Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

हाथी ने मचाया उत्पात

देहरादून। हरिपुरकलां में हाथी का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार रात को गांव में घुस आए एक हाथी ने जमकर उत्पात मचाया। हाथी ने शांति मार्ग पर एक घर की चहारदीवारी तोड़ दी।
देर रात आए हाथी ने गोङ्क्षवद राम बड़थ्वाल के घर की चहारदीवारी तोड़ी और पास के खेतों में घुस गया। दीवार गिरने की आवाज सुनकर घबराए लोग घरों से बाहर निकल आए। इस दौरान हाथी मास्टर प्रेम ङ्क्षसह नेगी, कबूतरी देवी और श्रीनिवास डोबरियाल के खेत में घुसा और वहां बरसीम, सब्जी व गेंहू की फसल को रौंद डाला। हाथी को देखकर मोहल्ले के लोग दहशत में आ गए। इसकी सूचना वन विभाग को दी गई। इस बीच हाथी काफी देर तक खेत में ही डटा रहा। विदित है कि हरिपुरकलां में पिछले दो महीने से हाथी का आतंक बना हुआ है। स्थानीय निवासी एवं गढ़वाल महासभा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजे ङ्क्षसह नेगी ने बताया कि हाथी व गुलदार की दहशत इस कदर है कि शाम ढलने पर लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। ग्राम प्रधान सतेंद्र धमान्दा ने हाथी की आबादी में आमद को रोकने के लिए सौर ऊर्जा तारबाड़ लगाने और फसल व अन्य नुकसान के एवज में उचित मुआवजा दिए जाने की मांग की है। उन्होंने चेताया कि जानवरों की रोकथाम के कारगर उपाय न किए गए तो रेंज कार्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
ग्रामीणों के पीछे दौड़ा हाथी
हरिपुरकलां के प्रेमकिशोर जुगरान, मनमोहन नेगी व पुरुषोत्तम पंवार ने बताया कि मार्निंग वाक के दौरान हाथी उनके पीछे दौड़ पड़ा। हाथी के हमले से बचने के लिए तेजी से भागे और एक दीवार फांद कर अपनी जान बचाई। इस दौरान प्रेमकिशोर चोटिल हो गए। इन लोगों ने विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल के कैंप कार्यालय में पार्क प्रशासन की शिकायत दर्ज कराई और ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम करवाने की मांग की। विधानसभा अध्यक्ष ने मोतीचूर के रेंज अधिकारी और डीएफओ को निर्देशित किया है लेकिन जिम्मेदार अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं।
 

कार से लैपटॉप व नकदी हुई चोरी

ऋषिकेश। श्यामपुर क्षेत्र में टप्पेबाजों ने शातिराना अंदाज में कार से लैपटॉप और नकदी उड़ाई। कार सवारों को चकमा देकर शातिर टप्पेबाजों ने श्यामपुर पुलिस चौकी के सामने ही वारदात को अंजाम दे दिया।घटनाक्रम के मुताबिक शनिवार दोपहर करीब 12:30 बजे होटल व्यवसायी सुरेंद्र दत्त जोशी निवासी गढ़ी, श्यामपुर से कार में सवार होकर अपने धनौल्टी, टिहरी गढ़वाल स्थित होटल के लिए निकले। श्यामपुर चौकी के समीप पहुंचे तभी पीछे से बाइक सवार दो अपरिचित युवक करीब आए और उन्हें इशारा किया।
बाइक सवार युवकों का इशारा करने पर होटल व्यवसायी ने कार रोक दी, तभी बाइक सवार एक युवक ने कहा कि उनकी कार के इंजन से ऑयल लीक हो रहा है।आनन-फानन में होटल व्यवसायी कार से उतरे और कार का बोनट खोलकर देखने लगे। इंजन से ऑयल लीक नहीं होने पर बोनट बंद करने के बाद जैसे ही कार में बैठे उनके होश उड़ गए। कार की पिछली सीट पर रखा लैपटॉप, 20 हजार नकद, चेक बुक और कागजात गायब मिले। बाइक सवार युवक भी मौके पर नहीं थे। माजरा समझते ही उन्होंने घटना की सूचना श्यामपुर पुलिस चौकी को दी। पुलिस ने चौकी के समीप सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली। इसमें दो बाइक सवार तेजी से निकलते हुए नजर आए। चौकी इंचार्ज संदीप कुमार ने बताया कि होटल व्यवसायी की तहरीर पर अज्ञात लोगों पर संबंधित धारा में केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।
 
 

लाखों का सामान हुआ पार

ऋषिकेश। न्याय पंचायत श्यामपुर के भल्लाफार्म में शातिर चोरों ने एक कोठी में सेंध लगाकर हजारों की नकदी और कीमती सामान उड़ा लिया। वारदात को उस समय अंजाम दिया जब गृहस्वामी परिवार के साथ राजस्थान घूमने गए हुए थे। सूचना से पुलिस में खलबली मच गई। पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना कर चोरी की जानकारी ली। भल्लाफार्म वार्ड नंबर 10 में रेलवे फाटक के पास अनुराग जोशी पुत्र स्व. जगदीश चंद्र जोशी की कोठी है।
बताया जा रहा है कि वह बीती 23 दिसंबर की शाम पत्नी और दो बच्चों के साथ घूमने जयपुर, राजस्थान के लिए निकले। बताया जा रहा है कि अगले दिन उन्होंने अपने दोस्त रोहित कंडियाल को फोन कर कहा कि घर जाकर देख लेना सब ठीक ठाक है। दोस्त कंडियाल उनके आवास पर पहुंचा तो मेन गेट खुला देख फोन पर सूचना दी कि मेनगेट में ताला लगाना भूल गए। इस पर उनका माथा ठनका और दोस्त को कमरे में जाकर देखने को कहा। दोस्त रोहित कंडियाल ने कमरे में प्रवेश किया तो वहां सामान अस्त व्यस्त मिला। इसकी जानकारी उन्होंने अनुराग जोशी को दी।मामले में गृहस्वामी अनुराग जोशी ने श्यामपुर पुलिस को बताया कि कि चोर आवास से सोने के दो हार, तीन जोड़ी कान की बालियां, पायजेब, चांदी के सिक्के, एलईडी, लैपटॉप और 50 हजार की नकदी ले उड़े हैं। उन्होंने पुलिस को घटना की तहरीर दे दी है। कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। छानबीन की जा रही है।घटना पर आक्रोश जतायाऋषिकेश। भल्लाफार्म में हुई चोरी की घटना से ग्रामीणों में खासा आक्रोश है। प्रधान शाकुंबरी बिष्ट, वार्ड सदस्य रीता कुमाईं, सामाजिक कार्यकर्ता राकेश कुमार ने बताया कि पुलिस की लचर कार्यप्रणाली के चलते श्यामपुर क्षेत्र में पिछले कुछ महीने से चोरी की ताबड़तोड़ वारदातें हो रही हैं। आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस से चोरी की घटनाओं का जल्द खुलासा करने और क्षेत्र में रात्रि गश्त बढ़ाए जाने की मांग की। चेताया कि जल्द खुलासा नहीं हुआ आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।
 

चरस के साथ दो गिरफ्तार

 विकासनगर। थाना सहसपुर की धर्मावाला पुलिस ने यूपी बार्डर पर स्थित दर्रारीट चेकपोस्ट पर नए साल के मद्देनजर सघन चेङ्क्षकग के दौरान बाइक सवार दो युवकों को तीन सौ ग्राम चरस के साथ दबोचा। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।
शुक्रवार की रात में चेकिंग के दौरान पुलिस ने जब दो अलग-अलग बाइक सवार युवकों को रुकने का इशारा किया तो युवकों ने बाइक मोड़कर भागने की कोशिश की। पुलिस ने किसी तरह आरोपियों को दबोच लिया। जिनके पास से तलाशी में चरस बरामद हुई। दोनों युवक बाइकों के कागज भी नहीं दिखा पाए। आरोपियों ने अपनी पहचान दानिश पुत्र मुन्ने खान व सोनू पुत्र नूर मोहम्मद निवासीगण खुशहालपुर थाना सहसपुर के रूप में बताई। आरोपी दानिश के पास से 140 ग्राम व सोनू के पास से 160 ग्राम चरस बरामद हुई। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे सहारनपुर यूपी के मिर्जापुर से चरस लेकर आए हैं। खुद भी नशा करते हैं और छात्रों, श्रमिकों व वाहन चालकों को भी बेचते हैं। पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज किया, साथ ही दोनों बाइकें सीज कर दी।
 
 
 

त्योहारों की छुट्टियों में कटौती को लेकर विरोध जताया

विकासनगर। शिवसेना ने विभिन्न त्योहारों की छुट्टियों में कटौती करने के प्रदेश सरकार के निर्णय का विरोध किया है। एसडीएम विकासनगर के माध्यम से मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन में शिवसेना ने त्योहारों छुट्टियों में की गयी कटौती को संसोधित कर पूर्व की भांति छुट्टयों को जारी रखने की मांग की है। शिवसेना ने कहा कि यदि सरकार ने अपना निर्णय नहीं लिया तो आंदोलन के लिए मजबूर होंगें। एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री उत्तराखंड को प्रेषित ज्ञापन में शिवसेना ने कहा कि हाल में प्रदेश सरकार ने करवाचौथ व भैयादूज सहित कई त्योहारों की छुट्टियों को रद्द करने का आदेश जारी किया है। शिवसेना ने छुट्टियों में की गयी कटौती का विरोध करते हुए कहा कि सरकार के इस आदेश से हमारी धार्मिक भावनायें आहत हुई हैं। कहा धार्मिक आस्थाओं से छेड़छाड़ को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। कहा कि धार्मिक त्योहारों पर पूर्व की तरह से छुट्टियां होनी चाहिए। कहा कि यदि सरकार ने पूर्व की भांति उक्त त्योहारों की फिर से छुट्टयां जारी नहीं की तो शिवसेना को बाध्य होकर आंदोलन करना पड़ेगा। ज्ञापन प्रेषित करने वालों में ब्लॉक अध्यक्ष महंत दिगंबर गिरी, पंकज कुमार, अनिल दुबे, चमन फौजी, शेखर, अमन, राहुल, विजय, अंकित, शिवम, राजा, प्रियांक, नंदगिरी, दीपक, ज्योति, नीरज नौटियाल, विक्की कुमार, विकास, रिशभ शर्मा, चेतनदास, रजत जोशी, विपिन, प्रदीप, हर्ष चौधरी, दीपक कुमार, सौरभ, स्वाति, अभिषेक आदि शामिल रहे।
चौरासी कुटी का आयुक्त ने किया निरीक्षण
शनिवार को मंडलायुक्त गढ़वाल व पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने महर्षि महेश योगी द्वारा स्थापित शंकराचार्य नगर (चौरासी कुटी) का भी निरीक्षण किया। उन्होंने वन क्षेत्राधिकारी राजेंद्र नौटियाल से चौरासी कुटी के संबंध में जानकारी ली। उल्लेखनीय है कि वर्ष 1967-68 में यहां विश्व प्रसिद्ध म्यूजिक बैंड बीटल्स ग्रुप के चार सदस्य जॉन लिनोन, पॉल मेकार्टनी, जार्ज हैरिशन व ङ्क्षरगो स्टार पूरे एक वर्ष तक इस केंद्र में रहे थे और भावातीत ध्यान की दीक्षा ली। बीटल्स ग्रुप के इन सितारों ने यहां रहते हुए कई यादगार धुनें भी रची। इसके बाद से ही विश्व भर में ऋषिकेश ने अलग पहचान बनाई थी। आने वाले वर्ष 2018 के फरवरी माह में बीटल्स ग्रुप के यहां 50 वर्ष पूर्ण होने पर सरकार बीटल्स ग्रुप की याद में यहां एक भव्य आयोजन करने जा रही है। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने को लेकर राजाजी टाइगर रिवर्ज के आला अधिकारियों से चर्चा की जाएगी।
 

चारधाम यात्रा को सुविधाजनक बनाने में जुटा प्रशासन

ऋषिकेश । उत्तराखंड की चारधाम यात्रा को और सुविधाजनक बनाने के लिए प्रशासन कसरत में जुट गया है। सब कुछ ठीक रहा तो अब ऋषिकेश में ही यात्रियों को इस बात का पता चल जाएगा कि चारधाम यात्रा रूट पर कहां जाम की स्थिति है और यात्रा मार्ग पर गए वाहनों की पहुंचने व लौटने की स्थिति क्या रहेगी। इसके लिए शासन स्तर पर चारधाम यात्रा मार्गो पर संचालित होने वाले वाहनों में जीपीएस या आरएफ आइडी लगाए जाने पर काम किया जा रहा है।
शनिवार को ऋषिकेश पहुंचे मंडलायुक्त व पर्यटन सचिव दलीप जावलकर ने पत्रकारों को आगामी वर्ष की चारधाम यात्रा की तैयारियों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि चारधाम यात्रा उत्तराखंड की सबसे महत्वपूर्ण यात्रा है। देश-विदेश से बड़ी संख्या में यात्रा चारधाम यात्रा के लिए पहुंचता है। उन्होंने बताया कि चारधाम यात्रा को और भी सुरक्षित और व्यवस्थित बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है। यात्रा काल में मार्गों में विभिन्न स्थानों पर जाम की स्थिति बन जाती है, जबकि तकनीकी के अभाव में जाम खुलने अथवा मौके की स्थिति का पता नहीं चल पाता है, जिससे तमाम अव्यवस्थाएं पेश आती हैं। यहीं नहीं चारधाम यात्रा पर गए वाहनों की लौटने और पहुंचने की स्थिति की भी सही जानकारी नहीं मिल पाती है। ऐसे में अब आगामी यात्रा काल में चारधाम यात्रा पर जाने वाले वाहनों में जीपीएस सिस्टम अथवा आरएफ आइडी लगाये जाने की योजना पर काम किया जा रहा है। इसके लिए चारधाम यात्रा बस टर्मिनल कंपाउंड के समीप ही करीब साढ़े तीन एकड़ भूमि का चयन भी किया गया है। इस स्थान पर चारधाम यात्रा की व्यवस्था व वाहनों को ट्रैस करने के लिए तकनीकी सिस्टम लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस तकनीकी को विकसित करने के लिए कंसल्टेंट एजेंसी ब्रिडकुल को काम सौंपा गया है। इसी प्रस्तावित परिसर में यात्रियों के पंजीकरण सिस्टम को भी शिफ्ट किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों के साथ मौका मुआयना भी किया।
 

उत्तराखण्ड पुलिस का स्वर्ण पदक पर कब्जा

देहरादून। स्पोट्र्स कलेज में चल रही 66वीं अल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स चौंपियनशिप के मैराथन इवेन्ट में लाल सिंह ने उत्तराखंड पुलिस के लिए स्वर्ण पदक जीता। उन्होने 2 घण्टे 22 मिनट 59 सेकन्ड में रेस पूरी कर प्रथम स्थान हासिल करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया। बीएसएफ के राधे कुमार (2घण्टे 25 मिनट 21 सेकन्ड) द्वितीय व सीआरपीएफ के विकास कुमार (2घण्टे 25 मिनट 25 सेकन्ड) तृतीय स्थान पर रहे।
हैमर थ्रो में उत्तराखण्ड पुलिस के शिव कुमार ने 61$50 मीटर हैमर फैंककर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। एसएसबी के गगन कुमार यादव (59$01 मीटर) द्वितीय स्थान तथा बीएसएफ के गुरजौहर सिंह  (58$68 मीटर) तृतीय स्थान पर रहे।
 400 मीटर दौड़ (पुरूष वर्ग) प्रथम स्थान- बघनाराज मिर्डिया ओडिसा (48$02 सेकण्ड), द्वितीय स्थान- जगमीत सिंह पंजाब (48$92 सेकण्ड), तृतीय स्थान- मनदीप बीएसएफ (49$05 सेकण्ड) रहे। 400 मीटर दौड़ (महिला वर्ग) प्रथम स्थान- अयाना थमस सीआरपीएफ (55$65 सेकण्ड), द्वितीय स्थान- राधा वर्मा सीआरपीएफ (57$29 सेकण्ड) और तृतीय स्थान किरन पाल कौर पंजाब (58$11 सेकण्ड) रहे। शट पुट (महिला वर्ग) प्रथम स्थान- किरनजोत कौर पंजाब (13$73 मीटर), द्वितीय स्थान- दीपा बीएसएफ (13$63 मीटर) और तृतीय स्थान राखी एसएसबी (13$48 मीटर) रहे। 3000 मीटर स्टेपल चेज दौड़ (पुरूष वर्ग) प्रथम स्थान- पवन वर्मा सीआरपीएफ (9:22$01 मिनट), द्वितीय स्थान- राम मिलन सिंह  सीआईएसएफ (9:24$81 मिनट) और तृतीय स्थान- मंजू बीएसएफ-(9: 29$77 मिनट) रहे। लम्बी कूद (पुरूष वर्ग) में प्रथम स्थान- बिक्रमजीत सिंह बीएसएफ (7$49 मीटर), द्वितीय स्थान- अबिन बी केरल (7$25 मीटर) और तृतीय स्थान- कार्थिक तमिलनाडु (7$21 मीटर) ने प्रान्त किया। 3000 मीटर स्टेपल चेज दौड़ (महिला वर्ग) में प्रथम स्थान- सुगन्धा बीएसएफ (11: 12$79 मिनट), द्वितीय स्थान- वहीदा रहमान सीआरपीएफ (11: 20$51 मिनट) और तृतीय स्थान प्रिति चौधरी सीआईएसएफ (11: 26$25 मिनट) ने प्रान्त किया। 110 मीटर बाधा दौड़ (पुरूष वर्ग) में प्रथम स्थान- प्रोसेनजीत कयाल एसएसबी (14$96 सेकन्ड), द्वितीय स्थान-अनुपेन्द्र कुमार सीआरपीएफ (15$06 सेकन्ड) और तृतीय स्थान अमरुत तिवाले महाराष्ट्र (15$10 सेकन्ड) ने प्रान्त किया। 100 मीटर बाधा दौड़ (महिला वर्ग) में प्रथम स्थान- अरविन्दा रथवा पंजाब (14$30 सेकन्ड), द्वितीय स्थान-जसप्रित कौर पंजाब (14$33 सेकन्ड) और तृतीय स्थान अंजुला सिंह ने बीएसएफ (14$86 सेकन्ड) प्रान्त किया। 
 
 
 

सामुदायिक केंद्र का भवन निर्माण अधर में लटका

ऋषिकेश। खारास्रोत में सामुदायिक केंद्र के भवन का कार्य कई वर्षों से अधूरा पड़ा है। इससे क्षेत्रवासियों को शादियों और अन्य सामाजिक कार्यक्रमों के आयोजन में परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। शनिवार को खारास्रोत क्षेत्र के निवासियों ने मुनिकीरेती पालिकाध्यक्ष को ज्ञापन सौंपकर सामुदायिक केंद्र का कार्य पूरा करने की मांग की है। शनिवार को खारास्रोत निवासियों ने मुनिकीरेती पालिकाध्यक्ष शिवमूर्ति कंडवाल को ज्ञापन सौंपा।
र्व विधायक प्रतिनिधि रोहित गोदियाल ने कहा कि खारास्रोत वार्ड संख्या एक में करीब सात वर्ष पूर्व सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य शुरू किया गया था। लेकिन यह कार्य अधूरा छोड़ दिया गया और अभी तक सामुदायिक केंद्र पूरा नहीं हो पाया है। कहा कि इस सामुदायिक केंद्र के बनने से यहां के लोगों को शादियां और अन्य सामाजिक कार्यक्रमों के आयोजन में सहूलियत होती। लेकिन भवन का निर्माण कार्य पूरा न होने की वजह से यहां किसी भी प्रकार का कार्यक्रम नहीं किया जा सकता है। इतना ही नहीं जो कार्य किया गया था, वह भी क्षतिग्रस्त हो चुका है। क्षेत्रवासियों ने पालिकाध्यक्ष से शीघ्र ही निर्माण को पूरा करवाने की मांग की है। मौके पर विलास सेलवान, सचिन सेलवान, अंकित, सोनू, सागर सेलवान आदि उपस्थित रहे।
 
 
 

जंगल कैंप तैयार हुआ नए साल के जश्न को

ऋषिकेश।  2017 की विदाई और नए वर्ष 2018 के स्वागत के लिए गंगा की सहायक नदियों के किनारे कैंप सज चुके हैं। इन कैंपों में नए वर्ष के सेलिब्रेशन की मस्ती और धमाल होगा। पर्यटकों को उत्तराखंडी व्यंजन परोसे जाएंगे। हालांकि एनजीटी के गंगा किनारे बीच कैंपों पर रोक लगने से नए साल की रौनक कम रहेगी। नए साल का जश्न मनाने के लिए काफी संख्या में देश विदेश से पर्यटक तीर्थनगरी का रुख करते हैं।पहले नए साल का जश्न गंगा तट पर बीच कैंपों में मनाया जाता था, लेकिन तीन साल पहले गंगा तट पर हरित राष्ट्रीय प्राधिकरण के प्रतिबंध लगाने से कौडियाला-मुनिकीरेती इको टूरिज्म जोन के करीब 100 कैंप बंद हो गए थे। गंगा तट पर प्रतिबंध के बाद हैंवल और शिवपुरी घाटी में जंगल बीच कैंपों का विस्तार हुआ। इन बीच कैंपों में नए साल के जश्न की तैयारी लगभग पूरी हो गई है। 31 दिसंबर की शाम इन कैंपों में मस्ती और धमाल होगा।
कैंप संचालक अरुण कुमार दास, अंकुर, अनुभव पयाल, जगत सिंह पुंडीर, अरुण सजवाण, भूपेंद्र राणा, अन्नु शर्मा ने बताया कि नए साल के जश्न के लिए कैंप पूरी तरह से पैक हो चुके हैं। विदेशी पर्यटक 10 प्रतिशत और देसी पर्यटक 70 प्रतिशत से अधिक हैं। दिल्ली, गुडग़ांव, मोहाली के पर्यटकों की संख्या ज्यादा है। पर्यटकों को नॉन वेज के अलावा उत्तराखंडी व्यंजन झंगोरे की खीर, कौदे की रोटी, गहत का सूप, फाणू भात परोसा जाएगा। बताया कि सैलानियों को आकर्षित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहेगीनए साल में हुड़दंगियों से निपटने और संदिग्धों की निगरानी के लिए तीर्थनगरी और आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहेगी। कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि नए साल की पूर्व संध्या से ही शहर के प्रत्येक नाके पर वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी है। ट्रैफिक व्यवस्था सुचारु रखने के लिए विशेष टीम गठित की गई है। यातायात का उल्लंघन करने वालों का चालान किया जाएगा। होटल और आश्रम संचालकों को हिदायत दी है कि बिना आईडी के पर्यटकों को रूम नहीं दें। लक्ष्मणझूला और मुनिकीरेती क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।
 
 

किसानों ने लकी ड्रॉ में जीती 5 बाइकें

ऋषिकेश। छिद्दरवाला में गुरुनानक कृषि केंद्र की ओर से किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें लकी ड्रॉ से पांच भाग्यशाली किसानों को मोटर साइकिलें दी गईं। किसानों को खेती की बेहतर तकनीक की जानकारी देने के लिए स्वराज ट्रैक्टर की ओर से गोष्ठी आयोजित की गई।
दीपावली स्कीम के तहत कुल 80 उपभोक्ताओं में सोलदेवी सैनी मीरानगर, राजेंद्र तडिय़ाल गुमानीवाला, नीलम देवी फतेहपुर डांडा, सोहन सिंह अठूरवाला व अंकुर त्यागी जस्सोवाला ने ड्रा से बाइकें जीतीं। मुख्य अतिथि जिला पंचायत सदस्य देवेंद्र नेगी ने विजेताओं को बाइक की चाबियां प्रदान कीं। इस मौके पर राजकुमार, प्रवीन ढ़ींगरा,बलराज सिंह, दलराज सिंह, कमल जोशी, ताजेंद्र सिंह, सुनील शर्मा, अशोक कालिया आदि उपस्थित रहे।
 

सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से रंग जमाया

ऋषिकेश। विवेका अकादमी और नवचेतना स्कूल के वार्षिकोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। मौके पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने शिक्षा के साथ ही संस्कारों को भी जरूरी बताया। शनिवार को श्यामपुर खदरी स्थित विवेका अकादमी सीनियर सेकेंडरी जूनियर हाई स्कूल और वीरभद्र हनुमान मन्दिर के नवचेतना हाई स्कूल के वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया।
वार्षिकोत्सव का शुभारम्भ मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल ने दीप जलाकर किया। उन्होंने कहा कि भारत विभिन्न रंग-बिरंगी संस्कृतियों से परिपूर्ण देश है। समृद्ध संस्कृति ही इसकी पहचान है। सांस्कृतिक गतिविधियों से जोड़कर ही नई पीडी को संस्कारवान बनाया जा सकता है। कहा की सभ्य समाज के निर्माण के लिए शिक्षा के साथ साथ संस्कारवान होना भी जरूरी है। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वन्दना से हुई। सांस्कृतिक कार्यक्रम में छात्र छात्रओं ने गढ़वाली, कुमाऊंनी, मराठी, गुजराती, राजस्थानी, सांस्कृतिक नृत्यों की सुंदर प्रस्तुतियां देकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। बच्चों ने स्वच्छ भारत, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ आदि पर लघु नाटिका पेशकर सामाजिक सन्देश दिया। मौके पर जर्मनी से आए रिया हेमलेस बा, उनमेस संगठन की राष्ट्रीय महासचिव डा. कविता भट्ट, डा. सुजाता, बी चाल्र्स, कार्यक्रम अध्यक्ष विद्यादत्त रतूड़ी, जितेंद्र नेगी, हंस कल्चर सेंटर के क्षेत्रीय प्रभारी प्रदीप राणा आदि उपस्थित थे।
 
 

अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर दिया धरना

ऋषिकेश। पार्किंग की भूमि से निर्माणाधीन कॉम्प्लेक्स को ध्वस्त कर अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर छात्र नेताओं ने हरिद्वार विकास प्राधिकरण (हविप्रा) कार्यालय के सक्षम धरना प्रदर्शन किया। छात्र नेताओं ने हविप्रा के अधिकारियों पर कार्रवाई न कर भूमाफिया को बढ़ावा देने का आरोप भी लगाया।
बीते 11 दिनों से छात्र नेता कुंभ मेला वाहन पार्किंग की भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर परशुराम तिराहे के समीप धरना दे रहे थे। लेकिन शनिवार को छात्र नेताओं ने हविप्रा कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। राजकीय ऑटोनोमस कॉलेज ऋषिकेश के छात्रसंघ महासचिव इमरान खान ने कहा कि कुंभ मेला वाहन पार्किंग हेतु आवंटित भूमि पर भूमाफिया ने कब्जा कर लिया है और पार्किंग की भूमि पर कॉम्प्लेक्स का निर्माण करवाया जा रहा है। इस मामले में शासन प्रशासन से लिखित और मौखिक शिकायत भी की गई, इसके बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इसको लेकर बीते 11 दिनों से आंदोलन किया जा रहा है। इसके बावजूद प्रशासन के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है। कहा कि क्षेत्र में किसी भी निर्माण के लिए हविप्रा से अनुमति लेनी होती है और पार्किंग की भूमि पर कॉम्पलेक्स का निर्माण होना, हविप्रा अधिकारियों की मिलीभगत को दर्शाता है। कहा कि शीघ्र ही विभाग द्वारा कार्रवाई नहीं की गई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। मौके पर छात्रसंघ अध्यक्ष शिवम भारद्वाज, उपाध्यक्ष अजय जायसवाल, सलीम खान, अमन शर्मा, संजय बहुगुणा, योगेश कुमार आदि उपस्थित रहे।
 
 

