजवाण, उत्तम सिहं भंडारी, सवेन्द्र थपलियाल, दिनेश भट्ट, कृष्णा बिजल्वाण, हरीश चौहान, प्रदीप मटियाल आदि मौजूद थे।
 

बदरीनाथ में भी है एक राष्ट्रपति भवन

बदरीनाथ। छह मई को बदरीनाथ दौरे पर आ रहे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति भवन में विश्राम करेंगे। जिस तीन मंजिला वीआइपी गेस्ट हाऊस में राष्ट्रपति के ठहरने की व्यवस्था की जा रही है स्थानीय स्तर पर उसे इसी नाम से जाना जाता है। वजह यह कि वर्ष 1958 में देश के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के लिए इस भवन का निर्माण किया गया था। तब तत्कालीन राष्ट्रपति जोशीमठ से बदरीनाथ से पालकी में आए थे।

बदरी-केदार मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी (सीईओ) बीडी सिंह ने  बताया कि राष्ट्रपति के आगमन को लेकर बदरीनाथ में तैयारियां जोरों पर हैं। वीआइपी गेट के सामने जिस भवन में राष्ट्रपति विश्राम करेंगे, उसे सजाया संवारा जा रहा है। इस भवन में दो बेडरूम, एक ड्राइंग, एक डाइनिंग रूम, रसोई और दो वाशरूम हैं।
इस भवन के पृष्ठ भाग से अलकनंदा और आगे से मंदिर का सिहंद्वार दिखता है। भवन में रंग-रोगन का कार्य चल रहा है। उन्होंने बताया कि प्रणब मुखर्जी सुबह

8.40 बजे बदरीनाथ धाम पहुंचेंगे। विशेष पूजा-अर्चना के बाद वह करीब एक घंटा यहां विश्राम करेंगे।
बदरी-केदार मंदिर समिति छह मई को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बदरीनाथ यात्रा को यादगार बनाने की तैयारी कर रही है। राष्ट्रपति को विशेष प्रसाद के साथ ही रिंगाल (खास तरह का बांस) की रंग-बिरंगी टोकरी में स्थानीय चावल से बने अरसे और आटे से बने रोटन (स्थानीय मिठाई) की सौगात दी जाएगी।  उन्होंने बताया कि ये मिठाई जोशीमठ में तैयार कराई जा रही हैं। स्थानीय कारीगरों ने टोकरी का निर्माण भी शुरू कर दिया है। प्रणब दा को प्रसाद के तौर पर अंगवस्त्र व चौलाई के लड्डू दिए जाएंगे।

अलकनंदा नदी में डूबे दोनों युवकों के शव मिले

श्रीनगर गढ़वाल। बीते गुरुवार को श्रीनगर में श्रीयंत्र टापू के सामने पीपलचौरी के समीप अलकनंदा नदी में डूबे दोनों युवकों के शव पुलिस और पीएसी की आपदा टीम ने बरामद कर लिए। दोनों शवों का पोस्टमार्टम करने के बाद शव उनके परिजनों को सौंप दिए।  उत्तरकाशी के भटवाड़ी ब्लाक के जखोल गांव निवासी 20 वर्षीय त्रेपन सिंह का शव बीते गुरुवार सांय ही नदी से बरामद हो गया था, जबकि नदी में डूबे दूसरे युवक 18 वर्षीय संजय सिंह निवासी भटवाड़ी ब्लाक के ज्योंकाणी गांव का शव पुलिस की आपदा टीम को शुक्रवार सुबह दस बजे मिला। 

यह दोनों युवक अपने आठ अन्य दोस्त युवकों के साथ गौचर में सेना भर्ती में शामिल होने के लिए आए थे। बीते गुरुवार दोपहर वे अपने घर उत्तरकाशी जाने के लिए लौट रहे थे। इस दौरान श्रीनगर गढ़वाल में पीपलचौरी के समीप रुककर वे अलकनंदा में नहाने लगे। इस बीच यह दोनों युवक नदी में डूब गए। यह जानकारी श्रीनगर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी ने दी।

शिक्षकों की तैनाती न होने पर ग्रामीण नाराज

पौड़ी। विकासखंड कल्जीखाल से आए शिष्टमंडल ने गढ़वाल मंडल के अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक शिक्षा को ज्ञापन देकर राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय डांगी में रिक्त चल रहे शिक्षकों के पदों पर तैनाती की मांग की है।  उन्होंने कहा कि विद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती न होने से इसका बुरा असर विद्यालय के पठन पाठन पर पड़ा है लेकिन कई बार गुहार लगाने के बाद भी इस ओर सभी मौन हैं। अपर निदेशक को दिए ज्ञापन में अभिभावक व जन प्रतिनिधियों का कहना है, कि राउमावि डांगी में चतुर्थ श्रेणी से प्रधानाध्यापक सहित कुल छह पद खाली है।

उनका कहना था कि विद्यालय में प्रधानाध्यापक के अलावा सहायक अध्यापक ङ्क्षहदी, सहायक अध्यापक अंग्रेजी, गणित, कला के अध्यापक के साथ ही लिपिक व परिचारक का पद रिक्त है। जन प्रतिनिधियों का यह भी कहना था कि लंबे समय से विद्यालयों में रिक्त चल शिक्षकों के पदों पर तैनाती न होने से विद्यालय के पठन-पाठन पर इसका बुरा असर पड़ रहा है।

उन्होंने विद्यालय में रिक्त चल रहे पदों पर शीघ्र तैनाती की मांग अपर निदेशक से की है। ज्ञापन में पीटीए अध्यक्ष जगमोहन डांगी, ग्राम प्रधान सरस्वती देवी, रेखा देवी, उमा देवी, मनमोहन रावत, वीरेंद्र, महेश ङ्क्षसह, दौलत, ऋषि बल्लभ, जगदीश ङ्क्षसह, मीना देवी, दिनेश ङ्क्षसह, विद्यावती, अंजू देवी,किरन, मुन्नी, ऊषा देवी, पुष्पा देवी, दमयंती आदि के नाम शामिल हैं।

पूर्व की भांति मसूरी एक्सप्रेस चलाने की मांग

कोटद्वार। अखिल भारतीय उत्तराखंड महासभा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री सुरेश प्रभु व रक्षा मंत्री अरुण जेटली को ज्ञापन भेजकर कोटद्वार-नजीबाबाद के मध्य पूर्व की भांति मसूरी एक्सप्रेस चलाने की मांग की है। महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मनमोहन दुदपुड़ी ने ज्ञापन में कहा कि लंबे समय से कोटद्वार-नजीबाबाद के मध्य मसूरी एक्सप्रेस नही चल रही है।

इस ट्रेन से बड़ी संख्या में पहाड़ सहित कोटद्वार और गढ़वाल रेजिमेंट के सैनिक सहित अन्य लोग बड़ी संख्या में सफर करते हैं। कहा कि कई ट्रेन नजीबाबाद रेलवे स्टेशन से होकर गुजरती हैं, लेकिन नजीबाबाद स्टेशन पर नही रुकती। जिससे स्थानीय यात्री को नजीबाबाद से पहले वाले स्टेशनों पर उतरना पड़ता है। उन्होंने इस ट्रेन को फिर से कोटद्वार-नजीबाबाद के मध्य चलाने की मांग की है।
 

दो दिवसीय साइकिल रैली का शुभारंभ

रुद्रप्रयाग। पुलिस के सौजन्य से दो दिवसीय साइकिल रैली का शुभारंभ किया गया। रैली का उद्देश्य केदारनाथ की यात्रा सुखद व सुरक्षित होने का संदेश देश व दुनिया को देना है। शुक्रवार सुबह लगभग साढ़े पांच बजे पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। कहा कि केदारनाथ की यात्रा सुखद व सुरक्षित होने का संदेश पूरे देश व दुनियां को देना है।
 

आपदा के बाद केदारनाथ यात्रा मार्गो के प्रति भय का माहौल है, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले यात्री पूरी तरह सुरक्षित हैं, इसका संदेश इस रैली से दिया जाएगा। यह साइकिल रैली रुद्रप्रयाग से गौरीकुंड तक जाएगी जो 85 किमी लंबी होगी। रैली पहले दिन गुप्तकाशी पहुंचेगी। शनिवार को गौरीकुंड पहुंचने के बाद समाप्त हो जाएगी। केदारनाथ यात्रा 3 मई को शुरू हो रही है।

इस रैली में मुख्य रूप से सीनियर सिटीजन 70 वर्षीय कमलजीत ङ्क्षसह, 63 वर्षीय विश्वा धीमान, विनोद सकलानी, जोशीमठ में तैनात भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल कुणाल, कैप्टन प्रबद्ध दीप, 18 वर्षीय कुलदीप पैनोली, पुलिस विभाग के आरक्षी संदीप बिष्ट, ओमप्रकाश, समेत बड़ी संख्या में स्थानीय लोग शामिल हुए।
 

स्कूल में शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

रुडक़ी।  मैक्स मूलर पब्लिक स्कूल के बच्चों ने जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा तथा छत्तीसगढ़ के सुकमा हमले में शहीद जवानों की आत्मा की शांति के लिए मोमबत्तियां जलाकर प्रार्थना की। बच्चों ने पीएम मोदी से अपील की कि जवानों की शहादत को बेकार न जाने दें और इनका कड़ा जवाब दें।

इस मौके पर चेयरमैन स्वतंत्र कुमार, वाइस चेयरमैन प्रो. राघवेंद्र स्वामी, संरक्षक इसम सिंह, प्रिंसीपल अल्का सुयाल, अनुराग चौधरी, अमृत कौर, रीना चौहान, साक्षी मित्तल, कोमल धीमान, निकिता धमीजा, चंचल गोयल, सीमा चौधरी, रजनी सिंह, हिना खान, नेहा गुप्ता, उर्मिला मोहंती, सुषमा आदि मौजूद रहे।
 

महिला की मौत पर मायके वालों के बयान दर्ज

रुडक़ी। बहू की मौत की खबर छिपाने के मामले में मायके पक्ष के लोगों ने जांच अधिकारी के सामने बयान दर्ज कराए। पुलिस आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही है। आरोपियों की ओर से भी पुलिस को तहरीर दी गई है। गाजावाला मुजफ्फरनगर निवासी निधि शर्मा की शादी 2004 में सोलानीपुरम निवासी युवक के साथ हुई थी। मायके पक्ष का आरोप है कि ससुराली शादी में दिए गए दहेज से खुश नहीं थे। निधि ने अपनी शादी बचाने के लिए मायके वालों से उसके मामले में दखल नहीं देने को कहा था।

अठारह अप्रैल को निधि की छोटी बहन की शादी थी। शादी में निधि के न पहुंचने पर मायके वाले उसके ससुराल सोलानीपुरम आए। तब उन्हें पता चाला कि निधि की करीब डेढ़ साल पहले मौत हो चुकी है। मायके पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी। मायके पक्ष के लोगों ने जांच अधिकारी उपनिरीक्षक भाव सिंह चौहान से मिलकर बयान दर्ज कराए। पुलिस जांच में यह बात भी सामने आयी है कि निधि को उसके ससुराल वाले घर से बाहर नहीं निकलने देते थे। पुलिस को इस बात का भी पता चला कि उसे प्रताडि़त भी किया जाता था।

वहीं, ससुराल पक्ष ने भी पुलिस को तहरीर दी है। जिसमें मायके पक्ष पर जबरन घर में घुसकर मारपीट करने और मोबाइल ले जाने का आरोप लगाया गया। पुलिस इस तहरीर पर भी जांच कर रही है। उधर, हत्या के मामले में मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस ऐश्वर्य पाल ने बताया कि जांच चल रही है उसके आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

शनिवार व रविवार को बारिश होने की संभावना

रुडक़ी। मौसम विभाग ने शनिवार और रविवार को बारिश होने की संभावना जताई है। बारिश हुई तो लोगों को काफी हद तक गरमी से निजात मिल जाएगी।
पिछले शनिवार को हुई बारिश से तापमान चार डिग्री तक गिर गया था।  इसके बाद अब तापमान फिर से बढऩे लगा, लेकिन बादलों ने अब फिर करवट बदली है। पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश वाले बादल आसमान में जमा हो रहे हैं। इससे फिर गरज और चमक के साथ बारिश होने की संभावना बनी हुई है।

