Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

लगभग 38 करोड रूपये की योजनाओं का शिलान्यास

Rishikesh : मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने शनिवार को मुनिकीरेती ऋषिकेश में लगभग 38 करोड रूपये की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इन योजनाओं में 35.54 करोड रूपये की लागत से कैलाशगेट के समीप गंगा नदी पर तीन लैन वाले पैदल पुल का शिलान्यास, 96.66 लाख रूपये की लागत से नत्था सिंह पोखरियाल सामुदायिक भवन का लोकार्पण तथा 135 लाख रूपये की लागत से निर्मित श्रीमती देवकी देवी कुट्टी पार्किंग स्थल का लोकार्पण सम्मिलित है।

 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पहचान पर्यटन से जुड़ी है। पर्यटन आर्थिकी का मुख्य आधार बने इसके लिये प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिये छोटी-छोटी विद्युत परियोजनाओं पर कार्य शुरू कर 400 मेगावाट विद्युत उत्पादन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश का विकास जनता के निर्णय पर निर्भर है, हमारी जैसी सोच होगी वैसा ही विकास होगा। राज्य सरकार सीमित वित्तीय संसाधनों के बावजूद शिक्षा, सड़क, उद्योग, स्वास्थ्य, यातायात आदि पर विशेष ध्यान दे रही है। इसके लिए संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल किया जायेगा। उन्होने कहा कि मुनिकीरेती क्षेत्र में रामझूला व लक्ष्मणझूला दो पुल पहले से ही हैं, इस पुल के बनने से प्रति वर्ष आयोजित होने वाले कांवड मेले व यात्रा सीजन में श्रद्धालुओं व पर्यटकों के साथ ही स्थानीय जनता को सुविधा होगी। यह पुल डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जायेगा। उन्हांेने कहा कि चारधाम सहित अन्य धार्मिक स्थलों के विकास के लिए अलग से विकास प्राधिकरण गठित किया गया है। प्रदेश में उद्योगों का विकास हो इसके लिये नीति बनायी गयी है तथा सिंगल विन्डो सिस्टम विकसित की गयी है। उद्योगों के अनुकूल युवाओं की दक्षता विकास के लिए इंजनियरिंग काॅलेज खोले गये हैं। एम्स ऋषिकेश के साथ ही दून मेडिकल काॅलेज की स्थापना पर भी तेजी से कार्य किया जा रहा है। इससे आम आदमी को बेहतर चिकित्सा उपलब्ध हो सकेगी।
 
प्रदेश में उद्योग, पर्यटन, व ऊर्जा सहित अन्य क्षेत्रों में अधिक से अधिक पूंजी निवेष हो सके इसके लिये प्रयास किये जा रहे हैं। केन्द्र द्वारा भी प्रदेश के विकास के लिये पूरा सहयोग दिया जा रहा है। अभी केन्द्र द्वारा 82 करोड़ की विशेष केन्द्रीय सहायता उपलब्ध करायी गयी है। गैरसैण में विधानसभा भवन का शिलान्याश कर पर्वतीय क्षेत्रों के विकास के लिए आधार तैयार किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वर्षों से रह रहे लोगों को उजाडा नही बल्कि बसाया जायेगा। ऐसे प्रकरणों को कैबिनेट के समक्ष रखकर जनहित में निर्णय लिये जायेंगे। उन्होने आश्वासन दिया कि क्षेत्र के विकास के लिए जो भी योजनाएं आवश्यक होंगी पूरा किया जायेगा।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास के मामले में हमें दलगत राजनीति से उपर उठकर सोचना होगा। विधायक सुबोध उनियाल ने मुनिकीरेती क्षेत्र नरेन्द्रनगर विधानसभा क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। 

इस अवसर पर अध्यक्ष नगर पंचायत मुनिकीरेती शम्भु पासवान, अध्यक्ष नगर पालिका ऋषिकेश दीप शर्मा आदि उपस्थित थे।  

शराब की दुकानें निलाम हुई

देहरादून। राजधानी की विभिन्न देशी व अंग्रेजी शराब की दुकानों के लिए नगर निगम सभागार में कड़ी सुरक्षा के बीच निलामी प्रक्रिया आरंभ हुई। जिलाधिकारी बीवीआरसी पुरूषोत्तम के निर्देश पर लाटरी प्रक्रिया शुरू हुई। लाटरी के दौरान पुलिस सुरक्षा के भारी बंदोबस्त किए गए थे। जहां पर सिर्फ अधिकृत लोगों को ही प्रवेश दिया गया। 
 
राजधानी में देशी व विदेशी मदिरा और बीयर की ६८ दुकानों के लिए निलामी प्रक्रिया शुरू हुई। जिसके लिए २९२६७ आवेदन मिले हैं। १६ हजार रूपए प्रत्येक आवेदन के साथ जमा किए गए हैं जिसके अनुसार सरकार को ४६.८२ करोड़ की अनुमानित आय हुई है। देशी शराब के लिए ९१३७ व अंग्रेजी शराब के लिए १९८८० आवेदन जबकि बीयर के लिए कुल २५० आवेदन मिले हैं। लाटरी प्रक्रिया आज देर रात तक चलेगी। शराब के कारोबार में बढ़ते मुनापे को देख इस बार आवेदन करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है। जबकि पिछले साल यह संख्या १४ हजार के आसपास ही थी। 

रात में भी सूर्य का प्रकाश करेगा गांव की गलियों को उजियारा

देहरादून। यदि सब कुछ सरकार की पहल और योजना के अनुरूप हुआ तो आने वाले दिनों में शहर में बिजली की चकाचौंध से रोशन गलियों को देख किस्मत को कोसने वाले गांव अब खुद पर भी इतराएंगे। राज्य में शहरों के बाद अब गांवों को सौर ऊर्जा से रोशन करने के लिए उरेडा ने कदम बढ़ाए हैं। ग्रिड आधारित बिजली की बचत के साथ-साथ सूर्य की किरणों से बनने वाली सौर ऊर्जा गांवों की अंधेरी गलियों में नया उजाला लेकर आएगी।
 
राज्य के 670 गांवों में उरेडा 13003 सोलर स्ट्रीट लाइटें लगाने जा रहा है। राज्य में वर्तमान में शहरी क्षेत्र में पथ प्रकाश व्यवस्था का जिम्मा नगर निगम एवं नगर पंचायतों पर है। जबकि ग्रामीण इलाकों में अब तक पथ प्रकाश (स्ट्रीट लाइट) की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में गांवों की अंधेरी गलियों में प्राकृतिक रोशनी की किरण लेकर आया है उत्तराखंड अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (उरेडा)। भारत सरकार की नवीन एवं नवीकरण ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) की इस पहल को उरेडा राज्य में क्रियान्वित करने जा रही है। इसके तहत राज्य के 13 जिलों के 672 गांवों को सोलर स्ट्रीट लाइट से रोशन किया जाएगा। महाराष्ट्र की जैन इरीगेशन सिस्टम लिमिटेड जलगांव इन लाइटों की आपूर्ति करेगी। नैनीताल जनपद के लिए पहला लॉट मार्च अंत तक पहुंच भी जाएगा।
 
पूरी योजना में 90 फीसद अंशदान केंद्र व 10 फीसद राज्य सरकार कर रही है। जबकि ग्राम पंचायतों को भविष्य में इन लाइटों की देखरेख, समुचित संचालन एवं रखरखाव का जिम्मा संभालना होगा। सूरज की किरणें करेंगी ऑन-ऑफ सार्वजनिक लाइट सिस्टम में 74 वॉट का सोलर पैनल, 12 वोल्ट में 75 एम्पियर क्षमता की बैटरी एवं 11 वॉट की सीएफएल होगी। सोलर पैनल दिन भर सूरज की रोशनी से बैटरी को चार्ज करेगा। सूरज ढलते ही लाइट जल जाएगी और सूरज के उगते ही ऑटोमेटिक ऑफ हो जाएगी।
 

 

Banks will open only for three days in the last week

Dehradun : At the end of the financial year, the banks have a lot of work to do. In the last week of this financial year, the banks will be working only for three days out of seven. The banks will remain closed on the 24th and 25 march due to Holi festival and on the 29 of march for Good Friday. 31 Mrach is sunday, however, the banks will remain open for Government Business. The banking will then resume normal working from the 2nd of April as April1 is the annual bank holiday.

During these festive days and till 1st of April, there can be seen a lot of rush at the bank ATMs and some of them may even go out of cash or can may experience technical trouble due to load. It is suggested that we should all plan cash withdrawl or other urgent banking requirements accordingly.

एसडीएम को जान से मारने की धमकी देने वाला गिरफ्तार

देहरादून। एसडीएम को रोककर उसे जान से मारने की धमकी देने वाले एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है संपत्ति से जुडे एक मामले मे उपजिलाधिकारी को कोई रिपोर्ट लगानी थी जिसकी जांच चल रही थी। इसी पुराने विवाद की जांच को लेकर एक प्रोपर्टी डीलर ने वाहन पर जा रहे उपजिलाधिकारी को रास्ते में ही रोक लिया और उनके साथ अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी। एसडीएम की शिकायत पर पुलिस ने कल आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और शुक्रवार की सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया। 
 
रायवाला थाना क्षेत्र में एसडीएम ऋषिकेश के साथ हुई अभद्रता से पुलिस के हाथ पैर फूल गए। उपजिलाधिकारी रामजी चरण शर्मा अपने सरकारी वाहन से रायवाला की ओर आ रहे थे कि इसी दौरान बसंती मंदिर तिराहे के पास एक व्यक्ति ने उनके वाहन को रोक लिया। पुलिस को दी गयी शिकायत में उपजिलाधिकारी रामजी शर्मा ने बताया कि एक जमीन के मामले में वह जांच कर रहे हैं जिसमें बलवीर सिंह भी एक पक्ष है। इसी बात को लेकर कल बलवीर सिंह निवासी श्यामपुर ने उनकी गाड़ी को रूकवाया और उनके साथ अभद्रता की। एसडीएम ने उसका विरोध करते हुए उसके इस कृत्य को सरकारी कार्य में बाधा डालना बताया तो बलवीर ने एसडीएम को जान से मारने तक की धमकी दे डाली। उधर पुलिस को जब इस मामले की जानकारी मिली तो थाना पुलिस के हाथ पैर फूल गए। तत्काल पुलिस टीम मौके पर पहुंची लेकिन तब तक बलबीर ंिसह वहां से जा चुका था।
 
एसडीएम की ओर से शिकायत दर्ज किए जाने के बाद पुलिस ने कल रात बलबीर सिंह के घर पर दबिश दी लेकिन वह घर पर नहीं मिला। आज सुबह पुलिस ने बलबीर सिंह के बारे में सूचना मिलने पर उसे गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट में पेश करने के बाद बलवीर सिंह को जेल भेज दिया गया है। 
 

यौन स्वास्थ्य पर आधारित कार्यशाला का आयोजन

देहरादून। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन द्वारा संचालित अर्श उड़ान कार्यक्रम के तहत स्टेट नोडल एजेंसी अर्श उड़ान, समर्पण सोसाइटी के तत्वधान में डीएवी पीजी कालेज में युवा प्रजनन एवं यौन स्वास्थ्य पर आधारित एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उददेश्य छात्रों में यौन स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना था। महाविद्यालय के दीनदयाल उपाध्याय सभागार में आयोजित इस कार्यशाला का उद्घाटन महाविद्यालय के प्राचार्य डा$ देवेंद्र भसीन ने दीप प्रज्वलित कर किया।

इस मौके पर प्राचार्य ने कहा कि छात्राओं को स्वास्थ्य के प्रति सदैव जागरूक रहना चाहिए। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही बरतने से स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। कॉलेज के प्राचार्य डॉ० भसीन ने किशोरियों को स्वस्थ जीवन जीने के कई टिप्स दिए। अर्स की प्रोजेक्ट मैनेजर डॉ० गीता खन्ना ने कहा कि उत्तराखण्ड में किशोरियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने तथा स्वास्थ्य स्तर को अधिक सुदृढ़ करने, जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए संस्था द्वारा अनेक कार्यक्रम किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में डीएवी कालेज में कार्यशाला आयोजित की गई है।

इस कार्यक्रम के अन्तर्गत किशोरियों को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का उद्देश्य रखा गया क्योंकि स्वस्थ जीना ही जीवन है। तथा स्वस्थ किशोरी ही स्वस्थ समाज का निर्माण करती है। कार्यशाला में प्रजनन स्वास्थ्य, प्रमुख समस्याएँ, उनका समाधान, किशोरावस्था में होने वाले परिवर्तन, गर्भावस्था में होने वाले परिवर्तन, यौन संक्रमण, परिवार नियोजन तथा कैरियर पर विशेष चर्चा की गई। कार्यशाला का संचालन एनएसएस की कार्यक्रम अधिकारी डॉ० राखी उपाध्याय ने किया।

इस अवसर पर महादेव गौड़, सुषमा मल्होत्रा, कंचन, डॉ० नीरजा चौधरी, डॉ० संगीता भट्ट, डॉ० निशा वालिया, डॉ० रूपाली बहल, डॉ० रीना उनियाल, डॉ० विनीत विश्नोई, डॉ० जे०वी०एस० रौथान, डॉ० सविता रावत, डॉ० रश्मि धर, डॉ० पूनम मिश्रा आदि ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर उपासना घले, मीनाक्षी, सोनाली, प्रिया रावत, प्रिया भण्डारी, रीतू जदली, स्मिता, मोनिका पुण्डीर, अंकिता नेगी, रूबी, संध्या, रोशनी, अमनदीप, गीता, कोमल, दीपिका, नेहा, आराधना, साक्षी आदि उपस्थित रहीं।
 
 

सडक़ो पर उतरे शिवसेना के कार्यकर्ता

देहरादून। सिंचाई विभाग की भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर शिव सेना कार्यकर्ता सडक़ो पर उतर आये है। इसी क्रम में सोमवार को कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर मामलें में विरोध दर्ज कराया। सोमवार को शिवसेना के कार्यकर्ता धमावाला बाजार के व्यापारियों के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और वहां पर उन्होंने जोरदार नारेबाजी के बीच प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि मस्जिद के पीछे सिंचाई विभाग की खाली भूमि है और जिस पर अक्सर कूडा फैंका रहता है । वहां पर लगातार अतिक्रमण हो रहा है और इससे स्थानीय निवासी एवं व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और हैरान की बात तो यह कि अब वहां पर मस्जिद की आड़ में बची हुई भूमि पर बाउंड्री वॉल की जा रही है। इस दौरान शिवसैनिकों एवं व्यापारियों ने कहा कि धर्म की आड़ में अतिक्रमण को सहन नहीं किया जायेगा और इस मामले की जांच की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि यदि इस मामले पर शीइा्र ही किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की गई तो सडक़ों पर उतरकर आंदोलन किया जायेगा। जिलाधिकारी ने इस मामले को गंभीरता से लेते शीइा्र ही जांच करने का भरोसा दिया और कहा कि सरकारी भूमि पर किसी भी प्रकार का अतिक्रमण नहीं होने दिया जायेगा और इसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों से भी वार्ता की जायेगी। ज्ञापन देने वालों में जिला प्रमुख वीरेन्द्र सिंह रावत, देवेन्द्र सिंह बिष्ट, तरूण आहूजा, मनुज अरोडा, दीनू पंडित, विशाल बेदी सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

पुलिस कर्मी भी अब चोरों के निशाने पर

देहरादून। दून में चोरी का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है। चोरो के हौसले इतने बुलंद हो चुके है कि पुलिस कर्मी भी अब चोरों के निशाने पर है। चोरों ने जहां दो बार प्रेमनगर चौकी के प्रांगण से दो मोटरसाईकलें चोरी की, वहीं रायपुर में चोरों ने एक महिला कांस्टेबल के घर में चोरी की घटना को अंजाम देकर खाकी को अपनी ताकत का ऐहसास करा दिया।

रायपुर पुलिस इस घटना को पिछले 24 घंटे से छुपाए बैठी है। जिससे साफ झलक रहा है कि वह रिपोर्ट लिखने में क्या पैमाना तय करे हुए है।मिली जानकारी के अनुसार  बीते रोज महिला कांस्टेबल के घर में चोरों ने चोरी कर ली। लेकिन रायपुर पुलिस ने इस मामले पर चौबीस घंटे बाद भी पर्दा डालकर रखा हुआ है।जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अब दून में पुलिस भी सुरक्षित नहीं है।
 

उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षाएं शुरू

देहरादून। हिंदी के प्रश्र पत्र के साथ उत्तराखण्ड माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाएं शुरू हो चुकी है। कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को बोर्ड की पहली परीक्षा सम्पन्न कराई गई।  राज्य के १३ जनपदों में हाई स्कूल की परीक्षाओं में कुल १ लाख ६८ हजार ६२३ छात्र/छात्राएं बैठे। वहीं इंटर मीडिएट की परीक्षा में १ लाख २० हजार ३६४ परीक्षार्थी शामिल हुए। उत्तराखण्ड राज्य के सभी १२५७ परीक्षा केंद्रों में उत्तराखण्ड बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हुयी। इंटरमीडिएट की हिन्दी परीक्षा के साथ बोर्ड परीक्षाओं का आगाज हुआ। १० बजे से १ बजे तक परीक्षा चली।

जो परीक्षा केंद्र संवेदनशील व अति संवेदनशील थे वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा, ताकि किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटा जा सके। वैसे सभी केंद्र व्यवस्थापक अपने स्तर पर परीक्षा को नकल मुक्त बनाने का प्रयास कर रहे थे। बोर्ड परीक्षा में परीक्षा केेंद्र व जनपद स्तर के सचल दल निरीक्षण करते रहे इसके साथ ही तीन विशेष सचल दल गठित किए गए थे। इनमें एक दल शिक्षा महानिदेशक, एक दल निदेशक और एक दल अपर निदेशक माध्यमिक के नेतृत्व में गठित किया हुआ था।

विशेष सचल दल ने भी समय-समय पर परीक्षा केंद्रो पर छापेमारी की। शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अति संवेदनशील परीक्षा केंद्र हरिद्वार में पांच, देहरादून में ९, टिहरी में ४, पौड़ी में ५, रूद्रप्रयाग में ३, पिथौरागढ़ में १, अल्मोड़ा में ३ व बागेश्वर में १ है। इसके अलावा १८४ परीक्षा केंद्र संवेदनशील भी हैं। शिक्षा महानिदेशक आर.के. सुधांशु का कहना है कि केंद्र व्यवस्थापक को नकल विहीन व भयमुक्त परीक्षा कराने के पहले ही निर्देश जारी कर दिए गए थे। कई बार नकल करवाने की शिकायते आती थी। इन्हीं शिकायतों को मद्देनजर रखते हुए यह भी निर्देश दिए गए हैं कि यदि किसी परीक्षा केंद्र पर शिक्षकों द्वारा नकल कराना उजागर हुआ तो उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

बोर्ड परीक्षाएं २२ मार्च तक चलनी है। जो परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र में परीक्षा देने पहुंचे उनकी सभी परीक्षा केंद्रो के मुख्य द्वार पर संबंधित परीक्षा केंद्र के अध्यापक के द्वारा तलाशी भी ली गयी। जो परीक्षार्थी अपने साथ पर्स, किताबे लाये हुए थे उनका यह सारा सामान गेट के बाहर ही रखवा दिया गया। परीक्षार्थियों पर कड़ी निगाह भी रखी गयी। ताकि कोई भी परीक्षा में नकल न कर पाए। मुख्य शिक्षा अधिकारी एस.पी. खाती का कहना है कि परीक्षार्थियों को उनके डैस्क पर ही पानी उपलब्ध कराया गया है। ताकि किसी भी परीक्षार्थी का किमती समय खराब न हो। जिस परीक्षा केंद्र में सबसे अच्छी व्यवस्था रहेगी वहां के व्यवस्थापक को पुरस्कृृत भी किया जाएगा। यदि किसी तरह की कोई परेशानी उत्पन्न होती है तो उसके लिए मयूर विहार में एक कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है।
 

डिप्लोमा इंजीनियर्स की हड़ताल जारी

देहरादून।  अपनी मांगों को लेकर डिप्लोमा इंजीनियर्स सोमवार को भी धरने पर डटे रहे। उन्होने सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए विशाल मोर्चा खोलने की चेतावनी दी।  उत्तराखंड डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ से जुडें़ विभन्न विभागों में कार्यरत डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के प्रांतीय अध्यक्ष नवीन काण्डपाल के नेतृत्व में विधानसभा के निकट धरनास्थल पर एकत्र हुए।

जहां उन्होंने अपने क्रमिक अनशन को जारी रखा। धरनास्थल पर आयोजित सभा में कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए महासंघ के महासचिव वी.के.डंगवाल ने कहा किं महासंघ के समस्त सदस्य पूर्ण समर्पण एंव निष्ठा से प्रदेशव्यापी आम हड़ताल में उतर चुके हैं।  महासंघ की प्रमुख मांगों में कनिष्ठ अभियंता की प्रारम्भिक ग्रेड वेतन ४८०० किया जाना वाहन भत्ता ग्रेड वेतन का ५० प्रतिशत किया जाना, समस्त निगम, परिषद, प्राधिकरण आदि में कनिष्ठ अभियंता का वेतनमान राजकीय विभागों की भांति किया जाना,

स्थानांतरण ऐक्ट बनाया जाना, कार्यदायी संस्थाओं के निर्धारण में बाहरी राज्यों के निगमों व विभागों को अलग किया जाना, विनियमितिकरण, गुणवत्ता सुधार हेतु दायित्वों का निर्धारण तथा तदनुसार दण्ड की व्यवस्था किया जाना, पेयजल विभागों का राजकीयकरण आदि २१ मांगें सम्मिलित हैं। बैठक में प्रांतीय अध्यक्ष नवीन काण्डपाल, वी.के.डंगवाल, हरीश नौटियाल, कैलाश उनियाल, एम.एस.रावत, सी.एस.कन्याल, के.एस.चौहान, ए०पी.काला, ए.के.पैन्यूली, लोकेन्द्र पैन्यूली, कमल किशोर उनियाल, दरबान सिंह, दिवाकर धस्माना, शक्ति आर्य, गोविन्द सिंह रावत, गोपाल रावत, कमल किशोर उनियाल,  आर.पी.पंत, वी.एस.पंवार, वीरेन्द बिष्ट, मदन सिंह भैंसोड़ा, आर.एस.गुंसाई, आर.पी.पंत, केे.एस.सजवाण, जातेश कुमार सैनी, गंभीर सिंह असवाल, आदि सदस्य उपस्थित थें।
 

शमशान घाट की भूमि पर कब्जे पर भडक़े ग्रामीण

गदरपुर। शमशान घाट की भूमि पर कब्जे को देख ग्रामीण भडक़ उठे।  गुस्साए ग्रामीणों ने कब्जाई गई भूमि पर बने शमशान घाट पर ही मृतक की अंत्येष्टि की।  डोंगपुरी कालोनी निवासी रामभरोसे (55) का आकस्मिक निधन हो गया।  शव यात्रा में शामिल ग्रामीण जब गांव में ही बने शमशान घाट के लिए चले तो शमशान घाट को जाने वाले रास्ते, भूमि पर पोपलर के लगे पेड़ों और लहलहाती गेंहू की फ सल को देख ग्रामीण गुस्से से भडक़ उठे।

गुस्साए ग्रामीणों का कहना था कि वर्षों पुराने शमशान घाट की करीब ढाई बीघा से अधिक भूमि, रास्ते पर गांव के ही दो कास्तकारों द्वारा भूमि पर कब्जा करके गेंहू की फ सल और उस पर सैंकड़ों पोपलर के पेड़ लगा दिए हैं। आरोप था कि कब्जेदारों ने शमशान घाट को जाने वाला रास्ता तक नहीं छोड़ा। जिससे उन्हे भविष्य में भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। एक बारगी तो गुस्साए ग्रामीणों ने मृतक रामभरोसे की अंत्येष्टि कर दी। अलबत्ता कहना था कि शीघ्र ही सम्बन्धित अधिकारियों, उच्चाधिकारियों से मिलकर कब्जाई गई भूमि को मुक्त कराया जाएगा।