नये साल के जश्न मनाने को चकराता तैयार

देहरादून। अगर आप थर्टी फस्र्ट का जश्न कुदरत के शानदार नजारों के बीच मनाना चाह रहे हैं तो ये खूबसूरत जगह आपके लिए तैयार है। पर्यटकों के स्वागत के साथ नए साल के जश्न को यहां खास तैयारियां की गई हैं।सात हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित जौनसार बावर क्षेत्र का केन्द्र बिंदु चकराता पर्यटन के रूप में अगल ही पहचान रखता है। यहां की मनोहर घाटियां ओर सुहावना मौसम बरबस ही पर्यटकों को अपनी ओर आर्कषित करता है। ऐसे में थर्टी फस्र्ट के साथ न्यू इयर का जश्न पर्यटकों को खुब-ब-खुद चकराता की ओर खींच लेता है।
क्षेत्र के पर्यटन व्यवसाइयों में भी थर्टी फस्र्ट व न्यू इयर को लेकर उत्साह है। होटल व्यवसाइयों ने भी थर्टी फस्र्ट की तैयारियां पूरी कर ली हैं। ठंड के बीच पर्यटकों को परेशानी न हो, इसके उचित इंतजाम किए गये हैं। इतना ही नहीं, लोग पहाड़ी और लोक संस्कृति से रूबरू हो सकें, इसके लिए होटलों के लंच और डिनर में पहाड़ी व्यंजन परोसने की तैयारी की गई है। इनमें मंडुवा, झंगोरा व पहाड़ी दालें विशेष रूप से शामिल की गई हैं। इको फ्रेंड्रली ढंग से मनेगा थर्टी फस्र्टशांत वादियों के चलते हर साल चकराता नए साल के जश्न के लिए पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। ऐसे में इस बार यहां इको फ्रेंडली तरीके से नए साल को सेलिब्रेट किया जा रहा है। यहां न तो आपके जश्न में कोई तेज म्यूजिक खलल डालेगा और न ही शोर। लोक संगीत की धुन पर शांत वातावरण के बीच लोग अपने दोस्तों और परिवार के साथ नए साल का जश्न मना सकेंगे। चकराता और आसपास की सुरमयी वादियों में स्थित लोक निर्माण विभाग और वन विभाग के गेस्ट हाउस भी नए साल पर पर्यटकों का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। ज्यादातर होटलों की बुकिंग पहले से ही हो चुकी है। कैसे पहुंचे चकराता उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से 95 किमी दूरी पर स्थित इस शांत इलाके में आप टैक्सी और बस से पहुंच सकते हैं। देहरादून से हरबर्टपुर चौक होते हुए विकासनगर, बाड़वाला, कालसी, साहिया होते हुए चकराता तक आसानी से पहुंचा जा सकता है। क्षेत्र के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलसात हजार फीट की ऊंचाई पर बसा चकराता वैसे तो खुद ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। लेकिन, इसके साथ ही निकट में स्थित टाइगर फाल, मुंडाली, देववन, कनासर, लोखंडी, मोइला टॉप, बैराटखाई, बुधेर आदि पर्यटक स्थल भी बेसब्री से पर्यटकों का इंतजार कर रहे हैं। आसन में बोटिंग का लुत्फ भी उठा सकते हैं पर्यटकइस बार नए साल के जश्न पर बर्फबारी के आसार कम लग रहे हैं। इसके चलते भले ही पर्यटक चकराता का रुख कम करें। लेकिन, यदि आप अपने दोस्तों व परिवारों के साथ बोटिंग और झील का लुत्फ उठाना चाहते हैं, तो विकासनगर से मात्र 8 किमी दूर आसन बैराज में मस्ती कर सकते हैं। यहां पर्यटकों के रहने ठहरने से लेकर, बोटिंग और खाने तक के विशेष इंतजाम किए गये हैं।
 

भाजपा नेता उमेश अग्रवाल सड़क दुर्घटना में घायल

देहरादून। पूर्व भाजपा महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल सड़क दुर्घटना में बुरी तरह घायल हो गए हैं। दुर्घटना में उनकी पसली टूट गई हैं, साथ ही सिर पर भी चोट आई है। उन्हें सिनर्जी अस्पताल में भर्ती कराया गया था है। उन्होंने अस्पताल में ही शनिवार को अपना जन्मदिन भी मनाया। 
उमेश अग्रवाल शुक्रवार देर रात राजपुर में एक शादी सहारोह से लौट कर सुभाषनगर स्थित अपने घर जा रहे थे। सेवलाकलां में ड्राइवर को छोडऩे के बाद वो खुद ही गाड़ी चलाने लगे, इस बीच नींद का झौंका आने से उनकी कार दीवार पर टकरा गई। जिसमें उन्हें गंभीर चोट पहुंची। रात में ही उन्हें अस्पताल भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के मुताबिक उनके बांई तरफ की पसली टूटी हैं, साथ ही सिर पर शीशा लगने से चोट आई है। उन्हें कुछ दिन अस्पताल में ही रहना होगा। इधर, शनिवार को उनका जन्मदिन भी है, इसलिए समर्थकों ने उन्हें अस्पताल में ही जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। भाजपा के साथ ही अन्य दलों के नेता भी उनकी कुशलता पूछने अस्पताल पहुंचे। 
 
 

बीआरओ के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल ने की मुख्य सचिव से शिष्टाचार भेंट

देहरादून। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह से शनिवार को सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल एसके श्रीवास्तव ने शिष्टाचार भेंट की। भेंट के दौरान मुख्य सचिव ने उत्तराखंड की सीमा पर बन रही सड़कों के बारे में जानकारी ली।
कहा कि उत्तराखंड में तैनात अपने लोगों को निर्देश दें कि निर्माण कार्य में तेजी लाएं। बताया कि बर्फबारी के बावजूद केदारनाथ में निर्माण कार्य चल रहा है। ऐसी व्यवस्था करें कि जहां इस समय बर्फ पड़ी है वहां भी बीआरओ सड़क निर्माण कार्य जारी रखे।
 

जनता-मिलन दरबार में मंत्री ने सुनीं जनसमस्याएं

देहरादून। देहरादून जिले के प्रभारी मंत्री मदन कौशिक की अध्यक्षता में कलैक्टे्रट सभागार में जनपद के सभी विभागों के सक्षम अधिकारियों के साथ जनता-मिलन दरबार का आयोजन करते हुए मौके पर ही लोगों की विभिन्न समस्याओं को सम्बन्धित अधिकारियों से निस्तारित करवाया।
मंत्री ने कहा कि इस जनता दरबार के आयोजन का मकसद जनता की विभिन्न प्रकार की समस्याओं को एक ही स्थान पर तत्काल सम्बन्धित अधिकारियों से निस्तारित करवाना है, ताकि लोगों को अनावश्यक सरकारी विभागों के चक्कर न काटने पड़े। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिये कि नियम के तहत जो काम हो सकता है, उसे शीइा्रता से करें और उसे किसी भी दशा में लम्बित न रखें, साथ ही जो कार्य नही हो सकता उसकी स्पष्ट आख्या दें ताकि आवेदनकर्ता अनावश्यक उलझन में न पड़े। उन्होने विभिन्न विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन मामलों का आज मौके पर निस्तारण नही हो पाया है उन्हे तत्काल निस्तारित करते हुए प्रगति रिपोर्ट से उन्हे भी अवगत करायें और किसी भी दशा में अगले जनता दरबार में आज की समस्या अनसुलझी न रहने पाये। सुनवाई के दौरान अधिकत्तर जन समस्याएं नगर निगम, लोक निर्माण, राजस्व, वन, समाज कल्याण, जल संस्थान, विद्युत, परिवहन, पुलिस विभाग, एडीबी, पीएमजीएसवाई, से सम्बन्धित सामने आई। मंत्री ने नगर निगम को शहर में साफ-सफाई व जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित करने, समाज कल्याण को बहुत से क्षेत्रों में पेंशन प्रकरण के मामलों के समाधान हेतु बहुउद्देशीय, शिविर लगाने, एमडीडीए को अवैध अतिक्रमण हटाने, परिवहन विभाग को जरूरी क्षेत्रों में नई बसों व टैम्पो का संचालन करवाने, विद्युत विभाग को विभिन्न स्थानों पर बिखरी विद्युत लाईनों व रूकावट वाले पोलों को शिफ्ट करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर विधायक सहसपुर सहदेव सिंह पुण्डीर, प्रमुख सचिव उत्तराखण्ड शासन राधा रतूड़ी, जिलाधिकारी एस$ए मुरूगेशन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती, नगर आयुक्त विजय कुमार जोगदांडे, मुख्य विकास अधिकारी जी$ए रावत, अपर जिलाधिकारी प्र0 अरविन्द पाण्डेय, सचिव एमडीडीए पी$सी दुम्का, बीजेपी महानगर अध्यक्ष विनय गोयल सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी व कार्मिक उपस्थित थे। 
 

विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

देहरादून। विधायक गणेश जोशी ने देहरादून के डोभालवाला स्थित अमर शहीद कैप्टन आचार्य राजकीय इण्टर कालेज में छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु बहुआयामी गतिविधियों के तहत विज्ञान प्रर्दशनी का शुभारम्भ किया।
विधायक गणेश जोशी ने विज्ञान प्रर्दशनी में छात्र-छात्राओं द्वारा बनाये गये मॉडल का निरीक्षण किया। उन्होनें छात्र-छात्राओं की विज्ञान अभिरुची की प्रशंसा की तथा उनके द्वारा निर्मित विज्ञान एवं तकनीकि मॉडलों की जानकारी प्रान्त की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विधायक जोशी ने विद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं को पढ़ाई लिखाई के प्रति और अधिक प्रेरित करने के लिए अपनी ओर से प्रत्येक विद्यार्थी को कोट भेंट दिये जाने की घोषणा की। इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य एसएस बिष्ट, प्रदीप रावत, सत्येन्द्र नाथ, अनुज रोहिला, सिकन्दर सिंह, भावना, मोहन बहुगुणा, विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाएं सहित छात्र-छात्राएं उपस्थित रही।
 

नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस को कौन देगा संजीवनी

देहरादून। वर्ष 2017 अब खत्म होने में कुछ घंटे ही शेष रह गए हैं। वर्ष 2017 राजनीति की दृष्टि से बेहद उथल पुथल वाला रहा। विधानसभा चुनाव में राजनीति के बड़े बड़े धुरंधरों को जमीन देखनी पड़ी। अब यह धुरंधर फिर से अपनी सियासी जमीन तैयार करने में लगे हैं। अब नए साल में आने वाला है नगर निकाय चुनाव। नगर निकाय चुनाव कुछ को संजीवनी दे सकता है।
वर्ष 2017 का आगाज हुआ तो सियासी सरगर्मियां अपने चरम पर थी। विधान सभा चुनाव सिर पर था सो राजनेता अपनी अपनी गोटियां फिट करने में जुटे हुए थे। राजनीति की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माने जाने वाले इस जिले में खुद सूबे के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत कूद पड़े। उन्होंने हर दृष्टि से महफूज किच्छा सीट से चुनाव लडने का ऐलान कर दिया। हालांकि जिले के कई कांग्रेसी धुरंधर उस वक्त तक हरीश रावत का साथ छोड़ चुके थे। ऐन वक्त पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके एवं हरीश मंत्रिमंडल के करीबी सहयोगी यशपाल आर्या ने कांग्रेस को टाटा कर दी। वह खुद तो भाजपा में गए, साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद गंगवार व अपनी पूरी टीम को साथ ले गए। फिर भी हरीश रावत को उम्मीद थी कि सियासी भंवर में फंसी अपनी नैया को वह पार लगा लेंगे, मगर चुनावी नतीजे सामने आए तो सारी भविष्यवाणी धराशाही हो गई। हरीश रावत किच्छा सीट से खुद तो हारे ही, साथ ही जिले की नौ सीटों में से आठ सीटों पर भाजपा का परचम लहराया। जिले के कद्दावर नेता तिलकराज बेहड़ भी एक बार फिर चुनाव हार गए। सिर्फ एक ही सीट जसपुर में कांग्रेस की साख बच पाई। हालांकि इस तरह के चुनावी नतीजों की कतई उम्मीद नहीं की जा रही थी, मगर लोकतंत्र में जनादेश ही सर्वोपरि होता है। कुल मिलाकर 2017 कांग्रेस के लिए प्रतिकूल साबित हुई। यह दीगर बात है कि भाजपा के जो चेहरे शुरू में खिलखिला रहे थे, उन चेहरों की खिलखिलाहट बहुत देर तक तरोताजा नहीं रह सकी। कुछ मंत्रिमंडल में शामिल होने की उम्मीद पाले थे, उनकी यह उम्मीद काफुर हो गई और कुछ चेहरों को इस बात का अफसोस है कि सरकार उनकी पार्टी की तो बनी, मगर उनका सिक्का नहीं चल पाया। साल बीता तो कांग्रेसियों के जख्म भी समय के साथ भरते नजर आए। वह नई ऊर्जा के साथ खुद को मजबूत करने के लिए खड़े होने लगे। अब वर्ष 2018 में निकाय चुनाव भी है। कांग्रेस के लिए यह साल कैसी रहेगी यह तो निकाय चुनाव के नतीजों से पता चलेगा। फिलहाल कांग्रेस नए साल में नए लक्ष्य लेकर अपनी साख को फिर से जमाने की कोशिश में जुटेंगे।
 
 

नव वर्ष पर यातायात निदेशालय की अनोखी पहल

देहरादून।  देहरादून में यातायात निदेशालय द्वारा नववर्ष की पूर्व संध्या पर एक अनोखी पहल की जा रही है यह पहल राज्य में प्रथम एवं संभवत: देश में प्रथम बार प्रयोग किया जा रहा है । महिला सशक्तिकरण एवं उनकी सुरक्षा के लिये यातायात निदेशालय द्वारा एक अभिनव प्रयोग नववर्ष की पूर्व संध्या पर यातायात निदेशालय द्वारा किया जा रहा है। दून के नागरिकों को बेहतर यातायात व्यवस्था एवं दुर्घटनाओं को रोकने के लिये यातायात निदेशालय द्वारा निरंतर कार्य किया जा रहा है। देहरादून में नये साल के आगमन के उपलक्ष में यातायात निदेशालय द्वारा प्रत्येक चौराहों पर एक-एक कार और विक्रम की व्यवस्था की जा रही है। जिसका उपयोग यातायात पुलिस द्वारा किया जायेगा। 
नये साल के आगमन के उपलक्ष में उन महिलाओं के लिये जिनके पास आने-जाने के लिये परिवहन सुविधा न हो यातायात निदेशालय द्वारा उनके लिये उक्त वाहनों को प्रयोग में लाया जायेगा। जो महिलाएं इन वाहनों का प्रयोग करना चाहती है, वे 100 नम्बर पर इसकी सूचना दे सकती हैं। ये सुविधा केवल अकेली महिला या महिलाओं के समूह के लिये ही है। ये सुविधा किसी पुरूष के लिये नहीं है। यह सुविधा नि:शुल्क रहेगी। नये साल के पूर्व संध्या पर दुर्घटना होने पर इन वाहनों का प्रयोग किया जायेगा। अगर कोई घायल होता है तो उसे दुर्घटना स्थल के आस-पास मौजूद सीपीयू कर्मचारियों द्वारा इन वाहनों की मदद से नजदीकी अस्पताल पहुंचा कर उनके सम्बन्धितों को सूचित किया जायेगा। यदि किसी व्यक्ति द्वारा 100 नम्बर पर किसी स्थान पर अचेत व्यक्ति पड़े होने की सूचना दी जाती है तो उसे भी इन वाहनों की मदद से उनके घर तक छोड़ा जायेगा। सभी महिलाओं ,युवतियों ,नागरिकों से अपील व अपेक्षा है कि वे यातायात निदेशालय, उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा प्रदान की जा रही इस अभूतपूर्व सुविधा का अधिक से अधिक लाभ उठायें। यातायात निदेशालय द्वारा भविष्य में भी आम जनता को सुविधा करने प्रदान करने के लिये इसी प्रकार के अभिनव प्रयोग किये जायेंगे। इस सम्बन्ध में आम जनता से अपील है कि इस प्रयोग को सफल बनाने में सहयोग करते हुए अपने सुझाव यातायात निदेशालय की व्हाट्स एप्प नम्बर 08755721002 एवं सोशल मीडिया के माध्यम से भी अपन सुझाव दे सकतें है। यातायात निदेशालय द्वारा भविष्य में भी आम जनता को सुविधा करने प्रदान करने के लिये इसी प्रकार के अभिनव प्रयोग किये जायेंगे। उक्त के सम्बन्ध में आम जनता से अपील है कि इस प्रयोग को सफल बनाने में सहयोग करते हुए अपने सुझाव यातायात निदेशालय की बेसाईट एवं सोशल मीडिया(फेसबुक पेज के माध्यम से भी अपन सुझाव दे सकतें है।
 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सौंपा राज्यपाल को ज्ञापन

 देहरादून। कांग्रेस  कार्यकर्ताओं का प्रतिनिधिमण्डल ने राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें तीन सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। राजभवन में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि खेल मंत्री अरविन्द पाण्डे द्वारा खेल संघों के पदाधिकारियों द्वारा महिला खिलाडियों के यौन शोषण के बारे में की गई अनर्गल बयानबाजी की कड़े शब्दों में भर्तसना करती है। राज्य सरकार के खेल मंत्री द्वारा बिना किसी तथ्य के बयान देकर वर्तमान महिला खिलाडियों के साथ-साथ उन महिला खिलाडियों के परिवारों में भी दरार डालने का काम किया गया है जिनके विवाह हो चुके हैं। खेल मंत्री द्वारा दिये गये इस प्रकार के बयान से जहां एक ओर खेल संघों की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगा है वहीं यह बयान नवोदित महिला खिलाडियों को हतोत्साहित करने वाला है। खेल मंत्री संवैधानिक पद पर विराजमान हैं तथा ऐसे पद पर बैठे व्यक्ति द्वारा इस प्रकार की अनर्गल बयानबाजी दुर्भाग्यपूर्ण है। कंाग्रेस पार्टी मांग करती है कि खेल मंत्री तत्काल अपने इस बयान के अनुसार दोषी लोगों के विरूद्घ कार्रवाई करें अन्यथा खेल मंत्री को बर्खास्त किया जाय।  कांग्रेस प्रतिनिधिण्डल ने यह भी कहा कि जनपद पौड़ी गढ़वाल के लैन्सडाउन वन प्रभाग के अन्तर्गत दिल्ली-मेरठ-कोटद्वार-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्षा के संरक्षण में  सर्वोच्च न्यायालय एवं राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेशों को दर किनार करते हुए हरे पेड़ों का अंधाधुंध अवैध कटान किया जा रहा है। प्रभागीय वनाधिकारी द्वारा हरे पेड़ों के अवैध कटान की स्वीति के लिए राज्य सरकार के मंत्री का दबाव बताया जा रहा है जिसके प्रमाण उपलब्ध हैं। यही नहीं हरे पेड़ों के अवैध कटान का संज्ञान लेने वाले मीडिया कर्मियों पर सत्ता का दबाव बनाकर उन्हें धमकाया जा रहा है। अन्य मांग में प्रतिनिधिमण्डल ने कहा है कि मुख्यमंत्री और प्रदेश सरकार नगर निकायों के सीमा विस्तार के मामले में जनभावनाओं के विपरीत काम कर रही है। पूरे प्रदेश में नगर निकायों में शामिल किये जाने वाली ग्राम पंचायतों की जनता द्वारा सीमा विस्तार के पुरजोर विरोध के बावजूद सरकार हटधर्मिता कर रही है। नगर निकायों का सीमा विस्तार कर राज्य सरकार भू माफियाओं के साथ मिलकर इन क्षेत्रों की कृषि भूमि को खुर्द-बुर्द करना चाहती है। नगर निकायों में पूर्व में शामिल किये गये ग्रामीण क्षेत्रों में बिना बुनियादी सुविधायें विकसित किये पुन: सीमा विस्तार किया जाना मात्र सरकार की हठधर्मिता का ही परिचायक है तथा सरकार एक सोची-समझी साजिश के तहत सीमा विस्तार कर रही है जिसका कांग्रेस पार्टी पुरजोर विरोध करती है। नगर निकायों में किये जा रहे सीमा विस्तार से ग्राम पंचायतों का अस्तित्व समान्त हो जायेगा। प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल ने राज्यपाल से  किया है कि उपरोक्त बिन्दुओं पर प्रदेश सरकार को तत्काल कार्रवाई के निर्देश देने का कष्ट करेंगे। 

कांग्रेस प्रतिनिधिमण्डल में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के अलाव पूर्व मंत्री दिनेश अग्रवाल, हीरा सिंह बिष्ट, मंत्री प्रसाद नैथानी, पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण, राजकुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, महामंत्री राजेन्द्र भण्डारी,  गोदावरी थापली, प्रभुलाल बहुगुणा, महानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चौहान, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, प्रवक्ता गरिमा दसौनी, प्रदेश सचिव गिरीश पुनेड़ा, नवीन पयाल, संजय किशोर, अमरजीत सिंह, दीवान सिह तोमर, पंकज मेसोन, शामिल थे।  
 
 

मोटोजी 5एस प्लस अब आकर्षक नए मूल्य में

देहरादून।  आज मोटोरोला ने अपने सर्वाधिक लोकप्रिय मिड-रेंज स्मार्टफोन, मोटो जी5 एस प्लस की कीमतों में 1000 रु$ की कटौती की घोषणा की। इस स्मार्टफोन में शक्ति के साथ खूबसूरती का समावेश है।
इसमें ऑल-मेटल यूनिबॉडी डिज़ाईन के साथ 13 मेगापिक्सल + 13 मेगापिक्सल का ड्युअल रियर कैमरा है, जिसके द्वारा आप प्रोफेशनल दिखने वाले फोटो खींच सकते हैं। मोटो जी5 एस प्लस के मूल्य में 1000 रु$ की कटौती के साथ यह 15,000 रु$ से कम मूल्य की श्रेणी में आ गया है और आपको एक फायदेमंद डिवाईस प्रदान कर रहा है। अपने नए मूल्य के साथ यह स्मार्टफोन केवल 14,999 रु$ में। अमेजन डॉट इन पर तथा देश के सभी मोटोहब स्टोर्स पर उपलब्ध होगा। 
 
 

जश्न साल के जश्न को लेकर सुरक्षा प्रबंध कड़े : डीआईजी

देहरादून। पुष्पक ज्योति पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र द्वारा रेन्ज के समस्त समस्त वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये गये कि 31 दिसम्बर  को अद्र्घ रात्रि से नववर्ष 2018 प्रारम्भ होगा। नर्व वर्ष की पूर्व संध्या पर वर्ष 2017 के समापन के अवसर पर होटलों रेस्तराओ, ढाबों एवं विभिन्न स्थानो पर नववर्ष के स्वागत सम्बन्धी विभिन्न कार्यक्रम व अतिशबाजी का आयोजन विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी किया जाना सम्भावित है। इस अवसर पर युवको द्वारा डिस्को/बार एंव ढाबों पर शराब का अत्याधिक सेवन करने के पश्चात रात्रि में सडक पर तेज गति से वाहन चलाने के कारण मारपीट, छेडखानी व  सडक दुर्घटनाओ के बढने की घटनाये घटित होने की सम्भावना रहती है। जिस कारण ऐसी घटनाओ को रोकने/शान्ति/कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु पुलिस प्रबन्ध किया जाना आवश्यक है। खासकर युवा वर्ग द्वारा शराब पीकर सडकों पर हुंडद्ग  की जाती है, इस दौरान प्रत्येक थाना क्षेत्रों के मुख्य-मुख्य स्थानों पर समुचित पुलिस बल तैनात करने के साथ ही तत्काल सम्बन्धित के खिलाफ कार्रवाही करने के निर्देश दिये गये।
रेन्ज के जनपद देहरादून में घंटाघर, विकासनगर,प्रेमनगर, मसूरी, धनौटी, ऋषिकेश, जनपद पौडी में कोटद्रार, श्रीनगर, लक्ष्मणझूला, पौडी जनपद टिहरी में कीर्तिनगर, देवप्रयाग, नरेद्रनगर, चमबा जनपद- हरिद्वार में हर की पैडी, लक्सर, रुडकी जनपद चमौली में गोपेश्वर,कर्णप्रयाग आदि स्थानों पर शान्ति/कानून व्यवस्था तथा साम्प्रदायिक सौहार्द को प्रभावित करने का प्रयास कर सकते है, समय से समुचित पुलिस व्यवस्था नियुक्ति कर सम्बन्धित क्षेत्राधिकारियों द्वारा ब्रीफ्र करने के निर्देश दिये गये।ÓÓपुलिस उपमहानिरीक्षक द्वारा बताया गया कि पूर्व में ऐसे प्रकरण सामने आये है कि पर्वतीय जनपदों में नवयुवक एवं अन्य व्यक्ति नववर्ष की पूर्व सन्ध्या पर पिकनिक के रूप में जंगलों एवम् वन-विभाग के डाक बगंलों/गेस्ट हाऊस/ दर्शनीय स्थलों पर चले जाते हैं, तथा वहां पर शराब आदि का सेवन करने के साथ ही जंगली जानवारों का शिकार कर वाहनों से वापस लौटते हैं,ऐसे में पर्वतीय मार्गो पर वाहन दुर्घटनाओं की अधिक सम्भावना बनी रहती है। अत: पर्वतीय क्षेत्रों में ऐसे स्थानो को चिन्हित कर वन-विभाग से समन्वय कायम कर समय से सयुंक्त टीम गाठित कर ऐसे स्थानों में तैनात कर दी जाये,ताकि इन स्थानों में आने वाले व्यक्तियों चौकिंग करने के निर्देश दिये गये। साथ ही  जनपद प्रभारियों को निर्देश दिये गये कि सभी होटलों/ढाबों/धर्मशालाओं/सिनेमाघरों/बाजोरों के साथ ही महत्वपूर्ण स्थानों में फायर सर्विस कर्मियों की समय से तैनाती करने के निर्देश दिये गये।  इस अवसर पर भीड़ भरे स्थानों/क्षेत्रों व जिन स्थानों पर अधिक संख्या में जन समूह एकत्रित होगा उन स्थानों पर आंतकवादी/आईएसआई, समर्थित संगठनों/ व्यक्तियों द्वारा कोई घटना किसी भी दशा में न की जा सके। इस हेतु कड़ी सतर्कता, विशेष निगरानी, चौकिंग, एण्टी सबोटांज चौकिंग आदि की कार्यवाही समय से कराने के साथ ही अभी से क्षेत्र में स्थित महत्वपूर्ण संस्थानों/प्रमुख धार्मिक स्थलों/बाजारों/ महत्वपूर्ण पुलों/रेलवे/बस स्टेशनों/हवाई अड्डो/होटलो/धर्मशालाओं/सरायों/सिनेमाघरों एवं भीड-भाड़ वाले स्थानों पर सत्त निगरानी रखते हुये दोपहिया वाहनों पर कड़ी ²ष्टि रखी जायें व अभी से समय-समय पर इनकी कड़ाई से चैकिंग सुनिश्चित कराई जायें। संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर उन स्थानों पर सादे वस्त्रों में निगरानी रखने हेतु नववर्ष की पूर्व संध्या से ही अभिसूचना स्टांफ एवं नागरिक पुलिस को नियुक्त कर दिया जाये। साथ ही मुझे आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि आप नववर्ष आगमन की पूर्व सन्ध्या के अवसर पर अपने अनुभवों, कुशल मार्ग दर्शन/नेतृत्व एवं सु²ढ़ पर्यवेक्षण में उपरोक्तानुसार अपने-अपने जनपदों की परिस्थितियों के अनुसार अपने विवेक से समय पर आवश्यक प्रभावी कार्यवाही करायेंगे तथा इस नववर्ष की पूर्व सन्ध्या पर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों को शान्तिपूर्ण, एवं सौहार्द के वातावरण में सम्पन्न करायेंगे। कानून व्यवस्था, साम्प्रदायिक व जातिगत सद्भाव बनाये रखेंगे तथा किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घटित न होने देने में सफल होंगे। 
 

