Share Your view/ News Content With Us
Name:
Contact Number:
Email ID:
Content:
Upload file:

Polling Data : 2012 Uttarakhand Vidhan Sabha Elections

Polling Data : 2012 Uttarakhand Vidhan Sabha Elections

 

 

सिडकुल में ठप रहा एक अरब का उत्पादन

रुद्रपुर। मतदान के मद्देनजर सार्वजनिक अवकाश घोषित होने से सिडकुल की फैक्ट्रियां बंद रहीं। इससे करीब एक अरब रुपये का उत्पादन प्रभावित रहा। उद्यमियों के मुताबिक रोजाना यहां से करीब दो अरब रुपये का निर्मित माल बाहरी राज्यों में भेजा जाता है।
 
सिडकुल में टाटा मोटर्स, डाबर, बजाज, ब्रिटानिया, पारले, एचपी, एचसीएल, नेस्ले, रिद्धि सिद्धि समेत तमाम छोटे-बड़े 350 उद्योग हैं। इनमें रोजाना दो अरब रुपये का विभिन्न वस्तुओं का उत्पादन व ऑटोमोबाइल की मैन्युफैक्चरिंग होती है। इससे राज्य को भी करोड़ों रुपयों का राजस्व मिलता है। इन फैक्ट्रियों में 35 से 40 हजार कर्मचारी कार्य करते हैं। चुनाव से अवकाश घोषित होने से सोमवार को फैक्ट्रियों में उत्पादन कार्य नहीं हो सका। सिडकुल वेलफेयर सोसाइटी के उपाध्यक्ष अजय तिवारी ने बताया कि फैक्ट्रियों में रोजाना करीब 75 से 80 करोड़ रुपये का कच्चा माल बाहरी राज्यों से ट्रकों के जरिए आता है। इससे फैक्ट्रियों में मैन्युफैक्चरिंग किया जाता है। यहां से करीब दो अरब रुपये का निर्मित माल देश के साथ विदेशों में भेजा जाता है। उन्होंने बताया कि मतदान के दिन यूके-यूपी की सीमा सील होने से ट्रकों का आवागमन नहीं हो सका। इससे न तो कच्चा माल आ सका और न ही बाहरी राज्यों को भेजा जा सका। इधर, अवकाश के कारण भी फैक्ट्रियां ठप रहीं।
 

107 वर्षीय वृद्धा ने किया मतदान

कर्णप्रयाग।  खंडूरा गांव निवासी 107 वर्षीय महिला ने अपने मत का प्रयोग किया। रविवार को ही मतदान के दिन कुसमा देवी (107 वर्ष) को परिजन डोली में बैठाकर मतदान केंद्र प्रावि खंडूरा ले गए थे।

सिर्फ 500 रुपये में बनवाएं अपना डाक टिकट

देहरादून। इतिहास के पन्नों में दर्ज होने के लिए महान कार्यो की नहीं, सिर्फ पांच सौ रुपये खर्च करने की जरूरत है। अब आम व्यक्ति भी अपना फोटो युक्त डाक टिकट बनवाकर खास बन सकता है। डाक विभाग फरवरी में लोगों को यह मौका देने जा रहा है। यह माई स्टैंप योजना के तहत संभव होगा।

इस प्रकार के डाक टिकट की बात सुनकर कोई भी हैरान हो सकता है, मगर यह सच है। देश मे 17 फरवरी को यह योजना लांच हो रही है। 

डाक टिकट पर आप अकेले नहीं होंगे। आपकी फोटो के साथ एक छवि और छपेगी। विभाग इसके लिए आपको छह छवियों के विकल्प देगा, जिनमें किसी एक को चुनना होगा। हवाई जहाज, पंचतंत्र, ताजमहल, ट्रेन, वन्यजीव और राशियों के चिह्न के साथ फोटो लगवाकर अपना डाक टिकट बनवाया जा सकता है। इसके बदले चुकाने होंगे सिर्फ पांच सौ रुपये, जो बहुत ज्यादा नहीं हैं। इसके अलावा सौ रुपये में इसके लिए डाक विभाग में रजिस्ट्रेशन कराना होगा। योजना को लांच करने के लिए डाक विभाग तैयारी में जुट गया है। अब देखना है कि योजना में विभाग कितना सफल हो पाता है?
 

डेढ़ रुपये में गढ़ रहे सलमान का लुक : पनप रहीं घातक बीमारियां

देहरादून। बॉडीगार्ड के सलमान खान की बॉडी का जादू युवकों के सिर चढक़र बोल रहा है। उनकी इस चाहत को गली-कूचों में कुकुरमुत्तों की मानिंद लुभावने नामों से सुसज्जित जिम कैश करा रहे हैं। यहां डेढ़ रुपये की टेबलेट मिक्स कर तैयार किए जाने वाले पाउडर को हाई प्रोटीन डायट (फूड सप्लीमेंट) बताकर महंगे दामों में बेचकर युवाओं के शरीर फुलाए जा रहे हैं, लेकिन इस प्रयोग में शरीर को महंगी कीमत चुकाने की नौबत भी आने लगी है। चिकित्सकों तक कुछ ऐसे मरीज पहुंचे भी हैं।

मौजूदा समय में महानगर में लगभग 60 जिम संचालित हैं। सेवाकर से बचने को नब्बे फीसदी से ज्यादा जिम रजिस्टर्ड तक नहीं हैं। इनमें अप्रशिक्षित कोच नवयुवकों के जिस्म को फौलादी व युवतियों का जीरो फिगर तैयार करने का ठेका लेते हैं जबकि, हकीकत यह है कि यहां के कोच को भी सुगठित व स्वस्थ शरीर के मायने तक नहीं पता हैं।

युवकों पर बॉलीवुड स्टार सलमान खान की बॉडी का क्रेज इस कदर हावी है कि वह जल्द से जल्द सल्लू लुक में तब्दील होने को कोई कीमत चुकाने को तैयार हैं। उनकी इसी चाहत को मुनाफे के रूप में भुनाने को अनाड़ी कोच उन्हें अपने जिम से स्टेरायड, प्रोहार्मोस व सप्लीमेंट खरीदने के लिए मजबूर करते हैं। घटिया सप्लीमेंट बेचकर जिम संचालक 60 से 70 फीसदी तक मुनाफा कमा रहे हैं।
जिम संचालन से जुड़े विशेषज्ञों की मानें तो सोयाबीन, चना व कुछ घटिया प्रोटीन के पाउडर में डेढ़ रुपये के टेबलेट डेक्सोना को मिलाकर घटिया फूड सप्लीमेंट तैयार किया जाता है। तमाम जिम में इसकी मेंटीनेंस से जुड़ी तकनीकी टीम ही ऐसे सस्ते फूड सप्लीमेंट की सप्लायर बन जाती है। आकर्षक पैकिंग के साथ इसकी ऊंची कीमतें प्रिंट होती हैं, जिन्हें बड़ी छूट का लालच देकर मोटापे के नाम पर मोटा मुनाफा कमाया जा रहा है। चिकित्सक बताते हैं कि इनमें मौजूद घातक तत्व कुछ समय बाद शरीर पर भी घातक असर डालते हैं।
 
पनप रहीं घातक बीमारियां-
हड्डी रोग विशेषज्ञ डा.अजय पंत के मुताबिक घटिया फूड सप्लीमेंट युवाओं में नपुंसकता, डायबिटीज, गुर्दे खराब होने तक की नौबत ला रहे हैं, वहीं अनट्रेंड कोच के प्रशिक्षण से स्लिप डिस्क, स्नायुतंत्र में खिंचाव व मांसपेशियों के फटने की समस्या पैदा हो रही है। इसके चलते ऐसे रोगियों की तादाद बढ़ती जा रही है।
 
संतुलित आहार पर दें ध्यान
पैंथर जिम के संचालक रवींद्र सिंह के मुताबिक यदि सुबह नाश्ते में दलिया, दोपहर में पौष्टिक आहार व सूर्यास्त के बाद सिर्फ फलाहार को दिनचर्या में शामिल कर लिया जाए तो 15 दिनों में शरीर के आकार को सुधारा जा सकता है। ऐसी कोशिशों के साथ साथ ही सस्ते के लालच में घटिया फूड सप्लीमेंट से भी युवाओं को बचना चाहिए।
 

