Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

शराब माफियाओं ने आबकारी टीम को दौड़ाया

Rudrapur : गणतंत्र दिसव (Republic Day) के अवसर पर अवैध शराब के खिलाफ छापामार कार्रवाई करने पहुंची आबकारी टीम (State Excise) को शराब माफियाओं ने घेर कर जान लेवा हमला दिया। टीम में शामिल कर्मियों ने बमुश्किल भाग कर जान बचाई। इस दौरान आबकारी निरीक्षक महिला समेत कई चोटिल हो गये। पुलिस ने पहुंचने की सूचना पर माफिया घर छोड़ भाग गये। बाद में पुलिस व आबकारी ने घर में तलाशी ली। तलाशी के दौरान अवैध शराब बरामद हुई। पुलिस ने मकान को सीज कर दिया है। आबकारी विभाग के मुताबिक देर सांय करीब ४ बजे विभाग के निरीक्षक महेन्द्र सिंह बिष्ट के नेतृत्व में आबकारी निरीक्षक महिला दीप्ति,उपआबकारी निरीक्षक पूरन चन्द्र जोशी,दीपक कुमार,संजय कुमार समेत आदि बगवाड़ा क्षेत्र में शराब की बिक्री की चेंकिग के लिये गये। इस दौरान बगवाड़ा भट्टे को जाने वाली सडक़ पर भीड़ लगी होने पर जानकारी ली और मौके पर पहुंचे। मौके पर अवैध शराब बेची जा रही थी। बिष्ट के मुताबिक शराब बेच रहे माफिया को ललकारा तो वह लोग गाली गलौज पर उताऊ हो गये और घातक हथियार लेकर हमला वर हो गये। बाद में टीम को उक्त लोगो ने घेर कर हमला कर दिया। जिससे आबकारी निरीक्षक महिला दीप्तिसमेत कई चोटिल हो गये। माफियाओं के हमले के दौरान टीम भी भाग खड़ी हुई। इसी बीच आबकारी टीम पर हमले की सूचना पर सीओ सिटी राजीव मोहन एसओ ट्रांजिट कैंप सुशील कुमार,रम्पुरा चौकी प्रभारी अशोक धनकड़,एसआई आरसी तिवारी,भूपाल सिंह पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे। बताया जा रहा है कि पुलिस के पहुचने की सूचना पर शराब माफियां घर छोड़ भाग गये। बाद में पुलिस व आबकारी टीम ने शराब बनाने के उपकरणों को तहस नहस कर दिया। घर की तलाशी के दौरान शराब भी बरामद हुई। पुलिस ने आरोपी के मकान को सीज कर दिया।

जान से मारने की नीयत से धारदार हथियार से किया था वार

सूत्र बताते हैं कि आबकारी टीम द्वारा बगवाड़ा भट्टा में छापामार कार्रवाई के दौरान अवैध शराब बेच रहे शराब माफियाओं और टीम के बीच जमकर हाथापाई हुई। हाथापाई के दौरान माफियाओं ने टीम के सदस्यों को पकड़ लिया और गर्दन पर धारदार हथियार रख दिया। जिससे वहां पर भगदड़ सी मच गई। चर्चा तो यहां तक हैं कि हमले के दौरान टीम ने गाडिय़ों के नीचे छिप कर जान बचाई। घटना के दौरान मौके पर अफरा तफरी भी मच गई थी। सडक़ पर लोग भी इधर उधर भागते हुये नजर आये। चर्चा है कि आबकारी विभाग पर हथियार नहीं हैं,फिर ऐसे क्षेत्र में जहां माफियाओं का राज चलता है,वहां बिना हथियार लिये जाने पर जोखम भरा का हैं। 

मुकद्मा दर्ज

आबकारी निरीक्षक महेन्द्र सिंह बिष्ट की ओर से कोतवाली में टीम पर हमला करने व जान से मारने की नीयत से वार करने के मामले में जोगेन्द्र सिंह,उसका पुत्र गुरदेव सिंह,पत्नी हरवंश कौर,जसवंत सिंह के अलावा दो अन्य के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धारा १४७,१४९,३०७,३३२,३३३,३४२,३५३,५०६ के तहत मुकद्मा दर्ज किया है। कोतवाल जेसी पाठक ने बताया कि आरोपियों की तलाश्र की जा रही है। मामले की जांच एसआई आरसी तिवारी को सौंपी है।

 

CM spent time with the participants of Republic Day Celebrations

Dehradun : The Chief Minister Harish Rawat in a program organized at the CMs residence at Cantt Road, congratulated groups from Police, ITBP, SSB, NCC Cadet, Police bands and retired soldiers for a good performance during the Republic Day celebrations. 