ओएनजीसी के सीएमडी ने की सीएम से शिष्टाचार भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास में ओएनजीसी के सीएमडी शशी शंकर ने शिष्टाचार भेंट की। मुख्यमंत्री ने ओएनजीसी द्वारा जनहित से संबंधित कार्यों में दिये जा रहे सहयोग की सराहना की। उन्होंने सीएसआर के तहत ओएनजीसी से राज्य के पॉलिटेक्निकलो के लिये तकनीकि सहयोग के साथ ही गौरीकुण्ड से केदारनाथ तक पैदल व घोडे-खच्चरों के लिये संपर्क मार्ग निर्माण में भी सहयोग की अपेक्षा की।
ओएनजीसी के सीएमडी शंकर ने मुख्यमंत्री को ओएनजीसी द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने ओएनजीसी द्वारा संचालित महिला पॉलिटेक्निक को राज्य सरकार के नियंत्रण में लिये जाने का भी अनुरोध किया।  
 

तमन्ना ने जीता गोल्ड मेडल

देहरादून। कानपुर छावनी परिषद में मध्य कमांड लखनऊ के अंतर्गत आने वाले समस्त 24 छावनी परिषदों के विद्यालयों की एथलेटिक खेल प्रतियोगिता में छावनी परिषद क्लेमेंटटाउन के उच्च माध्यमिक विद्यालय की तमन्ना ने सौ मीटर में बेहतर प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल जीता। कैंट बोर्ड क्लेमेंटटाउन अध्यक्ष ब्रिगेडियर सुभाष पनवर ने खिलाडिय़ों को सम्मानित किया।
इसी माह आयोजित इस प्रतियोगिता में क्लेमेंटटाउन बोर्ड स्कूल की तब्बू ने दो सौ मीटर में रजत, चार सौ मीटर रिले रेस में तमन्ना, सवीना, कोमल एवं तब्बू ने नया रिकॉर्ड कायम करते हुए गोल्ड पदक अपने नाम किया। पुरूष वर्ग में मोहम्मद आदिल, ज्वाय कुमार, सन्दीप एवं दिलसाद ने भी छावनी परिषद क्लेमेन्टाउन के लिये पदक जीते। शुक्रवार को देहरादून वापसी के बाद क्लेमेंटटाउन बोर्ड अध्यक्ष सुभाष पनवर एवं सीईओ मोहम्मद समीर इस्लाम ने खिलाडिय़ों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। बोर्ड उपाध्यक्ष सुनील कुमार, पूर्व उपाध्यक्ष व सभासद भुपेन्द्र सिंह कण्डारी आदि ने भी खिलाडिय़ों को बधाई देते हुए भविष्य में और बेहतर खेलने की शुभकामनाएं दी।
 
 

पेयजल के एकीकरण पर 12 को होगा मंथन

देहरादून। एक साथ बैठेंगे शासन, प्रबंधन व कर्मचारी संगठन, डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ को सरकार ने दिया आश्वासन पेयजल के एकीकरण को लेकर शासन में 12 जनवरी को मंथन होगा। पहली बार एकीकरण के मसले पर जल निगम, जल संस्थान के प्रबंधन, शासन के अफसर समेत हर कर्मचारी संगठन के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।
सचिव पेयजल अरविंद सिंह हंयाकी ने शुक्रवार को जल निगम डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ के प्रतिनिधिमंडल को वार्ता में ये आश्वासन दिया। वार्ता में संघ अध्यक्ष रामकुमार ने कहा कि लंबे समय से डंप पड़े एकीकरण के मसले पर नाराजगी जताई। कहा कि कई सालों से एकीकरण को लेकर शासन स्तर पर विचार मंथन चल रहा है। कई कमेटियों का गठन हो चुका है। उन कमेटियों की रिपोर्ट तक आ चुकी है। हर रिपोर्ट में दोनों पेयजल एजेंसियों का एकीकरण करते हुए पेयजल को राजकीय विभाग बनाए जाने की संस्तुति हो चुकी है। इसके बाद भी कोई भी सरकार इस मसले पर अंतिम फैसला नहीं ले पाती।
सचिव ने 12 जनवरी को इस मसले पर विशेष बैठक बुलाए जाने के आदेश दिए। संघ ने डिप्लोमा इंजीनियर्स की लंबे समय से रुकी पदोन्नति पर भी नाराजगी जताई। कहा कि पदोन्नति की प्रक्रिया को लगभग बंद ही कर दिया गया है। ग्रेड पे 4600 का भी लाभ नहीं दिया जा रहा है। आश्वासन दिया गया कि 12 जनवरी तक सम्बन्धित मांगों पर आदेश जारी कर दिए जाएंगे। वार्ता में संघ अध्यक्ष रामकुमार, महासचिव अजय बेलवाल, एके चतुर्वेदी, योगेंद्र सिंह, आरके त्रिपाठी, अरविंद सैनी मौजूद रहे।
 

मिनिस्ट्रीयल कर्मी आज से हड़ताल पर

 देहरादून। प्रमोशन की फाइल लटकाने का आरोप लगाते हुए शिक्षा विभाग के मिनिस्ट्रीयल कर्मचारियों ने शुक्रवार को महानिदेशक आलोक शेखर तिवारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। एजुकेशनल मिनिस्ट्रीयल आफिसर्स एसोसिएशन ने शनिवार से प्रदेश में शिक्षा विभाग के सभी दफ्तरों में तालाबंदी और कार्यबहिष्कार किया जाएगा। हालांकि महानिदेशक ने कल दोपहर तक प्रमोशन लिस्ट से जुड़े विवादों को हल करने का आश्वासन दिया है।
एसोसिएशन के अध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट और प्रांतीय महामंत्री वीरेंद्र सिंह गुंसाई ने बताया कि पूर्व में चार बार विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों से प्रमोशन लिस्ट जारी करने के लिए अनुरोध किया जा चुका है। कार्रवाई न होने की वजह से ही हड़ताल का निर्णय लेना पड़ा है।
यह पहला मौका है जब मिनिस्ट्रीयल कर्मचारियों ने विभागीय मुखिया पर सीधा आरोप लगाते हुए आंदोलन का निर्णय किया है। बिष्ट ने बताया कि विभागीय ढांचे के पुनर्गठन के तहत मिनिस्ट्रीयल कर्मचारियों के प्रमोशन हो रहे हैँ। अक्टूबर में काउंससिंग के जरिए मुख्य प्रशासनिक अधिकारी की प्रमोशन लिस्ट जारी हुई थी। इसके बाद पांच दिसंबर को 320 प्रशासनिक अधिकारी से वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी पद के लिए डीपीसी और काउंसलिंग हो चुकी है। पर, लिस्ट जारी नहीं की जा रही है। इस बारे में महानिदेशक को कई बार बताया जा चुका है। ऐसोसिएशन की देहरादून शाखा के के सचिव प्रवीण कुमार 29 दिसंबर तक लिस्ट जारी न होने पर शिक्षा निदेशालय परिसर में आत्मदाह करने की चेतावनी दे चुके हैँ। कर्मचारियों के आक्रामक रुख को देखते हुए शिक्षा अधिकारियों में हडक़प हैँ।
दूसरी तरफ, महानिदेशक ने बताया कि मिनिस्ट्रीयल कर्मचारियों की प्रमोशन लिस्ट पर कुछ कर्मचारियों ने आपत्ति की थी। उनका आरोप है कि कुछ लोगों को नाम इस प्रमोशन में जानबूझकर छोड़ दिए गए हैं। इसकी जांच की जिम्मेदारी अपर निदेशक को दी गई थी। एक भारत-श्रेष्ठ भारत अभियान की व्यस्तता की वजह से वो इसे संभवत देख नहीं पाईं। कल शनिवार को इस लिस्ट को अंतिम बार जांच लिया जाएगा। कर्मचारी आश्वस्त रहें, किसी के हित प्रभावित नहीं होने दिए जाएंगे। विभागीय सचिव को इसकी जानकारी दी चुकी है।
 

मुख्यमंत्री राहत कोष के चैक वितरित किए

देहरादून। विधायक गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र के सुवाखोली में मुख्यमंत्री राहत कोष के 8 चैकों का वितरण किया। विगत बरसात के समय चलचला गांव में बादल फटने से कई लोग बेघर हो गये थे, जिसके बाद मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर विधायक जोशी ने सभी पीडि़त परिवारों को प्रशासन से फौरी तौर पर राहत प्रदान करवाई गई थी और सभी परिवारों को मुख्यमंत्री राहत कोष से आर्थिक मदद दिये जाने की घोषणा भी की थी। मुख्यमंत्री रावत ने भी स्वयं 2 सितम्बर को मसूरी के शहीद स्मारक से पीडि़त परिवारों को 25-25 हजार की राहत राशि प्रदान किये जाने की घोषणा की थी। 
आर्थिक सहायता पाने वालो में हुकुम सिंह पुत्र इन्दर सिंह, जगत सिंह पुत्र उत्तम सिंह, आशा देवी पत्नी गम्भीर सिंह, कुन्दर सिंह पुत्र कृपाल सिंह, चन्दन सिंह पुत्र मोहर सिंह, दीवान सिंह पुत्र मान सिंह, बसंती देवी पत्नी शेर सिंह एवं महेन्द्र सिंह पुत्र कुवंर सिंह को 25-25 हजार की राशि के चैक प्रदान किये। सभी पीडि़त परिवारों ने विधायक जोशी एवं मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का आभार प्रकट किया। विधायक गणेश जोशी ने अनौपचारित तौर पर कार्यकर्ताओं से मुलाकात करते हुए कहा कि भाजपा सरकार गरीबों के हितों के लिए लगातार कार्य कर रही है। सरकार द्वारा गरीबों के हितों को ध्यान में रखते हुए किसानों को कृषि ऋण वितरित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री एवं केन्द्रीय मंत्री भी इस मुहिम में स्वयं शामिल होकर किसानों के हितों के लिए कार्य कर रही है। इस अवसर पर अनुज कौशल, जयपाल भण्डारी, अनुज रोहिला, घनश्याम नेगी, अरविन्द तोपवाल, जगदीश पयाल, सुन्दर सिंह पयाल, मोहन सिंह नेगी, राम सिंह आदि उपस्थित रहे।
 

गुरिल्लाओं ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

 देहरादून। एसएसबी स्वयं सेवक कल्याण समिति के बैनर तले प्रशिक्षित गुरिल्लाओं ने शुक्रवार को परेड ग्राउंड घरना स्थल पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही अपनी विभिन्न मांगों को लेकर रोष भी व्यक्त किया।
धरना स्थल पर गुरिल्लाओं को संबोधित करते हुए समिति के केंद्रीय अध्यक्ष ब्रहृमानंद डालाकोटी ने कहा कि वह लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन सरकार उनकी मांगों की ओर कोई भी ध्यान नहीं दे रही। जब तक सरकार गुरिल्लाओं को इको टास्क फोर्स का गठन, होमगार्ड, आपदा प्रबंधन, लोक निर्माण विभाग में नियुक्ति प्रदान नहीं करती है वह धरना स्थल पर अपना आंदोलन जारी रखेंगे। इस मौके पर रमेश लखेड़ा, फते सिंह रावत, मोहन सिंह पंवार, देवेश्वरी चमोली, सीता देवी, अनिता नौटियाल आदि मौजूद रहे।
 

राजधानी गैरसैंण को लेकर सरकार कर रही गुमराह: विजय

देहरादून उत्तराखंड पर्वतीय विकास मंच ने गैरसैंण को राजधानी बनाने के लिए विभिन्न संगठनों को एकजुट होने के लिए कहा है। कहा कि राजधानी गैरसैंण की लड़ाई मिलकर लड़ी जाएगी।
शुक्रवार को उज्जवल रेंस्तरां में पत्रकार वार्ता के दौरान मंच के अध्यक्ष विजय बौड़ाई ने कहा कि सरकार राजधानी के मुद्दे को लेकर जनता को गुमराह करने का कार्य कर रही है। राजधानी गैरसैंण की मांग के लिए हाल ही में विभिन्न संगठन आगे आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी को मिलकर यह मांग उठाई जानी चाहिए। इसके लिए मंच सभी संगठन के पास जाकर राजधानी गैरसैंण को राजधानी बनाने की मांग करेगा। कहा कि गैरसैंण में राजधानी बनने से युवाओं को रोजगार के साथ- साथ अन्य सुविधाएं भी क्षेत्र में विकासित होंगी। स्मार्ट सिटी देहरादून ही नहीं गैरसैंण जैसे क्षेत्र के लिए भी बनाई जानी चाहिए। वहीं मंच ने विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों के लिए सरकार द्वारा छह माह के ब्रिज कोर्स की अनिवार्यता का विरोध किया। कहा कि इन शिक्षकों को प्रशिक्षण से ज्यादा अनुभव है, ऐसे में ब्रिज कोर्स लागू ना किया जाए। पत्रकार वार्ता में एसडी पंत, प्रह्लाद सिंह बिष्ट, जेएस असवाल, मनोज कुमार मिश्रा, भरत सिंह राणा, राजेन्द्र कुमासर देशवाल, मानवेंद्र सिंह रावत, गिरीश सनवाल, प्रदीप रावत भानु आदि मौजूद रहे।
 

10 से कम छात्रों की संख्या वाले सरकारी स्कूल होगें बंद

देहरादून। शिक्षा महकमें ने राज्य की शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने की कवायद तेज कर दी गई है। सरकार पहले ही 10 से कम छात्रों की संख्या वाले सरकारी स्कूलों को बंद करने का निर्णय ले चुकी है। इसी कड़ी में अगले शिक्षा सत्र से राज्य के करीब 254 स्कूल बंद कर दिए जाएंगे। इसके लिए शून्य छात्र संख्या वाले स्कूलों के समायोजन का खाका तैयार कर लिया है। अब जल्द ही ऐसे प्राथमिक, माध्यमिक स्कूलों के अलावा हाई स्कूल, इंटर मीडिएट कॉलेजों के विलय की भी प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी।
विदित है कि राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के मकसद से कम छात्रों वाले स्कूलों को बंद कर उन्हें समायोजित करने के निर्देश दिए थे। अब शिक्षा विभाग ने इस पर कार्रवाई तेज कर दी है।  बताया जा रहा है कि नए साल यानि अप्रैल के पहले चरण में चिह्नित किए गए 254 स्कूलों का विलय हो जाएगा। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के करीब 20 हजार स्कूलों में से लगभग तीन हजार स्कूलों को विलय के लिए चुना गया है। बता दें कि पहाड़ी इलाकों में कई ऐसे स्कूल हैं जहां कक्षा एक से लेकर 12 तक के बच्चों को एक ही स्कूल में समायोजित किया जाएगा। एक किलोमीटर के दायरे में आने वाले बेसिक और तीन किलोमीटर के दायरे में आने वाले जूनियर हाईस्कूल के अलावा पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले हाईस्कूलों का समायोजन किया जाएगा। पिछले दिनों शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलों के समायोजन के लिए सर्वे कराया गया था। सर्वे रिपोर्ट आने के बाद विभाग ने स्कूलों के विलयीकरण को शुरू करने का फैसला लिया है। शिक्षा निदेशक आरके कुंवर के अनुसार अप्रैल में पहले चरण की विलयीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।  
 

नवनियुक्त 14 अधिकारियों की हुई तैनाती

देहरादून । राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) महिला सशक्तिकरण बाल विकास एवं पशुपालन मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने बताया कि बाल विकास विभाग के अन्तर्गत लोक सेवा आयोग से चयनित नवनियुक्त बाल विकास परियोजना अधिकारियों में से 14 अधिकारियों की तैनाती कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि अधिकांश अधिकारियों को पर्वतीय जनपदों में तैनात किया गया है।  राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास श्रीमती रेखा आर्या ने आशा व्यक्त की कि विभाग को नये अधिकारी मिलने से विभागीय योजनाओं को त्वरित गति से संचालित कराया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से जन्म से 06 वर्ष तक की आयु के बच्चे एवं गर्भवती/धात्री महिलाएं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं से लाभान्वित हो सकेंगी।
उन्होंने यह भी बताया है कि पशुपालन विभाग में 15 पशुचिकित्सा फार्मेसिस्टों की मुख्य पशुचिकित्सा फार्मेसिस्ट के पद पर पदोन्नति कर दी गयी है। श्रीमती आर्या ने बताया कि जनपदों में पशुपालकों की समस्याओं का त्वरित गति से निस्तारण करने हेतु एवं राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ प्रत्येक पशुपालक को मिल सकें, इसलिए पदोन्नत अधिकांश मुख्य पशुचिकित्सा फार्मेसिस्टों को भी पर्वतीय जनपदों में तैनाती दी गयी है। उन्होंने कहा कि इससे पर्वतीय जनपदों के पशुपालकों को अत्याधिक लाभ मिल सकेगा।  
 

यातायात एवं शान्ति व्यवस्था के सम्बन्ध में बैठक आयोजित

देहरादून। अशोक कुमार,अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड  की अध्यक्षता में आज नव वर्ष पर जनपद देहरादून में यातायात एवं शान्ति व्यवस्था के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गयी, जिसमें पुष्पक ज्योति, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र, केवल खुराना, प्रभारी निदेशक यातायात, श्रीमती निवेदिता कुकरेती, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, देहरादून, धीरेन्द्र गुंज्याल, पुलिस अधीक्षक यातायात, देहरादून, प्रदीप कुमार राय, पुलिस अधीक्षक नगर, देहरादून उपस्थित रहे।
अशोक कुमार ने बताया की नववर्ष के दृष्टिगत अभी से ही पर्याप्त पुलिस प्रबन्ध कर लिया गया है तथा यातायात योजना बना ली गयी है। किसी भी दशा में हुड़दंग व ड्रंकन ड्राइविंग करने वाले को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। शहर में जगह-जगह पर एल्कोमीटर के साथ चैकिंग की जा रही है, 28 दिसम्बर को  480 लोगों के मोटरयान अधिनियम की विभिन्न धाराओं के अन्तर्गत चालान किये गये हैं। जाम से निपटने के लिये वैकल्पिक मार्गों का चिन्हिकरण कर लिया गया है, जिनका उपयोग किसी भी क्षेत्र में यातायात दबाव बनने पर किया जायेगा।
मसूरी के रास्ते में लगने वाले जाम से निपटने के लिये हाथीपांव तथा झड़ीपानी वैकल्पिक मार्गों का उपयोग भी किया जायेगा। मसूरी में पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था भी की गयी है। रास्ते में फसी गाडियों को हटाने हेतु क्रेन एवं अतिरिक्त चालक भी नियुक्त किये गये है। अशोक कुमार द्वारा यह भी कहा कि नववर्ष के अवसर पर आयोजित पार्टियों में ड्रग्स का सेवन बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। लोगों से अनुरोध है कि नववर्ष शालीनतपूर्वक हर्षोल्लास से मनायें एवं  नशे का सेवन करके सड़कों पर न आये। यदि कहीं पर ड्रग्स का उपयोग करना प्रकाश में आता है तो आप उक्त सूचना व्हट्स एप नम्बर-8755721002 पर भी भेज सकते हैं।
 

मुख्य सचिव ने विजेताओं को प्रदान किए मेडल

देहरादून। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने शुक्रवार को महाराणा प्रताप स्पोट्र्स कॉलेज में 66वें अखिल भारतीय पुलिस चैंपियनशिप के विजेताओं को मेडल प्रदान किया। इसके बाद अपने संबोधन में उन्होंने कहा की उत्तराखण्ड पहली बार अखिल भारतीय पुलिस चैंपियनशिप की मेजबानी कर रहा है। यह उत्तराखण्ड के लिए गौरव की बात है। इस सफल आयोजन के लिए उन्होंने उत्तराखण्ड पुलिस को बधाई दी। कहा कि राज्य के डीजीपी खुद भी राष्ट्रीय स्तर के एथलीट रहे हैं। इसलिए उम्मीद की जानी चाहिए कि पुलिस बल में खेल प्रतिभा को बढ़ावा मिलेगा। मुख्य सचिव ने 25 राज्यों और 07 केंद्रीय बलों से प्रतिभाग करने वाली सभी 32 टीमों को बधाई दी। आशा व्यक्त की कि इनमें से कईं एथलीट अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे। इससे पहले एडीजी लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार ने मुख्य सचिव का स्वागत किया और चैंपियनशिप के बारे में जानकारी दी।
इस अवसर पर डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी, सचिव खेल श्रीमती भूपिंदर कौर औलख, डी.आई.जी.  पुष्पक ज्योति, अपर सचिव खेल श्रीमती विम्मी सचदेव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
 

वन विभाग ने पकड़े दो गुलदार

देहरादून। रायवाला क्षेत्र में आतंक का पर्याय बने आदमखोर दो गुलदारों को पकडऩे में वन विभाग की टीम ने कामयाबी पाई है। इनमें एक नर व एक मादा गुलदार है। 
शुक्रवार सुबह वन विभाग की टीम ने मोतीचूर रेंज के डांडा बीट में खांड गांव के पास एक नर गुलदार को ट्रेंकुलाइज कर पकड़ा। उस वक्त गुलदार गांव की सीमा के पास एक मवेशी पर हमला करने के लिए घात लगाकर बैठा था। तभी वहां मौजूद वन कर्मियों की टीम को इसका पता चला। उन्होंने गुलदार को घेर कर ट्रेंकुलाइज किया। फिर उसे रेंज परिसर में लाया गया। वन कर्मियों के मुताबिक पकड़े गए गुलदार की उम्र आठ वर्ष के करीब है। 
वहीं सत्यनारायण सेक्शन में मंदिर के पीछे लगाए गए पिंजरे में एक मादा मादा गुलजार कैद हुई है। गश्त पर निकली वन कर्मियों की टीम ने उसे पिंजरे में फंसे देखा। इस गुलदार को भी मोतीचूर रेंज लाया गया जहां से दोनों को चीला रेंज ले जाया गया है। मादा गुलदार की उम्र करीब सात वर्ष बताई जा रही है। वन्य जीव प्रतिपालक प्रदीप कुमार ने बताया कि पकड़े गए गुलदार नरभक्षी हैं या नहीं, अभी इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।
 

सैनानी मंच ने किया सीएम आवास कूच

देहरादून।  उत्तराखंड राज्य सैनानी मंच ने सात सूत्रीय मांग को लेकर सीएम आवास कूच किया। परेड ग्राउंड से सैकड़ो की संख्या में आदोंलनकारी जुलूस के शक्ल में रवाना हुए और प्रदर्शन करने लगे। प्रदर्शनकारियों ने सरकार को इस विषय में सात सूत्रीय मांगपत्र भी सौपा। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करते हुए प्रेम सिंह नेगी ने कहा कि उत्तराखंउ राज्य निर्माण सैनानी मंच के 186 दिन से लगातार सात सूत्रीय मांग को लेकर सरकार से मांग कर रहा है।कई बार जिलाधिकारी कार्यालय में प्रदर्शन कर उनकी मांगो के निराकरण की मांग की जा चुकी है। इसके बाद भी विभाग कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है।
उन्होंने कहा मांग की कि आंदोलनकारियों की रूकी हुई चिन्हिकरण की प्रक्रिया को तत्काल प्रभार से 2008 में जारी शासनादेश के अनुरूप चिन्हिकरण किया जाए। समूचे उत्तराखंड आर्थिक आधार पर आरक्षण सुनिश्चित किया जाए। रामपुर तिराहे के दोषियों को सजा दिलवाने के लिए द्वारा मजबूती से पैरवी की जाये। राज्य आंदोलनकारियों को उत्तराखंड राज्य निर्माण सैनानी का दर्जा दिया जाए। सैनानियों के आश्रितों को रोजगार में समायोजित किया जाए। सीमावर्ती जिलों से पलायन रोकने के शिक्षा , चिकित्सा एंव रोजगार के लिए उचित व्यवस्था की जाये। प्रत्येक जिला मुख्यालयों में शहीद  स्मारकों का निर्माण किया जाए। प्रत्येक जिला मुख्यालयों में शहीद स्मारकों निर्माण किया जाए। इउन्होंने कहा कि इस विषय में कोई कार्यवाही न होने पर आंदोलनकारी अपना आंदोलन उग्र करेंगे। इस दौरान बिमला भटट, सुशीला नेगी, पार्वती कुकरेती, हरी रावत, यमुना खत्री, कुुसुम देवी, पार्वती रावत, प्रभात डंडरियाल समेत कई लोग शामिल थे। 
 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा नगर निगमो, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों में मनमाने ढंग से किये गये सीमा विस्तार परिसीमन के विरोध में आज लगातार 5वें दिन प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में देहरादून के गांधी पार्क में धरना कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 
धरना स्थल पर उपस्थित कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री और प्रदेश सरकार जनभावनाओं के विपरीत काम कर रही है। पूरे प्रदेश में नगर निकायों में शामिल किये जाने वाली ग्राम पंचायतों की जनता द्वारा सीमा विस्तार के पुरजोर विरोध के बावजूद सरकार हटधर्मिता कर रही है। सीमाविस्तार के पीछे सरकार की कुदृष्टि ग्राम पंचायतों की भूमि पर है। नगर निकायों में पूर्व में शामिल किये गये ग्रामीण क्षेत्रों में बिना बुनियादी सुविधायें विकसित किये पुन: सीमा विस्तार किया जाना मात्र सरकार की हठधर्मिता का ही परिचायक है। उन्होंने कहा कि सरकार एक सोची-समझी साजिश के तहत सीमा विस्तार कर रही है जिसका कांग्रेस पार्टी पुरजोर विरोध करती है। प्रीतम सिंह ने उत्तराखण्ड सरकार के खेल मंत्री अरविन्द पाण्डे द्वारा खेल संघों के बारे में की गई अनर्गल बयानबाजी की भर्तसना करते हुए कहा कि राज्य सरकार के खेल मंत्री द्वारा बिना किसी तथ्य के बयान देकर वर्तमान महिला खिलाडियों के साथ-साथ उन महिला खिलाडियों के परिवारों में भी दरार डालने का काम किया है जिसकी कांग्रेस पार्टी कड़े शब्दों में निन्दा करती है। उन्होंने कहा कि इस मामले में सरकार के मुखिया को अपने मंत्रिमण्डल सहयोगी के खेल संघ पदाधिकारियों और महिला खिलाडियों पर दिये गये बयान पर सरकार की स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।  
धरने में पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी, प्रदेष उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, महामंत्री नवीन जोशी, राजेन्द्र सिंह भण्डारी, सुरेन्द्र रांगड़, गोदावरी थापली, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक राजेन्द्र शाह, विजय सारस्वत, डॉ0 संजय पालीवाल, महन्त विनय सारस्वतमहानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चैहान, प्रवक्ता डॉ0 आर.पी. रतूड़ी, गरिमा दसौनी, हरिकृश्ण भट्ट, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द षर्मा, संजय किषोर, दीप बोहरा, सुनील जायसवाल, महेश जोशी, सूरत ंिसह नेगी, राजेश शर्मा, राजेश चमोली, भरत षर्मा, गिरीष पुनेड़ा, नवीन पयाल, राजेष पाण्डे, अभिनव थापर, रीता पुश्प्वाण, जगदीष धीमान, प्रभुलाल बहुगुणा, देवेन्द्र बुटोला, षांति रावत, प्रणीता बड़ोनी, जितेन्द्र बिश्ट, कमलेष रमन, पुश्पा पंवार, चन्द्रकला नेगी, अल्पसंख्यक के ताहिर अली,पूर्व सैनिक के कै0 बलवीर सिंह रावत, एनएसयूआई के श्याम सिंह चैहान, आईटी के अमरजीत सिंह, सुनित राठौर, श्यामलाल आर्य, यशपाल चैहान, नन्दन सिह घुगत्याल, आदित्य पण्डित, धर्म सिंह पंवार, भरत चन्द रमोला, मोहन काला, सुलेमान अली, ताबी खान, नवीन रमोला, भूपेन्द्र नेगी, मदन कोहली, इशिता सेढ़ा, दिवान सिंह तोमर, सेवादल के कुंवर सिंह यादव, सावित्री थापा, बीना थापा, डिंपल षैली, उद्धिमा टोलिया, राजकुमारी क्षेत्री, लता सिंह, सुषीला देसाई, कविता, रेणु नेगी, अनुज षर्मा, बाला षर्मा,  बसन्त पन्त, मनीश नागपाल, पंकज मेसोन, दिनेष गौड सुधीर सुनेरा, किषन लाल षर्मा, शोभाराम, टीकाराम पाण्डेय, नेमचन्द, अनूप पासी, चन्दन लाल, पुश्पा देवी, सावित्री पंत, कान्ता गर्ग, सत्येन्द्र पंवार, श्रवण रजौरिया, अनुराधा तिवारी, जोध ंिसह रावत, आदि सैकड़ों कांग्रेसजन उपस्थित थे।
 