थराली के हरमल गांव में नही पड़ा एक भी वोट

कर्णप्रयाग। लोकतंत्र का त्यौहार यू तो राज्य में शांति पूर्वक संपन्न कराने में प्रशासन ने अपनी महत्व पूर्ण भूमिका को निभाया ओर निर्वाचन आयोग के नियमों पर खरा उतरने में कामयाब रहा। पर जनपद चमोली के थराली विधानसभा की बात करें तो यहां के हरमल गांव के 300 लोगों ने अपने मत का प्रयोग ना कर शासन प्रशासन की कार्यशैली को कटघरें में खंडा करते हुए सोचने पर मजबूर कर दिया। गांव के लोगों ने शासन प्रशासन के साथ ही अपने राजनैतिक लोगों पर गांव की उपैक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आज तक गांव में सडक़ बिजली पानी शिक्षा रोजगार व पलायन को रोकने में कोई भी ठोस कार्यवाही नही की है। जिस कारण गांव के लोगों ने इस लोकतंत्र का  त्यौहार नही मनाने का फैसला करते हुए संम्पूर्ण मतदान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया।
 

मतदान में अपनी भागीदारी निभाने की अपील

देहरादून। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी दिलीप जावलकर ने जनपद के सभी मतदाताओं से सोमवार 30 जनवरी को होने वाले मतदान में अपनी भागीदारी निभाने की अपील की है।

उन्होंनेे कहा कि जनपद में निर्वाचन प्रक्रिया पिछले तीन माह से निरन्तर गतिमान है। एक अनुमान के आधार पर यह आगणित किया गया है कि निर्वाचन व्यवस्था से जुड़े कार्मिकों द्वारा विभिन्न स्तर पर विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2012 को सम्पन्न कराने में लगभग 20 लाख घंटे कार्य किया है।

उन्होंने मतदाताओं से अपेक्षा की है कि मतदान व्यवस्थाओं में लगे कार्मिकों के श्रम को ध्यान में रखते हुए अपना एक घंटे का समय 30 जनवरी को अवश्य निकालें तथा अपना वोट अवश्य डालें। उन्होंने बताया कि मतदान के दिन राज्य की सीमाओं पर निरन्तर निगरानी रखी जायेगी तथा सीमा से लगे क्षेत्रों के मतदाताओं की फोटो पहचान पत्र के आधार पर ही पहचान की जाएगी। ताकि बाहर से कोई व्यक्ति अनाधिकृत रूप से सीमा में वोट डालने का प्रयास न कर सके।
 

धुंध न के बराबर : रेलवे ने रुख नहीं बदला

देहरादून। कोहरे का भूत रेलवे पर से उतर ही नहीं रहा। पश्चिम से आने वाली हवा ने वातावरण में धुंध न के बराबर कर दी है, इसके बावजूद रेल प्रशासन रुकी हुई ट्रेनों को चलाने की तारीख दिन ब दिन बढ़ाता ही जा रहा है। एक फरवरी से जनता एक्सप्रेस व हरिद्वार-इलाहाबाद के बीच ट्रेन चलनी थी पर अब इसे टालकर आठ फरवरी कर दिया गया है। हालांकि एक फरवरी से रुकी हुई दूसरी सात जोड़ी ट्रेनें चलाई जाएंगी। उत्तर रेलवे मुख्यालय ने आदेश जारी कर कहा है कि कोहरा पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है इसलिए 31 जनवरी तक के लिए रद्द की गई देहरादून-वाराणसीके बीच चलने वाली जनता एक्सप्रेस और हरिद्वार-इलाहाबाद के बीच चलने वाली एक्सप्रेस 8 फरवरी तक के लिए रद्द कर दी गई है। इसके अलावा 31 जनवरी तक रद्द उज्जैनी एक्सप्रेस, गढ़वाल एक्सप्रेस, प्रयाग बरेली के बीच चलने वाली एक्सप्रेस, इंटरसिटी और श्रीगंगा नगर हरिद्वार के बीच चलने वाली इंटरसिटी, बरेली दिल्ली के बीच चलने वाली पैसेंजर एक फरवरी से चलेंगी। अपर मंडल रेल प्रबंधक एके सिंघल ने बताया कि ऋषिकेश चंदौसी के बीच रद्द आगरा पैसेंजर भी 31 जनवरी से चलेगी।

 

झूठी शिकायतों से निर्वाचन अधिकारी परेशान

देहरादून। एक-दूसरे प्रत्याशी की शिकायत के मामलों से निर्वाचन अधिकारी परेशान हो उठे हैं। हर किसी की शिकायत पर छापामार कार्रवाई तो की जा रही है, लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिल रहा है, क्योंकि वह शिकायत झूठी साबित हो रही हैं।

निर्वाचन आयोग ने निर्णय लिया है कि झूठी सूचना देकर भ्रमित करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। आयोग के एक अधिकारी ने बतया कि उन्हें रोजाना अधिकांश प्रत्याशियों की शिकायतें मिल रही हैं। जिस पर वह तत्काल प्रभाव से कार्रवाई भी कर रहे हैं, लेकिन उन्हें मौके पर कोई आचार संहिता का कोई उल्लंघन करते नहीं पाए जा रहे हैं। जिससे निर्वाचन आयोग को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि आयोग की टीम खुद ही गांव-गांव में घूम रही है। वह आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ नोटिस भी जारी कर रहे हैं। रविवार को उन्हें दूरभाष से जानकारी मिली की एक प्रत्याशी द्वारा मतदाताओं को अपने पक्ष में वोट डालने के लिए नोट बांटे जा रहे हैं। जिस पर उन्होंने संबंधिकत अधिकारी को दस्ते के साथ छापे मारने के निर्देश दिए, लेकिन वहां ऐसा कुछ नहीं पाया गया। एक अन्य और प्रत्याशी ने सूचना दी कि एक प्रत्याशी द्वारा आज भी लावलश्कर के साथ प्रचार किया जा रहा है। जांच पर वहां भी सूचना झूठी पाई गई। उन्होंने कहा कि झूठी सूचना पर आयोग परेशान हो रहा है। 

 

पड़ोसी के घर भी बजेगी आयोग की घंटी

देहरादून। पोलिंग बूथ की कुंडली भी निर्वाचन आयोग के पास रहेगी। आयोग ने बूथ के स्थान के साथ ही पड़ोसी का नंबर भी मांगा गया है। माना जा रहा है कि आयोग के अधिकारी बूथ के पड़ोस में रहने वाले नंबर पर रिंग करके मतदान के हालात जानेंगे। विधानसभा व लोकसभा चुनाव में निर्वाचन आयोग के पास अब तक बूथों की सूची ही भेजी जाती रही है। इस बार आयोग सीधे बूथ पर नजर रखने के लिए चुनिंदा बूथों की लाइव टेलीकास्ट करा रहा है। पीठासीन अधिकारियों को दिनभर में 11 फोन मैसेज कर हालात की जानकारी देने को कहा गया है। आयोग ने अब बूथों की कुंडली भी तलब कर ली है। इसमें एक फार्मेट पर बूथ के सारे डिटेल भरकर भेजना है। इसमें बूथ का स्थान, उसकी विधानसभा व लोकसभा सीट का नाम, बूथ पर कितने वोटर हैं? बूथ संवेदनशील है अतिसंवेदनशील या सामान्य? पीठासीन अधिकारी का मोबाइल नंबर, बूथ के पास रहने वाले किसी व्यक्ति का टेलीफोन नंबर, यह पड़ोसी बूथ से कितनी दूर रहता है?-सरीखे बिंदुओं का डिटेल जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी समीर वर्मा ने सभी बीएलओ को बूथ के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने को कहा है। चार विधानसभा सीटों के बूथों का ब्योरा जिला मुख्यालय पहुंच भी गया है। माना जा रहा है कि इन खास आंकड़ों व डिटेल को मंगाकर निर्वाचन आयोग के अफसर बूथों आसपास रहने वालों को फोन लाइन पर लेकर भी मतदान से जुड़े माहौल की जानकारी लेगा। इससे समय-समय पर मिलने वाली सरकारी जानकारियों की क्रास चेकिंग भी मुमकिन हो सकेगी।
 

अनियंत्रित बाइक स्कार्पियो से भिड़ी, छात्र की मौत

देहरादून। स्कूल से बंक मारकर बाइक से मसूरी घूमने जा रहे 11वीं के छात्रों की बाइक अनियंत्रित होकर सामने से आ रही स्कार्पियो से भिड़ गई। हादसे में ब्रुकलीन स्कूल के 11वीं के छात्र की मौत हो गई और दोस्त गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घायल छात्र का दून अस्पताल में उपचार चल रहा है। उसकी हालत खतरे से बाहर है। पुलिस ने स्कार्पियो चालक को गिरफ्तार कर मुकदमा दर्ज कर लिया। छात्र का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