गुस्साए ग्रामीणों ने कहा कि जनहित में बने शमशान घाट की भूमि पर अवैध रूप से किया गया कब्जा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहना था कि वर्षों पूर्व गांव के ही निवासी स्व. गोविन्द सिंह सैनी ने मृत्यु से पूर्व गांव में ही शमशान घाट का निर्माण करवाकर करीब ढाई बीघा से अधिक भूमि और शमशान घाट को जाने वाला रास्ता दान स्वरूप दिया था। इधर सम्बन्धित काश्तकारों से सम्पर्क न हो पाने के कारण अधिकृत जानकारी हासिल नहीं हो पाई। इस दौरान पूर्व प्रधान रामा छाबड़ा, भाजपा मण्डल उपाध्यक्ष उमेश गुप्ता, भारतीय बाल्मीकि धर्म समाज के जिला संयोजक हरपाल सिंह हितकारी, राकेश सिंह तोमर, उदयवीर सिंह सैनी, ओम प्रकाश, भूप सिंह तोमर, मोती राम, शंकर सैनी, रघुवीर सिंह, मन्नी लाल, महेन्द्र सिंह, राम प्रकाश, धर्मवीर, विजयभान आदि थे।
 

गंदगी के ढेर से संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ा

नानकमत्ता । नगर में जगह जगह फैला कुडा व गन्द्गीयो के ढेर जमा होने से नगर में संक्रामक रोगो के फैलने की आशंका वनी हुई है परन्तु इस ओर न तो ग्राम पंचायत का कोई ध्यान है और नही प्रशासन ने इसकी कभी सुध ली है नगर के विभिन्न स्थानो पर फैला कुडा करकट तथा जगह जगह लम्बे समय से भरे स्थानो पर पानी के जमा होने के कारण नगर क्षेत्र में मच्छरो का प्रकोप बडता जा रहा है ।

जिससे तरह तरह की विमारिया होने की आशंका वनी हुई है । क्षेत्र में बढते मच्छरो के प्रकोप पर सबन्धित मलेरिया विभाग भी इस ओर कुछ करने से चुप्पी साधे हुये है बताते चले की नगर के कई ऐसे विधालय है जिनके पास से पानी की निकासी न होने के कारण गढडो में लम्बे समय से दूशित पानी के भरे होने के कारण उसमें साक्रंमक रोग फैलाने वाले मच्छरो की उत्पत्ति हो रही है जिनके काटने से विद्यालय में पढने वाले बच्चो को भयंकर सक्रामक रोग भी  हो सकता है । परन्तु इस ओर विद्यालय प्रशासनो का कोई ध्यान नही है वही संबंधित शिक्षा विभाग के आला अधिकारी भी इस ओर कार्यवाही के नाम पर चुप्पी साधे बैठे है जिससे बच्चे के जीवन पर खतरा मंण्डरा रहा है । 
 

विकास खण्ड सितारगंज के पूर्व ब्लाक प्रमुख भूवन सिंह राणा कहते है की नगर में बढती गन्द्गी तथा जगह जगह जल भराव होने के कारण भंयकर विमारिया पैदा हो सकती है जिनका समय पर प्रशासन द्वारा संज्ञान न लिया गया तो नगर क्षेत्र इसकी चपेट में आ सकता है । नगर के पूर्व व्यापार मण्डल के अध्यक्ष डा० देवेन्द्र सिंह कहते है की वर्शो बीत जाने के बाद भी स्वास्थ विभाग के सबंधित मलेरिया विभाग के द्वारा नगर में दवा का छिडकाव नही किया है वे कहते है की मलेरिया विभाग के लोगो को चाहिये की वे नगर क्षेत्र के उन स्थाना पर दवायो का छिडकाव करे जिन स्थानो पर गन्द्गी कुडाकरकट ,व अधिक समय से जल भराव है । जिससे की गन्द्गी से पैदा होने वाली विमारीयो को कम किया जा सके।

इधर नगर के प्राथमिक स्वास्थय केन्द्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा० प्रियाशुं श्रीवास्तव कहते हेै की हमारे आस पास जमा होने वाली गन्द्गी के हम स्वंय जिम्मेदार होते है उन्होने कहा की हमे अपने आस पास गन्द्गी व जल भराव नही होने देना चाहिये जिससे हम रोग मुक्त रहेगे। डा० प्रियाषुं श्रीवास्तव कहते है कि स्वास्थय केन्द्र में आने वाले मलेरिया के रोगी की पहले खून की जांच कराई जाती है । जिसके परिणाम आने पर रोगी का उपचार किया जाता है मलेरिया दवा के छिडकाव के सबंन्ध में उन्होने कहा की इसके लिये मलेरिया विभाग क्षेत्र में रोगी की संख्या व उसकी अधिक की पुष्टी के बाद दवाओ का छिडकाव करता है ।

भाजपा युवा नेता शुभम् अग्रवाल कहते है कि यू तो प्रदेश की सरकार बच्चो के लिये सब पढो आगे बढो का नारा लगा रही है लेकिन वच्चो के स्वास्थय से की जा रही लापरवाही की ओर कोई ध्यान नही है जिससे स्कूलो के सामने फैला कुडा करकड गढडो में भरे पानी में पनपने वाले रोगो मच्छरो से वच्चे की जीवन पर खतरा मडरारहा है । विद्यालय प्रबन्ध समिति के पूर्व सदस्य केष्वर प्रसाद चौरसिया कहते है की नानकमत्ता ग्राम पंचायत कई मूलभूत सुविधाओ से वंिचत है इसके सुधारिकरण पर सरकार को गम्भीरता से सोच कर इसे नगर पंचायत का दर्जा दिया जाना चाहिये जिससे की क्षेत्र में गन्द्गी पर प्रतिवन्द व व्यावस्था वन सके ।
 

गैस सिलेंडरों की सर्वाधिक बिक्री पर एजेंसी सम्मानित

काशीपुर । नेहा इंडेन गैस एजेंसी को बरेली संभाग और कुमाऊं मंडल में व्यवसायिक गैस सिलेंडरों की सर्वाधिक बिक्री दर्ज करने पर सम्मानित किया गया है। बीते दिनों एक कार्यक्रम में एजेंसी स्वामी जोगेंद्र छिकारा को शीर्ष अधिकारियों ने स्मृति चिह्न और प्रमाण पत्र दिया। शनिवार को लौटे छिकारा ने बताया कि बीते दिनों कंपनी का रामनगर में एक सम्मान समारोह आयोजित हुआ था।

असमें एजेंसी को वर्ष 2०11-12 में करीब 18 हजार कॉमर्शियल सिलेंडरों की बिक्री का रिकॉर्ड बनाने पर सम्मानित किया गया। उन्हें बरेली संभाग और कुमाऊं में रिकॉर्ड बिक्री के लिए दो पुरस्कारों से नवाजा गया। पुरस्कार इंडेन के जीएम एसएस मिश्रा, डीजीएम एसएस लांबा, सीनियर मैनेजर एमके सिन्हा, कुमाऊं मंडल प्रभारी प्रदीप अगल ने दिया। इस मौके पर हल्द्वानी प्लांट मैनेजर जयदेव ओझा और सुल्तानपुर पट्टी प्लांट मैनेजर श्याम सिंह मौजूद थे। इधर, नेहा एजेंसी की इस सफलता पर लायंस क्लब सेंट्रल के अध्यक्ष राम अग्रवाल, बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष उमेश जोशी तथा एजेंसी के राजकुमार, शालिनी शर्मा और लीला नेगी ने हर्ष जताया है।
 

ए.आर.ओ.कार्यालय को दून शिफ्ट करने पर नाराजगी

पिथोरागढ़। ए.आर.ओ.कार्यालय के पिथोरागढ़ से देहरादून शिफ्ट करने को लेकर यंहा के लोगों में भारी नाराजगी है। पूर्व भाजपा महामंत्री बिण रघुवीर सिंह ने कांग्रेसी विधायक व सांसद को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि बेरोजगारों के लिए नए रोजगार उपलभ्द करना तो दूर जो यंहा सुविधा है उसे भी दूर किया जा रहा है।

2००7 में भारी विरोध के बावजूद भी पिथोरागढ़ से बी.आर.ओ. कार्यालय को देहरादून शिफ्ट कर दिया गया था और आज ए.आर.ओ.कार्यालय को भी देहरादून शिफ्ट करने की बात की जा रही है। सबसे अधिक सैनिक बाहुल्य होने के बावजूद इस जिले को नजऱंदाज़ किया जा रहा है। रघुवीर सिंह ने कहा इस कार्यालय को पिथोरागढ़ में ही बने रहने को लेकर हम सभी युवाओं को लेकर ब्रिगेडियर संदीप काला व जिलाधिकारी से वार्ता करेंगे। अगर ए.आर.ओ.को यंहा से अन्यत्र ले जाया गया तो हम उग्र आन्दोलन करेंगे ।
   

कुरैशी को बसपा का नगर अध्यक्ष चुना

किच्छा। महेन्द्र सागर को नगर प्रभारी तथा इदरीश कुरैशी को बहुजन समाज पार्टी का नगर अध्यक्ष चुना गया। किच्छा शुगर कंपनी के गेस्ट हाउस मे आयोजित बसपा की एक बैठक मे प्रदेश अध्यक्ष मेघराज सिह के निर्देश पर नगर कार्यकारिणी का विस्तार करते हुये डा० नारायन दास को महासचिव,केशव शर्मा,नरेश गंगवार,महेश रस्तोगी,विजय सक्सैना,पवन गंगवार,धर्मेन्द्र कश्यप को सचिव चुना गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश महासचिव भृगराशन राव एंव विशिष्ठ अतिथि विधान सभा प्रभारी राजेश शुक्ला ने मनोनित पदाधिकारियो का फूलमाला पहना कर स्वागत किया।इस अवसर पर सुनीता कश्यप,रामाआशीष,दीनदयाल सागर,खतीब अहमद,राजेश प्रताप राठौर,शेर अली,अमर सिह आर्या,अशोक कुमार,जावेद मलिक,योगेश गंगवार आदि थे।
 
 

गौ माँस खाने की सलाह पर रोष

बाजपुर। केन्द्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी एक पुस्तक में गौ माँस खाने की सलाह दिये जाने का मामला तूल पकड गया है।  रोषित हिन्दुवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं न तहसील परिसर धरना-प्रदर्शनकर   पुस्तक पर प्रतिबंध लगाने की माँग की।उल्लेखनीय हो मंत्रालय द्वारा जारी की गयी पोषण नामक पुस्तक में समुदाय विशेष के लोगों से गौ मांस का सेबन करने के लिए कहा गया है।

जिसकी जानकारी होने पर भडके हिन्दुवादी संगठन के कार्यकर्ता तहसील परिसर में पहुचे तथा धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान हुई सभा में वक्ताओं ने कहा कि  कुछ असामाजिक तत्व जानबूझकर  हिन्दू समाज की भावनाओं से खिलवाड कर रहे है। जिसे किसी कीमत पर सहन नही किया जायेगां  सभा में चेतावनी देते हुये कहा कि यदि जल्द पुस्तक पर प्रतिबंध न लगाया गया तो हिन्दुवादी संगठन सडकोंं पर उतरने को मजबूर हो जायेगे तथा असमाजिक तत्वों को मुंहतोड जबाब दिया जायेगा। इस मौके पर हेम काण्डपाल,  लक्की खुल्लर, नगर तनिकेत पासी, विनीत देवल, आशीष ठाकुर, शिवम, भगवान दास, नीरज सतेन्द्र ठाकुर आदि मौजूद  थे।
 

क्षेत्र में चोरों का कहर लगातार जारी

बाजपुर। क्षेत्र में चोरों का कहर लगातार जारी है। बीती देर रात लगभग साढे नौ बजे भी अज्ञात चोरों ने बरार सीड के सामने खडी नगर पालिका के वार्ड न०-4 गांधी नगर निवासी बाईक संख्या यूके०6 वाई-7594 चुरा कर ले गये। पीडित ने सोमवार की सुबह कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है।
 

पूर्व सैनिक सम्मेलन की तैयारियां जोरों पर

रानीखेत। सेना मध्यकमान के 5० साल पूरे होने पर सेना के सोमनाथ मैदान में पूर्व सैनिक सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। मंगलवार को बरेली से शुरू हुई टॉर्च रिले अल्मोड़ा से रानीखेत पहुंचेगी। पूर्व राजदूत हर्ष वर्धन मनराल कार्यक्रम का शुभारंभ करेेंगे। सोमनाथ मैदान में तैयारियां जोरों पर है विभिन्न  स्टालों के माध्यमों से पूर्व सैनिकों और वीर नारियों को जानकारी दी जा रही है तथा उनकी समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है। पूर्व सैनिक संगठन पदाधिकारियों ने पूर्व सैनिकों तथा वीर नारियों से अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की है।
                     

सिंचाई मंत्री आज रूद्रपुर भ्रमण पर

रूद्रपुर । प्रदेश के सिंचाई,राजस्व एवं ग्रामीण अभियन्त्रण सेवा मंत्री यशपाल आर्य जिला भ्रमण पर आ रहे है । प्राप्त कार्यक्रम के मुताविक श्री आर्य 5 मार्च को 1० बजे हल्द्वानी से कार द्वारा प्रस्थान कर बाजपुर पहुंचेंगे तथा 11 बजे से मण्डी परिसर बाजपुर में नलकूप का शिलान्यास करेंगे तदुपरान्त वह 11$3० बजे रामराज रोड चोैराहा पर शहीद भगत सिंह की मूर्ति स्थापना एवं सौन्दर्यीकरण कार्य का एवं 12 बजे मजराप्रभु रामलीला मैदान में नलकूप एवं ए$एन$एम$ सेंन्टर का शिलान्यास कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे तत्पश्चात् वह जनता से सम्पर्क करेंगे। श्री आर्य अपरान्ह 2 बजे केलाबन्दवारी में जनसम्पर्क करने के पश्चात् 3$3० बजे बाजपुर से हल्द्वानी के लिये प्रस्थान करेंगे।
 

भिकारियो के खिलाफ कार्रवाई

देहरादून। जिलाधिकारी बी$वी$आर$सी$ पुरूषोतम ने वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया है कि नगर में विभिन्न चौराहो पर काफी संख्या में बच्चे व महिलायें भीख मांगते दिखई देते है। उत्तर प्रदेश भिक्षावृत्ति प्रतिषेध अधिनियम 1975 के अन्तर्गत भिक्षा मांगना निषेध है। उन्होने अधिनियम की प्रति संलग्र करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से अपेक्षा की है कि अधिनियम के अन्तर्गत दी गई व्यवस्था के अनुरूप नगर में भीख मांगवाने वाले व्यक्तियों के विरूद्व विधिक कार्यवाही की जाय।
              

अवैध प्रेस लिखे वाहनों पर चैकिंग

पिथौरागढ़ । जिला स्तरीय स्थाई समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी सीएमएस बिष्ट ने स्थाई समिति के सदस्यों से उनके द्वारा उठाई गई समस्याओं के समाधान का भरोसा दिलाया और पुलिस अधीक्षक विजय कार्की तथा अपर जिलाधिकारी बीएल राणा को अवैध प्रेस लिखे हुए वाहनों की सख्त चैकिंग करने के निर्देश दिये। पत्रकार सदस्यों द्वारा उठाये गये सवाल पर कि जनपद में कई वाहन प्रेस लिखकर घूम रहे हैं, जिस पर पुलिस अधीक्षक ने जिला सूचना अधिकारी से सूचना कार्यालय में पंजीकृत प्रेस प्रतिनिधियों की सूची और उनके वाहनों के नम्बर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये,

जिससे अवैध प्रेस लिखे वाहनों पर सख्त कार्यवाही की जा सके। तिमाही प्रेसवार्ता कराने के सदस्यों के सवाल पर जिलाधिकारी ने कार्यवाही का भरोसा पत्रकार सदस्यों को दिलाया।  पत्रकार सदस्यों द्वारा सान्ताहिक, पाक्षिक आदि छोटे समाचार-पत्रों को सीधे समाचार-पत्रों को जारी करने वाले विभागों द्वारा रोटेशन प्रणाली के आधार पर विज्ञापन आवंटित करने हेतु जिलाधिकारी से कहा, जिस पर प्रभारी सूचना अधिकारी ने बताया कि विज्ञापन अब सीधे निदेशालय स्तर से आवंटित किये जा रहे हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि उक्त संबंध में कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

पत्रकार सदस्यों द्वारा विभागों के साथ पहले से बेहतर समन्वय की बात बैठक में कही तथा कहा कि अभी कई विभागों और प्रेस के साथ समन्वय की आवश्यकता है। पत्रकार सदस्यों द्वारा जनपद मुख्यालय में टै्रफिक की समस्या पहले से बेहतर बताते हुए बाइकर्स की स्पीड पर अंकुश लगाने की जरूरत पर बल दिया। जिस पर जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को औचक चैकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिये। दो पहिये वाहनों पर लिखे गये नामों को हटाने तथा उस पर मानक के अनुसार नम्बर लिखने हेतु कार्यवाही का भरोसा पुलिस अधीक्षक ने पत्रकार सदस्यों को दिलाया। इस अवसर पर स्थाई समिति के सदस्य बीडी कसनियाल, नन्दन सिंह कोश्यारी, ओपी अवस्थी तथा विजयबद्र्घन उप्रेती उपस्थित थे। संचालन प्रभारी सूचना अधिकारी एनएस बिष्ट ने किया।
 

कृषि प्रशिक्षण शिविर शुरू

टनकपुर। एनएचपीसी कारपोरेट सामुदायिक दायित्व योजना के तहत टनकपुर पावर स्टेशन में कृषि उत्पादन बढ़ाने के लिए दो दिवसीय कृषि प्रशिक्षण शिविर शुरू किया । शिविर में गोविन्द बल्लभ पंत कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने क्षेत्र के काश्तकारों को कृषि उत्पादन बढ़ाने के जानकारी दी । टनकपुर पावर स्टेशन के ट्रेनिग सेन्टर में पावर स्टेशन के महाप्रबंधक ए बी साहा ने कृषि प्रशिक्षण शिविर का उदघाटन दीप प्रज्जवलित कर किया इस अवसर पर उन्होने कहा कि एनएचपीसी कारपोरेट सामुदायिक दायित्व योजना के तहत दो दिवसीय कृषि प्रशिक्षण शिविर लगाया गया है

जिसमें पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको द्वारा क्षेत्र के काश्तकारो को कृषि उत्पादन के बारे में जानकारी देगे जिससे क्षेत्र के काश्तकारो को लाभ होगा ं। उन्होने कहा कि एनएचपीसी सीएसआर योजना के तहत क्षेत्र के काश्तकारो को लाभ पहुचाने के लिए क्षेंत्र में कोल्ड स्टोरेज बनाया जायेगा । उन्होने कहा कि टनकपुर पावर स्टेशन द्वारा भविष्य में इसी प्रकार के कृषि प्रशिक्षण शिविर के साथ स्वास्थ शिविर लगाकर क्षेत्र के लोगो को रोगो से निजात दिलायेगे एवं जनकल्याण योजनाये चलाकर निर्धन एवं असहाय लोगो की सहायता करेगे । इस अवसर पर पंतनगर कृषि विश्वविद्याल के  वैज्ञानिक डा० जितेन्द्र क्वात्रा एवं डा० डी एस कार्की ने रबी एवं जायद की फसल के रखरखाउ की जानकारी काश्तकारो को देते हुए उत्पादन बढ़ाने के बारे मे जानकारी दी । अवसर पर टनकपुर पावर स्टेशन के वरिष्ठ प्रबंधक शरत भूषण , बी आर गुलाटी, नरेशज्ञ बंसल एस के भाटिया, सन्तोष सौरभ, दयाराम, निर्मला जोशी आदि उपस्थित थे ।

 

वन भूमि हस्तान्तरण में सावधानी बरते

अल्मोड़ा । जिलाधिकारी अक्षत गुप्ता ने वन भूमि हस्तान्तरण में वनाधिकार अधिनियम 2००6 के अन्तर्गत प्रस्तावित वन भूमि में कोई दावा लम्बित न होने सम्बन्धी प्रमाण पत्र में पूर्ण सावधानी बरतने के निर्देश सभी अधिकारियों को दिये है उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी एवं मुख्य वन संरक्षक उत्तराखण्ड द्वारा भी इस सम्बन्ध में समय-समय पर विस्तृत दिशा-निर्देश सभी अधिकारियों को दिये गये है। उन्होंने कहा क्षतिपूरक वृक्षारोपण हेतु पूर्व में चयनित भूमि उपयुक्त नहीं है आदि सम्बन्धी प्रमाण पत्र देने से पूर्व उसकी बारीकी से जॉच कर ली जाय।

पर्यावरण एवं वन मंत्रालय भारत सरकार के क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ द्वारा दिए गये दिशा-निर्देशों के क्रम में प्रयोगता अभिकरण वन अधिकार अधिनियम 2००6 के अन्तर्गत प्रत्यार्वतन प्रस्ताव से सम्बन्धित सभी ग्राम सभाओं के प्रस्ताव प्रस्तुत करेगी जिसमें स्पष्ट अंकित हो कि ग्राम सभा के अन्तर्गत सभी दावों का निस्तारण हो चुका है एवं ग्राम सभा वन भूमि के प्रत्यार्वतन प्रस्ताव पर सहमत हैै एवं सम्बन्धित जिले के जिलाधिकारी का प्रमाण प्रस्तुत करेगा कि वनाधिकार अधिनियम के अन्तर्गत प्रस्तावित भूमि के कोई दावा लम्बित नहीं है।
 

जिलाधिकारी ने इस सम्बन्ध में सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जिन-जिन विभागों के वनभूमि सम्बन्धी मामले है वे अपने स्तर से पूर्ण आख्या के साथ प्रमाण पत्र प्रस्तुत करेंगे। तभी जिलाधिकारी के स्तर से प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने वनाधिकारी अल्मोड़ा प्रेम कुमार के साथ वनाधिकार अधिनियम 2००6 के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा की और लम्बित दावों के निस्तारण में तेजी लाने को कहा। बैठक में उपस्थित अपर समाज कल्याण अधिकारी को उन्होंने निर्देश दिये कि उनके स्तर से जो प्रमाण पत्र लोक निर्माण विभाग के पीएमजीएसवाई को दिया जाना है उसमें वे पूर्ण सावधानी बरतते हुए प्रमाण पत्र जारी करें ताकि ताकि वन भूमि हस्तान्तरण के मामलों में तेजी आ सके। आपको इस तरह के दावों के निस्तारण के लिए नोडल अधिकारी नामित किया गया है।
 

नामधारी ट्रांसपोर्ट पर यूपी पुलिस का छापा

रुद्रपुर। उत्तर प्रदेश पुलिस ने रविवार को नैनीताल रोड के नामधारी ट्रांसपोर्ट पर छापा मारा। हालांकि आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके। अलबत्ता, इससे आसपास के ट्रांसपोर्टरों में हडक़ंप मच ग या। नामधारी ट्रांसपोर्ट पर अमेठी के राइस मिलर के पांच लाख रुपये का चावल फर्जीवाड़ा कर बेचने का आरोप है।अमेठी के गौरीगंज निवासी कांता प्रसाद सिंघल की वहीं मैसर्स यदुवर फूड्स प्रोडक्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम से मिल है।