यूनियन ने की छात्र-छात्राओं की सहायता

देहरादून। कैनरा बैंक इम्प्लाइज यूनियन ने जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को जूते- जुराबे व फल वितरित किए।  राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय  में आयोजित कार्यक्रम के दौरान यूनियन ने जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को सामाजिक सहभागिता कार्यक्रम के तहत जरूरी सामान वितरित किया। इसदौरान उत्तराखंड बैंक इम्प्लाईज यूनियन के प्रदेश महामंत्री कामरेड जगमोहन मेंहदीरत्ता ने मुख्य अतिथि के तौर पर सामान वितरित किया।
इस दौरान कैनरा बैक इम्प्लाईज यूनियन के प्रदेश सचिव मुरारीलाल नौटियाल ने बताया कि हमारे संगठन का मुख्य उद्देश्य जरूरतमंदों की सहायता करना है। उन्होंन कहा कि हर 15 वर्षे से हर साल यह कार्यक्रम कर बच्चों की मदद करते है। इस दौरान एच एस उनियाल, ओम प्रकाश मौर्य, दर्शन लाल उनियाल , कविता तडियाल, शौर्य भटट, विजय कुमार गुन्ता समेत कई लोग मौजूद थै। 
 

दस दिनों से लापता किशोरी बरामद

विकासनगर। कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत दस दिनों से लापता किशोरी को पुलिस ने बरामद कर दिया है। किशोरी का अपहरण कर उसके साथ दुराचार करने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर उसके खिलाफ अपहरण के मुकदमे को दुरचार व पोक्सो एक्ट में तरमीम कर दिया है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया। जहां से आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।सत्रह वर्षीय किशोरी के पिता ने विकासनगर कोतवाली में 21 दिसंबर को तहरीर दी थी। किशोरी के पिता ने आरोप लगाया था कि गांव में उसके पडोस में रहने वाला एक युवक विक्की पुत्र मेघवाल उसकी नाबालिग बेटी को 18 दिसंबर को बहला फुसला कर भगा ले गया है। जिस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर किशोरी व आरोपी युवक की तलाश शुरू की।
मुखबिर पुलिस को युवक व किशोरी की भगवानपुर हरिद्वार में होने की सूचना दी। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने किशोरी को आरोपी के भगवानपुर स्थित किराये के मकान से बरामद कर आरोपी युवक विक्की को गिरफ्तार किया है। चौकी प्रभारी कुल्हाल अरविंद कुमार चौधरी ने बताया कि किशोरी ने अपने बयानों में बताया कि आरोपी युवक विक्की उसे घर से ले जाने के बाद से लगातार दुराचार करता रहा है। किशोरी का मेडिकल कराने पर भी दुराचार की पुष्टि हुई है। चौकी प्रभारी अरविंद कुमार चौधरी ने बताया आरोपी विक्की के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दुराचार में तरमीम कर दिया। बताया कि आरोपी युवक को कोर्ट में पेश किया गया है जहां से उसे जेल भेज दिया है। बताया कि किशोरी गुरुवार को किशोरी के मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।
 
 

 

किसान गोष्ठी का आयोजन

विकासनगर। उद्यान विभाग की ओर से चकराता ब्लॉक के कांडोईभरम गांव में किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें उद्यान विभाग के अधिकारियों ने किसानों को सरकारी योजनाओं की जानकारी के साथ पॉलीहाउस खेती व बागवानी से संबंधित अन्य अहम जानकारी दी। कांडोईभरम गांव में आयोजित किसान गोष्ठी में बुल्हाड, गोरछा, कुनवा, पिंगुवा, ठारठा, पुनिंग, कांडोई, कावा खेडा आदि दर्जनों गांवों से किसानों व बागवानों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। उद्यान विभाग अधिकारी चंद्र सिंह पखोली ने गोष्ठी में किसानों को जानकारी देते हुए बताया कि फसल विविधिकरण योजना के तहत प्रदेश सरकार ने विभिन्न्न अनुदान योजनाएं चलाई हुई हैं, जिनका किसानों को लाभ उठाना चाहिए।
सरकार फसलों व बागवानी को बढ़ावा देने के लिए पचास फीसदी अनुदान पर आर्थिक सहयोग तक कर रही है। उन्होंने किसानों व बागवानों को फल व फलों की फसलों से ज्यादा, लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित भी किया। केन्द्र प्रभारी धीर सिंह चौधरी ने किसानों को बताया कि क्षेत्र में बागवानी की अपार संभावाएं हैं। कम जमीन में बागवानी की खेती अपनाकर किसान अपनी आर्थिकी सुधार सकते हैं। इस मौके पर एडीओ सुरेन्द्र सिंह चौहान, रितुराज सिंह पुंडीर, फूलो देवी, धन सिंह चौहान, रतिया, चंदराम नौटियाल, पीएस रौथाण, आत्मूदास आदि मौजूद रहे।
 
 

पुराण कथा सुनने उमड़े श्रद्धालु

विकासनगर। प्राचीन शिव शक्ति मंदिर राजावाला में चल रही नरसिंह पुराण कथा के दूसरे दिन कथा व्यास ने मार्कंडेय ऋषि व भगवान नर सिंह अवतार की कथा सुनाई। दूसरे दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु कथा सुनने पहुंचे। मंदिर परिसर में चल रही कथा के दूसरे दिन की शुरुआत कथा व्यास ने मार्कंडेय ऋषि की कथा से की। उन्होंने श्रद्धालुओं को मार्केडेय ऋषि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने नर सिंह अवतार की कथा सुनाई। बताया कि अग्नि पुराण में वर्णित कथाओं के अनुसार भक्त प्रहलाद की रक्षा करने के लिए भगवान विष्णु ने नरसिंह रूप में अवतार लिया था।
कथा में चंद्रमोहन गैरोला, चंपा नेगी प्रेमलता बुटोला, कमला कंडारी, देवेश डिमरी, सुरेश डंगवाल, नीरज पंत, अशोक वशिष्ठ, रमेश डिमरी, जगमोहन राणा, देव सिंह रावत, विजय पाल सिंह नेगी, वीरेंद्र सिंह नेगी, जगमोहन सिंह, शरद नेगी, यशपाल सिंह नेगी आदि श्रद्धालु मौजूद रहे।
 
 
 
 

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मनाया स्थापना दिवस

विकासनगर। कांग्रेस कमेटी कार्यकर्ताओं ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का 133 वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास से मनाया। मुख्य बाजार स्थित तिलक भवन में कांग्रेस नेता नवप्रभात ने ध्वजारोहण किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के गौरवशाली एतिहास पर भी प्रकाश डाला। स्थापना दिवस कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। पूर्व काबिना मंत्री नवप्रभात ने कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए कार्यकर्ताओं से एकजुट होने की अपील की। इस दौरान उन्होंने पार्टी के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कांग्रेस देश की सबसे पुरानी और बड़ी राजनीतिक पार्टी है।
इसकी स्थापना 1885 में एओ ह्यूम और सुरेंद्र नाथ बैनर्जी ने की। पार्टी का पहला अधिवेशन महाराष्ट्र में हुआ। कांग्रेस ने देश को कई प्रधानमंत्री दिए और करीब 7 दशक तक देश का नेतृत्व भी किया। कहा कि कांग्रेस की गौरवशाली भूमिका रही है। कांग्रेस ने आजादी की लड़ाई से लेकर आजादी के बाद देश के पुर्ननिर्माण में जो भूमिका निभाई है, वह हम सभी के लिए प्रेरणा व ऊर्जा का स्रोत है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को ईमानदारी से पार्टी की मजबूती के लिए काम करने का आह्वान किया, और लोगों की समस्याएं हल करने के लिए आगे आने की अपील की। कहा कि काग्रेस ने हमेशा से गरीब व दबे हुए लोगों की आवाज उठाई है। इसलिए निस्वार्थ होकर पार्टी के लिए काम करें। उन्होंने मौजूदा केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों को जनता के सामने ले जाने को कहा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी ओर अधिक मजबूत बनाने की बात कही। इस मौके पर प्रदेश महामंत्री संजय जैन, पूर्व पालिकाध्यक्ष नीरज अग्रवाल, प्रदेश सचिव संजय किशोर महेन्द्रु, कुंवर पाल सिंह, यश शर्मा, फईम, अनुपम कपिल, हेमचंद सकलानी, सोमेन्द्र टंडन, मुनीर अहमद, मधुकर महावर, प्रेम प्रकाश अग्रवाल, पूरण केष्टवाल, साहिल पठान, आकाश आजाद, कविता चौहान, हिमकर गुप्ता, शमशाद अहमद, संजय गुप्ता, जगत सिंह नेगी आदि मौजूद रहे।
 

युवा सेना ने सलमान और शिल्पा के पोस्टर जलाए

देहरादून। फिल्म टाइगर जिंदा है के प्रमोशन को लेकर अभिनेता सलमान खान के बयान के खिलाफ युवा सेना ने सलमान और शिल्पा सेट्टी के पोस्टर जलाए।
गुरुवार को युवा सेना के जिलाध्यक्ष सचिन दीक्षित के नेतृत्व में कार्यकर्ता लैंसडौन चौक पहुंचे। इसके बाद सलमान खान और शिल्पा सेट्टी के चित्रों पर स्याही पोती गई। साथ ही दोनों के पोस्टर जलाए गए। कार्यकर्ताओं ने कहा कि अभिनेता सलमान खान का वाल्मीकि समाज को लेकर जातिसूचकर शब्दों का प्रयोग कर दिया गया बयान गलत है। युवा सेना इसका विरोध करती है। सचिन दीक्षित ने कहा कि यदि सलमान और शिल्पा सेट्टी ने वाल्मीकि समाज से माफी नहीं मांगी तो युवा सेना दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग उठाएगी।
कहा कि पूर्व में भी नेताओं ने दलित समाज के प्रति विवादास्पद बनाए दिए हैं। यदि यही हाल रहा तो युवा सेना सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होगी। इस दौरान प्यारा सिंह, मोनू कुमार, मोहम्मद हनीफ, लक्की नाथ कुमार, सिंघम नाथ, कुलदीप कुमार, प्रमोद कुमार, राजेश कुमार, टिंकू, संदीन कुमार आदि मौजूद रहे।
 
 
 

चार नगर निकायों चुनाव अप्रैल में होंगे

देहरादून। प्रदेश में नगर निकायों के चुनाव अप्रैल अंत तक होंगे। कुल 92 में से 88 निकायों में चुनाव होंगे। गंगोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ में मनोनीत बोर्ड होने और अल्मोड़ा के भतरौजखान नगर पंचायत का मामला कोर्ट में लंबित होने के चलते यहां चुनाव नहीं होंगे।
गुरुवार को विधानसभा में पत्रकारों से बात करते हुए शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि सरकार के स्तर पर निकाय चुनाव से पहले की तैयारी तेजी से चल रही है। कुल 80 निकायों में वार्ड परिसीमन का काम पूरा हो चुका है। देहरादून नगर निगम में वार्ड परिसीमन का काम एक दो दिन में होने की उम्मीद है। जबकि डोईवाला, उत्तरकाशी, बाजपुर, अल्मोडा, लालकुंआ, रुड़की, काशीपुर में अगले एक सप्ताह के अंदर यह काम पूरा हो जाएगा। कांग्रेस द्वारा ईवीएम पर सवाल उठाए जाने पर कौशिक ने कहा कि चुनाव ईवीएम पर होंगे या बैलेट पेपर पर यह तय करना निर्वाचन आयोग का काम है। कांग्रेस अपनी हार को देखते हुए पहले से ही बहाने बना रही है।
 
 
 

10 सदस्यीय दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को न्यू कैंट रोड स्थित मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय परिसर से फोरम अफ अवेयरनेस नेशनल सिक्योरिटी (फैन्स) के 10 सदस्यीय दल को हरी झंडी दिखाकर अंडमान-निकोबार के लिए रवाना किया तथा दल के सदस्यों को शुभकामनाएं दी।
दल के ग्रुप लीडर कैप्टन भूपेश कुमार ने बताया कि 30 दिसंबर को उनका दल अंडमान निकोबार में आयोजित होने वाले स्वराज समूह नमन यात्रा में उत्तराखण्ड का प्रतिनिधित्व करेगा। अंडमान निकोबार में इस दिन देश भर से विभिन्न राज्यों के हजारो प्रतिनिधि शामिल होंगे। उत्तराखण्ड द्वारा पिछले 03 वर्षों से इस कार्यक्रम में प्रतिभाग किया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी  धीरेंद्र पंवार, फोरम अफ अवेयरनेस नेशनल सिक्योरिटी के उत्तराखण्ड प्रभारी दलजीत सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित थे।
 

डैयरी फैडरेशन के वार्षिक सामान्य निकाय अधिवेशन में सीएम ने किया प्रतिभाग

देहरादून। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिह रावत ने गुरूवार को रिंग रोड स्थित किसान भवन में डैयरी फैडरेशन के वार्षिक सामान्य निकाय अधिवेशन में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि प्रदेश में दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के लिए पिछले 09 माह में ठोस प्रयास किये गये हैं। प्रदेश में दुग्ध उत्पादन में वृद्घि के लिए प्रदेश के बाहरी राज्यों से गायों की खरीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि दुग्ध व्यवसाय के लिए हमेशा अच्छा बाजार मूल्य उपलब्ध रहता है। यह ऐसा उत्पाद है, जिसकी आवश्यकता हमेशा बनी रहती है। उन्होंने कहा कि अधिक दुग्ध उत्पादन से जहां किसानों की अच्छी आमदनी होगी, वहीं नई पीढ़ी को उत्तम दुग्ध से स्वास्थ्य लाभ भी मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पशु आहार में प्रति क्विंटल 80 रूपये की कमी की जायेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने गंगा गाय योजना के तहत 02 महिला पशुपालको को गाय भेंट की एवं 02 महिलाओं को गाय खरीदने के लिए 40-40 हजार रूपये के चैक प्रदान किये। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड सहकारी फेडरेशन लि$ की पत्रिका का विमोचन भी किया।
कार्यक्रम में डेयरी विकास मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि पिछले 09 माह में प्रदेश में दुग्ध उत्पादन प्रतिदिन01 लाख 09 हजार लीटर से बढ़कर सवा दो लाख लीटर तक हुआ है। उन्होंने कहा कि जनवरी, 2018 में मुख्यमंत्री कामधेनु डेयरी योजना की शुरूआत की जायेगी। किसान कल्याण योजना के तहत 22 हजार कृषकों ने पशुपालन के लिए ऋण लिया है। यह आने वाले समय में दुग्ध उत्पादन में वृद्घि के लिए अच्छे संकेत हैं।
इस अवसर पर दुग्ध फेडरेशन के अध्यक्ष राजबीर सिंह, यू$सी$एफ के चैयरमेन धनश्याम नौटियाल एवं दुग्ध संघ के अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।
 

वन अनुसंधान संस्थान में शोध संगोष्ठी आयोजित

देहरादून। वन अनुसंधान संस्थान, देहरादून द्वारा आयोजित वानिकी में बायोपेस्टीसाइड और बायोफाटाइलाइजर्स के उपयोग पर अनुसंधान संगोष्ठी वन अनुसंधान संस्थान (एफ.आर.आई.) ने वानिकी में उपयोग के लिए बायोपेस्टीसाइड और बायोफास्टिलाइजर्स के विषय पर एक शोध संगोष्ठी का आयोजन किया। वन पैथोलजी डिविजन द्वारा आयोजित संगोष्ठी, एफ$आर$आई$ के नवीन पहल का एक हिस्सा थी, जिसे हाल ही में भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद, देहरादून द्वारा भविष्य की अनुसंधान पहल और रोडमैप तैयार करने के लिए अपनाया गया है। 
रोग प्रबंधन में रासायनिक कवकनाशकों के उपयोग से गंभीर पर्यावरणीय खतरों का कारण जगजाहिर है। इन समस्याओं से निपटने के लिए, बायोपेस्टीसाइड और बायोफलाइलाइजर्स का इस्तेमाल वानिकी में एक पर्यावरण संरक्षण ²ष्टिकोण के रूप में किया जा रहा है। संगोष्ठी का मुख्य उद्देश्य आवश्यकता-आधारित शोध अनुसंधान क्षेत्रों पर चर्चा करना ,उपयोगकर्ता की जरूरतों, औद्योगिक प्राथमिकताओं और हितधारक की आवश्यकताओं के आधार पर शोध के अंतराल को जानने के लिए था। इस अवसर पर मिस रंजना जुवन्ठा, वैज्ञानिक बी, वन पैथोलजी डिविजन, ने सभी प्रतिभागियों और अतिथियों का स्वागत किया। 

मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है, ऐसे में मीटिंग का क्या औचित्य : दिव्य नौटियाल

देहरादून। उत्तराखण्ड क्रिकेट एसोसिएशन (यूसीए) प्रदेश के खेल मंत्री द्वारा राज्य क्रिकेट की मान्यता के संबंध में आहूत बैठक में हिस्सा नहीं लिया है। यूसीए ने प्रदेश के खेल निदेशक को एक पत्र देकर बैठक में शामिल न होने की वजह साफ कर दी है। बताते चले कि प्रदेश के खेल मंत्री अरविंद पाण्डे ने उत्तराखण्ड क्रिकेट की मान्यता के लंबित मामले को सुलझाने के लिये गुरूवार को एक बैठक आहूत की थी, जिसमें प्रदेश में कार्यरत चार क्रिकेट एसोसिएशनों को बुलाया गया था। यूसीए के सचिव दिव्य नौटियाल ने बताया कि, पिछले 17 वर्षों से उत्तराखण्ड क्रिकेट को बीसीसीआई से मान्यता ने मिलने और तथाकथित ​क्रिकेट एसोएिशनों की अडंगेबाजी के चलते हमारी एसोसिएशन ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट ने मामला बीसीसीआई की प्रशासनिक कमेटी को सौंपा है। सुप्रीम कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई जनवरी 2018 के दूसरे सप्ताह में नियत है। दिव्य नौटियाल ने बताया कि, चूंकि मान्यता का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। ऐसे में राज्य के खेल मंत्री की मीटिंग का कोई औचित्य नहीं है। वहीं ये सुप्रीम कोर्ट की अवमानना है। इसी के चलते हमारी एसोसिएशन ने खेल मंत्री द्वारा बुलायी मीटिंग में हिस्सा नहीं लिया। श्री नौटियाल ने कहा कि, बीती 16 नवंबर को प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी उत्तराखण्ड क्रिकेट की मान्यता के संबंध में एक बैठक की थी। जो एक क्रिकेट एसोसिएशन की गलत बयानबाजी और भ्रामक जानकारी के चलते बेनतीजा साबित हुई थी। जब मुख्यमंत्री की बैठक में कोई फैसला नहीं हो सका तो अब खेलमंत्री के पास मामला सुलझाने का क्या फार्मूला है। 
श्री नौटियाल ने कहा कि, हमारी  एसोसिएशन पिछले 12 वर्षों से उत्तराखण्ड क्रिकेट की मान्यता के लिये प्रयासरत है। ऐसे में प्रदेश सरकार उत्तराखण्ड क्रिकेट के विकास एवं कल्याण के लिये जो भी निर्णय लेगी हमारी संस्था उसका समर्थन करेगी।  
 

फूड फेस्टिवल में पहाड़ी व्यंजनों का लुत्फ उठाया

देहरादून। मसूरी विन्टर कार्निवाल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की श्रृंखला में आज चैथे दिन प्रात: 07 बजे से नेचर वाक इन बिंनोग माउन्टेन क्वैल सैंचुरी, सांस्कृति , संगीत एवं नृत्य कार्यक्रम, थियेटर और फिलर एक्ट 11 बजे मसूरी श्री गोपाल भारद्वाज द्वारा मसूरी की 200 वर्ष पुराने चित्रमय इतिहास की प्रदर्शनी का आयोजन, फन गैम्स, फैन्सी डेऊस शौ, म्यूजिकल चैयर आदि कार्यक्रम,  म्यूजियम शाकेसिंग हिमालयाज डिफरेन्ट आर्ट, आई.टी.बी.पी द्वारा जुडो कराटे, रॉक क्लाईमिंग, फूड फेस्टिवल, भारतीय जन नाट्य संग द्वारा माल रोड ''बेटी बचाओ बेटी पढाओ'' नुक्कड़ नाटक प्रस्तुति, मॉल में अन्य संगीतमय कार्यक्रम आयोजित किये गये। 
उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद देहरादून के तत्वाधान माल रोड मसूरी में ''फूड फेस्टिवल'' का शुभारम्भ/उद्घाटन संयुक्त रूप से विधायक मसूरी गणेश जोशी नगर पालिका अध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल द्वारा किया गया तथा फूड फेस्टिवल कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बालीवुड अभिनेता विक्टर बनर्जी रहे। फूड फेस्टिवल में देश-विदेश से आये पर्यटको ने उत्तराख्ंाडी फूड का जमकर आनंद लिया व यहां के आर्गेनिक उत्पादों से बने लजीज व्यंजनों का स्वाद लिया। मसूरी में चल रहे विंटर लाइन कार्निवाल के तहत उत्तराखंडी फूड फेस्टिवल में मसूरी के व्यवसायियों सहित मसूरी व देहरादून से आये विभिन्न प्रति' ठानों ने अपने स्टाल लगाये थे। जिसमें सभी का अपना विशेष आकर्षण था। एक ओर जहां होटल सवाय ने पहाड़ी भूनी भात व भुना माछा का स्वाद दिया तो होटल सेफरान देहरादून ने विशुद्ध पहाड़ी खाने का सबसे महत्वपूर्ण खाना छंछेड़ा बना रखा था जो वर्तमान में दुर्लभ खाने में है क्यों कि आज पहाड़ो में छंछेड़ा बहुत कम बनाया जाता है यह मटठा के साथ झंगोरा डाल कर बनाया जाता है। वहीं होटल ब्रेटवुड ने लाल चावल, तोर की दाल सहित चटनी व मंडु, की रोटी व झंगोरे की खीर बनायी थी। वहीं हापुड़ वालों की दुकान में मंडुवे की रोटी, मक्के की रोटी, राजमा की दाल, उड़द के पकोड़े, सहित पल्लर व अल्मोड़ा की बाल मिठाई भी परोसी गई। पूरे फूड फेस्टिवल में यही ,क स्टाल था जहां उत्तराखंडी पल्लर मिल रहा था। कंट्री इन होटल की ओर से मंडुवे की पाई का विशेष स्वाद लोगों को खूब पसंद आया। फूड फेस्टिवल में उत्तराखंडी उत्पादों के बनाये गये बिस्किुट, सहित भांग की चटनी, सरसों का साग, कुलथ की दाल व फांणा, दाल के पकोड़े, स्वांले, रोटाना, धनिया की चटनी, तिल की चटनी, भात, सहित अनेक पकवानों को स्वाद पर्यटकों ने लिया।
कार्यक्रम स्थल होटल विकास के ग्राउण्ड में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में सायं 6 बजे से गायक कलाकार सोनिया आनन्द रावत द्वारा लोक गीत एवं बॉलीवुड गीत की प्रस्तुति, वोमेन्यिा बैंड की प्रस्तुति, कवि सम्मेलन आयोजित किया जायेगा जिसमें डॉ अशोक चक्रधर, प्रताप फौजदार, सुरेन्द्र दुबे, बलजीत कौर एवं रसिक गुप्ता द्वारा  प्रस्तुति दी जायेगी।
 

 

वर्ष 2022 तक सभी बेघरों को आवास मुहैया कराया जाएगा: मुख्य सचिव

देहरादून। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत वर्ष 2022 तक सभी बेघरों को आवास मुहैया कराया जाएगा। स्व स्थाने (प्द ेपजन), अनुदान द्वारा किफायती आवास, भागीदारी में किफायती आवास और लाभार्थी आधारित आवास के जरिये आवास उपलब्ध कराए जाएंगे। इस बारे में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने गुरुवार को राज्य स्तरीय स्वीकृत एवं मॉनिटरिंग समिति की अध्यक्षता की। निर्देश दिए कि इस कार्य में तेजी लाई जाय, इससे की वर्ष 2022 तक लक्ष्य को हासिल किया जा सके। 
बताया गया कि यह योजना राज्य के 92 स्थानीय नागर निकायों में लागू की जा रही है। ऐसे लोगों को आवास दिया जाएगा जो बेघर हैं। महिला या पुरुष मुखिया के संयुक्त नाम से आवास दिया जाएगा। किये गए सर्वेक्षण के अनुसार 104761 आवासों की मांग है। बताया गया कि लाभार्थी आधारित निर्माण के अंतर्गत 30 वर्ग मीटर कारपेट एरिया में नए आवास बनाये जाएंगे। इस श्रेणी में 23458 व्यक्तिगत आवास बनाये जाने हैं। इनमे से 2290 आवासों का निर्माण इस समय चल रहा है। भागीदारी में किफायती आवास के तहत जिनके पास जमीन नही है उन्हें निजी सार्वजनिक क्षेत्र की भागीदारी से आवास दिए जाएंगे। बताया गया कि ऋण से जुड़े अनुदान द्वारा किफायती आवास श्रेणी में कम ब्याज दर पर ऋण और अग्रिम ब्याज अनुदान राशि का भुगतान कर आवास बनवाये जाएंगे। इसके लिए बैंकवार लक्ष्य तय किया गया है। स्व स्थाने मलिन बस्ती पुनर्विकास के तहत पात्र स्लम वासियों को सुविधा दी जाएगी। इसके अलावा एमडीडीए और हरिद्वार रूड़की विकास प्राधिकरण द्वारा भी सस्ते दर पर आवास बनाये जा रहे हैं।
बैठक में सचिव शहरी विकास, श्री नितेश कुमार झा, अपर सचिव श्री विनोद सुमन, अपर सचिव आवास श्री सुनिल, श्री पांथरी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
 
 

 

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को लेकर टास्क फोर्स गठित

देहरादून। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत गठित पहले राज्य स्तरीय टास्क फोर्स  की बैठक की। कहा कि जिन जिलों में लगातार बेटियों की संख्या कम हो रही है, वहां विशेष फोकस करने की जरूरत है। राज्य के हर आंगनवाड़ी केंद्र पर गुड्डा गुड्डी बोर्ड लगाए जाएं। इस बोर्ड पर नियमित रूप से जन्म लेने वाले बालक और बालिका की संख्या दर्ज की जायेगी।  इसके अलावा गर्भवती माताओं की भी प्रसव होने तक ट्रैकिंग की जाय । 
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिलाधिकारियों से कहा कि लिंग अनुपात को दुरुस्त करने के लिए समाज में जन जागरूकता फैलाएं। लोगों को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के लिए जागरूक करना होगा। जागरूकता के अभिनव तरीके अपनाएं। आशा कार्यकर्ती, गुड्डा गुड्डी बोर्ड और अस्पतालों में हुए संस्थागत प्रसव के लिंग अनुपात के आंकड़ों का मिलान करें। थर्ड पार्टी से इसे तस्दीक कराएं । 
प्रमुख सचिव महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास श्रीमती राधा रतूड़ी ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत राज्य के पांच जनपदों पिथौरागढ़, चम्पावत, चमोली, देहरादून और हरिद्वार को भारत सरकार द्वारा चुना गया है । 65 लाख रुपये सभी पांचों जनपदों को पहले चरण में दिए गए हैं। उन्होंने जिलाधिकारियों से कहा कि वे लगातार अल्ट्रा साउंड केंद्रों का निरीक्षण करें। पीएनडीटी एक्ट के अनुसार दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें। स्वास्थ्य, शिक्षा और गृह विभाग के साथ समन्वय कर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के लिए कार्य करें। बैठक में सचिव स्वास्थ्य श्री नितेश कुमार झा, महानिदेशक शिक्षा कैप्टन आलोक शेखर तिवारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे ।
 