आईआईटी रुडक़ी के जैव प्रोद्योगिकी विभाग में कार्यरत मौसम विभाग की ओर से संचालित ग्रामीण कृषि मौसम सेवा परियोजना के तकनीकी अधिकारी डॉ.अरविंद कुमार ने बताया कि शनिवार रात से क्षेत्र में बारिश होने की संभावना बन रही है। इस दौरान तेज हवाएं भी चलेंगी। गरज के साथ छींटे भी पड़ेंगे। इससे तापमान में फिर से गिरावट आने की संभावना है। बताया कि रविवार को भी बारिश लोगों को राहत देगी। इसके बाद मौसम साफ हो जाएगा।उधर, खेतों में खड़े गेहूं को जल्द काटने की सलाह वैज्ञानिकों ने दी है। डॉ. अरविंद कुमार ने बताया कि किसानों को शनिवार तक खेतों से अपने गेहूं उठा लें। इसके बाद बारिश के चलते उन्हें नुकसान होने की आशंका रहेगी।

ऊर्जा निगम की मीटर टेस्ट लैब के चौथी बार टूटे ताले

रुडक़ी। वोट क्लब स्थित ऊर्जा निगम की मीटर टेस्ट लैब के गुरुवार रात चौथी बार फिर से अज्ञात लोगों ने ताले चटका डाले लेकिन कोई सामान चोरी नहीं हुआ। निगम के अफसर इसे कबाडिय़ों की शरारत बता रहे हैं। लैब में कई बार चोरी की घटनाओं के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया है।
ऊर्जा निगम की नगरीय एवं ग्रामीण मीटर टेस्ट लैब में पिछली चोरी का भी पुलिस अब तक खुलासा नहीं कर पाई है। अब फिर से चोरों ने लैब के ताले तोडक़र खिडक़ी की जाली उखाड़ डाली।

उन्होंने एई के रूम का सामान खुर्द-बुर्द किया। तीन महीने पूर्व ग्रामीण लैब में एक युवक को मौके पर चोरी करते पकड़ा था।
उसके दस दिन बाद नगरीय लैब में चोरी का प्रयास किया गया। उसके एक पखवाड़े बाद फिर से तीसरी बार चोरी कर कंप्यूटर और पंखा चोरी किया। अब चौथी बार फिर से ताले तोडक़र चोरी का प्रयास किया गया। ईई ने लैब की मरम्मत के लिए करीब 40 लाख रुपये का बजट पास कराया है। इसका टेंडर भी हो चुका है।

सरकार से गन्ना भुगतान दिलाने की मांग

रुडक़ी। साबतवाली में भारतीय किसान क्लब की बैठक में राज्य सरकार से चीनी मिलों से बकाया गन्ना भुगतान दिलाने की मांग की गई। क्लब के अध्यक्ष चौधरी कटार सिंह ने कहा कि इकबालपुर शुगर मिल पर किसानों का करीब 45 करोड़ रुपये गन्ना भुगतान रुका हुआ है। भाजपा ने चुनाव के समय किसानों को 15 दिन में गन्ना भुगतान दिलाने का वायदा किया था। केन्द्र सरकार ने लोकसभा चुनाव के समय कहा था कि किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी। इसी विधानसभा चुनाव के दौरान केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने किसानों के कर्ज माफ करने की घोषणा की थी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपना वायदा पूरा कर दिया लेकिन उत्तराखण्ड सरकार इससे मुकर रही है। उन्होंने कहा कि इस समय गन्ना बुआई चल रही है। किसानों को खाद, पानी के लिए पैसे की आवश्यकता है। सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए। इस मौके पर शीशपाल सिंह, पदम सिंह, कर्म सिंह, राजकुमार, निरंकार सिंह, मुनव्वर हसन, यशवीर सिंह, चौधरी बिरम सिंह, बाबूराम, मोल्हड सिंह, विकास कुमार आदि उपस्थित थे।
 

बच्चों के झगड़े में दो भाइयों में मारपीट

रुडक़ी।  हरसीवाला गांव में बच्चों की कहासुनी में युवक ने अपने भाई के साथ मारपीट कर दी। पीडि़त ने पुलिस को तहरीर दी है। सुल्तानपुर चौकी क्षेत्र के हरसीवाला गांव निवासी सोनू ने पुलिस में तहरीर देकर बताया कि शुक्रवार को उनके परिवार के बच्चे आपस में खेल रहे थे।

इसी बीच बच्चों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। झगड़ा बढऩे पर उसके बड़े भाई और भाभी उनके बच्चों को मारने लगे। इसका विरोध करने  पर दोनों ने उसकी पिटाई कर दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

योगी की राह पर केजरीवाल सरकार

नई दिल्‍ली: उत्तर प्रदेश से सीख लेते हुए दिल्ली सरकार ने बड़ी हस्तियों की जयंती अथवा पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले सार्वजनिक अवकाश रद्द करने का फैसला किया है. इसकी जानकारी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को दी. सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली सरकार प्रतिष्ठित हस्तियों की जयंती अथवा पुण्यतिथि पर दी जाने वाली छुट्टियां रद्द करेगी. मैंने इस संबंध में मुख्य सचिव को निर्देश दे दिये हैं.’ दिल्ली सरकार भी महापुरुषों के जन्म अथवा निर्वाण दिवस पर होने वाली छुट्टियां रदद् करेगी। इस बारे में मैंने मुख्य सचिव को निर्देश दिए हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले में अच्छी पहल की है। हमें अन्य राज्यों से सीखने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए। दिल्ली सरकार की मोहल्ला क्लीनिक और लाल बत्ती खत्म करने की पहल को राष्ट्रीय स्तर पर समर्थन से हमारा भी हौसला बढ़ा है।उन्होंने उत्तर प्रदेश में विभिन्न बड़ी हस्तियों की जयंती अथवा पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले 15 सार्वजनिक अवकाश रद्द करने संबंधी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले का स्वागत किया. उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार ने इस दिशा में अच्छा कदम उठाया है. हमें हमेशा दूसरे राज्यों से सीखने को तैयार रहना चाहिए.’ उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने 25 अप्रैल को इन 15 सार्वजनिक अवकाशों को रद्द करने का फैसला लिया था.

 

आज खुलेंगे गंगोत्रीधाम के कपाट

देहरादून। गंगोत्रीधाम के कपाट 28 अप्रैल को श्रद्घालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। इससे पूर्व गुरूवार को मांग गंगा के शीतकालीन प्रवास स्थल मुखबा से मां गंगा की डोली गंगोत्रीधाम के लिए रवाना हुई। काफी संख्या में श्रद्घालुगणों के गंगोत्रीधाम में जुटने की खबर है।  विश्व प्रसिद्व गंगोत्रीधाम के कपाट शुक्रवार को अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर ग्रीष्मकाल के लिए खोल दिए जाएंगे। कपाट खुलने का मुहूर्त दोपहर बारह बजकर पंद्रह मिनट तय किया गया है। कपाट खुलने से पूर्व गुरूवार को मां गंगा के शीतकालीन प्रवास स्थल मुखबा से दोपहर एक बजे मां गंगा की डोली गंगोत्रीधाम के लिए रवाना हुई।

यहां रात भैरवघाटी में मां गंगा की शोभायात्रा विश्राम करेगी। मां गंगा की शोभायात्रा के ऐतिहासिक पलों का साक्षी बनने के लिए बड़ी संख्या में लोगों का मुखबा पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। बता दें कि पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान राम के पूर्वज रघुकुल के चक्रवर्ती राजा भगीरथ ने यहां एक पवित्र शिलाखंड पर बैठकर भगवान शंकर की प्रचंड तपस्या की थी।

इस पवित्र शिलाखंड के निकट ही 18वीं शताब्दी में गंगोत्री मंदिर का निर्माण किया गया।  ऐसी मान्यता है कि देवी भागीरथी ने इसी स्थान पर धरती का स्पर्श किया था। ऐसी भी मान्यता है कि पांडवों ने भी महाभारत के युद्घ में मारे गए अपने परिजनो की आत्मिक शांति के निमित इसी स्थान पर आकर एक महान देव यज्ञ का अनुष्ठान किया था। यह पवित्र एवं उत्ष्ठ मंदिर सफेद ग्रेनाइट के चमकदार 20 फीट ऊंचे पत्थरों से निर्मित है। दर्शक मंदिर की भव्यता एवं शुचिता देखकर सम्मोहित हुए बिना नहीं रहते।

चारधाम यात्रा-2017 का शुभारंभ

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चारधाम यात्रा-2017 का शुभारंभ, यात्रा बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड आगमन पर सभी चारधाम यात्रियों का स्वागत करते हुए उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होने की भगवान से प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चार धाम यात्रा के लिए पूरी तरह से तैयार है। इसकी प्रतिदिन मनिटरिंग की जा रही है।

उन्होंने बताया कि सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि चार धाम यात्रा पर लगे सभी वाहनों की फिटनेस पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि बिना फिटनेस वाली गाड़ी के संज्ञान में आने पर कठोर कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने सभी यात्रियों का रजिस्ट्रेशन किये जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा सभी यात्रियों का रजिस्ट्रेशन किया जाए, सरकार के पास सभी यात्रियों का पूरा रिकर्ड होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने मीडिया से भी अनुरोध किया कि यात्राकाल के दौरान होने वाली बादल फटने जैसी प्राकृतिक घटनाओं को बढ़ाचढा कर न दिखाया जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे प्रोजेक्ट और अल वेदर रोड हेतु बजट जारी कर दिया गया है।

राज्य सरकार कोशिश कर रही है कि उत्तराखंड में धार्मिक पर्यटन एवं योग को बढ़ावा दिया जाएगा। साथ ही राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी एवं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चारधाम आगमन से पूरी दुनिया में एक संदेश जाएगा कि उत्तराखंड में चारधाम यात्रा सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा हेतु प्राइवेट वाहन चालकों को भी प्रशिक्षण दिए जाने की जरूरत है। हमें एक बात का ध्यान रखना होगा कि चार धाम यात्री हमारे मेहमान हैं और हमारी संस्ति ‘अतिथि देवो भव:‘ की है। अतिथियों का सत्कार हमारा फर्ज होना चाहिए। इस अवसर पर, मुख्यमंत्री रावत ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र की सडक़ों के लिए रूपए नौ करोड स्वीत किए। साथ ही वन मंत्री डॉ$ हरक सिंह रावत ने घोषणा की कि ‘संजय झील‘ के सौंदर्यीकरण का कार्य वन विभाग द्वारा किया जाएगा। मुख्यमंत्री रावत में प्रेस क्लब में अवस्थापना सुविधाओं के विकास का लोकार्पण भी किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल एवं विधायक धन सिंह नेगी उपस्थित थे।

रिस्पना और सुसवा नदी में चलाया स्वच्छता अभियान

देहरादून। गुरूवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रिस्पना नदी व सुसवा नदी में स्वच्छता कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री रावत ने दोनों ही जगह एक विशेष जैविक पदार्थ का छिडक़ाव किया। यह जैविक पदार्थ दुर्गन्ध को समान्त कर देता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के शहरों व नदियों की स्वच्छता व निर्मलता के साथ ही उन्हें दुर्गन्ध मुक्त करने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्घ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत के स्वन्र को पूरा करने के लिए हम पूरा प्रयास कर रहे हैं। प्रायोगिक तौर पर कुछ दिन पूर्व सहस्त्रधारा रोड़ स्थित डम्पिंग ग्राउंड में इसका छिडक़ाव किया गया था। वहां दुर्गन्घ समान्त करने में सफलता भी मिली थी। इसकी पुष्टि वहीं के स्थानीय लोगों द्वारा की गई है।

आज विधानसभा के निकट रिस्पना में व सपेरा बस्ती के निकट सुसवा नदी में भी प्रयोग के तौर पर जैविक पदार्थ का छिडक़ाव किया गया है। यहां सफलता मिलने पर यह काम बड़े पैमाने पर अभियान के रूप में किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने मौके पर मौजूद एमडीडीए के अधिकारियों को देहरादून में रिवर फ्रन्ट डेवलपमेंट में किए गए कार्य व आगे की कार्ययोजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, मदन कौशिक, डॉ$ हरक सिंह रावत, अरविंद पाण्डे, विधायक उमेश शर्मा काउ, खजानदास, मुख्य सचिव एस रामास्वामी सहित शासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