रुद्रपुर में नैनीताल रोड पर एमएस नामधारी नाम से ट्रांसपोर्ट है। मिल से चावल पंजाब राइस एंड जनरल मिल तलवंडी रोड जीरा पंजाब के लिए नामधारी ट्रांसपोर्ट के ट्रक पर लादा गया। आरोप है कि ट्रांसपोर्टर ने पांच लाख रुपये का चावल दूसरी फर्म को बेच दिया। जब समय से चावल पंजाब राइस मिल में नहीं पहुंचा तो उसके स्वामी ने इसकी जानकारी सिंघल को दी।सिंघल ने ट्रांसपोर्टर मुख्तियार सिंह के पुत्र सुब्बा सिंह निवासी ग्राम मिलक, खजुरिया, बिलासपुर और सतपाल सिंह निवासी रम्पुरा बुजुर्ग थाना खजुरिया के खिलाफ अमेठी कोतवाली में आइपीसी की धारा 4०6 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया।

इसकी जांच का जिम्मा अमेठी कोतवाली के उपनिरीक्षक आरबी सिंह को सौंपा गया। उन्होंने जांच शुरू की तो पता लगा कि जिस ट्रक से माल भेजा गया था, उसका रजिस्ट्रेशन नंबर, फर्म का नाम व पता फर्जी है। आरोप है कि ट्रांसपोर्टर ने दूसरी फर्म को चावल बेच दिया। तफ्तीश में आरोपियों के एमएस नामधारी ट्रांसपोर्ट नैनीताल रोड रुद्रपुर में होने की जानकारी मिली। तब आरोपियों के खिलाफ 419, 42०, 467, 468, 469 व 471 के तहत केस दर्ज किया गया। मामला कोर्ट में चला गया। कोर्ट ने इन आरोपियों के खिलाफ 23 फरवरी को गिरफ्तारी वारंट जारी किया। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसआइ आरबी सिंह के नेतृत्व में एसआइ डीके शुक्ल व पांच कांस्टेबलों ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से रविवार को नामधारी ट्रांसपोर्ट पर दबिश दी, मगर आरोपी हत्थे नहीं चढ़े।

 

19 सडक़ों की बदहाली होगी दूर

 

विकासनगर।  यदि सब कुछ ठीक ठाक चला तो जल्द ही कालसी ब्लॉक क्षेत्र की 19 सडक़ों की बदहाली दूर हो जाएगी। बदहाल यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए व दुर्गम क्षेत्र के गांवों को मार्ग से जोडऩे को पीएमजीएसवाई (प्रधान मंत्री ग्रामीण सडक़ योजना) के तहत विभागीय सर्वे शुरू हो गया है।
 
पीएमजीएसवाई के तहत 2००1 की जनगणना के तहत 5०० से 25० की आबादी वाले गांवों को सडक़ से जोडऩे का लक्ष्य रखा गया है। इसके तहत कालसी ब्लॉक के मानकों को पूरा करने वाले 19 गांवों को सडक़ योजना से जोड़ा जाएगा। इसके लिए विभाग ने 19 सडक़ें स्वीकृत की हैं। इसमें कोठा बैंड से पंजिया, कोटी मोटर मार्ग के किमी 1० से सराड़ी, कोठा तारली, सवाई मोटर मार्ग, डिमोऊ अतलेऊ-देसोऊ मार्ग, चकराता- मगरोली, कोठा-अस्टाड़, कोठा-आरा, उत्पाल्टा-उपरोली, माक्टी-पोखरी, धोइरा-देऊ, लेल्टा-मंडोली, पजिटिलानी-चंदेऊ, बैराटखाई-जैंदोऊ, बेसोगीलानी-जोशी गोथान, बिरमोऊ मोटर मार्ग, पुरोडी-रिखाड़, गैबालसी मोटर मार्ग आदि मार्गों पर शीघ्र कार्य प्रारंभ किया जाएगा
 
इन मोटर मार्गो के बनने से सडक़ से वंचित गांवों को सबसे ज्यादा लाभ मिलेगा। पीएमजीएसवाई कालसी के अधिशासी अभियंता राजकुमार यादव के अनुसार इन मोटर मार्गो का सर्वेक्षण कार्य शुरू कर दिया है। डीपीआर तैयार कर भारत सरकार को भेजी जाएगी। स्वीकृति मिलते ही मोटर मार्गों पर कार्य शुरू किया जाएगा।
 

तीर्थ नगरी में लगा शिवभक्तों का तांता

ऋषिकेश। शिवरात्रि के दिन नजदीक आते ही तीर्थनगरी में शिवभक्तों की आमद बढऩे लगी है। आसपास के जिलों के साथ ही बाहरी प्रदेशों से वाहनों में सवार होकर श्रद्वालुओं का यहां आना शुरू हो गया है। हालांकि प्रशासन द्वारा अभी तक भी शिवरात्रि को लेकर कोई खास इंतजाम भीड़ के लिए नही किये गये है, जिससे स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

 

प्रेस क्लब की नवीन कार्यकरणी का गठन

उत्तरकाशी। जिला पत्रकार की संघ एवं प्रेस क्लब की नवीन कार्यकरणी का गठन किया गया है। जिस में सर्वसहमिति से पत्रकारों के हितों पर चरचा किया गया  अैार पत्रकारिता सुधार पर भी विशेष जोर दिया गया है। प्रसे क्लब सथागार में आयोजित बैठक में सर्वसहमति से पत्रकार संघ के संरक्षक सूरत संह रावत अध्यक्ष शिव सिंह थलवाल महासचिव सुनील नवप्रभात  तथा प्रस क्लब के अध्यक्ष   पंकज गुप्ता, चुने गये है। बैठक में जिले के यमुनाघाटी  एवं गंगा घाटी के समस्त पत्रकारों ने हिस्सा लिया। है।   

हाथी की धमक से दहशत

ऋषिकेश। देर रात करीब बारह बजे एक हाथी श्यामपुर बाइपास मार्ग स्थित टीएचडीसी के गेट के समीप खड़े ट्रकों से चावलों की बोरियां चट करने के चक्कर में आ धमका। इस दौरान हाथी ने कुछ ट्रकों को भी नुकसान पहुंचाया।सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे वनकर्मियों ने खासी मशक्कत के बाद हाथी को हवाई फायर कर वापस जंगल की ओर खदेड़ा।
 
गौरतलब है कि हाथी द्वारा लगातार आसपास के क्षेत्रों में उत्पात मचाया जा रहा है, जानकारी होने के बाजवूद भी विभागिय आलाधिकारी इस ओर उत्पात में कमी लाये जाने को लेकर कोई खास उपाय अभी तक नही कर पाये है। उधर रेंज अधिकारी गंगासागर नौटियाल ने बताया कि हाथी को हवाई फायर कर वापस खदेड़ा गया। बताया कि वनकर्मियों द्वारा लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर लगातार गश्त की जा रही है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष 8 को रायवाला में

ऋषिकेश। रायवाला क्षेत्र के प्रतीतनगर ग्राम में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष  तीरथ सिंह रावत का स्वागत व क्षेत्रीय विधायक प्रेमचंद अग्रवाल का एक वर्ष का कार्यकाल पूरा होने को लेकर यहां एक समारोह का आयोजन कार्यकर्ताओं द्वारा ८ मार्च को किया जा सकता है। समारोह में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के साथ ही भुवन चन्द्र खण्डूड़ी भी शिकरत कर सकते है। प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्रियों के यहां आने को लेकर स्थानीय कार्यकर्ताओं ने तैयारियां जोरो-शोरों से शुरू कर दी है। साथ ही भारी संख्या में यहां कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगने केे साथ ही आगामी निकाय व त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए भी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता हुंकार भर सकते है।

नेपाली धरती पर भी होगा योग महोत्सव का आयोजन

ऋषिकेश। परमार्थ निकेतन आश्रम में चल रहे अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में राष्ट्रीय मानवाधिकारी आयोग नेपाल के पूर्व अध्यक्ष शंकर लाल दास पहुंचे और उन्होंने स्वामी चिदानंद मुनि से नेपाल में भी इसी तरह का अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव शुरू करने का आग्रह किया, जिसपर मुनि ने दास को नेपाल में अूनठा अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव आयोजित किये जाने का आश्वासन दिया है।  

 लक्ष्मणझूला स्थित परमार्थ निकेतन में चल रहे योग महोत्सव में रविवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग नेपाल के पूर्व अध्यक्ष व नेपाल के पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक के साथ ही नेशनल सीनियर सिटीजन फेडरेशन के प्रमुख शंकर लाल दास महोत्सव में भाग ले रहे जिज्ञासुओं के बीच पहुंचे। दास ने स्वामी चिदानंद से मुलाकात के दौरान नेपाल में भी इसी तरह का अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव आरम्भ करने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने स्वामी को नेपाल आने का न्यौता भी दिया। मुलाकात में स्वामी चिदानंद ने कहा कि नेपाल में एक अनूठा महोत्सव आयोजित कराने की रणनीति परमार्थ निकेतन द्वारा बनाई जा रही है।

योग विज्ञान को विश्व स्वास्थ्य के लिए अत्यन्त उपयोगी बताते हुए मुनि ने इसपर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय योग, आयुर्वेद, प्राकृतिक चिकित्सा व पंचकर्म आदि विधाओं को पूरी दुनिया स्वीकार कर रही है। दास के साथ नेपाल ह्यूमन राइट्स एण्ड पी० सोसायटी व नेपाल ह्यूमन राइट्स आर्गेनाइजेशन सहित क्षत्र प्रधान काठमाण्डू के महासचिव के साथ ही विभिन्न पदाधिकारी भी मौजूद थे। वहीं आश्रम में चल रहे सात दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में तीसरे दिन योग विज्ञान और इससे सम्बंधित विभिन्न विधाओं का प्रशिक्षण योग जिज्ञासुओं को दिया गया। गौरतलब है कि भारत के साथ ही दुनिया के ४१ देशों के करीब ४७५ प्रतिभागी योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा सहित स्वस्थ जीवन जीने के लिए जरूरी भारतीय पद्वतियों का प्रशिक्षण लेेने के लिए यहां पहुंचे हुए है। 

प्रेस क्लब की नवीन कार्यकरणी का गठन

उत्तरकाशी। जिला पत्रकार की संघ एवं प्रेस क्लब की नवीन कार्यकरणी का गठन किया गया है। जिस में सर्वसहमिति से पत्रकारों के हितों पर चरचा किया गया  अैार पत्रकारिता सुधार पर भी विशेष जोर दिया गया है। प्रसे क्लब सथागार में आयोजित बैठक में सर्वसहमति से पत्रकार संघ के संरक्षक सूरत संह रावत अध्यक्ष शिव सिंह थलवाल महासचिव सुनील नवप्रभात  तथा प्रस क्लब के अध्यक्ष   पंकज गुप्ता, चुने गये है। बैठक में जिले के यमुनाघाटी  एवं गंगा घाटी के समस्त पत्रकारों ने हिस्सा लिया। है।   

सीएम आज सुनेंगे जनसमस्याएं

 

देहरादून। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा सोमवार 4 मार्च को मीडिया सेंटर सचिवालय स्थित बहुउद्देशीय सभागार हाल सुभाष रोड में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में आम जनता से मुलाकात कर जन समस्याएं सुनेंगे। सोमवार को पूर्वाह्न 9 से 11 बजे तक आयोजित इस कार्यक्रम में विभागीय अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

सीएम ने सोनू निगम की माता के निधन पर दुख जताया

देहरादून। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा नेलोकप्रिय गायक सोनू निगम की माता शोभा निगम के निधन परगहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शान्ति एवं उनके परिजनों को दु:ख की इस घडी में धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि श्रीमति निगम का उत्तराखण्ड से गहरा नाता रहा है, वह जनपद पौड़ी की निवासी थी और वर्तमान में मुम्बई में अपने परिवार के साथ निवासकर रही थी।

मुख्यमंत्री को सम्मानित कर आभार जताया

देहरादून। रविवार को सुभाष रोड स्थित गुरूनानक वैडिंग प्वाइंट में नरेन्द्र सिंह बिन्द्रा को अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष बनाये जाने पर अल्पसंख्यक समुदाय द्वारा मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा को सम्मानित कर उनका आभार व्यक्त किया गया।इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शीघ्र ही उर्दू अकादमी व पंजाबी अकादमी का गठन कर दिया जायेगा।

अल्पसंख्यक आयोग में सदस्यों की भी शीघ्र नियुक्तियां की जायेगी। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों, जरूरतमंदो व ग्रामीण क्षेत्रों के विकास से ही राज्य ओर अधिक तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़ सकेगा। अल्पसंख्यक आयोग लोगों को जागरूक कर उनकी समस्याओं को कारगर ढंग से समाधान करने में सहायक बनें, इसके लिये विशेष प्रयास किये जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के सभी वर्गो व क्षेत्रों का सर्वांगीण विकास के लिये निरन्तर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि हेमकुण्ड साहिब के सौन्दर्यीकरण के साथ ही अन्य धार्मिक स्थलों के विकास व अल्पसंख्यक समुदाय की समस्याओं के समाधान के लिए सरकार प्रयासरत है।

उन्होंने कहा कि समस्याओं का समाधान आपसी भाई-चारे व सभी के सहमति से किया जायेगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए सदैव तत्पर है। इस वर्ष के आम बजट में अल्पसंख्यकों के लिये बजट में 12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है। उन्होंने कहा कि विकास योजनाओं के लिए स्वीकृत धनराशि का उपयोग समय पर होने से योजनाओं का लाभ आम जनता को मिल सकेगा। इस पर सभी को ध्यान देना होगा। कार्यक्रम में खेल व नियोजन मंत्री दिनेश अग्रवाल ने कहा कि आपसी सद्भाव हमारी विरासत है।

प्रदेश सरकार सभी वर्गो के विकास के लिये समर्पित है। हमारा प्रदेश सभी धर्मो का संगम है।अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह बिन्द्रा ने प्रदेश सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं व कार्यक्रमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आयोग अल्पसंख्यकों की समस्याओं का समाधान करने के साथ ही उनमें जागरूकता का भी प्रसार करेगा।इस अवसर पर विधायक उमेश शर्मा व राज कुमार ने भी विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग उपस्थित थे।

पानी की केमिकल जांच शुरू

रुद्रपुर। लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए अब पानी की केमिकल जांच कराई जा रही है। इसके लिए हरिद्वार, रुद्रपुर व काशीपुर से पानी के 25 नमूने लिए गए। नमूनों को जांच के लिए चंडीगढ़ लैब भेजा गया है।उत्तराखंड ग्रामीण विकास संस्थान (यूआइआरडी) में आयोजित कार्यशाला में शिरकत करने पहुंचे केंद्रीय भूमि जल बोर्ड देहरादून के भूमि जल वैज्ञानिक जीडी बर्थवाल ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि हर माह पानी के नमूनों की सामान्य जांच होती थी। प्रदेश के हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर जिलों में उद्योग ज्यादा लगे हैं। इससे पानी प्रदूषित होने की आशंका बनी रहती है। हरिद्वार, लक्सर व भगवानपुर और ऊधमसिंह नगर में पंतनगर व काशीपुर क्षेत्रों से 1० दिन पहले 25 नमूने लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं नार्थ-वेस्ट-ईस्ट रिसर्च लैब चंडीगढ़ में भेज दिए गए। बर्थवाल ने बताया कि प्रदेश का भूजल शुद्ध है। पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर पानी में आयरन की थोड़ी मात्रा अधिक है, मगर इसका प्रयोग करने पर स्वास्थ्य पर किसी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

सर्व धर्म सम्मेलन का आयोजन

देहरादून । प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के स्थानीय मुख्य सेवाकेन्द्र सुभाषनगर देहरादून के सभागार में सर्व धर्म सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अलग-अलग सम्प्रदायों से आये महानुभावों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड के राज्यपाल डा० अजीज कुरेशी ने कहा कि जब से यह दुनिया बनी है तभी से धर्म के नाम पर युद्व लडाई झगडे द्गें फसाद हुए है। परन्तु  ब्रह्माकुमारीज द्वारा आयोजित सर्व धर्म सम्मेलन में मेरे पास बोलने को कुछ नहीं बचा है क्योंकि इनका मानना है कि धर्म अर्थात शान्ति, प्रेम पवित्रता आन्नद इत्यादि। इस मतलब है कि धर्म के द्वारा सुख शान्तिमय जीवन जीया जा सकता है। उन्होंने  ब्रह्माकुमारी द्वारा किये जा रहे कार्यो की भूरी-भूरी प्रसंशा की।

 सिख सम्प्रदाय से आये भाई बूटा सिंह जी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जिस प्रकार कोई होशियार स्त्री अपने घर की सफाई सुबह और शाम करती है उससे घर सुन्दर रहता है उसी प्रकार हर मनुष्य को सुबह व शाम ज्ञान का स्नान करेगें और परमेश्वर को अपने हृदय में रखेगें तो मनुष्य के जीवन चमक जायेगा। सभी धर्मो ने चाहे वह मुसलिम हो जैन हो बौद्व हो चाहे पारसी हो सभी ने परमात्मा को सत्य कहा है।ईसाई धर्म से आये भाई जे०वी० ग्रीन ने कहा कि हम सभी अलग-अलग सम्प्रदायों से है परन्तु होता यह है कि मैं जिस भाई को इन आखों से देखता हॅू वह उससे प्रेम नहीं करता है और जिसे हमने इन आखों से देखा ही नहीं उसे हम कैसे प्रेम कर सकते है।

नौनिहालों की सूची तैयार करने का काम शुरू

विकासनगर। नए शिक्षा सत्र में आरटीई के तहत प्राइवेट स्कूलों में होने वाले प्रवेश के लिए जिलाधिकारी के सख्त निर्देशों के बाद विकासखंड स्तर पर नौनिहालों की सूची तैयार करने का काम शुरू हो गया है। कुछ निजी स्कूलों की ओर से सही संख्या न देने से बीइओ ऑफिस स्टाफ को सूची तैयार करने में दिक्कतें आ रही हैं।जिलाधिकारी डा. बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने आंगनबाड़ी में नामांकित बच्चों को अधिक से अधिक संख्या में आरटीई के तहत निजी शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश दिलाने को कहा है,

लेकिन कुछ निजी शिक्षण संस्थाओं की ओर से अपने विद्यालयों में कुल प्रवेश होने वाले छात्रों की संख्या न बताने से शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अपने विकासखंड की सूची बनाने में परेशानी हो रही है। शिक्षा का अधिकार की धारा 2 ई और धारा 2 डी के तहत प्रत्येक निजी शिक्षण संस्थान में अनिवार्य रूप से बीस प्रतिशत प्रवेश गरीब वर्ग के बच्चों को देने के मामले में कुछ निजी शिक्षण संस्थाएं गंभीर नहीं हैं। ऐसी शिकायत पर शिक्षा विभाग को अभी से ऐसे बच्चों की सूची तैयार कर जिलाधिकारी कार्यालय में उपलब्ध कराने के निर्देश मिले हैं। इसके अनुपालन में शिक्षा विभाग के अधिकारी ब्लॉक स्तर पर सूची तैयार करने में लगे हुए हैं

शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि विकासनगर ब्लॉक अंतर्गत छोटी बड़ी निजी शिक्षण संस्था मिलाकर 7० के करीब हैं, लेकिन कई स्कलों ने प्रवेश की वास्तविक संख्या नहीं बताई जा रही है। इससे ब्लॉक में आरटीई के तहत होने वाले प्रवेश की कुल संख्या एकत्रित नहीं हो पा रही है। जिलाधिकारी की ओर से आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों का प्रवेश आरटीई के तहत निजी शिक्षण संस्थाओं में दिलाने के फरमान से भी कुछ बड़ी संस्थाओं में बेचैनी है। विकासखंड में सूची तैयार कर रहे अधिकारियों के अनुसार किसी भी संस्था की ओर से नए सत्र में प्रवेश होने वाले छात्रों की सही संख्या न बताने से उन्हें भी सत्र में प्रवेश दिलाने वाले बच्चों की सही संख्या का अनुमान नहीं लग पा रहा है। मुख्य शिक्षाधिकारी एसपी खाली ने आरएनएस को बताया कि विकासखंड की प्रत्येक निजी शिक्षण संस्था को नए सत्र में प्रवेश होने वाले छात्रों की वास्तविक संख्या एक सप्ताह में बीईओ कार्यालय में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए जाएंगे, जो भी शिक्षण संस्था वास्तविक संख्या उपलब्ध नहीं कराएगी, उन प्राइवेट स्कूलों के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

किशोर-किशोरियों में कुपोषण की वजह आयरन की कमी

विकासनगर।  एनआरएचएम (राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन) के तहत किए गए सर्वे में आया है कि कालसी ब्लॉक के 1० से 19 साल के विद्यालय में अध्ययनरत किशोर-किशोरियों में आयरन की मात्रा काफी कम है। इसकी बच्चे कुपोषण के शिकार हो रहे हैं और उनकी शारीरिक विकास घट रहा है। चिकित्सकों का कहना है कि फास्ट फूड का बढ़ता चलन आयरन घटा रहा है।

कालसी ब्लॉक क्षेत्र में 4० जूनियर हाईस्कूल, 17 हाईस्कूल, 1० इंटर कॉलेज हैं। सर्वे में बच्चों में आयरन की कमी पाए जाने पर खंड शिक्षाधिकारी ने जूनियर हाईस्कूल, इंटर कॉलेजों के प्रधानाध्यापकों को आयरन टेबलेट बांटी तथा किशोर किशोरियों को आयरन की गोलियां खिलाने के निर्देश दिए। ब्लॉक संसाधन केंद्र कालसी में जूनियर हाईस्कूल, इंटर कालेजों के प्रधानाचार्यो व सीआरसी को बीइओ ने निर्देश दिए कि राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन योजना के सर्वे के अनुसार विद्यालयों में पढऩे वाले 1० से 19 साले के किशोर-किशोरियों में खून की काफी कमी पाई गई है। आयरन की कमी होना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
बीइओ मुनीष मिश्रा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से कालसी ब्लाक के सभी विद्यालयों के लिए आयरन टेबलेट उपलब्ध करा दिए हैं। उन्होंने सभी प्रधानाचार्य व संकल समन्वयक को निर्देश दिए कि ब्लॉक के स्कूलों में अध्ययनरत सभी बच्चों को हर सप्ताह एक टेबलेट दी जाए। इसमें सबसे पहले टीचर भी एक गोली आयरन की लेंगे। इस दौरान ब्लॉक समन्वयक वासुदेव रावत, प्रधानाध्यापक देवी सिंह तोमर, सीआसी देवेंद्र वर्मा, संदीप रावत, सुंदर तोमर आदि उपस्थित थे। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कालसी प्रभारी डॉ. विक्रम सिंह तोमर के अनुसार आयरन की कमी फास्ट फूड के ज्यादा सेवन से हो रही है। आयरन की कमी होने से किशोर किशोरियों में खून की कमी हो जाती है। इससे शारीरिक विकास कम होता है। उन्होंने बताया कि आयरन बढ़ाने के लिए खानपान शुद्ध हो, ज्यादा से ज्यादा हरी व पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।

Law being framed to protect old parents in UP

Lucknow : Old age is becoming a problem these days as the families are small and with modernization children have started avoiding their parents. The state government is prepairing a proposal to enact a law against those not taking care of their parents in old age. 

 
The law will include bearing monetory expences of the parents and also can extend to inprisonment.
 
Social welfare minister Awadhesh Prasad said that the children who would not take proper responsibility of their oldparents might be entitled to pay Rs 10,000 per month to them. The punishment on being reported can extend to three months imprisonment also.
 

Indo Nepal border areas in UP on alert

Lucknow: Police in all the districts of Uttar Pradesh in line witj Indo-Nepal border have been directed to maintain an alert. On February 26, a pressure cooker bomb, weighing aver five kilograms, was recovered from Kailali district of Nepal which was fortunately diffused by the bomb squad.The naxal activities have recently increased in the neighbouring country and is now becoming a concern of worry in the border areas.

 
UP DGP has asked the police in Indo Nepal border areas to be on alert and geared up for all unavoidable circumstances. 