 

सीएम ने किया विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास

लण्ढौरा /देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरूवार को लण्ढौरा, हरिद्वार में विभिन्न विकास योजनाओं का स्वीकृति के साथ ही जन सभा को सम्बोधित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने खानपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत 4 सिंचाई नलकूप, 20 हैंड पंप, विभिन्न पेयजल लाइनों, विभिन्न मार्गों के निर्माण कार्य, आर.सी.सी बाक्स मिनी पुल निर्माण, सी.सी. मार्गों के निर्माण एवं सुदृढिकरण कार्यों की भी घोषणा की। उन्होने खानपुर क्षेत्र मे लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये भी कार्य योजना बनाये जाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड सरकार राज्य के विकास एवं भ्रष्टाचार मुक्त शासन के लिए प्रतिबद्ध है। अपने पिछले 09 महीने के कार्यकाल में हमने यह साबित करके दिखाया है। चाहे एनएच-74 का मामला रहा हो या खाद्यन्न का मामला, भ्रष्टाचार को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया गया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में देवभूमि के रूप में उत्त्राखण्ड की अलग पहचान है, हमें राज्य की प्रतिष्ठा को कायम रखना है। हमें आपस में मिल जुल कर, सामंजस्य बैठाकर चलना है। राज्य सरकार सबका साथ सबका विकास चाहती है। जहां पर सब के विकास की बात आएगी, वहां विकास कार्य किसी भी परिस्थिति में रुकने नहीं दिया जाएगा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार जनता की सरकार है और जनता की सरकार जनता के द्वार जाएगी। प्रत्येक माह के अंतिम शुक्रवार और शनिवार को सरकार के प्रतिनिधि आम जनता की समस्याओं को सुनने के लिए और उनकी समस्याओं के समाधान के लिए जनता के द्वार जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 03 वर्षों में भारत सरकार ने जिस तरह के कदम उठाए हैं, इससे भारत बहुत जल्दी ही एक महाशक्ति बनने जा रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि वर्ष 2022 तक हर परिवार के पास अपना घर हो इसी प्रकार उत्तराखण्ड सरकार भी यह प्रयास कर रही है कि वर्ष 2021 तक हर बेघर को घर उपलब्ध कराया जाए। राज्य सरकार के पिछले 09 माह के कार्यकाल में राज्य के दूरस्थ 32 गांवों का विद्युतिकरण किया गया है। ऐसे लोग जिनके पास धन की कमी के कारण बिजली के कनेक्शन नहीं है, उन्हें शीघ्र ही निशुल्क विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराये जाऐंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिरूल से तारपीन एवं बायोडीजल बनाने का कार्य शुरू हो गया है। इससे स्थानीय लोगों को रोजगार भी उपलब्ध होगा। इस अवसर पर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन, स्वामी  यतीश्वरानंद,  संजय गुप्ता, देशराज कर्णवाल, प्रदीप बत्रा उपस्थित है
 

4 जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए

देहरादून। उत्तराखंड की धरती एक बार फिर डोली है। गुरुवार को शाम के समय अचानक गढ़वाल क्षेत्र के चार जिलों में तेज झटके महसूस किए गए। इस दौरान लोग डर के मारे घरों से बाहर निकल आए। एसडीआरएफ और आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार अभी तक नुकसान की कोई सूचना नहीं है।
राज्य आपदा प्रबंधन न्यूनीकरण केंद्र के अनुसार गुरुवार लगभम पौने पांच बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप के झटके उत्तराखण्‍ड के रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, चमोली और टिहरी जिले में महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्कैल पर 4.7 आंकी गई है। इसका केंद्र रुद्रप्रयाग–चमोली जिले के मध्य बताया जा रहा। रुद्रप्रयाग से दस किमी दूरी पर भूकंप आया। प्रभावित इलाकों में 12 सेकंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप के चलते लोग सहम गए और घरों से बाहर निकल आए। अभी कहीं से नुकसान की कोई सूचना नहीं है। 
 
 

ऐसिड एटैक अभियुक्त दिल्ली से गिरफ्तार

देहरादून। 19 दिसम्बर को अभियुक्त गुड्डु पुत्र शाबिर निवासी कबीर खाँ थाना  जनपद उत्तर प्रदेश ने श्रीमती परवीन पत्नी शकीर अहमद हाल निवासी लिन्ठयूडा के चेहरे व शरीर पर ऐसिड डालकर गम्भीर रूप से घायल करके घटनास्थल से फरार हो गया था। अभियुक्त के विरूद्ध थाना कोतवाली पिथौरागढ़ में एफ0आई0आर0 नं0 101/2017 धारा 326क/504/506 भादवि पंजीकृत किया गया। अभियोग की गम्भीरता को देखते हुए अभियुक्त गुड्डु  उपरोक्त की गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधीक्षक पिथौरागढ के निर्देशन में टीमों का गठन किया गया। उनकी सहायता हेतु एसटीएफ को भी लगाया गया।
27 दिसम्बर को पिथौरागढ पुलिस द्वारा शेखर चन्द्र सुयाल,क्षेत्राधिकारी पिथौरागढ के नेतृत्व में टीम द्वारा ऐसिड एटैक के अभियुक्त को चॉदनी चौक, दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया।
अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था द्वारा उक्त टीम के उत्साहवर्धन हेतु रु0 5000/- के ईनाम की घोषणा की गयी है।
 
 
 

समूह ग प्रतियोगिता की तैयारी दस से

देहरादून।  प्रभारी क्षेत्रीय सेवायोजन अधिकारी देहरादून प्रवीण गोस्वामी ने अवगत कराया है कि क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय एवं वाणी एकेडमी के तत्वाधान में 10 जनवरी 2018 से समूह ''गÓÓ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु सभी वर्गो के 18 से 42 वर्ष तक अभ्यर्थियों जिनकी न्यूनतम शैक्षिक योग्यता इन्टमीडिएट हो तथा उत्तराखण्ड राज्य का मूल/स्थायी निवासी हो को 45 दिनों की नि:शुल्क अनौपचारिक कोचिंग आयोजित की जा रही है। सीटों की संख्या सीमित होने के कारण पहले आओ पहले पाओ के आधार पर चयन किया जायेगा।
उन्होने अवगत कराया है कि इच्छुक अभ्यर्थी 1 जनवरी 2018 से 8 जनवरी 2018 तक प्रात: 10 बजे से किसी भी कार्य दिवस में अपना नाम मॉडल कैरियर सेन्टर, क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय देहरादून में अंकित करवा सकते है। जिन अभ्यर्थियों की पारिवारिक वार्षिक आय 2 लाख रू0 से कम है उन्हे वरीयता दी जायेगी। साक्षात्कार 9 जनवरी 2018 को 10 बजे आयोजित किया जायेगा। साक्षात्कार में मूल प्रमाण-पत्रों तथा प्रमाण पत्रों की छायाप्रति, पासपोर्ट साईज फोटो एवं आईडी प्रूफ सहित उपस्थित होना अनिवार्य है। 
 
 

30 को होगा जनता मिलन कार्यक्रम

देहरादून। मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत ने अवगत कराया है कि 30 दिसम्बर को पूर्वाहन 11 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक जिला कार्यालय देहरादून परिसर कलैक्टेऊट में मा मंत्री शहरी विकास, आवास, राजीव गांधी शहरी विकास, पुनर्गठन, जनगणना एवं निर्वाचपन मदन कौशिक (प्रभारी मंत्री देहरादून) की अध्यक्षता में जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा, जिसमें जन  समुदाय से प्राप्त शिकायतों का यथासम्भव मिलन स्थल पर ही निस्तारण किया जायेगा।
उन्होने जनपद के समस्त विभागीय अधिकारियों को अपनी विभागीय प्रगति के साथ जनता मिलन कार्यक्रम में स्वंय उपस्थित रहने के निर्देश दिये।
 
 

एडीबी के अधिकारियों को समस्याओं से अवगत कराया

देहरादून। आज बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की महानगर सह संयोजिका मधु जैन ने वार्ड 53 विजय पार्क मे  केंट विधायक हरबंस कपूर के निर्देशानुसार मधु जैन ने एडीबी के अधिकारियों को तत्काल मोके पर बुला कर समस्याओं से अवगत कारया। और उनको बताया कि सडको कि वजह से आए दिन हादसे हो रहे है जनता को ख़ासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है जिसमे मुख्य रूप नेहरू एंक्लेव विजय पार्क एक्सटेशन मुख्य मार्ग मे सड्को का बहुत ही बुरा हाल हो रखा  है। और यहा पर अधूरे सीवर कार्ये के बारे मे भी अवगत कराया विजय पार्क मे निवास करने वाले लोग ज़्यादातर फ़ौज ,बी एस एफ ,ओ एन जी सी इत्यादि मे सेवानिवृत तथा कार्यरत अधिकारी, व्यापार मण्डल के प्रतिष्ठित नागरिक निवास करते है।रिटायर्ड, बुजुर्ग ओर पैदल चलने वाले है वार्ड मे निवास कर रहे परिवारों को ख़ासी दिक्कत का सामना करना पड रहा है।अधिकारियों ने वहाँ आकर वहाँ के क्षेत्र का जायजा लिया और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की महानगर सह-संयोजिका मधु जैन को  आश्वासन दिया कि जल्द से जल्द पूरा कार्य कर दिया जाएगा । 
इस अवसर पर महानगर उपाध्यक्ष भारतीय जनता युवा मोर्चा राजकुमार तिवारी विजय पार्क जन कल्याण समिति के अध्यक्ष  बी एल कोठियाल, विनोद मेहेन कर्नल आर एस बिष्ट , गुलशन सहगल, उमा कोठियाल, मोहन सिंह नेगी, आदि। 
 
 

देश की प्रगति के लिए शिक्षा ही सशक्त माध्यम: अग्रवाल

ऋषिकेश। राजकीय प्राथमिक विद्यालय लकड़घाट, ऋषिकेश में वार्षिक उत्सव का आयोजन किया गया। समारोह का शुभारम्भ मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। वार्षिक उत्सव के दौरान सांस्कृतिक रंगारंग कार्यक्रम में बच्चों ने बढ-चढकर हिस्सा लिया। कार्यक्रम का प्रारंभ गणेश वंदना से हुआ।
इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि देश की प्रगति के लिए शिक्षा ही सशक्त माध्यम है। शिक्षा द्वारा जीवन की उन्नति का रास्ता मिलता है। किसी भी परिस्थिति में विद्यार्थी को शिक्षा ग्रहण करने का प्रयास करना चाहिए। शिक्षा ही जीवन का सबसे अहम हिस्सा है। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से जहां विद्यार्थियों में उत्साह का संचार होता है वहीं कुछ में बेहतर करने की ललक भी जागती है। विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि विद्यार्थियों का सही मार्ग दर्शन करके उनके व्यक्तित्व का विकास किया जा सकता है। सच्ची मेहनत और लगन से ही सफलता मिलती है सोच अगर उत्कृष्ट हो और आत्मविश्वास अटल हो तो सफलता आपके पैर चूमेगी। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष ने विद्यालय के 220 बच्चों को दो-दो सौ रूपये पारितोषिक के रूप में विधान सभा अध्यक्ष विवकाधीन कोष से देने की घोषणा की, साथ ही आने वाली परिक्षाओं में 75 प्रतिशत प्राप्त करने वाले छात्र-छात्रा को 5-5 हजार रूपये देने की भी घोषणा करी। इस मौके पर ही स्थानीय विधायक श्री अग्रवाल ने विद्यालय में रसोई घर के लिए अपनी विधायक निधि से 2 लाख रूपये देने की घोषणा की।
वार्षिक उत्सव समारोह के अवसर पर सुनीता रावत पूर्व प्रधान, जिला पंचायत सदस्य सुनीता अपाध्याय, राजेश डोभाल, सगुन, मनीषा कण्डवाल, विवेक गुप्ता, गीता शर्मा, मंजु सेमवाल, मोहन सिंह रावत, देवेश डोभाल, जगदम्बा प्रसाद रतुडी प्रधानाध्यापक, सतीश कपरूवान, संगीता अग्रवाल एवं विद्यालय के छात्र-छात्रा उपस्थित थे।
 

फिस रेस को लेकर सीएस ने मांगी बुनियादी जरूरतों की रिपोर्ट

देहरादून। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने फिस (फेडरेशन अफ इंटरनेशनल स्कीईंग) रेस के बारे में बैठक की। औली से मौका मुआयना कर देहरादून लौटने के बाद उन्होंने विंटर गेम्स अफ इंडिया, विंटर गेम्स एसोसिएशन अफ उत्तराखंड के पदाधिकारियों, पर्यटन, जीएमवीएन, आईटीबीपी के अधिकारियों के साथ फिस रेस का रोड मैप तय किया। औली में मौके पर पाई गई कमियों को फौरी तौर पर दूर करने की हिदायत दी। कहा कि तीन तकनीकी विशेषज्ञ और एक कोअर्डिनेटर आयोजन होने तक लगातार औली में रहेंगे।
मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि तकनीकी विशेषज्ञ सभी उपकरणों, मशीनों और अन्य बुनियादी जरूरतों की जांच कर पर्यटन विभाग को जल्द रिपोर्ट दें। यह प्रमाण पत्र भी देना होगा कि उपकरण सुचारू रूप से कार्य कर रहे हैं। विंटर गेम्स फेडरेशन अफ इंडिया और विंटर गेम्स एसोसिएशन अफ उत्तराखंड की जिम्मेदारी होगी कि फिस रेस के सभी इंतेजाम समय से पूरे हो जाएं। शासन स्तर पर तैयारियों की लगातार मनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने शख्त लहजे में कहा कि किसी भी स्तर पर कोताही बर्दाश्त नही की जाएगी। कहा कि आयोजन समिति, तकनीकी समिति, व्यवस्था समिति और संबंधित अधिकारी आपस में ताल मेल से कार्य करें। बैठक में अपरेटर, ग्रूमर की तैनाती, बर्फ बनाने के कार्य का हर  रोज अनुश्रवण, प्रतिभागियों के ले जाने,ठहरने, खाने की व्यवस्था सहित सभी विन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। बताया गया कि अभी तक फ्रांस, इटली, अफगानिस्तान, नेपाल, तजाकिस्तान, लक्समबर्ग देशों के भाग लेने की सूचना मिली है। इसके अलावा भारत के भी 70 स्कीयर्स भी भाग लेंगे। 
गौरतलब है कि फिस रेस भारत में पहली बार हो रही है। इस आयोजन का मौका उत्तराखंड को मिला है। इस रेस के क्वालीफाइंग अंकों के आधार पर प्रतिभागी ओलंपिक जैसे अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग ले सकेंगे।
बैठक में सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर, विंटर गेम्स फेडरेशन अफ इंडिया के प्रेजिडेंट जेएस ढिल्लन, पूर्व प्रेजिडेंट सुरेंद्र सिंह पांगती, वाईस प्रेजिडेंट कर्नल गोविंद पंत, विंटर गेम्स एसोसिएशन अफ उत्तराखंड के अध्यक्ष एसपी चमोली, अपर सचिव पर्यटन सविन बंसल, डीएम चमोली आशीष जोशी, डीआईजी आईटीबीपी जीएस चौहान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
 
 

कांग्रेस पार्टी विश्व की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक पार्टी: प्रीतम

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा कांग्रेस पार्टी के 133वें स्थापना दिवस  के अवसर पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, कांग्रेस भवन में कार्यक्रम का आयोजन कर पार्टी स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने पार्टी ध्वजारोहण किया गया तथा कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं व कांग्रेसजनो ने वन्दे मातरम् व राष्ट्रगान गाया। 
इस अवसर पर कांग्रेसजनों को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कांग्रेस स्थापना दिवस पर सभी कांग्रेसजनों को बधाई देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी विश्व की सबसे पुरानी लोकतांत्रिक पार्टी है। आजादी के आन्दोलन में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का सबसे बड़ा योगदान रहा है। कांग्रेस पार्टी ने देश की आजादी में सबसे अग्रणी भूमिका निभाई थी। भारत के स्वर्णिम इतिहास के पन्नों में 28 दिसम्बर, 1885 का दिन भारत की महान जनता के दिलो-दिमाग पर अमिट स्मृति और आत्मविश्वास को जगाने वाला याद्गार दिन है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना कर रहे ए$ओ$ डब्लू ह्यूम, एनी बेसेन्ट, बाल गंगाधर तिलक, गोपाल ष्ण गोखले, राना डे आदि उपस्थित भारत के अन्य नेताओं ने भी यह कल्पना नहीं की थी कि जिस संस्था का भारत की जनता के उत्पीडऩ के विरोध तथा मानवीय अधिकारों और राज सत्ता में सुनवाई के हक की लड़ाई के लिए गठित किया जाने वाला यह संगठन एक दिन भारत की जनता को एकसूत्र में बांध कर उनमें आत्मविश्वास, राष्ट्रीयता बोध, सांस्तिक चेतना और अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ संघर्ष का जज्बा पैदा कर देश के नव निर्माण में अपनी अहम भूमिका निभायेगा। 
प्रीतम सिंह ने कहा कि कांगे्रस पार्टी का इतिहास बलिदान का रहा है। देश की आजादी से लेकर आज तक उसने हमेंशा देश की एकता, अखण्डता व सम्प्रभुता के लिए अनेकों बलिदान दिये हैं। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी ने कांग्रेस के इसी स्वर्णिम इतिहास और नीतियेां को आगे बढ़ाने का काम किया है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस समाज के सभी सम्प्रदायों को सद्भाव प्रदान करने वाली पार्टी के रूप में जानी जाती है। आज कांग्रेसजन एक कठिन दौर से गुजर रहे हैं, मुझे पूरा विश्वास है कि आपने विचार किया होगा कि जब हमारे विपक्ष के लोग ''कांग्र्रेस मुक्त भारत'' का आथ्वान करते हैं तो निश्चित रूप से आपके हृदय में यह बात एक तीर की तरह चुभती होगी, ऐसा मेरा मानना है, उनकी इस हिटलरी मानसिकता को भी आप भलीभांति समझते होंगे, क्योंकि हिटलर ने भी जर्मनी में ठीक इसी तरह से यहूदियों से मुक्त करने का आथ्वान किया था, यहां तक कि उन्हें गैस चेम्बरों में डालकर मौत के घाट उतार दिया था। एक विचारधारा की हत्या करने का आथ्वान ठीक उसी मानसिकता का परिचायक है। आप कांग्रेस विचारधारा के पोशक एवं संवाहक हैं, तो क्या आपके और हमारे लिए इस देश में रहने का हमारा मौलिक अधिकार वे समान्त करना चाहते हैं, इस पर आप कांग्रेस के रक्षक होने के नाते इस मानसिकता के खिलाफ समय की आवश्यकता को देखते हुए हमें तन-मन-धन से खड़ा होना है। 
प्रीतम सिंह ने कंाग्रेस के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 132 साला इस सफर में देश के प्रतिभावान, विद्घान और हित चिन्तक जिनमें डब्लू$ सी बैनर्जी, दादा भाई नैरोजी, फिरोज शाह मेहता, बाल गंगाधर तिलक, पं0 मदन मोहन मालवीय, हकीम अजमल खान, चितरंजन दास, लाला लाजपतराय, मौलाना अबुल कलाम आजाद, गोपाल ष्ण गोखले, महात्मा गांधी, रविन्द्र नाथ टैगोर, पं$ जवाहर लाल नेहरू, सरदार बल्लभ भाई पटेल, विरसा मुण्डा, सी$ राजगोपालाचारी, खान अब्दुल गफ्फार खां, गोपीनाथ बारदोलई, डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद, सुभाश चन्द्र बोस, वीर टिकेन्द्र जीत सिंह, रानी गायदलू, सरदार भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, डॉ$ बीआर अम्बेडकर, सरोजनी नायडू, के0 कामराज, लालबहादुर शास्त्री, इन्दिरा गांधी, अरूणा आसफअली, राजीव गांधी सरीखी महान विभूतियोंं ने राश्ट्र के जनमानस को गहराई तक प्रभावित किया। स्व0 इन्दिरा गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने हर क्षेत्र में तार्किक नीतियों का निर्धारण करने की पहल की और सफलतायें हांसिल की। उसी का परिणाम है कि जब राजीव गांधी ने देश को 21वीं शताब्दी में ले जाने की बात कही तो उन्हें पता था कि यह कार्य कांग्रेस द्वारा जनता में पैदा किये गये आत्म विश्वास और मेहनत के जज्बे के बल हम करने में सफल होंगे। उन्होंने नौजवानों को संचार एवं कम्प्यूटर क्रान्ति के जरिये एक नये युग में लेजाने को प्रेरित किया। वे यही नंहीं रूके उन्होंने कांग्रेस के उस वादे को जिसके तहत ग्राम स्वराज के जरिये लोगों को ग्राम विकास और आत्म निर्णय का अधिकार सौंपा जाना था, उस पर काम करते हुए उन्होंने पंचायती राज एक्ट के जरिये ग्रामसभाओं को उनके अधिकार सौंपे जाने के अति महत्वपूर्ण कार्य को अंजाम दिया। अतीत की इस नींव पर आज कांग्रेस सोनिया गांधी, राहुल गांधी सरीखे व्यक्तित्व के नेतृत्व में भारत राष्ट्र के भविष्य का निर्माण करने के अभियान में जुटी है। कांग्रेस चाहती है कि देश के करोड़ों-करोड़ अनुसूचित जाति, जनजाति, उपेक्षित तथा अब तक वंचित रहे अल्पसंख्यकों को शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में समान अवसर सुलभ किये जांय। देश के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों तक बिजली का एक बल्ब रोशन हो, छोटे-मोटे उद्योग बिजली की ताकत से चलें, हर खेत को पानी मिल सके, किसान अपनी उपज का वाजिब मूल्य पा सकें, ग्रामीण क्षेत्रों के करोड़ों-करोड़ बेरोजगार व खेतिहर मजदूरों को न्यूनतम वेतन पर न्यूनतम कार्य दिवस मिल सकें, खाद्यान्न की सार्वजनिक वितरण प्रणाली हो, ऊर्जा के क्षेत्र में राष्ट्र आत्मनिर्भर बन सकें इसके लिए एटमिक ऊर्जा का प्रयोग हो, आधुनिक तकनीकी और जरूरतों से परिपूर्ण सड़कों, रेल मार्गों तथा हवाई अड्डों तथा बन्दरगाहों का ढांचागत विकास हो, सामरिक महत्व की सभी जरूरतों को पूरा किया जा सके अनेका नेक कार्यों के लिए मजबूत इरादे के साथ एक-एक कदम आगे बढ़ा रहे हैं हम। कांग्रेस का लक्ष्य एक ऐसे भारत का निर्माण करना है जो विषमताओं और शोषण से मुक्त हो और जिनमें सभी नागरिक खुशहाली दोस्ती और शांति के साथ समान रूप में रहे। राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी अपने इस ऐतिहासिक लक्ष्य को भी पूरा करके रहेगी।
इस अवसर पर विधायक आदेश चौहान, पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी, हीरा सिंह बिष्ट, मातवर सिंह कण्डारी, सरिता आर्या, राजकुमार, कुंवर सिंह नेगी, प्रदेश उपाध्यक्ष शंकर चन्द रमोला, सूर्यकान्त धस्माना, अब्दुल रज्जाक, महामंत्री गोदावरी थापली मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक, राजेन्द्र शाह, महामंत्री राजेन्द्र सिंह भण्डारी, सुरेन्द्र रांगड़, राजेश चमोली, भरत शर्मा, गिरीश पुनेड़ा, नवीन पयाल, राजेश पाण्डे, अशोक वर्मा, चन्दन लाल, पुष्पा देवी, सावित्री पंत, कान्ता गर्ग, सत्येन्द्र पंवार, सुलेमान अली, गौरव चौधरी, श्रवण रजौरिया, , दिवान सिंह तोमर, टीकाराम पाण्डेय, आशा रावत, अनुराधा तिवारी, बाला शर्मा, जोध ंिसह रावत, आदि सैकड़ों कांग्रेसजन उपस्थित थे। 
 
 

66 वीं ऑल इंडिया एथलेटिक्स में रहा बीएसएफ का दबदबा

देहरादून।  गुरूवार को स्पोर्ट्स कलेज में चल रही 66 वीं अल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2017 में आज  28 को हुए इवेन्टस एवं उनके परिणाम निम्नवत हैं। पोल वल्ट (पुरूष वर्ग) में बीएसएफ के मनोरंजन सोनवाल ने प्रथम स्थान प्रान्त किया।
तो द्वितीय स्थान पंजाब के सत्पाल सिंह एंव तृतीय स्थान पर  तमिलनाडु के जनसन रथीना राज रहे।  वहीं  डिस्कस थ्रो (महिला वर्ग) में हरियाणा की  सीमा एन्टिल प्रथम स्थान पर रही। तो दूसरे स्थान पर  सीआईएसएफ की हिमानी  , पंजाब की  बलजीत कौर तीसरे स्थान पर रही। 400 मीटर बाधा दौड़ (पुरूष वर्ग) में पंजाब के गुरुप्रीत सिंह  प्रथम रहे, उत्तर प्रदेश के पुनीत कुमार द्वितीय स्थान, पंजाब के जसदीप सिंह तृतीय स्थान पर रहे। 400 मीटर बाधा दौड़ (महिला वर्ग) में सीआरपीएफ की अयाना थमस प्रथम स्थान पर रही। पंजाब के  वीरपाल कौर दूसरे स्थान पर  व एसएसबी के सोनी कुमार तीसरे स्थान पर रहे।  सभी जीतने वाले प्रतिभागियों को पुलिस महानिदेशक अनिल के रतूड़ी ने  मेडल प्रदान किये गये।
 
 

दून में लगातार बढ़ रही महिला हिंसा की घटना

देहरादून । दून में महिलाओं पर होने वाले  अपराधों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।  2015 में राजधानी मे महिला हिंसा के  290 मामले दर्ज हुए तो 2016 में इन मामलो में कमी आई और यह मामले 249 दर्ज हुए, तो वहीं इसके विपरित 2017 में यह मामले बढ़कर 219 पहुंच गए। पुलिस विभाग की माने में यह महिला हिंसा के सभी मामलो को सख्ती से कार्रवाई की जाती है। इसने से 53 मामले बलात्कार के दर्ज हुए थे जिनमें 55 लोगों को गिरफ्तार किया गया गया था। तो वहीं इस वर्ष अब तक  81 मामले दर्ज किए गए जिनमे से 87 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।  
महिलाओं के लिए कई हेल्पलाइन बनाने एंव जागरूकता के बाद भी इन मामलो की सं या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। एसएसपी कार्यालय से प्रान्त जानकारी के अनुसार महिलाओं संबंधित  2015 की अपेक्षा 2017 में बलात्कार के मामले बड़े है तो वही छेडखानी के मामलो में भी कोई कमी नहीं आई है। इसके साथ ही दहेज हत्या के मामलों में भी ज्यादा अंतर नहीं आया है। दहेज हत्या के 11 मामले 2015 में दर्ज हुए थे जिनमें पुलिस ने 24 लोगों का गिरफ्तार किया था। तो वहीं शिक्षित समाज होने के बाद भी दहेज हत्या के 13 मामले दर्ज किए गए जिनमें 17 लोगों की गिरफ्तारी हुई। यहीं नहीं दहेज से संबधित 151 मामले दर्ज 2015 में दर्ज किए गए थे। तो इस वर्ष 124 मामले दर्ज किए गए है। मामले दर्ज किए गए थे इस वर्ष में भी अब तक दहेज हत्या को लेकर 13 मामले दर्ज किए जा चुके है। जिनमें 17 लोगों के खिलाफ पुलिस कार्यवाही कर चुकी है।  तो वहीं दहेज उत्पीडन के भी मामलों में कमी अवश्य देखने को मिली। आंकड़ो का आंकलन करें तो  महिलाओं के साथ छेडखाानी के  के मामलें में भी लगातार बढ़ौतरी हुई है। जिनमें दहेज छेडखाानी के 2015 में 76 तो , 2016 को 85, 2017 में 72 मामले दर्ज किए गए। जिनमें पुलिस ने कई मामलो पर कार्रवाई करते हुए इन्हे सजा दिलाई। वहीं पुलिस प्रशासन का यह मानना है कि यह मामले तो वह है जो शिकायत करवाते है वहीं इसके विपरित कई मामले ऐसे भी होते है जो समाज के डर से शिकायत दर्ज नहंी कराते है। 
 