The Chief Minister Harish Rawat said that the presentation put up by all departments has been praiseworthy. He said that the Governor was also pleased with the program. 

The CM said that this program was organized for the first time after state formation but will be organized every year from now on. This will now be organized each year and will be a new tradition. He stated that 10 workers from Uttarakhand have been felicitated with the President’s award which is a matter of pride. 

All those present in the program (Personnel from Police, ITBP, SSB, NCC, retired soldiers) were elated to be congratulated by the CM Harish Rawat. They were all excited to get clicked with the CM of the state. The CM matched their excitement and got photographs clicked with everyone present. He gave all of them deserved respect for their participation in Republic Day celebrations. 

The CM assured that this program will be organized in a systematic manner from the coming year and participants will be presented with mementos. He extended his gratitude to everyone present. He stated that the retired soldiers are the pride of the state. He also congratulated the NCC Cadets. He added that the celebrations would have been incomplete without the cultural performance. 

Present on the occasion were Dr. Indira Hridayesh, Chief Secretary N Ravishankar, Additional CS Rakesh Sharma, S Raju, DGP BS Sidhu and DG Information Chandresh Kumar among several others. 

बाईक सवार युवकों ने किया दिनदहाड़े लूट का प्रयास

Dehradun : थाना डालनवाला क्षेत्र में मंगलवार को दिनदहाड़े दो बाईक सवार युवकों ने एक नर्सिंग होम के कैशियर से चार लाख रूपयों से भरा बैग छीनने का प्रयास किया। पुलिस का दावा है कि बदमाश बैग ले जाने में सफल नहीं हो पाए जबकि दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि बदमाशों ने छीनाझपटी के दौरान बैग से गिरे कुछ रूपए लूट भी लिए हैं। पुलिस के अनुसार नर्सिंग होम के बाहर लगे सीसीटीवी पर इन बदमाशों की साफ तस्वीर दर्ज हुई है जबकि बाईक के नंबर के बारे में भी जानकारी मिली है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही इन बदमाशों को दबोच लिया जाएगा। इस मामले में अस्पताल के अंदर से ही रेकी किए जाने की भी बात सामने आ रही है।

गणतंत्र दिवस पर कड़े सुरक्षा प्रबंधों को लेकर पुलिस भले ही अपनी पीठ ठोंक रही हो लेकिन इस आयोजन के पूरा होने के साथ ही बदमाशों ने पुलिस व्यवस्थाओं को ताक पर रखते हुए दिनदहाड़े लूट की वारदात को अंजाम दे डाला। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार दिन में वैश्य नर्सिंग होम का कैशियर नयाराम सिंह चार लाख रूपए एक बैग में रख कर पास ही के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में पहुंचा। जैसे ही वह बाहर निकला तभी बाहर सडक़ पर एक युवक ने उनकी आंख में मिर्च झोंक दी और बैग छीनने का प्रयास किया। आंखों पर मिर्च झोंकने के बावजूद भी नयाराम सिंह ने बैग को नहीं छोड़ा और मदद के लिए चिल्लाने लगा। कुछ देर तक दोनेां के बीच बैग को छीनने को लेकर छीना झपटी हुई लेकिन बाद में बदमाश अपने एक साथी जो कि कुछ ही दूरी पर खड़ा था, बाईक में बैठ कर फरार हो गए। सूचना मिलने पर डालनवाला पुलिस मौके पर पहुंची और आसपास के लोगों से पूछताछ की। प्राथमिक उपचार के बाद नयाराम सिंह से भी पूछताछ की गयी लेकिन उसका कहना है कि सब कुछ इतनी तेजी से हुआ कि वह मिर्च झोंेकने वाले बदमाश का चेहरा ही नहीं देख पाया। बताया जा रहा है कि इन दोनों युवकों को कुछ देर पहले ही यहां बैठे हुए देखा गया था। 