Himachal Pradesh Cabinet Decisions, April 1' 2013

Shimla : Himachal Pradesh Cabinet meeting was held here today under the chairmanship of Chief Minister Shri Virbhadra Singh. Cabinet approved to provide free travelling facility to all the students of government schools from home to school and vice versa except on holidays in Himachal Road Transport Corporation (HRTC) buses with effect from 1st April, 2013. This announcement was made by the Chief Minister on 25th January, 2013 on the occasion of State level function of Statehood Day at Sunni in district Shimla. 

 
The Cabinet approved Vision Document for Manali agglomeration and its sub region making it an integral part of Development Plan for Manali Agglomeration of Kullu Valley Planning Area. 
 
It gave its nod to give relaxation to Ropeway building, Jakhu, Shimla regarding Base and Top Stations after receiving the applicable penalty under Himachal Pradesh Municipal Corporation Act, 1994 from them. 
 
Cabinet gave its approval to place Supplementary Demands for grants amounting to Rs.870.16 crore for the year 2012-13 before the Himachal Pradesh Vidhan Sabha in the coming session. 
 
Excise Policy for the year 2013-14 was also approved in the meeting.
 
It was decided in the meeting that all the Rain Shelters on the road sides would be brought under the control of Transport Department so as to ensure their proper use and maintenance. 
 
Cabinet gave its approval to enhance the remuneration of part time workers/sweepers of Health Department from Rs. 1100 per month to Rs. 1300 per month. 
 
It approved to fill up three posts of Professors and two Posts of Assistant Professors in Himachal Pradesh Government Dental College Shimla through direct recruitment, 19 posts of various categories reserved for persons with disabilities on contract basis in Horticulture Department, creation of three posts of Sanitary Inspectors in Municipal Corporation, Shimla, creation of four posts of Kanungo on supernumerary basis in Revenue Department, filling up two vacant posts of Junior Scale Stenographer in Department of Advocate General and one post of Driver on contract basis in Tribal Development Department. 
 
It approved Recruitment and Promotion Rules for Senior Ayurvedic Chikitsak (Specialist) (Class-I Gazetted) in Ayurveda Department. 
 
The Cabinet gave its approval to engage NIELIT, Chandigarh, a Government Service Provider Agency for providing IT education to the students of Plus one and Plus two classes in the State. 
 
Cabinet gave its approval for inserting Rule 5A and 5B after Rule 5 of Right of Children to Free and Compulsory Education, Himachal Pradesh Rules, 2011. This will help disadvantage groups and weaker sections of the society in getting their children admitted to privately managed aided and un-aided schools. 
 
It was decided to provide 39 kg of wheat, 29 kg of rice per month to additional selected BPL families and 23 kg of wheat and 17 kg of rice to Antodaya families of District Chamba and 30 kg of wheat and 22 kg of rice to Antodaya families of District Sirmaur from January, 2013 to May, 2013. 
 
Cabinet gave its approval to create one post of Member in Himachal Pradesh Private Educational Institution Regulatory Commission. 
 
The Cabinet also reviewed the decisions taken by previous BJP Government during their last six months. 

Anil Sharma sworn in as Cabinet Minister

Shimla : Sh. Anil Sharma was sworn in as Cabinet Minister at Raj Bhawan, here today. Governor, Smt. Urmila Singh administered the oath of office and secrecy to Shri Sharma. 

 
Sh. Anil Sharma was elected to Himachal Pradesh Vidhan Sabha for the 3rd time during the recently concluded Vidhan Sabha elections. Earlier, he was elected to state Assembly in 1993 and 2007. He remained Youth Services, Sports and Forest Minister in 1993. He was also elected to Rajya Sabha and remained Member of Railway, Food Civil Supplies and Public Distribution Committees of the House and also Member of Consultative Committee of Tele-Communication & Information Technology Ministries.
 
Chief Minister, Sh. Virbhadra Singh, Vidhan Sabha Speaker Sh. B.B.L. Butail, Cabinet Ministers, Smt. Vidya Stokes, Thakur Kaul Singh, Shri G.S. Bali, Shri Sujan Singh Pathania, Shri Thakur Singh Bharmouri, Shri Mukesh Agnihotri, Shri Sudhir Sharma, Shri Prakash Chaudhry, Shri Dhani Ram Shandil and Smt. Pratibha Singh, Chairperson of Hospital Welfare Section of Indian Red Cross Society, Himachal Pradesh and Vice Chairperson of H.P State Branch of Indian Red Cross Society, were also present on the occassion.
 
Pt. Sukh Ram, former Union Minister and father of Shri Anil Sharma and other members of his family were also present on this occasion.
 
Sh. Neeraj Bharti ,Chief Parliamentary Secretary, Sh. Kewal Singh Pathania, Vice Chairman HRTC, Sh. Sanjay Chauhan, Mayor, Sh. Tikender Panwar ,Deputy Mayor ,M.C. Shimla, Sh Sarwan Dogra ,Advocate General, Sh. B.Kamal Kumar ,DGP ,Senior Officers of State Government, Sh. Dinesh Malhotra D.C. Shimla , and Sh. Abhishek Dullar ,S.P. were also present on the occasion.
 
Sh. S.Roy, Chief Secretary, conducted the proceedings. 
 
Shri Anil Sharma has been given the portfolio of Rural Development & Panchayati Raj and Animal Husbandry. 

Portals of Gangotri Shrine to open on May 13

Dehra Dun : Gangotri temple, one of the sacred shrines of the Char Dham yatra, will open for the devotees on May 13 after having been closed for six months during winters. The doors will open at 2:45 pm, on on the auspicious occasion of "Akshay Tritiya", as told by Mr. Suresh Semwal, the secretary of the Shrine Samiti.The idol of the temple, of Godess Ganga, which is taken to Mukhba for the winters, will be brought back to the shrine on May 12.

 
Gangotri is located 525 km from India’s capital Delhi and 280 kms from the state capital Dehradun. The terminus of the Gangotri Glacier is said to resemble a cow's mouth, and the place is called Gomukh or Gaumukh. Gomukh, which is about 19 km from the town of Gangotri, is the precise source of the Bhagirathi river, an important tributary of the Ganges. Gomukh is situated near the base of Shivling; in between lies the Tapovan meadow.

काँवरियों की सुरक्षा को तैनात हो पुलिस

बाजपुर। काँवरियों की सुरक्षा हेतु राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य मार्गो पर पुलिस तैनात किये जाने व बाजपुर में श्रीमद् भागवत कथा के दौरान हुई चैन स्नैचिंग की घटना का जल्द पर्दाफाश किये जाने की माँग को लेकर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने बजरंग दल बाजपुर के संरक्षक विमल शर्मा के नेतृत्व में पुलिस महानिदेशक को संबोधित ज्ञापन एस$आई$ पान सिंह तोमक्याल को सौंपा।
 
इस दौरान बजरंग दल बाजपुर के संरक्षक विमल शर्मा ने कहा कि हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर काँवरिये गंगाजल लेने वास्ते हरिद्वार रवाना हो रहे है। जो कि 3/4 मार्च से हरिद्वार से गंगाजल लेकर अपने-अपने गंतव्य को जायेगें तथा 1० मार्च को जलाभिषेक करेगें। काँवरियों की सुरक्षा हेतु पुलिस तैनात न होने के कारण हर वर्ष कोई न कोई अप्रिय घटना काँवरियों के साथ घटित होती है। जिससे काँवरियों सहित आम जनमानस को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
 
वहीं पुलिस निष्क्रियता के चलते बाजपुर में श्रीमद् भागवत कथा के दौरान हुई चैन स्नैचिंग की घटना से क्षेत्र के हिन्दू समाज में भारी आक्रोश है। बजरंगियों ने पुलिस महानिदेशक से काँवरियों की सुरक्षा हेतु राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य मार्गो पर पुलिस तैनात किये जाने व बाजपुर में श्रीमद् भागवत कथा के दौरान हुई चैन स्नैचिंग की घटना का जल्द पर्दाफाश किये जाने की पुरजोर माँग की है। इस मौके पर बरहैनी लैम्पस के पूर्व अध्यक्ष कोमल सैनी, लघु व्यापारी एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष स$ नत्था सिंह धवन, जसवन्त सिंह, नरेन्द्र शर्मा, बजरंग दल के प्रखण्ड संयोजक पम्मी ठाकुर, प्रखण्ड सह संयोजक मन्तू दिवाकर, नगर संयोजक लक्की खुल्लर, नगर सह संयोजक तनिकेत पासी, विद्यार्थी प्रमुख आशीष ठाकुर, गौरक्षा प्रमुख विनीत देवल, राकेश मौर्य, रिंकू श्रीवास्तव, सचिन सागर, भूप सिंह सागर, शिवकुमार, गौरव रूहेला, आकाश रूहेला, हनी रूहेला, आकाश रूहेला, पप्पू सक्सैना, चन्द्रपाल, रूपबसंत, चन्दन सक्सैना आदि बजरंगी थे।

संदिग्ध परिस्थितियों में फौजी लापता

देहरादून । देहरादून आसाम में अतिसवेदनशील इलाके में तैनात एक फौजी दून में अपने घर लौटते समय रहस्मय परिस्थतियों में गायब होने का मामला प्रकाश में आया है। इस सम्बंध में फौज ने दून पुलिस से सम्पर्क साध कर जांच के आदेश दिये है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आसाम के दीमापुर नागालैंड़ में डी. एस.सी में तैनात फौजी नीरज कुमार विगत तीन दिसम्बर २०१२ को दून स्थित अनारवाला अपने घर के लिये बीस दिन कि छुटटी के लिये निकला था।

जो कि कही बीच में ही गायब हो गया। जब वह वापसी अपनी यूनिट में नही पहुंचा तो फौज ने उसके घर पर सम्पर्क साधा तब नीरज के परिजनों को पता चला कि वह लापता हो गया है। नीरज की गुमशुदगी के बाद उसकी पत्नी शीतल भंड़ारी ने इस सम्बंध में पुलिस व फौज के आला-अधिकारीयों से सम्पर्क साधा है फौजी कि पत्नी के अनुसार  नीरज के साथ घर वापस लौट रहे उसके सहयोगी साथी नीरज का सामान व मोबाइल फौन घर पर लौटाने आये थे उनके अनुसार नीरज इलाहबाद के बाद टे्रन से गायब हो गया था। इस मामले में फौज ने रेलवे स्टेशन मास्टर नागालैंड़, आरपीफ नागालैेंड़ आसाम व उत्तराखण्ड़ से भी सहयोग मांगा है। 

मल्टी डांस समर कैंप 11 मार्च को

 

देहरादून। नृत्य व डांस के क्षेत्र में प्रदेश के उभरते युवाओं को एक बहतर मंच प्रदान कराने के लिए नूपुर डांस अकादमी द्वारा आगामी ११ मार्च को मल्टी डांस स्टाईल समर कैंप का आयोजन करने जा रहा है। यह जानकारी अकादमी की निदेशक  नूपुर गुप्ता ने राजपुर रोड स्थित संस्थान के परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान दी।
 
वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि इस समर कैम्प के माध्यम से नृत्य कला के क्षेत्र में कदम रखने वाले युवाओं और उभरते नृत्यकारों को शासत्रीय संगीत, कत्थक, अर्ध-शास्त्रीय, लोक नृत्यों का प्रशिक्षण प्रदान कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि जूनून २०१३ के लिये प्रवेश आगामी ५ मार्च २०१३ से १० मार्च तक आकादमी से प्राप्त किये जा सकेगें ।उन्होंने बताया कि इस नृत्य प्रतियोगिता में ३ वर्ष से ऊपर की आयु रखी गई है।
 

अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं को किया जायेगा सम्मानित

 देहरादून।  भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय प्रमुख उर्बा दत्त भट्ट ने बताया कि 8 मार्च 2०13 को ‘‘अन्र्तराष्ट्रीय महिला दिवस ‘‘ के शुभ अवसर पर भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा द्वारा पूरे प्रदेश में जिला मुख्यालयों पर उत्तराखण्ड में सामाजिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, स्वास्थ्य एवं खेलकूद आदि विभिन्न क्षेत्रों मे उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया जाएगा।

खलाडि़यों को तैयार करने का प्रयास करना जरूरी

अल्मोड़ा । युवाओं को खेलों के प्रति जागरूक करते हुए खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय एवं अन्र्तराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में ख्याति प्राप्त करने हेतु खिलाडि़यों को तैयार करने का प्रयास किया जाना चाहिए खेल के क्षेत्र में भी युवाओं को अपने जीवन स्तर को उपर उठाने की अपार सम्भावनायें आज के समय में है। यह बात हेमवती नन्दन बहुगुणा स्टेडियम अल्मोड़ा में उत्तराखण्ड राज्य स्तरीय हॉकी प्रतियोगिता के फाइनल मैच का उद्घाटन करते हुए जिलाधिकारी अक्षत गुप्ता ने कही।
 
जिलाधिकारी ने सभी खिलाडि़यों को अपनी शुभकामनायें देते हुए कहा कि खिलाडि़यों को खेल भावना का परिचय देते हुए अपनी प्रतिभा को दिखाने का प्रयास करना चाहिए। जिलाधिकारी ने के फाइनल मैच जो कि स्र्पोटस कालेज देहरादून वर्सेज अल्मोड़ा के बीच खेला जा रहा है। उन्होंने सभी खिलाडि़यों को परिचय लिया तथा इसके उपरान्त उन्होंने इस फाइनल मैच का उद्घाटन किया। उन्होंने समय-समय पर आयोजित होने वाली खेल प्रतियोगिताओं को जिला प्रशासन द्वारा पूरा-पूरा सहयोग देने की बात कही। जिला क्रीडा अधिकारी रशिका सिद्दकी ने बताया कि ०2 फरवरी, 2०13 से प्रारम्भ हुई इस अण्डर 17 वर्षीय हॉकी प्रतियोगिता में कुल 1० टीमों ने प्रतिभाग किया।
जिसमें अल्मोड़ा, बागेश्वर, टनकपुर, काशीपुर, नैनीताल, हल्द्वानी, पिथौरागढ़, हरिद्वार, देहरादून तथा स्र्पोटस कालेज देहरादून की टीमों ने भाग लिया। इस अवसर पर गिरीश मल्होत्रों, अकरम खान, परवेज सिद्दकी, अख्तर हुसैन, विकास कन्नौजिया, केशव लाल, विनीत बिष्ट, दीपक वर्मा आदि उपस्थित थे। इस फाइनल मैच के रैफरी प्रकाश टनकपुर के तथा वरूण बेलवाल हल्द्वानी थे।

 

गन्ना मंत्री पांच मार्च को अल्मोड़ा भ्रमण पर

अल्मोड़ा ।  प्रभारी अधिकारी विशिष्ट अभ्यागत ने बताया कि प्रदेश के चिकित्सा, स्वास्थ्य, आयुष, गन्ना विकास एवं प्रभारी मंत्री जनपद अल्मोड़ा सुरेन्द्र सिंह नेगी दिनॉंक ०5 मार्च, 2०13 को इस जनपद के भ्रमण पर आ रहे है। उन्होंने बताया कि प्रभारी मंत्री हैलाकाप्टर द्वारा बागेश्वर से 12:35 में प्रस्थान कर 12:55 में अल्मोड़ा स्टेडियम उतरेंगे। 1:०० बजे वहॉ से प्रस्थान कर 1:3० बजे जिलाधिकारी कार्यालय के सभागार में जिला योजना एवं अनुश्रवण समिति बैठक में प्रतिभाग करेंगे। अपरान्ह् 4:4० बजे जिला सभागार से प्रस्थान कर हैलीपैड पहुॅचकर वहॉ से देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे।

सीएम ने किया सारा गर्वनर गोल्फ कप टूर्नामेंट का उद्घाटन

 

देहरादून। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने एफआरआईएमए में सारा गर्वनर गोल्फ कप टूर्नामेंट का उद्घाटन शॉट लगाकर किया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि उत्तराखण्ड में विभिन्न खेलों में प्रतिभाओं को आगे लाया जाए। गोल्फ प्रकृति से जुड़ा खेल है। इसे हर सम्भव बढ़ावा दिया जाएगा। शीघ्र ही देहरादून में गोल्फ टूर्नामेंट का आयोजन करवाया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री ने टूर्नामेंट के आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि सभ्यता के विकास में खेलों का बहुत महत्व है। हमारा विजन मानवमात्र की सेवा होना चाहिए। हाल ही में उत्तराखण्ड लॉयन्स ने गोल्फ का आईपीएल जीता है। गोल्फ टूर्नामेंट के आयोजन में सारा गु्रप की भूमिका की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिक से अधिक उद्योगपतियों को अपने सामाजिक उारदायित्व के निर्वहन में आगे आना चाहिए।
 
खेल मंत्री दिनेश अग्रवाल ने बाहर से आए प्रतिभागियों को स्वागत करते हुए कहा कि राज्य में अन्य खेलों के साथ ही गोल्फ को भी बढ़ावा दिया जाएगा। देहरादून में ओएनजीसी के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाया जा रहा है। हल्द्वानी में भी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम बनाया जाएगा। लेज़$ मानवेंद्र सिंह ने कहा कि 1932 में एफआरआईएमए गोल्फ कोर्स बना था। जल्द ही गोल्फ रेंज भी विकसित की जाएगी। दो दिवसीय टूर्नामेंट में 15० गोल्फर्स भाग ले रहे हैं। जिनमें कुछ महिला खिलाड़ी भी हैं। सारा समूह के चैयरपर्सन विजय धवन ने कहा कि अब प्रति वर्ष इस टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा।
 

 

शोक जताया

देहरादून। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने हरिद्वार के कांग्रेस नेता पुरूषोत्तम शर्मा की धर्मपत्नी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शान्ति एवं उनके परिजनों को दु:ख की इस घडी में धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री कें विशेषकार्याधिकारी, आनन्द बहुगुणा ने भी श्रीमती शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। 

 

विस अध्यक्ष आज चोरगलिया पहॅुंचेंगे

नैनीताल ।  विधान सभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुंजवाल अपने भ्रमण कार्यक्रम के तहत 3 मार्च को प्रात: 1० बजे हल्द्वानी से प्रस्थान कर 11 बजे चोरगलिया पहॅुंचेंगे तथा वहॉं पर क्षेत्र वासियों द्वारा आयोजित अभिनन्दन समारोह में सम्मिलित होंगे तथा 2 बजे अल्मोड़ा को प्रस्थान करेंगे। जिलाधिकारी कार्यालय से प्रान्त सूचना के अनुसार अध्यक्ष जी 6 मार्च को सायं 6 बजे हल्द्वानी पहुचेंगे तथा राित्र विश्राम हल्द्वानी में ही करेंगे। प्रान्त सूचना के अनुसार अध्यक्ष जी 7 मार्च को 11 बजे महिला सशक्तीकरण हेतु पाल कालेज द्वारा आयोजित विचार गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। अध्यक्ष जी उसी दिन रात्रि में ट्रेन द्वारा देहरादून को प्रस्थान करेंगे।  

 

 

रात्रि विश्राम का रोस्टर तैयार

 

नैनीताल । जिलाधिकारी निधि मणि त्रिपाठी ने जिले के समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उन्हैं जिले के राजस्व ग्रामों में भ्रमण एवं रात्रि विश्राम का रोस्टर तैयार कर प्रेषित किया जा चुका है। उन्होने अधिकारियों को निर्देश जारी किये हैं कि वे मुख्य मंत्री की प्राथमिकताओं व चिन्हाकिंत कार्यक्रमों में ’सरकार जनता के द्वार’ की मंशा को साकार किये जाने हेतु प्रत्येक राजस्व ग्राम में अनिवार्य तौर से भ्रमण एवं रात्रि विश्राम किया जाना सुनिश्चित करें।
 
 जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि प्रेषित रोस्टर में नामित प्रत्येक अधिकारी को निर्धारित माह में आबंटित राजस्व ग्राम में भ्रमण एवं रात्रि विश्राम करना अनिवार्य है। उन्होंने निर्देश दिये कि भ्रमण के दौरान सम्बन्धित अधिकारी संलग्र बिन्दुओं के अनुसार सत्यापन कार्य करेंगे व सत्यापन आख्या निरीक्षण के उपरान्त तीन दिनों के अन्तर्गत उन्हैं तथा मुख्य विकास अधिकारी को उपलब्ध करायेंगे। 
 
जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों को प्रेषित भ्रमण कार्यक्रम के रोस्टर में विभिन्न विभागों के 9० अधिकारियों को राजस्व ग्रामों में भ्रमण, समस्याओं को सुनना व उनके समाधान की दिशा में कार्य करना तथा रात्रि  विश्राम की जिम्मेदारी सांपी गयी है। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वो शासन की मंशा के अनुरूप जनता की समस्याओं को सुनें तथा उनके समाधान की दिशा में सहायक हों।
           

लूट के इरादे से घर में घुसे बदमाशों ने गृह स्वामी पर हमला किया

रुद्रपुर। शनिवार के तडक़े लूट के इरादे से घर में घुसे बदमाशों ने गृह स्वामी पर हमला कर चाकू से गोद लहुलुहान कर दिया। शोर शराबा सुन कर एकत्र हुये लोगो ने एक को दबोच लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर आरोपी को हिरासत में ले लिया। घायल को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसकी हालत गंभीर बनी है। जानकारी के मुताबिक चौकी रम्पुरा से कुछ दूरी पर मोहल्ला रेशमवाडी़ है।

बताया जाता है कि शनिवार के तडक़े करीब साड़े तीन सुनील कुमार के घर में बदमाशों ने लूट के इरादे से धाबा बोल दिया। बदमाशों के घुसने की आहट से सुनील जाग गया। सुनील के मुताबिक इसी बीच ने बदमाश ने उस पर हमलाकरदिया । इससे वह गिर गया और उसे चाकू से वार कर गंभीर रुप से लहुलुहान कर दिया। सुनील वहीं पर खून से लथपथ हो गया दऔर शोर मचा दिया। शोर सुन घर के अन्य सदस्य व बस्ती के लोग जाग गये। लोगो ने एक बदमाशको  दबोचने में सफलता हासिल कर ली।

जब कि उसके अन्य साथी भाग गये। इसी बीच सूचना पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को हिरासम में ले लिया। बाद में घायल सुनील को जिला पहुंचाया। डाक्टरोंके   मुताबिक सुनील के सिर पर ३८ टांके आये हैं। सुनील के अन्य जगह भी चोटें आई हैं। फिलहाल सुनील का उपचार जारी है। लेकिन उसकी हालत गंभीर बनी है। मामले की तहरीर पुलिस को दे दी है। उधर पुलिस ने आरोपी से पूंछतांछ शुरु कर दी है। एसएसआई का कहना है कि आरोपी से घटना की जांच पड़ताल की जा रही है।   

 

मिनी ट्रांस्पोर्ट आनर्स एसोसिएशन का विवाद गरमाया

रूडक़ी। ट्रांस्पोर्ट वैलफेयर एसोसिएशन व हाल ही में खुली मिनी ट्रांस्पोर्ट आनर्स एसोसिएशन का विवाद दिन प्रतिदिन गहरात जा रहा है। ट्रांस्पोर्टर जहां माल नहीं उठा पा रहे हैं वहीं उद्यमियों को इस विवाद से काफी दिक्कत हो रही है। आज रूडकी के ट्रांस्पोर्टरों की एक बैठक सिद्धार्थ होटल में हुई जिसमें निर्णय लिया गया कि जिस तरह से पूर्व  में कार्य करते आये हैं उसी तरह कार्य करेगे किसी भी प्रकार के संगठन यूनियन आदि के साथ कार्य नहीं करेंगे। और यही निर्णय रूडकी स्माल स्केल इंडस्ट्रीयल  एसोसिएशन ने भी लिया है।