नाबालिग गुमशुदा प्रकरण में पुलिस को मिली कामयाबी

देहरादून। नाबालिग युवती को बहला फुसलाकर भगा लिए जाने वाले मामले में पुलिस ने आरोपी दंपत्ति और एक अन्य को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा कि आरोपियों ने युवती को पैसा लेकर किसी को बेच दिया था।  24 अप्रैल को स्थानीय निवासी ने कालसी पर आकर सूचना दी कि उसकी 13 वर्ष की नाबालिक पुत्री को कोई भगाकर ले गया है। मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू की। थानाध्यक्ष कालसी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया टीम द्वारा सुरागरसी पतारसी करते हुए व सर्विलांस् माध्यम से पता लगाया गया कि वादी की पुत्री बडौत के सरुरपुर गांव में मोनू के घर पर है।

तुरन्त टीम द्वारा देहरादून से रवाना होकर बडौत पहुंची एवं सरुरपुर गांव से युवती को बरामद किया गया। जबकि आरोपीगण भागने में कामयाब रहे। पुलिस द्वारा युवती को कालसी लाकर मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, युवती ने मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दिये कि उसके गांव की सपना नाम की महिला व उसका पति हरेन्द्र उसे बिस्सू मेले से ले गये थे। बडौत के सरुरपुर के मोनू के हवाले कर दिया इसकी एवज में सपना ने मोनू से पैसे लिये युवती के बयानों से यह तथ्य प्रकाश में आया कि युवती को सपना व उसके पति हरेन्द्र ने बहलाफुसलाकर ले जाकर मोनू को बेच दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास तेज कर दिया।

इधर मुखबिर से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने तीनों आरोपियों को कालसी मंदिर के निकट से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में पता चला कि तीनों लोग पीडि़त परिवार को धमकाने के लिए जा रहे थे। आरोपियों की पहचान पुलिस ने मोनू पुत्र स्व$ रणवीर सिंह निवासी ग्राम सरुरपुर कलां जाट भवन के सामने बडौत बागपत और सपना पत्नी हरेन्द्र कुमार निवासी ग्राम हेवा थाना छपरौली तहसील बडौत जिला बागपत तथा हरेंद्र पुत्र चरण सिंह निवासी बागपत के रूप में की है।


योजनानुसार दिया घटना को अंजाम
आरोपी दंपत्ति ने पूर्व योजनानुसार घटना को अंजाम दिया। पुलिस के अनुसार सपना द्वारा बताया गया कि मोनू उपरोक्त रिश्ते में मेरा देवर लगता है जिसकी की कही शादी नहीं हो रही थी। जिसने मुझे कहा कि आप जौनसार के रहने वाले हो मेरी भी वही से शादी करवा दो।

तब मैने अपने पति के साथ मिलकर अपने ही गांव की नाबालिग युवती को बिस्सू मेले  से अपने साथ बहला फुसलाकर ले जाकर मोनू से पैसे लेकर युवती को मोनू को दे दिया। पुलिस ने दंपत्ति को नाबालिग लडक़ी को धन के लालच में बहलाफुसलाकर भगा लिए जाने और बेचने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। जबकि मोनू कुमार पर पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

 


नाबालिग से बलात्कार का आरोपी दबोचा
मसूरी पुलिस ने नाबालिग युवती से बलात्कार के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेशी पर ले जाया जा रहा है। दरअसल 25 अप्रैल को मसूरी के स्थानीय निवासी ने पुलिस को शिकायत देते हुए बताया कि उसकी नाबालिग भतीजी को नशीला पेय पदार्थ पिलाकर दीपराज नौटियाल पुत्र खेमराज नौटियाल निवासी ग्राम मोलधार पोस्ट ऑफिस बंगशील थत्यूड़ जिला टिहरी गढ़वाल ने बलात्कार किया।

पुलिस ने रेप, समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू की। इस दौरान आरोपी घर से भागने में कामयाब रहा। पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर आरोपी को सुबह धनौल्टी बाइपास रोड के समीप से गिरफ्तार कर लिया।

खजुरानी में पीडि़त परिवार को समुचित चिकित्सा सुविधा दिलाए जाने की मांग

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने जनपद अल्मोड़ा के चौखुटिया तहसील के खजुरानी गांव से लौटने के उपरान्त कांग्रेंस भवन में आयेाजित पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए वहां की वास्तविक स्थिति से अवगत कराया। खजुरानी गांव की परिस्थितियों को जानने के उपरान्त प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को पत्र लिखकर पीडित परिवार की समुचित चिकित्सा सुविधा करने का आग्रह किया है।

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में किशोर उपाध्याय ने कहा है कि ग्राम खजुरानी पो$ खेड़ा चौखुटिया जिला अल्मोड़ा में स्व$ नायक लालसिंह बिष्ट के परिवारजनों जिनमे श्रीमती जानकी देवी पत्नी स्व$ खुशाल सिंह बिष्ट, अर्जुन सिंह बिष्ट पुत्र स्व$ लालसिंह बिष्ट, दीवान सिंह बिष्ट पुत्र स्व$ खुशाल सिंह बिष्ट, हर्ष सिंह बिष्ट पुत्र स्व$ खुशाल सिंह बिष्ट तथा कु$ नीतू पुत्री स्व$ खुशाल सिंह बिष्ट शामिल हैं, अत्यंत दयनीय परिस्थितियों में खजुरानी में निवास कर रहे हैं।

उपाध्याय ने कहा कि अभी कुछ समय पहले ही 15 अपै्रल को उनकी 17 वर्षीय सुपुत्री कु$ सरिता का निधन हो गया, उससे 6 माह पहले लालसिंह का निधन हो गया जो कि गम्भीर समस्या से ग्रस्त परिवार की रीढ़ थे और उससे पांच वर्ष पहले स्व$ लालसिंह की पुत्री कु$ लक्ष्मी का भी निधन हो गया तथा इससे पूर्व स्व$ श्री लालसिंह बिष्ट के सुपुत्र का निधन हुआ। अर्जुन सिह बिष्ट, दीवान सिह बिष्ट तथा हर्ष सिंह बिष्ट इस समय अत्यंत गम्भीर रूप से अस्वस्थ हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आप समझ सकते हैं कि अपनों को तिल-तिल मृत्यु की तरफ जाते हुए देखना कितना त्रासद होगा और जानकी देवी जिस तरह की स्थिति में होंगी आप स्वयं अंदाजा लगा सकते हैं।

उनको यह भी डर है कि उनकी सुपुत्री कु$ नीतू जो कि कक्षा 8वीं की छात्रा हैं इसी तरह की बीमारी से ग्रसित न हो जाय। कु$ नीतू भी जब उसके खेलने और खाने के दिन हैं तो कैसे इस तरह की मानसिक परिस्थितियों की त्रासदी का मुकाबला कर रही होगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह से स्थानीय लोगों ने परिस्थितियों का विवरण दिया कु$ सरिता शरीर से इतनी जीर्ण-शीर्ण हो चुकी थी कि वह स्वयं भोजन भी ग्रहण नहीं कर सकती थी और ऐसी परिस्थितियों में जानकी देवी कितने अस्वस्थ लोगों की देखभाल कर सकती है।

पानी रखा हो और कोई इतना असमर्थ हो जाय कि उसे स्वयं पी न सकते तो क्या हम उसे बिना पानी की मौत नहीं कहेंगे? इसी तरह कु$ सरिता भी बिना किसी के सहारे के अनाज ग्रहण नहीं कर सकती थी, इसलिए हम कह सकते हैं कि उसकी भूख से मृत्यु हुई हैै। उन्हेांने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि अवलिम्ब कल्याणकारी राज्य की अवधारणा के अनुरूप स्व$ लालसिह बिष्ट के परिवार की चिकित्सा एवं सुरक्षा के लिए समुचित प्रयास किये जाने चाहिए और अगर सरकार ने 29 अप्रैल तक समुचित कदम नहीं उठाये तो कांग्रेस को यह अनुमति मिलनी चाहिए कि कांग्रेसजन उस परिवार की समुचित चिकित्सा आदि की व्यवस्था कर सके।

डीएवीपीजी कालेज के छात्रों का आंदोलन जारी

देहरादून। डीएवीपीजी कालेज में अपनी मांगो को लेकर छात्रों का आंदोलन आज भी जारी रहा। छात्र संगठन के नेतृत्व में छात्रों ने धरनास्थल पर आयोजित सभा में कहा कि मांग पूरी होने पर ही आंदोलन समान्त किया जा सकता है।  वक्ताओं ने कहा कि यहां पर कानपुर मैनेजमेंट पूरी तरह से हावी हो रखा है और ऐसे कई कर्मचारी है जो कानपुर में रहते है और वेतन डीएवी कालेज से लेते है इनमें से एक प्रमोद मिश्रा भी है जिनका वेतन यहां कालेज से जाता है और मजे की बात यह है कि प्रमोद मिश्रा के साईन अटैंन्डेट सीट पर नहीं है।

उनका कहना है कि छात्र छात्राओं से हर वर्ष करोड़ों रूपये फीस के रूप में अलग अलग मदोंमें कई वर्षों से लिये जा रहे है जबकि यह धनराशि कालेज के विकास में खर्च नहीं की जाता है जिससे करोड़ों रूपये के घपले की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि यहां कालेज में लंबे समय से कालेज मैनेजमेंट द्वारा कोई सुधार कार्य नहीं किया गया है और लगातार छात्रों का हक मारा जा रहा है।

उल्लेखनीय रहे कि कालेज में विकास के लिए पैसा खर्च न करने का आरोप लगाते हुए छात्रों ने आंदोलन जारी रखा हुआ है। दो रोज पहले जब छात्रों ने तब उग्र रूप दिखाया था जबकि एकाउंट आफिस के अचानक खोला जाने लगा था। वहां पर जमकर तोडफ़ोड करते हुए वहां पर फिर से ताला जड़ दिया और सभी कर्मचारियों को बाहर निकाल दिया। बुधवार फिर छात्रों ने कालेज प्राचार्य से खर्चे का लेखाजोखा मांगा, मगर छात्रों का कहना कि प्राचार्य की ओर से लेखाजोखा नहीं दिया जा रहा। जिससे साबित होता है कि करोड़ों गड़बड़ी हो सकती है।

प्रदेश में 24 घंटे बिजली मुहैया कराने का दावा

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उत्तरांखड को भ्रष्टाचारियों ने काफी नुकसान पहुंचाया है। प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लिए सरकार धर्म युद्घ की तरह कार्य करेगी और भ्रष्टाचारियां पर अंकुश लगाएगी।  उन्होंने प्रदेश में 24 घंटे बिजली मुहैया कराने की बात कही। उन्होंने कहा राज्य के पास सीमित संसाधन हैं तथा पारदर्शी एवं संतुलित विकास के लिए राज्य को खनन व अवैध शराब पर सतत निगरानी रखनी होगी।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अवैध रूप से चल रहे पांच खनन पट्टों को भी सीज कर दिया गया है। उन्होनें कहा कि सरकार अपना बजट बनाने में जनता के सुझावों का भी ध्यान रखेगी और उपस्थित जनता से कहा कि अपने -अपने सुझाव सरकार तक अवश्य पहुंचायें। इसके अलावा प्रदेश को भ्रष्टाचार से मुक्त करने के लिए एक अलग से सेल का गठन करने की कार्यवाही भी चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि शराब को धीरे धीरे कम किया जाएगा तथा खनन पर दबिश देकर राज्य की आय में बढ़ोत्तरी की जाएगी।