दुर्घटना गुरुवार सुबह देहरादून-मसूरी हाइवे पर मैगी प्वाइंट के पास हुई। पुलिस के मुताबिक, आशीष रावत (16 वर्ष) पुत्र धर्मवीर रावत निवासी मियांवाला गुरुनानक अकेडमी अधोईवाला में 11वीं का छात्र है। गुरुवार को वह दोस्त शुभम ममगाई (16 वर्ष) पुत्र एसपी ममगाई निवासी ग्राम लाडपुर रायपुर के साथ बाइक पर मसूरी जा रहा था। शुभम डालनवाला स्थित ब्रुकलीन स्कूल में 11वीं का छात्र था। दोनों स्कूल यूनिफार्म में थे और स्कूल से बंक मारे हुए थे । वह स्कूल जाने के बजाय मसूरी जा रहे थे। बाइक आशीष रावत चला रहा था। पुलिस के मुताबिक, मैगी प्वाइंट के समीप बाइक एक अंधे मोड पर बस को ओवरटेक करते हुए अनियंत्रित हो गई व सामने से आ रही स्कार्पियो में भिड़ गई। टक्कर लगने से  बाइक की डिस्क ब्रेक लग गई और अगला टायर फिक्स होने से शुभम ममगाई छिटककर नीचे गिरा और सर पे गहरी चोट आई जिस से उसकी मौत हो गई, जबकि साइड में गिरने से आशीष गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

हादसे के बाद मसूरी हाइवे पर जाम लग गया। दोनों ओर वाहन फंस गए। राजपुर व मसूरी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। स्कार्पियो चालक को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने घायल को दून अस्पताल पहुंचाया, शुभम का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। पुलिस ने क्षतिग्रस्त वाहन हटाकर ट्रैफिक सामान्य कराया। इंस्पेक्टर मसूरी परीक्षित कुमार ने स्कार्पियो चालक का नाम प्रणव साहनी पुत्र एनके साहनी निवासी मसूरी बताया। उसके विरुद्ध मृतक शुभम के पिता एसपी ममगाई ने मुकदमा दर्ज कराया है। 

सवाल ये उठ रहा है की ऐसे हादसे में गलती किस की मानी जाएगी ?  स्कार्पियो चालाक की, बंक मारे नाबालिक बचों की, इन बचों की माँ बाप की जिन्होंने नाबालिक बचों को बाइक थमाई या  पुलिस प्रशासन की जिनके दो चेक पोस्ट पार करके नाबालिक बचे वहां तक पहुंचे ।

कांगे्स सही मायने में उत्तराखण्ड विरोधी है : भाजपा

देहरादून 18 जनवरी। कांग्र्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी ने अपनी जनसभाओं में केवल झूठे सपने व झूठे वायदे दिखाये है। उन्होंने उत्तराखण्ड के ज्वलंत मुद्दो पर अपना मुह न खोलकर यह साबित किया है कि कांगे्स सही मायने में उत्तराखण्ड विरोधी है। औद्योगिक पैकेज पर, राशन, गैस, मिट्टी का तेल, त्यौहारो पर चीनी आदि का कोटा कम किये जाने पर सोनिया जी द्वारा कुछ न बोलना इस बात का संकेत है कि उनका आदमी से कोई लेना-देना नही है। केवल भाषणो में उतराखण्ड की भाजपा सरकार को भ्रष्टाचारी बताने से उतराखण्ड की जनता की समस्याएं हल नही हो सकती। चाहे टिहरी की जनसभा हो या रूड़की की। कांगे्रस सुप्रीमो सोनिया ने उतराखण्ड के लिये कोई नई घोषणा नही की है। 

भाजपा चुनाव अभियान समिति के प्रवक्ता विश्वास डावर ने कहा है कि उतराखण्ड की भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाना बेमानी है। जो कांगे्रस गले तक भ्रष्टाचार में डुबी है, जिसके एक नही कई मंत्री भ्रष्टाचार के कारण जेलो में है तथा कुछ पर तलवार लटक रही है ऐसी कांगे्रस की अध्यक्षा द्वारा उतराखण्ड सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाना उनके उतराखण्ड के बारे में कम ज्ञान का प्रतीक है। कांगे्रस अब तक सबसे भ्रष्ट पार्टी साबित हुई है। जिसने अपने शासनकाल में केवल भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। श्री डावर ने कहा कि श्रीमती सोनिया जी एम्स को अपनी उपलब्धि बताया जबकि एन0डी0ए0 सरकार के कार्यकाल में तत्कालीन केन्द्रीय मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज ने एम्स का शिलान्यास किया। उस संदर्भ में कांगे्रस की सरकार आने पर कोई कार्यवाही नही हुई। यह तो चोर मचाये शोर वाली स्थिति है। कांगे्रस ने सदैव घपले, घोटाले किये है और दूसरो पर झूठे आरोप लगाकर राजनैतिक लाभ उठाया है। देखा जाय तो श्रीमती सोनिया गांधी की जनसभा पूरी तरह फ्लाप कार्यक्रम रहा है। इस जनसभा में जिस तरह से उत्तर प्रदेश सरकार से लोग ढो कर लाये गये है उसे सफलता का प्रतीक बताना, उचित प्रतीत नही होता। 

भाजपा चुनाव अभियान समिति के प्रवक्ता श्री डावर ने कहा कि केन्द्र सरकार ने हमारे राशन की व्यवस्था में 20 से 70 प्रतिशत तक की कमी की है। राशन का कोटा जानबूझकर माह के आखिर में दिया गया है जिससे आम आदमी को समस्या हो और इसकी गाज प्रदेश सरकार पर गिरायी जाय। इसी प्रकार मिट्टी के तेल के कोटे में 20 प्रतिशत कमी की गयी है जो केन्द्र की मानसिकता का प्रतीक है। उतराखण्ड को मिले औद्योगिक पैकेज पर सोनिया गांधी का कुछ न बोलना इस बात का प्रतीक है कि उन्हें उतराखण्ड के विकास से कोई लेना देना नही है। सोनिया गांधी का उतराखण्ड सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाना चोर मचाये शोर मुहावरे का प्रतीक है। श्रीमती सोनिया गांधी को मालूम है कि उनके एक नही दर्जना मंत्री जेल चले गये या जाने की तैयारी में है। ऐसे में भाजपा की सरकार पर इस तरह के आरोप लगाना उचित नही है। भाजपा सरकार पर कांगे्रस तथा अन्यो द्वारा लगाये गये किसी भी आरोप की पुष्टि नही हुई है वरन न्यायालयो ने इन मुद्दो को खारिज किया है जो इस बात का स्पष्ट प्रमाण है कि किसी मामले में कोई भ्रष्टाचार नही हुआ। ऐसे में बिना आरोप के सरकार को भ्रष्टाचारी बताना कांगे्रसी मानसिकता का ही प्रतीक है।
 

Sangeeta Dhoundiyal to judge contestants of 'Iktara'

Dehradun : Uttarakhand has always been famous for its talent and to keep up the fame, our very own Sangeeta Dhoundiyal will now be judging the singing talent all across the country.
 
 ‘Iktara’, a singing competition, initiated by I Next and open for four states of Uttarakhand, UP, Bihar and Jharkhand, as of now, has given a wide platform to singers. Obviously, judging these applicants will not be an easy job. A panel of judges has been appointed on the basis of their knowledge and experience in the field. Sangeeta Dhoundiyal, popularly known as the ‘Voice of Uttarakhand’, with 14 years of singing experience backing her up, is one of the judges along with Malini Awasthi, Kalpana Patowary, Nandal Nayak and Mukund Nayak.
 
Sangeeta Dhoundiyal has sung more than 600 albums and has left memories in Garhwali, Kumaoni, Jonsari, Himachali, Nepali, Awadhi, Bhojpuri and Hindi songs. She has also acted in many Regional Films of Uttarakhand like Kauthig, Naagraja Sem-Mukhem,Teri Saun, and Kaika Baana. She is also famous for her solo live performances and the fame has travelled overseas. 