उधर मौके पर पहुंची पुलिस का दावा है कि यह लूट में पैसा सुरक्षित है और छीनाझपटी के बावजूद भी बदमाश पैसा ले जाने में सफल नहीं हो पाए। हालांकि पुलिस भले ही पैसे न लूटे जाने का दावा कर रही है लेकिन दूसरी तरफ इस घटना में कुछ पैसा लूटे जाने की भी बात कही जा रही है। बताया जा रहा है कि छीना झपटी के दौरान कुछ पैसा जमीन पर गिर गया था जिसे कि बदमाश उठा कर भाग गया। डालनवाला पुलिस के अनुसार आसपास के लोगों से भी घटना के संदर्भ में पूछताछ की गयी है जबकि वैश्य नर्सिग होम पर लगे सीसीटीवी की भी जांच की गयी है। पुलिस का दावा है कि इस सीसीटीवी फुटेज में कई ऐसी जानकारियां हाथ लगी हैं जिसके बाद इन बदमाशों को जल्द ही दबोच लिया जाएगा। बदमाशों की काले रंग की पल्सर बाईक का नंबर भी पुलिस के हाथ लगा है। इस दिनदहाड़े हुई घटना से क्षेत्र में हडक़ंप मचा हुआ है तो वहीं पुलिस ने देर शाम तक कई संदिग्धों से पूछताछ भी की है।

 

उत्तराखण्ड भम्रण करेगा राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय NDC का 15 सदस्यीय दल

Dehradun : राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय (NDC) का 15 सदस्यीय दल 01 से 06 फरवरी2015 तक उत्तराखंड के भ्रमण पर रहेगा। इस सिलसिले में मुख्य सचिव एन. रविशंकर ने मंगलवार को सचिवालय में बैठक की। बैठक में बताया गया कि ले.जनरल वी.पी.सिंह के नेतृत्व में आ रहे दल में सेना के ब्रिगेडियर रैंक के अधिकारी, आईएएस और आईएफएस भी शामिल होंगे। यह दल 02 फरवरी,2015 को राज्यपाल से मुलाकात करेगा और एफआरआई का भ्रमण करेगा। 03 फरवरी,2015 को दल के सदस्यों को मुख्यमंत्री दोपहर का भोज देंगे। इनके समक्ष आपदा प्रबंधन का प्रस्तुतीकरण भी किया जायेगा। 04 फरवरी,2015 को दल टिहरी जनपद के एक गांव का भ्रमण करेगा। 05 फरवरी,2015 को ला.ब.शास्त्री प्रशासनिक अकादमी के भ्रमण के बाद दल देहरादून वापस आ जायेगा। 06 फरवरी,2015 को पोंटा साहिब भ्रमण के बाद दल वापस नई दिल्ली रवाना हो जायेगा। मुख्य सचिव ने राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय के दल के लिए आवास, वाहन, लायजन आफिसर, सिक्योरिटी आफिसर आदि व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए।

बैठक में अपर मुख्य सचिव राकेश शर्मा, एस राजू, पीसीसीएफ एस.एस.शर्मा, सचिव प्रोटोकाल डीएस गब्र्याल, सचिव पर्यटन उमाकांत पंवार, सचिव आपदा प्रबंधन भास्करानन्द, डीएम देहरादून रविनाथ रमन, अपर सचिव सूचना चंद्रेश कुमार, एसएसपी देहरादून पुष्पक ज्योति सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

 

CM Rawat gifts Health Insurance Scheme on Republic Day

Dehradun : During the Republic Day Celebrations held at Parade Ground, the Chief Minister Harish Rawat formally announced the CM’s Health Insurance Scheme. Speaking on the occasion, the CM said that the scheme is being formally launched from today but the beneficiaries will get its benefit from 1st April 2015.

The CM said that the purpose of the scheme is to provide relief to common public. The APL and BPL families have been included in this scheme. This scheme will not include families of tax payers and individuals in government sector.

Under this scheme, all family members of the individuals will be given benefit and a card will also be issued.
They will be able to get cashless health treatment upto Rs 50000 from government as well as identified private hospitals. These include 1350  types of diseases. The main purpose of this scheme is to provide medical aid to APL families incapable of getting medical treatment.
 
Present on the occasion were Health Minister Surendra Singh Negi, Cabinet Minister Pritam Singh, Pricipal Secretary Medical Health Om Prakash, Mohommad Shahid and DG Information Chandresh Kumar among others. 
 

'Our villages will lead us to prosperity' CM Rawat

Dehradun : Chief Minister Harish Rawat said that our villages will lead us to prosperity. He said that the state's development model is focused on villages. Participation is being increased in schemes like Mera Gaon, Mera Dhan and Humara Pedh Humara Dhan. It is the faith and hard work of our people that Kedarnath has revived despite such a major disaster."