किसी भी नई यूनियन को वह नहीं मानेंगे। इस विवाद से उद्यमियों का माल डिस्पैच होने से भी रूक गया है। ट्रांस्पोर्ट वैलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि नयी यूनियन वाले गुंडागर्दी कर रहे हैं अगर गाडी वाले माल भर रहे हैं तो यूनियन के लोग गाडियों में तोडफोड व चालकों के साथ मारपीट कर रहे हैं और साथ ही ५०० से १००० रूपये की रसीद भी जबरन गुंडा टैक्स के रूप में वसूल रहे हैं। उन्होंने सीओ सिटी से शांति व्यवस्था बनाये रखने की मांग की वहीं सीओ सिटी जोधराम जोशी ने दोनों पक्षों से बैठकर आपस में विवाद को हल करने की बात कहीं।

इस अवसर पर रूडकी स्माल स्केल इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन के सचिव विवेक काम्बोज ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अवगत कराया है कि उद्योगों व टांस्पोर्टरों के बीच हमेशा मधुर संबंध रहे हैं जिसका दोनों को लाभ मिलेगा। लेकिन २५ फरवरी को एक मिनी ट्रक यूनियन का गठन किया गया। जो हमारी फैक्ट्रियों में माल आने जाने से रोक रहे हैं जिससे उद्यमियों का माल नहीं जा पा रहा है। और नुकसान हो रहा है। कुछ व्यक्ति जो स्वयं को यूनियन का पदाधिकारी बताते हैं जबरन फैक्ट्रियों में घुस रहे हैं और जबरन कागज ले जाते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से पुलिस प्रशासन को ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग की। इस अवसर पर बीपी चौधरी, आदेश सैनी, अनिल कुमार, इमरान, राजकुमार, सुधीर, नवीन आदि मौजूद थे।

 

मनरेगा में फर्जीवाड़ा कर धन हड़पने का मामला सामने आया

नई टिहरी।  भिलंगना प्रखंड के सेंदुल गांव में मनरेगा में फर्जीवाड़ा कर धन हड़पने का मामला सामने आया है। जांच के बाद लोकपाल मनरेगा ने प्रधान से धन वसूलने के निर्देश दिए। साथ ही सबंधित ग्राम विकास अधिकारी व अवर अभियंता पर अर्थदंड लगाया।मामला भिलंगना प्रखंड के ग्राम सेंदुल का है। मनरेगा योजना में ग्राम प्रधान ने फर्जीवाड़ा कर हजारों रुपये हड़प लिए। दिसंबर माह में ग्रामीण सीता देवी ने मनरेगा लोकपाल के यहां शिकायत दर्ज की कि ग्राम सेंदुल में प्रधान ने धनराशि हड़पने के लिए गोलमाल किया है।

इस पर मनरेगा लोकपाल ने मामले की जांच कराई। पता चला कि ग्राम प्रधान सेंदुल ने खुद के अलावा अपने पति, सास व दो लड़कियों के जॉबकार्ड बनाकर 49 हजार रुपये हड़प लिए। नियम के तहत एक परिवार का एक ही जॉब कार्ड होता है, लेकिन ग्राम प्रधान ने अपने अलावा परिवार के अन्य सदस्यों के भी जॉब कार्ड बना डाले और उनके माध्यम से धन वसूलते रहे। इस कार्य में संबंधित ग्राम विकास अधिकारी व अवर अभियंता को भी दोषी पाया गया।

इस पर 27 फरवरी को मनरेगा लोकपाल ने आदेश जारी कर प्रधान से 49 हजार रुपये वसूलने के आदेश के साथ ही ग्राम विकास अधिकारी व अवर अभियंता पर एक-एक हजार रुपये का अर्थदंड लगाया। इतना ही नहीं इसके लिए संबंधित खंड विकास अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि यदि प्रधान उक्त धनराशि मनरेगा निधि के खाते में 15 दिन के अंदर जमा नहीं करतीं तो उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज की जाए। लोकपाल मनरेगा पदम सिंह नेगी ने आरएनएस को बताया कि मामले की जांच के बाद ग्राम प्रधान धनराशि वसूलने के आदेश दिए गए हैं। इस कार्य में संबंधित ग्राम पंचायत अधिकारी व अवर अभियंता पर भी अर्थदंड लगाया गया है।

 

सरकार को लगाया जा रहा चुना

 

विकासनगर।  वाहनों में खनन करीब तीस घन मीटर भरा होता है, लेकिन अभिवहन शुल्क पांच से छह घनमीटर का ही अदा कर सरकार को चूना लगाया जा रहा है। यह गड़बड़झाला कालसी वन प्रभाग की तिमली रेंज की धर्मावाला चेकपोस्ट पर वन कर्मियों ने पकड़ा। तिमली रेंजर ने दो दर्जन ऐसे वाहनों को पकडक़र भरे खनन को चेक किया और वाहनों में भरे खनन के अनुरूप ही अभिवहन शुल्क की रसीद काटी।
 
पुलिस व प्रशासन ने डाकपत्थर बैराज से रामपुर मंडी तक अवैध खनन रोकने के लिए पुलिस पीकेट लगाई हुई है। इसके बाद भी अवैध खनन का गोरखधंधा रुकने का नाम नहीं ले रहा है। पुलिस की टीमें नदियों में जाती हैं तो चालक अपने वाहनों को हिमाचल प्रदेश की सीमा में ले जाते हैं। अवैध खनन के अलावा ही वैध खनन में भी गड़बड़झाला पकड़ा गया है।

तिमली रेंजर ने शुक्रवार को जब धर्मावाला वन चेकपोस्ट पर खनन से भरे वाहनों की चेकिंग की गई तो करीब दो दर्जन वाहनों में अभिवहन शुल्क तो छह घनमीटर खनन का था, लेकिन वाहनों में जितने घनमीटर का अभिवहन शुल्क काटा गया था, उससे करीब तीन गुना अधिक माल पाया गया, जिससे सरकार को राजस्व हानि पहुंचाने की बात की पुष्टि होने पर रेंजर ने वाहनों में भरे खनन के हिसाब से ही अभिवहन शुल्क वसूल कर वाहनों को छोड़ा। वन विभाग की इस कार्रवाई से खनन कारोबारियों में हडक़ंप की स्थिति है। तिमली रेंजर महावीर सिंह रावत के अनुसार करीब दो दर्जन वाहनों में अभी तक चेकिंग के दौरान रसीद पांच घन मीटर की मिली, जबकि उसमें तीन गुना अधिक खनन भरा हुआ था, ऐसे वाहनों में भरे पूरे खनन का अभिवहन शुल्क वसूलकर ही वाहनों को जाने दिया गया, जिससे सरकार को राजस्व हानि न पहुंच सके।
 

राम भरोसे मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएं

श्रीनगर गढ़वाल।  राजकीय मेडिकल कॉलेज के  टीचिंग बेस चिकित्सालय की तमाम् व्यवस्थाएं राम भरोंसे प्रतीत होती हैं।  अधिकारियों के शौंतेले रवैये के कारण चिकित्सालय में अंद्रूनी अव्यवस्थाएं हावी रहती हैं। जिसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ता है। अव्यवस्थाओं के बारे में जब बेस चिकित्सालय के एमएस डॉ० लठवाल से पूछा जाता है तो वह मीडिया से कुछ भी कहने से इतराते हैं और प्राचार्य से बात करने को कहते हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले बेस चिकित्सालय में पेयजल की व्यवस्था सुचारू न होने के कारण मरीजों को परेशानियों से जूझना पड़ रहा था। इस संबंध में जब बेस चिकित्सालय के एमएस डॉ० लठवाल से जब बात की तो उन्होने गैरजिम्मेदाराना बयान देकर इतिश्री कर दी। एक बार फिर एमएस साहब से जब चिकित्सालय की अव्यवस्थाओं के संबंध में बातचीत की तो चिकित्सालय की समस्याओं पर बयान देने के बजाय वह कहने लगे कि मीडिया से बात करने के लिए कॉलेज प्राचार्य साहब हैं।

एक जिम्मेदार चिकित्सा अधिकारी का इस तरह से गैरजिम्मेदाराना बर्ताव चिकित्सालय की अंद्रूनी कलह को उजागर करता है। ज्ञात हो कि जब सिर्फ बेस चिकित्सालय था तो चिकित्सा सुविधाओं के साथ-साथ मशीनी उपकरण भी चुस्त-दुरूस्त रहते थे। चिकित्सक भी मरीजों की सेवा समर्पित भाव से करते थे। मेडिकल कॉलेज बनने के बाद जहां लोगों को अच्छे उपचार की आश जगी थी लेकिन गैरजिम्मेदार चिकित्सा प्रशासनिक अधिकारियों के रवैये से चिकित्सालय में अंद्रूनी अंर्तद्वंद की स्थिति बनी रहती है जिस कारण अव्यवस्थाएं चिकित्सालय में हावी रहती हैं। मरीजों के तीमारदारों व स्थानीय लोगों का कहना है कि जब तक चिकित्सा प्रशासनिक अधिकारी अपनी जिम्मेवारियों को नहीं समझेंगे तब तक चिकित्सालय की अव्यवस्थाएं हावी होती रहेंगी।

 

शांत नही हो रहा इमरजेंसी में मरीज की मौत का मामला

श्रीनगर गढ़वाल। गत ६ फरवरी को राजकीय मेडिकल कॉलेज के टीचिंग बेस चिकित्सालय की इमरजेंसी में हुई मरीज की मौत का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा। एक ओर जहां मरीज के परिजन व स्थानीय लोग उस वक्त इमरजेंसी में तैनात इएमओ डॉ० एसए खान को दोषी ठहरा रहे हैं तो दूसरी ओर डॉक्टर का कहना है कि उनकी कोई गलती नहीं है। शुक्रवार को बेस चिकित्सालय के सभी इएमओ डॉक्टरों ने डॉक्टर एसए खान के प्रति सहानुभूति जताकर मेडिकल कॉलेज प्रशासन के खिलाफ बांह पर काला फीता बांधकर कार्य किया।

इस संबंध में प्राचार्य को पहले ही ज्ञापन देकर सूचित कर लिया गया था। काले फीते बांधकर सांकेतिक हड़ताल कर रहे  बेस चिकित्सालय के आकस्मिक मेडिकल अधिकारियों का कहना है कि ६ फरवरी को इमरजेंसी में जिस मरीज की मौत हुई उसमें डॉ खान की कोई गलती ही नहीं है। उन्होने कहा कि यदि पुलिस ने अतिशीघ्र सभी धाराएं खत्म कर डॉ० खान के खिलाफ दर्ज मुकदमा अदालत से वापस नहीं लिया तो सभी ईएमओ हड़ताल पर जायेंगे। तत्पश्चात् सामूहिक रूप से अपना इस्तीफा मेडिकल कॉलेज प्राचार्य को सौंपेंगे। डॉ खान का कहना है कि ६ फरवरी को अनवर अहमद को १ बजकर ३५ मिनट पर इमरजेंसी में लाया गया, १ बजकर ४४ मिनट पर उसकी ईसीजी कराई गई।

इसके बाद उन्होने मरीज से संबंधित विभाग मेडिसिन के डॉक्टर अब्दुल राउ को रेफर किया था। डॉ खान ने कहा कि पूरे मामले में उनकी गलती कहीं भी नहीं है लेकिन उन पर  बेबुनियाद इंल्जाम लगाकर कार्यवाही की जा रही है। बावजूद इसके कि मामले में मेडिकल कॉलेज प्रशासन द्वारा गठित जांच कमेटी ने भी डॉ खान को कहीं दोषी नहीं ठहराकर क्लीन चिट दी थी। वहीं बेस चिकित्सालय के सभी ईएमओ हड़ताल पर जाते हैं तो जनता को काफी परेशानियों से जूझना पड़ सकता है। काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन में डॉ केपी यादव, डॉ संजय, डॉ० अनुराग चौहान, डॉ० योगेंद्र सिंह, डॉ० विवेक द्विवेदी, डॉ० अरूण कुमार, डॉ० यागेन्द्र, डॉ० संजय गुप्ता, डॉ० मनोज तोमर, डॉ० मनीष आदि थे।  

बर्फ के आगोश में कैद गंगोत्री हाईवे खुला

उत्तरकाशी। डेढ़ माह से बर्फ के आगोश में कैद गंगोत्री हाईवे शुक्रवार को गंगोत्री तक खोल दिया गया। इससे सर्दियों में गंगोत्री तक पर्यटकों व अन्य लोगों ने आवाजाही शुरू हो गई। हालांकि, हाईवे पर अब भी कई जगह पर जोखिम बना हुआ है।फरवरी माह में लगातार बर्फबारी और बारिश से बाधित रहा गंगोत्री हाईवे अब पूरी तरह खोल दिया गया है। हाईवे पर डबराणी में ही तीन भारी हिमखंड पसरे हुए हैं

इसके बाद झाला से हर्षिल के बीच तीन जगहों पर व धराली से आगे चांग थाग ग्लेशियर भी सडक़ पर पसरा हुआ है। इन्हें काटकर सडक़ पर यातायात बहाल किया गया। भैरोंघाटी के बाद गंगात्री तक सडक़ खोलने में बीआरओ को काफी मशक्कत करनी पड़ी। गंगोत्री तक आवागमन बहाल होने के बाद उपला टकनौर क्षेत्र में जनजीवन भी पटरी पर आने लगा है। गंगोत्री की ओर पर्यटकों के साथ ही अन्य लोगों की भी आवाजाही शुरू हो गई है। इससे धराली, हर्षिल, झाला आदि जगहों पर फिर से चहल पहल दिखने लगी है।

वहीं, भैरोंघाटी से आगे चीन सीमा की ओर सडक़ निर्माण के लिए भी जरूरी सामान की आपूर्ति शुरू हो गई है। हालांकि, अब भी थेरांग, डबराणी, गंगनानी, हेलगुगाड व सुनगर के समीप सडक़ पर काफी जोखिम हैं। इन जगहों पर बीआरओ की मशीनें सडक़ दुरुस्त करने में जुटी हैं। भटवाड़ी के एसडीएम देवमूर्ति यादव ने बताया कि गंगोत्री मार्ग पर लगातार नजर रखी जा रही है। बर्फ पिघलने के साथ ही सडक़ दुरुस्त करने के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं।

 

स्वरोजगार अपनाने को मिलेगी छात्रवृति

उत्तरकाशी।  सतलुज जल विद्युत निगम की ओर से नैटवाड़, सांकरी, जखोल सहित परियोजना प्रभावित गांवों में प्रसव पूर्व व प्रसवोत्तर महिलाओं को पांच-पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। स्वरोजगार अपनाने को युवकों व युवतियों को इलेक्ट्रिशियन, वेल्डर, एकांउटेंट व राज्य औद्योगिक संस्थानों में निशुल्क प्रशिक्षण व पंद्रह सौ से दो हजार तक छात्रवृति भी दी जाएगी।

पुरोला में पत्रकारों से बातचीत में निगम के महाप्रबंधक हरभजन छोकर ने कहा कि परियोजना प्रभावित गांवों की युवतियों के जन्म पर दस हजार, विवाह पर 2० हजार की आर्थिक सहायता दी जाएगी साथ ही कृषि क्षेत्र में प्रति हेक्टेयर बीज, खाद क्रय करने को दस हजार रुपये की सहायता की जाएगी। इसके अलावा प्रति वर्ष प्रभावित परिवारों के 4० युवक-युवतियों को निगम की ओर से आइटीआइ में निशुल्क प्रशिक्षण के साथ ही छात्रवृति भी प्रदान की जाएगी। मेडिकल व डिग्री कक्षाओं के चार छात्रों को हर माह तीन हजार छात्रवृति दी जाएगी।
 
परियोजना प्रबंधक ने बताया कि प्रभावित गांव के प्रति परिवार को 1० वर्षो तक सौ यूनिट बिजली निशुल्क व परिवार नियोजन पर पांच हजार की आर्थिक सहायता दी जाएगी तथा योग्यतानुसार बेरोजगार को परियोजना में रोजगार भी दिया जाएगा। वार्ता में अनिल श्रीवास्तव, एएन झा, मनोज कुमार,अमित भटनागर व कुलदीपराज आदि मौजूद थे।
 

देश की युवा छात्र शक्ति राष्ट्रीय धरोहर है

रूडक़ी। राज्य के पुलिस महानिदेशक सत्यव्रत्त बंसल ने क्वांटम इंजीनियरिंग कालेज के वार्षिक उत्सव में मुख्य अतिथि के रूप में अपनी पत्नी के साथ शिरकत करते हुए छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारे देश की युवा छात्र शक्ति राष्ट्रीय धरोहर है। यह युवा छात्र ही आगे चलकर देश का नाम रोशन करते हैं और इन्हीं में से मास्टर, डाक्टर, इंजीनियर, आईपीएस, आईएएस व साईन्टिस्ट बनने के साथ साथ राजनीति में भी अपना नाम चमकाते हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों कों शिक्षा के साथ साथ सामाजिक  विकास व देश सेवा का जज्बा भी कालेज प्रबंधनों को उनमें पैदा करना चाहिए जिससे आगे चलकर इन युवा छात्रों के हाथ

 

रूडकी नपा को नगर निगम बनाने की घोषणा

रूडकी। सूबे के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा व केन्द्रीय मंत्री हरीश रावत की रूडकी नगर पालिका को नगर निगम बनाने की घोषणा पर आखिर अमल हो ही गया। गुरूवार को सरकार ने रूडकी सहित तीन नये नगर निगम बनाने का जीओ जारी कर दिया। जिससे जनता ने जहां खुशी का इजहार किया वहीं रूडकी नगर पालिका को यथास्थिति में ही नगर निगम बनाने का रास्ता साफ होने के बाद काफी दावेदारों के भी चेहरे खिल गये और नगर निगम जीओ जारी होने के बाद जहां जनता व दावेदारों व अन्य राजनीतिज्ञों ने सीएम व केन्द्रीय मंत्री का आभार जताया वहीं मेयर की दौड में शामिल उम्मीदवारों के चेहरे पूरी तरह खिल गये और उन्होंने पूरी तरह से लोगों के बीच जाना शुरू कर दिया। और रात से ही अपने खैरख्वाहों को फोन कर सूचना देकर अपनी गोटियां बिठानी शुरू कर दी हैं। 

नगर निगम का जीओ जारी होने के बाद अब बसपा, भाजपा व कांग्रेस ने भी अपने अपने दलों से जिताऊ मजबत उम्मीदवारों की खोजबीन शुरू कर दी है। और जो जो दावेदार उनकी पार्टी में मेयर पद के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। उनकी जनता में पकड, जातीय व सामाजिक स्थिति की बाबत भी गहराई से मंथन शुरू कर दिया है। भाजपा से जहां इस बार काफी दावेदार मेयर के लिए टिकट की लाईन में हैं और अपनी जीत का गणित भाजपा नेेताओंं को बताकर अपना चुनावी समीकरण बता रहे हैं वहीं कांग्रेस से भी कई दावेदार काफी अरसे से टिकट की मांग के साथ साथ जनता के बीच जाकर भी खुद अपनी स्थिति की जांच पडताल कर रहे हैं।
 
तो वहीं बसपा भी इस बार मेयर चुनाव मेंं किसी ऐेसे मजबूत जनाधार वाले को हाथी पर बिठाकर कांग्रेस व भाजपा का खेल बिगाडने की रणनीति पर काम कर रही है। बसपा, कांग्रेस व भाजपा के प्रत्याशी घोषित होने के बाद अपने उम्मीदवार का ऐलान करने की योजना बना रही है। अब देखना यह है कि मेयर पद पर बसपा भाजपा व कांग्रेस में से कौन किस समाज के मजबूत दावेदार पर दांव लगाकर सीट पर कब्जा करेगी। यह तो प्रत्याशी की घोषणा के बाद ही एक तरह से तय हो जायेगा। हालांकि मेयर पद पर मुकाबला कांग्रेस व भाजपा के बीच ही टक्कर का होगा। लेकिन बसपा किसका खेल बिगाडेगी यह वक्त तय करेगा।

जिलाधिकारी को विकास कार्यों मे धांधली की शिकायत

रूडकी।  हल्लूमजरा गांव के ग्रामीणों की जिलाधिकारी को विकास कार्यों मे धांधली की शिकायत के बाद आज एडीओ पंचायत साधूराम सैनी, जेई भूपेन्द्र राणा व अमजद खान के साथ गांव पहुंचे और उन्होंने मनरेगा योजना व राज्य वित्त तथा अन्य योजनाओं द्वारा ग्राम प्रधान द्वारा कराये गये विकास कार्यों की जांच पडताल की। और वापिस जिलाधिकारी को रिपोर्ट सौंपने की बात कही। ज्ञात हो कि उक्त ग्राम प्रधान रमेश ने जिलाधिकारी को पत्र देकर प्रधान वेदवती द्वारा विकास कार्यों में अनियमितताओं व धांधली की शिकायत की थी जिस पर आज जांच टीम ने गांव पहुंचकर जांच की।
 

14 पुलों के निर्माण कार्यो को धनराशि स्वीकृत

देहरादून। सचिव आपदा प्रबन्धन एवं पुनर्वास भास्करानंद ने बताया है कि इस वर्ष जनपद उत्तरकाशी में अतिवृष्टि एवं बादल फटने के कारण आयी भीषण प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त पुलों का पुनर्निर्माण कराये जाने हेतु नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कार्पोरेशन लि$ (एनबीसीसी) को कार्यदायी संस्था नामित किया गया था। कार्यदायी संस्था द्वारा 14 पुलों के निर्माण कार्यो हेतु 6०$87 करोड़ रुपये के प्रारम्भिक आगणन/प्रस्ताव धनावंटन की स्वीकृति हेतु उपलब्ध कराये गये है।
 
उन्होंने बताया कि नेशनल बिल्डिंग  कंस्ट्रक्शन कार्पोरेशन लि$ द्वारा उपलब्ध कराये गये प्रारम्भिक आगणन की लागत का 1० प्रतिशत अर्थात 6 करोड़ रुपये की धनराशि बतौर मोबिलाइजेशन एडवांस के रूप में उक्त कार्यदायी संस्था को भुगतान किये जाने हेतु जिला अधिकारी उत्तरकाशी को उपलब्ध कराये गये है। उन्होंने इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी उत्तरकाशी को प्रेषित पत्र में स्पष्ट किया है, कि स्वीकृत की गई 6 करोड़ रुपये का आहरण कार्यदायी संस्था के साथ एमओयू किये जाने के उपरान्त ही किया जाय।
 

उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा के 74 परीक्षा केंद्र बने

रूडकी।  उत्तराखण्ड बोर्ड की परीक्षा ४ मार्च से आयोजित होने जा रही है। जिसके लिये ७४ परीक्षा केन्द्र बनायें गये हैं। बताया गया है कि इस बार उत्तराखंड से हाईस्कूल व इण्टर के करीब ४४ हजार छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे। परीक्षा केन्द्रों पर व्यवस्था बनाने के लिये विभाग ने पूरी तरह से तैयारी कर ली है। जिसके लिये केन्द्र व्यवस्थापकों की बैठक लेकर आलाधिकारियों ने निर्देस जारी किये हैं। मुख्य शिक्षा अधिकारी आरके उनियाल की ओर से सभी बीईओ को निर्देश में कहा गया है कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर केन्द्र व्यवस्थापक, परीक्षा प्रभारी सहित दो सहायकों के अलावा बाकी का स्टाफ बाहर का होगा। जिसमें प्राइमरी व जूनियर के टीचर्स भी ड्यूटी देंगे। 
 

सडक मार्ग बदहाल होने से ग्रामीण परेशान

रूडकी। क्षेत्र के गांव बुक्कनपुर में सडक मार्ग बदहाल होने के कारण ग्रामीणों व पढने वाले बच्चों को बडी कठिनाई का सामना करना पड रहा है। जिसके सम्बंध में क्षेत्रीय विधायक को भी अवगत कराया गया है। मदरसा इस्लामिया मिसबाहुल इस्लाम गांव बुक्कनपुर के सचिव तथा मस्जिद बहिस्तियान बाहरकिला मंगलौर के इमाम कारी मुहम्मद आजाद ने कई माह पूर्व क्षेत्रीय विधायक कुंवर प्रणव सिंह को बदहाल मार्ग के बारे में पत्र लिखकर भी अवगत कराया था। मगर अभी तक इस मार्ग पर सडक निर्माण नहीं कराया जा सका।
 