बेटा देगा पापा का भी वोट

हल्द्वानी। सोनू अपना वोट डालने के साथ ही अपने पापा का भी वोट डालेगा। उसे मतदान कर्मचारी दो बार वोट डालने से नहीं रोकेंगे। चौकिए नहीं, सोनू कुछ भी गलत नहीं करने जा रहा है बल्कि भारत निर्वाचन आयोग ने उसे इसकी छूट दी है।

दरअसल सर्विस मतदाताओं खास तौर पर सेना व पैरामिलेट्री फोर्स में तैनात मतदाताओं को दो तरह वोट देने का अधिकार दिया गया है। एक तो वो वैलेट पोस्ट कर अपने मताधिकार कर प्रयोग करेंगे। दूसरा तरीका यह भी होगा कि इस तरह के सर्विस मतदाता भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित प्रारूप पर अपने किसी परिजन जो 18 वर्ष आयु से अधिक होगा, उसे अपने वोट डालने का अधिकार देगा। प्रोक्सी वोटिंग सिस्टम में इस व्यवस्था को शामिल कर लिया गया है। इस व्यवस्था के अलावा नेत्रहीन या अस्मर्थ लोग भी पीठासीन अधिकारी के बताए दिशा निर्देशों के तहत अपना वोट पोल करा सकेंगे। निर्वाचन आयोग की इस व्यस्था से सर्विस मतदाता खासे उत्साहित है। उत्तराखंड सैनिक बाहुल्य राज्य है। यहां हर पांचवे परिवार में एक फौजी जरूर मिल जाएगा। इस नियम से फौजियों का वोट भी सुगमता से पड़ सकेगा।

 

टस्कर ने ले ली युवक की जान

हरिद्वार। श्यामपुर रेंज के रसूलपुर गांव में टस्कर ने एक 22 वर्षीय युवक को मार डाला। टस्कर ने युवक के सीने में दांत घुसा दिए। युवक की मौके पर ही मौत हो गई।

मंगलवार को हरिद्वार वन प्रभाग की श्यामपुर रेंज के रसूलपुर गांव निवासी सुनील (22) पुत्र संतराम और नरेंद्र (18) पुत्र राजू जंगल में लकड़ी बीनने गए थे। शाम को अंधेरा होने पर दोनों गांव लौट रहे थे। इसी बीच टस्कर ने दोनों युवकों पर हमला कर दिया। सुनील टस्कर की चपेट में आ गया। टस्कर ने सुनील के सीने में दांत गड़ा दिए। नरेंद्र किसी तरह भागकर गांव पहुंचा और लोगों को जानकारी दी। सुनील के पिता संतराम और अन्य लोग जंगल पहुंचे। उन्हें मौके पर सुनील का शव मिला। हरिद्वार डीएफओ सनातन ने आरएनएस संवाददाता को बताया कि दोनों युवक जंगल में काफी अंदर तक चले गए थे। अंधेरा होने के चलते युवकों को हाथी नहीं दिखा जिससे एक युवक पर हाथी ने हमला कर दिया और उसकी मौत हो गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। उधर, रसूलपूर के ग्रामीणों को आशंका है कि कहीं सुनील को मारने वाला टस्कर  ऋषिकेश का खूनी टस्कर तो नहीं है, जिसे 7 जनवरी को चीला रेंज में छोड़ दिया गया था।

 

आदर्श आचार संहिता बनकर रह गयी मजाक,उड रही धज्जियां

देहरादून । लोकतन्त्र के महापर्व के उत्सवी माहौल में जहां नेताजी लुत्फ उठाने की तैयारी में है, वहीं गली-मौहल्लों में बैनरों की जंग शुरू हो गई है। सरकारी व गैर सरकारी भवनों में राजनीतिक दलों के झण्डे-बैनर टंगे देखे जा सकते है। जिससे चुनाव आयोग के कड़े नियम तार-तार हो रहे है। चुनाव आयोग ने पिछले दिनों दून दौरे के दौरान सख्त निर्देश दिये थे कि सरकारी और निजी भवनों पर किसी भी राजनीतिक दल के झण्ड़े-बैनर नहीं लगाये जायेंगे लेकिन चुनाव आयोग के यह निर्देश हवा में उड़ते नजर आ रहे हैं।

प्रत्याशियों में जहां अपने अपने विधानसभा क्षेत्रों में प्रतिद्वंदियों से चुनावी जंग शुरू हो गई है, वहीशहर के तमाम गली-मौहल्लों में भी एक जंग देखी जा रही है, यह जंग न तो जुबानी है और न ही एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की जंग, यह अनूठी जंग है। झण्डे-बैनरों की जंग, इन दिनों लोकतंत्र के महापर्व के उत्सवी माहौल में नेताजी जहां अपनी कुर्सी बचाने का खेल खेल रहे हैं। वहीं गली-मौहल्लों में झण्ड़े-बैनरों का खेल राजनीतिक दल खेलने में जुट गये हैं। शहर के गली-मौहल्लें राजनीतिक दलों के झण्डे -बैनरों से पटने लगे है चाहे भवन सरकारी हो या फिर गैर सरकारी इन पर यह झण्ड़े-बैनर लगे देखे जा सकते हैं। जबकि चुनाव आयोग के सख्त निर्देश है कि राजनीतिकदलों के झण्ड़े राजनीतिक दलों के झण्ड़े-बैनर किसी भी सरकारी या गैरसरकारी इमारत पर नजर नहीं आने चाहिए, लेकिन वोट की खातिर यह राजनेता निजी व सरकारी भवनों को भी अपना चुनाव कार्यालय बनाने से पीछे नहीं हट रहे है। जिससे लोगों में काफी गुस्सा है। उनका साफ कहना है कि कम से कम नेताओं को यह बात भी सोचनी चाहिये कि जहां वे अपने झण्ड़े-बैनर लगा रहे है। वह उनकी पार्टी का कार्यालय न होकर किसी का घर है इससे तो यह बात जाहिर होती है कि चुनाव के माहौल में नेता अपनी मनमानी पर ही उतर आयें, जबकि चुनाव के बाद यह नेता, इन क्षेत्रों में कभी भी नजर नहीं आते, जिस तरह से गली-मौहल्लों में यह झण्ड़े-बैनर का खेल चल रहा हैं। उससे एक और जहां चुनाव आयोग के निर्देशों की धज्जियां उड़ रही हैवहीं यह सवाल भी उठ रहा है कि चुनाव केदौरान ही नेताओं को अपने क्षेत्रों की याद क्यों आती है। अब देखना यह होगा कि सरकारी व गैर सरकारी भवनों पर लगें इन झण्डे-बैनरो के खिलाफ क्या कार्रवाई होती है।

 

चौथे रोज 19 प्रत्याशियों ने भरे पर्चे

देहरादून। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी दिलीप जावलकर ने अवगत कराया कि जनपद की दस विधान सभा सीटों के लिए आज नामांकन के छठवें दिन विभिन्न राजनीतिक दलों के 19 प्रत्याशियों द्वारा नामांकन पत्र दाखिल किया गया है। जिसमें विधान सभा क्षेत्र 15-चकराता से प्रीतम सिंह कांग्रेस, श्रीमती अर्जुनी देवी उत्तराखण्ड रक्षा मोर्चा, 16-विकासनगर से चन्द्रमोहन निर्दलीय, 17-सहसपुर से साहब सिंह पुण्डीर बसपा, 18-धर्मपुर से महेश कुमार निर्दलीय, बहादुर सिंह रावत उक्रांद (पी), 19-रायपुर से उमेश शर्मा (काऊ) कांग्रेस, शिव सागर थापा जेएनके पैंथर पार्टी, 21-देहरादून कैंट से राजीव गुन्ता राष्ट्रीय जन सहाय दल, 22-मसूरी से कैप्टन मोहन लाल बंगवाल निर्दलीय, संजय गोयल समाजवादी पार्टी, 23-डोईवाला से डा$ रमेश पोखरियाल निशंक भाजपा, प्रेम प्रकाश उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी, अनुज डिमरी निर्दलीय, मनीष नागपाल निर्दलीय, सावन चन्द रमोला जनता दल यूनाइटेड तथा 24-ऋषिकेश से प्रेम चन्द अग्रवाल भाजपा, राम शरण भट्ट निर्दलीय, शोभाराम रतूड़ी सैनिक समाज पार्टी के प्रत्याशियों द्वारा नामांकन पत्र दाखिल किए गए। 

उन्होंने यह भी अगवत कराया कि आज नामांकन के छठवें दिन दस विधान सभा निर्वाचन क्षेत्रों के विभिन्न प्रत्याशियों द्वारा 33 नामांकन पत्र प्राप्त किए गए जिसमें जिसमें 16-विकासनगर में 2, 17-सहसपुर में 5, 18-धर्मपुर में 2, 19-रायपुर में 5, 20-राजपुर में 3, 21-देहरादून कैंट में 4, 22-मसूरी में 5, 23-डोईवाला में 6 तथा 24-ऋषिकेश में 1 नामांकन पत्र विभिन्न प्रत्याशियों द्वारा प्राप्त किए गए।