This was said by the Chief Minister Harish Rawat while  attending an entertainment program at Sanjay Public Inter College,  Shimla Byepass Road. 

The CM stated that qualitative improvement of education is most important in the state. The number of schools, inter college, polytechnic, ITI and other educational institutes are far more in Uttarakhand as compared to other states. But we are unable to pay attention to the quality of education. We will have to get the feeling of merit. 

The CM said that the present day children are very talented. It is required to pay attention to them and hone their skills. He urged that the parent must pay special attention to their children in order to ensure their success. He asserted that non government  schools are an important part of our society. Over 168 schools have been included in the list for grants. If their result is good this year then more schools will be added in the list of school being provided with grant. 

The CM added that the government is ready to make all possible efforts to improve the quality of education. The CM assured that if people invest in building Anganwadi centers, health centers and school building, the government will ensure better interest than one gets through FDs. Through this scheme, the villages will develop and people will also get economically empowered.

The government has introduced Farmers' pension for those above the age of 60. Pension for old and disabled has also increased to Rs 800 from Rs 400. This might increase even more in the next financial year. 

The CM also announced 2 mini tube wells, 1 irrigation tubewell, solar light and dispensary. He added that in the past three years, there has been provision for Rs 119 crore in the past three years. He also approved a special grant for Sanjay Public School. 

The education Minister MP Naithani presented the vote of thanks and hoped that there is no shortage of teachers in the upcoming academic year.

Present on the occasion were MLA Shaila Rani Rawat, Aryendra Sharma, Trilok Bhandari, Daulat Singh, Rajeev Jain and Sanjay Choudhary among others. 

 

जुआरियों का अड्डा बना पुरानी कचहेरी परिसर

Roorkee : पुरानी कचहेरी परिसर को जुआरियों ने अपना अडडा बनाया हुआ है जहा पर कुछ लोग पुलिस से बेखोफ हो कर खुलेआम इस जुआ खेलने के अवैध धंधे करे अंजाम दे रहे है। लेकिन पुलिस प्रशासन इस ओर कोई ध्यान नही दे रहा है। जिसकी वजह से कचहेरी में काम कर रहे कर्मचारियो को काफी परेशानियो का सामना करना पडता है।

काफी समय से पुरानी कचहेरी परिसर में कुछ लोग मोटी रकम लेकर एक स्थान पर सुबह से ही जुआ खेलने के अवैध धंधे में जुट जाते है और कोई जुआरी मोटी रकम जीत कर खुशी मनाता है तो हारने के बाद गम में डूबने पर शराब पीकर परिसर में घुमता आता है। मजे की बात यह है कि कचहेरी परिसर में शासन प्रशासन के आलाधिकारियो के कार्यालय होने के बावजूद भी ये जुआरी इस अवैध धंधे को शासन प्रशासन के अधिकारियो से बेखोफ होकर खुलेआम अंजाम देते आ रहे है। सूत्रों का कहना है कि सुबह से ही कुछ युवक मोटी रकम लेकर एक स्थान पर पहुचते है और जुआ खेलना शुरू कर देते है और कई घंटो तक जुआरी आराम से इस अवैध धंधे को करने में जुटे रहते है यही नही जब कचहेरी का समय भी समाप्त हो जाता है तो उसके बाद भी देर रात्रि तक कुछ जुआरी परिसर की एक ईमारत में खुलेआम जुआ खेलने में मशगूल रहते है। और जो व्यक्ति अपनी मोटी रकम जुअे में हार जाता है तो वह उसका गम मिटाने के लिए शराब पीकर जीतने वाले युवक से गाली गलौच करते हुए आसानी से देखा जा सकता है।

सूत्रो का तो यहा तक भी कहना है कि ऐसा नही कि एक अवैध धंधे का कुछ पुलिसकर्मियो को मालूम नही है लेकिन जुआरियो से सांठगाठ के चलते वे इन जुआरियो को कुछ नही कहते और इसकी वजह से ही यह लोग इस अवैध धंधे को अंजाम दे रहे है। इसके अलावा रात के समय कचहेरी परिसर को कुछ शराबियो ने भी अपना स्थान बनाया हुआ है और वे यहा पर खुलेआम शाम ढलते ही अपने साथियो के साथ शराब पीने लगते है और आने जाने वाले लोगो के साथ बदसलूकी करते हुए भी आसानी से देखा जा सकता है लेकिन रोडवेज बस स्टैंड के समीप जब ये शराबी हुडंदग मचाते है तो वहा पर मौजूद कोई पुलिसकर्मी भी उनके खिलाफ कोई उचित कायवाई करने से कतराता है। इसी वजह से अवैध धंधा करने वाले लोगो का पुलिस का बिलकुल भी खोफ नही है।