जिसके कारण गांव के लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। कारी आजाद ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम बुक्कनपुर अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र है। गांव में मदरसा इस्लामिया से लेकर सिन्ने के खेत तक जिसकी लम्बाई करीब ७०० मीटर है, यह मार्ग कच्ची चकरोड बना हुआ है। जिसका सडक निर्माण कराया जाना बहुत जरूरी है। इस मार्ग से गुजरने वाले ग्रामीणों तथा पढने वाले बच्चों को भारी दिक्कतों सामना करना पडता है। खासतौर पर बारिस के दिनों में इस मार्ग पर बडी कठिनाई होती है। कीचड़ के कारण मार्ग से गुजरना दुभर हो जाता है। मदरसे के सचिव का कहना है कि कई दिनों से बारिस होने के कारण यह मार्ग कीचड से भर गया है, जिसके कारण मदरसे में पढने वाले सैकडों बच्चों को बडी दिक्कत हो रही है। सचिव का कहना है कि इस मार्ग पर अतिक्रमण के सम्बंध में उपजिलाधिकारी को शिकायत की जा चुकी है।
 

बहुद्देशीय शिविर छह मार्च को

देहरादून।  6 मार्च 2०13 को विकास खण्ड रायपुर में आयोजित होने वाले बहुद्देशीय शिविर को सफल बनाने तथा अधिक से अधिक जनता की समस्याओं का मौके पर ही समाधान करने के उद्देश्य से जिलाधिकारी बी$वी$आर$सी$ पुरूशोतम द्वारा कलक्टै्रट में शिविर में प्रतिभाग करने वाले विभागों  के अधिकारियों के साथ बैठक आहुत कर सभी अधिकारियों को समय से पहले अपने-अपने विभागों की संचालित योजनाओं की पूर्ण जानकारी केे साथ सभी तैयारियां पूर्व में ही सुनिष्चित करने के निर्देश दिये।

बैठक में उन्होने कहा कि रायपुर विकासखण्ड में लगने वाले बहुद्देशीय शिविर में किसानों के लिए कृषि, उद्यान विभाग, पशुपालन विभाग, समाज कल्याण, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पेयजल,जल निगम,जल संस्थान, विधुत विभाग, उद्योग विभाग, सेवायोजन विभाग, विकास विभाग, जिला पंचायत राज विभाग, षिक्षा विभाग पुलिस विभाग द्वारा षिविर में अपने अपने विभागों के स्टाल लगाकर विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी आम जनता को उपलब्ध करायेगें तथा जनता की समस्याओं को मौके पर ही अधिक से अधिक समस्याओं का निराकरण करेगें।
 
बैठक में उन्होने कहा कि इस बहुद्देशीय शिविर में 2०० किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के साथ-साथ कृषि विभाग द्वारा किसानों केे लिए 1० ट्रेक्टरों की लोनिगं कृशि विभाग के लक्ष्य के रूप में किया जायेगा। उन्होने बताया कि शिविर मेंं कृषि विभाग द्वारा कृषि संयंत्रों का प्र्रर्दशन केे साथ-साथ किसानोंं को उन्नत खेती के विषय में विस्तार से जानकारी दी जायेगी। शिविर में पषुपालन विभाग द्वारा पषुओं के लिए हैल्थ कैम्प लगाया जायेगा जिसमें कम से कम 1०० पषुओं का उपचार षिविर मेंं ही करने का लक्ष्य मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को दिया गया है।  
 
बैठक में ज्वाईट मजिस्ट्रेट रंजना वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी सुशील कुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व झरना कमठान, महाप्रबन्धक उद्योग श्रीमती कौषल्य बन्धु, जिला समाज कल्याण अधिकारी रामवतार सिंह, जिला षिक्षा अधिकरी बेसिक पी$के$ सकलानी, जिला पंचायत राज अधिकारी मौ$ मुस्तफाखान, जिला सूचना अधिकारी अजय मोहन सकलानी, सेवायोजन अधिकारी तथा स्वास्थ्य विभाग जल निगम व सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
 

प्रदेश सरकार पर मूलनिवास के मुद्दे पर गुमराह करने का आरोप

देहरादून। पूर्व मंत्री और उत्तराखंड जन क्रांति दल के संरक्षक दिवाकर भट्ट ने प्रदेश सरकार पर मूलनिवास मुद्दे पर जनता को गुमराह करने का आरापे लगाया। उन्होने कहा कि सरकार को जनता के हितों से कोई सरोकार नही है और वह जनता की भावनाओं को आह्त करती आई है। पत्रकार वार्ता के दौरान पूर्व मंत्री श्री भट्ट ने कहा कि जिन उद्देश्यों से उत्तराखंड राज्य का निर्माण किया गया था उन उद्देश्यों को सरकार ने हासिए पर डाल दिया है। राज्य के बेरोजगार युवा रोजगार की तलाश में दर-दर भटक रहे हैं।

 
सरकार लोगों को रोजगार मुहैया कराने में विफल रही है। सरकार द्वारा रोजगार के साधन भी सृजित नहीं किए जा रहे हैं। पर्वतीय क्षेत्र के गांवों से लोग रोजगार और मूलभूत सुविधाओं के अभाव में बड़ी संख्या में पलायन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पलायन को रोकने के लिए सरकार को ठोस नीति बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि गैरसैंण को उत्तराखंड की स्थायी राजधानी घोषित किया जाए। राज्य की अधिकांश जनता गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाए जाने के पक्ष में है। जब पहाड़ की राजधानी पहाड़ मे बनेगी तभी राज्य का समग्र विकास हो पाएगा। उन्होंने कहा कि गैरसैंण को जिला घोषित किया जाए। मूल निवास के मुद्दे पर प्रदेश सरकार जनता को गुमराह कर रही है।
 
उन्होंने कहा कि मूलनिवास के मामले में संविधान में व्यवस्था दी गई है कि सन 195० से जो जहां निवास कर रहा है वह वहां का मूलनिवासी है। राज्य सरकार संवैधानिक व्यवस्था के उलट राज्य स्थापना दिवस 9 नवंबर 2००० से उत्तराखंड में निवास कर रहे सभी लोगों को यहां का मूलनिवासी मानने की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि जो लोग सन 195० से उत्ताखंड में निवास कर रहे हैं वही यहां के मूलनिवासी हैं। राज्य स्थापना के दौरान से बाहरी लोग बड़ी संख्या में यहां आकर रह रहे हैं, उन्हें मूलनिवासी नहीं माना जा सकता है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड जन क्रांति दल आगामी स्थानीय निकाय चुनाव में अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में दल की स्थिति मजबूत की जाएगी। 15 मार्च से दल राज्य में जन क्रांति रथयात्रा शुरू करेगा। रथ यात्रा हरिद्वार से शुरु होगी, जो कि पूरे उत्तराखंड में भ्रमण करेगी। रथ यात्रा तीन महीनों तक चलेगी। पत्रकार वार्ता के दौरान केंद्रीय अध्यक्ष बीडी रतूड़ी, योगी राकेश नाथ भी मौजूद रहे। 
 
 
 

 

नियोजन मंत्री ने किया फलाईओवर व ओवरब्रिजों का शिलान्यास

 

देहरादून।  विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में नियोजन मंत्री दिनेश अग्रवाल की अध्यक्षता में शहर यातायात व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त करने हेतु देहरादून में स्वीकृत फलाईओवर/ओवरब्रिजों का शिलान्यास, माजरा-धर्मावाला मोटर मार्ग तथा मोथरोवाला दुधली मोटर मार्ग को डबल लेन में विस्तारीकरण तथा आईएसबीटी से रेलवे फाटक तक स्वीकृत फोर लेन मार्ग में विस्तारीकरण, स्पेशल प्लान असिस्टेन्स में स्वीकृत बड़ी सडक़ों तथा राज्य योजना में स्वीकृत सडक़ों तथा एमडीडीए द्वारा आई०एस०बी०टी० में कम आय वर्ग के लोगों के लिए फ्लैट निर्माण संबंधित परियोजनाओं के शिलान्यास कार्यक्रम आयोजन की रूपरेखा निर्धारण से संबंधित बैठक सम्पन्न हुई।
 
ज्ञातव्य है कि माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड सरकार द्वारा आगामी ०7 मार्च 2०13 को इन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का शिलान्यास किया जाना है।   नियोजन मंत्री दिनेश अग्रवाल मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष आर०मीनाक्षी सुन्दरम, अधीक्षण अभियन्ता लो०नि०वि० बी०सी०बिनवाल, सहित लो०नि०वि० के अधिशासी अभियन्ताओं को शिलान्यास कार्यक्रम की आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।
 
 

हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग को सुगम बनाने की घोषणा

देहरादून। गुरूद्वारा श्री गुरू सिंह सभा के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह राजन ने हेमकुंड यात्रा में दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी देते हुए  यात्रा मार्ग पर जल्द ही सडक़ो को दुरूस्त किये जाने की घोषणा की गुरूनानक निवास में आयोजित पत्रकार वार्ता में राजेन्द्र सिंह राजन ने कहा कि हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग को सुगम बनाया जाएगा और इसके लिए बुनियादी सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा।
 
उन्होंने कहा कि इसके लिए सडक़ मार्ग को बेहतर बनाया जाएगा। इसके लिए सभी गुरूद्वारों की प्रबंधक कमेटियां अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा को पूर्ण सहयोग देंगी। उन्होंने कहा कि गोविंद धाम तक बिजली व्यवस्था, लैटरिनों का निर्माण, यात्रियों के लिए लंगर की व्यवस्था, रोपवे के निर्माण का प्रस्ताव दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा के लिए गुरू सिंह सभा और सिख समाज तत्पर है।
 
नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा को अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बनाए जाने पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया जाएगा और इसके लिए 3 मार्च को गुरूनानक वेडिंग प्वाईंट में सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। इसमें संगत एवं गुरूनानक नाम लेवा संगत शामिल होगी। इस अवसर पर जत्थेदार दिलीप सिंह, हरभजन सिंह आनंद, सेवा सिंह मठारू, गुरमीत सिंह दुग्गल, जगमिंद्र सिंह छाबड़ा, दीदार सिंह, फुला सिंह आदि मौजूद थे। 
 

ले पुलिसकर्मियों के लिए पंद्रह दिन की खास प्रशिक्षण सूची तैयार

देहरादून। एसएसपी ने अनैतिक कार्यो में लिप्त रहने वपले पुलिसकर्मियों के लिए  पंद्रह दिन की खास प्रशिक्षण सूची तैयार की है। इमें  जिसमें पंद्रह दिन तक कार्यक्रमों केा पूरा करते-करते पुलिसकर्मियों को अपने प्रशिक्षण काल की यद आ जाएगी। चार्ट में जहां एक पूरा दिन घने जंगलों मेंं बिताने का होगा तो पंद्रह दिन में देहरादून से लेकर सहसपुर या फिर डोईवाला तक की पैदल परेड भी शामिल है। इसके अलावा सुबह शाम की पुलिस लाईन में परेड वह दूध के रूंगे की तरह होगा। एसएसपी का कहना है कि बिगडैल पुलिसकर्मी इससे भी न सुधरे तो इसके बाद के लिए सख्त विभागीय कार्रवाई का चार्ट तैयार रहेगा।
 
मुजरिमों से दोस्ती हो या फिर थाने चौकियों में सैटिंग गैटिंग का खेल...ऐसे खेल के माहिर पुलिस वालों की हजामत करने के लिए दिन तय कर लिए गए हैं। एसएसी के अनुसार पुलिस लाईन में पंद्रह दिन की सख्त टे्रनिंग की व्यवस्था कर दी गयी है। इसके तहत ‘निकम्मे’ पुलिसकर्मियों को पंद्रह दिन तक नियमित परेड, पूरा एक दिन जंगल में बिताने एवं पंद्रह दिन में तीन बार १५ किमी का रूट मार्च करना होगा। एसएसपी के अनुसार यह केवल गलतियों का अहसास कराने के लिए एक मौका देने का प्रयास है लेकिन यदि इसके बाद भी ऐसे पुलिसकर्मियों की शिकायत आती है तो इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
 
दून पुलिस के कई काले कारनामे सामने आने के बाद अब ऐसे पुलिसकर्मियों को सख्त सबक सिखाने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। इसकी तैयारी आज से ही हो गयी है। एसएसपी केवल खुराना के अनुसार पुलिसकर्मियों के गलत हरकतों पर अब उन्हें सबक सिखाया जाएगा, विभागीय कार्रवाई तो होगी ही साथ ही पंद्रह दिन तक इन्हें पुलिस लाईन में अपनी सेवाएं देनी होंगी। पंद्रह दिन का यह ‘विशेष कार्यकाल’ खास सख्त रहेगा जिसमें दंड की सीमा में रखे गए इन पुलिसकर्मियों को छठी का दूध याद आ जाएगा। इस ‘सुधार कार्यक्रम’ के तहत नियमित तौर पर सुबह शाम परेड होगी जबकि एक मनोचिकित्सक इन पुलिसवालों के बिगड़े दिमाग को दुरस्त करने के व्याख्यान देंगे। पुलिस के पुराने लोग इन बिगडै़ल पुलिसवालों को पुलिस के दायित्व एवं फर्ज याद दिलाऐंगे जबकि शारीरिक कसरत के लिए पूरी डोज तैयार की गयी है। 
 
पंद्रह दिन के प्रशिक्षण कार्यक्रम में तीन बार १५ किमी का रूट मार्च होगा जो कि पुलिस लाईन से सहसपुर, पुलिस लाईन से डोईवाला या फिर फिर पुलिस लाईन से मसूरी रोड की ओर भी हो सकता है। इसके अलावा एक पूरा दिन जंगल में बिताना होगा जिसके लिए पुलिसकर्मियों को आटा, दाल, चावल, सहित एक दिन बिताने का पूरा सामान मुहैया कराया जाएगा। सजा का प्रावधान पुरूष एवं महिला दोनों पुलिसकर्मियों पर बराबर ही रहेगा। एसएसपी केवल खुराना ने जानकारी देते हुए बताया कि पंद्रह दिन के सख्त प्रशिक्षण के बाद इन पुलिसकर्मियों को उस जगह नहीं भेजा जाएगा जहां इनके कारनामों के कारण इन्हें पुलिस लाईन लाया गया है बल्कि दूसरे थाने चौकियों में भेजा जाएगा। तन एवं मन में सुधार के लिए प्रशिक्षण की अवधि में योग भी एक अध्याय होगा। श्री खुराना ने बताया कि इस विशेष कार्यक्रम के बाद यदि पुन: इन पुलिसकर्मियों की कोई शिकायत आती है तो फिर तत्काल विभागीय कार्रवाई की जाएगी।उधर पुलिस कर्मियों के लिए कुछ कल्याणकारी कदम भी जिला पुलिस उठाने जा रही है। इसके लिए पुलिस लाईन में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर में पुलिसकर्मियों एवं उनके परिवार के लिए निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

क्षेत्रों में अस्थाई पर्यटन चौकियां खोली जाऐंगी

देहरादून। आने वाले दिनों में पयर्टकों की सुरक्षा को लेकर पुलिस ने पूरा खाका तैयार कर लिया है तो वहीं जाम की समस्या से निपटने के लिए अब घंटाघर से लेकर एस्लेहाल तक अब सडक़ों पर वाहन खड़े करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। अगले पांच दिन तक इन वाहनों पर चस्पा चालान होंगे जबकि छठवें दिन से इन वाहनों को क्रेन से उठा लिया जाएगा। इसके अलावा पर्यटन सीजन को देखते हुए पर्यटन क्षेत्रों में अस्थाई पर्यटन चौकियां खोली जाऐंगी।

पुलिस कार्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केवल खुराना ने पुलिस की आगामी योजनाओं एवं कार्यो की जानकारी देते हुए बताया कि घंटाघर पर आज से एमडीडीए की पार्किग निशुल्क कर दी गयी है। पार्किग स्थल पर लगभग ६५० चौपहिए एवं दो हजार दुपहिए आसानी से खड़े किए जा सकते हैं। माना जा रहा है कि पार्किग के निशुल्क होने से राजपुर रोड पर यहां-ेह्लहां वाहन खड़े करने के कारण लगने वाले जाम से मुक्ति मिल सकेगी। श्री खुराना ने बताया कि एस्लेहाल तक कोई भी वाहन खड़ा मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
 
शुरूआत के पांच दिन तो वाहन चालक सौ रूपए का शुल्क चुका कर बच जाएगा लेकिन छठवें दिन से क्रेन से गाडिय़ों को उठा  लिया जाएगा। मालूम हो कि अब तक सडक़ों पर ही सफेद पट्टी की व्यवस्था थी जिसके अंदर वाहन खड़े किए जा सकते थे लेकिन अब यह व्यवस्था तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गयी है। गांधी पार्क के आगे की पार्किग टैंडर की अवधि पूरी होने तक बदस्तूर जारी रहेगी।वहीं पर्यटन सीजन की शुरूआत को देखते हुए पर्यटकों की सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं का भी खाका तैयार किया जा रहा है। एसएसपी ने बताया कि कुछ स्थानों पर पयर्टन चौकी खोलने की तैयारी की जा रही है। इनमें मसूरी, सहस्त्रधारा, लच्छीवाला व अन्य स्थानों का अवलोकन किया जा रहा है। पर्यटन ड्यूटी के लिए अलग से पुलिस बल को तैनात किया जाएगा।

सिंचाई मंत्री से की मुलाकात

ऋषिकेश। टिहरी दौरे पर जा रहे प्रदेश के सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य से सर्वदलीय संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने ऋषिकेश-दून मार्ग स्थित वन विभाग की चौकी पर मुलाकात करते हुए कांग्रेस से निष्कासित व्यक्ति द्वारा नगर में होर्डिंग्स व बैनरों में कांग्रेस मंत्रियों व विधायकों की फोटो लगाये जाने का विरोध करते हुए कार्रवाही किये जाने की बात उनसे कही, जिसपर आर्य ने पार्टी के साथ दगाबाजी करने वालों को किसी भी सूरत में बक्शे न जाने की बात कहते हुए मामले की जांच पार्टी स्तर करवाये जाने का आश्वासन दिया।
 
साथ ही पदाधिकारियों ने चन्द्रभागा-आईएसबीटी के क्षतिग्रस्त सडक़ का मुद्दा भी आर्य के समक्ष रखा। मंत्री ने इसपर शीघ्र सडक़ की हालत दुरूस्त करने का आश्वासन दिया है। मुलाकात करने वालों में कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत, नगराध्यक्ष महंत विनय सारस्वत, मण्डी समिति के सभापति राकेश अग्रवाल, समिति के प्रवक्ता अशोक सड़ाना, संयोजक राजकुमार अग्रवाल व अभय वर्मा आदि शामिल थे।

हरे पेड़ों पर चल रही आरियां

 

ऋषिकेश। आईडीपीएल कालोनी क्षेत्र में बिना अनुमति के काटे जा रहे हरे पेड़ों को लेकर स्थानीय लोगों द्वारा उपजिलाधिकारी व वन क्षेत्राधिकारी को ज्ञापन सौंपकर उक्त व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाही किये जाने की मांग की गयी है। ज्ञापन देने वालों में विजय स्वरूप ब्रहमचारी, नरेश अग्रवाल, रमेश चंद चौरसिया, सतीश कुमार वर्मा, आनंद दूबे व संजीव बड़थ्वाल शामिल है।

गंगा नदी में फिर डूबा युवक, नही लगा कोई सुराग

 

ऋषिकेश। कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत मायाकुण्ड स्थित नाव घाट के समीप लोगों ने एक युवक को गंगा नदी में डूबते हुए देखा, जिसके बाद तत्काल इसकी सूचना त्रिवेणी घाट चौकी पुलिस को दी गयी। सूचना मिलते ही तत्काल गोताखोरों को साथ लेकर पहुंचे चौकी इंचार्ज विनोद थपलियाल द्वारा गंगा नदी में डूब युवक की खासी तलाश करायी गयी। बावजूद इसके पुलिस के हाथ देर शाम तक कोई सफलता नही लग पायी। उधर चौकी इंचार्ज विनोद थपलियाल ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त युवक नदी में टूयूब के सहारे नहा रहा था इसी बीच टूयूट हवा की वजह से छिटक गई। बताया कि युवक  की शिनाख्त को लेकर आसपास के इलाकों में लोगों को सूचित किया गया है। 
 

एसएसपी ने अधीनस्थों को लगाई फटकार

 

ऋषिकेश। पुलिस कप्तान देहरादून केवल खुराना ने कोतवाली में वार्षिक निरिक्षण के दौरान असलाहों के बारे में सही जानकारी न होने पर अधीनस्थों को जमकर फटकार लगाई।  कोतवाली के वार्षिक निरिक्षण के लिए दिन में करीब चार बजे यहां पहुंचे पुलिस कप्तान देहरादून केवल खुराना सबसे पहले त्रिवेणी घाट पहुंचे और वहां उन्हें गंगा मां को नमन करते हुए दीप दान भी किया।
 
उसके कोतवाली में निरिक्षण के दौरान उन्होंने अभिलेखों की बारिकी से जांच करते हुए कहा कि संयुक्त यात्रा बस अड्डे पर खाली चल रहे चौकी इंचार्ज के पद को शनिवार को भर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि विदेशियों की सुरक्षा के मद्देनजर दून में फोरन सेल बनाया गया है, जो कि २४ घण्टें खुला रहता है। कहा कि यहां बम निरोधक दस्ते की नियमित तैनाती की जाएगी और नये क्वार्टस भी यहां पुलिस जवानों के लिए बनाये जाएंगे।
 
कहा कि सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखने को लेकर एसएचओ को निर्देशित किया गया है और महिला हेल्प लाइन को और अधिक बेहतर बनाये जाने को लेकर भी खासे प्रयास किये जा रहे है। कहा कि शिवरात्रि मेले व चारधाम यात्रा को देखते हुए पुलिस फोर्स की संख्या में बढ़ोतरी के साथ ही यात्रा के दौरान डॉग स्कावर्यट को भी यहां रखा जाएगा। इस दौरान पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) गिरिश चन्द्र ध्यानी, कोतवाल वीसीएस गुसांई व समस्त उपनिरिक्षकों के साथ ही पुलिस जवान मौजूद थे।
 

एसएसपी ने अधीनस्थों को लगाई फटकार

 

ऋषिकेश। पुलिस कप्तान देहरादून केवल खुराना ने कोतवाली में वार्षिक निरिक्षण के दौरान असलाहों के बारे में सही जानकारी न होने पर अधीनस्थों को जमकर फटकार लगाई।  कोतवाली के वार्षिक निरिक्षण के लिए दिन में करीब चार बजे यहां पहुंचे पुलिस कप्तान देहरादून केवल खुराना सबसे पहले त्रिवेणी घाट पहुंचे और वहां उन्हें गंगा मां को नमन करते हुए दीप दान भी किया।
 
उसके कोतवाली में निरिक्षण के दौरान उन्होंने अभिलेखों की बारिकी से जांच करते हुए कहा कि संयुक्त यात्रा बस अड्डे पर खाली चल रहे चौकी इंचार्ज के पद को शनिवार को भर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि विदेशियों की सुरक्षा के मद्देनजर दून में फोरन सेल बनाया गया है, जो कि २४ घण्टें खुला रहता है। कहा कि यहां बम निरोधक दस्ते की नियमित तैनाती की जाएगी और नये क्वार्टस भी यहां पुलिस जवानों के लिए बनाये जाएंगे।
 
कहा कि सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखने को लेकर एसएचओ को निर्देशित किया गया है और महिला हेल्प लाइन को और अधिक बेहतर बनाये जाने को लेकर भी खासे प्रयास किये जा रहे है। कहा कि शिवरात्रि मेले व चारधाम यात्रा को देखते हुए पुलिस फोर्स की संख्या में बढ़ोतरी के साथ ही यात्रा के दौरान डॉग स्कावर्यट को भी यहां रखा जाएगा। इस दौरान पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) गिरिश चन्द्र ध्यानी, कोतवाल वीसीएस गुसांई व समस्त उपनिरिक्षकों के साथ ही पुलिस जवान मौजूद थे।
 