 

 

सत्ता में आये तो बेरोजगारो को मिलेगा 2250 रूपए तक का भत्ता :कांग्रेस

देहरादून। प्रदेश की सत्ता में आने पर कांग्रेस बेरोजगारो को 2250 रूपए तक का भत्ता देगी। कांग्रेस द्वारा प्रदेश के लिए चुनाव प्रचार अभियान समिति का गठन कर दिया गया है। 
 
सांसद एंव प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी चौधरी विरेन्द्र सिंह ने सुभाष रोड स्थित होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि पार्टी का घोषणा पत्र तैयार हो चुका है जिसका आगामी गुरूवार को देहरादून में विमोचन किया जाएगा। उन्होने कहा कि कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाने पर पढे लिखे नौजवानो को 450 से 2250 रूपए का बेरोजगाराी भत्ता देगी। उन्होंने प्रत्याशियों के टिकट बेचे जाने के आरोपो को खारिज किया और कहा कि वो चार दशक से राजनीति में है। विरेन्द्र सिंह ने कहा कि उनका जीवन खुली किताब  है मेरे राज्य और दिल्ली की राजनीति में धूस लेने का आरोप कोई सिद्घ कर दे तो वे राजनीति से सन्यास ले लेंगे। उन्होने कहा कि मेरे पास 70 एकड जमीन थी जो अब पचास एकड रह गई है। उन्होने कहा कि उन्होंने राजनीति मान्याओ को सदैव निभाया है। चौधरी विरेन्द्र सिंह ने टिकट वितरण पर मीडिया को सलाह दी और कहा कि यह पार्टी का काम है। 
 
कांग्रेस प्रभारी ने टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं को कोई ऐसा कदम ना उठाने की सलाह दी है जिससे पार्टी को नुकसान हो उन्होने कहा कि सभी को मिलजुलकर चुनाव लडना हैं।
 
पत्रकार वार्ता के दौरान ख्याति प्रान्त निशाने वाज जसपाल सिंह राणा ने भाजपा छोड कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा भी की। विरेन्द्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस में जसपाल राणा के पदापर्ण करने से राहुल गांधी के युवाओं को जोडने पर बल मिला है। श्रीमति सोनिया गांधी के नेतृत्व में विश्वास करते हुए राणा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है। इस दौरान जसपाल राणा ने कहा कि यह जल्द बाजी में लिया गया फैसला नहीं है उन्होने बहुत पहले ही यह निर्णय ले लिया था। उन्होने भाजपा पर उनकी उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने उनका तीन सालो तक कोई उपयोग नंही किया है उनके तीन वर्ष भाजपा ने गंवा दिए है। उन्होने कहा कि अब अनुमान लगाया जा सकता है कि जब उनका भाजपा में यह हाल है तो आने वाले युवा का क्या हाल होगा।
 
पत्रकार वार्ता के दौरान चौधरी विरेन्द्र सिंह ने कहा कि स्टार प्रचारको का कार्यक्रम तय हो चुका है जिसमें श्रीमती सोनिया गांधी और राहुल गांधी समेत केन्द्रीय नेता और मंत्री प्रदेश में चुनावी सभाओ को सम्बोधित करेगें। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी चौधरी विरेन्द्र सिंह और सांसद विजय बहुगुणा ने बताया कि आगामी 17 जनवरी को पार्टी प्रमुख श्रीमती सोनिया गांधी टिहरी क्षेत्र में जन सभा को सम्बोधित करेंगी। उसके पश्चात 20 जनवरी को रूद्रपुर और मुनी की रेती या ऋषिकेश में चुनावी सभा में भाग लेगें। 23  और 24 को राहुल गांधी अल्मोडा और पिथौरागढ के अलावा अन्य दो स्थानो पर चुनावी रैलियो को सम्बोधित करेगे। इसके साथ ही 65 सभाए भी आयोजित की जाएगी। जिसके माध्यम से केन्द्रीय और अन्य राज्यो के मंत्री प्रचार और प्रसार करेगे। 
 
चौधरी विरेन्द्र सिंह ने खराब मौसम के कारण सोनिया गांधी की हल्द्घानी रैली न होने का दुख प्रकट किया। उन्होने  केन्द्र की राज्य की उपेक्षा को खारिज करते हुए कहा कि अगर केन्द्र उत्तराखण्ड की उपेक्षा करता तो वार्षिक परियोजना हिमाचल से आगे नहीं बढ पाती । उन्होने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी कहीं से भी चुनाव नहीं लड रहे है, पर उनका सहयोग और प्रोत्साहन उनके साथ है।
 
पत्रकार वार्ता में निशानेवाज जसपाल सिंह राणा, सुरेन्द्र कुमार, सूर्यकान्त धस्माना,  लालचन्द्र शर्मा, राजीव महर्षी सहित कई नेता उपस्थित रहें।
 

श्रीनगर-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग का डामर दो माह में ही उखडऩे लगा

श्रीनगर गढ़वाल। श्रीनगर-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब दो माह पूर्व हुआ हॉट मिक्स उखडऩे लग गया है। हॉट मिक्स उखडऩे से हाइवे पर आधा दर्जन से अधिक स्थानों पर गड्ढे पड़ गये हैं, जो बरसात में दुर्घटनाओं को न्योता दे रहे हैं।

श्रीनगर-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग पर राष्ट्रीय राजमार्ग खंड धूमाकोट ने करीब दो माह पूर्व हॉट मिक्स का कार्य शुरू करवाया। अभी मार्ग पर पौड़ी चुंगी से आगे दो किलोमीटर तक ही हॉट मिक्स का काम हुआ है और राजमार्ग पर जगह-जगह से हॉट मिक्स उखडऩे लग गया है। कई स्थानों पर तो राजमार्ग गड्ढों में तब्दील हो गया है। राजमार्ग से दो ही माह में हॉट मिक्स उखडऩे से जहां घटिया निर्माण की पोल खुल रही है, वहीं अधिकारी इसे शीघ्र ठीक कराये जाने की बात कर रहे हैं। राजमार्ग पर आधे दर्जन से अधिक स्थानों पर हॉट मिक्स उखडऩे व बरसात होने पर इन गड्ढों में पानी भरने से दोपहिया वाहन सवारों को दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग खंड धूमाकोट के अधिशासी अभियंता बलराम मिश्रा का कहना है कि अभी श्रीनगर-पौड़ी राजमार्ग पर हॉट मिक्स का काम चल रहा है। अगर राजमार्ग पर हॉट मिक्स उखड़ रहा है, तो संबंधित कार्यदायी संस्था से इसके बारे में जानकारी लेकर इसे शीघ्र ठीक करवा लिया जाएगा।

उपजिलाधिकारी श्रीनगर बीके मिश्रा ने आरएनएस संवाददाता को बताया कि पौड़ी चुंगी से लेकर तहसील के समीप तक ही राजमार्ग पर कई स्थानों पर हॉट मिक्स उखड़ गया है। इसके बारे में राष्ट्रीय राजमार्ग खंड धूमाकोट के अधिकारियों को सूचित कर इसे शीघ्र ठीक करने को कहा जाएगा।
 

पहाडों में बर्फ का कहर : हुआ जनजीवन अस्त-व्यस्त

देहरादून। पिछले तीन दिनों से हो रही बारीश व वर्फबारी से ठंड अत्यधिक बढ़ गयी है जिसके चलते जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया । सोमवार को भी पर्वतीय अंचलों की ऊंची चोटियों में बर्फबारी होती रही। वहीं कई राजमार्ग सहित मोटर मार्ग दूसरे दिन भी बंद रहे।
 
कर्णप्रयाग। विगत तीन दिनों से मौसम के बदले रुख से ठंडक बढ़ गयी है, वहीं ऊंचाई वाले क्षेत्र नौटी, नंदासैंण, छांतेश्वर, बेनीताल, कैंथोलीसैंण व बगरखाल सहित गैरसैंण के दूधातोली, भराडीसैंण, दिवालीखाल, ग्वालदम, सणकोट, कोनपुरगढ़ी, देवाल की पहाडिय़ों में आज भी दिनभर हिमपात जारी रहा।
 