 

भुखमरी की कगार पर सीता देवी का परिवार

Rudraprayag : पति की मौत के बाद सीता देवी का परिवार भुखमरी की कगार पर है। अपना और अपने बच्चों का पेट पालने के लिए उसके पास फूटी कौड़ी तक नहीं है। विधवा पेंशन के लिए समाज कल्याण विभाग के चक्कर काटते-काटते उसकी एडि़या घिस चुकी हैं। उसके पास बीपीएल कार्ड तक नहीं है। ऐसे में उसका परिवार अनाज के एक-एक दाने के लिए मोहताज है।

तल्लानागपुर क्षेत्र अन्तर्गत चोपता दानकोट निवासी सीता देवी के सिर से पति का साया उठते ही उसकी दुनिया उजड़ सी गई। उनके पति उदय लाल एसबीआई देवाल (चमोली) में बतौर कैंटीन ब्वाय के पद पर अस्थायी रूप से कार्यरत थे। पहले उनके पति की टांग टूटी और बाद में पीलिया ग्रस्त होने के कारण उनकी मौत हो गई। पति की तनख्वाह से ही पूरा परिवार चलता था। पति की मौत के बाद से सीता देवी के सामने परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी आ गई। पति की मौत के बाद मृतक आश्रित के रूप में एसबीआई प्रबंधन द्वारा उसे नौकरी पर न लिए जाने का उसने विरोध भी किया, लेकिन गरीब होने के कारण उसकी किसी ने नहीं सुनी। पति ने नौकरी में जितना भी कमाया था, वह सब उपचार और बेटी की शादी में खर्च हो गया। अब सीता के पास फूटी किस्मत के सिवाय कुछ भी नहीं है। सीता देवी के सात बच्चे हैं। एक बेटी की शादी हो चुकी है। पांच बेटियां स्कूल में पढ़ रही हैं। एक लडक़ा छोटा है। इस परिवार की इतनी बुरी स्थिति होने के बावजूद बीपीएल कार्ड तक नहीं है।

सीता की विधवा पेंशन भी अभी तक शुरू नहीं हुई है। सीता बताती है कि पेंशन के लिए समाज कल्याण विभाग को सभी जरूरी कागज दे दिए हैं, लेकिन अभी तक पेेंशन नहीं लगी है। पेंशन शुरू होती तो बच्चों का भरण-पोषण कर पाती। उनका एपीएल कार्ड बना था। लेकिन कार्ड कहीं खो गया है। वह चाहती है कि उनका बीपीएल कार्ड बने। ताकि सरकारी सुविधाओं का उन्हें लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि परिवार की स्थिति बहुत खराब है। रोजगार का कुछ भी जरिया नहीं है। राशन खरीदने के लिए लोगों से कर्जा मांगना पड़ता है। कई बार तो अनाज का एक दाना भी नहीं मिलता। 

क्रॉस कंट्री दौड़ का आयोजन

Uttarkashi : खेल विभाग की ओर से गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर क्रॉस कंट्री दौड़ का आयोजन किया गया। जिसमें 144 बालक व 68 बालिकाओं ने प्रतिभाग किया गया।

कलक्ट्रेट परिसर से शुरू हुई क्रॉस कंट्री दौड़ का जिलाधिकारी इंदुधर बौड़ाई ने हरी झंडी दिखा कर शुभारंभ किया। धावकों के इंद्रावती पुल से वापस कलेक्ट्रेट तक पहुंचकर दौड़ समाप्त हुई। दौड़ के पुरुष ओपन वर्ग में किशन सिंह प्रथम, अनुज सिंह द्वितीय व तृतीय प्रदीप राणा तृतीय स्थान पर रहे। महिला ओपन वर्ग में प्रिंयका थलवाल प्रथम, अंजना चौहान द्वितीय व शिवानी डोभाल तृतीय स्थान पर रही। अंडर-16 बालक वर्ग में नितिन चौहान प्रथम, अनीश राणा द्वितीय व मनीष यादव तृतीय रहे। अंडर-16 बालिका वर्ग में बबीता प्रथम, नेहा रावत द्वितीय, व शिवानी भण्डारी तृतीय स्थान पर रही। अंडर-14 बालक वर्ग में तरुण परमार प्रथम, मनोज भाटिया द्वितीय व कृष्णानंद को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। अंडर-14 बालिका वर्ग श्वेता रावत प्रथम, प्रिंयाशी भट्ट द्वितीय व निकिता भारती तृतीय रही। अंडर-12 बालक वर्ग में सुरज गुप्ता प्रथम, सूरज नौटियाल द्वितीय व अंकित गुसाई तृतीय स्थान पर रहे। अंडर-12 बालिका वर्ग में दीपीका कलूड़ा प्रथम, निकिता कलूड़ा द्वितीय व नीलू को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। जिला क्रीड़ा अधिकारी डीसी भट्ट ने बताया कि विजेता प्रतिभागियों को पुलिस लाइन में गणतंत्र दिवस समारोह में पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। 