कपड़ा कारोबारी के यहां बदमाशों ने डाली डकैती

देहरादून। हथियारबंद छह बदमाशों ने डालनवाला क्षेत्र में एक कपड़ा कारोबारी के घर में घुसकर डकैती की वारदात अंजाम दी। परिजनों के विरोध करने पर बदमाशों ने सभी के साथ लोहे की रॉड व चाकू से मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया। डकैती की सूचना मिलने पर डीआईजी पुष्पक ज्योति, एसएसपी स्वीटी अग्रवाल, एसपी सिटी अजय सिंह व आला अधिकारी मय फोर्स घटनास्थल पर पहुंचे। परिजनों से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने बदमाशों के हुलिए का मिलान करना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही बैरियरों पर सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। वहीं एसओजी ने भी अपने स्तर से छानबीन शुरू की हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार शहर के डालनवाला कोतवाली क्षेत्र की साकेत कालोनी में कपड़ा व्यापारी सुमित टंडन के घर आधी रात के बाद घुसे हथियारबंद आधा दर्जन डकैतों ने जमकर लूटपाट की। इस दौरान परिवार के लोगों को मारपीट कर घायल भी कर दिया। सुमित टंडन की इंदिरा नगर बाजार में कपड़े की दुकान है। वह डालनवाला कोतवाली क्षेत्र में साकेत कलोनी में परिवार के साथ रहते हैं। गुरूवार तडक़े करीब सवा तीन बजे के करीब डकैत घर के पीछे के कमरे के खिडक़ी की ग्रिल उखाडक़र घर में दाखिल हुए।

पुलिस के अनुसार कमरे में पत्नी के साथ सो रहे सुमित व उनकी पत्नी रूचिका को बंधक बनाते हुए उनकी मां वंदना टंडन के भी हाथ रस्सी से बांध दिए। डकैत वंदना के हाथ के कंगन छीनने लगे उन्होंने शोर मचा दिया। इधर सुमित व रूचिका ने विरोध किया तो डकैतों ने लोहे की रड और चाकू से हमला बोल दिया। डकैतों ने शोर न मचाने की चेतावनी दी फिर भी सुमित की पत्नी रुचिका ने शोर मचाना जारी रखा। चीख पुकार सुन दूसरे कमरे में सो रहे सुमित के भाई आशु व उनकी पत्नी दीपाली की नींद खुल गई।

दोनों बाहर आना चाहे तो कमरा बाहर से बंद मिला। इस बीच सुमित व रूचिका के कमरे से डकैत आलमारी खोलकर उसमें रखे जेवर लूट लिए। इस दौरान आशु चिल्लाया की उसने पुलिस को फोन कर दिया है पुलिस आ रही है। यह सुन डकैत घबरा गए और जल्दबाजी में जो कुछ सामने मिला व लूटकर भाग निकले। करीब एक घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। विधायक गणेश जोशी भी सुमित टंडन के घर पहुंचे और परिवार के लोगों से घटना के बारे में जानकारी ली। डीआईजी पुष्पक ज्योति, एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। एसपी सिटी अजय सिंह ने बताया कि एसओजी टीम व थाने की फोर्स को डकैतों की तलाश के लिए लगा दिया गया है। परिवार से पूछताछ कर डकैतों का स्केच तैयार किया जा रहा है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

राज्य आंदोलनकारियों का अनिश्चितकालीन धरना दूसरे दिन भी जारी

 अल्मोड़ा। चिह्नीकरण की मांग को लेकर राज्य आंदोलनकारियों का अनिश्चितकालीन धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। इस दौरान सभा में वक्ताओं जिला प्रशासन पर दोहरे मापदंड अपनाने तथा चिह्नीकरण से वंचित आंदोलनकारियों की उपेक्षा का आरोप लगाया। कहा कि अब उपेक्षा बर्दाश्त से बाहर है और मुकाम तक पहुंचे बगैर कोई ही समझौता नहीं किया जाएगा।

उत्तराखण्ड राज्य आदोलनकारी के रूप में चिह्नीकरण से छूट गए द्वाराहाट व चौखुटिया विकासखण्ड के 12 लोग दूसरे दिन भी धरने पर डटे रहे। सभा में वक्ताओं ने जिला प्रशासन पर दोहरे मापदंड अपनाने का आरोप लगाया। कहा कि चिह्नीकरण से छूटे आंदोलनकारी एक सूत्रीय माग को लेकर कई बार प्रदर्शन कर चुके हैं। लेकिन, प्रशासन झूठे समझौते व आश्वासन देकर उनकी उपेक्षा कर रहा है।

प्रशासन द्वारा मांगे गए साक्ष्य प्रस्तुत करने पर भी उनकी नहीं सुनी जा रही है। इसे कतई बर्दास्त नहीं किया जाएगा। प्रदर्शन करने वालों में मनोज अधिकारी, महेश त्रिपाठी, मोहन सिंह रावत, कुंदन राम, धनी राम, किशन सिंह नेगी, गोपाल सिंह राणा, दान सिंह राणा, नवीन चंद्र जोशी, लक्ष्मण सिंह, मनोहर दत्त जोशी तथा राम सिंह बोरा शामिल थे।

कांग्रेसियों ने मनाया हरीश रावत का जन्मदिन

चम्पावत। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री का हरीश रावत का जन्मदिन धूमधाम से मनाया। उन्होंने हरीश रावत को शुभकामनाएं देते हुए उनकी लम्बी उम्र की कामना की।

जिला मुख्यालय में गुरुवार को नगर अध्यक्ष विजय वर्मा की अध्यक्षता में कार्यकर्ताओं ने मिष्ठान वितरण किया। कार्यक्रम का संचालन जिला सहकारी समिति के अध्यक्ष विकास साह ने किया। इस अवसर पर नंदन तड़ागी, नीरज साह, सूरज प्रहरी, मयूख चौधरी, दान सिंह भंडारी, तारा दत्त जोशी आदि मौजूद रहे।

चम्पावत में बिन बरसे ही लौट गए बादल

चम्पावत। पेयजल की समस्या से जूझ रहे चम्पावत जिले के लोगों पर मौसम मेहरबान नहीं हुआ। अचानक उमड़े काले घने बादलों से बारिश की उम्मीद जगी लेकिन बादल बूंदाबांदी करने के बाद लौट गए।मुख्यालय में गुरुवार सुबह तेज धूप के बाद अचानक दोपहर में काले बादल छा गए।

पानी की किल्लत झेल रहे लोगों को जोरदार बारिश होने की उम्मीद थी। लेकिन बूंदाबांदी के बाद बादल छंट गए। पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने से जिले भर में पानी की समस्या बढ़ती जा रही है। सूखा पडऩे से खरीफ की फसल भी नहीं बोई जा सकी है। लोहाघाट, पाटी, बाराकोट ब्लाकों के कई हिस्सों में हल्की बारिश हुई।

केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री ने कंटेनर लदी माल गाड़ी को किया रवाना

काशीपुर। केंद्रीय कपडा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने अपोलो लाजिसोलयूशन लिमिटेड एवं आईजीएल का संयुक्त उपक्रम काशीपुर इंफ्राचर एंड फ्राग्ट टर्मिनस (केआईएफटीपीएल) भवन का फीता काट कर लोकापर्ण किया। उसके बाद कंटेनर लदी माल गाड़ी को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। कपड़ा राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य के पहले रेलवे टर्मिनस की स्थापना से राज्य में औद्योगिक विकास में तेजी आएगी।

बुधवार को आईजीएल परिसर में रेलवे प्लेट फार्म में आचार्य मोहन प्रसाद जुगुडी ने आईजीएल के सीओ राकेश भरतरिया,एक्ज्यूकेटिव डायरेक्टर एमके राव,आरएस यादव,डीएस कपूर, डीएम नीरज खैरवाल,एडीएम प्रताप शाह,एसडीएम दयानंद सरस्वती, कस्टम कमिश्नर प्रदीप कुमार गोयल, मेयर उषा चौधरी ने पूजा अर्चना की। पूजा अर्चना के बाद केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री टम्टा ने हरी झंडी दिखा कर मालगाड़ी को टर्मिनस से रवाना किया। कपड़ा मंत्री टम्टा ने कहा कि रेलवे टर्मिनस बनने से आयात निर्यात बढ़ेगा।

जिससे राज्य का तेजी से विकास होगा। कंटेनरों से दुनिया के किसी भी क्षेत्र को माल भेजा जा सकता है। कहा कि अभी तक सिडकुल व अन्य औद्योगिक क्षेत्रों से माल ट्रकों से भेजा जाता था। आने वाले समय में प्रति दिन यहां से कंटेनर लदी तीन चार माल गाडिय़ां चलेंगी। आईजीएल के सीओ राकेश भरतरिया ने कपड़ा मंत्री से कहा कि आईजीएल में विश्व स्तर का उत्पादन होता है। लेकिन कच्चे माल की परेशानी हो रही है। सरकार को कच्चा माल उपलब्ध कराने में सहयोग करना चाहिए। इस मौके पर पूर्व सांसद केसी सिंह बाबा,उद्योगपति योगेश जिदंल,पवन अग्रवाल, आशीष अरोरा,आरसी उपाध्याय, नागेश शर्मा, केके लाल, एसके शुक्ला,. एनएस चौहान संजय चतुर्वेदी,मोहन बिष्ट आदि मौजूद थे।

सफाई अभियान में शामिल हुए उच्च शिक्षा मंत्री

चम्पावत। उच्च शिक्षा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धन सिंह रावत गुरुवार को सुबह भवाली पहुंचे। यहां उन्होंने नगर पालिका के सफाई अभियान में भागीदारी की। मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के आह्वान पर देश में चल रहे सफाई अभियान में सभी की सहभागिता जरूरी है। उन्होंने यहां क्षिप्रा नदी में सफाई अभियान में लगे हुए जगदीश सिंह नेगी की सराहना की।

साथ ही, उनको सम्मानित भी किया। मंत्री रावत ने कहा कि इस प्रकार की पहल युवाओं के लिए प्रेरणा बनेगी। इसके बाद मंत्री रावत साधन सहकारी समिति में भी गए। यहां कामकाज की जानकारी ली। इस दौरान पालिकाध्यक्ष नामी बिष्ट, भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज साह समेत कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।
 

ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान, मुआवजे के लिए किसान मुखर

पिथौरागढ़। सीमांत क्षेत्र बरम में ओलावृष्टि और बारिश से किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। जिससे नाराज किसानों ने बरम में सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर नुकसान का आंकलन कर फसलों का मुआवजा देने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने अगर शीघ्र मुआवजा नहीं दिए जाने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

गुरुवार को पूर्व प्रधान पान सिंह बिष्ट के नेतृत्व में एक दर्जन से अधिक गांवों के किसानों ने हाथ में फसल लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों क्षेत्र में हुई तेज बारिश और ओलावृष्टि से गेंहूं, जौ, मसूर, मटर, सरसों और सब्जियां पूरी तरह बर्बाद हो गई है। बिष्ट ने कहा कि पहले सूखे के कारण किसानों को नुकसान पहुंचा था। वहीं पिछले दिनों हुई ओलावृष्टि ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया हैं। जिससे किसानों पर आर्थिक संकट गहराने लगा। जिस कारण किसान बेहद परेशान हैं।

उन्होंने कहा कि फसल बर्बाद होने के कारण किसान बैंक का लोन भरने में असमर्थ हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने सरकार से किसानों को हुए नुकसान को देखते हुए उचित मुआवजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर शीघ्र किसानों को मुआवजा नहीं दिया तो वह उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। मौके पर जसवंत सिंह, कुशी राम, धाम सिंह, नरी राम, जगत सिंह, प्रेम सिंह, लालू राम, बाला सिंह, नैनराम, जग्गू, आंशु, निर्मला देवी, सुरमा देवी, भगती देवी, राजेंद्र प्रसाद, दीपक कुमार, पुष्कर और देवेंद्र सिंह समेत कई लोग शामिल रहे।

शराब की दुकान हटाने को लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन

पिथौरागढ़। शराब की दुकान हटाने को लेकर टकाना क्षेत्र की महिलाओं ने कलक्ट्रेट में नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने शासन-प्रशासन पर क्षेत्र की अनेदखी का आरोप लगाया। साथ ही, शीघ्र शराब की दुकान नहीं हटाने पर 1 मई से उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। गुरुवार को टकाना क्षेत्र की महिलाओं ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। इसके बाद उन्होंने जिलाधिकारी सी रविशंकर को ज्ञापन दिया।