सीएम ने किया ''फ्राम द कोर ऑफ हार्ट'' का विमोचन

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता मिलन हॉल में एस.जी.आर.आर इण्टर कॉलेज सहसपुर के प्रधानाचार्य श्री रविन्द्र सैनी की 111 अंग्रेजी की कविताओं के संकलन ''फ्राम द कोर ऑफ हार्ट'' का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पुस्तक में कविता के माध्यम से देश की अनेक हस्तियों के जीवन वृत को सजोने का कार्य किया गया है, जो सराहनीय है। इस काव्य संकलन में राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, खेल, शिक्षा, प्रशासनिक आदि क्षेत्रों से जुड़़े प्रतिष्ठित व्यक्तियों पर आधारित कविताओं को लिखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुभव के साथ लेखन में यथार्थता आती है। उन्होंने रविन्द्र सैनी को इस काव्य संकलन के लिए शुभकामना दी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी श्री सैनी समाजिक सरोकारों से जुड़ी कविताएं लिखकर समाज को नई दिशा देते रहेंगे।
नैनीताल हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश श्री राजेश टण्डन ने कहा कि यह काव्य संकलन  निश्चित रूप से पाठको को प्रेरणादायक सिद्ध होगा। इस पुस्तक में सहज एवं सरल तरीके से काव्य के द्वारा अपनी भावनाओं को प्रकट किया गया है। ''फ्राम द कोर ऑफ हार्ट'' काव्य संकलन के रचियता रविन्द्र सैनी ने बताया कि जिन 111 प्रतिष्ठित हस्तियों के बारे में कविताएं लिखी गई है, उन्हें हस्ती के नाम के प्रत्येक अक्षर से हर एक पंक्ति लिखकर उनके व्यतित्व तथा कृतित्व को प्रकट किया गया है। ''फ्राम द कोर ऑफ हार्ट'' के विमोचन के अवसर पर प्रो. राकेश चन्द्र नौटियाल, डॉ. आचार्य आशीष सेमवाल, प्रो. दिनेश प्रसाद सकलानी, प्रो. विजय कौल, नरेश कुमार हल्दयानी, रामशरण नौटियाल, नीरज कुमार आदि उपस्थित थे। 
 

बरामद 16 कछुए नदीं में छोड़े

रायवाला। बीते शुक्रवार को मोतीचूर फाटक के समीप वाहन चेङ्क्षकग के दौरान तस्करों से बरामद किए गए 16 कछुए पुलिस ने राजाजी पार्क की एक नदी में छोड़े हैं। बरामद किये गए सभी कछुए सुरक्षित हैं।
बुधवार को पुलिस टीम ने कछुओं को छोडऩे के लिए सुरक्षित व अनुकूल जगह की तलाश की। इस दौरान उनको राजाजी टाइगर रिजर्व की गंगा मंझाडा बीट की एक नदी में छोड़ा गया। विदित है कि की बीते शुक्रवार को जब पुलिस टीम मोतीचूर फाटक के पास वाहनों की चेङ्क्षकग कर रही थी। इस दौरान एक सेंट्रो कार से 16 ङ्क्षजदा कछुए बरामद किए गए। तस्करी के आरोपी जुल्फकार निवासी शीशम झाड़ी मुनिकीरेती, रोहित निवासी 14 बीघा ऋषिकेश और कमल निवासी नई जाटव बस्ती ऋषिकेश को संबंधित धाराओं में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक बरामद कछुए प्रतिबंधित और दुर्लभ प्रजाति के हैं। ये राजाजी पार्क क्षेत्र में पाए जाते हैं। तस्कर इनका प्रयोग कई तरह की दवा बनाने में करते हैं। रायवाला में प्रभारी निरीक्षक महेश जोशी ने बताया कि सभी कछुए ङ्क्षजदा हैं और उनको सुरक्षित तरीके से नदी में छोड़ गया है।
 

छात्र संगठन ने फूंका लोक निर्माण विभाग का पुतला

देहरादून। आर्यन छात्र संगठन ने श्रीनगर गढ़वाल विश्वविद्यालय छात्र संघ पर झूठा मामला दर्ज करने के खिलाफ बुधवार को डीएवी कॉलेज के समीप लोक निर्माण विभाग का पुतला जलाया और चेतावनी दी कि लोनिवि श्रीनगर के अधिशासी अभियंता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं हुई तो आर्यन छात्र संगठन प्रदेशव्यापी आंदोलन को बाध्य हो जाएगा।
बुधवार को आर्यन छात्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष नरेश राणा के नेतृत्व में लोनिवि का पुतला फूंकने के बाद छात्रों ने लोनिवि के खिलाफ नारेबाजी भी की। छात्रों ने बताया कि बीते 25 दिसंबर को गढ़वाल विवि के छात्रसंघ के नेतृत्व में छात्रों द्वारा श्रीनगर और चौरास परिसर को जोडऩे वाले पुल से चौरास परिसर के लिए लिंक रोड की मांग की गई, लेकिन लोक निर्माण विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिसके विरोध में केंद्रीय विवि श्रीनगर गढ़वाल के छात्र संघ अध्यक्ष प्रदीप पंवार, महासचिव देवकांत देवराड़ी व पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष दिव्याशु बहुगुणा चौरास पुल के नीचे धरने पर बैठ गए। विभाग के आश्वासन के बाद छात्रसंघ के 26 दिसंबर को धरना समाप्त कर दिया, लेकिन लोक निर्माण विभाग ने काम शुरू नहीं किया। इस विषय पर जब अधिकारियों से वार्ता करनी चाही तो उनके साथ धक्का-मुक्की की गई और तीनों छात्रों के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कर लिया। आर्यन ने पुलिस अधीक्षक पौड़ी गढ़वाल को भेजे ज्ञापन में मांग की है कि छात्रों पर किया गया झूठा मुकदमा वापस लिया लाए और अधिशासी अभियंता के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
 
 

उपभोक्ताओं की शिकायतों का निस्तारण किया

डोईवाला। विद्युत उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच के तत्वाधान में आयोजित शिविर में उपभोक्ताओं की नौ शिकायतों में से पांच का निस्तारण किया गया। जबकि चार मामलों में आख्या मांगी गई है।
ऋषिकेश रोड डोईवाला स्थित ऊर्जा निगम के विद्युत उपखंड कार्यालय में विद्युत उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच के अध्यक्ष तेजवीर ङ्क्षसह की अध्यक्षता में शिविर आयोजित किया गया। शिविर में उपभोक्ताओं ने मीटर खराबी, विद्युत बिल संशोधन, चेक मीटर लगाने आदि शिकायत दर्ज कराई। मंच ने उपभोक्ताओं की शिकायतें सुनी और उनका निस्तारण किया। जिन शिकायतों का निस्तारण नहीं हुआ उसकी आख्या मांगी गई है। शिविर में
डोईवाला उपखंड कार्यालय के उपखंड अधिकारी कुलदीप ङ्क्षसह बिष्ट,मंच के सदस्य हिमांशु बहुगुणा, अधिशासी अभियंता लच्छीवाला शक्ति प्रसाद, उपखंड अधिकारी लालतप्पड़, वीके गैरोला, उपखंड अधिकारी विद्युत जौलीग्रांट मदनमोहन बहुगुणा आदि उपस्थित थे।
 

ग्रामीणों ने सरकार को दिखाया आईना, खुद बनाई सड़क

विकासनगर। जौनसार बावर क्षेत्र अंर्तगत चामड़ी गांव के लोगों ने सरकार को आईना दिखाने का काम किया है। विभाग से लेकर मुख्यमंत्री तक मांग के बावजूद, गांव तक सड़क न बनने से परेशान ग्रामीणों ने खुद श्रमदान कर गांव के लिए एक किमी सड़क बना डाली। बुधवार को जब गांव तक सड़क पहुंची, तो ग्रामीण खुशी से झूम उठे। साहिया दातनु बडनू मोटर मार्ग के मलेथा बैंड से चामड़ी गांव तक एक किमी मार्ग निर्माण न होने से ग्रामीणों का विकास रुका हुआ था। सड़क निर्माण के लिए ग्रामीण विभाग से लेकर शासन प्रशासन तक मांग कर चुके थे। लेकिन, उनके लिए किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे निराश ग्रामीणों ने खुद श्रमदान कर गांव तक सड़क पहुंचाने का निर्णय लिया। गांव के हर परिवार से लोगों ने बढ़-चढ़ कर श्रमदान में हिस्सा भी लिया।
जिसके बाद बुधवार सुबह ग्रामीणों की मेहनत रंग लाई। सुबह जब गांव तक सड़क की कटिंग का कार्य पूरा हुआ, तो पूरा गांव झूम उठा। ग्रामीणों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी मनाई। ग्रामीणों ने बताया कि इस सड़क के लिए शासन-प्रशासन से लेकर लोनिवि के अधिकारियों से मांग कर चुके थे। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिसके बाद ग्रामीणों ने खुद गांव तक सड़क निर्माण का निर्णय लेते हुए गांव तक सड़क पहुंचाई। इस मौके पर ग्रामीण मोतीराम, भगतराम, अतरू, तुलसी, धनीराम आदि मौजूद रहे।
 

अवैध बस्ती पर चली जेसीबी, तोड़े पक्के घर

देहरादून। देहरादून के शीशमबाड़ा में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 58 बीघा से अधिक जमीन पर बसी अवैध बस्ती पर आखिरकार प्रशासन की जेसीबी चल गई। प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम ने अवैध निर्माण तोडऩे का काम शुरू कर दिया है। इस दौरान कब्जाधारियों के तेवर दिखाए। भारी फोर्स की मौजदूगी में पुलिस के आगे किसी की एक न चली। शीशमबाड़ा के मलिन नई बस्ती में राज्य सरकार ने सीआरपीएफ को करीब 58 बीघा जमीन आवंटित की है। मगर इस जमीन पर बरसों से कब्जा है। यहां लोग पक्के निर्माण कर रह रहे हैं। इनको यहां से हटाना प्रशासन के लिए सिरदर्दी बन गया था। कुछ दिन पहले ही प्रशासन ने 320 घरों को नोटिस दे अवैध कब्जे को खाली करने को कहा था। 
सरकारी जमीन पर किए गए अवैध निर्माण को हटाने के लिए बुधवार सुबह भारी पुलिस बल शीशमबाड़ा पहुंचा। देहरादून जिला प्रशासन और विकास नगर तहसील प्रशासन ने बुधवार सुबह 9:00 बजे अवैध कब्जे हटाने की कार्यवाही शुरू की। प्रशासन ने जेसीबी लगाकर अवैध निर्माण कर बनाए गए भवनों को तोड़ डाला। इस दौरान लोग सामान समेटने में लगे रहे। पुलिस के साए में प्रशासन की कार्रवाई से लोग दहशत में हैं। लेकिन अपने घरों को उजड़ते देख महिलाएं और बच्चे रोते बिलखते नजर आ रहे हैं। शीशमबाड़ा में सीआरपीएफ की जमीन पर हुए अवैध कब्जों को बुधवार को तोडऩे की तैयारी पर गुस्साए क्षेत्र के लोग देर शाम सीएम आवास कूच को निकले थे। बस, गाडिय़ों में सवार होकर निकले लोगों को पुलिस ने नंदा की चौकी के पास रोक लिया। सीएम आवास कूच की अगुवाई कर रहे सपा नेता महितोष मैठाणी ने कहा कि सरकार कई लोगों को उजाडऩा चाहती है, लेकिन सपा मंसूबों को पूरा होने नहीं देगी। सीएम आवास कूच के दौरान पुलिस ने भले ही नंदा की चौकी पर रोक दिया है, लेकिन वह हार नही मानेंगे। 
शीशमबाड़ा में सीआरपीएफ की 58 बीघा जमीन पर कब्जे को लेकर सीएम त्रिवेंद्र रावत ने डीएम देहरादून को फटकार लगाई थी। इस मामले में सख्त रुख अपनाते हुए मुख्यमंत्री ने कह डाला कि डीएम देहरादून उनके पास सीआरपीएफ की जमीन पर कब्जे की सूचना लेकर आए थे, लेकिन उन्होंने डीएम से दो टूक कह दिया कि पहले कब्जा हटाकर आइए। वर्दी की जमीन पर कब्जा कतई सहन नहीं किया जाएगा। सीएम ने कहा है कि सेना हो या अद्र्ध सैनिक बल या फिर सेना में तैनात जवान हों या रिटायर्ड सैनिक या सैनिक आश्रित अगर कहीं उनकी जमीन पर इस तरह के कब्जे होते हैं तो राज्य सरकार सख्ती से पेश आएगी। इसमें किसी भी तरह की छूट नहीं दी जाएगी। शीशमबाड़ा में सीआरपीएफ की 58 बीघा से अधिक जमीन पर बसे 320 परिवारों को कड़ाके की सर्दी में उजाड़ दिया गया है। प्रशासन की कार्रवाई के दौरान कुछ सामान समेटने पर लगे रहे तो कुछ ने विरोध जताया। इस दौरान प्रशासन और सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की गई।
 

पांच दुकानदारों का सामान जब्त

चकराता। बुधवार को छावनी परिषद चकराता की ओर से मुख्य अधिशासी अधिकारी के नेतृत्व में छावनी बाजार में चलाए गए अतिक्रमण विरोधी अभियान में पांच दुकानदारों का सामान जब्त किया गया। परिषद की ओर से चले अभियान से दुकानदारों में हड़कंप मचा रहा। परिषद ने चेतावनी दी कि अतिक्रमण करने वाले बाज नहीं आए तो अभियान को और सख्त किया जाएगा।
बता दें कि चकराता छावनी बाजार में कई दुकानदार दुकानों के बाहर सड़क पर अपना सामान फैलाकर अतिक्रमण कर रहे हैं। जिससे यातायात व्यवस्था में भी समस्या आ रही है। जिसे देखते हुए बुधवार सुबह साढ़े 11 बजे के करीब मुख्य अधिशासी अधिकारी जोन्स विकास के नेतृत्व में छावनी परिषद की टीम ने बाजार में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चलाया। जिसमें वीर केसरी मार्केट स्थित पांच दुकानदारों की दुकान के बाहर रखा सामान जब्त कर लिया गया। अभियान की खबर मिलते ही अन्य व्यापारियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में दुकानदारों ने अपना सामान दुकान में समेटना शुरू किया।
सीईओ ने बताया कि बाजार में अतिक्रमण करने वाले व्यापारियों के खिलाफ अभियान चलाकर चालान की कार्रवाई की जाएगी। कहा कि बाजार की सड़कें पहले ही संकरी हैं। कुछ दुकानदार बाहर सड़क पर दुकान सजाकर यातायात बाधित कर रहे हैं। कई बार मौखिक रूप से समझाने के बाद भी व्यापारी अतिक्रमण नहीं हटा रहे हैं। जिस पर परिषद को कार्रवाई करनी पड़ी। अतिक्रमण हटाने वाली टीम में कर निरीक्षक सुशील बछेती, सेनेट्री इंस्पेक्टर सुरेश ङ्क्षसह जयारा, सफाई नायक ओम आदि शामिल रहे।
 

 

विद्यालयों में नियुक्ति पर लगी रोक हटाने के आदेश दिए

देहरादून । अशासकीय प्रधानाचार्य वेलफेयर एसोसिएशन की मांग पर शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने बुधवार को सचिव शिक्षा को दूरभाष पर अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों में नियुक्ति पर लगी रोक हटाने के आदेश दिए है। शिक्षा मंत्री ने एसोसिएशन को भरोसा दिलाया कि एक सप्ताह के भीतर नियुक्ति पर लगी रोक को हटा लिया जाएगा।
अशासकीय प्रधानाचार्य वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष प्रकाश चंद सुयाल व प्रदेश महामंत्री अवधेश कुमार कौशिक ने बयान जारी कर बताया कि एसोसिएशन का एक प्रतिनधिमंडल शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे से उनके निवास पर मिला। चार सूत्रीय मांग पत्र में सहायता प्राप्त अशासकीय विद्यालयों में नियुक्तियों पर तत्काल रोक हटाने, चतुर्थ श्रेणी के स्वीकृत पदों के सापेक्ष नियुक्ति करने की मांग शामिल है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान से आच्छादित न होने के कारण विद्यालयों को विकास कार्यो में भारी वित्तीय संकट से गुजरना पड़ रहा है। इसके वेतन का कुल दस प्रतिशत वार्षिक अनुरक्षण अनुदान विद्यालयों के लिए स्वीकृत किया जाए। सहायता प्राप्त अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों के इंटरमीडिएट कॉलेजों के प्रधानाचार्य व प्रधानाध्यापक पद पर नियुक्ति के बाद भी पांच वर्षो की डाउनग्रेड समयावधि रखी गई है। जिसमें अधिकांश प्रधानाचार्य अपने पद का लाभ लिए बिना ही सेवानिवृत्त हो गए हैं। जबकि इंटर कॉलेजों में प्रधानाचार्य की नियुक्ति में तदर्थ प्रमोशन देकर पूर्ण पद का वेतन दिया जा रहा है। इससे अशासकीय प्रधानाचार्य में रोष व्याप्त हैं। उन्होंने बताया कि एसोसिएशन की चारों मांगों को पूरा करने का शिक्षा मंत्री ने आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष आलोक गोयल, हरिद्वार से संजय गर्ग, कोषाध्यक्ष दिनेश चंद भट्ट आदि शामिल रहे।
 
 
 

जेल में निरुद्घ आपराधियों पर होगी पुलिस की कड़ी नजर

देहरादून। अशोक कुमार,अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड ने 27 दिसम्बर को पी0वी0के0 प्रसाद,महानिरीक्षक कारागार के साथ  जेल में बढ़ते आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने एवं कारागार पुलिस की कार्यक्षमता बढ़ाने हेतु गहन विचार-विमर्श किया। अशोक कुमार ने बताया की बैठक में निम्न महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये- जेल से यदि आपराधिक गतिविधि हेतु मोबाइल फोन का प्रयोग किया जाता है तो जेल अधीक्षक भी इसके जिम्मेदार होंगे व उनके विरुद्घ कानूनी कार्यवाही भी की जा सकती है।
प्रदेश में प्रत्येक जेल के पास पुलिस चौकी स्थापित किये जाने तथा आपराधियों की गतिविधियों की निगरानी करने हेतु प्रत्येक जनपद में जेल मॉनिटरिंग ग्रुप स्थापित किये जाने का निर्णय लिया गया जिसमें एक अभिसूचना कर्मी भी नियुक्त जायेगा। जेल में पेशेवर आपराधियों से मिलने आने वाले व्यक्तियों की निगरानी किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। माह में एक बार वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षकों द्वारा जिलाधिकारी के साथ जेल का बम निरोधक दस्ते तथा मैटल डिटेक्कटर के साथ औचक निरीक्षण किये जाने हेतु भी  निर्देशित किया गया। उक्त बैठक में दीपम सेठ, पुलिस महानिरीक्षक,अपराध एवं कानून व्यवस्था,उत्तराखण्ड,  पुष्पक ज्योति, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढवाल परिक्षेत्र, अन्नतराम चौहान, पुलिस उपमहानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था,उत्तराखण्ड, केवल खुराना, ए0आई0जी0, श्रीमती निवेदिता कुकरेती, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून, श्रीमती रिधिम अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड सहित सभी जेलों के अधीक्षक उपस्थित रहे।
 

भारत सरकार एवं उत्तराखण्ड सरकार के मध्य समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं कैबिनेट मंत्री  प्रकाश पंत की उपस्थिति में बुधवार को सचिवालय में गवर्नमेन्ट ई-मार्केट प्लेस के माध्यम से सरकारी विभागों में पारदर्शी, त्वरित एवं भ्रष्टाचार मुक्त अधिप्राप्ति (खरीद) व्यवस्था लागू करने हेतु वाणिज्य विभाग, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार एवं उत्तराखण्ड सरकार के मध्य समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया। समझौता ज्ञापन पर राज्य सरकार की ओर से प्रमुख सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी एवं गवर्नमेन्ट ई-मार्केट प्लेस की ओर से सीईओ श्री एस. सुरेश कुमार ने हस्ताक्षर किए।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि गवर्नमेन्ट ई-मार्केट प्लेस पोर्टल के माध्यम से सरकारी विभागों में की जाने वाली खरीद में पारदर्शिता आ सकेगी। राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने के लिए जीरो टोलरेन्स की नीति अपनाई है। इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर कर राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त शासन की ओर एक और कदम बढ़ाया है। गवर्नमेन्ट ई-मार्केट प्लेस की शुरूआत भारत सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान के अन्तर्गत सरकारी मंत्रालयों, विभागों, पीएसयू, स्वायत्त निकायों आदि में सामान व सेवाओं की खरीद में पारदर्शिता, प्रतिस्पर्धा व निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए वाणिज्य विभाग, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा की गयी है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार, सचिव श्रीमति भूपिंदर कौर औलख, श्री नितेश कुमार झा, श्री दिलीप जावलकर, एम.डी.सिडकुल श्रीमती सौजन्या, अपर सचिव श्री एल.एन.पंत, निदेशक विभागीय लेखा श्री भूपेश तिवारी, उपनिदेशक जेम श्री दीपेश गहलोत, बिजनेस मैनेजर जेम अनुदा शुक्ला एवं श्री सुरेन्द्र सिंह नेगी उपस्थित थे।
 

विकास विभाग व पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये

देहरादून। जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जनपद में ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन तथा नकद रहित लेने-देन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने के सम्बन्ध में विकासभवन सभागार में बैठक आयोजित की गयी।
जिलाधिकारी ने पंचायतों में उत्तराखण्ड ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नीति 2017 को लागू करने और ग्राम पंचायतों में नकद रहित लेन-देन को प्रोत्साहित करने की कार्ययोजना शुरू करने हेतु विकास विभाग व पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सम्बन्धित नजदीकी ब्लाक व स्थान पर प्रशिक्षण हेतु सभी प्रकार की व्यवस्थाओं और समन्वय करना सुनिश्चित करें तथा समय से प्रशिक्षण हेतु सम्बन्धित कार्मिकों व  जनप्रतिनिधियों को सूचना प्रेषित करें। 
जिला पंचायतीराज अधिकारी एम जफर खान ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन नीति 2017 व नकद रहित लेन-देन का यह प्रशिक्षण छ चरणों में सम्पादित किया जायेगा और इसकी शुरूआत 2 जनवरी 2018 से होगी।  उन्होने कहा कि इसके अन्तर्गत ग्राम पंचायत व ग्राम विकास अधिकारियों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों, ग्राम प्रधानों, आशा, एन.एम/ए,एन,एम, उप प्रधानों व जिला पंचायत सदस्यों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसके तहत चकराता, कालसी व विकासनगर ब्लाक का कालसी ब्लाक में और डोईवाला, रायपुर, सहसपुर विकासखण्डों का विकासभवन सभागार में और जिला पंचायत सदस्यों का जिला पंचायत सभागार में  प्रशिक्षण आयोजित किया जायेगा। उन्होने कहा कि प्रशिक्षण के लिए राज्य सरकार के कार्मिकों, गैर सरकारी संगठनों, ग्राम प्रधान इत्यादि में से मास्टर टेऊनी तैयार किये जा चुके हैं जो कार्मिकों को ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन तथा नकद सहित लेनेदेन को प्रोत्साहन का प्रशिक्षण देंगे।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत, जिला पंचायतराज अधिकारी एम जफर खान, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक दून चिकित्सालय डॉ टम्टा व डॉ के.के सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।
 

''बेटी बचाओ बेटी पढाओ'' योजना के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की

देहरादून। जिलाधिकारी एस. ए मुरूगेशन की अध्यक्षता में विकासभवन सभागार में ''बेटी बचाओ बेटी पढाओ'' योजना के अन्तर्गत अग्रिम  माहों में कराये जाने वाले क्रियाकलापों की कार्ययोजना के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गयी। 
बैठक में जिलाधिकारी ने ''बेटी बचाओ बेटी'' पढाओ अभियान को बेटियों के स्वाभिमान के लिए अधिक उपयोगी बनाये जाने के लिए विकासखण्ड स्तर पर विभिन्न गैर सरकारी संगठनों, स्वंय सहायता समूहों, ए.एन.एम, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों तथा सम्बन्धित विभाग के कार्मिकों का अभिमुखीकरण प्रशिक्षण आयोजित करते हुए उन्हे ''बेटी बचाओ बेटी पढाओ'' की शपथ व प्रतिज्ञा दिलाते हुए हस्ताक्षर अभियान चलाने, विभिन्न क्षेत्रों में बेटी के जन्मोत्सव आयोजित करने तथा उस दौरान नवजात  बालिकाओं को बैष्णवी किट वितरित करते हुए बधाई पत्र निर्गत करने के निर्देश दिये। उन्होने कम लिंगानुपात वाली ग्राम पंचायतों में ऐसे दम्पत्ति को जिसमें पुरूष की उम्र 45 वर्ष तथा महिला की उम्र 40 वर्ष पार हो चुकी हो और उनके केवल 1 या दो पुत्री हों तथा ऐसे दम्पति जो इसी उम्र के हों और उन्होने किसी बेटी को गोद लिया हो ऐसे दंपत्ति को एक विशेष समारोह ब्लाक स्तर पर अथवा न्याय पंचायत स्तर पर आयोजित करते हुए पुरस्कृत करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होने आंगनवाड़ी केन्द्रों पर 1 से 6 वर्ष तक की कुपोषित एवं अति कुपोषित बालिकाओं को पूर्ण पोषाहार उपलब्ध कराने  और गुड्डा-गुड्डी बोर्ड लगाने के निर्देश दिये। उन्होने ड्राप आउट किशोरियों एवं महिलाओं को  विकासखण्ड स्तर पर आई.सी.डी.एस, स्वास्थ्य, संस्कृति, विकास, पंचायतीराज, पुलिस शिक्षा विभाग, महिला आयोग, बाल आयोग और जिला विधिक प्राधिकरण के समन्वय से नव विवाहित जोड़ो को शपथ दिलवाने इस दौरान उन्हे सैनिटरी किट, आयरन व फॉलिक एसिड की दवाएं   वितरित करते हुए बेटी बचाओ बेटी पढाओ पर नुक्कड़ नाटक प्रस्तुति व पोक्सो अधिनियम, पी.सी.पी.एन.डी.टी एक्ट, दहेज अधिनियम व घरेलु हिंसा अधिनियम की बुकलेट वितरित करें और महिला मंगल दलों सहित सभी के बीच महिला सशक्तिकरण का प्रचार-प्रसार करें। उन्होने बेटी बचाओ बेटी पढाओ का स्लोगन मुख्य चैराहों, मार्गों, दीवारों पर लिखवाने के साथ ही गांव-2 में नवविवाहित दम्पत्ति को बेटा बेटी जो भी हो उनको समान रूप से स्वीकार करवाने की शपथ दिलवाने, ग्रामीणांचल में चैपाल लगाकर लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिये। उन्होने 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस पर समस्त जनपद में नवयुवकों को आंमत्रित करते हुए उनसे संकल्प पत्र पर हस्ताक्षर अभियान चलाने के निर्देश दिये। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत, जिला पंचायतराज अधिकारी एम जफर खान, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास एस.के सिंह, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक दून चिकित्सालय डॉ टम्टा व डॉ के.के सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे। 
 
 
 

उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभूतियों को सम्मानित किया

देहरादून। बुधवार को न्यू कैन्ट रोड स्थित मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय, जनता मिलन हॉल में नित्यानन्द स्वामी जनसेवा समिति द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री नित्यानन्द स्वामी की जयंती के अवसर पर स्वच्छ राजनीतिज्ञ सम्मान समारोह-2017 आयोजित किया गया। इस अवसर पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री केसरी नाथ त्रिपाठी तथा मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर श्री नित्यानन्द स्वामी जनसेवा समिति द्वारा विभिन्न क्षेत्रों मे उत्कृष्ट कार्य करने वाली विभूतियों को सम्मानित किया गया। श्रीमति एम$के$मान को शिक्षा अलंकरण, श्री मुरलीधर टम्टा को काष्ठ कला क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिये सांस्कृतिक अलंकरण, राजीव घई तथा मोहिन्द्र लाल को उद्योग अलंकरण, लोक गायक  नरेन्द्र सिंह नेगी को संगीत अलंकरण, पूर्व केबिनेट मंत्री केदार सिंह फोनिया तथा केबिनेट मंत्री  प्रकाश पन्त को स्वच्छ राजनीतिज्ञ सम्मान, डा0 आशुतोष माथुर को चिकित्सा अलंकरण से सम्मानित किया। पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 नित्यानन्द स्वामी को श्रद्घांजलि अर्पित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में खनन तथा शराब माफिया को समान्त करने में महत्वपूर्ण कार्य किया। आज उत्तराखण्ड अपराध मुक्त राज्य है। उन्होंने सिद्घ किया कि स्वच्छता एवं ईमानदारी से भी राजनीति की जा सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीति में स्वच्छता, ईमानदारी, सर्वहित व निस्वार्थ भाव से कार्य किये जाने चाहिये। 
इस अवसर पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री केसरी नाथ त्रिपाठी ने कहा कि स्व0 नित्यानन्द स्वामी एक धैर्यवान, ईमानदार, स्वच्छ छवि वाले, लोकप्रिय व जनसेवा से जुड़े नेता थे। वह सदैव निजहित के अपेक्षा सर्वहित को प्राथमिकता देते थे। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष  प्रेमचन्द अग्रवाल, केबिनेट मंत्री Ÿप्रकाश पंत,  अरविन्द पाण्डेय, उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री रमापति शास्त्री, पूर्व मुख्यमंत्री  नित्यानन्द स्वामी की पुत्री श्रीमति ज्योत्सना शर्मा,  विनायक शर्मा, श्रीमति शुभा वर्मा आदि उपस्थित थे।
 
 

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को स्मृति चिन्ह भेंट किया

देहरादून। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी के राजभवन देहरादून पहुंचने पर राज्यपाल डॉ0 कृष्ण कांत पाल ने उनका स्वागत किया। राज्यपाल डॉ0 कृष्ण कांत पाल ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी को स्मृति चिन्ह भी भेंट किया। 
 

प्रेस क्लब कार्यकारिणी सदस्य के 9 पदों पर 14 के बीच होगा मुकाबला

देहरादून। उत्तराचंल प्रेस क्लब की वर्ष 2018 कार्यकारिणी चुनाव में कार्यकारिणी सदस्य के पद से 4 आवेदकों के नाम वापसी के उपरांत अब कार्यकारिणी सदस्य के 9 पदों पर अब 14 दावेदारों के बीच मुकाबला होगा।  
क्लब के चुनाव अधिकारी ड$ देवेन्द्र भसीन ने बताया कि कार्यकारिणी के 17 पदों में से कार्यकारिणी सदस्य के 9 पदो पर चुनाव होना है। उन्होनें बताया कि मतदान की पूर्व निर्धारित तिथि 30 दिसबंर 2017 को प्रात: 9Ó:00 से 3:00 बजे तक होगा उसी दिन सांय 4:00 से मतगणना आरम्भ होगी। ड$ भसीन ने बताया कि मतदान करने वाले सदस्य अपने साथ प्रेस क्लब परियच पत्र व आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड साथ लायें। इस अवसर पर सहायक चुनाव अधिकारी कुॅवर बहादुर अस्थाना व दिलीप सिंह राठौड़ मौजूद रहे।
 

सड़क की मरम्मत करवाने हेतु विधायक से मिले

देहरादून। आज बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की महानगर सह -संयोजिका वार्ड 53 विजय पार्क मे ए डी बी द्वारा खोदी गयी मुख्य सड़क की मरम्मत करवाने हेतु केंट विधायक माननीय हरबंस कपूर जी से मूलाकात  की  और  उनको  विजय पार्क वार्ड  की समस्यों के बारे मे अवगत कराया  केंट विधायक एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री हरबंस कपूर जी ने समस्यों को सुना। उनको  विजय पार्क वार्ड  की समस्यों के बारे मे अवगत कराया।
जिसमे मुख्य रूप नेहरू एंक्लेव विजय पार्क एक्सटेन मुख्य मार्ग मे सड्को और नालियो बहुत ही बुरा हाल हो रखा  है। उनहोने कहा  की काँग्रेस  के पिछले शासन काल मे वार्ड  53 विजय पार्क का विकास तो जेसे रुक ही गया था। मधु जैन जी ने श्री हरबंस कपूर जी को  अवगत कराया  जिसमे  मुख्य रूप से काँग्रेस सरकार के शासन काल मे जो काम रोके गये थे उन  सारी समस्यों को प्रमुखता से श्री हरबंस कपूर जी को  सारी समस्यों को लेकर उनको बताया जिससे जो भी कार्य रुके हुए थे  उसको तुरंत कराया जा सके चाहे वह सड़क निर्माण का कार्य हो चाहे नलिया बनानी हो जो भी कार्य काँग्रेस ने अपनी दमन नीति के कारण रोक रखे थे उन सारे कामो के बारे मे उन्होने भी तुरंत संबन्धित अधिकरियों को निर्देश दिया और कहा  जो भी कार्य रुके हुए है तुरंत पूरे  होने चाहिए। 
 
 

सड़क पर फूटा गंदे पानी का फव्वारा

देहरादून। एक ओर देहरादून को स्मार्ट सिटी घोषित कर दिया गया है, वहीं यहां सीवर और पेयजल व्यवस्था दुरुस्त नहीं है। बुधवार को बुद्धा चौक और लैंसडौन चौक के पास बीच सड़क पर सीवर लाइन का फव्वारा फूट गया।
कुछ दिन पहले भी इस लाइन पर लाइन टूटी थी। बताया जा रहा है कि कुछ दिन से यहां सड़क धंस रही थी, लेकिन एडीबी और जलसंस्थान ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। बुधवार सुबह अचानक सड़क फट गई। तेजी से गंदे पानी का फव्वारा फूट गया। मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। ट्रैफिक जाम हो गया। कुछ देर बाद फव्वारा बंद हुआ तो सड़क पर बड़ा सा गड्ढा हो गया। पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर वहां बैरिगेट्स लगा दिए हैं। हालांकि दोपहर 12 बजे तक एडीबी या जल संस्थान का कोई कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा था।
 
 

आज पहाड़ों में बारिश के आसार

 देहरादून। आज अधिक उऊंचाई वाले जिलों में कहीं कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी देखने को मिल सकती है। हालांकि शेष जगह मौसम सूखा बना रहेगा। देहरादून मौसम केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक गुरुवार को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ के अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है। इसके साथ ही कहीं कहीं हल्की बर्फबारी भी हो सकती है।
हालांकि शेष जगह पर मौसम सूखा बना रहेगा। फिलहाल चार पांच दिन तक प्रदेश में कहीं भी बारिश की संभावना नहीं है। इधर, बुधवार को देहरादून का अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 22.9 और न्यूनतम तापमान भी सामान्य से दो डिग्री अधिक 8.1 दर्ज किया गया। गुरुवार को भी तापमान इसके आस पास ही रहने के आसार हैँ।
 
 

 

छात्रों ने किया विज्ञान धाम और आईएमए का भ्रमण

देहरादून। उत्तराखंड की संस्कृति और दर्शनीय स्थल को जानने के लिए भ्रमण पर आए कर्नाटक के छात्रों ने बुधवार को विज्ञान धाम, भारतीय सैन्य अकादमी, वाडिया संस्थान और बुद्धा टैम्पल के बारे में जाना।
एक भारत श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम के तहत शिक्षा विभाग के नोडल अधिकारी शशिबाला चौधरी, हनुमान प्रसाद विश्वकर्मा और जितेन्द्र सक्सेना के नेतृत्व में कर्नाटक के 75 छात्रों का दल सबसे पहले विज्ञान धाम पहुंचा। ढाई घंटे के अंतराल में छात्रों ने फन साइंस के अंतर्गत भौतिक विज्ञान के सिद्धांतों पर आधारित थ्रीडी शो, एडवांस साइंस गैलरी, हिमालय की नदियां, हिमालयी जनजाति का रहन- सहन, आपदा प्रबंधन के बारे में अध्ययन किया। इसके बाद इंजीनियर पंकज थपलियाल, मैकेनिकल इंजीनियर ओम प्रकाश रावत, विज्ञान अधिकारी कैलाश नारायण भारद्वाज के नेतृत्व में छात्रों ने विज्ञान पार्क का निरीक्षण भी किया। वहीं दूसरे सत्र में छात्र भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) पहुंचे। यहां पर ट्रेनिंग टीम एडवेंचर हवलदार एमएल दालवी के नेतृत्व में छात्रों ने चैटवुड हॉल, लॉन्ग रेंज फायरिंग, सोमनाथ स्टेडियम, वॉर मेमोरिलय, स्वीमिंग पुल के बारे में जानकारी ली। इसके बाद विभागीय अधिकारियों ने छात्रों को वाडिया संस्थान और बुद्धा टैंपल का भ्रमण कर सम्बंधित जानकारी दी। एक सप्ताह उत्तराखंड भ्रमण पर कर्नाटक के 75 छात्र-छात्राओं के अलावा 11 शिक्षकों का दल दून पहुंचा है।
 
 

रोडवेज कर्मचारियों ने ली हड़ताल वापस

देहरादून। उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने चक्काजाम नहीं किया। इससे पहले निगम प्रबंधन ने यूनियन के पदाधिकारियों को वार्ता के लिए बुलाया। वार्ता में विशेष श्रेणी कर्मियों का वेतन 15 फीसदी बढ़ाने पर सहमति बन गई, जिस पर यूनियन ने हड़ताल समाप्त कर दी है।
उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने निगम प्रबंधन को बुधवार आधी रात से चक्काजाम का नोटिस दिया था। यूनियन विशेष श्रेणी कर्मियों का मानदेय बढ़ाने की मांग कर रही थी। चक्काजाम का नोटिस मिलने के बाद मंगलवार को रोडवेज प्रबंधन ने यूनियन के पदाधिकारियों को वार्ता के लिए बुलाया, लेकिन वार्ता विफल रही। बुधवार को फिर से यूनियन पदाधिकारियों को वार्ता के लिए बुलाया गया। इसमें विशेष श्रेणी कर्मियों का वेतन 15 फीसदी बढ़ाने पर सहमति बनी।
यूनियन के महामंत्री अशोक चौधरी ने बताया कि वेतन बढ़ाने के बाद हड़ताल का निर्णय वापस ले लिया है। वार्ता के दौरान निगम के प्रबंध निदेशक बीके संत, महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन, यूनियन की तरफ से प्रदेश प्रवक्ता विपिन, संगठन मंत्री दीपक शाह, क्षेत्रीय मंत्री केपी सिंह, उदयवीर सिंह मौजूद रहे। इधर, रोडवेज इंपलाइज यूनियन के प्रदेश महामंत्री रवि पचौरी ने रोडवेज की कार्यशालाओं में कार्यरत तकनीकी कर्मियों के वेतन में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी के फैसले का स्वागत किया। कहा कि यूनियन इसको लेकर पूर्व में परिवहन मंत्री से मिली थी, जिसके बाद निगम प्रबंधन ने यह फैसला लिया है।
 
 
 

मुकदमें दर्ज करने के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन

 देहरादून। श्रीनगर गढ़वाल में चौरास पुल मामले में छात्रों पर मुकदमा दर्ज करने के विरोध में दून में भी प्रदर्शन हुआ। आर्यन छात्र संगठन ने डीएवी कॉलेज में पीडब्लूडी और श्रीनगर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने के साथ ही पुतला फूंका। आर्यन संगठन ने आरोप लगाया कि प्रशासन केस दर्ज कर छात्रों की आवाज दबाना चाहता है।
चौरास पुल को लेकर पीडब्लूडी ने श्रीनगर गढ़वाल के छात्र नेताओं के खिलाफ इंजीनियर्स से मारपीट और सरकारी काम में बाधा के मुकदमा दर्ज कराया है। इस घटना के खिलाफ बुधवार को आर्यन छात्र संगठन ने डीएवी कॉलेज में प्रदर्शन किया। आर्यन से जुड़े छात्र नेताओं ने सीधे तौर पर प्रशासन और पीडब्लूडी पर छात्रों की आवाज दबाने का आरोप लगाया। साथ ही चेतावनी दी कि अगर छात्र नेताओं पर दर्ज मुकदमें तत्काल वापस नहीं किए गए तो आर्यन छात्र संगठन उग्र आंदोलन करेगा। प्रदर्शन के साथ ही पुतला फूंकने वालों में आर्यन के प्रदेश अध्यक्ष नरेश राणा, डीएवी के पूर्व महासचिव सचिन थपलियाल, ऋषभ चौहान, आशीष रावत, संदीप कुकरेती, आदित्य बिष्ट, सोहन नेगी, सतीश आर्यन समेत अन्य मौजूद रहे।
 
 

छात्रों ने निकाली स्वास्थ्य और स्वच्छता रैली

देहरादून। रायवाला राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) राजकीय इंटर कालेज रायवाला इकाई के छात्रों ने स्वास्थ्य और स्वच्छता को लेकर जागरुकता रैली निकाली। सात दिवसीय प्रशिक्षण के दूसरे दिन बुधवार को कार्यक्रम की शुरूआत प्रार्थना सभा, लक्ष्य और संकल्प गीत, राष्ट्रगान से किया गया।
विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य सोहन सिंह नेगी ने एनएसएस छात्रों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक कराया। इसके बाद छात्रों ने शिविर स्थल से स्वच्छता और स्वास्थ्य पर आधारित जागरुकता रैली निकाली। रैली रेलवे स्टेशन, हनुमान चौक, रायवाला, प्रतीतनगर, मुख्य बाजार से होते हुए वापस शिविर स्थल पर समापन हुई। इसके बाद छात्रों ने स्वच्छता अभियान चलाया। राजकीय दून अस्पताल के डाक्टरों की टीम ने राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर बढ़ती उम्र में होने वाले शरीरिक परिवर्तन के बारे में जानकारी दी। इस दौरान कार्यक्रम अधिकारी सत्ये सिंह राणा, डा. तौफिक अहमद, प्रमोद कंडवाल, निहारिका, मुकेश भंडारी, मोनिका पाल, आशा नेगी,रिशिका नेगी, सुहानी, मानसी, आरती, अमित कुमार, सुमित थापा,ममता, सिया आदि मौजूद रहे।
 

छात्रों ने की छात्रावास खोलने की मांग

देहरादून। डीएवी पीजी कॉलेज के ईसी रोड स्थित छात्रावास को फिर से खोलने की मांग को लेकर छात्रों ने प्रदर्शन किया। बुधवार को छात्रों ने कॉलेज में प्राचार्य कार्यालय में नारेबाजी की। साथ ही चेतावनी दी कि जल्द छात्रावास नहीं खोला गया तो छात्र उग्र आंदोलन करेंगे।
ईसी रोड पर लंबे समय तक डीएवी कॉलेज का छात्रावास चलता था, लेकिन बाद में इसे बंद कर दिया गया। यह छात्रावास कॉलेज की छात्राओं को आवंटित किया जाता था। सत्यम शिवम छात्र संगठन ने बुधवार को कॉलेज में प्रदर्शन किया, साथ ही प्रभारी प्राचार्य का भी घेराव किया। उन्होंने कहा कि छात्रावास बंद होने से गरीब छात्राओं को शहर में महंगे कमरे लेकर रहना पड़ रहा है। संगठन ने छात्रावास को दोबारा शुरू करने की मांग की। प्रदर्शन करने वालों में छात्र संघ के पूर्व महासचिव कपिल शर्मा, सचिन नैथानी, संदीप शर्मा, नरेंद्र शर्मा, जितेंद्र कुमार, आकिब, नीरज चौहान, अमृत, नवीन सकलानी, अनीस समेत अन्य मौजूद रहे।
 

निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन

देहरादून। लोकहित सेवा समिति की ओर से बुधवार को सुभाष नगर स्थित आर्य समाज सत्संग भवन में निशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान 350 लोगों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर उन्हें मुफ्त दवाएं और परामर्श दिया गया।
शिविर में हिमालयन अस्पताल जौली ग्रांट के चिकित्सकों ने सहयोग प्रदान किया। अस्पताल के मुख्य चिकित्साधिकारी डा. वाई एस बिष्ट के नेतृत्व में फिजीशियन, अस्थि रोग, नेत्र रोग, बाल रोग, स्त्री रोग, दंत रोग, ईएनटी, चर्म, पैथोलॉजी और फिजियोथेरेपी विशेषज्ञों ने शिविर में पहुंचे लोगों के विभिन्न रोगों की जांच की। इस मौके पर एक्सरे, रक्त परीक्षण, अल्ट्रासाउंड आदि की सुविधाएं भी मुहैया कराई गई। समिति के अध्यक्ष ले. कर्नल आरएस बिष्ट ने सभी चिकित्सकों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर समिति के संयोजक रमेश चंद्र खंतवाल, सहसचिव धर्मेंद्र चौहान, संरक्षक ब्रिगेडियर एमपी गुप्ता, श्रवण कुमार, लालचंद शर्मा, डा. एसएलएस सरोहा, डा. आरसी नैनवाल, गोपाल कृष्ण मैंदोला आदि मौजूद रहे।
 
 

कांग्रेस ने की नगर निकायों को लेकर बैठक

देहरादून आगामी नगर निकाय चुनावों पर चर्चा हेतु प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय, राजीव भवन, देहरादून में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह जी की अध्यक्षता में गढ़वाल मण्डल के प्रदेश पदाधिकारियों, पी.सी.सी. सदस्यों, जिला एवं शहर कांग्रेस अध्यक्षों, जिला पंचायत अध्यक्षों तथा पार्टी के अनुषांगिक संगठनों के अध्यक्षों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में 2018 के आगामी नगर निकाय चुनावों पर विस्तार से चर्चा हुई तथा उपस्थित सदस्यों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। बैठक का संचालन प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट एवं प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने संयुक्त रूप से किया।  
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  प्रीतम सिंह ने कहा कि भारत का लोकतंत्र दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और लोकतंत्र में ईवीएम पर प्रश्न उठाये गये हैं। यदि कोई शंका उठी है तो उसका निराकरण भी होना चाहिए। कांग्रेस पार्टी उत्तराखण्ड राज्य में आगामी नगर निकाय चुनावों को ईवीएम के स्थान पर बैलेट पेपर से करवाने का समर्थन करती है। ईवीएम की विश्वसनीयता पर प्रश्नचिन्ह के लिए उत्तर प्रदेश के नगर निकाय चुनाव प्रत्यक्ष प्रमाण हैं। भारतीय जनता पार्टी वैलेट से चुनाव कराने से क्यों कतरा रही है? उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों में जहां-जहां वैलेट पेपर का प्रयोग हुआ है वहां-वहां सत्ताधारी दल भाजपा चुनाव हारी है और जहां ईवीएम से हुए वहां जीती है। कांग्रेस पार्टी ईवीएम के मामले में अन्य विपक्षी दलों का भी सहयोग लेगी। 
Ÿप्रीतम सिंह ने नगर निकायों के सीमा विस्तार के सम्बन्ध में बैठक में उठाये गये सवाल पर कहा कि उत्तराखण्ड सरकार द्वारा नादिर शाही फरमान जारी कर प्रदेशभर के नगर निकायों में मनमाने ढंग से किया जा रहा सीमा विस्तार तर्क संगत नहीं है। प्रदेश की जनता के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार के इस फैसले का कड़ा विरोध करती है। सीमा विस्तार में उन्हीं क्षेत्रों को सम्मिलित किया जाना चाहिए जो शामिल होना चाहते हैं जो नहीं होना चाहते उन्हें नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस पार्टी सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए अपना आन्दोलन जारी रखेगी। 
श्री प्रीतम सिंह ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि नगर निकाय चुनाव के सम्बन्ध में सरकार द्वारा अभी तक आरक्षण के सम्बन्ध में कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है क्योंकि सीमा विस्तार के कारण आरक्षण का मामला भी सरकार अपने मनमाफिक करना चाहती है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी पार्टी के प्रत्याशियों को लाभ पहुंचाने के दृष्टिकोण को ध्यान में रखकर आरक्षण सुनिश्चित करना चाहती है। आरक्षण की क्या स्थिति होगी यह भी स्पष्ट नहीं है। कांग्रेस पार्टी आरक्षण के मामले में राज्यपाल से मुलाकात कर कांग्रेस पार्टी का पक्ष भी रखेगी। नगर निकाय चुनाव में प्रत्याशी चयन के बारे में पार्टी का स्पष्ट मत है कि प्रत्येक नगर निकाय में सभी वर्गों के प्रत्याशियों का पैनल तैयार किया जायेगा। आरक्षण की स्थिति स्पष्ट होने के बाद ही प्रत्याशी की घोषणा की जायेगी।    
प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह ने राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार जन विरोधी काम कर रही है। नगर निकायों तथा सहकारी संस्थाओं में कांग्रेस के चुने हुए जनप्रतिनिधियों को राजनैतिक षडय़ंत्र के तहत झूठे आरोप लगाकर हटाने का काम किया जा रहा है। राजनैतिक विद्धेष की भावना से जहां-जहां भी कांग्रेस पार्टी के जनप्रतिनिधि है उनके वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार सीज किये जा रहे हैं। 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह ने कहा कि राज्य सरकार जनभावनाओं को कुचलने का काम कर रही है। कांग्रेसजन सरकार के जन विरोधी फैसलों के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करेगी तथा गांव तक जन समस्याओं के समाधान के लिए पद यात्रायें निकालेगी। 
बैठक में वक्ताओं ने कहा कि निकाय क्षेत्रों में पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा जनहित में स्वीकृत किये गये विकास के कार्यों को भाजपा सरकार द्वारा रोका जा रहा है तथा कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों का उत्पीडऩ किया जा रहा है। 
बैठक को नेता प्रतिपक्ष डॉ0 इन्दिरा हृदयेश, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव प्रकाश जोशी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री किशोर उपाध्याय, उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा, विधायक गोविन्द सिह कुंजवाल, काजी निजामुद्दीन, पूर्व मंत्री श्री नवप्रभात, राजेन्द्र भण्डारी, दिनेश अग्रवाल, मातवर सिंह कण्डारी, विधायक मनोज रावत, ममता राकेश, आदेश चैहान, फुरकान अहमद, ब्रहमस्वरूप ब्रहमचारी, अनुसूया प्रसाद मैखुरी, हीरा सिंह बिष्ट, विजयपाल सजवाण, गणेश गोदियाल, सरिता आर्या, डॉ0 जीतराम, राजकुमार, हेमेश खर्कवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष चमन सिंह, लक्ष्मी राणा, अम्बरीश कुमार, तसलीम अहमद, शैलेन्द्र रावत, बलवीर सिंह नेगी, कुंवर सिंह नेगी, एस.पी. सिंह इन्जीनियर, प्रभुलाल बहुगुणा, महानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चैहान, धीरेन्द्र प्रताप, मुकेश नेगी, जयेन्द्र रमोला, रीता पुष्प्वाण, सूरज राणा, सतपाल ब्रहमचारी, श्याम सिंह चैहान, विजयनारायण सिंह, विरेन्द्र सिंह रावत, ताहर अली, यामीन अंसारी, गोदावरी थापली आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किये। 
बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष शंकरचन्द रमोला, मनोहरलाल शर्मा, अब्दुल रज्जाक, डॉ0 संतोष चैहान, सुरेश कुमार बाल्मीकि, विजय सारस्वत, डॉ0 के.एस. राणा, डॉ0 संजय पालीवाल, सतपाल ब्रहमचारी, ओ.पी. चैहान, राजेन्द्र भण्डारी, दिनेश व्यास, जयपाल जाटव, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक, राजेन्द्र शाह, प्रवक्ता डॉ0 आर.पी. रतूड़ी, गरिम दसौनी, हरिकृष्ण भट्ट, पूर्व महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, घनानन्द नौटियाल, प्रभावती गौड़, पीसीसी सदस्य राजेश चमोली, संजय डोभाल, नरेन्द्र रमोला, राजपाल खरोला, कै0 बलवीर सिंह रावत, इन्द्रप्रकाश अग्रवाल, गिरीश पुनेड़ा, नवीन पयाल, जिलाध्यक्ष कामेश्वर राणा, राजेन्द्र सिंह राणा, हिमांशु बिजलवाण, मनमोहन शाह, सत्येन्द्र नेगी, विरेन्द्र सिंह रावत, मा0 सत्यपाल सिंह, कलीम खान, चन्द्रमोहन खर्कवाल, ईश्वर बिष्ट, सूरत सिंह, नवलकिशोर, हरिमोहन नेगी, अतोल सिंह रावत, कनकपाल परमार, शूरवीर सिंह रांगड़, राजपाल, मोहनानन्द डोभाल, यशपाल चैहान, श्यामलाल आर्या, राजेन्द्र राणा, रमेश उनियाल, अशोक वर्मा, नवीन जोशी, धर्मपाल अग्रवाल, एस.पी. सिंह, धर्मपाल सिंह, चै0 राजेन्द्र सिह, राव कुरबान अली, जगदेव सिंह, प्रकाश रावत, अनिल कठैत, वीरपाल रावत, विरेन्द्र बुटोला, प्रदीप तिवारी, हरिसिंह भण्डारी, माधो अग्रवाल, सुनीता बिष्ट, गौरव चैधरी आदि उपस्थित थे। 
 

विधान सभा अध्यक्ष ने किया नवनिर्मित पंचायत भवन का लोकार्पण

ऋषिकेश। उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने रायावाला क्षेत्र में बाल्मिकि बस्ती में नवनिर्मित पंचायत भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर विधायक देशराज कर्णवाल भी मौजूद थे। इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष व स्थानीय विधायक ने कहा कि इस क्षेत्र में काफी समय से बाल्मिकि समाज की पंचायत भवन की मांग थी जो कि आज बनकर तैयार हो गया है और इसका लाभ अवश्य ही यहां की स्थानीय जनता को मिलेगा।
ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम पंचायत, प्रतीक नगर बाल्मिकि बस्ती में 5 लाख 40 हजार रूपये की विधायक निधि से बने पंचायत भवन का श्री अग्रवाल ने विधिवत रूप से उद्घाटन किया। शुरूवात में पंचायत भवन का बनाने के लिए 2 लाख पचास हजार रूपये की विधायक निधि आवंटित की गयी थी। पंचायत भवन का कार्य अपूर्ण होने की स्थिति में विधान सभा अध्यक्ष द्वारा  2 लाख 90 हजार रूपये की और विधायक निधि देने से पंचायत भवन का कार्य पूर्ण किया गया। इस अवसर पर सुधेश कंडवाल, भगवन जी, गणेश रावत, राजेश जुगरान, कमल जी, हीरा प्रजापति, विकास डंगवाल, अमित बलोधी, मुकेश भट्ट, बीना जी, अनिता पांचाल एवं अन्य लोग उपस्थित थे।
 

 