साढ़े नौ सौ शिक्षक विनियमितीकरण की प्रक्रिया से बाहर

देहरादून  सूबे में तदर्थ शिक्षक के तौर पर कार्यरत शिक्षाबंधुओं और अंशकालिक शिक्षकों के विनियमितीकरण पर शिक्षा निदेशालय ने ब्रेक लगा दिया है। 19 फरवरी को शासन को सौंपी निदेशालय की रिपोर्ट में उक्त शिक्षकों को विनियमितीकरण के योग्य नहीं पाया गया है। निदेशालय की रिपोर्ट के बाद लगभग साढ़े नौ सौ तदर्थ शिक्षक विनियमितीकरण की प्रक्रिया से बाहर हो गए हैं।

राज्य में फिलहाल 835 शिक्षाबंधु कार्यरत हैं, इनमें से 564 प्रवक्ता और 271 एलटी संवर्ग में तैनात हैं। साथ ही, लगभग दो सौ अंशकालिक शिक्षक हैं। इन सभी को 2००5 में तदर्थ नियुक्ति मिली थी। वर्तमान में प्रवक्ताओं के विनियमितीकरण को लेकर शासन पर दबाव पड़ रहा था। इस पर शासन ने विनियमितीकरण के लिए शिक्षाबंधु व अंशकालीन शिक्षकों के संबंध में शिक्षा निदेशालय से जानकारी मांगी थी। निदेशक माध्यमिक ने 19 फरवरी को शासन को विस्तृत रिपोर्ट सौंपी। जिसमें उक्त शिक्षाबंधुओं और अंशकालिक शिक्षकों को विनियमितीकरण के योग्य नहीं पाया गया।
 
माध्यमिक शिक्षा के निदेशक सीएस ग्वाल ने आरएनएस को बताया कि तदर्थ रूप से तैनात शिक्षाबंधु एवं अंशकालिक शिक्षक विनियमितीकरण के मानक पूरे नहीं करते। इसलिए इनका विनियमितीकरण संभव नहीं हैं। इस संबंध में शासन को रिपोर्ट सौंप दी गई है। राजकीय शिक्षक संघ के मंडलीय प्रवक्ता विजय पाल सिंह रावत ने आरएनएस को बताया कि शिक्षाबंधुओं के विनियमितीकरण के संबंध में निदेशक माध्यमिक ने शासन को दो बार में अलग-अलग रिपोर्ट सौंपी है। जिससे शिक्षाबंधुओं का अहित हो रहा है। मामले के विरूद्ध जल्द ही कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाएगा।

विद्यालय प्रबंधन समिति को भंग करने की मांग

 

विकासनगर। तहसील क्षेत्र अंतर्गत जूनियर हाईस्कूल ठकरासधार में बिना बैठक के विद्यालय प्रबंधन समिति का गठन करने को लेकर गुस्साए लोगों ने एसडीएम से मामले की शिकायत कर समिति को भंग करने की मांग की है। ग्रामीणों ने कहा कि प्रधानाध्यापिका ने विद्यालय विकास कार्य को आए सरकारी धन ठिकाने लगाने को मनमर्जी से समिति का गठन कर चेहतों को शामिल किया है। उधर, बीईओ कालसी ने सीआरसी को दोबारा खुली बैठक कर समिति गठित करने को कहा है।
 
कालसी ब्लॉक के जूहा. ठकरासधार में प्रधानाध्यापिका की ओर से हाल ही में विद्यालय प्रबंधन समिति का गठन करने को लेकर विवाद गहराया गया है। ग्राम प्रधान मदन सिंह व स्थानीय भगत सिंह, बलिया, राम सिंह, मोहन सिंह, नागचंद, दीवान सिंह व विशन सिंह ने कहा जूहा ठकरासधार में जिसोऊ-घराना, उभरेऊ, मंडोली, मलोग व बागी गांव के विद्यार्थी अध्ययनरत है। नियमानुसार सर्व शिक्षा अभियान के तहत विद्यालय में विकास कार्यो के संपादन को प्रतिवर्ष अभिभावकों की खुली बैठक कर प्रबंधन समिति के गठन करने की व्यवस्था है। ग्रामीणों का आरोप है विद्यालय की प्रधानाध्यापिका ने कुछ दिनों पूर्व बिना बैठक किए मनमर्जी से विद्यालय प्रबंधन समिति का गठन किया है, जो गलत है
 
आरोप है कि प्रधानाध्यापिका ने विद्यालय की चहारदीवारी निर्माण कार्य को आए सरकारी धन ठिकाने लगाने को गुपचुप तरीके से समिति का गठन कर चेहतों को शामिल किया है। अभिभावकों ने कहा प्रधानाध्यापिका ने पिछले एक वर्ष से एससी-एसटी वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति भी नहीं बांटी। उन्होंने एसडीएम व बीईओ से मामले की शिकायत कर इस समिति को भंग करने की मांग की है। ग्रामीणों ने दोबारा से खुली बैठक कर समिति गठन करने की मांग की है।एसडीएम ने तहसीलदार हरिदत्त जोशी को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। उधर, बीईओ कालसी एमसी मिश्रा ने संबंधित क्षेत्र के सीआरसी को विद्यालय में दोबारा बैठक कर समिति गठित करने को कहा है।
 
 

बोर्ड परीक्षाओं की अंतिम तैयारी में जुटा विभाग

विकासनगर। गृह परीक्षाओं की समाप्ति के बाद शिक्षा विभाग चार मार्च से होने वाली बोर्ड परीक्षाओं की अंतिम तैयारी में लगा हुआ है। शुक्रवार को सभी विद्यालयों से कक्ष निरीक्षकों को रिलीव कर दिया गया है, जो शनिवार को अपने ड्यूटी स्थल पर बैठक में सम्मिलित होंगे। पछवादून के दोनों विकासखंड के 39 केंद्रों में कुल 8879 परिक्षार्थी सम्मिलित होंगे। इनमें से 45०3 हाईस्कूल व 4376 इंटर के छात्र शामिल हैं।

विभाग की ओर से सभी व्यवस्थाएं चाक चौबंद की जा रही हैं। प्रत्येक परीक्षा केंद्र में कक्ष निरीक्षक बाहरी अध्यापक होंगे और केंद्र व्यवस्थापक व कस्टोडियन में से एक अनिवार्य रूप से दूसरे विद्यालय का होगा। अतिसंवेदनशील व संवेदनशील परीक्षा केंद्रों के लिए अतिरिक्त पुलिस व्यवस्था की मांग प्रशासन से की गई है। उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाओं के लिए सहसपुर ब्लॉक में राइंका हरियावाला, राइंका सेलाकुई, राइंका छरबा, राइंका पौंधा, राइका गजियावाला, घनानंद इंटर कॉलेज मसूरी, मसूरी बालिका इंटर कॉलेज मसूरी, सनातन धर्म इंटर कॉलेज मसूरी, गुरुराम राय इंटर कॉलेज भाऊवाला, भवानी बालिका इंटर कालेज बुल्लूपुर, डीएवी इंटर कालेज प्रेमनगर, गुरुनानक बालिका इंटर कालेज प्रेमनगर, दून पब्लिक स्कूल श्यामपुर, जनता इंटर कालेज मल्हाण, संजय पब्लिक इंटर कालेज कारबारी, गोरखा मिलेट्री इंटर कालेज गढ़ी कैंट, अंबावती दून वैली इंटर कॉलेज पंडितवाड़ी, गुरुराम राय इंटर कालेज सहसपुर, राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सहसपुर सहित 19 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इनमें कुल 4178 छात्र परीक्षा देंगे।
 
इनमें 2453 छात्र हाईस्कूल की और 1725 छात्र इंटर की परीक्षा में सम्मिलित होंगे। सहसपुर ब्लॉक में कोई भी केंद्र अति संवेदनशील व संवेदनशील नहीं है। विकासनगर विकासखंड में राइंका हरबर्टपुर, राइंका लांघा, राइंका डाकपत्थर, आशाराम वैदिक इंटर कालेज, जैन बालिका इंटर कॉलेज, राइका होरावाला, राइका बरोटीवाला, राइका सोना डोभरी, राइका सभावाला, सविमंइंका बाबूगढ़, सविमंइंका डाकपत्थर, राइंका बाड़वाला, राउमावि जस्सोवाला, बोक्सा जनजाति स्कूल शीशमवाड़ा, शिशुविमराइंका डाकपत्थर, अरविंद घोष इंका डाकपत्थर, राउमावि केदारवाला सविमं नेहरू मार्केट डाकपत्थर, सविमंइका ढालीपुर सहित बीस परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 47०1 छात्र परीक्षा देंगे। जिनमें से 2०5० छात्र हाईस्कूल व 2651 इंटर की परीक्षा में सम्मिलित होंगे। ब्लॉक में राइंका लांघा अति संवेदनशील व राइंका हरबर्टपुर, आशाराम वैदिक इंटर कॉलेज सहित सविमं बाबूगढ़ को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है, जहां पर्यवेक्षक सहित अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया जाएगा। खंड शिक्षा अधिकारी आरएस राणा के अनुसार सभी केंद्र व्यवस्थापकों को छात्रों की दो बार सघन तलाशी लेने के आदेश दिए गए हैं, जिससे परीक्षा कक्ष में कोई भी अवैध सामग्री न जाने पाए।  
 

सीबीएसइ की परीक्षा प्रारंभ

 

विकासनगर।  शुक्रवार से सीबीएसइ की परीक्षा प्रारंभ हो चुकी हैं। विकासखंड के सेंट मेरी परीक्षा केंद्र में सभी विद्यालयों के छात्र परीक्षा दे रहे हैं, पहले दिन अंग्रेजी विषय का पेपर देकर बाहर आए छात्र-छात्राओं ने पेपर के संबंध में मिली जुली प्रक्रिया दी। हालांकि, सभी के चेहरे पर पेपर अच्छा होने की खुशी साफ झलक रही थी।
 
सेंट मेरी सीनियर सेकेंड्री स्कूल में अंग्रेजी विषय का पेपर देकर बाहर आए छात्र-छात्राओं के चेहरे पर पेपर के सरल आने से खुशी का भाव तो झलक रहा था, लेकिन पेपर बड़ा होने से दोहराव न कर पाने का मलाल भी छात्रों को रहा। छात्रा दीपांजलि, आंचल, सुनिष्ठा, आफरीन, खुशबू, निशा ने बताया कि प्रश्नपत्र सरल था, प्रश्नों की संख्या भी अधिक नहीं थी, लेकिन अधिकतर प्रश्न निबंधात्मक थे, जिनके उत्तर लिखने में समय ज्यादा लगा। इस कारण कई छात्र कुछ प्रश्नों को समय पर नहीं कर पाए। हालांकि, प्रश्नपत्र के सरल होने की खुशी और पहला पेपर अच्छा जाने की चमक हर छात्र-छात्रा के चेहरे पर दिख रही थी।

जुगमंदर हॉल का किराया तय

देहरादून। करीब डेढ़ करोड़ की लागत से तैयार नगर निगम स्थित जुगमंदर हॉल का किराया आखिरकार निगम प्रशासन ने तय कर दिया है। मेयर विनोद चमोली की ओर से इस बाबत मुख्य नगर अधिकारी को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। टाऊन हॉल का किराया दस हजार जबकि इस पर दो हजार का सर्विस टैक्स देना होगा। इसके अलावा पांच हजार रुपये सिक्योरिटी भी जमा होगी, जो कि बुकिंग कराने वाले को बाद में वापस मिल जाएगी।

नगर निगम के टाऊन हॉल के किराये को लेकर बीते कुछ दिनों से ऊहापोह की स्थिति बनी हुई थी। नगर निगम में लोग टाऊन हॉल की बुकिंग के लिए पहुंच रहे थे, लेकिन इस पर कोई फैसला न हो पाने से निगम प्रशासन व लोगों को परेशानी हो रही थी। मुख्य नगर अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि टाऊन हॉल का किराया तय कर दिया गया है। इसके तहत किराया दस हजार, जबकि सर्विस टैक्स दो हजार रुपये देना होगा।
 
पांच हजार रुपये बतौर सिक्योरिटी लिए जाएंगे, जो कि बाद में वापस कर दिए जाएंगे। एमएनए ने बताया कि कुछ कार्यक्रमों की बुकिंग भी आ चुकी हैं। अब उन्हें रेट की जानकारी दे दी जाएगी। शहर में बनने वाले बस स्टॉपेज जल्द अस्तित्व में आ जाएंगे। परिवहन विभाग ने अपनी आपत्तियों समेत बस स्टॉपेज की सूची को निगम भेज दिया है। एमएनए के अनुसार परिवहन विभाग द्वारा कुछ स्थानों पर स्टॉपेज पीछे करने को कहा गया है।
 
 

वाहनों की नीलामी 5 मार्च को

हल्द्वानी। लावारिस व सीज किए गए वाहनों की नीलामी कोतवाली प्रांगण में आगामी 5 मार्च को की जाएगी। कोतवाली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व में अलग-अलग स्थानों से लावारिस व सीज किए गए करीब 165 वाहनों की नीलामी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सदानन्द दाते के निर्देश पर आगामी 5 मार्च को कोतवाली प्रांगण में की जाएगी। जिसमें 86 दुपहिया, 37 चौपहिया वाहन व 12 थ्री व्हीलर शामिल हैं। पुलिस महकमा इन वाहनों की नीलामी की तैयारियों में जुट गया है।
 

परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया

पिथौरागढ़ । उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा एवं परीक्षा परिषद, रामनगर नैनीताल द्वारा आयोजित वर्ष-2०13 की ०4 से 22 मार्च तक होने वाली हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट की परीक्षाओं हेतु जनपद मुख्यालय एवं आसपास परीक्षा केंद्रों का निर्धारण कर लिया गया है। उक्त जानकारी देते हुए उप जिला मजिस्ट्रेट पिथौरागढ़ नरेश दुर्गापाल ने अवगत कराया है कि राइका पिथौरागढ़, राकइका पिथौरागढ़, एसडीएस राकइका पिथौरागढ़, मिशन इंटर कालेज भाटकोट, एलडब्ल्यूएस राकइका भाटकोट, राकइकागोरंगचौड़, राकइका गुरना, राकइका शैलकुमारी, राकइका बांस, राकइका थरकोट, राकइकात्र ऐचोंली,राकइका आठगांव शिलिंग, राकइका पीपलकोट, राकइका बड़ाबे, राकइका झूलाघाट, राकइका मूनाकोट, राकइका गौरीहाट,राकइका भडक़टिया, राउमावि डुंगराकोट, राकइका कमलेश्वर, राकइका कुम्डार, राकइका सातशिलिंग, राकइका रोड़ीपाली, राकइका मानले, राकइका टोटानौला, राकइका बीसाबजेड़ तथा राकइका दौबांस परीक्षा केन्द्र बनाया गया है।
 

उप जिला मजिस्ट्रेट ने परीक्षाओं को शांति पूर्वक, सुचारू रूप से संपन्न कराये जाने एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए परीक्षा केन्द्रों की परिधि के आसपास 1०० गजे की दूरी तक धारा-144 द$प्र$सं$ के प्राविधान लागू किये हैं। उन्होंने कहा है कि परीक्षा केन्द्र के आसपास 1०० गज की परिधि में परीक्षार्थियों, परीक्षा हेतु ड्यूटीरत अध्यापकों, कर्मचारियों, सुरक्षा कर्मियों एवं संबंधित परीक्षा केंद्र के अधिकारियों, कर्मचारियों के अलावा परीक्षा अवधि में कोई भी बाहरी व्यक्ति प्रवेश नहीं करेगा साथ ही परीक्षा केंद्रों के आस-पास ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग भी नहीं किया जायेगा।
 

उन्होंने कहा है कि सुरक्षा हेतु उक्त केन्द्रों पर तैनात सुरक्षा कर्मियों के अलावा कोई भी परीक्षार्थी और अन्य व्यक्ति परीक्षा अवधि के दौरान किसी किस्म का शस्त्र, लाठी, डंडा आदि नहीं ले जायेंगे। परीक्षा केंद्रों के आसपास परीक्षाकाल के दौरान न कोई जुलूस नहीं निकाला जायेगा और न सभा का आयोजन किया जायेगा। परीक्षा में ड्यूटी लगे अध्यापकों व कर्मचारियों को बाधा नहीं पहुॅचायी जायेगी। उन्होंने कहा है कि निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वाला व्यक्ति भा$उ$वि$ की धारा 188 के अंतर्गत दंडनीय होगा और आदेश 22 मार्च को परीक्षा की अवधि तक प्रभावी रहेगा।
 

बच्चों के परिजनों का विद्यालय में हंगामा

रुद्रपुर। यहां गंगापुर रोड स्थित सेंट मेरी स्कूल में बोर्ड की परीक्षा में छात्र छात्राओं को बैठने की अनुमति न देने पर अभिभावकों ने जमकर हंगामा काटा और प्रधानाचार्या का घेराव किया। इस दौरान उन्होंने विद्यालय प्रबंधन पर शोषण करने का भी आरोप लगाया। बताया जाता है कि शुक्रवार से सीबीईसी बोर्ड की परीक्षाएं प्रारंभ हो गई हैं। और गंगापुर रोड स्थित सेंट मेरी स्कूल में दर्जनों बच्चे बोर्ड में बैठने से वंचित रह गये। इससे बचचों के अभिभावकगढ़ सूचना पर स्कूल पहुंच गये और प्रबंधन पर तानाशाही का आरोप लगाते हुये हंगामा काटा।

बाद में उन्होंने प्रधानाचार्या का घेराव किया। आरोप है कि प्रबंधन बच्चों के भविष्य के साथ खिलबाड़ कर रहा है। अभिभावकों का यह भी आरोप था कि जब बचचों की परीक्षाएं शुरु हो रही तो तमाम कमियों को गिना रहा है। प्रधानाचार्या के समझाने पर लोग शांति हो गये। बाद में बच्चों को भी बोर्ड में बैठने की अनुमति मिल गई। उधर प्रधानाचार्या का कहना था कि उन बच्चों को परीक्षा में नहीं बैठने दिया जिनकी फीस जमा नहीं हुई थी। जिन बच्चों के परिजनों ने फीस जमा करा दी,उन्हीं बच्चों को बैठने की अनुमति दी है।
 

चैंकिग के नाम पर नेपाली नागरिकों के साथ अभ्रदता

टनकपुर । कस्टम विभाग के कर्मचारीयों द्वारा भारत से मेहनत मजदूरी कर अपने वतन नेपाल को जाने वाले नेपाली नागरिकों के साथ चैंकिग के नाम पर अभ्रदता एवं अवैध वसूली की जा रही है। उद्योग बाणिज्य संघ महेन्द्रनगर नेपाल एवं उद्योग व्यापार मंडल बनबसा ने कस्टम विभाग के कर्मचारीयों द्वारा नेपाली नागरिकों के साथ की जा रही अभ्रदता एवं अवैध वसूली पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि कस्टम कर्मीयो की इस हरकत पर कार्यवाही नही किये जाने पर दोनो देशो के व्यापार मंडल ने दी अन्दोलन की चेतावनी ।
 

विदित हो कि पड़ोसी देश नेपाल से भारत के विभिन्न प्राप्तो में लाखो की सख्यां में गरीब नेपाली नागरिक मेहनत मजदूरी के लिए जाता है वापसी में अपने वतन को लौटते समय शारदा बैराज के समीप स्थित कस्टम विभाग चैक पोस्ट पर विभागीय अधिकारीयों की शह पर कस्टमकर्मीयों  द्वारा गरीब नेपाली नागरिको के साथ चैकिंग के नाम पर दुब्र्यहार किया जाता है । नेपाली नागरिक अपने साथ घरेलू उपयोग का सामान ले जाता है जिस पर कस्टम कर्मीयो द्वारा डरा धमका कर उनसे वसूली की जाती है । नेपाली नागरिको द्वारा भारतीय कस्टमकर्मीयों द्वारा उनके साथ की गयी अभ्रदता एवं अवैध वसूली की घटना को नेपाली प्रशासन के साथ नेपाली नागरिको को बताते है जिससे नेपाल में भारत विरोधी संदेश जाता है

उद्योग बाणिज्य संघ महेन्द्रनगर नेपाल के अध्यक्ष गणेश जोशी एव उद्योग व्यापार मंडल बनबसा के महामंत्री संजय अग्रवाल ने कहा कि कस्टम कर्मीयो द्वारा चैकिंग के नाम पर नेपाली नागरिकों की जा रही अवैध वसूली एवं अभद्रता से नेपाली नागरिक को परेशानी का सामना करना पड़ता है । वही गत दिवस नेपाल स्थित भारतीय राजदूत जंयत प्रसाद ने एसएसबी कैम्प में सीमा स्थित जांच एवं सुरक्षा एजेसियों की बैठक में नेपाल से मैत्री संबध बढ़ाने के लिए नेपाली नागरिको सुविधा के लिए दोनो देशो की सुरक्षा एवं जांच एजेसियां आपसी परस्पर तालमेल बनाये रखने की बात कही

साथ ही  नेपाली नागरिको के साथ सीमा पर चैकिंग नाम पर दुब्र्यवहार नही करने के निर्देश दिये लेकिन कस्टम कर्मीयो पर राजदूत के निर्देशो का भी असर होते नही दिख रहा है। जहां भारत सरकार नेपाल में नेपाली नागरिकों की विकास के लिए अनेक परियोजनाये चला रही है वही भारतीय कस्टम द्वारा नेपाली नागरिको के साथ दुब्र्यहार से किये जाने से प्रत्येक दिन हजारो की सख्या नेपाली नागरिक भारत विरोधी भावनाओ को लेकर जा रहे है जिसका लाभ नेपाल में भारत विरोध संगठन उठा रहे है ।
 

विदेशी पर्यटकों से गुलजार रूद्रप्रयाग

रुद्रप्रयाग।  इन दिनों विदेशी पर्यटकों से गुलजार है। यहां अमेरिका, रूस, यूरोप के 1०० से ज्यादा पर्यटक योग के गुर सीख रहे हैं। साथ ही वे यहां के प्राकृतिक सौंदर्य का भी आनंद ले रहे हैं।एक माह तक चलने वाले योग शिविर में भाग लेने विदेशों से बड़ी संख्या में सैलानी रुद्रप्रयाग पहुंचे हैं। मुख्यालय से तीन किमी दूर एक होटल में विदेशी पर्यटक योग सीख रहे हैं।

योग करने के बाद वह शहर के प्राकृतिक सौंदर्य का भी भरपूर आनंद उठा रहे हैं। शुक्रवार को इन सैलानियों ने कोटेश्वर से मुख्यालय तक पैदल अलकनंदा नदी, कोटेश्वर मंदिर में जाकर दर्शन किए। उन्होंने प्राकृतिक सौन्दर्य को अपने कमरों में कैद किया। इनके अलावा कुछ विदेशी पर्यटक दुलबिट्टा, चोपता, तुंगनाथ समेत कई पर्यटक स्थलों का भ्रमण भी कर रहे हैं। होटल के प्रबंधक शंकर का कहना है कि विदेशी पर्यटकों को रुद्रप्रयाग व पहाड़ी क्षेत्र खूब भा रहा है।
 

वार्किंग डियर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत

विकासनगर। कालसी वन प्रभाग अन्तर्गत विकासनगर पालिका क्षेत्र के वार्ड नम्बर पांच में शुक्रवार की सुबह वार्किंग डियर काखड़ मृत पाया गया। लोगों की सूचना पर पहुंचे सहसपुर रेंज के वन कर्मियों ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जानकारी के अनुसार नगर पालिका परिषद के वार्ड नंबर छह में कुछ लोगों ने देखा कि एक हिरन की तरह का जानवर मृत पड़ा हुआ है।