जिसमें उन्होंने टकाना स्थित शराब की दुकान हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह आठ अप्रैल को भी ज्ञापन दे चुके हैं। इसके बावजूद भी क्षेत्र से शराब की दुकान नहीं हटाई गई है। जिससे क्षेत्र की महिलाओं में खासा आक्रोश है। महिलाओं ने कहा कि वर्तमान में टकाना स्थित शराब की दुकान को किसी सूरत में नहीं खुलने दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि अगर जबरन शराब की दुकान खोली गई तो वह इसका पुरजोर विरोध करेंगे। इस दौरान उन्होंने शीघ्र क्षेत्र से शराब की दुकान नहीं हटाने पर 1 मई से दुकान के आगे खड़े होकर उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे। जिसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी। मौके पर पदमा बिष्ट, लीला वर्मा, चंद्र नेगी, पुष्पा वर्मा, योगिता बिष्ट, शोभा बिष्ट, लीला चंद, यशोदा शर्मा, विमला देवी, विमला वर्मा, कलावती, रेनु कलखुडिय़ा और मुन्नी वर्मा आदि मौजूद रहीं।

कोटद्वार में सरकारी भवनों की हालत खराब

कोटद्वार। कोटद्वार में सरकारी भवन विभागों की लापरवाही से बदहाली का दंश झेल रहे हैं। हालत यह है कि कई भवन अपनी अंतिम सासें गिन रहे हैं। बावजूद इसके न तो इन भवनों की मरम्मत की जा रही है और न ही नए भवनों का निर्माण किया जा रहा है। जहां भवनों का निर्माण कार्य चल भी रहा है, वह भी लम्बे समय से अधूरा पड़ा हुआ है। सरकारी भवनों की बदहाली विभागों की कार्यप्रणाली को बयां कर रही है।

क्षेत्र में कई सरकारी भवन बदहाल हो चुके हैं। आलम यह है कि विभागों की ओर से या तो प्रस्ताव भेजे ही नहीं गए या फिर प्रस्ताव भेज कर भूल गए। फायर सर्विस की बात करें तो फायर स्टेशन पूरी तरह बदहाल हो चुका है। बीइएल रोड के समीप फायर स्टेशन व कर्मचारियों के आवासीय भवनों का निर्माण लम्बे समय से चल रहा है, जो आज तक पूरा नहीं हो पाया है।लोनिवि की गिवंई स्रोत व अपर कालाबड़ स्थित आवासीय कालोनी में कई भवन क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। विभाग बजट की कमी का रोना रो रहा है।

इसके चलते न तो भवनों की मरम्मत हो पा रही है और न ही नए भवनों के निर्माण की कोई योजना बन पा रही है। यही हाल जल संस्थान की अपर कालाबड़ स्थित कालोनी का है। भवनों की दुर्दशा का अंदाजा महज इस बात से लगाया जा सकता है कि भवनों में रहने वाले लोगों ने बरसात में टपकने वाले भवनों की छतों पर प्लास्टिक की पन्नियां व तारकोल डाल रखा है। कोतवाली परिसर में बने आवासीय भवन भी बदहाल हैं। भवनों की बदहाली की रिपोर्ट मुख्यालय को कई बार भेजे जाने के बाद स्थिति जस की तस बनी हुई है

। हालांकि अधिकारी जल्द ही भवनों की मरम्मत का राग अलाप रहे हैं। विभागों की लापरवाही का अंदाजा महज इस बात से लगाया जा सकता है कि विभाग शासन को एक बार प्रस्ताव भेजने के बाद चुप्पी साध लेते हैं। नतीजा विभागों के प्रस्ताव शासन में धूल फांकते रहते हैं। एसडीएम राकेश तिवारी का कहना है कि सरकारी भवनों की बदहाल स्थिति के लिए संबंधित विभाग जिम्मेदार हैं। सभी विभागों को भवनों की दुर्दशा सुधारने के प्रयास किये जायेंगे।

एक सप्ताह के भीतर तैनात करें शिक्षक: डीएम

उत्तरकाशी। शिक्षक विहीन विद्यालयों की बैठक में जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने शिक्षा विभाग के अधिकारियो को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन स्कूलों में शिक्षकों का आभाव है। उन विद्यालयों में स्थानीय स्तर पर एक सप्ताह के अंदर शिक्षकों की नियुक्ति की जाय।  जिला सभागार में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए जिलाधिकारी डॉ.आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में जो शिक्षक उत्कृष्ठ कार्य कर रहे हैं, वह उनके साथ जलपान करेंगे।

इसमें बेसिक स्कूल से लेकर इण्टरमीडिएट तक के शिक्षक शामिल होंगे। प्रत्येक ब्लॉक में शिक्षकों की कमी को लेकर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह विद्यालय में तैनाती के लिए अध्यापकों से तीन दिन के भीतर आवेदन प्राप्त कर सुगम वाले क्षेत्र से ही अध्यापकों की तैनाती करें। बैठक सीईओ रविन्द्र कुशवाह, डीईओ हेमलता गौड, खण्ड शिक्षा अधिकारी चमन लाल शाह, हर्षा रावत, विक्रम जोशी, रतिभान सिंह, आरएस रावत थे।

परिवहन निगम में होगी नए चालकों की भर्ती: आर्य

पौड़ी। परिवहन एवं समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि परिवहन विभाग में चालकों की कमी दूर की जाएगी। इसके लिए नई भर्ती की जाएगी। इसके साथ ही जहां भी जरूरत होगी वहां बसें चलाई जाएंगी। विकास कार्यों की समीक्षा बैठक लेने पौड़ी आए आर्य ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि चारधाम के लिए भी सरकार ने कार्ययोजना बनाई है।

कहा कि प्रदेश में परिवहन निगम की सेवाओं को बेहतर किया जा रहा है। प्रदेश में आय के सीमित संसाधन है, लेकिन विकास के कामों में धन की कमी आड़े नहीं आएगी। परिवहन मंत्री ने बाद में सर्किट हाउस में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक भी ली। इससे पूर्व जिला मुख्यालय की वाल्मीकि बस्ती पहुंचकर यहां आयोजित स्वच्छता अभियान में भी शिरकत की। वाल्मीकि बस्ती का निरीक्षण कर उन्होंने लोगों की समस्याओं को भी सुना। पालिकाध्यक्ष यशपाल बेनाम ने बस्ती व आस- पास के क्षेत्रों की जानकारी दी। यहां बन रहे आवासीय भवनों का भी निरीक्षण प्रभारी मंत्री ने किया।

नैनीडांडा में एक दिन छोडक़र आ रहा है पानी

पौड़ी। नैनीडांडा क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से पेयजल की किल्लत बनी है। नैनीडांडा पंपिंग पेयजल योजना से पानी नहीं आ रहा है। इस योजना का पुनर्गठन हो रहा है। वहीं दूसरी ओर पुरानी योजना पर पानी का डिस्चार्ज कम हो जाने के कारण पानी पर्याप्त नहीं मिल पा रहा है। उपभोक्ताओं को क्षेत्र में एक दिन छोडक़र पानी की सप्लाई हो रही है। पानी के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर लगाए गए हैंडपंपों से भी पानी गंदा आ रहा है। जिसके कारण उपभोक्ताओं को गाड़-गदेरों का सहारा लेना पड़ा रहा है।

जलसंस्थान के अधीन आने वाली इस योजना पर पानी की सप्लाई बेहद कम हो गई है। करीब 45 साल पुरानी भंगल्या रौला से पानी की आपूर्ति हो रही है लेकिन तब से अब एक ओर जहां डिमांड में बढ़ोत्तरी हो गई वहीं पानी का डिस्चार्ज भी कम हो गया है। पानी की कमी के कारण होटल व्यवसायियों को भी दिक्कतें आ रही हैं। साथ ही कार्बेट पार्क के नजदीक होने के कारण यहां पर्यटकों का भी आना-जाना रहता है लेकिन पेयजल संकट होने के कारण पर्यटकों के रुकने के इंतजाम भी बौने हो रहे है।

सामाजिक कार्यकर्ता सुरेंद्र प्रताप, सिताब सिंह गुंसाई, एमडी रावत, देंवद्र भारती आदि ने जलसंस्थान से मांग की है कि क्षेत्र में पेयजल की सप्लाई को ठीक किया जाए। इधर, जलसंस्थान के अधिशासी अभियंता कोटद्वार ओपी बहुगुणा ने बताया है कि स्रोत पर पानी का डिस्चार्ज कम हो गया है। गर्मियों में पानी का स्तर कम हो जाने के कारण हैंड पंपों से भी गंदा पानी आ रहा है। हैंड पंपों पर लगे फिल्टरों को दिखाया जाएगा।

अब मंडुवे की बर्फी का स्वाद भी ले सकेंगे लोग

नई टिहरी। कृषि विज्ञान केंद्र रानीचौरी के वैज्ञानिकों ने मंडुवे की बर्फी तैयार की है। केंद्र पहाड़ के मोटे अनाज को बढ़ावा देने के लिए इसके उत्पाद तैयार कर रहा है। इन उत्पादों को तैयार करने का स्थानीय कृषकों को प्रशिक्षण भी जा रहा है, ताकि मोटे अनाज के उत्पादन को बढ़ावा मिलने के साथ ही पहाड़ से पलायन भी रुक सके। उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों की कृषि वर्षा आधारित है। यहां मोटे अनाज मंडुवा, झंगोरा, चौलाई, चीणा, कौंणी के उत्पादन की अपार संभावनाएं हैं। इन फसलों के उत्पादन के लिए सिंचाई की जरूरत नहीं होती है।

स्वास्थ्य के लिए बहु गुणकारी माने जाने इन अनाजों के उत्पादन के लिए पर्वतीय क्षेत्रों का मौसम पूरी तरह अनुकूल है, लेकिन मौजूदा समय में मोटे अनाज का उत्पादन घटता जा रहा है। किसान मोटे अनाज के प्रति रूचि नहीं दिखा रहे हैं, इस कारण पलायन बढ़ता जा रहा है। औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान केंद्र रानीचौरी की वैज्ञानिक कीर्ति कुमारी ने मोटे अनाज के कई उत्पाद तैयार किए हैं। उन्होंने मंडुवे की बर्फी, सत्तू, चौलाई के लड्डू तैयार किए हैं। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं और शिशुओं के लिए हेल्थ फूड्स तैयार किए हैं। बताया कि केंद्र में किसानों को इन उत्पादों को तैयार करने का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। किसान मोटा अनाज पैदा कर इससे उत्पाद तैयार कर स्वावलंबी बन सकते हैं। इससे पलायन पर भी काफी हद तक रोक लग सकती है।

मैसूर के दिव्यांग बच्चों को भायी टिहरी की वादियां

नई टिहरी। मिशन 2017 दि सैलेंट हीरोज अभियान के तहत हिमाचल के रूमटू टॉप के सफल आरोहण के बाद कर्नाटक मैसूर के 40 बच्चों का दल धनोल्टी पहुंचा। इसमें 15 दिव्यांग बच्चे हैं, जो बोलने और सुनने में असमर्थ हैं।  बच्चे टिहरी के धनोल्टी, काणाताल और पहाड़ी हाउस को देखकर बड़े उत्साहित हुए। बच्चों ने पहाड़ी हाउस में एक रात बिताकर इसके बारे में जानकारी भी जुटाई। टाइगर एडवेंचर फाउंडेशन की ओर से इस अभियान की शुरूआत 14 अप्रैल को मैसूर शुरू की गई। कर्नाटक के राज्यपाल ने दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इसके के बाद 18 अप्रैल को दल मनाली पहुंचा। यहां समुद्रतल से 13500 फीट की ऊंचाई वाले रूमटू टॉप की ट्रेकिंग शुरू की। फाउंडेशन के सचिव डीएसडी सोलंकी ने बताया कि बेस कैंप के बाद कई कैंप स्थापित कर 21 अप्रैल को सभी बच्चों ने टॉप का सफल आरोहण किया। इसके बाद यहां से उत्तराखंड भ्रमण पर निकले। आईएमएम देहरादून के बाद बच्चों ने धनोल्टी देखा। बुधवार रात काणाताल के पहाड़ी हाउस पहुंचे। यहां बच्चों को पहाड़ी व्यंजन परोसे गए। संचालक अभय शर्मा ने बच्चों को पहाड़ी हाउस के बारे में बताया।