Aadhar Card registrations open till 28th Jan

Kotdwar : इंटर कालेज सुखरो में आधार कार्ड केंद्र पर हंगामा हो गया। रजिस्ट्रेशन कर रहे एनजीओ के कर्मी 26 जनवरी को अंतिम तिथि बता रहे थे। जबकि क्षेत्र में 28 जनवरी तक आधार कार्ड बनाए जाने हैं। इसको लेकर लोगों को गुस्सा भडक़ गया। हंगामे की जानकारी मिलने पर एसडीएम जीआर बिनवाल ने हस्तक्षेप किया। इसके बाद मामला शांत हुआ।

सुखरों इंटर कालेज में आधार कार्ड बनाने को लेकर भारी संख्या में लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। कर्मचारियों की कर्मी के कारण केंद्र में अव्यवस्थाएं हावी रही। आलम यह था कि केंद्र पर मात्र दो की कर्मी तैनात किए गए थे। इस कारण लोगों को घंटों लाइन में खड़ा रहना पड़ा। पूर्व में आधा कार्ड बनाने के लिए कैंप न लगने के कारण भारी भीड़ जमा हुई। केंद्र पर उस वक्त हंगामे की स्थिति हो गई, जब रजिस्ट्रेशन कर रहे एनजीओ के कर्मियों ने लोगों को 26 जनवरी अंतिम तिथि का फरमान सुना दिया। लोगों का कहना है कि रजिस्ट्रेशन के लिए अंतिम तिथि 28 जनवरी तय की गई थी। एनजीओ के कर्मियों पर लोगों के साथ अभद्रता का भी आरोप है। हंगामे बढ़ता देख एसडीएम जीआर बिनवाल ने कर्मियों को फोन कर 28 जनवरी तक आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन के निर्देश दिए, तब जाकर मामला शांत हुआ। 
 

कर्मचारियों से मारपीट को उतारू अतिक्रमणकारी

उत्तरकाशी : नगर पालिका की भूमि पर अतिक्रमण हटाने गए कर्मचारियों के साथ अतिक्रमणकारी मारपीट पर उतारू हो गए। कर्मचारियों ने अभद्रता करने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही की मांग न होने पर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।
 
रविवार को नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी के निर्देश पर पालिका कर्मचारी रामलीला मैदान भटवाड़ी रोड गेट पर पहुंचकर अतिक्रमण हटा रहे थे। आरोप है कि यहां पालिका की भूमि पर लंबे समय से एक व्यापारी का सरिया व अन्य सामान रखा था। नगर विकास कर्मचारी संघ के अध्यक्ष भैरव दत्त जोशी के मुताबिक पालिका कर्मचारी जब यह सामान हटाने लगे तो व्यापारी और उसके पुत्र उनसे उलझ गए। बात इतनी बढ़ी कि वे गाली गलौज करने के साथ ही मारपीट पर उतारू हो गए। वहीं कर्मचारियों को जान से मारने की भी धमकी दी गई। नगर पालिका की ओर से थाना कोतवाली में इसकी सूचना दी गई,लेकिन कर्मचारियों के साथ अभद्रता करने वालों के खिलाफ कोई तहरीर नहीं दी। इससे नाराज कर्मचारियों ने व्यापारी व उसके पुत्रों के खिलाफ शीघ्र कड़ी कार्यवाही न होने की दशा में हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। नगर विकास कर्मचारी संघ की ओर से नगर पालिका अध्यक्ष व अधिशासी अधिकारी को ज्ञापन देकर इस बात से अवगत कराया है।
 

.