मित्र पुलिस दिखा रही दबंगई

देहरादून। उत्तराखंड मित्र पुलिस के पहाड़ों के नए नए कारनामे सामने आ रहे है एक ओर जहां पुलिस विभाग अपनी साफ छवि को बनाने में हो कसर नहीं छोड़ रही है तो वहीं दूसरी ओर कुछ अधिकारी ऐसे भी है जो वर्दी का घौंस दिखाने में गुरेज नहीं कर रहे है। इन अधिकारियोंं का आलम यह है कि पहाड़ के सीधे साधा लोगो पर दबगई दिखाते हुए मनमानी करते हुए है। मामला बीते दिन चमोली जिले के पोखरी का है, मंगलवार को हापला कलसिर से आने वाली गाड़ी सवारियों को उतार रही थी। इस दौरान पीछे से एक टाटा सूमो ने  टक्कर मारी। इस दौरान सूमो में सवार लोगों ने उसे रोका तो वह उल्टे खड़ी टाटा सूमो के ड्राइवर पर दोष लगाते हुए उस पर चढ़़ गया। मामला तब और बिगड़ गया जब पुलिस ने टक्कर मारने वाले का सहयोग करते हुए आगे आई। इस पर सवारियों में एक फौजी द्वारा पीडि़त की मदद के लिए आगे आने पर मौजूद पुलिस अधिकारी ने पहले तो उसे धमकाया।
धमकाने के बाद उसे नौकरी से निकलवाने की भी धमकी देने लगा। इस पर कलसिर गांव की एक महिला ने आगे आते हुए कहा कि हा इसने पीछे से टक्कर मारी ने एसआई ने उस महिला को भी धुतकारते हुए मजाकिया अंदाज में कहा कि क्या दीदी तू झूठ बोल रही है, खा अपने बच्चों की कसम। यह कहकर ग्रामीण महिला को पुलिस ने चुप करा दिया। स्थिति यहीं नहीं रूकी पुलिस अधिकारी ने फौजी को धमकाते हुए कहा कि फौजी होगा तू अपने फौज में तूझे नौकरी से निकलवाता हूं जो मैने कह दिया वह अंतिम निर्णय है। दे इसे पैसे निकाल कर वरना तेरी गाड़ी सीज करता हूं। कुछ देर हंगामा कर वह वहां से टक्कर मारने वाले टाटा सूमो के डाइवर के साथ निकल गया। इस पर फौजी ने अपने उसे सीमा में रहने को कहा तो वह उसे मामले से बाहर रहने को कहने लगा। फौजी सुंदर सिंह ने  मामले की गंभीरता और ग्रामीणों पर वर्दी की घौंस को देखते हुए इसकी शिकायत एसडीएम कार्यालय में पत्र सौंपकर की। इस पत्र में केवल पहाड़ों में मित्र पुलिस की छवि को बरकरार रखते हुए दबंगई दिखाने वाले एसआई के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। फौजी के अनुसार वह तो केवल छुटटी पर गांव में आया और इस तरह की वाकिए से भुगतना पड़ा। न जाने उन ग्रामीणों का क्या होता होगा जो इस तरह रोजाना ही इस तरह की वारदातो से गुजरते है। 
 
 
 
 

हिला सुरक्षा को लेकर ई प्रोटेक्शन फाउडेशन लॉच

देहरादून। प्रदेश में महिलाओं के बढ़ते क्राइम रेट को देखते हुए साइबर रेडिक्स एकेडेमी फर फ्यूचर टेक््रोलजी की ओर से ई प्रोटेक्शन फाउडेशन एप लॉच किया गया। हिन्दी भवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान  फाउडेशन की विस्तार से जानकारी देते हुए अंकुर चंद्रकान्त ने बताया कि  पिछले दिनों देखने में आया है कि महिलाओं के साथ होने वाले क्राइम में सबसे ज्यादा शिकायतें साइबर उत्पीडऩ और साइबर क्राइम से संबधित रही।  
इसी को देखते हुए महिला सुरक्षा को लेकर यह इस फाउडेशन को लॉंच किया गया।  ई प्रोटेक्शन फाउडेशन  भारत की पहली ऐसी स्वयं सेवी संस्था है, जो उन पीडि़त महिलाओं की मदद करती है जो किसी ना किसी प्रकार के साइबर अपराध का शिकार हुई हैं। इस संस्था द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं को निशुल्क साइबर ट्रेनिंग मुहैया करवायी जाएगी।  अंकुर चंद्रकांत (साइबर सिक्योरिटी एवं फरेंसिक एक्सपर्ट) ने  बताया कि ई प्रोटेक्शन फाउडेशन के अब तक 22 शहरों में करीब 200 वलिंटियर्स कार्य कर रहे हैं। जिनकी, संख्या अगले तीन माह में 5,000 पहुंच जाने की संभावना है। कार्यक्रम के दौरान साइबर क्राइम से जुड़े मुददो पर काम कर रहे  40 वलिंटियर्स को प्रशस्ति पत्र भी सौपे गए। भविष्ट ये यह वॉलिटियर्स इस संबधी मुद्दों पर काम करेगे। इस दौरान देवभूमि जनसेवा समिति के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नेगी, अनुग्रह डंगवाल, आदर्श पंत, सूर्यांशी कुमारी, विशा आले, वैशाली गुरुंग, सौरभ डंडरियाल, कनिका, दिव्या, रजत, यश, सिमरन आदि मौजूद रहे।
 
 
 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री आवास का भ्रमण किया

देहरादून । बुधवार को प्रात: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं यूपी के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के साथ मुख्यमंत्री आवास का भ्रमण किया। उन्होंने परिसर में स्थापित मन्दिर में पूजा-अर्चना की तथा गौशाला में गायों को गुड़ भी खिलाया। उन्होंने परिसर के प्राकृतिक सौन्दर्य तथा स्वच्छ पर्यावरण की सराहना की। उन्होंने परिसर में गौशाला स्थापना की भी प्रशंसा की।
इसके पश्चात यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं यूपी के उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा, जीटीसी हेली पैड से शिमला के लिये रवाना हुए तथा हिमाचल प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के शपथ ग्रहण समारोह में सम्मिलित हुए। ज्ञातव्य है कि मंगलवार को देर सांय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ एवं उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा मुख्यमंत्री आवास पहुंचे। मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उनका शॉल एवं गंगाजली भेंट कर स्वागत किया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ एवं उप मुख्यमंत्री श्री दिनेश शर्मा ने रात्रि विश्राम मुख्यमंत्री आवास पर ही किया। 
 
 
 

नियमों को ताक पर रखकर जी हुजूरी में जुटा प्रशासन

देहरादून। उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भारी बहुमत से सरकार बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी अब रौब गालिब करते घूम रहे हैं। भगवा का भय प्रशासनिक अमले पर इस कदर हावी हो चुका है कि वह बड़े नेताओं के इर्द गिर्द मंडराते फिर रहे हैं। ताजा मामला भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट से जुड़ा है। जिनकी जी हुजूरी में प्रशासनिक अधिकारियों ने सारे नियम कायदे ही ताक पर रख डाले। मंगलवार को शहर आए प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को प्रशासन ने वो सारी सुविधाएं मुहैया कराई जो किसी मंत्री को दी जाती हैं और जब इस पर सवाल खड़े हुए तो एक के बाद एक सभी अपनी बगले झांकते नजर आए। हालांकि भाजपा नेताओं के इस ठाठ को अब कांग्रेस ने मुद्दा बना लिया है। पूर्व में रानीखेत विधानसभा सीट से विधायक रहे अजय भट्ट को इस मर्तबा भले ही अपनी सीट गंवानी पड़ी हो, लेकिन पार्टी में उनका ओहदा कम नहीं हुआ। वह पहले भी प्रदेश अध्यक्ष थे और हारने के बाद भी पार्टी ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखने का फैसला लिया था। इससे साफ है कि अजय भट्ट का रुतबा अब भी बरकरार है और यह रुतबा अब प्रशासनिक अमले के सिर भय की तरह मंडरा रहा है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट मंगलवार को किच्छा बाईपास रोड स्थित लेक पैराडाइज झील में आयोजित हुए कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे। यह पूर्व प्रधानमंत्री अजय बिहारी बाजपेयी का न सिर्फ जन्म दिन मनाया गया, बल्कि कार्यकर्ताओं का सम्मान भी किया गया। यहां से प्रदेश अध्यक्ष को एक व्यक्तिगत कार्यक्रम में शिरकत करने जाना था। नियमों के मुताबित स्कॉट की सुविधा मंत्री स्तर के व्यक्ति को ही मुहैया कराई जाती है, लेकिन यहां प्रशासनिक अमला अजय भट्ट के लिए सारे नियम कायदे तोड़ते नजर आए। लेक पैराडाइज से निकले अजय भट्ट की अगुवाई स्कॉट ने की। इतना ही नहीं उनके साथ तहसीलदार भी मौजूद रही। लेक पैराडाइज झील से अगुवाई करता स्कॉट प्रदेश अध्यक्ष के काफिले को उस व्यक्तिगत कार्यक्रम में लेकर पहुंचा, जहां उन्हें जाना था। इस कार्यक्रम में अजय भट्ट ने करीब आधा घंटे का समय दिया और तब तक स्कॉट अजय भट्ट की गाड़ी के आगे खड़ी रही। कार्यक्रम से निकलने के बाद भी स्कॉट अजय भट्ट के साथ ही हूटर बजाती हुई रवाना हुई। 
अब इसे भगवा का भय ही कहा जाएगा कि अधिकारी नेताओं की जय जय करने पर मजबूर हैं। या फिर इसके पीछे कोई और वजह भी है। बहरहाल, किसी और वजह का तो पता नहीं क्योंकि खुद अजय भट्ट को भी नहीं पता कि उनके साथ स्कॉट क्यों है? हालांकि जब उनसे पूछा गया कि क्या आपने पता करने की कोशिश की कि आपके के साथ इतनी सुरक्षा क्यों बरती जा रही है तो वह भी इसका स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। 
अजय भट्ट, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा पिछले दो दिन से मैं अपने साथ स्कॉट देख रहा है, लेकिन मुझे इसकी जानकारी नहीं है कि मेरे लिए स्कॉट क्यों लगाई गई है। अगर शासन स्तर से भी इसका प्रबंध कराया गया है तो मुझे इसकी जानकारी नहीं दी गई है। हां एक बार मैं हरिद्वार में जाम में फंस गया था। जिसकी मैनें शिकायत की थी। तो हो सकता है कि इसी वजह से मुझे यह सुविधा दी गई हो। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत वर्तमान में सरकार भाजपा की है। वैसे तो यह सत्ता का दुरुपयोग है। यदि मैं इस मामले में कुछ भी खुलकर बोलता हूं तो यह व्यक्तिगत हो जाएगा। जगदीश कांडपाल, प्रोटोकॉल इंचार्ज सुरक्षा की दृष्टि स्कॉट की व्यवस्था पुलिस करती है। जबकि एसडीएम या तहसीलदार कैबिनेट मंत्री के साथ स्कॉट में होते है, लेेकिन हमने प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को कोई स्कॉट उपलब्ध नहीं कराया है। अगर ऐसा हुआ है तो इसकी न तो हमसे अनुमति ली गई और न ही हमें किसी प्रकार की जानकारी दी गई है। 
 

मनीष रावत चमके, उत्तराखण्ड को मिला पहला गोल्ड

देहरादून। स्पोट्र्स कॉलेज में चल रही आल इंडिया पुलिस एथलेटिक्स चौंपियनशिप में मनीष रावत ने उत्तराखंड पुलिस के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता। 20 किमी रेस वॉक में उन्होंने यह सफलता हासिल की। उन्होने 1 घंटे 25 मिनट 37 सेकंड में रेस पूरी कर प्रथम स्थान हासिल करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया। बीएसएपफ के कुलवन्त सिंह (1 घंटे 26 मिनट 43 सेकंड) द्वितीय व सीआरपीएपफ के जय भगवान (1 घंटे 27 मिनट 39 सेकंड) तृतीय स्थान पर रहे। पुरूष वर्ग की 1500 मीटर दौड़ में सीआरपीएफ के बीर सिंह ने 3.54.80 मिनट में दौड़ पूरी कर प्रथम स्थान प्राप्त किया।
उत्तराखण्ड के हरीश कोरंगा द्वारा 3.54.84 मिनट में दौड़ पूरी कर द्वितीय स्थान प्राप्त करने रजत पदक अपने नाम किया। राजस्थान के मुकेश कुमार ;3.57.88. तृतीय स्थान पर रहे। महिला वर्ग की 10000 मीटर रेस वॉक में पंजाब की खुशबीर कौर ने 44.33.50 मिनट में दौड़ पूरी कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। सीआरपीएफ की सोमिया बी. 46.22.40. द्वितीय व सीआईएसएपफ की रजनी 49.23.10. तृतीय स्थान पर रहीं। महिला वर्ग की जैवलिन थ्रो में पंजाब की रूपिन्दर कौर द्वारा 52.24 मीटर जैवलिन पफेंककर प्रथम स्थान प्राप्त किया। सीआरपीएफ की चुम्की चौधरी द्वारा 44.21 मीटर जैवलिन फेंककर द्वितीय स्थान तथा सीआईएसएपफ की प्रिंयका सिंह द्वारा 43.46 मीटर जैवलिन फेंककर तृतीय स्थान प्राप्त किया।
 
 

कड़ाके की ठंड से ठिठुर रहा उत्तराखंड, 28 से बदलेगा मौसम

देहरादून। राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों से लेकर मैदान तक इन दिनों कड़ाके की ठंड से ठिठुर रहे हैं। कई जिलों में न्यूनतम तापमान चार डिग्री से नीचे चला जा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में उत्तराखंड का मौसम शुष्क रहेगा। आसमान साफ रहने के साथ ही आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे। मैदानी भू-भाग में ठंड का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पंतनगर में न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। उत्तराखंड के चारधाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री में दिन के समय धूप खिलने से कुछ राहत मिल रही हैए लेकिन सुबह-शाम कड़ाके की ठंड से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। वहीं, मुक्तेश्वर का न्यूनतम तापमान 3.8 और नई टिहरी का 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग की मानें तो 28 दिसंबर से मौसम बदलने की संभावना है। इसके बाद चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ में हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है। 
दून में आंशिक रूप से बादल छाए हैं। दून का अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमशरू 23 व सात डिग्री रहने की संभावना है। दून का अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश सामान्य से दो डिग्री अधिक 22.8 व एक डिग्री अधिक 7.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया गया था।
 

मसूरी विन्टर कार्निवाल में विभिनन कार्यक्रम आयोजित

देहरादून। मसूरी विन्टर कार्निवाल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम की श्रृंखला में आज तीसरे दिन प्रात: 07 बजे से नेचर वाक इन बिंनोग माउन्टेन क्वैल सैंचुरी, स्केटिंग गढवाल टैरेस, मॉल रोड पर जतिन कपूर द्वारा ''टेऊजर हंटÓÓ कार्यक्रम,  11 बजे मसूरी श्री गोपाल भारद्वाज द्वारा मसूरी की 200 वर्ष पुराने चित्रमय इतिहास की प्रदर्शनी का आयोजन, सांस्कृतिक एवं संगीत कार्यक्रम, म्यूजियम शाकेसिंग हिमालयाज डिफरेन्ट आर्ट, 3 बजे जुमेलो गु्रप आफ मसूरी द्वारा जुमेलो डांस की प्रस्तुति तथा अन्य संगीतमय कार्यक्रम आयोजित किये गये।
कार्यक्रम स्थल होटल विकास के ग्राउण्ड में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में सायं 6 बजे से राशी पंत  एवं चित्रांक पंत की (क्लासिकल वोकालिस्ट एवं तबला वादन) प्रस्तुति, 6:45 बजे से मनोरमा रावत एवं भूमिका रावत की क्लासिकल नृत्य की प्रस्तुति, 7:30 बजे राकेश श्रीवास्तव द्वारा मैजिक शौ की प्रस्तुति, 8:30 बजे श्री भगवती प्रसाद द्वारा मौहम्मद रफी के गीत की प्रस्तुति, तथा रात्रि 9 बजे पर्वतीय बिगुल सामाजिक सांस्कृति संस्था द्वारा लोक नृत्य एवं संगीत की प्रस्तुति दी जायेगी। उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद देहरादून के तत्वाधान में 28 एवं 29 दिसम्बर को विन्टर लाईन कार्निवाल के दौरान माल रोड मसूरी में ''फूड फेस्टिवलÓÓ का आयोजन करवाया जा रहा है। फूड फेस्टिवल का शुभारम्भ/उद्घाटन होटल गढवाल टैरिस मसूरी में 28 दिसम्बर 2017 को पूर्वाहन 11:30 बजे निर्धारित है।
 

जिला सूचना कार्यालय का अब कचहरी में बनेगा

देहरादून। जिला सूचना कार्यालय जो 9 एस्लेहॉल देहरादून में किराये के भवन में संचालित हो रहा था जिसका संचालन अब  19 कचहरी परिसर देहरादून से किया जायेगा। जिसके लिए जिला सूचना अधिकारी अजय मोहन सकलानी एवं कार्यालय के समस्त कर्मचारियों द्वारा जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन द्वारा उपलब्ध कराये गये 19 कचहरी परिसर में विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना एवं हवन किया गया।  
इस अवसर पर कलैक्टेऊट परिसर के कई अधिकारियों एवं कार्मिक  पूजा अर्चना एवं हवन में शामिल हुए। जिला सूचना अधिकारी अजय मोहन सकलानी ने अवगत कराया कि जिला सूचना कार्यालय भवन जो  9 एस्लेहॉल में संचालित हो रहा था जिसका काफी लम्बे समय से भवन स्वामी द्वारा मा0 न्यायालय में वाद दायर किया गया था, जो कि मा न्यायालय द्वारा अपना निर्णय भवन स्वामी पक्ष में दिया है तथा मा उच्च न्यायालय के आदेशों के अनुपालन में जिला सूचना कार्यालय को अब नये स्थान कचहरी परिसर में स्थानान्तरित किया जा रहा है। जिसके लिए उन्होने जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जिलाधिकारी द्वारा जिला सूचना कार्यालय को अपने अधीन ही कार्यालय उपलब्ध कराया है। उन्होने जनपद से प्रकाशित होने वाले  समाचार पत्र/पत्रिकाओं के स्वामी, मुद्रक, प्रकाशकों एवं आम जनमानस से अपेक्षा की है कि जिला सूचना कार्यालय में उपलब्ध कराये जाने वाले  समाचार पत्रों एवं अन्य किसी जानकारी एवं पत्राचार के लिए अब 19 कचहरी परिसर में स्थापित किये गये सूचना कार्यालय के पते पर की जा सकती है।
इस अवसर पर जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी डॉ दीपशिखा रावत, मुख्य वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी सुखदेव शर्मा, श्रीमती अनिता सकलानी, अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी वीरेन्द्र राणा, संरक्षक रती लाल शाह, कनिष्ठ सहायक इन्द्रेश चन्द्र, वाहन चालक लक्ष्मण सिंह, अनुसेवक प्रतिभा लक्ष्मी , पंकज आर्य, एवं कलैक्टेऊट के अधिकारी कर्मचारियों सहित सतीश अग्रवाल, शोभाराम, सुमन सदाबादी, सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।  
 

न्यू इयर सेलीब्रेशन के लिए पहाड़ों की रानी तैयार

देहरादून। नववर्ष के जश्न को पहाड़ों की रानी मसूरी पूरी तरह से सज चुकी है। क्रिसमस से ही यहां पर्यटकों की हुजूम उमडऩे लगा है। नतीजाए नगर के 350 होटलों में से बड़े एवं नामी होटलों की 90 फीसदी बुकिंग हो चुकी है। छोटे एवं मध्यम होटल और अतिथिगृहों की बुकिंग भी इन दिनों पीक पर चल रही है। पुलिस ने रात आठ बजे के बाद आने वाले वाहनों को बुकिंग संबंधी जानकारी देने के बाद ही कुठालगेट बैरियर से आगे जाने देने का निर्णय लिया है। नववर्ष के जश्न को यादगार बनाने के लिए महानगरों के लोग हिल स्टेशनों को ज्यादा पसंद करते हैं।
मैदानी क्षेत्रों में धुंध समेत अन्य तमाम समस्याओं को देखते हुए लोग नजदीकी एवं प्रसिद्ध हिल स्टेशनों का रुख करते हैं। इनमें पहाड़ों की रानी मसूरी व सरोवर नगरी नैनीताल का नाम सबसे ऊपर होता है। इस साल भी पहाड़ों की रानी के दीदार को पर्यटकों की डिमांड सबसे ज्यादा है। पर्यटन, पुलिस और होटल एसोसिएशन से मिले इनपुट के आधार पर मसूरी के 350 होटलों में से 60 फीसद एडवांस में ऑनलाइन बुक हो चुके हैं। इनमें भी नामी एवं बड़े होटलों की बुकिंग तो 90 फीसद तक जा पहुंची है। बाकी होटलों की बुकिंग पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर हो रही है। बुकिंग 30 दिसंबर तक जारी रहेगी। मसूरी प्रशासन व होटल संचालकों की ओर से जश्न मनाने आने वालों पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई गई है। मगर, पुलिस ने सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं के मद्देनजर रात आठ बजे के बाद वाहनों को चेकिंग के बाद ही देहरादून से मसूरी भेजने की सलाह दी है। 
 

विस अध्यक्ष ने किया फिटनेस योगा एवं एडवेंचर कैंप का उद्घाटन

ऋषिकेश। एडवेंचर पैराडाइज रिर्सोट, निकट राजा जी नेशनल पार्क, चिला मे लाइव यंग कम्पनी के तत्वाधान में आयोजित फिटनेस योगा एवं एडवेंचर कैंप का उद्घाटन उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने किया।
शिविर को संबोधित करते हुए विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग एक अच्छा माध्यम है। लोग अपने शरीर को प्रतिदिन योग कर स्वस्थ रख सकते हैं। योग को घर-घर तक पहुंचाना हम सभी का कर्तव्य बनता है।  उन्होंने कहा कि लोग शराब को छोड़ योग को अपनाएं तभी शरीर स्वस्थ रह सकता है। 
विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि योग से व्यक्ति का शारीरिक मानसिक एवं आध्यात्मिक विकास होता है। भारत में प्राचीनकाल से ही योग की अत्यधिक महत्ता रही है। हमारी भूमि ऋषि-मुनियों की रही हैं, जिन्होंने योग को आत्मसात करने की प्रेरणा दी। योग तनावमुक्त तथा व्याधिमुक्त जीवन जीने में सार्थक एवं अहम भूमिका निभाता है। उन्होंने आयोजन की सराहना करते हुए आह्वान किया कि अधिक से अधिक संख्या में आकर आयोजित शिविर का लाभ उठाएं। 
इस अवसर पर वैज्ञानिक डा0 वी0पी0 भट्ट, डा0 वैशाली शैनी जगमोहन बिष्ट, चेतन शर्मा, भरत लाल, गजेन्द्र नागर, पंकज शर्मा, राजेश गौतम, कार्यक्रम संयोजक मोहित पाण्डे, प्यारेलाल रणाकोटी, संजय चमोली, आर्युवेद सपेशलिस्ट डा0 रजनी दुबे एवं अन्य लोग उपस्थित थे।
 

शक्तिनहर में डूबने से महिला की मौत

विकासनगर। कोतवाली अंतर्गत शक्तिनहर के पुल नंबर दो के पास सहेली के साथ घूमने गई बुजुर्ग महिला अचानक नहर में उतर गई और डूब गई। महिला पिछले कुछ दिनों से बीमार थी और अपने पुत्र के पास डाक्टर को दिखाने आई थी। जल पुलिस ने नहर में लापता महिला को तलाश किया। कुछ देर बाद महिला का शव बरामद हो गया। पुलिस ने शव मोरचरी में रखवा दिया है। परिजन पोस्टमार्टम न कराने के लिए संबंधित अधिकारी से परमिशन लेने गए हैं। समाचार लिखे जाने तक महिला के शव का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया था।
जानकारी के अनुसार मूल रूप से चकराता ब्लाक के दाबला गांव निवासी हरो देवी 65 पुत्र मोहर ङ्क्षसह के पुत्र का पुल नंबर दो के पास चिरंजीपुर में मकान है। पिछले कुछ दिन से बीमार हरो देवी हाल ही में पुत्र के पास इलाज कराने आई थी। मंगलवार दोपहर में हरो देवी पास की एक महिला के साथ घूमने के लिए पुल नंबर दो की तरफ गई कि अचानक बुजुर्ग महिला नहर के किनारे पहुंची और नहर में गिरकर लापता हो गई। सूचना पर चौकी इंचार्ज नीलाभ खाली मय पुलिस बल के मौके पर पहुंचे। जल पुलिस को बुलाकर राफ्ट के जरिए महिला की तलाश कराई। नहर में कांटा डालकर तलाश की गई तो महिला का शव बरामद हो गया। पुलिस पूछताछ में महिला के पुत्र ने पुलिस को बताया कि उनकी माता उपचार कराने के लिए आयी थी, जो नहर में फिसलने के कारण गिरी है। चौकी इंचार्ज नीलाभ खाली के अनुसार परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम न कराने का आग्रह किया, जिस पर पुलिस ने शव मोरचरी में रखवा दिया है और परिजनों से पीएम न कराने की परमिशन लाने को कहा है।
 

मॉल प्रबंधक और सहायक प्रबंधक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

देहरादून। राजपुर रोड स्थित पैसिफिक मॉल प्रबंधक और सहायक प्रबंधक को राजपुर रोड की ट्रैफिक व्यवस्था में खलल डालना महंगा पड़ गया। मॉल के दोनों अधिकारियों के खिलाफ इसे लेकर राजपुर थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। दरोगा ज्योति प्रसाद उनियाल ने प्रकरण की जांच शुरू कर दी है।
जाखन चौकी प्रभारी उमेश कुमार ने बताया कि क्रिसमस के दौरान मॉल में बड़ी संख्या में भीड़ पहुंची। इससे रविवार शाम मॉल के सामने ब्लाइंड स्कूल तक लंबा जाम लग गया। जबकि मॉल संचालक ने अंदर वाहनों का पार्किंग प्रवेश रोक दिया। इस वजह से वाहन चालक मॉल के गेट के सामने अपने वाहन रोकने लगे। इस दौरान ही डीजीपी को उक्त मार्ग से गुजरना था। वीआईपी मूवमेंट होने के चलते चौकी प्रभारी ने मॉल प्रबंधक निखिल भाटिया और रोहित मिश्रा से मॉल के अंदर की पार्किंग खोलने और बाहर पर्याप्त गार्ड तैनात कर ट्रैफिक को तजी से चलाने को कहा। आरोप है कि इस दौरान मॉल के दोनों अधिकारी ट्रैफिक व्यवस्था में सहयोग करने के बजाए चौकी प्रभारी पर रौब दिखाने लगे। दोनों पक्षों के बीच बोलचाल हुई तो दोनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने ट्रैफिक व्यवस्था में बाधा डालने और ड्यूटीकर्मी से अभद्रता करने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।
 

युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने की प्रमुख वन संरक्षक से मुलाकात

देहरादून। शिव सेना की यूथ विंग युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने प्रमुख वन संरक्षक से मिलकर कहा है कि सहस्त्रधारा रोड पर मयूर विहार, केवल विहार व आसपास के क्षेत्रों में गुलदार देखा जा रहा है, नरभक्षी गुलदार को पिंजरा लगाकर शीइा्र ही पकडा जाना चाहिए, जिससे क्षेत्रवासियों में गुलदार के कारण भय का माहौल को खत्म किया जा सके।
यहां युवा सेना के प्रदेश अध्यक्ष राहुल चौहान के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रमुख वन संरक्षक से मुलाकात करते हुए कहा है कि इस क्षेत्र में यह नरभक्षी गुलदार दो पशुओं को अपना निवाला बना चुका है और एक राहगीर को घायल भी कर चुका है। नरभक्षी गुलदार के कारण क्षेत्रवासियों में भय का वातावरण बना हुआ है और वह घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे है। वहीं राजपुर रोड स्थित प्लेजेंट वैली के पीछे अवैध प्लाटिंग कर हरे पेड काटे गये है और नाले और पहाड को खोदकर की जा रही प्लाटिंग के मामले में भी जांच करते हुए जिम्मेदार वन कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाये और हरे पेड काटने पर रोक लगाई जाये। सहस्त्रधारा रोड स्थित वन चौकी में अतिरिक्त वन कर्मियों की तैनाती की जाये जिससे आपात स्थिति होने पर उक्त वन कर्मियों की मदद सहस्त्रधारा रोड पर रहने वाले क्षेत्रवासी ले सके। इस अवसर पर प्रमुख वन संरक्षक ने उचित कार्यवाही करने का भरोसा दिया। इस अवसर पर सचिन दीक्षित सहित अनेक कार्य मौजूद थे।

.