बताया कि यह पुराने घर हैं, जो पलायन के चलते खंडहर हो गए थे। पुराने स्वरूप में इनकी मरम्मत कर पहाड़ी हाउस का नाम दिया गया है। अब ये घर देश-विदेशी पर्यटकों का बेसरा बन गया है। दल में डिप्टी टीम लीडर पंकज मलिक, जन संपर्क अधिकारी देवेंद्र तिवारी, डॉ. माधव देश पांडेय, डॉ. अकीला आदि शामिल हैं। अभियान का समापन चंड़ीगढ़ में हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी बच्चों को प्रमाण पत्र देकर करेंगे।

डीसीबी से हटाए कर्मियों ने नई नियुक्ति पर उठाए सवाल

नई टिहरी। जिला सहकारी बैंक की विभिन्न शाखाओं से हटाए गए कर्मचारियों ने अब बैंक में चतुर्थ श्रेणी के पदों पर हुई नई नियुक्ति पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। कर्मचारियों ने सीएम को भेजे पत्र में आरोप लगाया कि नियुक्ति में बड़ी धांधली हुई है।  इसकी जांच कर नियुक्ति निरस्त की जानी चाहिए।टिहरी जिले के जिला सहकारी बैंक में आउटसोर्सिंग व उपनल के माध्यम से पिछले कई वर्षों से कार्यरत कर्मचारियों को नौ फरवरी को हटाया गया था। वह पुनर्नियुक्ति की मांग को लेकर बुधवार से बैंक के मुख्य कार्यालय में अनिश्चित कालीन धरने पर बैठे हैं।

हटाए गए चतुर्थ श्रेणी दीपक सजवाण, नरेन्द्र सिंह तडिय़ाल, विजय सेमवाल ने चतुर्थ श्रेणी पदों पर हुई नई नियुक्तियों में धांधली का आरोप लगाया है। उनका कहना कि बैंक के डीजीएम ने पैसा लेकर नई नियुक्तियों पर अपने चेहतों को भर्ती करवाया है। उन्होंने इस संबंध में सूबे के सीएम त्रिवेंद्र रावत को पत्र भेजकर जांच की मांग की है। उन्होंने चेतवानी देते हुए कहा कि अगर शीघ्र उनकी पुनर्नियुक्ति नहीं होती है तो उनको आमरण अनशन को बाध्य होना पड़ेगा। धरना देने वालों में सुशील पांडे, सुकेश मंमगाई, दीपक कुमार, आनंद सिंह रावत, पूनम गुसाईं, सीता, प्रीति चौहान, कल्पत राणा, ओम प्रकाश, कलम सिंह नेगी, प्रदीप सजवाण, दिनेश भट्ट, हरीश चौहान, कृष्णा विजल्वाण, हरीश चौहान, सचिन गोस्वामी, रघुवीर सिंह, रणवीर सजवाण थे।

होटल में दिल्ली के यात्री की मौत

हरिद्वार। सिडकुल थाना क्षेत्र स्थित एक होटल में दिल्ली निवासी यात्री की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बताया जाता है कि मृतक सिडकुल की एक नामी कंपनी में कामगारों को प्रशिक्षण देने आया था। बीती 25 अप्रैल को एसएन गोस्वामी पुत्र आरएल गोस्वामी निवासी बीएन-20 ईस्ट शालीमार बाग दिल्ली एक कम्पनी में ट्रेनिंग देने आए थे।

वह सिडकुल के होटल में ठहरे हुए थे। कम्पनी की गाड़ी ही उनको होटल से लाती और ले जाती थी। कर्मचारियों ने बताया कि बीती रात खाना खाने के बाद वह सो गए थे। गुरुवार सुबह जब कम्पनी की गाड़ी उन्हें लेने होटल आई तो होटल के कर्मचारियों ने उनको कमरे में फोन किया। फोन रिसीव न करने पर एक कर्मचारी ने दरवाजा खटखटाया। दरवाजा न खुलने पर उसने मास्टर कार्ड से दरवाजा खोला तो अंदर बैड पर पड़े एसएन गोस्वामी को उठाने की कोशिश की। लेकिन वह बेसुध पड़े रहे।

मैनेजर ने शिवालिक नगर से एक निजी चिकित्सक को फोन करके होटल बुलाया। जांच के बाद चिकित्सक ने गोस्वामी को मृत घोषित कर दिया। होटल से इसकी सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर कम्पनी के कई कर्मचारी भी पहुचे। सीओ सदर जेपी जुयाल ने बताया कि प्रथमदृष्टया हार्ट अटैक से मौत का मामला लग रहा हे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है।

टूटे सीवर चैंबर को लेकर व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

हरिद्वार। जागृति व्यापार मंडल देवपुरा चौक के व्यापारियों ने सडक़ के बीचोंबीच एक टूटे सीवरेज चैंबर को लेकर प्रदर्शन किया। चैंबर के चारों ओर सडक़ धंस गई है। आये दिन गड्ढे में गिरकर लोग चोटिल हो रहे हैं। व्यापारियों ने लोक निर्माण विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।  देवपुरा चौक पर प्रदर्शन के दौरान अध्यक्ष हरविंद्र सिंह ने कहा कि तीन-चार सालों से सीवर का चैंबर कई बार टूट चुका है। महीनों चैंबर टूटा पड़ा रहता है। बस और रेलवे स्टेशन मार्ग होने के कारण चौबीस घंटे इस मार्ग पर वाहनों का आवागमन रहता है।

मरम्मत के नाम पर गड्ढे में मिट्टी भरकर उसकी लीपापोती कर दी जाती है। कुछ ही दिन में गड्ढा फिर से लोगों के लिए आफत बन जाता है। रात के समय दोपहिया वाहन चालक गड्ढे की चपेट में आकर घायल हो जाते हैं। कारोबारी गोपाल शर्मा और सुरजीत सिंह ने कहा कि देवपुरा चौक संवेदनशील चौराहों में शामिल है। इसके बाद भी चौराहे के समीप सडक़ में गड्ढे को खुला छोड़ा हुआ है। संबंधित विभाग को कई बार बताने और लिखित शिकायत के बाद भी समस्या का स्थायी समाधान नहीं हो सका है।प्रदर्शन करने वालों में ईश्वर चंद, योगेश ननकानी, कमल कुमार, राजेंद्र सिंह, वीरेंद्र विश्नोई, मुकेश कुमार, लवली सिंह, राजा, कमल कुमार, साबिर अली, इमेश अरोड़ा, इरशाद, प्रवीण कुमार, बबलू व कमलजीत सिंह आदि शामिल रहे।

दर्दनाक हादसे में दो की मौत, 20 लोग घायल

विकासनगर। देहरादून के विकासनगर में दर्दनाक हादसा हुआ है। यहां नहर में डूबे युवक को तलाशने आ रहे ग्रामीणों की ट्रैक्टर ट्रॉली पलट गयी, हादसे में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी, जबकि कई लोग घायल हो गए। पुलिस के अनुसार बुधवार को शक्ति नहर में एक युवक डूब गया था।  युवक मजदूरी का काम करता था।

उसको तलाशने के लिए उसके परिजन मिर्जापुर सहारनपुर से ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर विकासनगर आ रहे थे। टिमली के पास ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट जाने से दो लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि 15 से 20 लोग घायल हो गए घायलों को यह अमन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से कई की हालत गंभीर बनी हुई है, पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं।

हाईटेंशन लाइन हटाने की मांग

देहरादून। चमनपुरी में हाईटेंशन लाइन शिफ्ट करने के बावजूद इलाके के लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। पुरानी हाईटेंशन लाइन के तार अभी भी लोगों के घरों के ऊपर से गुजर रहे हैं।  लोगों ने इस लाइन को पूरी तरह हटाने की मांग को लेकर निरंजनपुर बिजलीघर के एसडीओ से मुलाकात की और उन्हें एक हफ्ते में काम शुरू करने का अल्टीमेटम दिया। पार्षद सतीश कश्यप ने बताया कि चमनपुरी में पुरानी हाईटेंशन लाइन के बदले में दूसरी लाइन बिछ चुकी है मगर पुरानी लाइन नहीं हटाने के कारण लोग घरों की छत पर नहीं जा पा रहे।

ये लाइनें घर के काफी करीब से गुजर रही हैं और इस वजह से ब्रह्मपुरी वार्ड में कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि घर के ऊपर से तारें गुजर रही हैं तो नीचे सडक़ पर रखे ट्रांसफार्मर की जालियां टूट चुकी हैं। जिससे हादसे की संभावना बढ़ गई है। कई जगह ट्रांसफार्मर में फेसिंग नहीं है। खुले होने से जानवरों के इसकी जद में आने का खतरा बना रहता है। एसडीओ नारायण सिंह ने जल्द कार्रवाई का भरोसा दिया है।

बीएसएनएल कर्मचारियों का अनशन जारी

देहरादून। बीएसएनएल एसोसिएशन का क्रमिक अनशन गुरूवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। दून स्थित मुख्य महाप्रबंधक के कार्यालय पर धरना देते हुए उन्होंने मांगे पूरी न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी है।  उनका कहना है कि उनके हितों की अनदेखी की जा रही है, जिसे सहन नहीं किया जायेगा। उनका कहना है कि सभी कर्मचारी 72 घंटे का क्रमिक भूख हड़ताल के तीसरे दिन भी हड़ताल पर रहे।

उन्होंने 28 अप्रैल को एक दिवसीय सामूहिक आकस्मिक अवकाश की भी चेतावनी दी है। वक्ताओं ने कहा कि लगातार उनके हितों के साथ कुठाराघात किया जा रहा है। वक्ताओं का कहना है कि इसके पश्चात मांग न मांगें जाने पर एक मई से नियमानुसार कम से कम कार्य का पालन किया जायेगा। उनका कहना है कि ई2 व ई3 वेतनमान को शीइा्र लागू किया जाये और यह मांग पिछले दस वर्षों से लंबित पड़ी है जिस पर किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। वक्ताओं ने कहा कि जेटीओ से एसडीई के आदेश तुरंत जारी किया जाये और एक जनवरी 07 के बाद से भर्ती कार्यकारी अध्किारियों का बेसिक स्केल 22820 रूपये लागू किया जाये। उनका कहना है कि आंदोलन को जारी रखा जायेगा।
 

सरकारी डिग्री कालेजों में शिक्षकों के आधे पद खाली

देहरादून। उत्तराखण्ड में 100 सरकारी डिग्री कालेजो में स्वीकृत 2071 प्रवक्ताओ के पदो मे से केवल 1092 प्रवक्ता कार्यरत है जिसमें से 18 महाविद्यालयो में कार्यरत नही है इसमें 15 त्याग पत्र/अन्यत्र कार्यरत प्रस्तुत तथा लम्बी अवधि से अनुपस्थित है तथा 3 प्रतिनियुक्ति पर अन्य पदों पर कार्यरत है। यह खुलासा सूचना अधिकार के अन्र्तगत सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को उच्च शिक्षा निदेशालय द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है।

सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने उच्च शिक्षा निदेशालय उत्तराखंड में महाविद्यालयों में प्रवक्ताओं के स्वीकृत, रिक्त पदों तथा कार्यरत प्रवक्ताओं की संख्या की सूचना मांगी थी। नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार प्रदेश में 10 महाविद्यालय ऐसे है जिसमें एक भी नियमित प्रवक्ता कार्यरत नही है केवल कुछ गेस्ट प्रवक्ता ही कार्यरत हैं। जबकि प्रदेश में एक महाविद्यालय मालधान चौड़ का राजकीय डिग्री कालेज ऐसा महाविद्यालय है जिसमें किसी भी प्रकार का एक भी प्रवक्ता कार्यरत नही है जबकि इसमें प्रवक्ताओं के 5 पद स्वीकृत है।