रुद्रप्रयाग। केदारघाटी में लगातार हो रही बारिश के चलते केदारनाथ, तुंगनाथ, मद्महेश्वर, दुगलबि_ा समेत ऊंचाई वाले स्थानों में बर्फवारी के चलते निचले स्थानों में काफी ठंड बढ़ गई है। केदारनाथ में दो फीट से अधिक बर्फ पड़ गई है। पूर्व प्रधान एवं पीटीए अध्यक्ष राइंका रामपुर शिशुपाल गजवाण, विष्णुकांत कुर्माचली आदि ने आरएनएस संवाददाता को बताया कि क्षेत्र में बारिश व बर्फबारी का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है। जिला मुख्यालय में भी मौसम में बदलाव के कारण हल्की बारिश हुई और लोगों को ठंड से भी जूझना पड़ा। 
 
मसूरी। जौनपुर क्षेत्र में हो रही बर्फबारी से पर्यटन नगरी धनोल्टी में सैलानियों की भारी भीड़ लगातार बढ़ रही है। बर्फबारी होते ही मसूरी, ऋषिकेश, देहरादून सहित अन्य जगहों से पर्यटक यहां पहुंचे। धनोल्टी व कद्दूखाल में जमकर बर्फबारी हुई। हिमपात से जहां कड़ाके की ठंड बढ़ी है, वहीं पर्यटकों का उत्साह भी देखता बनता था। वहीं भारी बर्फ के चलते नैनबाग-एन्दी-बनचोरा व चम्बा-मसूरी मोटर मार्ग अवरुद्ध है।
 
उत्तरकाशी। क्षेत्र में लगातार तीन दिनों से बारिश व बर्फबारी का सिलसिला जारी रहने से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बर्फबारी से जनपद की सभी छोटी बड़ी चोटियों ने सफेद चादर ओढ़ ली है, जबकि बर्फबारी के कारण राष्ट्रीय राजमार्गो समेत दर्जनों लिंक मार्ग बंद हो गये हैं। बर्फबारी से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुक्की के पास आज भी बाधित रहा। जबकि उत्तरकाशी-लंबगांव मोटर मार्ग चौरंगी खाल में बाधित है। वहीं यमुनोत्री हाईवे राड़ी टॉप में बाधित है।
 
गोपेश्वर । पिछले तीन दिनों से हो रही बर्फबारी से चमोली शीत लहर की चपेट में है। औली, जोशीमठ, पांण्डुकेश्वर, मण्डल सहित अन्य पहाडिय़ों में हिमपात से सफेद चादर बिछ गई है।
 
पोखरी। सोमवार को हल्की-हल्की बारिश व हिमपात होने से ठिठुरन और बढ़ गयी है, जिससे लोगों घरों में दुबकने को मजबूर हैं। क्षेत्र में पिछले चार दिनों से हो रही बर्फबारी से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। वहीं बिजली भी लगातार धोखा दे रही है।
 
पौड़ी गढ़वाल। पौड़ी में रविवार को तापमान 2 डिग्री पर था, वहीं सोमवार की शाम तक तापमान 0 डिग्री पर पहुंच गया है। वर्फ गिरने से पौड़ी में ठंडक और बढ़ गई है, लेकिन नगर पालिका ने अभी तक शहर में अलाव की व्यवस्था तक नहीं की है। 
 
श्रीनगर। पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण क्षेत्र में ठिठुरन बढ़ गई है। शनिवार देर रात शुरू हुई बारिश सोमवार दिन भर भी रुक रुक कर होती रही। बारिश के कारण बाजार में भी अन्य दिनों की तुलना में भीड़ भाड़ खासी कम रही।
 

वर्षा एंव हिमपात ने रोके कई मार्ग

नई टिहरी। विगत दिनो मे हो रही वर्षा एंव हिमपात के कारण कई स्थानो पर मार्ग अवरूद्व एंव आवागमन प्रभावित होने के कारण जिलाधिकारी एसए मुरूगेशन द्वारा  सरकारी विद्यालयो का २ दिन का अवकाश करने की घोषणा की गई।

    वर्तमान मे हो रही बरसात व बर्फवारी के मध्यनजर जिलाधिकारी द्वारा विद्यालयों मे अध्ययनरत छात्र छात्राओ के सुरक्षा एंव स्वास्थ्य को देखते हुये जनपद के अन्तर्गत सभी शासकीय व अद्र्वशासकीय शिक्षण संस्थायें दिनांक १० एंव ११ को बंद रहेगी। साथ ही जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि यदि परीक्षा इत्यादि का कोई कार्यक्रम पूर्व से निर्धारित है तो जिला शिक्षा अधिकारी एंव संबधी प्रधानाचार्य आपस मे समन्वय स्थापित करते हुये शासन एंव निदेशालय से विचार विमर्श के उपरान्त ही कार्यवाही करेगे। 

 

जेएनएनयूआरएम के तहत खर्च का लक्ष्य हुआ दुगना

देहरादून। पिछले साल जवाहर लाल नेहरू नेशनल अर्बन रिन्युवल मिशन (जेएनएनयूआरएम) के तहत 120 करोड़ रुपये खर्च हुये थे। इस साल दोगुना 240 करोड़ रुपये खर्च का लक्ष्य रखा गया है। जेएनएनयूआरएम के कार्यो पर लगातार नजर रखने का नतीजा है कि कुल अवमुक्त 381$17 करोड़ रुपये में से 291$ 45 करोड़ रुपये के कार्य हो चुके हैं। इसके लिए मुख्य सचिव सुभाष कुमार की अध्यक्षता में लगातार समीक्षा कर विभिन्न विभागों के बीच समन्वय किया जा रहा है। लगातार मानिटरिंग का ही नतीजा है कि दिसम्बर माह के निर्धारित लक्ष्य 15 करोड़ रुपये से ज्यादा 17$89 करोड़ रुपये खर्च किये गये। इस सम्बन्ध में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव ने अब तक की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया और आगे कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। 

मुख्य सचिव ने बताया कि चालू वित्त वर्ष में अब तक 85$16 करोड़ रुपये व्यय करके विभिन्न परियोजनाओं पर कार्य किया गया है। उन्होंने सम्बन्धित विभागों से तालमेल बनाकर कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। जल निगम के लिए कुल 380 करोड़ रुपये की धनराशि तय थी। इसमें से 224 करोड़ रुपये के कार्य कराये गये। इस माह के लिए 8 करोड़ रुपये का लक्ष्य जल निगम के लिए रखा गया है। चौराहों के चौड़ीकरण के बारे में उन्होंने कहा कि देहरादून में 5 चौराहों का कार्य पूरा हो चुका है। 5 अन्य चौराहों का कार्य पूर्ण होने वाला है। शेष 6 चौराहों के चौड़ीकरण का कार्य चल रहा है। इसी तरह से हरिद्वार में 17$65 करोड़ रुपये की लागत से 10 चौराहों का चौड़ीकरण किया जा रहा है। 

श्री कुमार ने बताया कि सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत देहरादून के 15 वार्डो में घर-घर जाकर कूड़ा इकट्ठा किया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि गलियों में जगह-जगह रखे कूड़ादान को हटाकर कूड़े को दूर फेंकने का इंतजाम किया जाय। साथ ही नागरिकों को स्वच्छता सफाई के बारे में जागरूक भी किया जाय। उन्होंने बताया कि जल्द ही देहरादून के सभी वाड़ों में यह व्यवस्था लागू की जायेगी। उन्होंने बताया कि कि जेएनएनयूआरएम के तहत देहरादून, हरिद्वार और नैनीताल शहरों के लिए 18$77 करोड़ रुपये दिये गये है। इसके तहत 145 बसें चलाई जा रही है। अन्य 60 बसों के खरीदने की मंजूरी भारत सरकार से मिल चुकी है। 
मुख्य सचिव ने कहा कि बेसिक स्लम अरबन पुअर (बीएसयूपी) के अंतर्गत 9 परियोजनाओं पर देहरादून में कार्य किया जाना है। इनमें से 6 परियोजनाओं पर कार्य चल रहा है। इसके तहत 62$62 करोड़ रुपये की धनराशि से 34 से 40 वर्ग मीटर के आवास झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों के लिए बनाये जाने हैं। देहरादून में शांति कुष्ठ, राम मंदिर कुष्ठ आश्रम, रोटरी कुष्ठ आश्रम, चक्षा नगर, काठ बंगला मलिन बस्ती, खाला बस्ती, राम नगर मलिन बस्ती, निरंजनपुर ब्रहमपुरी फेज-1, निरंजनपुर ब्रहमपुरी फेज-2 में शहरी गरीबों के लिए आवास बनाये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि नगर निगम नैनीताल में दुर्गापुर और नारायण नगर में आवास बनाये जाने थे, लेकिन भूमि उपलब्ध न होने की वजह से बैठक में तय किया गया कि हल्द्वानी में शहरी गरीबों के लिए आवास बनाये जायं। इसके अलावा हरिद्वार के पाण्डेवाला में 4$34 करोड़ रुपये का आवास लगभग बनकर तैयार है। मुख्य सचिव ने बताया कि इंटीग्रेटेड हाउसिंग एण्ड स्लम डेवलपमेंट प्रोग्राम (आईएचएसडीपी) के अंतर्गत 21 नगर पालिका परिषदों में भी शहरी गरीबों के लिए आवास बनाये जा रहे हैं। 
 