उन्होंने इसकी सूचना सहसपुर रेंज के रेंज अधिकारी शीशराम सियाल को दी। सूचना मिलने पर रेंज अधिकारी अन्य वनकर्मियों को लेकर मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने बताया कि मृत जानवर हिरन प्रजाति का है। यह श्रेणी तीन में वार्किंग डियर के नाम से जाना जाता है। उन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्टम करने वाले पशु चिकित्साधिकारी डा सतीश जोशी ने बताया कि पशु की मौत का कारण दम घुटना है। उन्होंने बताया कि गलती वश जानवर शहरी क्षेत्र में आ पहुंचा, जिसको कुत्तों के द्वारा मार दिया गया। कांखड़ की उम्र ढाई वर्ष बताई जा रही है।
 

सडक़ के डामरीकरण को 41० लाख रुपये आवंटित किये

गोपेश्वर। देर से ही सही सरकार ने जिला मुख्यालय की निकटवर्ती पलसारी-बमियाला सडक़ की सुध ली। शासन ने इस सडक़ के डामरीकरण को 41० लाख रुपये आवंटित कर दिए हैं। निर्माण एजेंसी पीएमजीएसवाइ ने भी डामरीकरण के लिए टेंडर प्रक्रिया को अंतिम रूप दे दिया है। वर्ष 2००० में पूर्व केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री बीसी खंडूरी के प्रयास से पलसारी से बमियाला तक 17 किलोमीटर मोटर मार्ग को स्वीकृति मिली थी।

निर्माण शुरू होने से ही यह सडक़ विवादों में रही। दरअसल तब निर्माण एजेंसी ने ग्रामीणों के हरे-भरे खेतों पर एलाइन्मेंट के विपरीत डोजर चला दिया। ग्रामीणों के विरोध के बाद किसी तरह मामला शांत हुआ। इसके बाद बमियाला तक सडक़ की कटिंग हुई, लेकिन निर्माण अधूरा छोड़ ठेकेदार चंपत हो गया। किसी तरह पीएमजीएसवाइ ने कटिंग का कार्य पूरा किया, लेकिन डामरीकरण न होने से ग्रामीण जान जोखिम में डालकर सफर कर रहे हैं। अब शासन ने डामरीकरण के लिए 41० लाख रुपये पीएमजीएसवाइ को आवंटित किए हैं।

इनमें 36० लाख रुपये में दोगड़ी से बमियाला तक डामरीकरण होना है। जबकि, 5० लाख की धनराशि से पलसारी से दोगड़ी तक पैचिंग व डामरीकरण का कार्य किया जाएगा। पीएमजीएसवाइ के  अधिशासी अभियंता नरेंद्र कुमार ने आरएनएस को बताया कि पलसारी बमियाला सडक़ पर पलसारी से दोगड़ी तक पैचिंग व डामरीकरण के लिए 5० लाख व दोगड़ी से बमियाला तक डामरीकरण के लिए 36० लाख रुपये विभाग को मिले हैं। इस कार्य के लिए टेंडर प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
 

4 मार्च को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस मनाया जायेगा

देहरादून।उप निदेशक श्रम आर.के. सिंह ने बताया कि आगामी 4 मार्च, 2013 को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस मनाया जायेगा। इस दिवस को पूरे प्रदेश में कार्यरत श्रमिकों को उनके स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के उपायों एवं उससे उत्पन्न खतरों से बचने के लिए जानकारी दी जायेगी। विभाग द्वारा सभी कारखानों के प्रबंधकों से अपील की गई है कि 4 मार्च, 2013 को अपने-अपने कारखानों में कार्यरत श्रमिों को उनके कारखानें में सेमिनार/गोष्ठी का आयोजन करें। सुरक्षा, स्लोगन, बैनर एवं सुरक्षा से संबंधित पोस्टर आदि लगा कर कारखानें में कार्यरत श्रमिकों को सुरक्षा की व्यापक जानकारी दी जाय, ताकि कारखानें में प्रभावी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित हो सके।
 

मध्यान्ह भोजन पत्रिका तैयार कर स्कूलों में वितरित की

पंतनगर। 01 मार्च 2013। सर्व षिक्षा अभियान के अन्तर्गत ‘मिड डे मील’ कार्यक्रम में गृह विज्ञान महाविद्यालय की अधिष्ठात्री, डा. रीता सिंह रघुवंषी के निर्देषन में विस्तृत स्तर पर मध्यान्ह भोजन पत्रिका तैयार कर सभी प्राइमरी स्कूलों में वितरित की गई जिसमें स्थानीय भोज्य पदार्थों का समावेष कर मध्यान्ह भोजन बनाने के अनेक तरीकों, जैसे सक्षम पोषक तत्वों की उपलब्धता आदि की जानकारी सम्मिलित की गयी है।
 

राष्ट्रीय स्तर पर खाद्य सुरक्षा प्रदान करने के लिए यह आवष्यक है कि कृषि क्षेत्र में त्वरित विकास हो जिससे सामुदायिक स्तर पर आत्मनिर्भरता और धन का उचित वितरण हो सके। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उत्पन्न करके किसानों लिए अच्छा जीवन स्तर सुरक्षित करना, शहरी क्षेत्रों में पलायन में कमी करना, निर्यात बाजार में भूमंडलीकरण के कारण चुनौतियों का सामना करना, गृह विज्ञान षिक्षा के माध्यम से ही संभव है, क्योंकि इस षिक्षा का मुख्य उद्देष्य पोषण एवं स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करना, कृषि समाज के लिए उपयुक्त खाद्य पदार्थों की स्वीकार्यता को विकसित करना, स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिष्चित करने के लिए कठिन परिश्रम को कम करने की प्रौद्योगिकियों से परिचित कराना तथा आर्गेनोमिक आंकलन के लिए मार्गदर्षन और समर्थन प्रदान करना है।
 

बदलते अन्तर्राष्ट्रीय परिदृष्य को ध्यान में रखते हुए महाविद्यालय अपने पुस्तकालय में नवीनतम पत्रिकाओं एवं पुस्तकों का संग्रह कर गृह विज्ञान षिक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। महाविद्यालय में कृषि अनुसंधान केन्द्र भी चल रहा हैं जहां पर छात्र नवीनतम शोध एवं साहित्य से अपने आपको अद्यतन कर रहे हैं। सभी कक्षाओं में आधुनिकतम एवं नवीनतम श्रव्य दृष्य यंत्र स्थापित है जो छात्रों में आत्मविष्वास को विकसित कर रहे हैं। गृह विज्ञान महाविद्यालय संबंधित विभिन्न क्षेंत्रों में व्यवसायिक ज्ञान एवं कौषल प्रदान करने हेतु शोध परियोजना बनाने व कार्यान्वयन करने, विषय संबंधित ज्ञान को उत्तराखण्ड के ग्रामीण समुदाय में प्रचारित व प्रसारित करने तथा संबंधित कर्मचारियों को प्रषिक्षण प्रदान करने का कार्य भी कर रहा है। ग्रामीण परिवारों हेतु विभिन्न प्रसार कार्यकम चलाये जाते हैं जिससे ग्रामीण परिवारों की आय में वृद्धि एवं महिला सषक्तिकरण को बढ़ावा दिया जा सके। महाविद्यालय द्वारा निपुणता एवं प्रकृत्तिदत्त योग्यता को बढ़ावा देने एवं ग्रामीण परिवारों की आमदनी को बढ़ाने के लिए टैराकोटा के आभूषण, ऐपण कला, चित्रकारी, पषुपालन एवं डेयरी, मत्स्य पालन, स्वास्थ्य संबंधी विकारों का निवारण एवं उपभोक्ता जागरूकता आदि कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है।

 

मनोज तिवारी 05 मार्च को हल्द्वानी पहुचेगे

नैनीताल। जिलाधिकारी  कार्यालय नैनीताल से प्राप्त सूचना के अनुसार, मनोज तिवारी,माननीय संसदीय सचिव, उच्च षिक्षा (कैबिनेट स्तर),उत्तराखण्ड सरकार आगमी 05 मार्च को 9 बजे अल्मोड़ा से  काठगोदाम के लिए प्रस्थान कर 11ः30 बजे काठगोदाम एंव अल्प विश्राम,सर्किट हाउस काठगोदाम 12 बजे एम0बी0 राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय हल्द्वानी में मेधावी छात्र-छात्रोओं के सम्मान समरोह में उपस्थित होगें एवं रात्रि विश्राम,सर्किट हाउस काठगोदाम में करके 6 मार्च को प्रातः 8 बजे हल्द्वानी से अल्मोड़ा के लिए प्रस्थान करेगंे।
           

स्कूली छात्राओं के लिए कार्यशाला का आयोजन

देहरादून। आज दिनांक 01-03-2013 को श्रीमती जया बलोनी पुलिस उपाधीक्षक, राज्य महिला सहायता प्रकोष्ठ द्वारा महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों के सम्बन्ध में जागरुक करनें के उद्देश्य से राजकीय कन्या इण्टर कालेज राजपुर एवं राजकीय इन्टर कालेज किशनपुर, में स्कूली छात्राओं के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया।

इसके अर्न्तगत श्रीमती बलोनी ने छात्राओं को महिलाओं के विरुद्व होने वाले विभिन्न अपराधों जैसे- स्कूल/ट्यूशन/बाजार से आते-जाते छेड़खानी, मोबाइल फोन कॉल, एसएमएस/एमएमएस आदि के सम्बन्ध में बताते हुए उससे बचाव के तरीकों से अवगत कराया गया। वर्कशाप के दौरान स्कूली छात्राओं के दो-दो ग्रुपों ने उपरोक्त परिस्थितियों पर आधारित नाटकों का भी मंचन किया गया। स्कूली छात्राओं ने इसमें बढ-चढ कर हिस्सा लिया व अपने साथ होने वाली आम छेडछाड जैसी घटनाओं को नाटक के जरियें अभिव्यक्त किया गय

स्कूल में पेम्प्लेट्स वितरित किये गये, जिसमें महिला हेल्पलाईन फोन नम्बर 1090 तथा 18001804111 का विवरण दिया गया है। कार्यशाला में दोनों स्कूलों के प्रधानाचार्य, मय समस्त स्कूल अध्यापक एवं नीलम रावत उ0नि0- राज्य महिला सहायता प्रकोष्ठ, उ0नि0 ममता गोला थाना राजपुर उपस्थित रही।श्रीमती बलोनी ने बताया कि राज्य महिला सहायता प्रकोष्ठ द्वारा भविष्य में भी इस प्रकार के आयोजन नियमित रुप से कराये जाते रहेंगे।
 

भूमि के अन्दर के जल के महत्व को समझना आवश्यक

 रूद्रपुरा। उत्तराखण्ड ग्राम्य विकास संस्थान के सभागार में ’’नेशनल प्रोजेक्ट फॉर एक्यूफायर मैनेजमेंट’’ विषय पर केन्द्रीय भूमि जल बोर्ड राजीव गांधी राष्ट्रीय भूमि जल प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान रायपुर के तत्वाधान में आयोजित पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य विकास अधिकारी/अधिशासी निदेशक धीराज सिंह गर्ब्याल द्वारा किया। इस अवसर पर उन्होंने प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि भूमि के अन्दर संचित जल के महत्व को समझना हम सभी के लिये नितान्त आवश्यक है।

जैसा कि विभिन्न आंकडों से पता चलता है कि भूजल स्तर में निरन्तर गिरावट आ रही है हम सभी को मिलकर यह प्रयास करना होगा कि उपलब्ध पानी का सही प्रबन्धन कर उसका अधिक से अधिक समुचित उपयोग किया जाय। कहा कि इस कार्यशाला के माध्यम से हम प्राकृतिक संशाधनों को बचाने के लिये प्रयास करने के साथ ही उपलब्ध संशाधनों को बढाने में भी अपना योगदान दें। वर्षाकाल के पानी को रोकने के लिये छोटे -छोटे तालाब के निर्माण कर उसका अपने दैनिक जीवन में उपयोग कर हम पानी के कृत्रिम अभाव को रोक सकते है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह पांच दिवसीय कार्यशाला अधिकारियों के लिये लाभदायक होने के साथ ही यहां प्राप्त उनके  अनुभवों से आम जनता को भी इसका लाभ मिलेगा।
 

पांच दिनी इस कार्यशाला में मुख्य रूप से केन्द्रीय भूजल बोर्ड के अधीक्षण अभियंता एन.पी.एस. नेगी हार्हड्रोलॉजिस्ट जीडी वर्थवाल,डी जमलोकी एवं आर.ए.पिर के अलावा प्रतिभागियों के रूप में जिला विकास अधिकारी आरसी तिवारी,अधिशासी अभियंता सिंचाई डीएस कछवाह,लघु सिंचाई सुरेश चन्द्र सहित जल निगम,जल संस्थान,भूमि संरक्षण अधिकारी,मुख्य कृषि अधिकारी के अलावा जिले के सभी खण्ड विकास अधिकारी उपस्थित थें। उल्लेखनीय है कि पांच दिवसीय इस प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रतिभागियों को जनपद के क्षेत्रों का भी भ्रमण कराकर समस्याओं से अवगत कराया जायेगा।

 

नगर की सफाई व्यवस्था को सुदृढ करना सर्वोच्च प्राथमिकता है

रूद्रपुर। जिलाधिकारी बृजेश कुमार संत ने आज रूद्रपुर नगर निगम प्रशासक के रूप मंे नगर निगम कार्यालय पहुंचने के बाद कहा कि नगर की सफाई व्यवस्था को सुदृढ करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि इसके लिये सम्बन्धित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जायेगी कि शहर में कही पर गन्दगी न रहे। उन्होंने अधिशासी अधिकारी एवं नगर स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश देते हुये कहा कि वे स्वंय नगर में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने में आगे रहें।

उन्होंने कहा कि शहर की सफाई व्यवस्था के सम्बन्ध में उनके द्वारा स्वंय तथा अधीनस्थ अधिकारियों के माध्यम से आकस्मिक निरीक्षण भी कराया जायेगा।  जिलाधिकारी ने कहा कि नगर निगम का सहभागिता से विकास करना उनका लक्ष्य होगा। उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों से कार्य के प्रति दृष्टिकोण बदलने की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि निगम में जनहित के कार्यो को प्राथमिकता से तय करना होगा।

नगर निगम की आमदनी बढाने तथा उपलब्ध धनराशि का सही कार्यो पर उपयोग करने पर बल देते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि अब तक जो कार्य चल रहे है उन पर निगरानी रखने के साथ ही आगे किये जाने वाले कार्यो के लिये समयबद्ध सीमा तय की जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि पर्याप्त 165 सफाई कर्मी होने के वावजूद भी शहर में सफाई नही रहती है जो कि खेद का बिषय है इसके लिये भविष्य में सम्बन्धित जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।  इस अवसर पर अधिशासी अधिकारी नरेन्द्र कुमार,नगर स्वास्थ्य अधिकारी अविनाश खुराना,स्वास्थ्य निरीक्षक केसी पाण्डे,पालिका अभियंता रवीन्द्र नेगी सहित निगम के सभी अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थें।
 

पॉच दिवसीय प्रथम राजीव गॉधी युवा-महोत्सव उत्तराखण्ड सम्पन्न हुआ

देहरादून। दून विश्वविद्यालय देहरादून के परिसर में विगत सायं कल्पना को यथाथर् में परिवर्तित होने का एहसास दिलाते हुए पॉच दिवसीय प्रथम राजीव गॉधी युवा-महोत्सव उत्तराखण्ड सम्पन्न हुआ। समापन समारोह के मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड के राज्यपाल डॉ0 अज़ीज़ कुरैशी द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक प्रतिस्पार्धाओं में सर्वश्रेष्ठ रहे ग्राफिक ऐरा डीम्ड वि.वि. तथा खेल प्रतिस्पार्धाओं में सर्वाधिक अंक पाकर विजेता बने एच.एन.बी गढ़वाल वि.वि को पुरस्कृत किया गया।
 

समापन समारोह के अपने सम्बोधन में राज्यपाल ने युवाओं का आहवाह्न करते हुए कहा - अपने जोश और उमंग को इसी तरह कायम रखते हुए भारत की आन-बान शान की रक्षा करना। इस आयोजन की सफलता ने कई उमीदें जगाई है। मुझे विश्वास है कि इस आयोजन ने युवाओं को एक दूसरे को समझने, प्रतिभा प्रदर्शन,  क्षमता विकास व भावनाओं के आदान-प्रदान का जो अवसर दिया है उससे समाज में एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा, इसके सुखद परिणाम होगें। ऐसे आयोजनों में होने वाली सामाजिक भागीदारी भी एक अच्छा वातावरण सृजित करने में सहायक होती है।‘
 

उत्तराखण्ड के राज्यपाल डॉ0 अज़ीज़ कुरैशी की यह प्रबल इच्छा थी कि उत्तराखण्ड के युवाओं को उनकी प्रतिभा, क्षमता, रचनात्मक दृष्टिकोण तथा भावनाओं को प्रदशर््िात करने के लिए समुचित मंच/पटल (प्लेटफार्म) प्रदान किया जाए ताकि राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को एक पहचान दिलाये जा सकने के साथ ही युवाओं में छिपी खेल प्रतिभा को पहचाना ओैर निखारा जा सके। राज्यपाल की इस अपेक्षा को विभिन्न विश्वविद्यालय के कुलपतियों ने साकार कर दिखाया।
 

24 फरवरी को इस पॉच दिवसीय युवा-महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर राज्यपाल के प्रेरक सम्बोधन के समय उपस्थित लगभग दो हजार प्रतिभागियों विद्यार्थियों ने हर्ष ध्वनि से इस आयोजन को राजीव गॉधी अन्तर विश्व विद्यालय युवा महोत्सव उत्तराखण्ड‘ नाम दिये जाने पर सहमति जताई थी। इस सहमति से पूर्व राज्यपाल ने युवाओं को स्मरण कराया कि देश के पूर्व प्रधान मंत्री स्व0 राजीव गॉधी ने युवा शक्ति की ऊर्जा को पहचान कर 18 वर्ष की आयुवर्ग के युवाओं को मतदान का अधिकार दिलाया।
 

समापन समारोह के इस अवसर पर उन्होनें इस महोत्सव को सफल व मूर्त रूप देने के लिए सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों, आयोजन की सफलता में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े सभी कर्मियो तथा लोगो को बधाई व शुभकामनाएं दी।उन्होनें विजेताओं सहित सभी प्रतिभागियों को उनकी टीम भावना के लिए बधाईं एवं शुभकामना देते हुए कहा कि इस महोत्सव को राष्ट्रीय स्वरूप देने के लिए प्रयास शुरू होने चाहिए ताकि यह सारे देश का युवा महोत्सव बन सके।
 

राज्यपाल ने समापन समारोह में उत्तराखण्ड औद्यानिकी एवं वानिकी वि0वि0, के छात्रों द्वारा प्रस्तुत ऐकांकी जागो रे -जो कि दिसम्बर में दिल्ली में घटित दामिनी काण्ड पर आधारित था, की प्रस्तुति की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रस्तुति ने यह संदेश दिया है कि हमें कभी भी शर्मनाक परिस्थितियों में मूक दर्शक नही बल्कि क्रियाशील नागरिक की भूमिका निभानी होगी।
 

 इस अवसर पर विश्ष्टि अतिथि के रूप में उत्तराखण्ड के युवा कल्याण एवं खेल मंत्री श्री दिनेश अग्रवाल, राज्य सूचना आयुक्त श्री विनोद नौटियाल, राज्यपाल के प्रमुख सचिव श्री अशोक, परिसहाय श्री राज्यपाल पी.पी.आर.चौधरी, विभिन्न विश्व विद्यालयों के कुलपति, रजिस्ट्रार सहित अनेक गणमान्य महानुभाव एवं छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

 

ओपन स्कीइंग चैंपियनशिप आज

जोशीमठ। नेशनल चैंपियनशिप के समापन के बाद अब एक मार्च को औली में स्व.प्रदीप मेमोरियल ओपन स्कीइंग प्रतियोगिता आयोजित हो रही है। इस प्रतियोगिता के संयोजक उमाचरण गुसांई ने बताया कि इस प्रतियोगिता में स्थानीय बच्चों की लकड़ी की स्की प्रतियोगिता खासतौर पर आयोजित की जाएगी।

ज्वाइंट सलालम महिला व पुरुष वर्ग में प्रथम रहे खिलाड़ी को 11 हजार, द्वितीय को सात हजार व तृतीय को पांच हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। इस प्रतियोगिता में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.ओमप्रकाश मुख्य अतिथि तथा विशिष्ट अतिथि उपाध्यक्ष सैनिक कल्याण परिषद हरि सिंह चौधरी रहेंगे।
 

उधार की ट्राफी से चला काम

औली। विंटर गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित नेशनल चैंपियनशिप में बजट के अभाव में खिलाडिय़ों को ट्राफी तक मांगकर दी गई। दरअसल ओवरआल चैंपियन बनने पर आइटीबीपी को ट्राफी दी जानी थी। लेकिन यह आयोजकों के पास मौजूद नहीं थी। लिहाजा आइटीबीपी से ही पूर्व प्रतियोगिता में जीती गई ट्राफी मंगाकर उन्हें प्रदान की गई। आयोजकों का कहना था कि बाद में इसे खरीदकर उन्हें दे दी जाएगी।
 

जनता को शीघ्र मिलेगी पानी की किल्लल से निजात

श्रीनगर गढ़वाल। प्रदेश की जनता को जल्द ही पेयजल किल्लत से राहत मिलने वाली है। विश्व बैंक को भेजे गए २२०० करोड़ के प्रस्ताव को विश्व बैंक ने मंजूरी दी है। इसके तहत स्वैप के माध्यम से राज्य की असीमिति बस्तियों को पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही प्रदेश की २६५ पंपिंग योजनाओं का रख-रखाव कर सुचारू किया जाएगा। प्रदेश के पेयजल एवं शिक्षा मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने पत्रकार वार्ता मे यह बात कही।

लोनिवि के गेस्ट हाउस मे पत्रकार वार्ता करते हुए  मंत्री ने कहा कि सरकार का मेन फोकस जनता को पेयजल किल्लत से छुटकारा दिलाना है। उन्होने कहा कि ग्रेविटी की कमी के कारण जल के प्राकृतिक स्त्रोत सूख गए हैं इसलिए प्रदेश मे पेयजल के स्त्रोतों के संवर्धन के लिए प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। वहीं उन्होने कहा कि चौरास क्षेत्र को पेयज किल्ल्त से निजात दिलाने के लिए जीवीके कंपनी की सहायता से ४ करोड़ की पेयजल योजना पर काम शुरू हो गया है। जिससे समूचे चौरास क्षेत्र को भविष्य मे कभी भी पेयजल किल्लत से नहीं जूझना पड़ेगा। 

उन्होने कहा कि प्रदेश मे पेयजल योजनाएं  लगवाने के लिए उपयुक्त जगह हेतु सेटेलाइट सर्वे किया जा रहा है जिसकी रिपोर्ट के बाद योजनाओं का क्रियान्वयन होगा। कहा कि पेयजल किल्लत को देखते हुए प्रदेशभर मं २५ हजार हैंडपंप लगाने की योजना है जो शुरू हो चुकी है। वहीं शिक्षा विभाग में स्थानांतरण पर उन्होने कहा कि विभाग में स्थानांतरण के नाम पर घूसखोरी के कलंक को मिटायेंगे। पारदर्शी तरीके से स्थानांतरण होंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि हैडमास्टर से प्रिसंपल प्रमोशन लिस्ट तैयार हो चुकी है। प्रमोशन की सूची मार्च में जारी कर  दी जाएगी। इससे कई विद्यालयों में प्रधानाचार्य के रिक्त पद भर जाएंगे। वहीं एलटी से लैक्चरार प्रमोशन में एक फेज कंप्लीट हो गया। जिसमें मई माह तक सारी फॉर्मल्टी पूरी कर दी जाएंगी।
 

.