इसके अतिरिक्त प्रदेश में 8 महाविद्यालय ऐसे है जिसमें एक चौथाई भी शिक्षक किसी भी प्रकार के कार्यरत नही है। इसमें हल्दूचौड, कांड़ा, उफरखाल, नन्दासैन, कमांद, त्युनी रिखणीखाल शामिल है। इसके अतिरिक्त एक तिहाई से कम कार्यरत शिक्षकों वाले 4 महाविद्यालयो में बलवाकोट, पटलोट, ब्रहमखाल मासी, महाविद्यालय शामिल है जबकि अन्य आधे से कम शिक्षकों वाले 10 महाविद्यालयों मे सियाल्दे भिक्यासैन गुन्तकाशी थल्यूड, रूद्रप्रयाग, अमोड़ी, तल्वाड़ी, अल्मोड़ा, मुनस्यारी, जोशीमठ के महाविद्यालय शामिल हैं।

उत्तराखंड में केवल 9 राजकीय महाविद्यालय ही ऐसे है जिसमें सभी पदों पर शिक्षक कार्यरत हैं जबकि केवल दो महाविद्यालयों में ही सभी पदों पर नियमित प्रवक्ता कार्यरत है। शेष महाविद्यालयो में रिक्त पदो पर गेस्ट शिक्षक व सांध्यकालीन शिक्षक कार्यरत है। सभी नियमित भरे पदों वाले महाविद्यालयों में 7-7 पदों वाले मंगलौर तथा लक्सर के महाविद्यालय शामिल है। जबकि अन्य सभी भरे पदों वाले महाविद्यालयों में लमगडा, गराई गंगोली, पावकी देवी, गुरूदाबाज, गंगोली घाट, कोटाबाग, भगवानपुर के महाविद्यालय शमिल हंै।

गेहूं-चावल पर पूर्व सीएम हरीश रावत करेंगे सांकेतिक उपवास

देहरादून। सरकारी राशन की दुकानों के गेहूं और चावल की कीमत बढ़ाने के फैसले के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत एक मई को गांधी पार्क में सरकार के इस फैसले के खिलाफ सांकेतिक उपवास करेंगे। बकौल रावत, सरकार का यह फैसला गरीब विरोधी है। कांग्रेस सरकार आम व्यक्ति को सुविधा देने के लिए सभी बोझ उठाते हुए भी रियायती मूल्य का गेहूं-चावल उपलब्ध कराती रही थी।

उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि केंद्र और राज्य में भाजपा की डबल इंजन की सरकार होने के बावजूद ऐसा क्या हो गया जो सरकार ने गरीब आदमी पर ही मार कर दी ? कांग्रेस इसका विरेाध करेगी। मैं खुद एक मई को सुबह 10 बजे से गांधी पार्क में बापू प्रतिमा के समक्ष दो घंटे का सांकेतिक उपवास करूंगा। मालूम हो कि बीते रोज त्रिवेंद्र कैबिनेट ने एपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए रियायती मूल्य पर अनाज देने की योजना को जारी रखने का निर्णय किया है। पर, साथ ही गेहूं का मूल्य पांच रुपये से बढ़ाकर 8.60 रुपये प्रतिकिलो कर दिया है। चावल का मूल्य प्रतिकिलो नौ रुपये से बढाक़र 15 रुपये किया गया है।

रावत ने भी बढ़ाए थे दो रुपये
 सस्ते अनाज को महंगा करने का यह पहला मामला नहीं है। कांग्रेस सरकार ने वर्ष 2015 में गुपचुप ढंग से चावल का दाम दो रुपये बढ़ा दिया था। सितंबर 2015 में तत्कालीन रावत सरकार ने एपीएल कार्ड धारकों को सात रुपये किलो के हिसाब से दिए जा रहे चावल को नौ रुपये किलो कर दिया था। तब भाजपा ने इस फैसले का विरोध करते हुए आकाश-पाताल एक कर दिया था।

शपथ ग्रहण में कुलपति होंगे मुख्य अतिथि

नई टिहरी। एचएनबी गढ़वाल विवि के बादशाहीथौल परिसर में शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ का 29 अप्रैल को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में गढ़वाल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जेएस कौल मुख्य अतिथि होंगे।

शपथ समारोह परिसर के सभागार में सुबह 11: 30 बजे शुरू होगा। शपथ समारोह के पश्चात कुलपति परिसर के कर्मचारी, शिक्षकों की बैठक लेंगे और परिसर के विभिन्न विभागों का निरीक्षण करेंगे। संघ के सचिव डा. दिनेश ङ्क्षसह नेगी ने बताया कि इस दौरान परिसर के छात्रों की ओर से कुलपति व प्रति कुलपति से विभिन्न समस्याओं पर चर्चा के लिए निदेशक से समय मांगा है।

ग्रामीणों ने अधिशासी अभियंता का घेराव किया

कर्णप्रयाग। पेयजल किल्लत से नाराज बदरीनाथ यात्रा मार्ग से लगे कालेश्वर ग्रामसभा के ग्रामीणों ने अधिशासी अभियंता का घेराव किया। उन्होंने क्षेत्र को कालेश्वर लिफ्ट योजना से जोडऩे की मांग की। ऐसा नहीं होने पर योजना की आपूर्ति बाधित करने की चेतावनी दी। गुरुवार को अधिशासी अभियंता कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों का कहना था कि क्षेत्र में लंबे समय से पेयजल किल्लत है। टंकी सूख चुकी हैं। हैंडपंप पानी नहीं उगल रहे हैं। कई बार विभाग से समस्या निस्तारण को गुहार लगाई जा चुकी है, लेकिन कुछ नहीं हो पाया है।

कालेश्वर लिफ्ट पेयजल योजना कर्णप्रयाग नगर के लिए बन कर तैयार है। इन दिनों योजना का ट्रॉयल किया जा रहा है, लेकिन शुरूआती गांव को ही योजना से नहीं जोड़ा जा रहा है। जबकि गांव को योजना से जोडक़र समस्या का समाधान किया जा सकता है। ग्रामीणों ने ज्ञापन अधिशासी अभियंता व एसडीएम को सौंपा। ज्ञापन में प्रधान कालेश्वर हरीश चौहान, महिला मंगल दल अध्यक्ष रेखा रावत, संगीता, बबीता, आशा देवी, राजेश्वरी, माहेश्वरी सहित 20 से अधिक ग्रामीणों के हस्ताक्षर हैं।
 

मोदी के दौरे से स्थानीय लोगों में खुशी

रुद्रप्रयाग। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के केदारनाथ दौरे को लेकर स्थानीय लोगों में खुशी का माहौल है। स्थानीय लोगों को पूरी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री केदारनाथ को कोई बड़ी सौगात देंगे। हालांकि प्रशासन को प्रधानमंत्री के दौरे का कार्यक्रम प्रान्त नहीं हुआ है, इसके बावजूद प्रशासन तैयारियों में जुटा हुआ है।  प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहली बार केदारनाथ के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं।

केदारनाथ से नरेन्द्र मोदी का गहता रिश्ता रहा है। संघ प्रचारक के तौर पर उन्होंने केदारनाथ से तीन किलोमीटर नीचे गरूड़चट्टी में लंबा समय व्यतीत किया था। 2013 में आई आपदा के बाद वह केदारनाथ आना चाहते थे, लेकिन राजनीतिक कारणों के कारण वह यहां नहीं आ पाए। अब उनका केदारनाथ आने का कार्यक्रम लगभग तय माना जा रहा है। इसको लेकर स्थानीय लोगों में उत्साह का माहौल बना हुआ है। स्थानीय लोग प्रधानमंत्री से ढेर सारी उम्मीदें पाले हुए हैं। लोगों की सबसे बड़ी उम्मीद गौरीकुंड से केदारनाथ तक मोटरमार्ग निर्माण की है।

दरअसल, इस मार्ग के निर्माण की मांग लंबे समय से की जा रही है। लेकिन पर्यावरण समेत अन्य कई कारणों की वजह से इस मार्ग का निर्माण नहीं हो पाया। खास बात यह है कि मोदी सरकार ऑल वेदर रोड़ का निर्माण कर रही है। स्थानीय लोग चाहते हैं कि इसी प्रोजेक्ट के तहत गौरीकुंड से केदारनाथ तक सडक़ का निर्माण हो। इसके साथ ही लिनचौली से केदारनाथ तक रोप-वे के निर्माण की मांग भी स्थानीय लोग कर रहे हैं। स्थानीय निवासी प्रदीप बगवाड़ी, श्रीनिवास पोस्ती, उमेश पोस्ती, मायाराम गोस्वामी का कहना है कि केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने से विकास की एक उम्मीद जगी है। उनका कहना है कि केदारनाथ के लिए एक और रास्ते का निर्माण किया जाना जरूरी है।

ताकि यात्रियों को आवागमन में सुविधा हो। इसके साथ ही सडक़ मार्ग से केदारनाथ को जोड़ा जाना जरूरी है। केदारनाथ और पैदल मार्ग पर यात्रियों के ठहरने के लिए पर्यान्त व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री केदारपुरी को सजाने और संवारने के लिए कोई बड़ा तोहफा दें। केदारनाथ की सुरक्षा की मांग भी प्रधानमंत्री से की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का केदारनाथ से गहरा नाता रहा है। इसलिए वह केदारनाथ के लिए कोई बड़ी सौगात देकर जाएं। उन्होंने कहा कि आज केदारघाटी में रोजगार की सबसे बड़ी समस्या है। ऐसे में बेरोजगारों को भी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री उनका भविष्य सुरक्षित करेंगे।
 

विकास कार्यों में लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त : चौधरी

रुद्रप्रयाग। भाजपा विधायक भरत सिंह चौधरी ने कहा कि अमथोली-जाखाल-सिलगांव-सकलाना मोटरमार्ग की लोकायुक्त से जांच कराई जायेगी। मोटरमार्ग की बेहद दयनीय स्थिति है। मोटरमार्ग पर ग्रामीण जनता जान जोखिम में डालकर आवाजाही कर रही है। उन्होंने मौके पर ही पीएमजीएसवाई जखोली के अधिकारियों को मोटरमार्ग की दुर्दशा में सुधार लाने के निर्देश दिये। श्री चौधरी ने कहा कि विकास कार्यों में भ्रश्टाचार बर्दाष्त नहीं किया जायेगा। यदि कोई अधिकारी विकास कार्यों में लापरवाही बरतता है तो संबंधित के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी।

भाजपा विधायक भरत सिंह चौधरी ने विकासखण्ड जखोली के जाखाल, हरियाली, सिलगांव, उदियाणगांव, सकलाना आदि गांवों का भ्रमण करते हुये जन समस्याएं सुनी। इस दौरान ग्रामीण जनता ने विधायक श्री चौधरी का फूल-मालाओं से भव्य स्वागत किया। क्षेत्र को जोडऩे वाले अमथोली-जाखाल-सिलगांव-सकलाना मोटरमार्ग की दयनीय स्थिति पर विधायक ने कड़ी नाराजगी जताते हुये पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि मोटरमार्ग की दयनीय स्थिति हो रखी है। मोटरमार्ग पर सफर करना बेहद खतरनाक है।

उन्होंने कहा कि मोटरमार्ग की लोकायुक्त से जांच कराई जायेगी। श्री चौधरी ने कहा कि ग्रामीण जनता की समस्याओं का समाधान समय पर किया जायेगा। अधिकारी गांव-गांव जाकर ग्रामीण जनता की समस्याओं को सुनकर मौके पर ही उनका निराकरण करेंगे। विकास कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी। इस दौरान उन्होंने जूनियर हाईस्कूल हरियाली के क्षतिग्रस्त भवन के नव निर्माण की बात भी कही।

ग्राम प्रधान सकलाना द्वारिका प्रसाद सकलानी, सामाजिक कार्यकर्ता सुरेन्द्र दत्त सकलानी ने लौंगा-सकलाना मोटरमार्ग निर्माण की मांग विधायक के सम्मुख रखी। जबकि अन्य ग्रामीणों ने भी क्षेत्र में फैली विभिन्न समस्याओं से विधायक को अवगत कराया। विधायक श्री चौधरी ने ग्रामीणों को समस्याओं का निराकरण करने का आष्वासन दिया। इस मौके पर भाजपा पूर्व जिलाध्यक्ष वाचस्पति सेमवाल, भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह रावत, मोहन सिंह पंवार, कलम सिंह रावत सहित कई मौजूद थे।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिये अतिरिक्त पुलिस बल की मांग