बैठक में प्रमुख सचिव नगर विकास डॉ$ रणवीर सिंह, अपर सचिव राधिका झा, अपर सचिव परिवहन विनोद रतूड़ी, अपर सचिव लोनिवि रविनाथ रमन, जिलाधिकारी देहरादून दिलीप जावलकर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 
 

सर्व शिक्षा अभियान पर होंगें 500 करोड़ रुपये खर्च

देहरादून। सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत गत वर्ष 365 करोड़ रुपये व्यय किये गये थे। इस वर्ष लगभग 500 करोड़ रुपये के व्यय का लक्ष्य रखा गया है। सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान और मध्याह्न भोजन के प्रगति की समीक्षा बैठक मुख्य सचिव सुभाष कुमार की अध्यक्षता में सोमवार को सचिवालय में की गई। मुख्य सचिव ने निर्देश दिये फ्लैगशिप कार्यक्रमों पर हमें विशेष जोर देना चाहिए। उन्होंने सचिव वन को निर्देश दिये कि वन भूमि की सीमा में पडऩे वाले 74 ईवीएस सेंटर, 29 प्राइमरी स्कूल और 6 जूनियर हाई स्कूलों के लिए भूमि का हस्तांतरण जल्द करें। 
 
राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत गत वर्ष 30 करोड़ रुपये खर्च किये थे। इस साल अभी तक 31 करोड़ रुपये खर्च किये गये हैं। मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि 90 करोड़ रुपये अवमुक्त हो गये हैं। इसे समय से व्यय कर उपभोग प्रमाण पत्र भारत सरकार को भेजे, जिससे कि अगली किस्त मिल सके। उन्होंने मध्याह्न भोजन की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। बैठक में बताया गया कि मध्याह्न भोजन के सफल संचालन में उत्तराखण्ड देश में दूसरे स्थान पर है। अपने स्तर से राज्य सरकार ने भोजन माताओं के लिए 500 रुपये अतिरिक्त मानदेय देकर देश में एक मिशाल पेश की है। योजना के तहत 185 करोड़ रुपये के बजट से 105 करोड़ रुपये अवमुक्त किया गया है। इसमें से अब तक 87 करोड़ रुपये व्यय किया गया है। 
 
बैठक में सचिव विद्यालयी शिक्षा ओम प्रकाश, अपर निदेशक सर्व शिक्षा अभियान राकेश कुंवर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 
 

शहर में घुसा हाथी, मचाया उत्पात

कोटद्वार। शनिवार रात मोहल्ला अपर कालाबड़ में हाथी ने जमकर उत्पात काटा। करीब ढाई-तीन घंटे तक चले इस हाईवोल्टेज ड्रामा के दौरान लोग कड़ाके की ठंड में भी घरों की छत पर डटे रहे।

शनिवार मध्य रात्रि के उपरांत मोहल्ला अपर कालाबड़ में एक हाथी ने जमकर उत्पात मचाया। पलियाली के जंगलों से निकला हाथी लीसा डिपो से होता हुआ डिग्री कॉलेज रोड पहुंचा व वहां से होता हुआ बदरीनाथ मार्ग पर पहुंच गया। बदरीनाथ मार्ग से जंगल की ओर निकलने के लिए हाथी ने एक आवास की चारदीवारी तोड़ डाली और भीतर घुस गया। वहां से रास्ता न मिलने पर हाथी वापस लौटा और अपर कालाबड़ मोहल्ले में घुस गया। वहां हाथी ने संतोष रावत, संदीप रावत, एमएल नौटियाल के घरों की दीवार तोड़ डाली। सूचना मिलते ही वन विभाग व पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। काफी जद्दोजहद के बाद प्रात: करीब साढ़े चार बजे हाथी को वापस जंगल की ओर से खदेड़ा जा सका।

दूसरी ओर, भाबर क्षेत्र के अन्तर्गत झण्ड़ीचौड़ पश्चिमी में रविवार सुबह करीब तीन बजे हाथी ने जमकर उत्पात मचाया। जानकारी के अनुसार, रविवार सुबह एक हाथी ग्राम झंडीचौड़ (पश्चिमी) में घुस गया व ग्रामीण बलराम की झोपड़ी का प्रवेश द्वार उखाड़ दिया। इससे पहले की हाथी झोपड़ी में नुकसान करता, घर के सदस्य उठकर शोर मचाने लगे। शोर सुनकर हाथी बौखला गया व खेतों से होता हुआ जंगल की ओर चला गया। ग्रामीणों की मानें, तो इस क्षेत्र में जंगली जानवरों का भय लगातार बना रहता है, लेकिन तमाम सूचनाएं देने के बाद भी विभागीय कर्मी न तो मौके पर पहुंचते हैं और न ही गश्त की जाती है।
 

अग्निकांड पीडि़तों के लिए मुसीबत बनकर बरसी बर्फ

उत्तरकाशी। पुरोला क्षेत्र में हुए भीषण अग्निकांड की आग अब तक सुलग रही है। साल भर बीत जाने के बाद भी प्रभावितों को सिर छिपाने की जगह के नाम पर मात्र टेंट नसीब हुए हैं। ऐसे में पर्वतीय अंचलों में इन दिनों हो रही बर्फबारी इन पर आफत बनकर बरस रही है।

मोरी क्षेत्र में तीन दिन हो रही बर्फबारी से हरकीदून, सांकरी, नैटवाड़, बालचा, सुचाणु सहित तमाम पहाडियां सफेद चादर के आगोश में हैं। ये बर्फबारी किसी के लिए खुशी, तो किसी के लिए गम बनकर बरस रही है। हिमपात से किसानों और पर्यटकों के चेहरे खिले, तो मोरी अग्निकाड से पीडि़त पैंसर, सीदरी व सुचाण गांव के परिवारों के आंसू भी जम गए। प्रभावित परिवारों को प्रशासन की ओर से इमारती लकड़ी, मुआवजा व दीन दयाल योजना के तहत आवास दिए जाने की घोषणा की गई थी, इस हवाई घोषणा के बाद प्रशासन की ओर से दिए गए मात्र टेंट में ये परिवार बर्फबारी की आफत झेल रहे हैं। गांव केसैदर सिंह, सुबर सिंह, तालीराम, रघुवीर सिंह का कहना है कि प्रशासन ने टेंट, तो दिए लेकिन मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप न तो दीनदयाल आवास दिये गये न ही राहत राशि। 

 

बारिस व बर्फबारी में आर्मी, आइटीबीपी व एनआईएम से मांगा सहयोग

उत्तरकाशी। लगातार हो रही बारिस व बर्फबारी को देखते जिला जिला निर्वाचन अधिकारी अक्षत गुप्ता ने बर्फबारी की स्थिति में 154 पोलिंग बूथों पर चुनाव संपन्न करने के लिए सेना आइटीबीपी व एनआईएम का सहयोग मांगा है।

कलक्ट्रेट सभागार में जिला निर्वाचन ने चुनाव से जुड़े अधिकारियों एवं आर्मी, आईटीबीपी व एनआईएम के अधिकारियों के साथ बैठक लेते उन्होंने कहा कि जनपद में बर्फीले दुर्गम क्षेत्रों 54 मतदेय स्थल चिन्हित थे, जो अब बढक़ार 123 हो गये हैं। बर्फीले स्थल वाले मतदान केंद्रों पर तैनात होने वाले पीठासीन मतदान अधिकारियों को जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने के लिए एनआईएम, आर्मी व आइटीबीपी को व्यवस्था सुनिश्चित करने निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बर्फीले हालातों में पोलिंग पार्टियों को गंतव्य तक पहुंचाने एवं लाने के लिए भी आइटीबीपी एवं आर्मी का सहयोग लिया जाएगा।