रुद्रप्रयाग। तीन मई को भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के केदारनाथ आगमन की तैयारियां शुरू हो गई हैं। जिला एवं पुलिस प्रशासन यात्रा तैयारियों में जुट गया है। केदारनाथ धाम के साथ ही विभिन्न यात्रा पड़ावों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जा रहे हैं। केदारनाथ में बिजली-पानी की आपूर्ति सुचारू की जा रही है। प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर शासन से भी प्रशासन को आवश्यक दिशा-निर्देश मिल चुके हैं।
द्वादश ज्योतिर्लिंगों में अग्रणी विश्व विख्यात भगवान केदारनाथ के कपाट ग्रीष्मकाल के छह माह के लिये तीन मई को खुल रहे हैं। तीन मई को प्रात : आठ बजकर तीस मिनट पर बाबा केदार के कपाट खुलने जा रहे हैं।

कपाट खुलने के अवसर देश-विदेश के लाखों यात्री केदारनाथ धाम में मौजूद रहेंगे और इन यात्रियों के बीच इस बार केदारनाथ के खास मेहमान देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी होंगे। जो कपाट खुलने के बाद बाबा केदार के स्वयं भू लिंग के साथ ही अखण्ड ज्योति के दर्शन करेंगे। प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। सभी विभागों को समय पर सभी कार्य पूरे करने के निर्देश दिये जा चुके हैं। शासन से भी वीडियो कांफें्रस के जरिये जिलाधिकारी को आवश्यक निर्देश मिल चुके हैं। शासन से निर्देश मिलने के बाद जिला प्रशासन की तैयारियां भी तेज हो गई हैं। प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर जिलाधिकारी ने कल सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाई है।

जिलाधिकारी रंजना वर्मा ने बताया कि प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। तैयारियों में किसी भी प्रकार की कोर-कसर नहीं छोड़ी जायेगी। केदारनाथ में समय पर बिजली, पानी, खाद्यान्न, रहने, खाने आदि की व्यवस्था पूर्ण की जायेगी। सभी विभागों को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये हैं। तीन मई को प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे की तैयारियां पुलिस ने भी शुरू कर दी हैं। पुलिस के जिम्मे सुरक्षा व्यवस्था है। ऐसे में पुलिस सुरक्षा में कोई कसर नहीं छोडऩा चाहती है। सुरक्षा व्यवस्था के लिये अतिरिक्त पुलिस फोर्स की मांग शासन से की गई है। सभी थाना एवं चौकीयों में पर्यान्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

पुलिस ने सभी व्यापारियों, होटल संचालकों की बैठक भी ले ली है और सभी को आवश्यक निर्देश दे दिये हैं। पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि पिछले यात्रा काल में देश के राष्ट्रपति ने भी केदारनाथ के दर्शन किये थे। उस समय भी सुरक्षा के पूर्ण इंतजाम किये गये थे। इस बार भी सुरक्षा के पूर्ण इंतजाम किये जा रहे हैं। सुरक्षा के लिहाज से लोगों का सत्यापन किया जा रहा है। केदारनाथ को पूर्ण रूप से सुरक्षित किया जा रहा है। सुरक्षा के लिये अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की गई है।

केदारनाथ में रहने वाले मजदूरों और कार्य करने वाली बाहरी एजेन्सियों को भी सतर्क किया जा रहा है। सुरक्षा व्यवस्था में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं रहेगी। समय पर सभी व्यवस्थाएं पूर्ण होंगी। होटल, लॉजों में भी चैकिंग शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि यात्रा पर आने वाले प्रत्येक यात्री की चैकिंग की जा रही है। सभी यात्रा पड़ावों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। केदारनाथ में आधुनिक हथियारों से लैसे जवान तैनात रहेंगे।

श्रद्घालुओं की सेवा में तत्पर रहें जवान : मीणा

रुद्रप्रयाग। जीवीके ईएमआरआई 108 आपातकालीन सेवा द्वारा पुलिस लाइन रतूड़ा में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सहयोग से चारधाम यात्रा मार्गों पर तैनात पुलिस कर्मियों, एसडीआरफ के जवानों एवं स्वास्थ्य विभाग के पैरा मेडिकल स्टॉफ के लिये फस्र्ट रिस्पॉन्डर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद नारायण मीणा ने कहा कि चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्घालुओं की सेवा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जायेगी। उन्होंने कहा कि देवभूमि से यात्री अच्छा संदेश लेकर जायं, इसकी पूरी कोशिश की जायेगी और चौबीसों घंटे यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के प्रयास किये जायेंगे।

उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान यात्रियों को स्वास्थ्य संबंधी कोई भी समस्या होने पर तत्काल रूप से ट्रीटमेंट दिया जाना आवश्यक है। शिविर के माध्यम से यह सबकुछ सिखाया जा रहा है कि किस तरीके से यात्रियों का ट्रीटमेंट किया जाता है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ओपी आर्य ने कहा कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्घालुओं की सुरक्षा के लिए यात्रा मार्गों पर लगे सभी कर्मचारियों को फस्र्ट रिस्पॉन्डर प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिससे आपातकालीन स्थितियों के दौरान आवश्यक सहायता प्रदान की जा सके। उन्होंने बताया कि कार्यशाला का आयोजन पिछले नौ वर्षों से आपातकाली सेवा का संचालन कर रही संस्था जीवीके ईएमआरआई 108 सेवा द्वारा किया जा रहा है।

जीवीके ईएमआरआई 108 आपातकालीन सेवा की ओर से प्रशिक्षण कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे प्रोजेक्ट मैनेजर राहुल चक्रवर्ती ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से राज्य के चारधाम यात्रा मार्गों पर स्थित तीन जिलों रुद्रप्रयाग, उत्तरकारी, चमोली के जिला मुख्यालयों पर फस्र्ट रिस्पॉन्डर प्रशिक्षण प्रोग्राम कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रतिभागियों को मुख्य रूप से आपातकालीन स्थिति के दौरान पीडि़त व्यक्ति को किस प्रकार से आवश्यक सहायता प्रदान की जानी चाहिए, उसके बारे में विस्तार पूर्वक बताया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में 46 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रतिभाग किया। इस मौके पर इमरजेंसी मैनेजमेंट एंड लर्निंग सेंटर विभाग के प्रशिक्षक नितिन शर्मा, रोहित कुमार, जिला प्रभारी आशीष नेगी सहित कईं मौजूद थे।

भाजपा नेता की हथौड़े से पीट पीटकर हत्या

रुडक़ी। हाल्लूमजरा चौक पर गाड़ी धुलवाने पहुंचे भाजपा नेता की गांव के ही वैल्डिंग की दुकान करने वाले युवक से कहासुनी हो गई। इस पर दुकानदार ने हथौड़े से पीट पीटकर भाजपा नेता की हत्या कर दी। फिर आरोपी मौके से फरार हो गया। जबकि लोगों ने भाजपा नेता को अस्पताल भिजवाया। जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। हाल्लूमजरा निवासी पूर्व प्रधान वेदवती के 55 वर्षीय पति सतीश सैनी गुरुवार दोपहर 12: 30 बजे हाल्लूमजरा चौक पर गाड़ी धुलवाने पहुंचे। इसी के बगल में उन्हीं के गांव के मेहताब की वैल्डिंग की दुकान है। इस दौरान वह वैल्डिंग कर रहा था। सतीश सैनी ने मेहताब को वैल्डिंग की चिंगारी उनके ऊपर आने की बात कही। साथ ही कहा कि इससे कपड़े जल जाएंगे।

इस पर दोनों में कहासुनी होने लगी। आरोप है कि मामला बढ़ते ही मेहताब ने दुकान से हथौड़ी उठाकर सतीश सैनी के ऊपर हमला कर दिया। सिर से लेकर छाती तक कई वार कर दिए। इससे सतीश लहूलुहान होकर नीचे गिर पड़े। यह देख मेहताब वहां से फरार हो गया। जबकि लोगों ने सतीश सैनी को रुडक़ी के एक प्राइवेट अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। हाल्लूमजरा में इस घटना से तनाव के हालात बन गए हैं। यह देखते हुए गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। भगवानपुर थाने के थानाध्यक्ष सूर्यभूषण नेगी का कहना है कि हमले के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

गंभीर मुकदमों की जांच समय पर हो : एसएसपी

रुडक़ी।  एसएसपी हरिद्वार ने गुरुवार को लक्सर कोतवाली का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने जहां साफ-सफाई, शस्त्रों और दस्तावेजों के रखरखाव पर संतोष जताया, वहीं लंबित मामलों की विवेचना में देरी पर नाराजगी भी जताई। बाद में उन्होंने स्थानीय लोगों और जन प्रतिनिधियों की बैठक में समस्याएं सुनकर उनके त्वरित निस्तारण का आश्वासन भी दिया।

एसएसपी कृष्ण कुमार वीके लक्सर पहुंचे तथा कोतवाली का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कोतवाली में मौजूद शस्त्र, सुरक्षा संबंधी दूसरे उपकरण व सरकारी दस्तावेजों के रखरखाव, कोतवाली परिसर की साफ सफाई को संतोषजनक पाया। कंप्यूटर पर दर्ज एफआईआर, जीडी आदि का विवरण भी अपडेट मिला। मालखाना में रखे विभिन्न अपराधों से संबंधित माल तथा वाहन भी मिलान में सही पाए गए।

बाद में उन्होंने कोतवाली में लंबित मामलों की जानकारी ली तथा कई गंभीर मामलों की विवेचना में हो रही देरी पर नाराजगी जताई तथा इसे समय पर पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कोर्ट के समन तथा वारंट की तत्काल तामील कराने के आदेश भी दिए। निरीक्षण के दौरान एसपी देहात मणिकांत मिश्रा, कोतवाल नवीनचंद्र सेमवाल, एसओ खानपुर आरके सकलानी, एसएसआई एसएन गैरोला, एसआई ओमकांत भूषण, महावीर सिंह रावत, रघुवीर चौधरी, विवेकानंद उनियाल, विरेंद्र सिंह सिसौदिया आदि मौजूद थे।

किशोरी को लेकर युवक फरार

रुडक़ी। किशोरी को लेकर एक युवक फरार हो गया। किशोरी के पिता ने पुलिस को तहरीर देकर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। लंढौरा निवासी युवक का पड़ोस की ही किशोरी के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था।

सात दिन पहले युवक किशोरी को लेकर फरार हो गया था। परिजनों ने पहले दोनों की तलाश की। काफी खोजबीन के बाद भी कोई सुराग नहीं लग पाया। किशोरी के पिता ने आरोपित युवक को नामजद कर कार्रवाई की मांग की है। चौकी प्रभारी संजीव चौहान का कहना है मामले की जांच पड़ताल के बाद कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
 

स्कूल के बाहर छेड़छाड़ करते मनचले पकड़े

रुडक़ी। एक स्कूल के बाहर छात्राओं से छेड़छाड़ कर रहे तीन मनचलों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। मनचले कई दिनों से छात्राओं को परेशान कर रहे थे।
खंजरपुर स्थित एक विद्यालय के बाहर आए दिन कुछ मनचले स्कूल खुलने व छुट्टी के समय पहुंच जाते थे। वह स्कूली छात्राओं व अन्य महिलाओं के साथ छेड़छाड़ कर अभद्रता करते थे। मनचलों की हरकत की शिकायत सिविल लाइंस कोतवाली से की गई।

सूचना पर सिविल लाइंस पुलिस स्कूल की छुट्टी के समय क्षेत्र में गश्त पर गई। इस दौरान स्कूल के पास खड़े मनचले पुलिस की गाड़ी को देखकर भागने लगे। पुलिस ने तीन मनचलों को हिरासत में ले लिया। कोतवाली लाकर उन्हें कड़ी फटकार लगाई गई। भविष्य में इस तरह की हरकत करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई। एसएसआई प्रदीप मिश्रा ने बताया कि युवकों को चेतावनी दी गई है। स्कूलों के खुलने और बंद होने के समय पुलिस लगातार गश्त करेगी। अगर कहीं से इस तरह की शिकायत आती है तो लोग पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं। इस तरह की हरकत करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

.