सडक़ों से बर्फ हटाने के लिए नोडल अधिकारी अधीक्षण अभियंता लोनिवि को निर्देश दिए कि बीआरओ राष्ट्रीय राजमार्ग व लोनिवि बेहतर समन्वय बनाये और उन क्षेत्रों चिन्हित करें जहां अधिक बर्फ पड़ती है। उन्होंने कहा कि इस बार सडक़ मार्ग से 10 किमी से अधिक दूरी वाले मतदान केंद्र पर 40 वर्ष तक के कर्मचारी तीन से नो किमी दूरी तक वाले केंद्रों पर उम्र 45 वर्ष तक के तथा 3 किमी कम दूरी वाले मतदान केंद्र पर 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले कर्मचारी पीठासीन व मतदान अधिकारी नियुक्त किये गए है। इस अवसर एसपी डॉ.सदानंद दाते, एडीएम वीएस धनिक, एसडीएम उदय सिंह राणा, एनआइएम कर्नल आइएस थापा, सहित बड़ी संख्या में चुनाव से जुड़े अधिकारी मौजूद थे।

 

बेबुनियादी कार्य-बहिष्कार से वापस लौटे 108 फील्डकर्मचारी

देहरादून।  108 आपातकालीन सेवा के कार्य-बहिष्कार पर गये सभी  फील्डकर्मचारियों ने बिना किसी षर्त के अपना कार्य-बहिष्कार वापस लेने का निर्णय लिया है। 108 आपातकालीन सेवा प्रबन्धन का कहना है कि कार्य-बहिष्कार पर गये सभी फील्डकर्मचारियों को पहले ही स्पश्ट रूप से बता दिया गया था कि उनकी कोई भी मांग इस वित्तीय वर्श में पूरी नही की जा सकती है, लेकिन फील्ड कर्मचारी अपनी मांगो पर अडिग रहते हुए कार्य-बहिष्कार पर चले गये थे। 108 प्रबन्धन ने दावा किया कि अब भी उन फील्ड कर्मचारियों  को कार्य पर वापस नही लिया जायेगा जिन्होनें इस कार्य-बहिष्कार की नींव रखी थी एवं इसके साथ ही अन्य फील्ड कर्मचारियों को भी कार्य-बहिष्कार करने हेतु पे्ररित किया था। 
 
भविश्य में इस तरह की दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं की पुनरावृति न हो इसके लिए 108 प्रबन्धन द्वारा 200 ईएमटी एंव पायलट कर्मियों के एक दल को प्रषिक्षित कर बैकअप के रूप में रखा जायेगा एवं प्रबन्धन किसी भी कर्मचारी की कोई भी अनैतिक तथा अमानवीयपूर्ण व्यवहार को बर्दास्त नहीं करेगा। 
 
फील्डकर्मचारियों के कार्य-बहिष्कार से वापस लौटने की बात की पुष्टि करते हुए 108 अपाताकलीन सेवा प्रबन्धन के स्टेट हेड मनीश टिंकू ने कहा कि हमें खुषी है कि ाफल्डकर्मचारियों ने समझदारी का परिचय देते हुए कार्य पर वापस आने का निर्णय लिया है जो कि उनकी एंव इस राज्य की जनता के हित मे है। टिंकू ने कहा है कि प्रबन्धन आज भी उत्तराखण्ड के नागरिकों को अपनी नि:स्वार्थ व निरन्तर सेवायें देने हेतु बचनबद्घ एवं दृढ़ संकल्प है। उन्होंने राज्य की आम जनता से खेद प्रकट करते हुए कहा कि हमें दुख: है कि कार्य-बहिष्कार के दौरान गत दिनोंं में हम राज्य की जनता को सक्रिय रूप से सेवायें नहीं दे पाये हैं, लेकिन आज से सम्पूर्ण राज्य में 108 आपातकालीन एम्बूलेन्स वाहन विधिवत रूप से पूर्व की भॉति चौबीसों घंटे कार्य करेगी। इसके साथ ही उन्होंने राज्य की आम जनता से अपील की है कि वे 108 आपातकालीन सेवा पर पूर्व की भॉति विष्वास रखें, आपका विष्वास ही हमें और अधिक जिम्मेदारी पूर्वक सेवा करने हेतु प्रोत्साहित करता है। 
 
आज दिनंाक 08 जनवरी, 2012 को सांय 4:30 बजे तक 108 आपातकालीन सेवा के कॉल सेन्टर द्वारा कुल 3181 कॉल्स प्राप्त हुये, जिसमें से 227 आपातकालीन कॉल्स थी। इन आपातकालीन कॉल्स में से 137 आपातकालीन कॉल्स में 108 एम्बुलेंस वाहनों ने सेवाएं दी, जिसमें कुल 15 सडक़ दुर्घटना में से 11 मामलों में सेवाएं दी गई। देहरादून में सडक़ दुर्घटना सम्बन्धी कुल 7 कॉल्स प्रान्त हुई, जिसमें से 5 मामलों में 108 आपातकालीन सेवा द्वारा सहायता दी गई। प्रसव के मामलों में कुल 82 महिलाओं को 108 आपातकालीन सेवा द्वारा सेवाएं प्रदान की गई। देहरादून जिले में प्रसव के सभी 7 में मामलों में सेवाएं दी गई।
 

Process of nomination for the Vidhan Sabha Elections–2012

Dehradun : The process of nomination for the Vidhan Sabha Elections–2012 would commence from 5 January. Chief Electoral Officer Uttarakhand Radha Raturi said here, on Wednesday besides the different district headquarters, provision for filing of nomination as per requirement has also been made at the Tehsil headquarters and the Block headquarters in some of the districts.

In Dehradun District, nomination for the Chakrata Assembly Constituency would be filed at Kalsi Block, for Rishikesh in the Rishikesh Tehsil, for Vikasnagar and Sahaspur Assembly Constituencies in the Vikasnagar Tehsil, while nominations for the other six Assembly Constituencies of Dharampur, Raipur, Rajpur Road (R), Dehradun Cantt., Mussoorie and Doiwala would be filed at the Collectorate office.

In all the six Assembly Constituencies in the Tehri District namely, Ghansali, Devprayag, Narendra Nagar, Pratap Nagar, Tehri and Dhanaulti, nominations would be filed in the New Tehri Collectorate.  

In Chamoli District, nominations for the Badrinath, Tharali and the Karanprayag Assembly Constituencies would be filed in the office of the District Magistrate at Gopeshwar.

In Rudraprayag District, nomination for the Kedarnath Assembly Constituency would be filed at the Collectorate, whereas for the Rudraprayag Assembly Constituency, the same would be done at the Tehsil Headquarters Rudraprayag.

In all the 11 Assembly Constituencies in the Haridwar District namely, Jwalapur (R), Jhabreda (R), Bhagwanpur (R), Haridwar, BHEL–Ranipur, Piran Kaliyar, Roorkee, Khanpur, Mangalore, Laksar, and Haridwar Rural, nominations would take place at the Collectorate.   

Similarly, for all the six Assembly Constituencies of Yamkeshwar, Pauri (R), Srinagar, Chaubattakhal, Lansdowne and Kotdwar in the Pauri District, the process of filing nominations would be conducted at the Collectorate.  

Nominations for the Didihat, Dharchula, Pithoragarh and Gangolihat (R) Assembly Constituencies of the Pithoragarh District would be done at the concerned Tehsil Headquarters. Similarly, nominations for Lalkuan, Bhimtal, Nainital, Haldwani, Kaladhungi and Ramnagar Assembly Constituencies would also be done at the concerned Tehsil Headquarters.

In the Champawat District, nomination for Lohaghat Assembly Constituency would be held at the Tehsil Headquarters, whereas for the Champawat Assembly Constituency, the same would be done at the Collectorate office.

In the Almora District, nomination for the Someshwar, Almora and Jageshwar Assembly Constituencies would be done at the Collectorate, while the process of nomination for Ranikhet, Dwarahat and Salt Assembly Constituencies would be carried out at the Tehsil headquarters.

In Bageshwar District, nomination for the Kapkot Assembly Constituency would be held at Kapkot Tehsil Headquarters, whereas for the Bageshwar (R) Assembly Constituency it would be held at the Collectorate.

For the Khatima and the Nanakmatta Assembly Constituencies of Udham Singh Nagar, nominations would be done at the Khatima Tehsil Headquarters, whereas for the remainder Assembly Constituencies of Jaspur, Bajpur, Gadarpur, Rudrapur, Kichcha, Sitarganj and Kashipur, nominations would be filed in the concerned Tehsil Headquarter.

.